wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

 

वल्नरेबल एवं संवेदनशील बूथों पर होगी कैमरों की नजर (विधानसभा चुनाव) 
जबलपुर | 02-नवम्बर-2018
0
 
 
 
 
   
    विधानसभा चुनाव के मद्देनजर वल्नरेबल और संवेदनशील माने गये जिले के सभी 594 मतदान केन्द्रों पर मतदान के दिन की हर छोटी-बड़ी गतिविधियों पर कैमरों से नजर रखी जायेगी।  इनमें से 213 मतदान केन्द्रों की वेबकास्टिंग होगी और इतने ही मतदान केन्द्रों की सीसीटीव्ही कैमरों से निगरानी की जायेगी। जबकि 168 मतदान केन्द्रों पर मतदान की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जायेगी। उप जिला निर्वाचन अधिकारी नम:शिवाय अरजरिया के मुताबिक जिले में वल्नरेबल और संवेदनशील केन्द्रों के रूप में चिन्हित मतदान केन्द्रों वाले क्षेत्र में मतदान दिवस के चार दिन पूर्व से नजर रखी जायेगी ताकि मतदाताओं को डराने-धमकाने या किसी तरह का प्रलोभन करने के प्रयास न हो सकें।
“फेस्टिवल ऑफ डेमोक्रेसी” में साहसिक खेल और  “काइट फेस्टिवल” एमवीएम कालेज ग्राउंड में होगा आयोजित (विधानसभा निर्वाचन-2018) 
भोपाल | 27-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
   भोपाल जिले की सातों विधानसभाओं में शतप्रतिशत मतदान की सुनिश्चितता के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के निर्देशों के अनुरूप कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सुदाम खाडे द्वारा मतदाता जागरूकता अभियान के अंतर्गत की जाने वाली विविध गतिविधियों के संदर्भ में तैयार स्वीप केलेंडर के अनुक्रम में 28 से 30 अक्टूबर तक तीन दिवसीय “फेस्टिवल ऑफ डेमोक्रेसी” के अंतर्गत साहसिक खेल यथा हॉट एयर बेलून, एयरो माडलिंग, रेवेर्स बंजी, कमांडो ड्रिल, जोर्बिंग, बुल राइड टेम्पोलिन, एटीवी बाइक, बंघी रन, तीरंदाजी, रायफल शूटिंग, वाल क्लाइबिंग, वाटर रोलर, पेरामोटर, पैरा सेलिंग आदि का आयोजन शासकीय मोतीलाल नेहरू विज्ञान महाविद्यालय (एमवीएम) मैदान पर किया जाएगा। 
 
   कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश  श्री व्ही.एल. कांताराव सायं 4:30 बजे  करेंगे। इससे पूर्व मतदाता साक्षरता क्लब के तत्वावधान में कमला नेहरू स्कूल टीटीनगर से प्रात: 8 बजे 5 हजार से अधिक विद्यार्थी/ युवा रोशनपुरा होते हुए रैली के रूप में एमवीएम मैदान पहुंचेंगे और विभिन्न आकृतियां निर्मित कर मतदान हेतु प्रेरित करेंगे। स्वीप गतिविधि प्रभारी श्री रीतेश शर्मा ने उक्त जानकारी देने हुए बताया कि 28 से 30 अक्टूबर तक तीन दिवसीय “काइट फेस्टिवल” जिसमें 3 फीट से 300 फीट तक की पतंगों से मतदाता संदेश श्री मेहुल कुमार एवं टीम गुजरात द्वारा एमवीएम मैदान पर दिया जाएगा। इसी क्रम में 28 अक्टूबर से 4 नवम्बर तक मतदाता साक्षरता क्लब के माध्यम से सांस्कृतिक सप्ताह आयोजित किया जाएगा।
ईव्हीएम, व्हीव्हीपेट के प्रथम चरण का रेण्डमाईजेशन आज (विधानसभा चुनाव) 
जबलपुर | 21-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
   विधानसभा चुनाव के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जिले को उपलब्ध कराई गई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों एवं व्हीव्हीपेट मशीनों का प्रथम चरण का रेण्डमाईजेशन सोमवार 22 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे से कलेक्ट्रेट के कक्ष क्रमांक 85 स्थित जिला सूचना केन्द्र में होगा।
   जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों से ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट के प्रथम चरण के रेण्डमाईजेशन के दौरान जिला सूचना केन्द्र में मौजूद रहने का आग्रह किया है। ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट का रेण्डमाईजेशन भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तैयार किए गए ईटीएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाएगा। प्रथम चरण के रेण्डमाईजेशन में जिले को उपलब्ध ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट मशीनों को विधानसभावार आबंटित किया जाएगा। रेण्डमाईजेशन में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम और प्रशिक्षण के लिए जिले को अलग से उपलब्ध कराई गई ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट को शामिल नहीं किया जाएगा।
चुनाव ड्यूटी में लगे कर्मचारी मतदान हेतु फार्म 12 में आवेदन करें 
जबलपुर | 13-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
   
    विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए जिन अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। ऐसे सभी शासकीय सेवक मतदान करने के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्धारित प्रारूप 12 में अपने विभाग या कार्यालय प्रमुख के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। 
    फार्म 12 कार्यालय कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी जबलपुर के कक्ष क्रमांक 101 में नायब तहसीलदार (निर्वाचन) लोकमन कोरी से मोबाइल नम्बर 9424357807 से सम्पर्क स्थापित कर अधीनस्थ अधिकारी-कर्मचारियों की सूची प्रस्तुत कर जिला या कार्यालय प्रमुख प्राप्त कर सकते हैं। 
जबलपुर मेराथन मार्बल रॉक रन को लेकर बैठक आज 
जबलपुर | 09-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
   जबलपुर मेराथन मार्बल रॉक रन के आयोजन की तैयारियों हेतु मानस भवन स्थित स्मार्ट सिटी कार्यालय में मंगलवार 9 अक्टूबर को प्रात: 11 बजे बैठक आयोजित की गई है। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज करेंगी। मेराथन मार्बल रॉक रन का आयोजन 28 अक्टूबर को किया जाएगा।

 

पीठासीन अधिकारियों का प्रशिक्षण आज (विधानसभा चुनाव)
 
जबलपुर | 05-अक्तूबर-2018
 
 
   विधानसभा निर्वाचन के लिए गठित मतदान दलों के पीठासीन अधिकारियों का प्रशिक्षण कल शुक्रवार पांच अक्टूबर को पं. लज्जाशंकर झा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मॉडल स्कूल और होम साइंस कॉलेज में आयोजित किया जायेगा। पीठासीन अधिकारियों के प्रशिक्षण दो सत्रों में सुबह 9.30 बजे से दोपहर एक बजे तक तथा दोपहर 1.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक होगा।
अपर कलेक्टर डॉ. राहुल फटिंग के मुताबिक पीठासीन अधिकारी के रूप में नियुक्त सभी अधिकारियों को प्रशिक्षण में मौजूद रहने के आदेश जारी किये जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि पीठासीन अधिकारियों को आदेश में बताये गये स्थान और समय पर अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण में उपस्थित रहना होगा। अपर कलेक्टर ने प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहने वाले अधिकारियों को कठोर कार्यवाही की चेतावनी भी दी है। उन्होंने बताया कि पीठासीन अधिकारियों के प्रशिक्षण के बाद 6 अक्टूबर को मतदान अधिकारी क्रमांक-एक का प्रशिक्षण आयोजित किया जायेगा।

 

निर्वाचन संबंधी दायित्वों के प्रति लापरवाही बरतने पर तीन को कारण बताओ नोटिस 

संतोषजनक जवाब न मिलने पर होगी कार्यवाही 
जबलपुर | 26-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने निर्वाचन संबंधी सौंपे गये दायित्वों के प्रति लापरवाही बरतने पर तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है तथा तीन दिन के भीतर जवाब न मिलने पर कार्यवाही की चेतावनी दी है। इन अधिकारियों में जिला सूचना विज्ञान अधिकारी आशीष शुक्ला, सहायक जिला सूचना विज्ञान अधिकारी पी.सी. धुर्वे एवं अध्यापक जितेन्द्र वैद्य शामिल हैं।  इन तीनों को निर्वाचन कार्य के तहत मतदान दलों के गठन एवं मतदान कर्मियों की ड्यूटी निरस्त करने संबंधी दायित्व सौंपा गया था। 
    उप जिला निर्वाचन अधिकारी नम:शिवाय अरजरिया ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि तीनों अधिकारियों-कर्मचारियों को अपने कत्र्तव्यों का पालन नहीं करने तथा शासकीय कार्य में स्वेच्छाचारिता बरतने पर जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला निर्वाचन अधिकारी ने तीनों कर्मचारियों के कृत्य को स्वेच्छाचारिता एवं लापरवाही का स्पष्ट द्योतक माना है।  श्री अरजरिया ने बताया कि मध्य प्रदेश सिविल सेवा आचरण नियम 1961 की धारा 134 के अनुसार निर्वाचन कार्य में लापरवाही बरतने पर इन तीनों को 500 रूपये तक के जुर्माने से दण्डित किया जा सकता है। 
    उप जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक तीनों कर्मियों को कारण बताओ नोटिस का जवाब तीन दिनों के भीतर देने के निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा दिये गये हैं।  तय समय के भीतर और संतोषजनक जवाब न मिलने पर इनके विरूद्ध मध्य प्रदेश सिविल सेवा वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील नियम 1966 के नियम 14 के तहत एक तरफा कार्यवाही प्रस्तावित की जायेगी। 
प्रदेश में 1685 मदरसों को दिया जा रहा है वित्तीय अनुदान 
मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड का अनुदान बढ़कर हुआ 32 लाख 
जबलपुर | 24-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
   प्रदेश में मदरसों में गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने के लिए केन्द्र सरकार की योजना में 1685 मदरसों को अनुदान उपलब्ध कराया जा रहा है। इस योजना का लाभ मदरसों में पढ़ाने वाले करीब 3600 शिक्षकों को मिल रहा है।
प्रदेश में मदरसों को दी जाने वाली सुविधाओं में भी वृद्धि की गई है। मदरसों को प्रतिवर्ष पुस्तकालय के लिए 50 हजार रूपये, साइंस किट के लिए 15 हजार रूपये तथा कम्प्यूटर लैब स्थापित करने के लिए एक बार में एक लाख रूपये की राशि उपलब्ध करवाई गई है। राज्य में मदरसों के अधोसंरचना विकास तथा न्यूनतम आवश्यक सुविधाओं के लिए राज्य सरकार द्वारा रिपेयर, मेंटेनेंस एवं अपग्रेडेशन ऑफ मदरसा योजना संचालित की जा रही है। इसके लिए बजट में पर्याप्त राशि का प्रावधान किया गया है। मान्यता प्राप्त मदरसों को भवन के रख-रखाव और बुनियादी सुविधाओं के लिए प्रति वर्ष 50 हजार रूपये प्रति मदरसा के मान से धनराशि उपलब्ध करवाई जा रही है। पूर्व में यह राशि मात्र 25 हजार रुपये हुआ करती थी, जिसे राज्य सरकार ने बढ़ाकर 50 हजार रूपये कर दिया है।
   मदरसों में स्मार्ट क्लास की शुरूआत करने के मकसद से 11 उत्कृष्ट मदरसों का चयन किया गया। इसके लिए सांसद निधि से राशि उपलब्ध करवाई गई है।
सौभाग्य योजना का 98.77 प्रतिशत कार्य पूर्ण 
प्रदेश के 38 जिलों में शत-प्रतिशत विद्युतीकरण 
जबलपुर | 19-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
 
   प्रदेश में सौभाग्य योजना के तहत लक्ष्य का 98.77 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। प्रदेश के 51 जिलों में से 38 जिलों में शत-प्रतिशत विद्युतीकरण हो गया है। शेष 13 जिलों में भी विद्युतीकरण का कार्य द्रुत गति से चल रहा है। योजना में 19 लाख 81 हजार 973 घरों को विद्युतीकृत करने के लक्ष्य के विरुद्ध 18 लाख 98 हजार 356 घरों का विद्युतीकरण कर दिया गया है।
   शत-प्रतिशत विद्युतीकरण लक्ष्य प्राप्त करने वाले जिलों में जबलपुर, नरसिंहपुर, कटनी, सिवनी, बालाघाट, इंदौर, मंदसौर, नीमच, आगर-मालवा, देवास, खण्डवा, उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, झाबुआ, धार, बुरहानपुर, खरगौन, अलीराजपुर, बड़वानी, हरदा, अशोकनगर, सीहोर, भोपाल, होशंगाबाद, बैतूल, दतिया, ग्वालियर, श्योपुर, राजगढ़, गुना, उमरिया, सतना, सागर,  रीवा, पन्ना, दमोह और टीकमगढ़ हैं
मध्यप्रदेश के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन को राष्ट्रीय महत्व की संस्था घोषित किया जायेगा 
केन्द्रीय मंत्रिमंडल द्वारा दी गयी मंजूरी 
जबलपुर | 13-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
   
    मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन को राष्ट्रीय महत्व की संस्था घोषित किया जायेगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में नई दिल्ली में हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। इस संस्थान को राष्ट्रीय महत्व की संस्थान घोषित करने के लिये एन.आई.डी. एक्ट 2014 में संशोधन के लिये संसद में विधेयक लाने के लिये मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है।
    मध्यप्रदेश में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन को राष्ट्रीय महत्व की संस्था घोषित किये जाने से डिजाइन के क्षेत्र में अत्यधिक कुशल श्रमबल तैयार करने में मदद मिलेगी। इससे प्रदेश में शिल्प, हथकरघा, ग्रामीण तकनीक, लघु, मझोले एवं बड़े उद्यमों के लिये स्थाई डिजाइन संसाधन उपलब्ध होने के साथ-साथ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे।
शासन की मंशा एवं सोच के अनुरूप राजस्व अधिकारी अपने दायित्वों का निर्वहन करें 
संभागायुक्त श्री शर्मा ने राजस्व अधिकारियों को दिए निर्देश 
ग्वालियर | 08-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
 
 
  ग्वालियर संभागायुक्त श्री बी.एम.शर्मा ने राजस्व अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आप बड़े ही सौभाग्यशाली है कि अन्य अधिकारियों की अपेक्षा जनता की समस्याओं के निराकरण हेतु शासन ने जिस सोच एवं मंशा के साथ राजस्व अधिकारी के रूप में नियुक्त किया है, उस मंशा के अनुरूप पूरी निष्ठा, ईमानदारी एवं सकारात्मक सोच के साथ कार्यवाही कर पात्र व्यक्ति को लाभ दिलाए। संभागायुक्त श्री बी.एम.शर्मा ने उक्त आशय के निर्देश आज जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में 300 दिन से अधिक एवं सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व अधिकारियों को दिए।  
    बैठक में कलेक्टर श्रीमती शिल्पा गुप्ता, अपर कलेक्टर श्री अशोक कुमार चौहान, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेश जैन, जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी, डिप्टी कलेक्टर्स, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार आदि उपस्थित थे। 
    संभागायुक्त श्री शर्मा ने 300 दिन से अधिक एवं सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा करते हुए राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रकरणों के निराकरण में संपूर्ण प्रक्रिया पूर्ण कर एवं आवेदक से चर्चा कर संतुष्ट होने के बाद ही प्रकरणों में फोर्स क्लोज की कार्यवाही हेतु प्रस्ताव भेजे जाए।

 

बरगी बांध के छह गेट और खुले 

जबलपुर | 08-सितम्बर-2018
 
 
 
  बरगी बांध के आज शुक्रवार की रात 8 बजे छह गेट और खोल दिए गए हैं और गेटों से पानी निकासी की मात्रा को 385 क्यूमेक से बढ़ाकर 869 क्यूमेक कर दिया गया है। रात आठ बजे खोले गए छह गेटों की ऊंचाई भी आधा-आधा मीटर रखी गई है। इस तरह अब बांध के कुल 11 गेटों से 869 क्यूमेक पानी छोड़ा जा रहा है। गेट के अलावा बांध से जलविद्युत उत्पादन इकाइयों के लिये 212 क्यूमेक और बायीं तट नहर से 5 क्यूमेक पानी भी छोड़ा जा रहा है। 
   बरगी बांध की नहर प्रकोष्ठ के कार्यपालन यंत्री अजय सूरे के मुताबिक बांध से ज्यादा पानी छोड़ने का निर्णय बांध में वर्षा जल की बढ़ती आवक को देखते हुए लिया गया है। उन्होंने बताया कि आज शुक्रवार की रात 8 बजे की स्थिति में बांध में लगभग 2000 क्यूमेक वर्षा जल की आवक हो रही थी। इस समय बांध का जलस्तर 422.60 मीटर दर्ज किया गया था। यह इसके अधिकतम जलभराव स्तर 422.76 मीटर से मात्र 0.16 मीटर कम है। 
   श्री सूरे ने बताया कि बांध से पानी छोड़ने की मात्रा बढ़ाने की सूचना निचले क्षेत्रों के सभी जिलों को दे दी गई थी। उन्होंने नर्मदा नदी के तटवर्ती क्षेत्रों के रहवासियों से सतर्क रहने तथा डूब क्षेत्र में प्रवेश न करने की अपील की है।
   कार्यपालन यंत्री के मुताबिक इस सीजन में बांध के जलद्वारों से शुक्रवार की शाम 6 बजे तक 1480 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी नर्मदा नदी में छोड़ा जा चुका है। इस सीजन में पहली बार 24 जुलाई को बांध के गेट खोले गए थे।

 

 

धीरज का ऑटो रिक्शा मालिक बनने का सपना हुआ साकार "सफलता की कहानी" 

जबलपुर | 06-सितम्बर-2018
1
 
 
 
 
   मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से मिली आर्थिक सहायता से जबलपुर जिले के आईटीआई चुंगी नाका नई बस्ती शिव शक्तिनगर निवासी धीरज पटेल ऑटो रिक्शा मालिक बन गए हैं। उनका सपना था कि उनका खुद का अपना ऑटो रिक्शा हो। लेकिन घर की माली हालत ठीक नहीं होने से धीरज की हसरत पूरी नहीं हो पा रही थी। ऑटो रिक्शा पाकर अब वे खुश हैं और बड़े शान से इसे खुद चलाते हैं।
    कुछ अर्से पहले तक धीरज मेहनत मजदूरी कर अपने चार सदस्यीय परिवार का भरण-पोषण करते थे। इससे घर का खर्चा तो चल जाता था, लेकिन पैसों की बचत नहीं हो पाती थी। उनकी बड़ी इच्छा थी कि यदि उनके पास ऑटो रिक्शा होता तो वे उससे ज्यादा कमाई कर सकते थे। धीरज की यह ख्वाहिश पूरी हुई मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से। इस योजना की मदद से धीरज ने हाल ही में 27 जुलाई 2018 को नई चमचमाती ऑटो रिक्शा खरीदी। 
    मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की तारीफ करते हुए धीरज पटेल ने बताया कि युवाओं के लिए यह योजना किसी वरदान से कम नहीं है। भला हो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जिन्होंने युवाओं के लिए इतनी बेहतर योजना शुरू की है। 
अब 7 सितम्बर तक लिये जायेगें निर्वाचक नामावली में दावे और आपत्ति 
जबलपुर |01/09/2018
0
 
 
 
    भारत निर्वाचन आयोग ने प्रदेश के फोटो निर्वाचक नामावलियों में चल रहे द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के लिये प्रदेश के सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिये दावों एवं आपत्तियों को प्रस्तुत करने के लिये अंतिम तारीख को 7 सिम्बर 2018 तक बढा दिया है। पहले दावे आपत्ति प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त थी।
मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना से श्रमिक अनीता को मिली आर्थिक मजबूती 
जबलपुर | 28-अगस्त-2018
0
 
 मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना से मिले आर्थिक हितलाभों से मजदूर वर्ग की जिंदगी आसान हुई है। यहां बात हो रही है जबलपुर जिले के नगर निगम वार्ड क्रमांक 75 महाराजपुर बघेली निवासी अनीता यादव की जिनके श्रमिक बेटे आजाद यादव की दुर्घटना में असामयिक मृत्यु पर संबल योजना से मिले चार लाख पांच हजार रूपए की मदद से परिवार का हौसला बढ़ा है। 
   श्रमिक अनीता यादव के पति रवि यादव और उनका 19 वर्षीय बेटा आजाद यादव सभी मिलकर मेहनत मजदूरी कर अच्छे ढंग से अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे थे। परिवार हंसी-खुशी से रह रहा था, परिवार में सब कुछ ठीक-ठाक भी चल रहा था कि अचानक यादव परिवार पर विपत्तियों का पहाड़ टूट पड़ा। घर के जवान बेटे 19 वर्षीय आजाद यादव की अकस्मात् 25 जून को एक सड़क हादसे में मृत्यु हो गई। आजाद यादव गांव के दुग्ध उत्पादक किसानों से दूध खरीदकर प्रतिदिन शहर में बेचने का काम करता था। जवान बेटे की मौत के सदमें में पूरा परिवार बिखर सा गया। ऐसे में मृत आजाद की मां को सहारा मिला असंगठित श्रमिक के रूप में श्रम सेवा पोर्ट में कराए गए पंजीयन का, जिसकी वजह से अनीता को बेटे के दुर्घटना में मृत्यु पर चार लाख रूपए और अंत्येष्टि संस्कार के लिए पांच हजार रूपए की आर्थिक मदद मिली। इस राशि से यादव दम्पत्ति को आर्थिक मजबूती मिली।
   यह भी सच है कि रूपयों से न तो जीवन वापस लाया जा सकता है और न ही दुख को कम किया जा सकता है। लेकिन जिंदगी बसर करने में रूपए की अहमियत को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। इस हकीकत को एक गरीब परिवार से बेहतर कोई नहीं जानता। वैसे भी विपदा के समय मिली आर्थिक मदद से हौसला बढ़ता है।
बिजली कंपनियाँ पंजीबद्ध श्रमिकों, कर्मकारों और किसानों पर दर्ज बिजली मुकदमें वापस लेंगी 
आज लगेंगी विशेष बिजली लोक-अदालतें 
जबलपुर | 25-अगस्त-2018
0
 
राज्य भर में 25 अगस्त को विशेष बिजली लोक-अदालतें लगायी जा रही हैं। राज्य शासन के निर्णय पर संबल योजना में पंजीकृत श्रमिकों और पंजीकृत कर्मकारों पर दर्ज घरेलू संयोजनों से संबंधित न्यायालयीन प्रकरणों और किसानों के विरुद्ध विद्युत अधिनियम की विभिन्न धाराओं में न्यायालय में दर्ज लंबित प्रकरण वापस लिए जायेंगे। दर्ज मुकदमे वापस लेने के लिये पूर्व, मध्य एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने अपने-अपने क्षेत्र के ऐसे सभी उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे 25 अगस्त को लगायी जा रही विशेष लोक-अदालत में अवश्य आयें, जिससे उनके ऊपर दर्ज बिजली मुकदमे वापस लिए जा सकें।
    विशेष लोक-अदालतों में विद्युत अधिनियम-2003 की धारा-135 एवं 138 के अंतर्गत श्रमिकों, कर्मकारों और किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की कार्यवाही भारसाधक  लोक अभियोजक के माध्यम से सुनिश्चित की जा रही है। इसके लिए ब्याज की पूर्ण राशि माफ करते हुए सिविल दायित्वों की बकाया राशि पर 50 प्रतिशत की छूट भी कम्पनियों द्वारा दी जाएगी। मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम-2018 के अनुरूप सिविल दायित्व की शेष 50 प्रतिशत राशि का वहन राज्य शासन द्वारा किया जाएगा।
    उल्लेखनीय है कि श्रमिकों और कर्मकारों के विरुद्ध विशेष न्यायालयों में वर्तमान में विद्युत अधिनियम-2003 की धारा 135 और 138 के लगभग 20 हजार प्रकरण प्रचलन में है। माननीय उच्च न्यायालय की अनुमति के बाद अब इन प्रकरणों के निराकरण के लिये विशेष लोक-अदालतें पूरे राज्य में लगाई जा रही हैं। विद्युत वितरण कम्पनियों द्वारा संबंधित उपभोक्ताओं को पत्र भेजकर अदालत के आयोजन की सूचना दी जा रही है।
पचमढ़ी में 22 अगस्त से ग्रीन इंडिया मिशन की कार्यशाला 
कार्यशाला में भाग लेंगे विभागीय अधिकारी, वैज्ञानिक और सलाहकार 
जबलपुर | 22-अगस्त-2018
0
 
 वन विभाग द्वारा ग्रीन इंडिया मिशन में क्रियान्वित ईको सिस्टम सर्विसेस इम्प्रूवमेंट प्रोजेक्ट के तहत पचमढ़ी में 22 से 24 अगस्त तक कार्यशाला आयोजित की जा रही है। इसमें पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया, इंडियन कॉउंसिल ऑफ फॉरेस्ट्री रिसर्च एण्ड एजुकेशन, ट्रॉपिकल फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट, आई.आई.एफ.एम. के वरिष्ठ अधिकारी, वैज्ञानिक और सलाहकार के साथ कृषि, उद्यानिकी, मत्स्य पालन, पशुपालन, रेशम, राजीव गाँधी जलग्रहण क्षेत्र, प्रबंधन मिशन के अधिकारी भाग लेंगे। कार्यशाला में विभिन्न विभागों के समन्वय से ईको सिस्टम सर्विसेस इंप्रूवमेंट प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन द्वारा ग्रामीणों के जीवन यापन सुधार के उपायों पर मंथन होगा।
   उल्लेखनीय है कि विश्व बैंक द्वारा मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ राज्य में लगभग 150 करोड़ की लागत से पायलेट प्रोजेक्ट क्रियान्वित किया जा रहा है। इसमें से मध्यप्रदेश में लगभग 55 करोड़ की लागत से वन विकास और जन विकास के कार्यक्रम किये जाएंगे।
कीट रोग नियंत्रण के लिये राज्य-स्तरीय कंट्रोल-रूम 
जबलपुर | 18-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
   
    किसान कल्याण तथा कृषि विकास संचालनालय ने प्रदेश के किसानों की सुविधा के लिये राज्य-स्तरीय कंट्रोल-रूम बनाया है। यह कंट्रोल-रूम विभाग की भोपाल स्थित आई.टी. शाखा में बनाया गया है।
    राज्य-स्तरीय कंट्रोल-रूम का फोन नम्बर 0755-2558823 है। कंट्रोल-रूम प्रात: 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक कार्य करेगा। कंट्रोल-रूम के माध्यम से किसानों की कीट व्याधि नियंत्रण और कीट रोग संबंधी समस्याओं का कृषि विशेषज्ञ फोन के माध्यम से समाधान करेंगे।
रिटर्निंग ऑफिसर एवं सहायक रिटर्निंग ऑफिसर की 18 अगस्त को 5 केन्द्रों पर परीक्षा 
जबलपुर | 16-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
 
    प्रदेश के समस्त जिलों के रिटर्निंग ऑफिसर और सहायक रिटर्निंग ऑफिसर की चुनाव कार्य से संबंधित परीक्षा भोपाल, इंदौर, जबलपुर, रीवा एवं ग्वालियर संभाग में 18 अगस्त को आयोजित की जायेगी। परीक्षा में 690 अधिकारी सम्मिलित होंगे। इन अधिकारियों को माह मई से जुलाई के मध्य 4 दिवसीय मूल्यांकन आवासीय प्रशिक्षण प्रशासन अकादमी में दिया जा चुका है। यह प्रशिक्षण आयोग द्वारा नियुक्त नेशनल लेवल मास्टर ट्रेनर्स द्वारा दिया गया है।
   भोपाल के परीक्षा केन्द्र सरोजनी नायडू कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल शिवाजी नगर में 108, इंदौर के होल्कर साइंस कॉलेज में 198, जबलपुर के राज्य विज्ञान शिक्षण संस्थान में 186, रीवा के शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 96 तथा ग्वालियर के आई.आई.टी.एम. यूनिवर्सिटी रोड परीक्षा केन्द्र में 102 अधिकारी परीक्षा में सम्मिलित होंगे।
त्यौहारों के मद्देनजर शांति समिति की बैठक सम्पन्न 
जबलपुर | 09-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
   
 
    शांति समिति की आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई बैठक में ईदुज्जुहा, रक्षाबंधन, जन्माष्टमी, गणेश उत्सव, पर्यूषण पर्व और मोहर्रम के त्यौहारों पर सभी जरूरी व्यवस्थायें सुनिश्चित करने का आश्वासन प्रशासन की ओर से दिया गया है।  कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज की अध्यक्षता में आयोजित की गई इस बैठक में गणेश उत्सव पर प्लास्टर ऑफ पेरिस की प्रतिमाओं को स्थापित नहीं करने और प्रतिमाओं का विसर्जन नगर निगम द्वारा निर्मित विसर्जन कुण्डों में ही करने की अपील नागरिकों एवं गणेश उत्सव समितियों से की गई तथा इस बारे में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने का संकल्प भी पारित किया गया। 
बैठक में महापौर डॉ. स्वाति गोडबोले विशेष रूप से मौजूद थीं। उन्होंने आयोजन समितियों से गणेश प्रतिमाओं एवं दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन जुलूस कई दिनों तक निकालने की बजाय आपसी सामंजस्य स्थापित कर दो या तीन दिन की समय-सीमा निर्धारित करने तथा प्रतिमाओं का विसर्जन, विसर्जन कुण्डों में ही करने का आग्रह किया। उन्होंने इस बारे में शांति समिति के सदस्यों की ओर से भी प्रयास किये जाने की अपील की।  बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा प्रशासनिक व्यवस्थाओं के मद्देनजर कई महत्वपूर्ण सुझाव भी दिये गये। 
    कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने बैठक को संबोधित करते हुए शांति समिति के सदस्यों को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये हर महत्वपूर्ण सुझाव को अमल में लाया जायेगा। उन्होंने बैठक में मौजूद नगर निगम के अधिकारियों को त्यौहारों के मद्देनजर सभी धर्म स्थलों के आसपास साफ-सफाई और प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।  श्रीमती भारद्वाज ने त्यौहारों के पूर्व सड़क पर हुए गड्ढ़ों को भरे जाने के निर्देश भी दिये।  उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों से त्यौहारों के दौरान अकारण विद्युत कटौती नहीं करने की हिदायत दी। 
    कलेक्टर ने बैठक में ईदगाहों के आसपास भी साफ-सफाई और पेयजल एवं प्रकाश के पर्याप्त बंदोबस्त करने के निर्देश नगर निगम के अधिकारियों को दिये।  उन्होंने शांति समितियों के सदस्यों के सुझाव पर थाना स्तर पर शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में शांति समितियों की बैठक का आयोजन स्वतंत्रता दिवस के पूर्व कर लेने की बात भी कही। 
    शांति समिति के सदस्यों ने सभी धर्मों के त्यौहारों को शांति, सद्भाव और उत्साह से मनाने की अपील नागरिकों से बैठक में की।  समिति के सदस्यों द्वारा रक्षाबंधन पर सड़कों पर दुकानें लगाये जाने से यातायात में होने वाले व्यवधान पर प्रशासन का ध्यान आकृष्ट किया।  सदस्यों द्वारा रक्षाबंधन पर लगने वाली दुकानों को पटाका बाजार की तरह चिन्हित स्थानों पर ही लगाने की व्यवस्था की जाये। बैठक में सदस्यों द्वारा त्यौहारों के पूर्व सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न का वितरण सुनिश्चित करने, प्लास्टर ऑफ पेरिस से मूर्तियों के निर्माण पर तथा इससे बनी प्रतिमाओं की स्थापना पर प्रतिबंध लगाने, स्वतंत्रता दिवस पर युवाओं द्वारा निकाली जाने वाली रैलियों पर नियंत्रण रखने, दो पहिया वाहनों पर दो से अधिक व्यक्तियों के सवार होने पर कार्यवाही करने तथा गांवों में अवैध शराब के क्रय-विक्रय एवं शहरी क्षेत्र में जगह-जगह चल रहे ओपन बार पर कड़ाई से रोक लगाने के सुझाव दिये गये।  सदस्यों ने लेफ्ट टर्न पर आटो एवं वाहनों के खड़े होने पर सख्त कार्यवाही करने की मांग भी बैठक में की।
मूर्तियाँ बनाने में प्लास्टर ऑफ पेरिस का उपयोग न करें 
अनुविभागीय दण्डाधिकारियों ने किया निरीक्षण 
जबलपुर | 07-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
    कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज के निर्देश पर आज अनुविभागीय दण्डाधिकारी कोतवाली, एवं रांझी ने मूर्तिकारों की कर्मशालाओं का निरीक्षण किया तथा मूर्तिकारों को मूर्तियों के निर्माण में प्लास्टर ऑफ पेरिस का उपयोग न करने की समझाईश दी गई। 
    निरीक्षण के दौरान अनुविभागीय दण्डाधिकारियों द्वारा नेशनल ग्रीन ट्रिव्यूनल के निर्देशों से भी मूर्तिकारों को अवगत कराया गया।  एस.डी.एम. कोतवाली मुनीष सिकरवार ने बताया कि चेरीताल में दो स्थानों पर किये गये निरीक्षण में प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्ति बनाने में उपयोग नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि निरीक्षण के दौरान दोनों स्थानों पर मिट्टी से ही मूर्ति बनाई जा रही थी। 
    अनुविभागीय दण्डाधिकारी रांझी जे.पी. यादव ने बताया कि उन्होंने अपने अनुभाग के अन्तर्गत दस मूर्तिकारों की कर्मशालाओं का आकस्मिक निरीक्षण किया।  उन्होंने बताया कि इस दौरान कहीं भी प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियां बनते हुए नहीं पाई गई।  श्री यादव के मुताबिक आकस्मिक निरीक्षण में मूर्ति बनाने में प्रयुक्त की जाने वाली सामग्री की जांच भी की गई थी।  उन्होंने बताया कि निरीक्षण के दौरान मूर्तिकारों के बयान भी लिये गये। सभी मूर्तिकारों ने मूर्तियों के निर्माण में प्लास्टर ऑफ पेरिस का इस्तेमाल नहीं करने का आश्वासन दिया है। 
मिल-बाँचें मध्यप्रदेश में दो लाख से अधिक व्यक्ति साथ आये 
80 हजार से अधिक लोग विद्यालयों को सौंपेंगे पुस्तकें एवं अन्य उपहार 
जबलपुर | 04-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
   प्रदेश में आगामी 17 अगस्त को प्रदेश की शासकीय शालाओं में आयोजित किये जा रहे "मिल-बाँचें मध्यप्रदेश" कार्यक्रम में सहभागिता के लिये अभी तक 2 लाख से अधिक व्यक्तियों ने अपना पंजीयन करवाया है। समाज के हर क्षेत्र के लोग इस कार्यक्रम में स्व-प्रेरणा से पंजीयन करवा रहे हैं। इनमें से 80 हजार ने विद्यालयों को पुस्तकें भेंट करने की इच्छा जाहिर की है। कार्यक्रम में सहभागिता के लिये स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा पंजीयन की अंतिम तिथि 5 अगस्त निर्धारित की गई है। मिल-बाँचें मध्यप्रदेश कार्यक्रम के तहत सहभागिता के लिये स्कूल चलें हम अभियान की वेबसाइट www.schoolchalehum.mp.gov.in के माध्यम से अपनी पसंद के किसी भी सरकारी प्रायमरी और मिडिल स्कूल में सहभागिता के लिये पंजीयन करवाया जा सकता है।
   उल्लेखनीय है कि सरकारी स्कूलों के बच्चों में भाषा, कौशल उन्नयन, पाठ्य-पुस्तकों के अतिरिक्त अन्य पुस्तकों को पढ़ने एवं समझने की रुचि विकसित करने और शाला में सह-शैक्षिक गतिविधियों के माध्यम से बच्चों के बहु-आयामी विकास की दृष्टि से मिल-बाँचें मध्यप्रदेश कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम में सहभागिता करने वाले वॉलेंटियर्स 17 अगस्त को शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक शाला में जाकर बच्चों को पाठ्य-पुस्तकों के साथ ही अन्य रुचिकर पुस्तकें पढ़ने के लिये भी प्रेरित करेंगे।
   मिल-बाँचें मध्यप्रदेश कार्यक्रम में अब तक पंजीयन करवा चुके 2 लाख वॉलेंटियर्स में 23 हजार 211 युवा विद्यार्थी, 7 हजार 211 गृहणियाँ, 648 मीडिया मित्र, 820 इंजीनियर्स, 843 डॉक्टर्स, 682 वकील, 390 खिलाड़ी, 2233 स्वयंसेवी संगठन के प्रतिनिधि, 4594 सेवानिवृत्त कर्मी, करीब 37 हजार निजी क्षेत्र में काम करने वाले कर्मी, 16 हजार 935 व्यवसायी, 19 हजार 218 जन-प्रतिनिधि और 45 हजार 557 राज्य सरकार के शासकीय सेवक शामिल हैं। कार्यक्रम में वॉलेंटियर्स स्कूल में पहुँचकर हिन्दी पाठ्य-पुस्तक का वाचन करेंगे उसके बाद बच्चों से रुचिकर प्रश्न पूछेंगे। बच्चों को पढ़ाई के महत्व के बारे में भी बताया जायेगा। मिल-बाँचें मध्यप्रदेश कार्यक्रम में एक से अधिक बार उपस्थित होने वाले वॉलेंटियर्स शनिवार को स्कूल की साप्ताहिक बालसभा में सह-शैक्षिक गतिविधियों का संचालन कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/