wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

5 नवम्बर को शाम 6 बजे मतदान केन्द्र को दीपक श्रृंखला 
सागर | 02-नवम्बर-2018
0
 
 
 
 
   
    उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुश्री तनवी हुड्डा ने बताया कि 5 नवम्बर को शाम 6 बजे मतदान केन्द्र को दीपक श्रृंखला से रोशन किये जाने है।
    आप सभी को विदित है कि 28 नवम्बर को विधानसभा निर्वाचन के लिए मतदान होना है। जिले की 8 विधानसभाओं में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए स्वीप कैलेण्डर के अनुसार 5 नवम्बर को शाम 6 बजे जिले के समस्त 2098 मतदान केन्द्रों को दीपक श्रृंखला से रोशन से एक साथ रोशन किया जाना है। इस संबंध में जिला स्तरीय मतदान केन्द्र दीप श्रृंखला रोशन कार्यक्रम शासकीय उ.मा.वि.म.ल.बा. क्र-1 में शाम 6 बजे आयोजित किया गया है। 
    उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि आपके अधीनस्थ जो शासकीय भवन मतदान केन्द्र है उसे उपरोक्त दिनांक समय में दीप श्रृंखला से रोशन करें एवं प्रतिवेदन फोटोग्राफ सहित विधानसभा स्तर के स्वीप नोडल अधिकारी के माध्यम से इस कार्यालय को प्रेषित करें। इस कार्यक्रम में समस्त बीएलओ, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्थानीय शिक्षक और स्वास्थ्य कर्मी एवं स्थानीय मतदाता विशेष उपस्थित रहें।
जिलास्तरीय पोस्टर एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन सम्पन्न 
सागर | 27-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
   स्वीप प्लान के अंतर्गत कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आलोक कुमार सिंह के निर्देशन में शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में जिलास्तरीय पोस्टर एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन मतदाता जागरूकता की थीम पर किया गया। पोस्टर प्रतियोगिता में 21 विद्यार्थियों ने सहभागिता की। प्राचार्य डॉ. जी एस रोहित ने प्रथम स्थान पर सृष्टि सेन बंडा, द्वितीय स्थान पर श्रुति बडकुल बीना तथा आकाश दुबे सागर के तृतीय स्थान पर आने पर बधाई देते हुए कहा कि जो जीते है वह पुरस्कृत होगे और जो हारे है वे सीखेगे। डॉ. अमर कुमार जैन सहायक नोडल अधिकारी स्वीप ने कहा कि ये नव मतदाता अब मतदान को इन चित्रों के माध्यम से समाज के बीच ले जाएंगे तथा विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक भागीदारी करेगे। आनंद मंगल बोहरे ने मतदान जागरूकता के लिये स्वीप प्लान की अवधारणा समझाई। स्लोगन प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने रास्ट्र का जो उत्थान करे उसी को हम मतदान, राष्ट्र विकास की परिभाषा शत प्रतिशत मतदान की अभिलाषा, व जागरूक मतदाता राष्ट्र का नव निर्माता जैसे नारे लिखे। स्लोगन प्रतियोगिता में दुर्गा देवी अहिरवार कन्या सागर प्रथम, राजेन्द्र लोधी द्वितीय तथा ऋतुराज चौरसिया तृतीय स्थान पर रहा। कार्यक्रम के समापन पर आयुक्त नगर निगम अनुराग वर्मा ने विद्यार्थियों के साथ सेल्फी ली तथा प्रतिभागियो द्वारा बनाई रंगोली को सराहा तथा कहा कि इस उम्र में विद्यार्थियों को सीखने के लिए भी मिलता है और जीतने के लिए भी। पोस्टर प्रतियोगिता में छाया चौकसे प्रभारी रही तथा स्लोगन में डॉ. प्रवीण शर्मा व डॉ. इमराना सिद्धकी प्रभारी रही। कार्यक्रम में डॉ. संध्या टिकेकर ,डॉ. प्रतिमा जैन,डॉ. अंशु सोनी सहित 100 विद्यार्थियों ने सहभागिता की। 
मैराथन रैली में नैतिक मतदान की दिशा में दिया जन-जन को संदेश 
सागर | 21-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
   
 
    स्वीप गतिविधियों के माध्यम से युवा मतदाताओं में मतदाता जागरूकता बढ़ाने के लिए जिले में वोटिंग अवेयरनेस रन के माध्यम से मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया। इस मैराथन दौड़ का आरंभ प्रातः 6.30 बजे बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज, सागर से हुआ जो मुख्य बस स्टेंड, परकोटा होते हुये तीनबत्ती कटरा पहुंची। इस मैराथन दौड़ की कुल लंबाई 3 किलोमीटर थी। इस 3 किलोमीटर की लंबाई में युवा मतदाता, बुद्धिजीवी वर्ग, सभी सामाजिक संगठनो ने मैराथन दौड़ में भाग लिया। इस मैराथन दौड़ में युवा मतदाताओं ने अपनी विशेष रुचि का अनुभव दिखाया। मैराथन दौड़ के समय सभी मतदाताओं में विशेष उत्साह एवं उमंग का माहौल देखा गया। मैराथन दौड़ का प्रमुख उद्देश्य मतदाताओं में मतदान के प्रति जागरूकता बढ़ाना है जिससे अधिक से अधिक लोग मतदान करें तथा मतदान शत-प्रतिशत हो। युवा मतदाता जो पहली बार मतदान करेंगे ऐसे मतदाताओं के द्वारा सभी मतदाताओं को मतदान करने की शपथ भी दिलाई गई।  
कलेक्टर श्री सिंह की अध्यक्षता में विधानसभा निर्वाचन 2018 
समीक्षा बैठक 14 अक्टूबर को 
सागर | 13-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
    अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुश्री तन्वी हुड्डा ने बताया है कि कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आलोक कुमार सिंह द्वारा 14 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में विधानसभा निर्वाचन 2018 को सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने हेतु नियुक्त नोडल/सहायक नोडल अधिकारियों को सौंपे गये कार्य दायित्वां की समीक्षा बैठक ली जायेगी। 
    उपरोक्तानुसार निर्धारित समय, स्थान पर विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु सौंपे कार्य दायित्वों में की गई कार्यवाही की जानकारी सहित अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने का कष्ट करें।           
जिले की आठों विधानसभा क्षेत्रों के लिये स्थैतिक निगरानी दल का गठन 
सागर | 09-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
     विधानसभा निर्वाचन-2018 के दौरान राजनैतिक दलों/प्रत्याशियों अथवा अन्य असामाजिक तत्वों के द्वारा अवैध सामग्री का परिवहन, शराब वितरण, नगद राशि का वितरण आदि पर निगरानी के लिये व आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन से संबंधित मामलों शिकायतों/सूचनाओं पर तत्काल जांच व प्रभावी कार्यवाही के लिये कार्यालयीन आदेश के द्वारा जिला सागर की आठों विधानसभा क्षेत्रों के लिये स्थैतिक निगरानी दल का गठन किया गया था। जिसमें आंशिक संशोधन करते हुये विधानसभा क्षेत्रों के लिये उनके नाम के सम्मुख स्थान हेतु विधानसभा क्षेत्र 38-देवरी स्थैतिक निगरानी दल क्रमांक-2 स्थैतिक निगरानी दल का स्थान तीतरपानी बैरियर देवरी नरसिंहपुर मार्ग, मजिस्ट्रेट श्री जीएस अहिरवार वनक्षेत्रपाल वनमण्डलाधिकारी दक्षिण वनमण्डल सागर, पुलिस सुरक्षा दल का नाम सहायक उपनिरीक्षक श्री अच्छेलाल खेरवार थाना देवरी प्रभारी आर 08 लोक विजय थाना देवरी आर रोशन थाना देवरी, एवं विधानसभा क्षेत्र 41-सागर स्थैतिक निगरानी दल क्रमांक-2 स्थैतिक निगरानी दल का स्थान राधा तिराहा थाना कोतवाली सागर, मजिस्ट्रेट श्री बी. के जैन, वरिष्ठ उपयंत्री कार्यपालन यंत्री जल संसाधन संभाग क्रमांक-1 सागर, पुलिस सुरक्षा दल का नाम सहायक उपनिरीक्षक श्री परमसिंह ठाकुर थाना कोतवाली, प्रभारी आर रमेश सेन थाना कोतवाली, आर 158 सतीष रावत थाना कोतवाली सागर अधिकारी को मजिस्ट्रेट नियुक्त किया जाता है। यह दल निर्वाचन की घोषण होने के दिनांक से निर्वाचन परिणामें की घोषणा से 7 दिन बाद तक क्रियाशील रहेंगे। यह दल रिटर्निंग अधिकारी के अधीन कार्य करेगा।  

 

स्थायी समिति स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास जिला पंचायत की बैठक 6 अक्टूबर को
 
सागर | 05-अक्तूबर-2018
 
    जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास जिला सागर ने बताया है कि स्थायी समिति स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास जिला पंचायत की बैठक 6 अक्टूबर को दोपहर 12.30 बजे से जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित की गई है।

 

मीडिया की चौकस निगाह से निर्वाचन में पारदर्शिता बढ़ती है - मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी 

मीडिया, आयोग का मित्र और साथी है - श्री धीरेन्द्र ओझा, निर्वाचन मे मीडिया की भूमिका पर कार्यशाला सम्पन्न 
सागर | 26-सितम्बर-2018
0
 
 
 
    मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री वी.एल.कान्ता राव ने कहा कि निर्वाचन मे मीडिया की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। मीडिया की चौकस निगाह हर प्रत्याशी, राजनैतिक दलो और अवांछनीय गतिविधियों पर सतत बनी रहती है। मीडिया के कारण प्रत्याशी कोई भी गैर कानूनी कार्य करने से डरता है और चुनाव के समय आदर्श आचार संहिता का पालन करता है। मीडिया हर उस घटना को आम जनता व निर्वाचन आयोग तक पहुँचाता है जो सामान्यत: लोगो की निगाह से बची रहती है।
    मीडिया निर्वाचन मे सभी को प्लेटफार्म उपलब्ध कराता है जिससे सही बात, मुद्दे और आयोग के निर्देश जनता तथा मतदाता तक पहुँचतें है। मीडिया वास्तव में जनता के सामने सबकी एक छवि प्रस्तुत करता है जिससे मतदाता को सही निर्णय लेने में मदद मिलती है।
    मीडिया की निर्वाचन में भूमिका पर आयोजित कार्यशाला में मुख्य वक्ता श्री धीरेन्द्र ओझा महानिदेशक (मीडिया एवं कम्यूनिकेशन) भारत निर्वाचन आयोग ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग यह मानता है कि आज मीडिया के बिना चुनाव की कल्पना भी नही की जा सकती। जनता की आवाज आयोग तक पहुँचाने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका है। आयोग मीडिया को अपना मित्र मानता है। मीडिया, आयोग के आँख व कान का कार्य भी करता है जिससे आयोग को वास्तविक स्थिति की जानकारी मिलती है।
    श्री ओझा ने कहा कि इलेक्ट्रानिक मीडिया में राजनैतिक विज्ञापन जारी होने के पूर्व उसका प्रमाणीकरण होना आवश्यक है, इसमें सोशल मीडिया भी शामिल है। विज्ञापन संबंधी शिकायत होने पर उसकी जाँच कर संबंधित ऐजेंसी को कार्यवाही हेतु संबंधित विभाग को भेजा जाता है। श्री ओझा ने सोशल मीडिया, पेड न्यूज, आदर्श आचरण संहिता के संबंध में मीडिया की भूमिका, फेक न्यूज के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।
प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना का हुआ शुभारंभ 
सागर | 24-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
 
 
      बुन्देलखण्ड चिकित्सा महाविद्यालय एवं जिला चिकित्सालय सागर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ कार्यक्रम मुख्य अतिथि सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव, नगर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन एवं कमिश्नर श्री मनोहर दुबे की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर श्री प्रभुदयाल पटेल, श्री सुधीर यादव, श्री आर.एस.वर्मा, श्री एस.के. जैन एवं बड़ी संख्या में मेडीकल कॉलेज की छात्र-छात्रायें शामिल थी। कार्यक्रम का शुभारंभ मॉ सरस्वती के प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित और माल्यार्पण कर किया गया।
      सांसद श्री यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से व्यक्ति की सारी समस्या का समाधान होगा। क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति जो रोगी है, उसके लिए स्वास्थ्य सबसे बड़ी समस्या है। देश को सुखी बनाने के लिए आज का दिन अत्यंत महत्वपूर्ण है। निरोगी काया सबकी जरूरत है। इसी को ध्यान में रखते हुए यह योजना लागू की गई है। आज से विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना के दायरे में 10 करोड़ परिवार आ जाएंगे। उन्होंने कहा कि स्वच्छ रहने के लिए स्वच्छ भारत और स्वास्थ्य के लिए आयुष्मान भारत। स्वच्छ भारत का ही असर है कि अब बीमारियां और रोगी कम हुए है। पहले रूपए की कमी के कारण गरीब बड़ी मुश्किल से इलाज करवा पाते थे। अब वो समस्या दूर हो गई है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य निरामयम योजना के दायरे में देश के 50 करोड़ नागरिक शामिल हो जाएंगे। वर्ष 5 लाख रूपए का स्वास्थ्य बीमा निश्चित तौर गंभीर बीमारी को भी जड़ से समाप्त करने और निरोगी काया देने में सफल होगा।
      विधायक श्री जैन ने कहा कि आयुष्मान योजना भारत की निःशुल्क चिकित्सकीय व्यवस्था को मजबूती प्रदान करेगी, पात्र नागरिकों को भारत के चिन्हित अस्पतालों में कैशलेश एवं पेपरलेश निःशुल्क चिकित्सकीय इलाज 5 लाख रूपये तक का प्रतिवर्ष मिल सकेगा। मरीजों को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान कर हम अपने देश को स्वस्थ्य व मजबूत बना सकेंगें। यह योजना स्वास्थ्य योजनाओं के क्रियान्वयन एवं मरीजों को स्वास्थ्य लाभ देने में मील का पत्थर साबित होगी। 
1350 बीमारियों के लिए स्वास्थ्य बीमा
    जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 1350 बीमारियों को शामिल किया गया है, जिसका लाभ नागरिकों को प्राप्त होगा। योजना के तहत जिला स्तर और देश में चिन्हांकित निजी अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में इलाज का लाभ दिया जाएगा। स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश के लिए ऐतिहासिक दिन है। अमेरिका में संचालित योजना को भी पीछे छोड़ने वाली यह योजना देश की सबसे अधिक जनसंख्या को लाभांवित करेगी। 
सैक्टर अधिकारियों का प्रशिक्षण 20 सितम्बर को 
सागर | 19-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    जिला निर्वाचन अधिकारी सागर के द्वारा विधानसभा निर्वाचन 2018 का कार्य सुचारू रूप से सम्पन्न कराये जाने हेतु अधिकारियों की नियुक्ति सेक्टर, अधिकारियों के रूप में लगाई गयी है। समस्त सेक्टर अधिकारियों का प्रशिक्षण 20 सितम्बर को शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय तिली रोड सागर में आयोजित किया जायेगा।
   इसी क्रम में 035-बीना, 036-खुरई, 037-सुरखी, 038-देवरी के सेक्टर अधिकारियों का प्रशिक्षण 20 सितम्बर को प्रातः 11 बजे से शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय तिली रोड सागर में आयोजित किया जायेगा। इसके पश्चात् 039-रहली, 040-नरयावली, 041-सागर एवं 042-बण्डा के सेक्टर अधिकारियों प्रषिक्षण 20 सितम्बर को दोपहर 2 बजे से शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय तिली रोड सागर में आयोजित किया जायेगा। जिसमें सभी सेक्टर अधिकारियों की उपस्थित अनिवार्य है।     
रेल्वे गेट बंद रहेगा 
सागर | 15-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    रेल्वे गेट न. 36 जो कि लिधौरा-गिरवर खण्ड में स्थित है यहां पर मशीन द्वारा रेल पथ अनुरक्षण का कार्य किया जाना है। अतः यह गेट 16 सितम्बर से 20 सितम्बर तक दिन और रात के लिये सड़क यातायात के लिये बंद रहेगा।  
अध्यापक संवर्ग 15 सितम्बर तक करवायें ऑनलाइन पंजीयन 
अनुपपुर | 13-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    राज्य शासन द्वारा मध्यप्रदेश जनजाति एवं अनुसूचित-जाति शैक्षणिक संवर्ग (सेवा एवं भर्ती) नियम-2018 के अंतर्गत अध्यापक संवर्ग की जनजातीय कार्य विभाग में नियुक्ति के संबंध में निर्देश प्रसारित किये गये हैं। जनजातीय कार्य विभाग में कार्यरत अध्यापक संवर्ग की नियुक्ति की प्रक्रिया में ऑनलाइन शिक्षक प्रोफाइल पंजीकरण की कार्यवाही प्रचलित है। 
    अभी तक अध्यापक संवर्ग के लगभग 25 हजार 735 शिक्षकों द्वारा पंजीकरण की कार्यवाही की गई है। शेष अध्यापक संवर्ग को समझाइश दी गई है कि वह 15 सितम्बर तक अपना प्रोफाइल पंजीकरण करवायें।
सर्वाधिक वर्षा 1180.1 मि.मी. उमरिया में दर्ज 
सागर | 08-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
   
   मध्यप्रदेश में इस वर्ष मानसून में एक जून से 7 सितम्बर तक 8 जिलों में सामान्य से 20 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई है। प्रदेश के 35 जिलों में सामान्य वर्षा दर्ज हुई है। कम वर्षा वाले जिलों की संख्या 8 है। सर्वाधिक वर्षा 1180.1 मिलीमीटर उमरिया में और सबसे कम 472.8 मिलीमीटर अलीराजपुर में दर्ज की गई है।
   सामान्य से अधिक वर्षा वाले जिले  टीकमगढ़, उमरिया, भिण्ड, दतिया, शिवपुरी, नीमच, मुरैना और सिंगरौली हैं। 
   सामान्य वर्षा वाले जिले अशोकनगर, शहडोल, खण्डवा, बुरहानपुर, बड़वानी, जबलपुर, सीधी, ग्वालियर, रतलाम, मंदसौर, झाबुआ, श्योपुरकलां, रायसेन, कटनी, इंदौर, रीवा, दमोह, खरगोन, छतरपुर, गुना, मण्डला, विदिशा, शाजापुर, सीहोर, उज्जैन, आगर-मालवा, नरसिंहपुर, पन्ना, भोपाल, राजगढ़, होशंगाबाद, सिवनी, सतना, डिण्डोरी और सागर हैं। 
    कम वर्षा वाले जिले धार, हरदा, बालाघाट, छि़दवाड़ा, अनूपपुर, देवास, अलीराजपुर और बैतूल हैं।
अनुत्तीर्ण परिवीक्षाधीन विभागीय परीक्षा 9 सितम्बर को 
सागर | 06-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
   
    प्राचार्य लेखा प्रशिक्षण शाला, सागर ने बताया कि समस्त संबंधित अनुत्तीर्ण परिवीक्षाधीन अधीनस्थ सेवा अधिकारियों एवं लेखा प्रशिक्षण शाला के परिक्षार्थियों की विभागीय परीक्षा वर्ष 2018 की परीक्षा (यूआईटी) आर.जी.पी.व्ही. परिसर 9 सितम्बर को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक आयोजित की जा रही है। 
       अतः समस्त परिक्षार्थियों को सूचित किया जाता है कि संबंधितों के प्रवेश पत्र विभागीय पोर्टल पर अपलोड किये जा चुके हैं। परीक्षार्थी अपने प्रवेश पत्र www.mptreasury.org से अपने नाम के समक्ष अंकित रोल नं. क लिंक पर क्लिक कर अपने प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते है। प्रवेश पत्र Devlys 010 फॉन्ट में उपलब्ध है। प्रवेश पत्र पृथक से प्रेषित नहीं किया जायेगा।
गृहमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहकों को वर्ष 2017 सीजन की बोनस राशि का किया वितरण 
सागर | 01/09/2018
0
 
 
 
 
   
 
    वन विभाग द्वारा  मालथौन नवीन कृषि उपज मंडी में शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम में तेंदूपत्ता संग्राहकों को वर्ष 2017 सीजन की बोनस राशि का वितरण किया गया। इस कार्यक्रम में कम्प्यूटर के माउस से एक क्लिक कर संग्राहकों के बैंक खाते में ई-पेमेंट से 40 करोड़ रुपये की राशि हस्तांतरित की गई। अपने संबोधन में मंत्री श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आज पूरे प्रदेश में तेंदूपत्ता श्रमिकों को 700 करोड़ रूपए बोनस के रूप में दिए जा रहे हैं। इन श्रमिकों का जीवन खुशहाल बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने बोनस राशि बढ़ा कर दो हजार रूपए कर दी है। यह वर्ष 2017 को बोनस दिया जा रहा है। इसके साथ ही तेन्दूपत्ता श्रमिकों का बीमा भी कराया जा रहा है। इससे इनके दुख तकलीफ में सरकार से मदद मिल सकेगी।
    इस अवसर पर तेंदूपत्ता संग्राहकों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार तेंदूपत्ता संग्राहकों की बेहतरी के लिए अच्छा कार्य कर रही है। बोनस के रूप में तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस के रूप में बड़ी राशि मिलने जा रही है। इससे संग्राहकों की जीवन स्तर अच्छा बनेगा और उन्हें आने वाले वर्षों में और अधिक मात्रा में तेंदूपत्ता संग्रहण की प्रेरणा मिलेगी
    प्रदेश सरकार ने इस वर्ष तेंदूपत्ता संग्रहण की दर बढ़ाकर दो हजार रुपये प्रति मानक बोरा कर दी है। इससे संग्राहकों को मजदूरी के रूप में बड़ी राशि मिली है।  प्रदेश सरकार ने गरीबी को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री जनकल्याण( संबल) योजना लागू की है। इस योजना का लाभ असंगठित क्षेत्र के मजदूरों एवं तेंदूपत्ता संग्राहकों को भी मिल रहा है। संबल योजना में पंजीकृत श्रमिकों को 200 रुपये का ही बिजली बिल देना है। इससे अधिक बिजली बिल आने पर ऊपर की राशि प्रदेश सरकार भरेगी। प्रदेश सरकार भूमिहीन लोगों को मकान बनाने के लिए आवासीय जमीन का पट्टा दे रही है। इस अवसर पर कलेक्टर श्री सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किये। 
मध्यप्रदेश में खाद्यान्न उत्पादन में हुई 207 प्रतिशत वृद्धि 
किसानों के लिये ग्राम स्तर पर भी बन रहे हैं रोडमैप 
सागर | 30-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
 
   मध्यप्रदेश में किसानों की आय 5 वर्ष में दोगुनी करने के मकसद से रोडमैप बनाया गया है। कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मछली-पालन, वानिकी, सिंचाई विस्तार, रेशम, कुटीर और ग्रामोद्योग आदि विभाग द्वारा रोडमैप पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। जिला-स्तर का रोडमैप भी तैयार कर लिया गया है और ग्राम-स्तर का रोडमैप भी तैयार किया जा रहा है।
   प्रदेश में कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता दिये जाने से वर्ष 2016-17 में कृषि उत्पादन 5.44 करोड़ मीट्रिक टन हो गया। खाद्यान्न उत्पादन में 207 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। वर्ष 2004-05 में कुल खाद्यान्न उत्पादन मात्र 1.43 करोड़ मीट्रिक टन हुआ करता था, जो वर्ष 2016-17 में बढ़कर 4.39 करोड़ मीट्रिक टन हो गया।
   प्रदेश में दलहन और तिलहन फसलों के उत्पादन को बढ़ाने के लिये किसानों को विशेष सुविधाएँ उपलब्ध करवाई गईं हैं, जिसके फलस्वरूप पिछले एक दशक में दलहन उत्पादन में 136 प्रतिशत तक की उपलब्धि हासिल हुई है। प्रदेश में वर्ष 2004-05 में दलहन फसलों का उत्पादन मात्र 33.51 लाख मीट्रिक टन हुआ करता था, जो वर्ष 2016-17 में बढ़कर 79.23 लाख मीट्रिक टन हो गया। मध्यप्रदेश में तिलहन फसलों के उत्पादन में भी रिकार्ड वृद्धि हुई है। प्रदेश में वर्ष 2004-05 में तिलहन फसलों का उत्पादन मात्र 49.08 लाख मीट्रिक टन हुआ करता था, जो वर्ष 2016-17 में बढ़कर 87.35 लाख मीट्रिक टन हो गया। यह वृद्धि 78 प्रतिशत है।
   प्रदेश में पिछले 12 वर्षों में कृषि क्षेत्र के रकबे में 57 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। वर्ष 2016-17 में मध्यप्रदेश में कृषि का रकबा 2.49 लाख हेक्टेयर हो गया है। मध्यप्रदेश की पिछले 4 वर्षों की औसत कृषि विकास दर 18 प्रतिशत से अधिक रही है। यह उपलब्धि प्राप्त करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। इन सभी वजहों से मध्यप्रदेश को कृषि उत्पादन के क्षेत्र में पिछले 5 वर्षों से लगातार कृषि कर्मण पुरस्कार भी मिल रहा है।
 
नेशनल लोक अदालत 8 सितम्बर को 
सागर | 28-अगस्त-2018
0
 
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली, एवं मध्य प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के निर्देशानुसार एवं जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष श्री एस.के.शर्मा के मार्गदर्शन में 08 सितम्बर 2018 को जिला न्यायालय एवं समस्त तहसील न्यायालयों में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जाना है। जिसके संबंध में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री महेन्द्र कुमार जैन द्वारा बताया गया कि नेशनल लोक अदालत में आपराधिक शमनीय प्रकरणों, पराक्रम्य लिखित अधिनियम की धारा 138 के अंतर्गत प्रकरण, बैंक रिकवरी संबंधी मामले, एम. ए. सी. टी (मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरण), वैवाहिक प्रकरण, श्रम विवाद प्रकरण, भूमि अधिग्रहण प्रकरण, विद्युत एवं जल कर/बिल संबंधी (चोरी के मामलों को छोड़कर), सेवा मामले जो सेवानिवृत्त संबंधी लाभों से संबंधित है, राजस्व प्रकरण (जिला न्यायालय एवं उच्च न्यायालय में लंबित) एवं अन्य दीवानी मामलें तथा अन्य समस्त प्रकार के राजीनामा योग्य प्रीलिटिगेशन प्रकरणों (मुकदमा पूर्व) का आपसी समझौते से निराकरण किया जाना है। 
    अतः आमजन से अनुरोध है कि, दिनांक 08 सितम्बर 2018 को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरणों का निराकरण कराकर लोक अदालत को सफल बनाने में सहयोग प्रदान करें। 
जिलास्तरीय विपणन की बैठक एवं कार्यशाला सम्पन्न 
सागर | 25-अगस्त-2018
0
 
अपर कलेक्टर, सुश्री तन्वी हुड्डा की अध्यक्षता में  म.प्र. शासन के आदेशानुसार म.प्र. कृषि उपज मंडी के अध्याधीन म.प्र. राज्य कृषि विपणन बोर्ड के द्वारा दिये गये परामर्ष अनुसार कृषकों के हित संबर्धन हेतु सागर जिले के जिलास्तरीय विपणन कार्यालय की बैठक एवं कार्यशाला का आयोजन कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष किया गया। इस बैठक में संयुक्त संचालक मण्डी बोर्ड श्री एस.के. कुमरे एवं श्री हितेष बडन्या द्वारा पावर प्वांइट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से कार्यशाला संचालित की गयी। मण्डी बोर्ड की संरचना बताते हुये उन्होंने प्रदेश में 7 अंचलिक कार्यालय एवं 257 कृषि उपज मंडी समिति के संचालन की जानकारी दी। 
   जिला विपणन कार्ययोजना के उद्देश्य को रेखांकित किया। उन्हांेने बताया कि कृषकों हेतु निश्चित दूरी पर बाजार एवं मंडी उपलब्ध करवाना, मार्केटेबल सरप्लस का अधिक से अधिक भाग मंडियों तक लाना, कृषकों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य दिलवाना, मंडियों में आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराना एवं कृषि उपज के मूल्य संवर्धन हेतु आवश्यक सुविधाओं के विकास हेतु योजना बनाकर प्रस्तावित करना उद्देश्य है।   
   मंडी स्थापना कालक्रम की जानकारी देते हुये उन्होंने बताया कि वर्ष 2001 से 2018 के मध्य मात्र 16 नवीन मंडियों की स्थापना हुई जो राज्य के कुल उत्पादन के अनुरूप नहीं है। किसानों की उपज मंडियों तक आ सके इस हेतु सदस्यों से सुझाव भी आमंत्रित किये गए। कार्यशाला में उन्होंने बताया कि योजना दल के प्रमुख कार्य अक्रियाशील उप मंडियों को क्रियाशील करना, नवीन मंडियों की स्थापना का आकलन करना, मंडियों का अधोसंरचनात्मक विकास, मंडियों में प्राप्त मार्केटेबल सरप्लस का अगले तीन वर्षों में क्रमशः 20 प्रतिशत, 40 प्रतिशत एवं 60 प्रतिशत भाग की बढ़ोत्तरी कर मंडियों में आवक की वृद्वि सुनिश्चित करना, मंडी प्रबंधन द्वारा कृषि उपज के भावों में राज्यस्तर की तुलना में अंतर को न्यूनतम करना है।   
   बैठक में श्री अरूण सिंघई ने सुझाव देते हुये बताया कि मंडी स्टॉफ की संख्या बढ़ायें जाने की आवश्यकता है। किसान की समस्या का समाधान हो, किसानों को समय पर भुगतान हो। बैठक में सदस्यों द्वारा अन्य बिन्दुओं पर भी चर्चा की गई जिसमें फल सब्जी मंडी, उप मंडी को क्रियाशील करना, अधिक मूल्य वाली फसलों की मंडी में आवक बढा़ना एवं प्रसंसकरणकर्ताओं को मंडी में जोड़ना शामिल है।  बैठक में मंडी सचिव श्री अरविन्द्र तामक्रार, सहायक यंत्री मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन तकनीकी, अध्यक्ष कृशि उपज मंडी समिति बीना, शाहगढ़, जैसीनगर, सचिव कृषि उपज मंडी समिति सागर, रहली, बीना, खुरई, राहतगढ़, देवरी, केसली, गढ़ाकोटा, बण्डा, शाहगढ़, जैसीनगर एवं मालथौन आदि उपस्थित थे।       
दिव्यांगजनों के लिये छात्रवृत्ति योजना 
सागर | 18-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
    भारत सरकार द्वारा दिव्यांग विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिये कई योजनायें संचालित की जा रही हैं। अब 6 योजनाओं को एक कर समेकित छात्रवृत्ति योजना “दिव्यांगजनों के लिये छात्रवृत्ति योजना” प्रारंभ की गई है। दिव्यांग विद्यार्थी पात्रता के अनुसार इस योजना के तहत छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकते हैं। 
    दिव्यांगजनों के लिए छात्रवृत्ति योजना में दिव्यांगजन विद्यार्थियों हेतु प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना, पोस्ट मैट्रिक, टॉप क्लास, नेशनल ओवरसीज छात्रवृत्ति योजना, नेशनल फैलोशिप तथा फ्री कोचिंग योजना को मर्ज किया गया है। 
    शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिये राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल scholarship.gov.in पर छात्र-छात्राओं के पंजीयन प्रारंभ हो गए हैं। पात्र दिव्यांग विद्यार्थी पंजीयन कर छात्रवृत्ति के लिये आवेदन कर सकते हैं। इसके संबंध में अन्य शर्तें एवं आवश्यक जानकारी disabilityaffairs.gov एवं www.socialjustice.mp.gov.in तथा राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल पर उपलब्ध है।  
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 
 
 
 
   
 
 
 
 

0
 
 
 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
   
    

 

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/