wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

सैनिक कल्याण अधिकारी आज कोटर में 
सतना | 18-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    भूतपूर्व सैनिकों एवं उनकी विधवाओं के कल्याणार्थ चलाई जा रही योजनाओं की उन्हें जानकारी देने तथा उनकी समस्याओं का निराकरण करने के लिए जिला सैनिक कल्याण अधिकारी 19 सितम्बर 2018 को दोपहर 11.30 बजे से कोटर तहसील प्रांगण में उपस्थित रहेगें। 
उज्जवला ने गरीब परिवारों की महिलाओं को दिलाई चूल्हे के धुएं से मुक्ति (सफलता की कहानी) 
सतना | 15-सितम्बर-2018
1
 
 
 
 
   सरकार की उज्जवला योजना ने बड़ी संख्या में गरीब परिवारों की महिलाओं को चूल्हे के धुएं से मुक्ति दिला दी है। इन परिवारों के रसोईघरों में अब लकड़ी चूल्हों की जगह रसोई गैस चूल्हे लेने लगे हैं। 
   आधुनिकता के इस दौर में गरीब परिवारों में लकड़ी ईंधन चूल्हों के स्थान पर रसोई गैस से चलने वाले चूल्हों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के पीछे सरकार का महत्वपूर्ण योगदान है। अधिक से अधिक गरीब परिवारों में रसोई गैस का इस्तेमाल बढ़ाने की मुहिम चलाई गई। नतीजतन तमाम गरीब-गुरबा परिवारों के घरों में रसोई गैस चूल्हे आकार लेने लगे। महिलाओं को तो मानों बहुत बड़ा उपहार मिल गया हो। पहले लकडि़यों पर खाना बनाने से उठता तेज धुंआ फेंफड़ों में जाता था, जिससे महिलाए फेंफड़ाजन्य बीमारियों से ग्रस्त हो जाया करती थीं। लकडि़यों के निकले धुंए से बर्तन काले हो जाते थे और पकाने में वक्त भी बहुत लगता था। बरसात में तो लकडि़यों में सीलन बैठने से और अधिक परेशानी हुआ करती थी। लेकिन महिलाओं को अब इन सारी परेशानियों से निजात मिल गई है। 
   सतना नगर में सिन्धी कैम्प के गहरा नाला क्षेत्र की रहने वाली अट्ठाईस वर्षीया श्रीमती ज्ञानवती साकेत एवं पैंतीस वर्षीया श्रीमती गीता कोल उन्हीं गरीब परिवारों की महिलाओं में शामिल हैं, जिन्हें सरकार की उज्जवला योजना के तहत निःशुल्क गैस-चूल्हा और गैस सिलेण्डर दिया गया है। अब ज्ञानवती को कण्डों एवं लकडि़यों पर खाना नहीं बनाना पड़ता। चूल्हे की तरह बर्तन गंदे नहीं होते। ज्ञानवती को चूल्हे के धुएं से हो रही खांसी और आंखों की जलन से भी मुक्ति मिल गई है। पति दिहाड़ी मजदूर हैं। इसलिए अब खाना जल्दी बनकर टिफिन लग जाता है। ज्ञानवती बताती हैं,‘‘ पहले लकडि़यो के चूल्हे पर खाना बनाने से बीमार हो जाते थे। पति को टिफिन लगाने में देरी हो जाती थी। अब झटपट खाना बन जाता है और घर में गंदगी भी नहीं रहती।’’ 
आर.ओ., तहसीलदारों को मतदान केन्द्रों का शीघ्र भ्रमण करने के निर्देश 
सतना | 13-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
 
 
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री मुकेश शुक्ला ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले के सभी एस.डी.ओ./रिटर्निंग आफीसरों तथा तहसीलदारों को निर्देशित किया कि विधानसभा क्षेत्रवार स्थापित सभी मतदान केन्द्रों का भ्रमण कर वहां की आवश्यक व्यवस्थाओं को देखें। जैसे कि मतदान केन्द्रों में खिड़की, दरवाजा, टायलेट, रैम्प, बिजली, पानी तथा सुरक्षा के इंतजाम के बारे में जानकारी लेकर जिला निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध कराएं। 
    कलेक्टर ने कहा कि यदि मतदान केन्द्रों में कोई सुधार या निर्माण कार्य कराया जाना हो, तो मतदान केन्द्रवार सूची जिला निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध कराएं। जिससे मतदान केन्द्रों में व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जा सके। बैठक में अपर कलेक्टर श्री जे.पी.धुर्वे, डिप्टी कलेक्टर सुश्री संस्कृति शर्मा, प्रशिक्षण अधिकारी डॉ. बी.के.गुप्ता तथा नगर पालिकाओं के अधिकारीगण उपस्थित थे। 
मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मानीटरिंग कमेटी की प्रशिक्षण बैठक 11 को 
सतना | 08-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
 
    विधानसभा निर्वाचन 2018 मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मानीटरिंग कमेटी (एम.सी.एम.सी.) प्रशिक्षण संबंधी बैठक 11 सितम्बर 2018 को सायं 5 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मुकेश कुमार शुक्ला ने एम.सी.एम.सी. के समस्त सदस्यों एवं सचिव को प्रशिक्षण बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने को कहा है। पूर्व में यह बैठक 11 सितम्बर 18 को दोपहर 12 से आयोजित की गई थी। जो अब संशोधित होकर सायं 5 बजे से आयोजित होगी। 
मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मानीटरिंग कमेटी की प्रशिक्षण बैठक 11 को 
 
सतना | 08-सितम्बर-2018
 
 
        विधानसभा निर्वाचन 2018 मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मानीटरिंग कमेटी (एम.सी.एम.सी.) प्रशिक्षण संबंधी बैठक 11 सितम्बर 2018 को सायं 5 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मुकेश कुमार शुक्ला ने एम.सी.एम.सी. के समस्त सदस्यों एवं सचिव को प्रशिक्षण बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने को कहा है। पूर्व में यह बैठक 11 सितम्बर 18 को दोपहर 12 से आयोजित की गई थी। जो अब संशोधित होकर सायं 5 बजे से आयोजित होगी। 

 

शिक्षकों का सम्मान गौरवशाली परम्परा - श्री तिवारी 

जिला स्तरीय शिक्षक दिवस समारोह में 75 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान 
सतना | 06-सितम्बर-2018
 
 
    जिला स्तरीय शिक्षक दिवस समारोह के अवसर पर आज शासकीय उत्कृष्ट उ.मा.वि. व्यंकट क्रमांक एक सतना में जिले के 75 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान विधायक सतना श्री शंकरलाल तिवारी एवं जिला पंचायत उपाध्यक्ष डा. रश्मि सिंह ने शाल-श्रीफल से किया। शिक्षा विभाग के तत्वावधान में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य श्री रामदीन वर्मा, भाजपा मंडल अध्यक्ष श्री सुनील सेनानी, जिला शिक्षा अधिकारी बी.एस. देशलहरा, प्राचार्य व्यंकट क्रमांक एक श्री जी.एस चौहान, एमएलबी प्राचार्य कुमकुम भट्टाचार्य, प्राचार्य कन्या धवारी श्री सुभाष मिश्रा, राज्य अध्यापक संघ के अध्यक्ष श्री शैलेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में छात्राओं द्वारा अतिथि द्वय का बैज लगाकर स्वागत किया गया। 
    सतना विधायक श्री तिवारी ने कहा कि वेद और पुराणों में भी शिक्षकों के महत्व और उनके सम्मान का उल्लेख मिलता है। गुरू और शिष्य परम्परा का आदर्श है। उन्होने कहा कि जिले में शिक्षकों का सम्मान गौरवशाली परम्परा रही है। जिले के सभी शिक्षक समुदाय को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं देते हुये विधायक श्री तिवारी ने समारोह में उपस्थित शिक्षकों को शाल-श्रीफल से सम्मानित किया। 
      कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला पंचायत उपाध्यक्ष डॉ. रश्मि सिंह ने कहा कि शिक्षा से ही समाज को सही दिशा दी जा सकती है। उन्होने कहा कि किताबो की सीख शिक्षा है और छात्र-छात्राओं को दिए गए संस्कार सही मायने में गुरू की दीक्षा कहलाती है। शिक्षा के मानक और संस्कार स्थापित करने वाले शिक्षाविद् डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप मे मनाया जाना गौरव की बात है। 
 
     कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत सदस्य श्री वर्मा ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। जिला शिक्षा अधिकारी श्री देशलहरा ने कहा कि सभी सेवानिवृत्त शिक्षकों के स्वत्वों का भुगतान शीघ्र और समय सीमा में सुनिश्चित किया जायेगा। शिक्षक दिवस समारोह का शुभारंभ अतिथि द्वय ने मॉ सरस्वती और डॉ. राधाकृष्णन के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जलन और माल्यार्पण से किया। कार्यक्रम में सेवा निवृत्त शिक्षक सावित्री चतुर्वेदी, राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय, विनोद कुमार गौतम, सुरेन्द्र कुमार पाण्डेय, नीरज त्रिपाठी, वीरेन्द्र सिंह, कृष्ण कुमार चतुर्वेदी तथा राम किशोर सोनी को प्रतीक स्वरूप शाल श्रीफल एवं बैच लगाकर सम्मानित किया गया।
(1 days ago)
मिल बांचे कार्यक्रम में कलेक्टर ने पढ़ाया नैतिकता का पाठ 
सतना | 01/09/2018
 
 
 
    जिले में शुक्रवार को मिल बांचे कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके तहत कलेक्टर श्री मुकेश शुक्ला ने शासकीय माध्यमिक शाला भटनवारा पहुंचकर विद्यार्थियों को उनके उज्जवल भविष्य हेतु नैतिक शिक्षा की जानकारी दी तथा भूगोल एवं सामान्य ज्ञान के प्रश्न पूछें। उन्होंने छात्रों का सर्वागींण विकास कैसे हो, इस विषय पर छात्रो से सीधा संवाद कर चर्चा की एवं स्वच्छता के बारे में जानकारी दी। इस उद्बोधन से प्रेरित होकर विद्यार्थियो ने एक के बाद एक आकर अपनी मांगे भी रखी। 
    मिल बांचे कार्यक्रम में सांसद श्री गणेश सिंह ने शासकीय माध्यमिक शाला कोटर, विधायक श्री शंकरलाल तिवारी ने शासकीय माध्यमिक शाला खूंथी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुधा सिंह ने शासकीय माध्यमिक उमरी शिवराजी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष डॉ. रश्मि सिंह ने शासकीय माध्यमिक कन्या विद्यालय नागौद, सी.ई.ओ. जिला पंचायत श्री साकेत मालवीय ने शासकीय माध्यमिक शाला कामता चित्रकूट, नगर निगम आयुक्त श्री प्रवीण सिंह अढ़ायच ने शासकीय माध्यमिक शाला भटनवारा तथा सहायक परियोजना समन्वयक भूप सिंह बघेल ने शासकीय माध्यमिक शाला खूंथी, एस.डी.एम. उंचेहरा श्रीमती साधना परस्ते सहित जनप्रतिनिधियों एवं शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों ने मिल बांचे कार्यक्रम में वालेन्टियर के रूप में अपनी सहभागिता निभाई। 
अनुसूचित जाति वर्ग के युवक-युवतियों को रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण 
सतना |30-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
   
    अनुसूचित जाति वर्ग के शिक्षित बेरोजगार युवक-युवतियों को रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण योजना संचालित है। योजना में रोजगारन्मुखी प्रशिक्षण के उपरांत प्रशिक्षणार्थियों को रोजगार-स्वरोजगार उपलब्ध कराने का प्रावधान है। प्रशिक्षणार्थी को मध्यप्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए तथा अनुसूचित जाति वर्ग का सदस्य होना चाहिए। उसकी न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता कक्षा 08 वीं उत्तीर्ण तथा आयु 18 वर्ष से 35 वर्ष होना चाहिए। अधिक जानकारी हेतु जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति में कार्यालयीन समय में संपर्क किया जा सकता है। 
पिछड़ा वर्ग महाकुंभ आयोजन संबंधी समीक्षा बैठक सम्पन्न 
सतना | 28-अगस्त-2018
0
 
पिछड़ा वर्ग समुदाय के महाकुंभ का आयोजन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्यातिथ्य में 10 सितम्बर 18 को किया जाना प्रस्तावित है। इस महाकुंभ में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित कल्याणकारी हितग्राहीमूलक योजनाओं से सतना जिले में रीवा, जबलपुर, शहड़ोल संभाग के करीब एक लाख लाभान्वित लाभार्थियों को आदान सामग्री का वितरण किया जायेगा। 
    पिछड़ा वर्ग समुदाय के महाकुंभ आयोजन संबंधी बैठक मंगलवार को सर्किट हाउस सतना में पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक वित्त विकास निगम के अध्यक्ष श्री प्रदीप पटेल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री साकेत मालवीय, सहायक आयुक्त नगर निगम श्री महेश कोरी, सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग श्री नागेन्द्रमणि मिश्रा के अलावा विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

 

नोडल अधिकारी आगामी विधानसभा निर्वाचन के कार्य 
को महत्व देना शुरू करें- कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी 
 

  सतना | 25-अगस्त-2018  कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री मुकेश कुमार शुक्ला ने आगामी विधानसभा निर्वाचन के संपादन के लिए नियुक्त किए गए नोडल अधिकारियों से कहा है कि वे निर्वाचन प्रक्रिया के कार्य को गंभीरता से लेकर और उसकों महत्व देना शुरू कर दें। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आज यहां आगामी निर्वाचन कार्य के सुचारू संचालन एवं संपादन के लिए नियुक्त विभिन्न प्रकोष्ठों के नोडल अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। बैठक में सभी नोडल अधिकारियों ने भाग लिया।  
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने नोडल अधिकारियों को हिदायत दी कि निर्वाचन प्रक्रिया की तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए वे अपने सहयोगी अधिकारियों की अभी से बैठक लेकर आंतरिक व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा कर लें। इस गहन विचार मंथन के बाद कर्तव्य की रूपरेखा बना लें, ताकि निर्वाचन प्रक्रिया के संपादन के लिए उनकों सौंपे गए कार्य सुचारू रूप से और समय पर निष्पादित हो सकें।
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने नोडल अधिकारियों को परामर्ष दिया कि वे भारत निर्वाचन आयोग और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की वेवसाइट पर अपने कार्य से संबंधित दिशा निर्देशों को निकालकर पढ़े और इसी के आधार पर अपने कार्य की योजना बनाएं कि उनकों कैसे कुशलता से कार्य करना होगा। निर्वाचन कार्यालय के निर्देशों का इंतजार ना करें, बल्कि भारत निर्वाचन आयोग की वेवसाइट से पुराने एवं नए आदेशों व दिशा निर्देशों का अवलोकन करना शुरू कर दें। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने भारत निर्वाचन आयोग एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की वेवसाइट का नियमित अवलोकन करने की भी नोडल अधिकारियों को सलाह दी। 
   उन्होंने कहा कि प्रत्येक रिटर्निंग आफीसर अपने क्षेत्र के प्राचार्यो की बैठक लेकर शिक्षा विभाग के कर्मचारियों को ई.व्ही.एम. मशीन का संचालन करना सिखाएं। उन्होंने निर्वाचन के सभी मास्टर ट्रेनर्स को ई.व्ही.एम. मशीन के इंजीनियरों से प्रशिक्षण दिलाने के निर्देश दिए। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रकोष्ठवार नियुक्त नोडल अधिकारियों से उनके कार्यो के संबंध में विस्तार से चर्चा की।


कलेक्टर द्वारा पंजीयन केन्द्रों का निरीक्षण करने के एस.डी.ओ. को निर्देश 
सतना | 22-अगस्त-2018
1
 
 कलेक्टर श्री मुकेश शुक्ला ने खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में जिले में धान एवं मोटे अनाज (ज्वार एवं बाजरा) के न्यूनतम समर्थन मूल्य के लाभ के लिए किसानों के पंजीयन हेतु बनाए गए पंजीयन केन्द्रों का निरीक्षण करने के अनुविभागीय अधिकारियों राजस्व को निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने यह निर्देश यहां सम्पन्न हुई खरीफ विपणन वर्ष में किसानों के पंजीयन की व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए ली गई विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक में दिए। बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी श्री के.के.सिंह, जिला विपणन अधिकारी, जिला प्रबंधक नॉन, उपायुक्त सहकारिता, महाप्रबंधक जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक समेत अनुविभागीय अधिकारी एवं तहसीलदार उपस्थित थे। 
    कलेक्टर ने पंजीयन कार्य से जुडे़ अधिकारियों को हिदायत दी कि वे सुनिश्चित करें कि पंजीयन के दौरान किसानों को कोई दिक्कत ना हो। कलेक्टर ने तहसीलदारों को निर्देश दिए कि गिरदावरी से कृषक की बोई गई फसल का सतर्कतापूर्वक सत्यापन कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को हिदायत दी कि जिन पंजीयन केन्द्रों पर जिन संसाधनों की कमी हैं, वहां वे संसाधन उपलब्ध कराए जाएं। 
    जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि जिले में गत 10 अगस्त 18 से किसानों के पंजीयन का कार्य प्रारंभ हो चुका है। समस्त कृषकों को नवीन पंजीयन कराना आवश्यक है। गत उर्पाजन अवधियों के पंजीयन मान्य नहीं होगें। पंजीयन के लिए एस.एम.एस. प्राप्त होने पर कृषक को निर्धारित तिथि को अधिकृत पंजीयन केन्द्र पर आवश्यक दस्तावेज लेकर पहुॅचना होगा। पंजीयन फार्म की पूर्ति कर उसको पंजीयन केन्द्र पर जमा कराना होगा। अस्थाई पंजीयन की सूचना कृषक के पंजीकृत मोबाईल पर दी जाएगी। 
    बैठक में जानकारी दी गई कि भू-अभिलेख में दर्ज रकवा ही पंजीयन हेतु मान्य होगा। वनाधिकार पट्टाधारी कृषकों को पंजीयन की सुविधा प्रदान की गई है। उर्पाजन केन्द्र पर पंजीयन हेतु मोबाईल नम्बर, आधार कार्ड, समग्र सदस्य आई.डी., ऋण पुस्तिका, राष्ट्रीयकृत या अधिसूचित बैंक की पासबुक, सहकारी बैंक की बैंक खाता पासबुक, अद्यतन खसरा की नकल, शिकमी/बटांईदार भू-स्वामी का अनुबंध, पट्टा संबंधी दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा।
न्यायालय में 25 जुलाई को पेशी पर उपस्थित होने की उद्घोषणा जारी 
सतना | 18-अगस्त-2018
0
 
 पुलिस अधीक्षक सतना ने विशेष न्यायाधीश डकैती एवं अपहरण प्रभावित क्षेत्र अधिनियम एवं विशेष न्यायाधीश श्री एन.एस.डाबर के न्यायालय द्वारा साक्ष्य पेशी हेतु सेवानिवृत्त पुलिस अधीक्षक श्री हरि सिंह यादव को 21 अगस्त 2018 को प्रातः 11 बजे, प्रधान आरक्षक थाना बरौंधा श्री राजेश कर्वेती, सी.एस.सी. सोहावल डॉ. एस.के.जैन, निवासी बजरहा थाना बरौंधा गुजला उर्फ जोग्गल मवासी पिता श्री जगधारी मवासी को 10 सितम्बर 2018 को उक्त न्यायालय में उपस्थित होने के लिए जारी उद्घोषणाओं को प्रसारित किया है। 
मलेरिया से बचाव हेतु द्वितीय चरण में आज से होगा दवा का वितरण 
सतना | 16-अगस्त-2018
0
 
 आयुष विभाग द्वारा मलेरिया रोग नियंत्रण कार्यक्रम 2018 के अंतर्गत जन स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य, मलेरिया विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ मिलकर एक अभियान के जरिए जिले की उचेहरा एवं मझगवां तहसील के विभिन्न चिन्हित ग्रामों में मलेरिया से बचाव के लिये होम्योपैथिक औषधि मलेरिया आफ-200 दवा का घर-घर जाकर वितरण किया जायेगा। 
  इस अभियान के जिला नोडल अधिकारी (मलेरिया) डॉ. महेन्द्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि सतना जिले के विकासखण्ड उचेहरा एवं मझगंवा के ग्रामों में द्वितीय चरण में 17 अगस्त, 24 अगस्त एवं 31 अगस्त 2018 को घर-घर जाकर परिवार के प्रत्येक सदस्य को मलेरिया आफ-200 दवा खिलाई जायेगी। कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिये जिले के नोडल अधिकारी एवं सहायक नोडल अधिकारी के मार्गदर्शन में सभी अधिकारियों-कर्मचारियो, आशा कार्यकर्ताओं एवं आंगनवाडी कार्यकर्त्ताओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।
कड़कनाथ ने बदल दी जीवन की धारा (सफलता की कहानी) 
सतना | 09-अगस्त-2018
1
 
कड़कनाथ से कमाई पन्द्रह आदिवासी परिवारों के लिए कमाऊ धंधा बन गई है और इसने उनकी दुनिया बदल दी है। 
   इन आदिवासी परिवारों की कहानी वाकई काफी उतार-चढ़ाव से भरी है। सतना जिले में जंगल की तराई में स्थित देवलहा ग्राम के आदिवासी परिवारों की यह तब की बात है, जब उनके दिन अच्छे हालात में नहीं गुजर रहे थे। उनकी आजीविका का एक मात्र साधन दूसरों के यहां मजदूरी करना था और मजदूरी में जो कुछ मिल जाता था, उसी से इन परिवारों को गुजारा करना पड़ता था। थोड़ी-बहुत जमीन उनके लिए कमाऊ नहीं थी। ये परिवार चिन्ता में डूबे रहते थे। उनके भविष्य के बारे में यही कल्पना की जा सकती थी कि वह मजदूरी करते सारा जीवन बिताएंगे और बुरे हालात से कभी पीछा नहीं छुड़ा पाएंगे। लेकिन इन आदिवासी परिवारों की राजनबाईमवासी उर्फ सेठाईन, राधा मवासी, ललिताबाई मवासी, सुधा मवासी जैसी पन्द्रह महिलाओं के इरादे कुछ और ही थे। वे कुछ अलग करना चाहती थीं और इस काम में उनका मददगार बना राज्य सरकार का पशुपालन विभाग।
    पशुपालन विभाग ने पन्द्रह आदिवासी महिलाओं को कड़कनाथ पालन व्यवसाय के लिए चालीस-चालीस चूजों की मदद दी। उन्हें कड़कनाथ पालन का प्रशिक्षण भी दिया गया। इस मदद से इन आदिवासी महिलाओं ने फार्म बनाया और उसमें कड़कनाथ मुर्गी के चूजे रख दिए। पन्द्रह दिन बाद ही उनका फार्म बड़े आकार वाले भूरे रंग के 600 पक्षियों से चहचहा रहा था। कड़कनाथ मुर्गा पालने में कोई विशेष जोखिम नहीं है और कमाई खूब है। शुरूआती दौर में ही प्रत्येक महिला ने पन्द्रह-पन्द्रह हजार रूपये की कमाई कर डाली। बीस प्रतिशत स्वयं की अंशदान राशि और अस्सी फीसद सरकार की अनुदान राशि से शुरू हुआ यह व्यवसाय फलते-फूलते कारोबार में तब्दील हो गया। उनका उपक्रम पारिवारिक कारोबार में तब्दील हो गया है और अब दो फार्म कार्यरत हैं। कड़कनाथ ने आदिवासी परिवारों की जिंदगी बदल दी।
 
 
 
 
 
 - 
 
 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 
 
  
 
 
 
 
 

 

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/