wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

स्वाइन फ्लू एवं अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव हेतु आवश्यक उपाय 
डिंडोरी | 15-फरवरी-2019
स्वाइन फ्लू से बचाव हेतु खाँसते व छींकते समय अपने कंधे की तरफ मुँह रखें, साबुन और पानी से बार-बार हाथ धोएं, यदि आप सर्दी जुकाम पीडित हैं तो अन्य व्यक्तियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बना कर रखें, हाथ मिलाने और गले मिलने से बचें, संक्रमित व्यक्तियों द्वारा इस्तेमाल किये गये टिश्यू पेपर, रुमाल, तौलिए व कपडे इस्तेमाल करने से बचें, यदि कोई व्यक्ति सर्दी जुकाम से पीडित हैं तो चिकित्सकीय सलाह लें व घर पर ही रहें। साथ ही भीड-भाड वाले इलाकों में जाने से से बचें, हाथ धोए बिना आँख, नाक और मुँह को न छुएं।
स्वाइन फ्लू एवं अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव हेतु आवश्यक उपाय 
डिंडोरी | 07-फरवरी-2019
0
 
 
 
 
   
       स्वाइन फ्लू से बचाव हेतु खाँसते व छींकते समय अपने कंधे की तरफ मुँह रखें, साबुन और पानी से बार-बार हाथ धोएं, यदि आप सर्दी जुकाम पीडित हैं तो अन्य व्यक्तियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बना कर रखें, हाथ मिलाने और गले मिलने से बचें, संक्रमित व्यक्तियों द्वारा इस्तेमाल किये गये टिश्यू पेपर, रुमाल, तौलिए व कपडे इस्तेमाल करने से बचें, यदि कोई व्यक्ति सर्दी जुकाम से पीडित हैं तो चिकित्सकीय सलाह लें व घर पर ही रहें। साथ ही भीड-भाड वाले इलाकों में जाने से से बचें, हाथ धोए बिना आँख, नाक और मुँह को न छुएं।
किसान और युवा कल्याण सरकार की प्राथमिकता : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ 
विकास के लिये कृषि क्षेत्र के प्रति नया नजरिया जरूरी, यादव महासभा में शामिल हुए मुख्यमंत्री 
डिंडोरी | 29-जनवरी-2019
 मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि राज्य सरकार का नजरिया एकदम साफ है। किसान और युवा कल्याण राज्य सरकार की प्राथमिकता है। श्री नाथ ने आज यहाँ समन्वय भवन में आयोजित यादव महासभा में ये विचार व्यक्त किये। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने पूर्व उप मुख्यमंत्री स्वर्गीय सुभाष यादव का स्मरण करते हुए समन्वय भवन का नामकरण स्व. यादव के नाम पर करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि यादव समाज का गौरवपूर्ण इतिहास है। उन्होंने यादव समाज को सांस्कृतिक क्रियाकलापों के लिये भूमि आवंटन का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिये नये दृष्टिकोण के साथ कृषि क्षेत्र पर ध्यान देना होगा। अर्थ-व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये किसान की क्रय शक्ति को बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा कि किसान कर्ज माफी की 55 हजार करोड़ रूपये की योजना पहले से ही तैयार थी, जिस पर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में 35 लाख किसानों की ऋण माफी की कार्रवाई पूरी हो जायेगी। उन्होंने कहा कि यदि आम आदमी की जिन्दगी में परिवर्तन नहीं हो रहा है, तो आर्थिक और व्यवसायिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिये निवेश को बढ़ाना जरूरी है। मूलभूत सुविधाओं में किये गये निवेश से भी रोजगार के अनेक नये अवसर बनते हैं। श्री कमल नाथ ने कहा कि देश-दुनिया में युवा वर्ग बदल गया है। आधुनिक संचार सुविधाओं से जुड़े इस वर्ग की नयी आशाएँ और आकांक्षाएँ हैं।

 

मंत्री श्री ओमकार मरकाम 22 जनवरी को डिण्डौरी आयेंगे
-
डिंडोरी | 21-जनवरी-2019

 

 

 प्रदेश शासन के मंत्री श्री ओमकार मरकाम जनजातीय कार्य विभाग, विमुक्त घुमक्कड़ एवं अर्ध घुमकक्ड जनजाति कल्याण विभाग 22 जनवरी को दोपहर 1:00 बजे बांधवगढ से डिण्डौरी के लिए प्रस्थान करेंगे। मंत्री श्री मरकाम दोपहर 3:30 बजे डिण्डौरी आगमन कर स्थानीय कार्यक्रमों में सम्मिलित होंगे तथा रात्रि विश्राम डिण्डौरी में करेंगे। 

 

विज्ञान के क्षेत्र में अध्ययन, अध्यापन और शोध की जरूरत: राज्यपाल श्रीमती पटेल 

माडर्न इंटरनेशनल स्कूल में राज्य-स्तरीय विद्यार्थी विज्ञान मंथन शिविर शुरू 
डिंडोरी | 07-जनवरी-2019
 
 राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि भारत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। प्राचीन भारत विज्ञान और प्रौद्योगिकी दुनिया में सबसे आगे था। मगर हमने पेटेंट नहीं कराया क्योंकि उस समय पेटेंट नहीं होता था। जीरो से लेकर नौ तक की गिनती की खोज भारत में हुई, जिसका कोई पेटेंट नहीं है। भारतीय उप महाद्वीप में प्राचीन काल में पुष्पक विमान हुआ करते थे, जिसका परिष्कृत रूप आधुनिक युग का हेलीकॉप्टर है। महाभारत के संजय की दिव्य-दृष्टि भी दुनिया में अद्वितीय थी। भारत का इतिहास पाँच हजार साल पुराना है। इसकी सभ्यता, संस्कृति और विज्ञान खोज भी पाँच हजार साल से चली आ रही है। श्रीमती पटेल ने यह बातें राज्य स्तरीय विद्यार्थी विज्ञान मंथन शिविर के शुभारंभ के अवसर पर इंदौर के मॉडर्न इंटरनेशनल स्कूल में कही।
बच्चों को गर्भ से ही अच्छे संस्कार जरूरी
   राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि महाभारत में अभिमन्यु की कथा यह बताती है कि बच्चा गर्भ से ही सीखाना शुरू कर देता है। आधुनिक युग में गर्भवती माताओं को ऐसे काम करना चाहिये, जिससे गर्भ में पल रहे बच्चे को अच्छे संस्कार मिले। गर्भ में पल रहे बच्चे को पौष्टिक आहार, योगा, ध्यान, गीत-संगीत और विज्ञान की शिक्षा परोक्ष रूप से मिलती रहे।  गर्भवती माता को अपने गर्भ में पल रहे बच्चे को अच्छा संस्कार देने के लिये स्वाध्याय करना जरूरी है। श्रीमती पटेल ने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों ने खोज की है कि पेड़-पौधों में भी जीव होते हैं। मनुष्य के शरीर के रक्त-संचार की भाँति पौधों में भी नियमित रस-संचार होता रहता है। शांति, सुकून और गीत- संगीत का उन पर भी सकारात्मक असर होता है।
ग्राम पंचायत रूसा में मंत्री श्री ओमकार मरकाम का फूल-मालाओं से हुआ भव्य स्वागत 
डिंडोरी | 30-दिसम्बर-2018
 प्रदेश शासन के मंत्री श्री ओमकार मरकाम जनजातीय कार्य विभाग, विमुक्त घुमक्कड एवं अर्द्वघुमक्कड जनजाति कल्याण का ग्राम पंचायत रूसा जनपद पंचायत करंजिया आगमन पर ग्रामीणों ने फूल मालाओं, लोकगीत और लोकनृत्य के माध्यम से भव्य स्वागत किया। मंत्री श्री मरकाम के आगमन पर जय-जयकार के नारे लगाए गए और लोकगीत गाए गए, फूल-मालाओं की जमकर वर्षा हुई और आतिशबाजी की गई। मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में प्रदेश के विकास कार्यो को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई। मुख्यमंत्री ने किसानों के दुःख दर्द को अपना दुःख दर्द समझते हुए किसानों का कर्ज माफ किया है। उन्होने कहा कि शासन की योजनाओं से हर वर्ग के नागरिको को लाभ पहुचाया जायेगा। इससे हमारा प्रदेश खुशहाल और समृद्व बनेगा। इस अवसर पर तहसीलदार श्री देशभ्रान्कर, श्री अयोध्या प्रसाद बिसेन, श्री रमाकात साहू, लोकेश पटेरिया, संतोष मरकाम, श्री रिंकू साहू, श्री शनि साहू , उमाशंकर सिंग्राम, श्री श्यामलाल दाहिया, श्री सुनाउ सिंह तेकाम, श्री संतोष धुर्वे सहित विभागीय अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।
प्रदेश में यूरिया की 7 रेक्स पहुँचीं, दो दिनों में आपूर्ति में आयेगी और तेजी 
कृषि और सहकारिता विभाग के मैदानी अमले को आपूर्ति पर लगातार नजर रखने के निर्देश 
डिंडोरी | 24-दिसम्बर-2018
 प्रदेश में रबी सीजन में बोनी के दौरान किसानों को यूरिया की आपूर्ति सतत रूप से सुनिश्चित की जा रही है। यूरिया के रेक्स निर्धारित पाइंटों पर निरंतर पहुँच रहे हैं। किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के मैदानी अमले और सहकारी संस्थाओं को यूरिया का वितरण किसानों को सुगमता से किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। यूरिया की 7 रेक्स पहुँच चुकी हैं और संबंधित जिलों में इनका वितरण किया जा रहा है। यूरिया की निरंतर आपूर्ति के संबंध में पिछले दिनों मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने केन्द्रीय रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल और उर्वरक एवं रसायन मंत्री श्री सदानंद गौड़ा से फोन पर बात की थी। इसके बाद से प्रदेश में यूरिया की आपूर्ति में तेजी आ गई है। प्रदेश में अब तक एक लाख 82 हजार मीट्रिक टन यूरिया पहुँच चुका है। राज्य में करीब 37 हजार मीट्रिक टन यूरिया जल्द ही पहुँच रहा है। कोटा के चम्बल फर्टिलाइजर प्लांट और गुना के नेशनल फर्टिलाइजर प्लांट से मध्यप्रदेश को प्राथमिकता के साथ यूरिया की सप्लाई किये जाने के लिये कहा गया है। देश के ईस्ट और वेस्ट पोर्ट से भी डीएपी के स्थान पर यूरिया की सप्लाई को प्राथमिकता दिये जाने के लिये कहा गया है। ऐसा होने से मध्यप्रदेश में यूरिया की आपूर्ति में और तेजी आयेगी। प्रदेश के रेक पाइंट मण्डीदीप में 2700 मीट्रिक टन यूरिया पहुँचा है। इसका वितरण रायसेन, भोपाल और सीहोर जिले में किया जा रहा है। गुना रेक पाइंट में 3017 मीट्रिक टन यूरिया पहुँचा है। इसका वितरण गुना और अशोकनगर जिले में किया जा रहा है। खण्डवा रेक पर पहुँचे 1951 मीट्रिक टन यूरिया का वितरण खण्डवा, बुरहानपुर और बड़वानी जिले के किसानों को किया जा रहा है। इसके अलावा ग्वालियर में 2600 मीट्रिक टन, हरपालपुर में 3139 मीट्रिक टन, खण्डवा में 3194 मीट्रिक टन, सतना में 2600 मीट्रिक टन, मण्डीदीप में 8744 मीट्रिक टन, छिन्दवाड़ा में 5550 मीट्रिक टन, इटारसी में 2730 मीट्रिक टन, हरदा 3001 मीट्रिक टन, शाजापुर में 3001 मीट्रिक टन और झुकेही रेक पाइंट में 2750 मीट्रिक टन यूरिया जल्द पहुँच रहा है। पहुँचने वाले यूरिया का वितरण ग्वालियर, दतिया, मुरैना, छतरपुर, रायसेन, भोपाल, सीहोर, खण्डवा, बुरहानपुर, बड़वानी, सतना, रीवा, सीधी, सिंगरौली, छिन्दवाड़ा, सिवनी, होशंगाबाद, हरदा, देवास, शाजापुर, आगर, राजगढ़, कटनी, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर जिलों के किसानों के बीच किया जायेगा।
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री मोहित बुंदस ने किया स्ट्रॉग रूम का निरीक्षण 
डिंडोरी | 11-दिसम्बर-2018
0
 
 कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री मोहित बुंदस ने सोमवार को विधानसभा क्षेत्र शहपुरा एवं डिण्डौरी के स्ट्रॉग रूम का निरीक्षण किया। इस अवसर पर प्रेक्षक श्री के. श्रीनिवास, अपर कलेक्टर श्री बी.डी. सिंह, रिटर्निंग आफिसर डिण्डौरी श्रीमति प्रीति यादव, रिटर्निंग ऑफिसर शहपुरा श्री अमित बम्होरिया, सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।
विधानसभा निर्वाचन की मतगणना 11 दिसंबर को होगी 
डिंडोरी | 30-नवम्बर-2018
 भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार डिण्डौरी जिले की दोनो विधानसभा क्षेत्र शहपुरा और डिण्डौरी की मतगणना 11 दिसंबर 18 को निर्धारित समय-सीमा में प्रारम्भ होगी।  
सारंगगढ़ में मतदाता जागरूकता का हस्ताक्षर अभियान 
डिंडोरी | 23-नवम्बर-2018
 
ग्राम सारंगगढ़ जिला डिण्डौरी में मतदाता जागरूकता अभियान के अंतर्गत हस्ताक्षर अभियान चलाकर मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जिससे डिण्डौरी जिले में अधिक से अधिक मतदाता अपने-अपने मतों का प्रयोग करें। इससे विधानसभा निर्वाचन 2018 में मतदान का प्रतिशत बढेगा। ग्राम सारंगगढ़ मे हस्ताक्षर अभियान के माध्यम से मतदाताओं को 28 नवम्बर 18 के दिन अनिवार्य रूप से मतदान करने को कहा जा रहा है।
सेक्टर मजिस्ट्रेट मतदान प्रक्रिया को विधिवत रूप से सम्पन्न कराए-सीईओ श्री यादव 
विधानसभा निर्वाचन के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेटों को दिया गया प्रशिक्षण 
डिंडोरी | 17-नवम्बर-201
जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री दिलीप कुमार यादव ने कहा कि विधानसभा निर्वाचन में सेक्टर मजिस्ट्रेट मतदान प्रक्रिया को स्वतंत्र और निष्पक्ष, तरीके से संपन्न करायेगें। सेक्टर मजिस्ट्रेट का दायित्व है कि वह मतदान केन्द्रों पर निर्वाचन संबंधी समस्त गतिविधियों और प्रक्रियाओ की लगातार मानीटरिंग करे। मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री यादव शनिवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में सेक्टर मजिस्ट्रेटों के प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर सामान्य प्रेक्षक श्री ए,ए, विश्वास, जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री दिलीप कुमार यादव, रिटर्निग आफिसर डिण्डौरी श्रीमति प्रीति यादव, सहित सभी अधिकारी उपस्थित थे। प्रशिक्षण मे प्रशिक्षको के द्वारा बताया गया कि विधानसभा निर्वाचन में माकपोल मतदान के निर्धारित समय से एक घंटा पूर्व प्रारम्भ किया जायेगा। मतदान अभिकर्ताओं को पूर्व मे इसकी सूचना दिया जाना अनिवार्य है। प्रशिक्षण में बताया गया कि माकपोल के समय कम से कम दो अभ्यर्थियो के मतदान अभिकर्ता का होना जरूरी है। माकपोल निर्धारित समय मे अभिकर्ताओं की उपस्थिति में सम्पन्न होगा। निर्धारित समय में अभिकर्ता उपस्थित नही होने पर 15 मिनट तक अभिकर्ताओं का इंतजार करना होगा। इसके बावजूद भी मतदान अभिकर्ताओ की उपस्थित नही होने पर पीठासीन अधिकारी की जिम्मेंदारी होगी कि वह माकपोल कराए और प्रातः 8 बजे से मतदान की प्रक्रिया प्रारंभ करे। 
      प्रशिक्षण कार्यक्रम मे बताया गया कि सेक्टर मजिस्ट्रेटो को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार निर्वाचन कार्य संपन्न कराना होगा। सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी सतर्कता एवं निष्ठा के साथ पूरा करेगे। प्रशिक्षण के दौरान निर्वाचन आयोग के निर्देशों को पूरी गंभीरता से पालन करने को कहा गया। प्रशिक्षण मे बताया गया कि सेक्टर मजिस्ट्रेट को मतदान दिवस के एक दिन पूर्व मतदान केन्द्रों में पहुचना होगा। वह मतदान केंद्रों में मतदान शुरू होने के पूर्व माकपोल, ईव्हीएम, व्हीव्हीपैट, सीयू तथा बीयू की वर्किग सहित समस्त मतदान प्रक्रिया पर नजर रखेंगे और नियमित रूप से प्रतिवेदन देगें। जिसमें विधानसभा निर्वाचन संबंधी समस्त गतिविधियों को स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्वक सम्पन्न कराया जा सके। प्रषिक्षण कार्यक्रम में पीठासीन अधिकारी द्वारा बीयू, सीयू, एवं व्हीव्हीपीएटी, प्राप्त करने के पश्चात की जाने वाली कार्यवाही, पोलिंग बूथ पर माकपोल की कार्यवाही, मतदान की कार्यवाही, मतदान अधिकारियों के द्वारा मतदान की तैयारी के दौरान सीयू बीयू व्हीव्हीपीएटी के अवरोध/कठिनाईयों से निपटने हेतु संचालन-सुझाव के संबंध में जानकारी दी गई। 

 
 
 
 
 


 

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/