wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

मतगणना के दौरान राउण्डवार परिणाम दिया जायेगा 
खण्डवा | 11-दिसम्बर-2018
 भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधानसभा निर्वाचन 2018 की मतगणना में प्रदेश के सभी 51 मतगणना केन्द्रों पर प्रातः 8 बजे से मतगणना प्रारंभ होगी। मतगणना के दौरान प्रत्येक राउण्ड की समाप्ति पर ईवीएम मशीनों से की गई मतगणना के परिणामों की प्रेक्षक और संबंधित रिटर्निग अधिकारियों द्वारा हस्ताक्षर कर घोषणा की जायेगी। इसके साथ ही घोषणा को मतगणना कक्ष में स्थापित डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदर्शित किया जायेगा। राउण्डवार मतगणना परिणाम की पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से उद्घोषणा की जायेगी। राउण्डवार रिजल्ट शीट भी अभ्यर्थी और उसके अभिकर्ता को दी जायेगी और मीडिया को अवगत कराने के लिये प्रत्येक राउंड के परिणाम की प्रति मतगणना परिसर में बनाये गये मीडिया कक्ष को दी जायेगी। राउण्डवार मतगणना परिणाम की जानकारी  रिटर्निंग अधिकारी द्वारा आयोग के काउंटिंग साफ्टवेयर पर भी अपलोड की जायेगी। आयोग द्वारा निर्देशित किया गया है कि अगले राउण्ड की गिनती तब-तक प्रारंभ नहीं होगी, जब तक पहले राउण्ड की मतगणना की गिनती समाप्त होकर उसके परिणाम डिस्प्ले पर प्रदर्शित न हो जायें। उपरोक्त सभी कार्यवाही रिटर्निंग अधिकारी द्वारा सम्पन्न की जाएगी।
कलेक्ट्रेट व जिला पंचायत परिसर में आंदोलन व ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध 
धारा 144 के तहत की गई प्रतिबंधात्मक कार्यवाही 
खण्डवा | 30-नवम्बर-2018
0
 
 कलेक्टर कार्यालय परिसर खण्डवा तथा जिला पंचायत खण्डवा में जुलूस, आमसभा, नारेबाजी एवं ध्वनि विस्तारक यंत्र के उपयोग से कार्यालयीन एवं न्यायालयीन कार्य प्रभावित होते है, तथा शांति भंग होती है। इस कारण से कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री विशेष गढ़पाले ने दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत कलेक्ट्रेट व जिला पंचायत कार्यालय परिसर में धरना, प्रदर्शन, आन्दोलन तथा ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जारी आदेश अनुसार बिना अनुमति के इस तरह की कोई कार्यवाही इन परिसरों में करने पर संबंधित के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।
    जारी आदेश अनुसार कोई भी राजनैतिक दल, छात्र संगठन अथवा कोई आन्दोलनकारी व्यक्ति इस परिसर में प्रतिबंधित किया गया है। ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग भी इन दोनों कार्यालयों के परिसर एवं उससे लगे हुए 100 मीटर की परिधि में प्रतिबंधित रहेगा। कोई भी राजनैतिक दल, यूनियन छात्र संगठन अथवा कोई आन्दोलनकारी व्यक्ति इस परिसर में जुलूस, आमसभा या नारेबाजी, ज्ञापन आदि सौंपे जाने के 3 दिवस पूर्व उपखण्ड मजिस्ट्रेट खण्डवा से विधिवत लिखित में अनुमति लेना होगी। ज्ञापन सौंपे जाने हेतु कलेक्टर के मुख्य द्वार पर 5 व्यक्ति, संगठन कार्यकर्ता होने पर मुख्य द्वार पर से ही अधिकृत अधिकारी को ज्ञापन सौंपा जायेगा। अधिकारी विशेष को ही ज्ञापन दिये जाने की मांग नहीं की जा सकेगी। इस आदेश का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध दण्डनीय कार्यवाही की जायेगी।
स्वीप कार्यक्रम के तहत स्कूलों में रंगोली, मेहंदी व निबंध प्रतियोगिता सम्पन्न 
खण्डवा | 03-नवम्बर-2018
0
 
  विधानसभा निर्वाचन में अधिकाधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सके इसके लिए जिले में विभिन्न मतदाता जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जा रही है। इसी क्रम शनिवार को शासकीय उ.मा.वि. कोठा में रंगोली प्रतियोगिता सम्पन्न हुई। स्वीप के नोडल अधिकारी श्री आर.के. सेन ने बताया कि नगर निगम चौराहे पर सेंट जोंस हायर सेकेण्डरी के विद्यार्थियों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से मतदान की अपील की। इसके अलावा प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय केहलारी की छात्राओं के बीच मेहंदी प्रतियोगिता भी शनिवार को आयोजित की गई। भण्डारी पब्लिक स्कूल में रंगोली प्रतियोगिता तथा हॉली स्प्रिट स्कूल में मतदान के महत्व विषय पर भाषण प्रतियोगिता, चित्रकला प्रतियोगिता, वोटिंग क्विज, वाद-विवाद प्रतियोगिता तथा निबंध प्रतियोगिता सम्पन्न हुई।                    
उम्मीदवारों को प्रचार प्रसार हेतु वाहन की अनुमति देंगे अपर कलेक्टर श्री इवने 
खण्डवा | 27-अक्तूबर-2018
0
 
   विधानसभा निर्वाचन के दौरान विभिन्न प्रत्याशियों को प्रचार प्रसार के लिए वाहन के उपयोग की अनुमति देने के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विशेष गढ़पाले ने अपर कलेक्टर श्री बी.एस. इवने को जिला स्तरीय नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।
खण्डवा में नागरिकों को वीवीपैट मशीन संचालन की दी जानकारी 
खण्डवा | 21-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
 
 
      आगामी विधानसभा निर्वाचन 2018 को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक मतदान करने के लिये जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विशेष गढ़पाले के मार्गदर्शन में विभिन्न मतदाता जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जा रही है। इसी क्रम में रविवार को खण्डवा हाट बाजार में ग्रामिणों और शहरी मतदाताओं को वीवीपैट व ईवीएम मशीन संचालन की जानकारी देकर आगामी विधानसभा निर्वाचन में मतदान करने की अपील की। 
कलेक्ट्रेट के कर्मचारियों को दिया गया आदर्श आचरण संहिता के संबंध में प्रशिक्षण 
खण्डवा | 13-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
 
 
    विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिये निर्वाचन आयोग द्वारा सम्बन्धित विधानसभा क्षेत्रों में आदर्श आचरण संहिता लागू कर दी गई है। आदर्श आचरण संहिता का पालन शासन के अधिकारी कर्मचारियों को भी करना होता है। इसलिए शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सभी कर्मचारियों को आदर्श आचरण संहिता के संबंध में एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के दौरान कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विशेष गढ़पाले ने बताया कि सभी अधिकारी कर्मचारियों को निर्वाचन के दौरान पूर्णतः निष्पक्ष रहकर कार्य करना है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान सभी अधिकारी कर्मचारी राजनीतिक गतिविधियों से दूर रहे तथा अपना निर्वाचन संबंधी कार्य समय सीमा में पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी कर्मचारी सोशल मीडिया पर किसी भी राजनीतिक पोस्ट पर कमेंट न करें और न ही लाइक करें। उन्होंने कहा कि आदर्श आचरण संहिता के दौरान अधिकारी कर्मचारियों की एक छोटी से गलती उनके लिए बड़ी परेशानी का कारण बन सकती है, अतः पूरी सजगता से कार्य करें। 
     कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री गढ़पाले ने बताया कि निर्वाचन आयोग के सी विजिल एप में कोई भी व्यक्ति शिकायत तथा उसका फोटो व वीडियों पोस्ट कर सकता है जिस पर त्वरित कार्यवाही होगी। यदि कोई अधिकारी कर्मचारी आदर्श आचरण संहिता का उल्लंघन करता है तो उसकी शिकायत होने पर संबंधित के विरूद्ध तुरंत कार्यवाही की जायेगी। अतः राजनीतिक गतिविधियों से दूर रहे, ताकि शिकायत की संभावना न रहें। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान सभी कर्मचारी न केवल निष्पक्ष रहे, बल्कि उनके व्यवहार में भी यह निष्पक्षता दिखना भी चाहिए। प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर श्री अविनाश दुबे व श्री सुलजा ने आदर्श आचरण संहिता के संबंध में पावर पाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से विस्तार से कर्मचारियों को जानकारी दी। इस दौरान अपर कलेक्टर श्री बी.एस. इवने भी मौजूद थे।
 
आचार संहिता लागू रहने तक नहीं होंगी जनसुनवाई 
समाधान ऑनलाइन कार्यक्रम भी नहीं होगा 
खण्डवा | 09-अक्तूबर-2018
0
 
 
 
 
 
    विधानसभा निर्वाचन कार्यक्रम जारी होने के कारण आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो गई है, इस कारण से अब प्रत्येक मंगलवार प्रातः 11 से 1 बजे के बीच होने वाली जनसुनवाई का कार्यक्रम आगामी आदेश तक स्थगित रहेगा। इसी तरह समाधान ऑनलाइन कार्यक्रम के तहत हर माह पहले मंगलवार को  नागरिकों की समस्याओं का वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समाधान कराया जाता था। आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील होने के कारण यह कार्यक्रम भी स्थगित रहेगा।
पंधाना में मतदाता जागरूकता रैली सम्पन्न 
खण्डवा | 28-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    आगामी विधानसभा निर्वाचन को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विशेष गढ़पाले के मार्गदर्शन में जिले में विभिन्न मतदाता जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जा रही है। एसडीएम पंधाना श्री आर.एस. बालोदिया के मार्गदर्शन में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के तहत हायर सेकेण्डरी स्कूल पंधाना के विद्यार्थियों द्वारा मतदाता जागरूकता रैली आयोजित की गई। इस दौरान विद्यार्थियों को मतदाता जागरूकता संबंधी शपथ दिलाई गई।
पारदर्शी मार्केट प्लेस ‘‘जेम‘‘ की कार्यशाला सम्पन्न 
खण्डवा | 20-सितम्बर-2018
0
 
  
 
     गवर्नमेंट ई मार्केट प्लेस ‘‘जेम‘‘ की कार्यशाला का आयोजन बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में किया गया। कार्यशाला में भोपाल से आये जेम रीजनल मैनेजर श्री संजय डेहरिया द्वारा जेम के माध्यम से शासकीय क्रय करने की जानकारी संबंधी प्रजेन्टेशन दिया गया। श्री डेहरिया ने बताया कि ये एक ऑनलाइन गवर्नमेंट मार्केट प्लेस है जहां शासकीय विभागीय खरीदी की जाती है। डायरेक्ट परचेस, तुलनात्मक खरीदी के साथ बिड और रिवर्स ऑक्शन के टूल की भी जानकरी विभागीय अधिकारियों को दी गई। साथ ही जेम में यूजर रजिस्ट्रेशन की प्रकिया समझाई गई और अधिकारियों द्वारा पूछे गए जेम से संबंधित प्रश्नों का जवाब भी श्री डेहरिया द्वारा दिया गया। कार्यशाला में विभिन्न विभागों के जिले के अधिकारी मौजूद थे।
पत्रकार स्वास्थ्य समूह बीमा योजना में फार्म भरने की अंतिम तारीख 10 अक्टूबर 
खण्डवा | 18-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
    पत्रकार स्वास्थ्य एवं दुर्घटना समूह बीमा योजना में शामिल होने के लिये फार्म भरने की अंतिम तारीख 10 अक्टूबर, 2018 निर्धारित की गई है। पूर्व से बीमित पत्रकार 25 सितम्बर, 2018 तक आवेदन जमा करेंगे, तब उनकी नई पॉलिसी 1 अक्टूबर, 2018 से प्रभावी हो सकेगी। अन्यथा आवेदन की अंतिम तिथि 10 अक्टूबर, 2018 के बाद पॉलिसी प्रभावी होगी। व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा 2 लाख अथवा 4 लाख रुपये का करवाया जा सकता है। दो लाख के स्वास्थ्य बीमा में दुर्घटना बीमा 5 लाख और 4 लाख के स्वास्थ्य बीमा में दुर्घटना बीमा 10 लाख है। बीमा योजना में 21 से 70 वर्ष उम्र तक के संचार प्रतिनिधि शामिल हो सकते हैं। पूर्व से बीमित पत्रकार 80 वर्ष तक की उम्र तक शामिल हो सकेंगे। नई दिल्ली में कार्यरत मध्यप्रदेश के मूल निवासी पत्रकारों को भी योजना में पात्रता होगी।
   पत्रकारों का यह बीमा एक साल के लिये किया जायेगा। साठ वर्ष तक के पत्रकार की बीमा किस्त का 75 प्रतिशत और 61 से 70 वर्ष के पत्रकारों के बीमा किस्त का 85 प्रतिशत जनसम्पर्क संचालनालय द्वारा दिया जायेगा। पति, पत्नी, बच्चों एवं माता-पिता को भी योजना में शामिल किया जा सकेगा। बीमा पालिसी में पहले से विद्यमान सभी बीमारी शामिल होंगी।
गैर-अधिमान्य पत्रकार भी होंगे शामिल
   शासन द्वारा गैर-अधिमान्य पत्रकारों को भी योजना में शामिल करने का निर्णय लिया गया है। इन पत्रकारों का 50 प्रतिशत प्रीमियम पत्रकार द्वारा और 50 प्रतिशत जनसम्पर्क विभाग द्वारा दिया जायेगा। इस श्रेणी में दैनिक समाचार-पत्र के 4, साप्ताहिक अथवा पाक्षिक या मासिक पत्र-पत्रिका अथवा इलेक्ट्रॉनिक एवं वेब मीडिया के दो-दो प्रतिनिधियों को पात्रता होगी। आरएनआई में रजिस्टर्ड नियमित पत्र-पत्रिकाओं के प्रतिनिधि योजना में पात्र होंगे। पॉलिसी में बीमा कम्पनी के चिन्हित अस्पतालों में इलाज की केशलेस व्यवस्था होगी। पुरानी बीमा पॉलिसी 30 सितम्बर को समाप्त हो जायेगी। बीमा पॉलिसी के फार्म, प्रीमियम तालिका तथा अन्य जानकारी जनसम्पर्क विभाग की वेबसाइट www.mpinfo.org  से डाउनलोड कर सकते हैं। श्रेणीवार निर्धारित प्रीमियम की राशि यूनाइटेड इण्डिया इंश्योरेंस कम्पनी के खाते में एनईएफटी कर उसका यूटीआर नम्बर आवेदन में जरूर लिखें। फार्म सिर्फ जनसम्पर्क संचालनालय की अधिमान्यता शाखा में भेजना है। अधिमान्य और गैर-अधिमान्य पत्रकारों के लिये अलग-अलग फार्म हैं।
नेशनल लोक अदालत में अधिकाधिक प्रकरणों के निराकरण हेतु 15 खंडपीठ गठित 
खण्डवा | 16-सितम्बर-2018
0
 
 
 
 
   
    राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के निर्देशानुसार जिला एवं सत्र न्यायाधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्री संजय शुक्ला के मार्गदर्शन में 8 सितम्बर को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में अधिक से अधिक राजीनामा योग्य प्रकरणों का निराकरण किये जाने हेतु जिला एवं तहसील स्तर पर न्यायिक अधिकारियों की कुल 15 खंडपीठों का गठन किया गया है। जारी आदेश के अनुसार नेशनल लोक अदालत में आपसी राजीनामा के आधार पर न्यायालयों में लंबित एवं प्रीलिटिगेशन के राजीनामा योग्य प्रकरणों के निराकरण हेतु निम्नानुसार प्रकरणों को रखा गया है। सभी नागरिको एवं पक्षकारों से अपील की गई है कि वे इस नेशनल लोक अदालत में बढ़-चढ़कर सहभागिता कर नेशनल लोक अदालत को सफल बनाये में सहयोग प्रदान करें, जिससे पक्षकारों के समय, श्रम एवं धन की बचत हो सकें।
मध्यप्रदेश में खाद्यान्न उत्पादन में हुई 207 प्रतिशत वृद्धि 
किसानों के लिये ग्राम स्तर पर भी बन रहे हैं रोडमैप 
खण्डवा | 01/09/2018
0
 
 
 
 
 
    मध्यप्रदेश में किसानों की आय 5 वर्ष में दोगुनी करने के मकसद से रोडमैप बनाया गया है। कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मछली-पालन, वानिकी, सिंचाई विस्तार, रेशम, कुटीर और ग्रामोद्योग आदि विभाग द्वारा रोडमैप पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। जिला-स्तर का रोडमैप भी तैयार कर लिया गया है और ग्राम-स्तर का रोडमैप भी तैयार किया जा रहा है।
    प्रदेश में कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता दिये जाने से वर्ष 2016-17 में कृषि उत्पादन 5.44 करोड़ मीट्रिक टन हो गया। खाद्यान्न उत्पादन में 207 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। वर्ष 2004-05 में कुल खाद्यान्न उत्पादन मात्र 1.43 करोड़ मीट्रिक टन हुआ करता था, जो वर्ष 2016-17 में बढ़कर 4.39 करोड़ मीट्रिक टन हो गया।
    प्रदेश में दलहन और तिलहन फसलों के उत्पादन को बढ़ाने के लिये किसानों को विशेष सुविधाएँ उपलब्ध करवाई गईं हैं, जिसके फलस्वरूप पिछले एक दशक में दलहन उत्पादन में 136 प्रतिशत तक की उपलब्धि हासिल हुई है। प्रदेश में वर्ष 2004-05 में दलहन फसलों का उत्पादन मात्र 33.51 लाख मीट्रिक टन हुआ करता था, जो वर्ष 2016-17 में बढ़कर 79.23 लाख मीट्रिक टन हो गया। मध्यप्रदेश में तिलहन फसलों के उत्पादन में भी रिकार्ड वृद्धि हुई है। प्रदेश में वर्ष 2004-05 में तिलहन फसलों का उत्पादन मात्र 49.08 लाख मीट्रिक टन हुआ करता था, जो वर्ष 2016-17 में बढ़कर 87.35 लाख मीट्रिक टन हो गया। यह वृद्धि 78 प्रतिशत है।
    प्रदेश में पिछले 12 वर्षों में कृषि क्षेत्र के रकबे में 57 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। वर्ष 2016-17 में मध्यप्रदेश में कृषि का रकबा 2.49 लाख हेक्टेयर हो गया है। मध्यप्रदेश की पिछले 4 वर्षों की औसत कृषि विकास दर 18 प्रतिशत से अधिक रही है। यह उपलब्धि प्राप्त करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। इन सभी वजहों से मध्यप्रदेश को कृषि उत्पादन के क्षेत्र में पिछले 5 वर्षों से लगातार कृषि कर्मण पुरस्कार भी मिल रहा है।
आगामी 1 अक्टूबर से मनाया जाएगा वन्य-प्राणी संरक्षण सप्ताह 
खण्डवा | 30-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
     प्रदेश में इस वर्ष भी 1 से 7 अक्टूबर, 2018 तक वन्य-प्राणी संरक्षण सप्ताह मनाया जायेगा। लोगों में वन और वन्य-प्राणियों के प्रति लगाव और जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से सप्ताह के दौरान विभिन्न आयोजन के लिये अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री आलोक कुमार ने प्रदेश के सभी टाइगर रिजर्व क्षेत्र संचालक, क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक, राष्ट्रीय उद्यान के संचालक, समस्त वन मण्डलाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिये हैं। उल्लेखनीय है कि विगत वर्षों में बच्चों ने वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताओं में बहुत रुचि और उमंग से भाग लिया। इससे बच्चों में वन और वन्य-प्राणियों के प्रति संवेदनशीलता बढ़ी है।
    वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह के दौरान प्रदेश में स्कूली छात्र-छात्राओं के लिये वन्य-प्राणी संरक्षण पर व्याख्यान, निबंध, पेंटिंग आदि विभिन्न प्रतियोगिताएँ होंगी। प्रत्येक परिक्षेत्र में 2 से अधिक संयुक्त वन प्रबंध समितियाँ कार्यक्रम आयोजित करेंगी। कार्यक्रम में स्थानीय समुदाय और सांस्कृतिक धरोहर का भी समावेश होगा। स्थानीय भजन मण्डलियों द्वारा संरक्षण संबंधी गीतों का गायन, स्थानीय कलाकारों द्वारा गाँव के भवनों की दीवारों पर वन्य-प्राणियों का चित्रण और वन्य-प्राणी पर केन्द्रित नाटिका का मंचन आदि कार्यक्रम भी होंगे।
    वन अधिकारी और सेवानिवृत्त अधिकारी अपने क्षेत्र के विद्यालयों में वन्य-प्राणी संरक्षण पर व्याख्यान देंगे। अखिल भारतीय बाघ गणना में मास्टर-ट्रेनर रहे कर्मचारी भी स्कूलों में व्याख्यान के दौरान बाघ गणना के दौरान अपने अनुभव साझा करेंगे। जिला-स्तर पर वन्य-प्राणी केन्द्रित पोस्टर, फोटो, पेंटिंग आदि की प्रदर्शनी लगाई जायेगी। स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों के लिये भाषण, पेंटिंग, रांगोली, प्रश्न-मंच, निबंध आदि प्रतियोगिताएँ होंगी और विद्यार्थियों को वन भ्रमण भी करवाया जायेगा।
एस.एन. कॉलेज के विद्यार्थियों को आपदा से निपटने के उपाय बताये गए 
खण्डवा | 29-अगस्त-2018
0
 
 
 
 
   
 
    मुख्यालय राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल म.प्र. के आदेशानुसार खण्डवा में मंगलवार को एस.एन. कॉलेज खण्डवा में एस.डी.ई.आर.एफ. टीम इंदौर, प्रभारी पी.सी. श्री राजकुमार कटारे एवं अन्य 8 जवानो द्वारा फेमीलाइजेशन एक्सरसाइज कर डेमो व मॉंकड्रिल के माध्यम से आपदा से निपटने में व अनुपयोगी घरेलू सामग्री से उपयोगी साम्रगी राफ्ट बनाकर आपदा के समय उनका उपयोग किया जाना व सी.पी.आर. की विधी तथा विक्टिम को बचाने की विभिन्न विधियों की जानकारी दी तथा एस.डी.ई.आर.एफ एवं डी.आर.एफ, होमगार्ड विभाग तथा सिविल डिफेंस संगठन की जानकारी दी गई तथा छात्र-छात्राओं व अन्य नागरिकों को सिविल डिफेंस सदस्य बनने हेतु प्रेरित किया गया । मानूसन सत्र के दौरान विभिन्न पिकनिक स्पाट, विभिन्न दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रो डेम, खाई, तालाबो नदी आदि में सांवधानी बरतें व मोबाइल से सेल्फी न लेने की बात बताई गई तथा प्रशासन व एस.डी.ई.आर.एफ. की टीम, होमगार्ड, पुलिस बल के द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करे। बाद में विभिन्न नम्बरों जैसे 1079, 108, 100 की महत्ता बताई। यह कार्यक्रम जिला सैनानी श्री एम.के. हनोतिया के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में एस.एन. कॉलेज खण्डवा के प्राचार्य डॉ. मुकेश जैन व एन.एस.एस. प्रभारी श्री रावत एवं होमगार्ड की टीम, पी.सी. श्री रविन्द्र महिवाल, पी.सी. श्री मुकेश साहू तथा सिविल डिफेंस के सदस्य, होमगार्ड खण्डवा के जवान एवं कॉलेज के विद्यार्थी तथा कॉलेज का स्टाफ मौजूद था।
 
 

 
 
 
 
 

   

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/