wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

हम तन-मन-धन से शहीदों के साथ हैं, पुलवामा आतंकवादी हमले की की गई कड़ी भर्त्सना 
शहीदों की याद में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई, प्रयागराज प्रेसटूर निरस्त कर राशि सैनिक कल्याण कोष में देने का निर्णय लिया 
उज्जैन | 15-फरवरी-2019
 पुलवामा में हमारी सेना के ऊपर आतंकवादी हमला अत्यन्त कायराना है, हम इसकी कड़ी भर्त्सना करते हैं। हम तन-मन-धन से शहीदों और उनके परिवारों के साथ हैं तथा देश के लिये हम जो कुछ भी कर सकेंगे, करेंगे। आतंकवादियों के विरूद्ध कार्रवाई में हम हर तरह से सरकार के साथ हैं।
    पुलवामा की घटना से व्यथित एवं आन्दोलित उज्जैन के पत्रकार साथियों ने आज शुक्रवार को उज्जैन प्रेस क्लब में श्रद्धांजली सभा आयोजित कर घटना में शहीद हुए सेना के जवानों को हार्दिक श्रद्धांजली देते हुए यह शपथ ली। सभी ने अमर शहीदों की याद में दो मिनिट का मौन भी रखा। साथ ही जिला प्रशासन को 11 हजार रुपये का चैक प्रेस क्लब उज्जैन की ओर से तथा 5100 रुपये की नगद राशि (श्री भगवानसिंह आंजना की ओर से) प्रदान की गई। प्रशासन की ओर से सैनिक कल्याण की राशि अपर कलेक्टर श्रीमती वर्षा भूरिया द्वारा प्राप्त की गई।
    इस अवसर पर प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री विशालसिंह हाड़ा ने कहा कि उज्जैन का समूचा प्रेस जगत इस घटना से अत्यन्त दु:खी है तथा शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करता है। उन्होंने बताया कि उज्जैन प्रेस की मांग पर मध्य प्रदेश शासन द्वारा इलाहाबाद कुंभ प्रेसटूर स्वीकृत किया गया था तथा इसके लिए आज शुक्रवार को सायं बस इलाहाबाद रवाना होने वाली थी। जब पुलवामा की घटना संज्ञान में आई तो सभी पत्रकारों ने मिलकर प्रेसटूर निरस्त कर दिया तथा निर्णय लिया कि वे शासन से अनुरोध करेंगे कि यह राशि सैनिक कल्याण कोष में भिजवा दी जाए। साथ ही प्रेस जगत की ओर से भी यथासंभव राशि सैनिक कल्याण के लिए दी जाएगी।
    इस अवसर पर पत्रकार श्री अर्जुनसिंह चन्देल ने कहा कि आतंकवादी हमले की जितनी निन्दा की जाये, उतनी कम है। हम सैनिकों के परिवारों के दु:ख को कम तो नहीं कर सकते, परन्तु इतना जरूर आश्वस्त कर सकते हैं कि हम यथाशक्ति उनकी मदद के लिए तैयार हैं। उज्जैन का समूचा प्रेस जगत शहीदों के साथ है। आतंकवादियों को करारा जवाब दिया जाना चाहिए। पत्रकार श्री सतीश गौड़ ने भी सभा को सम्बोधित किया।
कृषि विज्ञान मेला वर्ष 2019 का दूसरे दिन का कार्यक्रम सम्पन्न 
उज्जैन | 07-फरवरी-2019
  चिमनगंज मंडी प्रांगण में कृषि विज्ञान मेला-2019 के दूसरे दिन का कार्यक्रम सम्पन्‍न हुआ। इसका शुभारम्भ प्रात: 11.30 बजे संयुक्त संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास श्री डीके पाण्डेय ने किया। इन्दौर कृषि महाविद्यालय के प्राध्यापक श्री चौधरी द्वारा मधुमक्खी पालन पर विस्तार से जानकारी दी गई तथा श्री आरएस तोमर द्वारा विभिन्न फसलों की कृषि कार्यमाला पर समझाईश दी गई। कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ.आरपी शर्मा, डॉ.रेखा तिवारी, श्री एचआर जाटव आदि के द्वारा भी मार्गदर्शन दिया गया। मेले में श्रीमती नीलमसिंह चौहान परियोजना संचालक आत्मा, श्री आरजी आरोलिया उप परियोजना संचालक आत्मा तथा कृषि विभाग का समस्त स्टाफ मौजूद था। गुरूवार 7 फरवरी को कृषि विज्ञान मेले का समापन होगा।
उचित मूल्य की दुकान हेतु ऑनलाइन आवेदन की आज अन्तिम तिथि 
उज्जैन | 31-जनवरी-2019
 राज्य शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा विभाग की वेब साइट www.foodmp.gov.in पर उचित मूल्य दुकानविहीन ग्राम पंचायतों की सूची जारी की गई है। इसी वेब साइट पर दुकान आवंटन हेतु ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया भी दर्शाई गई है। उचित मूल्य की दुकान के लिये आवेदन-पत्र प्रस्तुत करने की एक फरवरी अन्तिम तिथि है।

 

प्रदेश के खिलाड़ियों ने जीते 8 स्वर्ण, 8 रजत और 15 कांस्य पदक (खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2019) 
खेल मंत्री श्री पटवारी ने पदक विजेता खिलाड़ियों को दी  बधाई 

उज्जैन | 21-जनवरी-2019

 

महाराष्ट्र के पुणे में 9 से 20 जनवरी, 2019 तक आयोजित ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ के आज अंतिम दिन मध्यप्रदेश तीरंदाजी अकादमी की खिलाड़ी मुस्कान किरार ने रजत पदक पदक दिलाया। टेबल टेनिस में प्रदेश ने अंडर 17 में ओवर ऑल दूसरा स्थान प्राप्त किया। प्रदेश को रनर-अप ट्रॉफी से नवाजा गया।
   खेलो इंडिया यूथ गेम्स में आज खेले गए तीरंदाजी के कंपाउंड अंडर-21 बालिका वर्ग के फायनल मुकाबले में मुस्कान किरार ने 144 अंकों के साथ रजत पदक अर्जित कर प्रदेश को गौरवान्वित किया। मुस्कान मात्र एक अंक से स्वर्ण पदक से दूर रह गई। झारखंड की खिलाड़ी अनिता कुमारी ने 145 अंकों के साथ स्वर्ण पदक जीता, जबकि राजस्थान की खिलाड़ी स्वर्णा झवर 141 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रही।
   उल्लेखनीय है कि मुस्कान किरार मध्यप्रदेश तीरंदाजी अकादमी जबलपुर में मुख्य प्रशिक्षक रिचपाल सिंह सलारिया से तीरंदाजी खेल का प्रशिक्षण हासिल कर रही हैं।           
खेलो इंडिया यूथ गेम्स में प्रदेश के खिलाड़ियों ने कुल 31 पदक जीते, जिनमें 8 स्वर्ण, 8 रजत और 15 कांस्य पदक शामिल हैं। इनमें मध्यप्रदेश राज्य खेल अकादमी के खिलाड़ियों द्वारा ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ में 6 स्वर्ण, 5 रजत और 11 कांस्य सहित 22 पदक शामिल हैं। 
   शूटिंग अकादमी के खिलाड़ियों ने तीन स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य, बॉक्सिंग अकादमी के खिलाड़ियों ने दो स्वर्ण और एक रजत, एथलेटिक्स अकादमी के खिलाड़ियों ने एक स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य, कुश्ती अकादमी के खिलाड़ियों ने एक रजत और तीन कांस्य, तीरंदाजी अकादमी की खिलाड़ी ने एक रजत तथा जुडो अकादमी के खिलाड़ी ने एक कांस्य इस प्रकार कुल 22 पदक जीतकर मध्य प्रदेश का गौरव बढ़ाया है।

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री पटवारी ने दी बधाई

   खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स में मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों द्वारा किए गए उत्कृष्ट प्रदर्शन की सराहना की है। उन्होंने सभी पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा है कि हमारे खिलाड़ियों ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स में पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित किया है। संचालक खेल और युवा कल्याण डॉ. एस.एल. थाउसेन ने भी खेलो इंडिया यूथ गेम्स में  पदक जीतने और प्रदेश का गौरव बढ़ाने वाले पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी है।

 

 

 

सामाजिक सरोकार भी निभायें विश्वविद्यालय -राज्यपाल श्रीमती पटेल 

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर में स्थापित हो अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ -श्री जीतू पटवारी 
उज्जैन | 07-जनवरी-2019
  विश्वविद्यालय सामाजिक सरोकारों को निभाने का दायित्व लें। बालिकाओं के स्वास्थ्य और कुपोषण से मुक्ति में समाज आगे आये। विश्वविद्यालय और प्राथमिक विद्यालयों के बीच अंतर्संबंध होने चाहिये। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में यह बात कही। उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ स्थापित किये जाने पर बल दिया।
समय पर पढ़ाई, परीक्षा और परिणाम जरूरी
   राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालयों में निर्धारित समय पर पढ़ाई, परीक्षा और परिणामों का आना जरूरी है। राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालयों और प्राथमिक विद्यालयों के बीच अंतर्संबंध होना चाहिये। प्रायमरी और मिडिल के बच्चों को विश्वविद्यालय का भ्रमण कराना चाहिये, जिससे उच्च शिक्षा के प्रति उनमें ललक पैदा हो सके। राज्यपाल ने दीक्षांत समारोह में पीएचडी उपाधि प्राप्त विद्यार्थियों से आव्हान किया कि वे अपने शोध को समाज के सामने भी प्रस्तुत करें। उन्होंने विश्वविद्यालय की ऑनलाइन परीक्षा परिणाम प्रणाली का लोकार्पण भी किया।
इंदौर में स्थापित हो अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ- उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी
    उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ स्थापित होना चाहिये। इसके लिये उच्च शिक्षा विभाग पहल करेगा। श्री पटवारी ने अपने विद्यार्थी जीवन का स्मरण करते हुए कहा कि  इसी परिसर में उन्होंने विद्यार्थी हित में अनेक आंदोलन किये हैं। यहीं उन्हें शिक्षकों की डाँट-फटकार भी मिली और लाड़-प्यार भी। श्री पटवारी ने कहा कि आज ऐसी शिक्षा की जरूरत है, जो दुर्भावनारहित सद-व्यवहार सिखाये। शिक्षा न सिर्फ व्यक्तित्व बल्कि परिवार और समाज को निखारने में अहम भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में दुनिया के विभिन्न देश के विद्यार्थी पढ़ने आयें, इसके लिये हम सब मिलकर प्रयास करेंगे।
पुलिस कर्मचारियों ने साप्ताहिक अवकाश का लाभ लेना शुरू किया 
पुलिस विभाग में खुशी की लहर 
उज्जैन | 05-जनवरी-2019
 मध्य प्रदेश के संवेदनशील मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कार्यभार ग्रहण करते ही वचन पत्र में की गई घोषणाओं का क्रियान्वन शुरू कर दिया है। इस सिलसिले में उन्होंने पुलिस विभाग में कांस्टेबल से लेकर अधिकारियों को एक दिन का साप्ताहिक अवकाश अनिवार्य रूप से देने की घोषणा की है। इस घोषणा का पालन उज्जैन संभाग के आगर जिले में किया जाना प्रारंभ हो गया है। पुलिस अधीक्षक श्री मनोज सिंह ने रोस्टर  बनाकर सभी काँस्टेबल एवं पुलिस अधिकारियों को साप्ताहिक अवकाश का लाभ लेने के निर्देश दिए हैं। जैसे ही ये आदेश जारी हुए पुलिस विभाग में खुशियां छा गई है। आदेश के तहत कई पुलिस कर्मचारियों द्वारा साप्ताहिक अवकाश लेना प्रारंभ कर दिया  गया है ।आगर में पदस्थ सहायक पुलिस उप निरीक्षक श्री अंतर सिंह कटारिया कहते हैं कि यह पहल पुलिस में काम करने वालों के लिए हितकारी होगी। वे अपने परिवार के साथ समय बिता सकेंगे एवं तनाव से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने यह घोषणा करने के लिए राज्य सरकार का धन्यवाद ज्ञापित किया है।
निष्ठापूर्वक अपने दायित्वों को समय से पूरा करें 
जनता की समस्याओं का त्वरित निराकरण करे, सुशासन की शपथ ली तथा अवधारणा को स्पष्ट किया 
उज्जैन | 24-दिसम्बर-2018
 जिले में पूर्व प्रधानमंत्री स्व.श्री अटलबिहारी वाजपेयीजी के जन्म दिवस को आज सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर बृहस्पति भवन में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने सुशासन की शपथ ली। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने सुशासन की अवधारणा से सभी को अवगत कराया तथा कहा कि हम सभी अपने दायित्वों का पूर्ण निष्ठा से समय पर निर्वहन करें, साथ ही जन-समस्याओं का त्वरित निराकरण करें तो सुशासन अपने आप स्थापित हो जाएगा।    
 
   कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों द्वारा श्री अटलबिहारी वाजपेयी के चित्र पर माल्यार्पण किया गया तथा उसके पश्चात सभी ने सुशासन की शपथ ली। कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने सुशासन के विषय में सभी को जानकारी दी। उन्होंने सभी अधिकारी-कर्मचारियों से कहा कि वे आने वाले पूरे सप्ताह अपने कार्यालयों की स्वच्छता का पूरा ध्यान रखें। आवश्यक रंग-रोगन करवायें। व्यक्तिगत स्वच्छता का भी ध्यान रखें। जन-शिकायतों का त्वरित निराकरण करें। अपने सभी मैदानी कार्यालयों से भी इस सम्बन्ध में कार्रवाई करवाएं। जन-समस्याओं के निराकरण के लिये जागरूक एवं तत्पर रहें। उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि जन-समस्याओं के निराकरण में विलम्ब किया जाता है तो सम्बन्धित अधिनियम के अन्तर्गत 25 हजार रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। यदि आपके अधीनस्थ आपकी बात नहीं मानते हैं तो बताएं, तुरन्त कार्रवाई करेंगे।
   कलेक्टर ने विशेष रूप से स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि जिले के सभी अस्पतालों में चिकित्सक मरीजों को पूरी स्वास्थ्य सेवाएं दें। यदि सरकारी अस्पताल छोड़कर निजी क्लिनिक चलाना पाया जाता है तो कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने इस अवसर पर सिविल सर्जन की अनुपस्थिति पर अप्रसन्नता व्यक्त की।
मतदाता जागरूकता विषयक 4 नेशनल मीडिया अवार्ड देगा भारत निर्वाचन आयोग 
मतदाताओं को शिक्षित और जागरूक करने के लिये दिये जा रहे हैं अवार्ड, प्रविष्टि भेजने की अंतिम तिथि अब 14 दिसम्बर हुई 
उज्जैन | 12-दिसम्बर-2018
 
 भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाताओं को वर्ष 2018 में शिक्षित और जागरूक करने के लिये किये गये बेहतर कार्य के लिये नेशनल मीडिया अवार्ड दिये जायेंगे। नेशनल मीडिया अवार्ड के लिये भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मीडिया हाउसेस से प्रविष्टियाँ आमंत्रित की गई हैं। यह अवार्ड वर्ष 2018 के दौरान मतदाताओं को शिक्षित और जागरूक करने के अभियान में बेहतर योगदान के लिये दिये जायेंगे। प्रिंट मीडिया, टेलीविजन (इलेक्ट्रॉनिक), रेडियो (इलेक्ट्रॉनिक) और ऑनलाइन (इंटरनेट)/सोशल मीडिया के लिये यह 4 अवार्ड दिये जायेंगे। आयोग द्वारा इन अवार्ड के लिये प्रविष्टि भेजने की तिथि पूर्व में 30 नवम्बर नियत की गई थी, जिसे बढ़ाकर 14 दिसम्बर कर दिया गया है। अब अवार्ड के लिये 14 दिसम्बर तक प्रविष्टियाँ भेजी जा सकती हैं।
   मीडिया हाउस द्वारा मतदाताओं की निर्वाचन में सहभागिता और जागरूकता बढ़ाने, उन्हें शिक्षित करने और मतदान प्रक्रिया से अवगत कराने के साथ ही आमजन में मतदाता बनने और मतदान करने के महत्व को समझाने के क्षेत्र में दिये गये योगदान को अवार्ड द्वारा सम्मानित किया जायेगा। अवार्ड स्वरूप साइटेशन और स्मृति-पट्टिका राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी, 2019 को आयोजित समारोह में प्रदान किये जायेंगे।
   अवार्ड का चयन जूरी द्वारा निर्धारित मापदण्डों के आधार पर किया जायेगा। इसमें मतदाता जागरूकता अभियान की गुणवत्ता, कव्हरेज की संख्या और विस्तार, आमजन पर हुए प्रभाव के प्रमाण और अन्य संबंधित फैक्टर्स को शामिल किया जायेगा। अवार्ड में शामिल होने के लिये जरूरी शर्तें भी निश्चित की गई हैं। निश्चित शर्तों को पूरा करना जरूरी है। इनमें भेजी जाने वाली प्रविष्टियों में वर्ष 2018 के दौरान प्रकाशित, ब्रॉडकास्ट, टेलीकास्ट समाचारों का होना जरूरी है।
   प्रिंट के क्षेत्र में अवार्ड के लिये मीडिया हाउस द्वारा भेजी जाने वाली प्रविष्टि में वर्ष 2018 के दौरान किये गये कार्य के तहत समाचार (न्यूज आइटम)/आलेख (ऑर्टिकल) की संख्या और कुल प्रकाशित स्थान वर्ग सेंटीमीटर में देना होगा। इसके अतिरिक्त समाचार-पत्र/ऑर्टिकल्स की प्रिंट कॉपी, फोटोकॉपी फुल साइज में अथवा संबंधित की लिंक का वेबसाइट एड्रेस अथवा पीडीएफ में सॉफ्ट कॉपी भी संलग्न करना होगी। कोई अन्य गतिविधि जैसे कि जनता से सीधे जुड़ाव अथवा और कोई संबंधित जानकारी भी प्रविष्टि के साथ संलग्न की जा सकेगी।
   ब्रॉडकास्ट टेलीविजन (इलेक्ट्रॉनिक) और रेडियो (इलेक्ट्रॉनिक) इन्ट्रीज के साथ वर्ष 2018 में चलाये गये अभियान को संक्षिप्त में संलग्न करना होगा। इसमें सीडी अथवा डीवीडी अथवा पेन-ड्राइव में निर्धारित समय के दौरान प्रत्येक स्पॉट के ब्रॉडकास्ट/टेलीकास्ट के कुल समय और आवृत्तियों की जानकारी देना होगी। स्पॉट/समाचार के ब्रॉडकास्ट के कुल समय की जानकारी भी संलग्न करना होगी। मतदाता जागरूकता पर समाचार फीचर अथवा कार्यक्रम को ड्यूरेशन, टेलीकास्ट/ब्रॉडकास्ट, दिनांक/समय और आवृत्ति के विवरण सीडी अथवा डीवीडी अथवा पेन-ड्राइव अथवा अन्य डिजिटल मीडिया के साथ देनी होगी। इसके अतिरिक्त जनता के जुड़ाव से संबंधित अन्य गतिविधियाँ और अन्य अपेक्षित जानकारी भी संलग्न की जा सकती है।
   ऑनलाइन (इंटरनेट)/सोशल मीडिया इन्ट्रीज के साथ वर्ष 2018 में किये गये कार्य का संक्षिप्त प्रतिवेदन, जिसमें पोस्ट/ब्लॉग्स/केंपेन/ट्वीट्स/ऑर्टिकल आदि की संख्या शामिल होगी। संबंधित वेबसाइट की लिंक अथवा संबंधित का पीडीएफ फार्म में सॉफ्ट कॉपी संलग्न करना होगी। इसके अतिरिक्त अन्य कोई जनता से जुड़े मुद्दे अथवा ऑनलाइन प्रभाव डालने वाली गतिविधि और अन्य किसी अपेक्षित जानकारी को संलग्न करना होगा।
विश्व एड्स दिवस आज 
जन-जागृति के लिये रैली निकाली जायेगी 
उज्जैन | 30-नवम्बर-2018
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एमएल मालवीय ने बताया कि प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी आज शनिवार 1 दिसम्बर को विश्व एड्स दिवस मनाया जायेगा। विश्व एड्स दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य एचआईवी रोग से ग्रसित है, उनकी सहायता प्रदान करना और बीमारी से छुटकारा पाने के लिये ग्रसित व्यक्ति को इलाज कराने हेतु प्रेरित किया जाना है। आज जन-जागृति के लिये रैली प्रात: 9 बजे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय से प्रारम्भ होकर छत्रीचौक पर समापन की जायेगी।
एचआईवी एड्स क्या?
    एड्स जिस वायरस के कारण होता है, उसका नाम एचआईवी है। यह शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को धीरे-धीरे कम करता है और जब यह क्षमता क्षीण हो जाती है तो शरीर में विभिन्न रोगों के लक्षण प्राप्त होने लगते हैं। इसी अवस्था को एड्स कहते हैं।
रोग फैलने के कारण
    असुरक्षित यौन सम्पर्क करने से किसी एचआईवी ग्रसित व्यक्ति के सम्पर्क में आने वाले दूसरे स्वस्थ व्यक्ति को एचआईवी वायरस फैलने का खतरा होता है। अधिक जानकारी के अनुसार एचआईवी एड्स फैलने का प्रमुख कारण असुरक्षित यौन सम्पर्क है। संक्रमित रक्त से या कोई व्यक्ति बीमार या दुर्घटनाग्रस्त है और इलाज के दौरान उसे रक्त की आवश्यकता पड़ती है तो रक्त चढ़ाने से पहले उसकी जांच करना चाहिये। यदि एचआईवी संक्रमित रक्त उस व्यक्ति को चढ़ाया जाता है तो उसे भी एचआईवी एड्स का संक्रमण हो सकता है। इसके अलावा संक्रमित सुई व सीरिंज से यदि एचआईवी संक्रमित व्यक्ति द्वारा इस्तेमाल की गई तो अन्य व्यक्ति इसका इस्तेमाल करता है तो उसे भी एचआईवी संक्रमण होने का खतरा रहता है। इसलिये हमेशा व्यक्ति को डिस्पोजेबल सुई व सीरिंज का ही उपयोग किया जाना चाहिये। एचआईवी संक्रमित गर्भवती महिला से उसके होने वाले शिशु में भी एचआईवी संक्रमण का खतरा रहता है।
जिले में अभी तक 1415569 मतदाता पर्चियों का वितरण 
उज्जैन | 24-नवम्बर-2018
जिले में 1426230 मतदाता हैं। इन मतदाताओं को घर-घर मतदाता पर्ची का वितरण कार्य जारी है। अभी तक जिले में 1415569 मतदाताओं की मतदाता पर्ची का वितरण 22 नवम्बर तक किया जा चुका है। जिले में 356900 परिवारों को मतदाता पर्ची एवं वोटर गाइड का वितरण किया जा रहा है। मतदाताओं को मतदाता पर्ची प्रदाय कर पावती ली जा रही है। मतदाता पर्चियों के वितरण की प्राप्ति हेतु मतदाता पर्ची वितरण रजिस्टर मतदान केन्द्रवार प्रदाय किये गये हैं, जिन पर बीएलओ के द्वारा सम्बन्धित मतदाता एवं परिवार के सदस्यों को ही वोटर पर्ची प्रदाय कर उनके हस्ताक्षर या अंगूठे का निशान लगाया जा रहा है। जिले में 22 नवम्बर तक 356080 परिवारों को वोटर गाइड का वितरण किया जा चुका है। जिले में मतदाता पर्ची का वितरण 99.25 प्रतिशत और वोटर गाइड का वितरण 99.77 प्रतिशत हो चुका है।
   विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-212 नागदा-खाचरौद में 51200 परिवारों में 203219 मतदाता पर्चियों, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-213 महिदपुर में 48500 परिवारों में 191780 मतदाता पर्चियों, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-214 तराना में 43600 परिवारों में 173150 मतदाता पर्चियों, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-215 घट्टिया में 51200 परिवारों में 203115 मतदाता पर्चियों, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-216 उज्जैन उत्तर में 54500 परिवारों में 215080 मतदाता पर्चियों,, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-217 उज्जैन दक्षिण में 60900 परिवारों में 241918 मतदाता पर्चियों एवं विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-218 बड़नगर में 47000 परिवारों में 187307 मतदाता पर्चियों का वितरण किया जा चुका है। इन परिवारों में 356080 वोटर गाइड का वितरण भी मतदाता पर्चियों के साथ किया जा चुका है। जिले में सातों विधानसभा में 10661 मतदाता पर्ची एवं 820 वोटर गाइड का वितरण किया जाना शेष है, जो बीएलओ के द्वारा निरन्तर अपने-अपने क्षेत्र में किया जा रहा है।
श्रेष्ठ निर्वाचन गतिविधियों के लिये भारत निर्वाचन आयोग पुरस्कार देगा 
उज्जैन | 03-नवम्बर-2018
0
 
संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री विकास नरवाल ने बताया है कि भारत निर्वाचन आयोग राज्य स्तरीय श्रेष्ठ निर्वाचन गतिविधियों-2018 के लिये-7 श्रेणियों में विभिन्न व्यक्तियों एवं संस्थाओं को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित करेगा। श्रेष्ठ संभाग पुरस्कार में संभागीय आयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक को पुरस्कार दिये जाएंगे। राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2019 पर होने वाले समारोह में ये पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे। मध्यप्रदेश विधानसभा निर्वाचन 2018 में  सामान्य श्रेणी के अंतर्गत श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधीक्षक, रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, ई.आर.ओ., ए.ई.आर.ओ., बी.एल.ओ. को पुरस्कृत किया जायेगा।
   मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, नगर निगम आयुक्त, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, स्वीप नोडल अधिकारी, मास्टर ट्रेनर, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारी, कर्मचारी, अन्य शासकीय अधिकारी, कर्मचारी को विशेष श्रेणी में पुरस्कार दिये जाएंगे।
   शासकीय विभाग, शासकीय एजेंसी, सार्वजनिक उपक्रम को राज्य स्तरीय श्रेष्ठ शासकीय स्वीप पार्टनर पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे। गैर शासकीय संगठन, एजेंसी को गैर शासकीय स्वीप पार्टनर पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे।
श्रेष्ठ मीडिया पार्टनर पुरस्कार में मीडिया,सोशल मीडिया एजेंसियों को पुरस्कार और जिला स्तरीय श्रेष्ठ निर्वाचन गतिविधि के लिये अधिकारियों, कर्मचारियों, शासकीय विभागों, गैर शासकीय संगठनों, मीडिया एजेंसियों, सोशल मीडिया एजेंसियों के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिये भी पुरस्कार स्थापित किये जाएंगे।
   सभी पुरस्कारों में निर्वाचन प्रबंधन, स्वीप गतिविधियाँ, सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी कार्य, सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था प्रबंधन, निर्वाचन नामावली प्रबंधन, सुगम मतदान व्यवस्था तथा नवाचार गतिविधियों की श्रेणियों के अंतर्गत नामांकन किया जायेगा।
अधिकारी, कर्मचारी और संस्थाओं द्वारा निर्धारित प्रारूप में जानकारी भरकर नामांकन हेतु आवेदन मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को 15 दिसम्बर तक भेजना होंगे। पुरस्कार के लिये विजेताओं का चयन समिति करेगी, जिसका अंतिम अनुमोदन मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा किया जायेगा।
(0 days ago)
v
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/