wrapper

ब्रेकिंग न्यूज़

नून रोटी खाएंगे, मोदिए को ले आएंगे...

25.05.2019 “किसको वोट दिए इस बार?”
“कमल को और किसको देते?” नोएडा के सेक्टर 93 बी में हाइराइज सोसाइटी के बीच नोएडा ऑथरिटी की ख़ाली ज़मीन में तबेला चला रहा ग्वाला बता रहा था. यादवों का दूध बेचने का पुश्तैनी पेशा रहा है. लेकिन आजकल दूध का कारोबार आईटी और आईआईएम से पढ़े नौजवान भी कर रहे हैं. लिहाज़ा तसदीक़ के लिए उससे बेहाया होकर पूछ लिया, “कौन जात हो?”
“यादव”
“यादव होकर अखिलेश को नहीं दिए?”
“क्या किया है अखिलेश ने? मुसलमानों को सर पर बिठाए हुए है और अब मायावती के पैर पर गिर गया!”
“पिछले पांच साल में सरकार से क्या फ़ायदा मिला है और मुसलमान ने तुम्हारा क्या बिगाड़ा है?”
ख़ामोशी.
तबेले में 2-3 नौजवानों के बीच एक बुजुर्ग भी बैठे थे.
“आप ही समझाइए इन लोगों को. मिला कुछ नहीं.” बुजुर्ग ने दरख्वास्त लगायी.
“70 साल में कांग्रेस ने क्या किया. नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी मुसलमान-मुसलमान करते रहे. सारे कांग्रेसी भ्रष्टाचारी हैं. मोदी को 5 साल और मौक़ा देकर देखते हैं. हर्ज क्या है? ज़्यादा से ज़्यादा क्या होगा? पहले भी हमारी ज़िंदगी पर कुछ फ़र्क़ नहीं पड़ा, अब भी नहीं पड़ेगा!” नौजवान ने तुनक कर तर्क दिया.


“लेकिन सुना था कि यहां भाजपा से गांव वाले नाराज़ हैं?”
“वोट मोदी को दिया है, भाजपा के उम्मीदवार को नहीं.”
Last modified on Saturday, 25 May 2019 05:50

गणेश शंकर समाचार सेवा

आजादी की पत्रकारिता को ध्यान में रख कर ही  हमने बर्ष 1981 दिसम्बर 11  से दैनिक राष्ट्र भ्रमण समाचार पत्र से अपनी पत्रकारिता की शुरुआत की है.


Template Settings

Color

For each color, the params below will give default values
Blue Green Red Radian
Select menu
Google Font
Body Font-size
Body Font-family
http://www.zoofirma.ru/