भोपाल समाचार

भोपाल पहुंचने पर हुआ एकात्म यात्रा का भव्य स्वागत 
मानव श्रृंखला बनाकर पुष्पवर्षा से सभी समुदायों द्वारा किया गया स्वागत 
भोपाल | 12-जनवरी-2018
 
 आदि शंकराचार्य की प्रतिमा हेतु धातु संग्रहण एवं जनजागरण अभियान के अंतर्गत एकात्म यात्रा का आज भोपाल नगर में प्रवेश हुआ। एकात्म यात्रा के दौरान ग्रामवासियों, गणमान्य नागरिकों द्वारा जगह जगह पंडाल बनाकर पुष्पहार एवं पुष्पवर्षा करते हुए पादुका पूजन एवं स्वागत किया गया। यात्रा के भोपाल प्रवेश के दौरान ग्राम रतुआ में जनसंवाद का आयोजन किया गया।
   स्वामी श्री महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद गिरी महाराज एवं श्रीनिवास महाराज द्वारा ग्रामवासियों को आदि शंकराचार्य जी जीवन दर्शन के बारे में बताते हुए कहा गया कि आदि शंकराचार्य का जीवन दर्शन संपूर्ण विश्व को विभिन्नताओं से परे एक सूत्र में बांधने का दर्शन है। इसके पश्चात यात्रा के ईंटखेड़ी प्रस्थान करते समय मार्ग में जगह जगह ग्रामवासियों द्वारा यात्रा का पुष्पवर्षा से स्वागत किया गया।  
 
   ईंटखेड़ी में आयोजित जनसंवाद में श्री रामेश्वर पाटीदार द्वारा पादुकाओं को सिर पर रखकर बैण्डबाजों के साथ लाया गया। जहां सांसद श्री आलोक संजर, विधायक श्री विष्णु खत्री, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री मनमोहन नागर, बैरसिया के यात्रा प्रभारी श्री राजमल जी गुप्ता एवं जनपद पंचायत के सदस्य उपस्थित थे। यहां महाराज श्री अखिलेश्वरानंद गिरी महाराज द्वारा ग्रामवासियों को आदि शंकराचार्य के जीवन के बारे में बताते हुए कहा गया कि आदि शंकराचार्य के विचारों को सभी लोगों को अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आदि गुरू शंकराचार्य ने संपूर्ण विश्व को एकात्मता का बोध कराया है। उन्होंने भारत में चार मठों की स्थापना कर अद्धैत भारत की कल्पना को साकार किया है। 
   यात्रा ईंटखेड़ी से करोंद चौराहा के लिए रवाना हुई। मार्ग में जगह जगह ग्रामवासियों द्वारा यात्रा का पुष्पवर्षा से स्वागत किया गया। ग्राम खामखेड़ा तथा रास्ते में पड़ने वाले अन्य ग्रामों के ग्रामवासियों द्वारा कलश एवं पुष्पहार से पादुकापूजन किया गया।यात्रा के करोंद पहुंचने पर सहकारिता राज्यमंत्री श्री विश्वास सारंग, महापौर श्री आलोक शर्मा, सहित विभिन्न गणमान्य नागरिकों द्वारा पुष्पवर्षा से भव्य स्वागत किया गया। इसके पश्चात श्री सारंग ने आदि शंकराचार्य के चरण पादुका का पूजन कर अपने शीश पर रखकर यात्रा को आगे बढ़ाया। करोंद चौराहे पर मानव श्रृंखला बनाकर सभी धर्म एवं समुदाय के लोगों द्वारा पुष्पवर्षा से यात्रा का भव्य स्वागत किया गया।
 

 

किसान पाले के प्रति संवेदनशील रहें 
भोपाल | 08-जनवरी-2018
 
 कृषि विभाग के वैज्ञानिकों एवं अधिकारियों ने किसानों को जानकारी दी है कि दोपहर बाद शाम के समय आसमान साफ हो, हवा शान्त हो एवं तापमान में कमी के साथ गलावट बढ़ती जा रही है तो उस रात पाला पड़ने की प्रबल संभावना होती है। ऐसी स्थिति में किसान पाले के प्रति संवेदनशील रहकर अपनी फसल अरहर, मटर, बैंगन, आलू आदि के बचाव हेतु तैयार रहकर सुझाये गये उपायों पर ध्यान दें।
   किसान पाला पड़ने पर सर्वप्रथम अपने खेत में हल्की सिंचाई करें। रात को 10 बजे के बाद खेत की उत्तर एवं पश्चिम दिशा की मेड़ों पर धुआं करें या सल्फर डस्ट 8 से 10 किलोग्राम प्रति एकड़ की दर से भुरकाव करें या जल में घुलनशील सल्फर 3 ग्राम प्रति लीटर पानी की दर से खड़ी फसल पर छिड़काव करें या थायोयूरिया 15 ग्राम प्रति पम्प 15 लीटर की दर से पानी में घोलकर खड़ी फसल में छिड़काव करें या तनु सल्फ्यूरिक अम्ल 15 एमएल प्रति पम्प की दर से सावधानीपूर्वक घोल बनाकर खड़ी फसल पर छिड़काव करें। जैविक नियंत्रण के लिये 500 एमएल ताजा गोमूत्र या 500 एमएल गाय के दूध को प्रति पम्प की दर से घोल बनाकर फसल पर छिड़काव करें।

 

फसल उत्पादन बढ़ाने जिले के किसान उठायें अनुदान का लाभ 
भोपाल | 27-दिसम्बर-2017
 
 राज्य शासन के किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के निर्देशो के अनुसार वर्ष 2017-18 में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में पूर्ण रूप से डी.बी.टी. योजना लागू की गई है। इसमें योजना के घटक प्रावधानों के तहत कृषक लाभ प्राप्त करने के लिये अपने आवेदन पत्र के साथ आधार कार्ड, बैकपास बुक की छायाप्रति व मोबाईल नंबर के सहित क्षेत्रीय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। 
   उप संचालक कृषि ने बताया कि ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को प्रस्तुत आवेदन पत्रों को विकासखण्ड स्तर पर योजनावार, घटकवार संकलित कर कृषक सूची जनपद पंचायत की कृषि स्थायी समिति से अनुमोदन कराई जायेगी। जिसके बाद निजी क्षेत्र के पंजीकृत डीलर से सामग्री क्रय कर मूल कैशमेमो संबंधित ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को प्रस्तुत करना होगा। साथ ही  उनके द्वारा सामग्री का सत्यापन उपरांत संबंधित वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के माध्यम से देयक उप संचालक कृषि कार्यालय में प्रस्तुत किये जायेंगे। जिसकी नियमानुसार 50 प्रतिशत अनुदान राशि आर.टी.जी.एस.के माध्यम से कृषक के बैंक खाते में किया जायेगा। कृषकों को योजना का लाभ प्रथम आओ-प्रथम पाओ के आधार अधिकतम 2 हेक्टर की सीमा तक प्रदान किया जायेगा। अनुदान संबंधी अधिक जानकारी के लिये किसान भाई कार्यालयीन समय में कार्यालय उप संचालक कृषि एवं संबंधित क्षेत्र के ग्रामीण व विकासखण्ड कृषि अधिकारी से संपर्क कर प्राप्त कर सकते हैं।

 

 

 

 

दसवीं पास सोनू दे रहा है दूसरों को रोजगार 

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से सोनू बना राईस मिल का मालिक 
रायसेन | 23-दिसम्बर-2017
 
 पढ़-लिखकर नौकरी की तलाश में समय गंवाने की बजाए स्वयं का रोजगार स्थापित करना ज्यादा उचित समझा सोनू अहिरवार ने। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत राईस मिल स्थापित कर सोनू न केवल आत्मनिर्भर हुआ है, बल्कि वह अन्य व्यक्तियों को भी रोजगार दे रहा है। सोनू अहिरवार के पास न तो कृषि भूमि थी और न ही कोई पैतृक व्यवसाय, जिससे वह अपना जीविकोपार्जन कर पाता। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण प्राप्त कर दसवीं पास सोनू अब राईस मिल का मालिक है और उसकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हो रही है तथा जीवन स्तर में भी बदलाव आया है। 
   मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण प्राप्त कर लगाई गई राईस मिल में सोनू तीन अन्य लोगों को भी रोजगार प्रदान कर रहा है। सोनू ने बताया कि मिल चालू होने के शुरूआती महीनों में ही बैंक की किश्त, कर्मचारियों का वेतन एवं मिल के समस्त खर्चो को निकालकर लगभग 25 हजार रूपए महीने से अधिक की बचत हो रही है। सोनू को उम्मीद है कि आने वाले समय में उसका कारोबार और बढ़ेगा। सोनू ने बताया कि 15 से 20 क्विंटल धान अभी प्रतिदिन आ रही है। 
   रायसेन के वार्ड क्रमांक-18 संजय नगर निवासी श्री सोनू अहिरवार ने बताया कि उसे समाचार पत्र के माध्यम से पता चला कि वह भी मुख्यमंत्री द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग के लिए संचालित स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण प्राप्त कर स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकता है और वह ऋण लेने के लिए पात्र है। अगले दिन सोनू ने जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के कार्यालय में जाकर अंत्यावसायी अधिकारी से पूरी जानकारी ली और स्वयं का रोजगार स्थापित करने का निर्णय लिया। 
   सोनू ने विभिन्न रोजगारों के बारे में विस्तार से जानकारी ली और कई अनुभवी लोगों से चर्चा की। सोनू ने रायसेन जिले में तेजी से बढ़ रहे धान के उत्पादन को ध्यान में रखते हुए राईस मिल लगाने का निर्णय लिया। सोनू ने सभी आवश्यकताएं पूरी करते हुए अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के कार्यालय में 10 लाख रूपए के ऋण के लिए आवेदन दिया। अंत्यावसायी अधिकारी द्वारा सोनू की इच्छाशक्ति और वर्तमान परिवेश एवं भविष्य की संभावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए 10 लाख रूपए का ऋण स्वीकृत कर आगामी कार्यवाही के लिए सेंट्रल बैंक शाखा रायसेन को भेजा गया। सेंट्रल बैंक ने सोनू लगाए जाने वाले राईस मिल के लिए 10 लाख रूपए का ऋण प्रदान किया गया, जिसमें दो लाख रूपए अनुदान राशि सरकार की ओर से प्रदान की गई है।

 

अपने स्तर पर समितियां कर सकेंगी बारदानों की व्यवस्था 
भोपाल | 21-दिसम्बर-2017
 
 
 किसानों से समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन के लिए स्थापित खरीदी केन्द्रों पर बारदानों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए राज्य शासन ने समितियों को बारदानें खरीदने के अधिकार दे दिये हैं। 
   बारदानों की कमी की समस्या का सामना कर रहे उपार्जन केन्द्रों के समिति प्रबंधकों को अपने स्तर से बारदानों की व्यवस्था करने के निर्देश दिये हैं। बारदानों की खरीदी पर होने वाले व्यय की प्रतिपूर्ति जिला विपणन संघ द्वारा समितियों को की जायेगी।

 

राज्य बीमारी सहायता योजना के आवेदन ऑनलाइन दर्ज होंगे 
भोपाल | 20-दिसम्बर-2017
 
 राज्य बीमारी सहायता योजना के आवेदन अब ऑनलाइन दर्ज करने की कार्यवाही स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से की जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने तत्संबंध में बताया कि गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले हितग्राहियों के उपचार हेतु क्रियान्वित राज्य बीमारी सहायता निधि योजना अब ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से संचालित होगी। उन्होंने योजना का लाभ लेने हेतु संबंधित हितग्राहियों से आग्रह किया है कि वे कार्यालय में उपस्थित होते समय निम्नांकित दस्तावेंज अपने साथ अनिवार्य लाए ताकि ऑनलाइन प्रक्रिया की कार्यवाही त्वरित सम्पादित हो सकें। योजना का लाभ लेने हेतु स्वयं का बीपीएल कार्ड सूची, समग्र आईडी, आधार कार्ड, फोटो, उपचार संबंधी दस्तावेंज, सहमति/ शपथ पत्र जमा करना अनिवार्य होगा। 
   राज्य बीमारी सहायता निधि योजना के तहत आवेदन स्वीकृति होने के पश्चात जिला चिकित्सालय में प्रति गुरूवार को आयोजित होने वाली मेडीकल बोर्ड के समक्ष मरीज को उपस्थित हो सकते है।
भवन एवं अन्य संनिर्माण कार्यों में श्रम कानूनों का पालन सुनिश्चित करें 
भोपाल | 20-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार (रोजगार एवं सेवा शर्तों का विनियनिम) अधिनियम 1996 एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण उपकर नियम 1998 के अंतर्गत समस्त शासकीय एवं अशासकीय निर्माणी विभागों व एजेंसियों के द्वारा कराये जाने वाले निर्माण कार्यों से (निजी आवास हेतु रुपये 1 लाख की लागत के निर्माण को छोड़कर) उनकी निर्माण लागत के 1 प्रतिशत की दर से उपकर राशि वसूल की जाकर मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल में जमा किये जाने का प्रावधान हैं। इसी अनुक्रम में श्रम कानूनों के प्रावधानों का पालन किया जाकर निर्माण कार्यों का पंजीयन कराना, निर्माण एजेंसियों व ठेकेदारों के द्वारा अनुज्ञप्ति प्राप्त करना तथा श्रमिकों को शासन के द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतन का भुगतान सुनिश्चित किया जाना अनिवार्य है।
   समस्त शासकीय व अशासकीय निर्माणी विभागों व एजेंसियों को निर्देशित किया जाता है कि उनके द्वारा समस्त निर्माण कार्यों का निर्माण लागत के 1 प्रतिशत की दर से उपकर राशि सचिव मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल के खाते में जमा किया जाकर जमा की गई राशि की सूचना श्रम कार्यालय को प्रेषित कराते हुये श्रम कानूनों के प्रावधानों का पालन किया जाकर निर्माण कार्यों का पंजीयन कराना, निर्माण एजेंसियों व ठेकेदारों के द्वारा अनुज्ञप्ति प्राप्त करना तथा श्रमिकों को शासन के द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतन का भुगतान सुनिश्चित करें।

 

 

आत्मा योजनान्तर्गत उत्कृष्ट किसान को मिलेगा पुरस्कार 
भोपाल | 14-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   
   कृषि विभाग द्वारा संचालित सब मिशन ऑन एग्रीकल्चरल एक्सटेंशन आत्मा योजना अंतर्गत वर्ष 2016-17 में कृषकों द्वारा कृषि उद्यानिकी, पशुपालन, कृषि अभियांत्रिकी एवं मत्स्य पालन के क्षेत्र में किये गये। उत्कृष्ट कार्यों हेतु जिले से सर्वोत्तम कृषक/ कृषक समूह का चयन कर जिला स्तर पर सर्वोत्तम कृषक/ कृषक समूहों को विकासखण्ड स्तर/ जिला स्‍तर/ राज्य स्तर हेतु चयन किया जाकर पुरस्कृत किया जाएगा। किसान अपने-अपने विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय अपने क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, विकासखण्ड तकनीकी प्रबंधक एवं सहायक तकनीकी अधिकारी से सम्पर्क कर पुस्कार हेतु आवेदन पत्र प्राप्त करें तथा पूर्ण रूप से भरे हुए आवेदन तत्काल वरिष्ठ कृषि विकस अधिकारी कार्यालय में जमा करे। आवेदन की अंतिम दिनांक 15 दिसम्बर है।

 

राज्य सहकारी विपणन संघ के प्रबंध संचालक ने की जिले में खाद उपलब्धता एवं वितरण की समीक्षा 
रायसेन | 14-दिसम्बर-2017
 
 
 
   जिले में खाद उपलब्धता एवं वितरण की मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ के प्रबंध संचालक श्री ज्ञानेश्वर बी पाटिल तथा अपेक्स बैंक के महाप्रबंधक द्वारा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित कर समीक्षा की गई। बैठक में विपणन संघ के प्रबंधक संचालक श्री पाटिल ने कहा कि खाद की पर्याप्त उपलब्धता है। किसानों की मांग के अनुरूप सोसायटियों द्वारा वितरण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि जिले में खाद वितरण के लिए पर्याप्त इंतजाम किए जाएं ताकि किसानों को खाद की कमी नहीं आए तथा इंतजार भी न करना पड़े। 
    बैठक में कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने बताया कि जिले में खाद का पर्याप्त भण्डारण है। कुछ सोसायटियों द्वारा कई बार उठाव में विलम्ब के कारण वितरण में भी विलम्ब होता है। खाद की जिले में किसी तरह की कोई कमी नहीं है। इसके अलावा बैठक में उड़द तथा अरहर उपार्जन का भुगतान सुनिश्चित करने के लिए भी कहा। 
    श्री पाटिल ने कहा कि किसानों को मोटे दाने का यूरिया खाद का प्रयोग करने की सलाह दी जाए। किसानों को बताया जाए कि मोटे दाने का यूरिया नम मृदा के सम्पर्क में आने पर धीरे-धीरे घुलने से पौधों को लम्बी अवधि तक नाईट्रोजन तत्व उपलब्ध होता रहता है, जबकि छोटे दाने का यूरिया जैसे ही नम मृदा के सम्पर्क में आता है, उसमें लीचिंग ज्यादा होने के कारण जल्दी घुलकर अनुपयोगी रह जाता है। बैठक में जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री शिवाजी पटेल सहित अनेक सोसायटियों के प्रतिनिधि तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। 

 

आवास सहायता योजना में डिप्लोमा कोर्स करने वाले विद्यार्थी भी कर सकते है आवेदन 

भोपाल | 11-दिसम्बर-2017
 
अनुसूचित जाति, जनजाति के विद्यार्थियों हेतु राज्य शासन द्वारा क्रियान्वित आवास सहायता योजनांतर्गत वर्ष 2017-18 से अब ऐसे छात्र-छात्राएं भी जो 12 वीं उत्तीर्ण कर नियमित रूप से उच्चतर महाविद्यालयों में डिप्लोमा कोर्स कर रहे हैं, वे भी इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगे । अनुसूचित जाति, जनजाति के छात्र-छात्राएं ऑनलाइन पोर्टल पर आवेदन भरकर आवेदन की प्रति अपनी-अपनी संस्थाओं में समय-सीमा में जमा कर सकते है।

 

भोपाल जिले में 11 जनवरी को प्रवेश करेगी एकात्म यात्रा 
यात्रा के सफल एवं सुचारू संचालन के लिए बैठक आयोजित 
भोपाल | 08-दिसम्बर-2017
 
  
आदि शंकराचार्य की प्रतिमा हेतु धातु संग्रहण एवं जन जागरण अभियान के लिये 19 दिसंबर से प्रारंभ होकर 22 जनवरी तक चलने वाली एकात्म यात्रा की तैयारियों के संबंध में दि एमपी स्टेट माईनिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के अध्यक्ष केबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त श्री शिव चौबे की अध्यक्षता में कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई। बैठक में यात्रा के दौरान विभिन्न तैयारियों की भी समीक्षा की गई। इस दौरान प्रेजेन्टेशन के माध्यम से यात्रा की प्रमुख जानकारियां प्रदान की गई। 
   आदि शंकराचार्य की प्रतिमा हेतु धातु संग्रहण एवं जन जागरण अभियान के लिये 19 दिसंबर से प्रारंभ होकर 22 जनवरी तक चलने वाली एकात्म यात्रा की तैयारियों के संबंध में दि एमपी स्टेट माईनिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के अध्यक्ष केबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त श्री शिव चौबे की अध्यक्षता में कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई। बैठक में यात्रा के दौरान विभिन्न तैयारियों की भी समीक्षा की गई। इस दौरान प्रेजेन्टेशन के माध्यम से यात्रा की प्रमुख जानकारियां प्रदान की गई। 
    एकात्म यात्रा के मूल को समझाते हुये श्री चौबे ने कहा कि यह यात्रा जन-जन को एकात्म मानव दर्शन के प्रति प्रेरित करेगी। इसलिये इस यात्रा को एकात्म यात्रा कहा गया है। यात्रा में प्रदेश के एक-एक गांव से धातु संग्रह किया जायेगा। उन्होंने जिले के प्रत्येक गांव का प्रतिनिधित्व हो, इसके लिये कार्य योजना बनाकर कार्य करने की बात कही। उन्होंने बताया कि आदि गुरू शंकराचार्य जी की 108 फीट ऊंची विशाल धातु प्रतिमा स्थापित करने हेतु ओंकारेश्वर में भूमिपूजन होगा। इस उद्देश्य से प्रत्येक ग्राम पंचायत से प्रदेश के कोने-कोने की पावन मिट्टी एवं धातु का संकलन किया जाएगा। पावन मिट्टी व धातु के संकलन हेतु आगामी 19 दिसंबर को प्रदेश के चार स्थानों से एकात्म यात्राएं प्रारंभ की जाएगीं। उन्होंने बताया कि जिले में इस यात्रा को पूरी गरिमा एवं उत्साह के साथ संचालित किया जाएगा। 
   मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पांडे ने कहा कि इस यात्रा का उद्धेश्य समाज के अधिक से अधिक व्यक्तियों को एकात्म यात्रा के माध्यम से शंकराचार्य द्वारा सामाजिक बुराईयों को रोकने के लिये उठाये गये कदमों से अवगत कराना है । सभी प्रकार के भेदभाव मिटाकर इस यात्रा के भावनात्मक रूप से लोगों को परिचित कराना है । उन्होंने ग्राम स्तर पर यात्रा के व्यापक प्रचार प्रसार पर जोर दिया । 
    संभागायुक्त श्री अजात शत्रु श्रीवास्तव ने बैठक में आश्वस्त किया कि संभाग में आदि शंकराचार्य की एकात्म यात्रा को सफलतापूर्वक सम्पन्न कराया जायेगा । यात्रा को सफल बनाने में किसी भी स्तर पर कोई कमी नहीं रहने दी जायेगी । कलेक्टर श्री सुदाम खाडे ने कहा कि एकात्म यात्रा के दौरान सभी तरह का सहयोग दिया जायेगा । भोपाल जिले में एकात्म यात्रा 11 जनवरी को बैरसिया में प्रवेश करेगी । जिले के विभिन्न स्थानों पर भ्रमण के पश्चात सीहोर जिले से होते हुए ओंकरेश्वर जायेगी । यात्रा के लिये जिला पंचायत के सीईओ श्री हरजिंदर सिंह को नोडल अधिकारी बनाया गया है । 
    बैठक में जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री मनमोहन नागर, विधायक श्री विष्णु खत्री, महामंडलेश्वर श्री रामभूषण दास ने भी यात्रा को सफल बनाने के संबंध में अपने सुझाव दिए । 
    बैठक में बताया गया कि जिले में एकात्म यात्रा के दौरान रात्रि विश्राम स्थल पर आदि शंकराचार्य विरचित स्त्रोतों का गायन एवं अन्य भजनों का गायन कला मंडलियों द्वारा किया जाएगा। रात्रि के दौरान आदि शंकराचार्यजी पर तैयार की गई फिल्म एवं एनिमेशन मूवी का प्रदर्शन किया जाएगा। यह यात्रा 21 जनवरी को ओंकारेश्वर पहुंचेगी। समूचे जिले में यात्रा का वातावरण तैयार करने के लिए विद्यालय एवं महाविद्यालय स्तर पर विभिन्न तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। इस एकात्म यात्रा में आदि शंकराचार्यजी की प्रतिमा निर्माण के लिए धातु संकलन के कार्य हेतु ग्राम की मिट्टी एवं धातु पात्र में लोहा, पीतल, तांबा, कांसा जनसंवाद स्थल पर ले जाए जाने के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत से प्रतिनिधि नामांकित किए जाएंगे।

 

एक दिसम्बर को विश्व एड्स दिवस 

भोपाल | 29-नवम्बर-2017
 
विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी आगामी एक दिसम्बर को विश्व एड्स दिवस मनाया जायेगा। विश्व एड्स दिवस थीम “मेरा स्वास्थ्य मेरा अधिकार’’ रहेगा। महाविद्यालयों में एन.सी.सी. एवं एन.एस.एस. की तर्ज पर रेड रिबन क्लब संचालित हैं जिसका उद्देश्य युवकों में एड्स/एच.आई.व्ही. के प्रति जागरूकता, एड्स फेलने की जानकारी एवं बचाव, एड्स पीड़ित लोगों को मुख्य धारा से जोड़ना एवं हाई रिस्क से जुड़ रहे लोगों को बीमारी से बचाव की जानकारी देना है। साथ ही स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा दिया जाये ताकि खून की कमी से पीड़ित गर्भवती महिलाओ, आपरेशन के रोगियों तथा कैंसर पीड़ित लोगों को सुरक्षित रक्त मिल सके। 

सशस्त्र झंडा दिवस 7 दिसंबर को 

भोपाल | 27-नवम्बर-2017
 
 
     7 दिसम्‍बर को सशस्त्र झण्डा दिवस मनाया जाएगा। भारतीय सशस्त्र सेनाओं के ऐसे जवान जो देश की रक्षा, राज्य की सुरक्षा, आंतरिक सुरक्षा के दौरान एवं प्राकृतिक आपदाओं में कर्त्तव्यपालन करते समय वीरगति को प्राप्त हो जाते हैं, उनका स्मरण करने, सम्मान देने तथा देश की जनता का अपने सैनिकों के प्रति एकजुटता प्रकट करने के लिए देश में प्रतिवर्ष 7 दिसम्‍बर का दिन सशस्त्र झण्डा दिवस के रूप में मनाया जाता है। उक्त दिवस को देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए जवानों का पुण्य स्मरण करते हुए शहीद जवानों के परिवारों के कल्याण के लिए ध्वज बेचकर धनराशि एकत्रित की जाती है।

 

सांची स्तूप परिसर में प्रवेश निःशुल्क 
रायसेन | 25-नवम्बर-2017
 
 
 
    सांची में दो दिवसीय महाबोधी महोत्सव 25 तथा 26 नवम्बर को आयोजित किया जा रहा है। दो दिवसीय सांची महाबोधी महोत्सव के अवसर पर 25 नवम्बर तथा 26 नवम्बर को सांची स्तूप परिसर में प्रवेश निःशुल्क रहेगा।

शारीरिक दक्षता परीक्षा 10 दिसम्बर से 6 केन्द्रों पर

 

 
भोपाल | 17-नवम्बर-2017
 
 सहायक उप निरीक्षक (कम्प्यूटर), प्रधान आरक्षक (कम्प्यूटर) एवं आरक्षक संवर्ग भर्ती परीक्षा-2017 का परीक्षा परिणाम प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा 15 नवम्बर 2017 को घोषित कर दिया गया है। परीक्षा परिणाम पीईबी की साईट पर देखा जा सकता है। 
   इस परीक्षा का द्वितीय चरण शारीरिक दक्षता परीक्षा 10 दिसम्बर से 22 दिसम्बर तक प्रदेश के 6 स्थानों भोपाल, इंदौर, जबलपुर, उज्जैन, सागर व ग्वालियर में आयोजित होगी। सफल उम्मीदवार अपना परीक्षा परिणाम पीईबी की साईट पर डाउनलोड कर सकते हैं एवं उन्हें किस जगह पर द्वितीय परीक्षा हेतु उपस्थित होना है, देख सकते हैं।


रात्रि 10 बजे से प्रातः 6 बजे तक ध्वनिकारक पटाखें न चलायें 

भोपाल | 13-अक्तूबर-2017
 
 
 
 
   
    पर्यावरण एवं वन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा पटाखों के लिए निर्धारित शोर मानक एवं माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा रिट-पिटीशन (सिविल) क्रमांक 1998 के निर्देशानुसार रात्रि 10.00 बजे से प्रातः 6.00 बजे तक ध्वनिकारक पटाखों का चलाया जाना वर्जित किया गया है। दीपावली पर्व के दौरान पटाखों से होने वाले ध्वनि नियंत्रण के संबंध में ये निर्देश पुलिस अधीक्षक सहित जिले के सभी अनुविभागीय दंडाधिकारियों को दिये गये हैं।
अपात्र लोगों की पात्रतापर्ची निरस्त कर गरीब परिवारों को खाद्यान्न उपलब्ध कराएं - संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव 
भोपाल | 29-सितम्बर-2017
 
 
 
 
   सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत उचित मूल्य की दुकानों से जो परिवार खाद्यान्न प्राप्त कर रहे हैं उनका भौतिक सत्यापन किया जाये तथा केवल पात्र पाए गए परिवारों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाये। यह निर्देश संभागायुक्त श्री अजातशत्रु श्रीवास्तव ने आज कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित भोपाल संभाग के जिला आपूर्ति अधिकारियों की बैठक में  दिए। उन्होंने बैठक में कहा कि जांच प्रक्रिया में जो परिवार या परिवार के सदस्य फर्जी पाये जाएं उनके नाम काटकर अन्य जरूरतमंद पात्र परिवारों को पात्रतापर्ची जारी की जायें ताकि वे उचित मूल्य की दुकानों से रियायती दर पर खाद्यान्न प्राप्त कर सकें। बैठक में संयुक्त आयुक्त श्री एम.एल.त्यागी, जिला आपूर्ति नियंत्रक श्रीमती ज्योति शाह नरवरिया सहित संभाग के सभी जिलों के आपूर्ति अधिकारी भी मौजूद थे। 
    संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव ने बैठक में कहा कि परिवारों व उनके सदस्यों के आधार नंबर व समग्र आईडी के आधार पर ऐसे परिवार व व्यक्ति चिन्हित किए जायें जो गलत तरीके से खाद्यान्न प्राप्त कर रहे हैं ऐसे लोगों के नाम तत्काल काटे जायें। इस कार्य में स्थानीय निकाय या संबंधित ग्राम पंचायत से भी भौतिक सत्यापन कराया जा सकता है, कि संबंधित व्यक्ति व उसके परिवार के सदस्य गांव में रह रहे हैं अथवा नहीं।  भावांतर भुगतान योजना की प्रगति की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक किसानों को इस योजना की जानकारी दें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना में अपना पंजीयन कराकर लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि किसानों तक संदेश भेजने के लिए पटवारी, कोटवार, पंचायत सचिव व आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के वाट्सएप ग्रुप में संदेश भेजे जायें। कृषि विभाग से भी किसानों के मोबाइल नंबर लेकर सीधे किसानों को भी भावांतर भुगतान योजना की जानकारी भेजी जाये। 
   संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव ने बैठक में उज्ज्वला योजना की समीक्षा भी की। उन्होंने सभी जिला आपूर्ति अधिकारियों से कहा कि सामाजिक, आर्थिक सर्वेक्षण सूची अनुसार जो परिवार पात्रता के बावजूद गैस कनेक्शन अभी तक प्राप्त नहीं कर पाए हैं उन्हें कनेक्शन दिलाए जायें तथा जिन्होंने कनेक्शन प्राप्त कर लिए हैं उन्हें नियमित रूप से गैस सिलेण्डर प्राप्त हो रहे हैं अथवा नहीं। गैस एजेंसी संचालकों को निर्देश दिए जायें कि संबंधित कनेक्शन धारक को उसके निवास तक सिलेण्डर उपलब्ध कराये जायें। 
 

 
 
 
 
 

 
 

 

 

 

 

  • Address: Harihar Bhavan Nowgong Dist. Chatarpur Madhya Pradesh  , Mo : 98931-96874 , Email :  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. Web : www.ganeshshankarsamacharsewa.in