हरदा समाचार

 

पात्रता पर्चियों का वितरण 
हरदा | 12-जनवरी-2018
 
  खाद्य सुरक्षा अधिनियम अंतर्गत पात्रता पर्चियों का वितरण एवं उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम 13 जनवरी को टिमरनी के जनपद पंचायत सभाकक्ष में पूर्वाहन 11:30 बजे से आयोजित किया गया है। इसी प्रकार 14 जनवरी को दोपहर 1:00 बजे से खिरकिया के जनपद पंचायत सभागृह में यह कार्यक्रम आयोजित होगा।

 

 

गणतंत्र दिवस गरिमामय ढंग से मनाया जाएगा 
हरदा | 08-जनवरी-2018
 
 
 
 
   
 
 
   कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी की अध्यक्षता में गणतंत्र दिवस समारोह पूरे गरिमामय ढंग से मनाये जाने के लिये आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में बैठक आहूत की गई। बैठक में एसपी श्री राजेशकुमार सिंह भी मौजूद थे। बैठक में बताया गया कि 26 जनवरी को स्थानीय नेहरू स्टेडियम में मुख्य समारोह होगा। यहाँ ध्वजारोहण प्रातः 9 बजे शासन द्वारा निर्धारित मुख्य अतिथि द्वारा किया जायेगा। इस दौरान नगर की सभी शैक्षणिक संस्थाओं के छात्र-छात्राओं की प्रभात फेरी निकाली जायेगी। उन्होने सभी जिला प्रमुखों को झंडा संहिता का पूर्ण रूप से पालन करने हेतु निर्देशित किया। प्लास्टिक के झंडों का उपयोग कतई न किया जाय। बैठक में बताया गया कि जिला स्तरीय ध्वजारोहण कार्यक्रम पूरी गरिमा के साथ आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर साफ-सफाई एवं परेड हेतु मैदान की तैयारी तथा बेरीकेटिंग की व्यवस्था वन, लोक निर्माण विभाग एवं नगर पालिका द्वारा की जाएगी। कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों, मीसाबंदियों तथा शहीदों के परिवार जनों को विशेष रूप से आमंत्रित कर उन्हें सम्मानित किया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का चयन निर्धारित दल द्वारा किया जायेगा। अंतिम रिर्हसल 23 जनवरी को की जाएगी। सांस्कृतिक कार्यक्रम राष्ट्रीयता से ओतप्रोत, संक्षिप्त एवं रोचक होना चाहिये। बैठक में मैदान समतलीकरण, बैठक व्यवस्था, मंच व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था, परेड कार्यक्रम रिर्हसल, पी.टी. एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, प्रजातंत्र के प्रहरियों हेतु व्यवस्था, जनरेटर की व्यवस्था आदि के संबंध में संबंधितों को निर्देशित किया गया। कलेक्टर श्री द्विवेदी द्वारा सभी ऐसे स्थानों पर झंडा संहिता का पालन करने के निर्देश दिये गये है, जहां इस अवसर पर ध्वजारोहण होगा। जब भी झंडा फहराया जाये उसे सम्मानपूर्ण स्थान मिले, ऐसी जगह पर लगाये जहां वह स्पष्ट रूप से दिखाई दें। ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रीय ध्वज को सूर्य अस्त से पहले विधि अनुसार उतारा जाये। फहराते समय झंडा गंदा या फटा नहीं होना चाहिये। जिस स्थान पर ध्वजारोहण हो रहा है उस जगह झंडे से ऊँचा या बराबर अन्य पताका नहीं लगना चाहिये इसके अलावा झंडे राष्ट्रीय चिन्ह के अलावा कुछ लिखा या छपा नहीं होना चाहिये। जिले में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय सेवकों को इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया जाएगा। संबंधित विभागों के जिला प्रमुखों से अनुशंसा के साथ पुरस्कार हेतु प्रस्ताव 20 जनवरी तक अपर कलेक्टर कार्यालय को भेजने के निर्देश दिये गये है। प्रस्ताव में सम्मान हेतु संबंधित शासकीय सेवक के उत्कृष्ट कार्य पर टिप्पणी भी देनी होगी। श्री द्विवेदी द्वारा विभागों को अपने विभागीय योजनाओं से संबंधित झांकी तैयार करने के निर्देश दिये गये उन्होने कहा कि झांकियों के वाहन पूर्ण रूप से कवर्ड एवं व्यवस्थित होना चाहिये। उन्होने 23 जनवरी तक झांकियाँ तैयार करने हेतु निर्देश दिये। 

 

 

महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में दिये निर्देश 

हरदा | 04-जनवरी-2018
 
 
 
 
  
   कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी ने कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग के संचालित कार्यो की समीक्षा की। श्री द्विवेदी द्वारा आंगनवाडी भवनों के निर्माण की जानकारी लेते हुए निर्देशित किया गया कि जो निर्माण कार्य पूर्णता की ओर है एवं छत तक पूर्ण हो चुके है ऐसे 45 निर्माण कार्य एक माह में हेण्डओवर हो जाए। इस हेतु उन्होने सीपीडीओ को सीओ जनपद पंचायत के साथ मिलकर कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया। स्वास्थ्य विभाग के कार्यो की समीक्षा के दौरान श्री द्विवेदी ने जिला अस्पताल की जांच हेतु सौंपे गये द्वायित्वों पर विभिन्न अधिकारियों से ली। पीडब्ल्युडी के ईई श्री केएन प्रजापति ने बताया कि विभाग द्वारा अस्पताल में सीवर लाईन का कार्य जारी है किन्तु उसकी राशि 15 लाख अभी तक प्राप्त नहीं हुई है। श्री द्विवेदी ने सीविल सर्जन श्री एसके सेंगर को मांग की राशि की 50 प्रतिशत का भुगतान रोगी कल्याण समिति से करने के निर्देश दिये। पीडब्ल्यूडी ईई ने बताया कि पुताई हेतु 5 लाख 40 हजार का स्टीमेट तैयार कर भेजा गया है। इस पर श्री द्विवेदी द्वारा सात दिवस के अन्दर स्वीकृती जारी कर पुताई कार्य चालू कराने के निर्देश दिये गये। इसी प्रकार खिड़की, दरवाजे एवं अस्पताल की क्षतिग्रस्त सेनेटरी के कार्य लिये भी इस्टीमेट लेकर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिये। श्री द्विवेदी द्वारा एनआरसीएस के कार्यो की समीक्षा के दौरान कहा गया कि जब टिमरनी और रहटगाँव में कुपोषण के दस-दस बच्चे निकल सकते है तो हरदा में 10 बच्चे क्यों नहीं आ पा रहे है। उन्होने सीडीपीओ से कहा कि आपकी पुरानी परफारमेन्स मत बताओ, आप टारगेट पुरा क्यों नही कर पा रहे है। उन्होने कहा कि ये अंतिम चेतावनी है अगर आपके क्षेत्र से दस से कम बच्चे आये तो मैं आपका वेतन काटूंगा। जल संसाधन विभाग के अधिकारी ने बताया कि जिला अस्पताल में चार बोरवेल और एक नगर पालिका का कनेक्शन है। जिससे अस्पताल में मार्च से जून तक पानी का समस्या होती है। पीने के पानी की टंकी नियमित रूप से सफाई होती है। किन्तु दुसरी टंकीयों में गंदगी पाई गई इस पर श्री द्विवेदी द्वारा सिविल सर्जन से सफाई न होने का कारण पुछते हुए कहा कि आप पानी टंकीयो की सफाई क्यों नहीं करा रहे हो। अस्पताल कोई बहुत बड़ी संस्था तो है नहीं आपने टंकी की सफाई हेतु ठेका दिया क्या ? नगर पालिका से सम्पर्क कर पानी की टंकी नियमित रूप से साफ कराये। सात दिवस के अन्दर नल की टोटीयां आदि सही करवाये। अनुविभागीय अधिकारी श्री जेपी सैयाम ने बताया कि अधिकांश स्टाफ ड्यूटी पर उपस्थित नहीं था। उन्होने बताया कि डॉ. दीपशीखा पाराशर के नाम के सामने रजिस्टर में न तो कुछ भी लिखा नहीं था। इस पर सिविल सर्जन ने बताया कि उन्होने नौकरी छोड़ दी। श्री द्विवेदी ने कहा कि जेडी जब पिछले महिने आए थे तो आपने मामला संज्ञान में क्यों नहीं लाए। डॉ. दीपशीखा पाराशर के संबंध में स्वीकृति लेकर विभागीय जांच प्रारम्भ करें। कलेक्टर ने कहा कि अब से मेरे बिना अनुमति के कोई भी डॉ.क्टर छुट्टी पर न जाए। उन्होने इस दौरान डॉ. मनीष शर्मा की छुट्टी निरस्त करने के निर्देश के साथ सूचित करने को कहा। श्री सैयाम ने बताया कि सीसीटीवी केमरे द्वारा सही मानीटरिंग नहीं हो रही है। इस पर श्री द्विवेदी ने निर्देश दिये कि अस्पताल के बड़े बाबू श्री एमसी कानवा ये देखेंगे कि कौन डॉ.क्टर बैठा है, कौन नहीं। अनुपस्थिति रजिस्टर मेनटेन्ट करेंगे और सीएस को रिपोर्ट करेंगे। सीएस संबंधित का आधे दिन का वेतन काटेंगे। श्री सैयाम द्वारा दी नर्सो की गैरमौजूदगी की रिपोर्ट पर श्री द्विवेदी द्वारा सिविल सर्जन श्री सेंगर को नर्सो तथा स्टाफ के पाली वार रजिस्टर बनाने और उसमें वार्ड वाईस ड्यूटी दर्शाने हेतु निर्देशित किया। उन्होने इस प्रकरण में अस्पताल की मेटर्न गुरजीत गौर को निलंबित करने हेतु निर्देशित किया। साथ ही किसी दूसरे जिम्मेदार व्यक्ति को मेटर्न नियुक्त करने हेतु निर्देशित किया। उन्होने निर्देशित किया कि आज ही पालीवार रजिस्टर बनाये ड्यूटी चार्ट पर ही अटेण्डेन्स रजिस्टर बनाये। उन्होने दौरे के दौरान अनुपस्थित 9 नर्सो का एक दिन का वेतन काटने हेतु निर्देशित किया। बैठक में श्री द्विवेदी द्वारा दवाई वितरण केन्द्र पर फार्मासिस्ट की ड्यूटी सुनिश्चित करने एवं डॉक्टरों द्वारा केपीटल लेटर में जेनरीक दवाईयां लिखने की भी जानकारी ली।
(1 days ago)

 

मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा अंतर्गत द्वारका तीर्थयात्रा हेतु निर्देश 
हरदा | 30-दिसम्बर-2017
 
  संयुक्त कलेक्टर श्रीमती प्रियंका गोयल ने जिले के समस्त तहसीलदारों को निर्देशित किया है कि मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजनान्तर्गत जिला हरदा को 30 जनवरी 2018 से 04 फरवरी 2018 तक द्वारका हेतु तहसीलवार 12 तीर्थयात्रीयों की तीर्थयात्रा हेतु यात्रा फार्म प्राप्त किये जाने की अंतिम तिथि 18 जनवरी 2018 तथा चयनित सूची मय फार्म भेजने की अंतिम तिथि 19 फरवरी 2018 है। आप अपने तहसीलों के अंतर्गत आने वाले नगर/ग्रामों से तीर्थयात्रियों के फार्म 18 जनवरी 2018 तक एकत्रित कर 19 फरवरी 2018 तक जिला कार्यालय में अनिवार्य रूप से भिजवाना सुनिश्चित करें। आवेदक के आवेदन प्राप्ति के समय निम्नानुसार विषयवस्तु का आवश्यक रूप से परीक्षण किया जावे। आवेदक द्वारा पूर्व में इस योजना का लाभ नही लिया गया है, इस आशय का प्रमाण-पत्र आवेदन पत्र के संलग्न आपके द्वारा प्रत्येक फार्म पर हस्ताक्षर भेजा जावे। आवेदक यदि सहायक को साथ ले जाना चाहता हैं तो मुख्य आवेदक के फार्म के साथ सहायक का फार्म संलग्न किया जावे एवं फार्म पर सहायक लाल स्याही से दर्शाया जावे एवं मुख्य आवेदक के फार्म निर्धारित कॉलम तीर्थयात्रा सूची में इसकी प्रविष्टि की जावे। इस बात का विशेष ध्यान रखा जावे। आवेदक यदि पति/पत्नि हो एवं उनके साथ अनुरक्षक/सहायक ले जाना चाहते हो तो मुख्य आवेदक के मुख्य फार्म के साथ फार्म संलग्न किया जावे एवं फार्म पर (पति/पत्नि) की टीप अंकित की जावे एवं मुख्य आवेदक के निर्धारित कालम में इसकी प्रविष्टि तीर्थयात्रा सूची में आवश्यक रूप से अंकित की जावे। फार्म के निर्धारित कालम की पूर्ति की जावे किसी भी कालम को रिक्त न छोड़ा जावे। फार्म (तीर्थयात्रियों) के पूर्ण जांच उपरान्त यह सुनिश्चित किया जावे कि आवेदक/तीर्थयात्री द्वारा पूर्व में किसी प्रकार की तीर्थयात्रा न कि हो, उसका फार्म/तीर्थयात्रा में सम्मिलित नहीं करें, यदि ऐसे तीर्थयात्री का फार्म आपके स्तर से प्राप्त होने पर सम्पूर्ण जिम्मेदारी आपकी तय की जावेगी। शासन नियमानुसार किसी भी आवेदक/तीर्थयात्री द्वारा जीवनकाल में एक ही यात्रा का लाभ प्राप्त कर सकेगा इसका विशेष ध्यान रखा जावे। आपके तहसीलों से प्राप्त तीर्थयात्रा हेतु फार्म के लिये संबंधित के ग्राम के पटवारी, कोटवारों के माध्यम से मुनादि करावे तीर्थयात्रा फार्म तहसील में प्राप्त होने के उपरान्त फार्म का परीक्षण करें एवं यदि कोई त्रुटि हो तो संबंधित व्यक्ति को बुलाकर समस्त पूर्तियाँ कराकर पूर्ण रूप से फार्म भिजवायें।

 

 

 

जिला स्तरीय उपभोक्ता संरक्षण कार्यक्रम का आयोजन 
हरदा | 27-दिसम्बर-2017
 
  जिला स्तरीय उपभोक्ता संरक्षण कार्यक्रम का आयोजन आज् स्थानीय डॉ.बी.आर.अम्बेडकर शास. उत्कृष्ट विद्यालय के हॉल में किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में जिला उपभोक्ता फोरम के सदस्य श्री डॉ. अकबर अली उपस्थित रहे। कार्यक्रम में जिला आपूर्ति अधिकारी श्री ओ.पी.पाण्डेय, सहायक संचालक शिक्षा विभाग श्री वर्मा, प्राचार्य उत्कृष्ट विद्यालय श्री यादव, जिला प्रबंधक एम.पी.एस.सी.एस.सी. श्री पोरवाल,सहायक आपूर्ति अधिकारी, श्री एस.आर.कोठारे, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री आशीष आजाद, नापतौल निरीक्षक श्री शुक्ला, खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री जे.पी.लौवंशी, गैस एजेंसी तथा पेट्रोल पम्प के प्रतिनिधि एवं उपभोक्तागण उपस्थित रहे। कार्यक्रम के माध्यम से शाला में अध्ययनरत् छात्र/छात्राओं एवं उपस्थित उपभोक्ताओं को उपभोक्ता के अधिकारों से अवगत कराया गया। कार्यक्रम में उपस्थित विशेष अतिथि एवं अधिकारियों द्वारा नापतौल, खाद्य सुरक्षा, शिक्षा, बैंक एवं अन्य सेवाओं के संबंध में जानकारी दी गई। गैस एजेंसी, नापतौल एवं पेट्रोल पम्प द्वारा प्रदर्शिनी लगाकर उपभोक्ताओं गैस कनेक्शन लेने एवं सही नाप का उपयोग करनें हेतु प्रेरित किया गया

 

नगर पालिका अध्यक्ष ने दी स्वच्छता एप की जानकारी 

हरदा | 22-दिसम्बर-2017
 
  नगर पालिका अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र जैन ने आज एडीएम श्री बाबूलाल कोचले की मौजूदगी में जिले के अधिकारी एवं कर्मचारियों की बैठक में कहा कि हरदा जिला पहली बार स्वच्छ भारत अभियान में भाग ले रहा है। पुरे भारत में हम 1 लाख से कम जनसंख्या वाले शहरों में 32 वे स्थान पर एवं एमपी में पहले स्थान पर है। बैठक में प्रेजेन्टेशन के माध्यम से स्वच्छता एप को डाउनलोड करने, शिकायत करने, वोट देने तथा अपना फीडबैक देने की प्रक्रिया के बारे में बताते हुए कहा यदि हम प्रथम दस शहरों में अपना स्थान बना पाते है तो हमें अमृत सीटी का दर्जा मिल जाएगा। जिससे हरदा शहर का विकास तीव्र गति से होगा। उन्होने अधिकारियों एवं कर्मचारियों से स्वचछता एप डाउनलोड कर वोट करने एवं स्वच्छता संबंधी शिकायत करने हेतु अपिल की।
 

 

अधिकारियों में कार्य विभाजन 
हरदा | 20-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी ने अधिकारियों के मध्य कार्य विभाजन आदेश जारी किये है। डिप्टी कलेक्टर श्री विष्णुप्रसाद यादव को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी खिरकिया, म.प्र. लोक एवं न्यास (संशोधन एवं विधि मान्करण) अधिनियम 1994 के अंतर्गत पंजीयक लोक न्यास, लोक परिसर बेदखली अधिनियम के अंतर्गत सक्षम अधिकारी, रेंट कन्ट्रोल एक्ट 1984 के अंतर्गत भाड़ा नियंत्रण अधिकारी, 25 पुलिस एक्ट के अंतर्गत लावारिस एवं लदावी सम्पत्ति का निराकरण, अनुविभाग क्षेत्र के लिये भू-अर्जन अधिकारी, अनुविभाग क्षेत्र में सत्कार अधिकारी का दायित्व, विशेष विवाह अधिनियम 1954 के अंतर्गत क्षेत्रान्तर्गत विवाह पंजीयन, कलेक्टर द्वारा समय-समय पर सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन। श्रीमति प्रियंका गोयल, संयुक्त कलेक्टर, हरदा को पूर्व में सौंपे गये दायित्वों के अतिरिक्त प्रभारी अधिकारी धर्मस्व शाखा, प्रभारी अधिकारी पी.सी. एण्ड पीएनडीटी शाखा, सचिव रेडक्रास, शाखा, प्रभारी अधिकारी रोगी कल्याण समिति, प्रभारी अधिकारी आवक-जावक शाखा जिला कार्यालय, हरदा, प्रभारी अधिकारी वरिष्ठ लिपिक-2, प्रभारी अधिकारी राहत शाखा, प्रभारी अधिकारी अभिलेखाकार/ प्रतिलिपिकार, प्रभारी अधिकारी स्टेशनरी/ विडियों कॉन्फ्रेन्स/ विकास/ तकायी/ आडिट शाखा/ सेटकाम, नोडल अधिकारी विधानसभा, प्रभारी अधिकारी जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग हरदा, प्रभारी परियोजना अधिकारी एकीकृत आदिवासी विकास हरदा, प्रभारी अधिकारी पिछड़ा वर्ग तथा अल्प संख्यक कल्याण हरदा के दायित्व सौंपे हैं। डिप्टी कलेक्टर श्री संजय उपाध्याय के प्रशिक्षण से वापसी पर श्रीमती गोयल अतिरक्त प्रभार से मुक्त होंगी।

 

इंजीनियरिंग छोड़ खेती कर फायदे में रहे अतुल (सफलता की कहानी) 

हरदा | 19-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   
    परम्परागत और उन्नत खेती का फर्क अगर देखना हो तो हरदा जिले के सौताड़ा गाँव में देखा जा सकता है। इस गाँव के युवा किसान अतुल बारंगे ने अपनी आधा एकड़ जमीन में उन्नत खेती के नये प्रयोग से सफलता हासिल की है। अतुल की गाँव में लगभग 30 एकड़ जमीन है। इस जमीन पर परिवार जन कई वर्ष से पारम्परिक खेती करते थे। इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे अतुल का मन तो गांव के खेतों में भटक रहा था जहां खेती पिता संभाल रहे थे। एक दिन पढ़ाई छोड़कर खुद किसान बन गए। जबकि दूसरे किसान खेती में नुकसान का रोना रो रहे थे। उन्होंने उपलब्ध साधनों से उन्नत खेती शुरू की। मध्यप्रदेश सरकार के उद्यानिकी मिशन से सन 2015 में 50 प्रतिशत अनुदान पर 25-25 डिसमिल के दो पॉलीहॉउस बनवाए। एक पालीहाउस पर नौ लाख 35 हजार रूपए का खर्च आया था।  मध्यप्रदेश सरकार की उद्यानिकी मिशन की संरक्षित खेती योजना के माध्यम से 50 प्रतिशत अनुदान प्राप्त हुआ। अतुल कहते है कि प्राप्त अनुदान मेरे लिए बहुत उपयोगी साबित हुआ। मैं निरंतर इटेलियन खीरे की फसल लगा रहा हूं। 25 डिस्मिल में 2500 से 2800 खीरे का बीज लगता है। जिसका मूल्य लगभग 15 हजार रूपए है। इतना ही खाद और स्प्रे का खर्च आता है। खीरा बीज लगाने से 45 दिन बाद मार्केट में बेचने लायक हो जाता है। उत्पादन भी 45 से 50 दिन तक होता है। बीज अपने पूरे समय में कम से कम 800 किलो और अधिकतम 1200 किलो का उत्पादन देता है। बाजार भाव 12 से 30 रुपये तक का मिलता है। कम समय में और कम जमीन में अच्छा उत्पादन और मुनाफा होता है। मेरा अनुभव कहता है कि नौकरी के लिए हर दिन आठ घंटे खपाने से बेहतर उतना समय अपनी खेती को दिया जाए तो सफलता निश्चित ही मिलती है। मैने भी यही सोचा अंत में खेती को अपना धंधा बनाया। आज मैं 30 एकड़ में मिश्रित खेती करता हूँ। जिसमें मैं सब्जी और अन्य फसल लगता हूँ। कोशिश रहती है कि रासायनिक खाद के स्थान पर जैविक खाद का ही प्रयोग किया जाए। आज गाँव में इस परिवार का आलीशान घर है। खेती के सभी आधुनिक साधन हैं। खुद का गोबर गैस प्लांट तथा गौ-वंशीय पशु है। पूरा परिवार सम्पन्न तथा खुशहाल जिन्दगी जी रहा है।

 

समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित 
हरदा | 18-दिसम्बर-2017
 
   सीईओ श्री केडी त्रिपाठी एवं अपर कलेक्टर श्री बाबुलाल कोचले ने आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में समयावधि पत्रों की समीक्षा की। बैठक में सीएम हेल्पलाईन के एल-4 पर लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा करते हुए निराकरण हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। बैठक में 300 दिन से अधिक लंबित प्रकरणों एवं समाधान ऑनलाइन में चिन्हित विषयों की जानकारी ली गई। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री त्रिपाठी द्वारा अधिकारियों को परख विडियों कॉन्फ्रेन्सिंग से संबंधित विषय की जानकारी उपलब्ध कराने हेतु निर्देश दिये गये। कृषि आदान एवं खाद्य विभाग उपार्जन की बैठक में श्री कोचले द्वारा भावान्तर भुगतान योजनांतर्गत मण्डी में खरीदी एवं आवक की जानकारी ली गई। श्री कोचले द्वारा बैठक में जिले में युरिया की उपलब्धता एवं भविष्य में आने वाली मांग की भी जानकारी ली गई। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री के.डी. त्रिपाठी, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती प्रियंका गोयल एवं जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।
 

 

महिला उद्यमियों ने लिया प्रशिक्षण 
हरदा | 14-दिसम्बर-2017
 
 
   सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा चार सप्ताह का निःशुल्क प्रशिक्षण एम.पी.कॉन के माध्यम से 30 अक्टूबर से 28 नवम्बर तक ब्रेन पॉवर ट्रेनिंग सेंटर, गुलजार भवन के पास हरदा में आयोजित किया गया। कार्यक्रम का समापन 13 दिसंबर को आईटीआई, हरदा में किया गया। 26 महिलाओं ने विभिन्न इकाइयों जैसे - कोचिंग क्लासेस, ब्यूटी पार्लर, फ्लोर मिल, मसाला उद्योग, बुटिक, रेडीमेड गारमेंट्स, डिटरजेंट पॉवडर, केचप निर्माण, दलिया और बेसन यूनिट और डेयरी प्रोडॅक्ट लगाने का निश्चय अतिथियों के समक्ष रखा। युवतियों ने बताया कि अपनी इकाई आरम्भ कर अपने लिए गौरवपूर्ण आजीविका के साथ हम औरों के लिए भी रोजगार सृजन कर पाएंगे। कार्यक्रम में श्री अशोक श्रीवास्तव, महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र,  श्री ए.आर.जी. राव, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक, एस.बी.आई एवं शुभम मिश्रा, ट्रेनिंग, ऑफिसर, आई.टी.आई. ने प्रमाण पत्र वितरण किया और महिलाओं को इकाई लगाने में पूरी सहायता दिये जाने की बात कही।

 

कुपोषण कोई बीमारी नहीं (सफलता की कहानी) 
लगता है कि किसी प्ले स्कूल में आ गए 
हरदा | 13-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   
   पिछले 29 जून की दोपहर का वाकया है खिरकिया के पोषण पुनर्वास केंद्र में सोमगांव के रितेश को लाया गया है। 36 माह के लगभग 8 किलो 900 ग्राम के रितेश का बदन रूपी हड्डियों के ढांचे में सांस थी, हलचल नहीं। केद्र के स्टॉफ ने इस कुपोषण के चुनौतीपूर्ण मामले में जो मिसाल रखी वो प्रशंसनीय है। जब 12 जुलाई को रितेश की छुट्टी की गई तब तक उसका वजन 10 किलो 560 ग्राम हो चुका था। हड्डियों के ढांचे में मांस की परते चढ़ चुकी थी।   
   पोषण पुनर्वास केंद्र की डायटीशियन मोनिका बारस्कर का कहना है कि आज जब फालोअप के दौरान रितेश को हँसता खेलता स्वास्थ देखते हैं तो मिलने वाला जॉब सेटिस्फेक्शन की कहीं तुलना ही नहीं की जा सकती। उन्होने बताया कि कुपोषण कोई बीमारी नहीं हैं बल्कि बच्चे को पर्याप्त भोजन न मिलने की वजह से बीमारियों को बुलावा देना हैं। अमूमन देखने में आता है कि ऐसे बच्चो की माताओं कों इतनी जानकारी नहीं होती कि वह अपने बच्चे को खाने में क्या दें। इसलिए जानकारी के अभाव में, वह बच्चों को उनकी पसंद का आहार देते रहती हैं। स्वादानुसार तो ऐसे आहार अच्छे होते हैं, लेकिन सेहत की दृष्टि से ये आहार लाभदायक नहीं होते। संतुलित भोजन बनाकर बच्चों को उपलब्ध कराना कोई रॉकेट साइंस नहीं है। रोजाना इस्तेमाल होने वाले खाद्य पदार्थों से की बच्चे को पोषक तत्व मिल ही जाते हैं। संतुलित भोजन वह है जिससे शरीर को सुचारू रूप से चलने के लिए संपूर्ण पोषण मिल सके। संतुलित भोजन के लिए हर रोज शरीर की जरूरत के हिसाब से कैलोरी, विटामिन, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट लेना जरूरी होता है। पोषक तत्वों के अभाव में व्यक्ति का शरीर कमजोर होने लगता है और अलग-अलग बीमारियों से घिर जाता है। पोषण पुनर्वास केंद्र में 5 वर्ष से कम व गंभीर रूप से कुपोषित बच्चो जिनमें चिकित्सकीय जटिलताएं हो उन्हें चिकित्सकिय व पोषण सुविधाएं प्रदान किया जाता है। इसके अलावा बच्चों के माताओं या अन्य देखभालकर्ताओ को बच्चो के समग्र विकास हेतु आवश्यक देखभाल तथा खानपान सम्बंधित कौशल का प्रशिक्षण दिया जाता है। रितेश की माता को मजदूरी पर नहीं जाने के कारण 120 रू. प्रतिदिन का भुगतान के अलावा 100 रू. यात्रा के दिए गए। खिरकिया के एनआरसी सेंटर को देखें तो आपको लगेगा कि किसी प्ले स्कूल में आ गए हों। दीवारों पर जंगली जानवरों का चित्रण। साफ-सुथरे बेड, बच्चे खिलौना गाड़ियों में घूमते हुए। यह खूबसूरत सा एनआरसी सेंटर पिछले नौ सालों से बच्चों के सुपोषण के लिए कार्य कर रहा है। यहाँ एक बार में 20 बच्चों के पोषण की व्यवस्था है। वातावरण हाइजनिक है। यहाँ माँ और बच्चों के रहने-खाने की व्यवस्था है। बच्चे यहाँ सहज महसूस कर सकें, इसके लिए पूरी दीवारों में रंगीन चित्र हैं। चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके विश्वकर्मा ने बताया कि एनआरसी सेंटर में बच्चों को घर से भी बढ़कर डिजनीलैंड जैसा एहसास हो सके, इसके लिए कलाकारों को बुलाकर चित्र बनवाए। यह अच्छा प्रयोग हुआ और बच्चे यहाँ बहुत सहज महसूस करते हैं। एनआरसी का रिकवरी रेट प्रतिशत 85 है और यहाँ 14 दिन बच्चों को रखा जाता है। इसके बाद लगातार फालोअप के चार सेशन होते हैं जिसमें यह देखा जाता है कि बच्चे पोषण युक्त आहार ले रहे हैं या नहीं। एनआरसी सेंटर में अब तक 2 हजार 672  बच्चों को रखा गया है। शुक्रवार को जटपुरामाल  से रेखा अपनी छोटी सी बेटी माया को लेकर आई थी। रेखा ने बताया कि माया तीन माह की हो गई है, इसकी जाँच करने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता  ने बताया कि माया कुपोषित है। इसे पोषण पुनर्वास केंद्र में रखोगी तो यह पूरी तौर पर पोषित हो जाएगी तो हम लोग इसे लेकर यहाँ आए हैं। रूनझुन से अपने बेटे धर्मवीर को लेकर पहुँची रामप्यारी ने बताया कि बेटे की कमजोरी को देखते हुए यहाँ लेकर आई, अब यह अच्छा हो रहा है। इसी तरह मोरगढी से आई आशा ने अपनी बेटे गोलू के बारे में बताते हुए कहा कि पहले यह खाना नहीं खाता थी, यहाँ डाक्टर साहब ने हमें कुछ उपाय बताए, इसके बाद खाना खा रहा है और हमें बहुत अच्छा महसूस हो रहा है। एनआरसी सेंटर में एक एमडी, एक फीडिंग डिमांसट्रेटर,एक सिस्टर, तीन वार्ड अटेंडेंट तथा दो कूक का स्टाफ काम कर रहा है।

 

लालिमा रथ का स्वागत 

हरदा | 12-दिसम्बर-2017
 
 
   आज लालिमा रथ बैतूल क्षेत्र का भ्रमण करते हुए हरदा जिला के टिमरनी विकासखण्ड के टेमागांव में पहुंचा। लालिमा रथ का स्वागत प्रभारी परियोजना टिमरनी सेक्टर परिवेक्षक एवं कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत किया गया। लालिमा रथ में एनिमिया के कारण लक्षण एवं दुष्परिणामों से अवगत कराते हुए एनिमिया से बचाव, हेतु स्थानीय स्तर पर उपलब्ध आयरन युक्त खाद्य पदार्थ तथा आयरन के अवशोषण हेतु आवश्‍यक खाद्य पदार्थो के संबंधित जानकारी समुदाय को दी जावेगी। यह जानकारी कार्यक्रम अधिकारी श्री ललित डेहरिया ने दी।

 

ब्यूटी पार्लर से बनी पहचान (सफलता की कहानी) 
हरदा | 08-दिसम्बर-2017
 
 
    हरदा जिले के ग्राम चारूआ निवासी श्रीमति किरण सोनी सामान्य गृहणी महिलाओं की तरह जीवन यापन करती थी। घर के सारे काम एवं परिवार की देखभाल करना ही उसकी दिनचर्या का हिसा था। श्रीमति किरण पढ़ी-लिखी होने के कारण हमेशा जीवन में कुछ अलग करने की सोच रखती थी। इसी सोच को पंख लगाने के लिए उन्होंने अपने स्तर से ही ब्यूटी पार्लर का प्रशिक्षण प्राप्त कर ब्यूटी पार्लर का कार्य प्रारंभ किया लेकिन ब्यूटी पार्लर में उपयोग होने वाली सामग्री के आभाव में सोच के मुताबिक पार्लर नही चल रहा था, न ही आय प्राप्त हो रही थी, जिससे श्रीमति किरण को काफी निराशा होने लगी। ब्यूटी पार्लर को व्यवस्थित संचालन के उद्देश्य से म.प्र. राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के सहयोग से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना अंतर्गत उन्होने 70 हजार रूपये की कार्ययोजना बनाकर आवेदन किया। आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करने के पश्चात म.प्र. राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा खिरकिया के सहयोग से  प्रकरण स्वीकृत हुआ, जिसमें उसे 21 हजार रूपये योजना के नियमानुसार अनुदान राशि प्राप्त हुई। बैंक से प्राप्त राशि का उपयोग ब्यूटी पार्लर संचालन हेतु किया गया। वर्तमान में ब्यूटी पार्लर अच्छा चल रहा है एवं 8000 से 9000 रूपये तक प्रतिमाह आमदानी होने लगी है। श्रीमति किरण अपनी आमदानी में से अपनी बैंक ऋण की किस्त भी समय पर चुका रही है। शासन की योजना का लाभ लेकर खुश है एवं अपने जीवन स्तर में आ रहे सकारात्मक बदलाव से उत्साहित है। उनका कहना है कि हर महिला को जीवन में कुछ न कुछ नये कार्य करने के लिए योजना बनानी चाहियें तथा उसको पूरा करने के लिए प्रयासरत रहना चाहियें सफलता अवश्य मिलती है।

 

जनसुनवाई 

 
हरदा | 05-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   
    कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी, जिला जनपद पंचायत सीईओ श्री के.डी. त्रिपाठी ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिले के विभिन्न अंचलों से आए आवेदकों की समस्याओं को सुना। सुनवाई में समस्याओं के निराकरण के निर्देश उपस्थित जिला अधिकारियों को दिये। जनसुनवाई में 82 आवेदन प्राप्त हुए। प्राप्त आवेदन निराकरण हेतु संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिये गये। श्री द्विवेदी द्वारा सभी विभाग प्रमुखों से लोक ग्यारन्टी के अंतर्गत संचालित सेवाओं के ऑफ लाईन प्राप्त आवेदनों की जानकारी प्राप्त की गई।

मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना 

हरदा | 01-दिसम्बर-2017
 
संयुक्त कलेक्टर जिला हरदा से प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजनांतर्गत ‘‘रामेश्वरम् यात्रा’’ 02 दिसम्बर 2017 से 07 दिसम्बर 2017 तक के लिये जिला हरदा से प्रस्थान करेगी। इस हेतु तीर्थयात्री समस्त आवश्यक व्यवस्था के साथ 02 दिसम्बर 2017 को दोपहर 02:00 बजे रेल्वे स्टेशन, हरदा पर उपस्थित होने को कहा गया है।
 

विश्व विकलांग दिवस आयोजन हेतु निर्देश 

हरदा | 29-नवम्बर-2017
 
   कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी की अध्यक्षता में आगामी तीन दिसंबर को विश्व विकलांग दिवस मनाए जाने की तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के संबंध में कलेक्टोरेट में बैठक संपन्न हुई। संयुक्त कलेक्टर एवं उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निःशक्त जन कल्याण श्रीमती प्रियंका गोयल नें बताया कि 3 दिसम्बर 2017 को नेहरू स्टेडियम हरदा प्रातः 11 बजे आयोजित होने वाले विश्व विकलांग दिवस के आयोजन हेतु विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। तदनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी/सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधिक्षक स्थल पर दिव्यांगजनों का स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन कर दिव्यांगजनों के निःशक्तता प्रमाण पत्र जारी करेंगे। जिला शिक्षा अधिकारी/जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान हरदा स्कूलों में अध्ययनरत दिव्यांग छात्र/छात्राओं के शिविर स्थल पर लाने एवं ले जाने की व्यवस्था करेंगे। जिला खेल एवं युवा कल्याण विभाग दिव्यांगजनों हेतु खेलकूद प्रतियोगिता, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं सामर्थ्य प्रदर्शन प्रतियोगिताओं का आयोजन करेंगे। मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत हरदा/टिमरनी/खिरकिया ग्रामीण क्षेत्रों के दिव्यांग जनों को कार्यक्रम स्थल पर लाने एवं ले जाने की व्यवस्था एवं प्रचार प्रसार करेंगे। मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका परिषद हरदा शिविर स्थल की साफ-सफाई व्यवस्था, स्वच्छ पीने के पानी व्यवस्था, चलित शौचालय की व्यवस्था एवं शहरी क्षेत्रों के दिव्यांग को शिविर स्थल पर उपस्थित होने हेतु प्रचार प्रसार व्यवस्था करेंगे। मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर पालिका परिषद टिमरनी/खिरकिया शहरी क्षेत्रों के दिव्यांग जनों को कार्यक्रम स्थल पर लाने एवं ले जाने की व्यवस्था एवं प्रचार-प्रसार करेंगे। सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग हरदा कार्यक्रम की मॉनिटरिंग कार्य, कार्यक्रम के आमंत्रण पत्र का वितरण, दिव्यांगजनों के बेठने हेतु छाव हेतु टेन्ट व्यवस्था, बैठक व्यवस्था, भोजन व्यवस्था, कार्यक्रम में दिव्यांगजनों को प्रोत्साहित करने की दृष्टि से प्रथम, द्वितीय, पुरस्कार एवं प्रमाणपत्र वितरण की व्यवस्था करेंगे। कार्यक्रम में जिले में संचालित एनजीओ पहल सामाजिक विकास संस्था टिमरनी, ओरीओला प्रकाश पूंज समिति हरदा, प्रयास संस्था हरदा, नया सेवरा पेरेन्ट सोसायटी, हस्तशिल्प कला समिति, सीडब्ल्यू एसएन छात्रावास, ग्रामीण विकास एवं प्रबन्ध संस्था, भाटिया पब्लिक स्कूल हरदा चयनित स्थान पर हितग्राहियों को लाना ले जाना एवं वृहत् स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाना एवं निःशक्त जनों के नाम एवं प्रतियोगिता की जानकारी 01 दिसम्बर 2017 को सामाजिक न्याय विभाग हरदा को उपलब्ध करायेंगे। कार्यक्रम में नारायण सेवा संस्थान, उदयपुर हरदा द्वारा तैयार कृत्रिम अंगों उपकरणों का वितरण किया जावेगा।

समयावधि पत्रों की समीक्षा में दिये निर्देश 

हरदा | 27-नवम्बर-2017
 
 
   कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी ने आज समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में पिछले दिनों विभिन्न समाचार पत्रों में छपी खबरों के बारे में विभागों से प्राप्त प्रतिवेदनों पर असंतोष जाहिर करते हुए अधिकारियों से दोबारा जवाब तलब किया। इस दौरान अनुपयोगी ओवरहेड टेंक, शासकीय भवन पर दबंगों के कब्जे, जर्जर पानी टंकी के आसपास पट्टे वितरीत करने, टायलेट एवं सुलभ शौचालय को चैबीस घण्टे चालू रखने, अवैध ट्यूबवेल खनन, खराब सड़क निर्माण, रात्रि में हो रहे खनन आदि के बारे में की गई ढीली ढाली कार्यवाही एवं खानापूर्ति के लिए भेजे प्रतिवेदनो पर नाराजगी जाहिर की। इस दौरान श्री द्विवेदी ने सीएमएचओ से चिकित्सकों के केपीटल लेटर में मेडिसीन लिखने पर प्रतिवेदन और निजी हॉस्पीटलों की निरीक्षण की भी जानकारी ली। कलेक्टर बोले कि समय सीमा की बैठक में आपसी विभागीय समन्वय के बारे में बताते नहीं और जब विभागीय कार्यो की समीक्षा की जाती है तो किसी अन्य विभाग की वजह से कार्य में देरी होना बताया जाता है। यह ठीक नहीं। श्री द्विवेदी द्वारा होस्टल निरीक्षण हेतु नियुक्त अधिकारीयों को निर्देशित किया गया वे निरीक्षण में मुख्य रूप से देखे कि बाहर से कोई खाना न आए। छात्रों की बीमार होने पर अधीक्षक के साथ-साथ प्रभारी भी जवाबदेह होगें। वन विभाग एवं उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों को समीक्षा बैठक में उपस्थित न होने पर पर लिखने हेतु निर्देशित किया। जनसुनवाई में जिन विभागों में एल-2 व एल-3 पर कलेक्टर है वह लंबित शिकायतों का प्रिंटआउट एवं अपना प्रतिवेदन जनसुनवाई में 28 नवम्बर को अपने साथ लावे। श्री द्विवेदी द्वारा जिला खनिज अधिकारी को निर्देशित किया गया कि सुरजना रोड पर खनिज के डम्पर चल रहे है जिसके कारण मार्ग निर्माण में असुविधा हो रही है खनिज विभाग एवं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क संयुक्त दल बनाकर निरीक्षण करें। खनिज वहनकर्ताओं को सूचित किया जावे कि कोई भी वाहन 8 टन की निर्धारित क्षमता से अधिक न भरा जावे। अन्यथा उस पर नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी। श्री द्विवेदी ने जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं जिला शिक्षा को अधिकारी को निर्देशित किया कि छोटे मोटे मरम्मत के कार्य पंचायत एवं शाला प्रबन्धन समिति के माध्यम से किया जावे। जिला विपणन अधिकारी एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक होशंगाबाद को बुधवार 29 नवम्बर को आवश्यक चर्चा हेतु उपलब्ध रहने के निर्देश दिये। श्री द्विवेदी द्वारा जिले के समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे लोक सेवा गारन्टी के अंतर्गत उपलब्ध सेवाओं की जानकारी प्रत्येक माह के प्रथम सप्ताह की टीएल बैठक में देवे कि कुल कितने आवेदन प्राप्त हुए है ? ऑफ लाईन आवेदन कितने प्राप्त हुए है तथा ऑनलाईन आवेदन कितने प्राप्त हुए है ? तथा ऑफ लाईन आवेदनों को पोर्टल पर अपलोड किया गया है? या नहीं। श्री द्विवेदी द्वारा यथा सम्भव ऑफ लाईन आवेदन न लेने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होने सीएम हेल्पलाईन में एल-4 पर लंबित आवेदनों एवं 300 से अधिक दिन से लंबित शिकायतों की विभागवार समीक्षा की। बैठक में श्री द्विवेदी द्वारा समाधान ऑनलाईन में प्राप्त शिकायतों एवं समयावधि पत्रों के निराकरण की भी समीक्षा की।बैठक के दौरान श्री द्विवेदी द्वारा विधानसभा प्रश्नों का उत्तर तत्काल प्रेषित करने हेतु निर्देशित किया गया। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री के.डी. त्रिपाठी, अपर कलेक्टर श्री बाबूलाल कोचले एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन का आयोजन 

हरदा | 24-नवम्बर-2017
 
 
 
   शुक्रवार को शासकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय मे जिलास्तरीय “मुख्यमंत्री स्व-रोजगार एवं कौशल सम्मेलन” का आयोजन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, पॉलिटेक्निक महाविद्यालय एवं जिला पंचायत के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया गया। सम्मेलन में विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा स्टाल एवं प्रदर्शनी लगाकर विभागीय योजनाओं का प्रचार प्रसार किया गया। सम्मेलन में मुख्य रूप से विधायक श्री आर.के. दोगने, उपाध्यक्ष जिला पंचायत श्री मनीष निशोद, उद्योग संघ एवं आईएमसी के अध्यक्ष श्री अशोक जैन, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री के.डी. त्रिपाठी, डिप्टी कलेक्टर श्री विष्णु प्रसाद यादव, महाप्रबन्धक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र श्री अशोक श्रीवास्तव, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य श्री के.एल. जाटव, रोजगार अधिकारी श्री लक्ष्मणसिंह सिलौटे, पॉलिटेक्निक महाविद्यालय के प्राचार्य श्री वी.के. तिवारी, लीड बैंक के श्री चैहान, सेडमेप भोपाल के श्री दिनेश गावडे एवं विभिन्न विभागों एवं बैकों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों द्वारा सम्मेलन में आये आगन्तुकों को शासन के द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ लेकर स्वयं का रोजगार स्थापित करने हेतु प्रोत्साहित किया गया। 
   सम्मेलन में आयटीआय, हरदा द्वारा स्किल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें 25 मॉडलों का प्रदर्शन किया गया। रोजगार कार्यालय द्वारा रोजगार मेले का आयोजन किया गया। रोजगार मेले में निजी क्षेत्र की 6 कम्पनियों द्वारा पात्र आवेदकों का चयन किया गया एवं केरियर साहित्य प्रदर्षनी आयोजित कर 255 बेरोजगारों की काउन्सलिंग की गयी। पॉलिटेक्निक महाविद्यालय द्वारा सीडीटीपी योजना एवं मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु अनेक छात्र/छात्राओं के रजिस्ट्रेशन किये गये। 
   अतिथियों द्वारा विभिन्न विभागों द्वारा लगायें गये स्टालों/प्रदर्शनी का अवलोकन किया गया। आई.टी.आई. के छात्रो द्वारा बनाये गये मॉडलों एवं सीडीटीपी योजना द्वारा निर्मित सामग्रीयों तथा वन विभाग द्वारा लगाये गये स्टाल मे प्रदर्शित बॉस शिल्प की सराहना की गयी।
   जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र हरदा द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनान्तर्गत 26 हितग्राहीयों को रूपये 1.23 करोड़ के ऋण स्वीकृति पत्र मंच से वितरित किये गये। अन्य शासकीय विभागों- एनआरएलएम, अन्त्यवसायी, आदिम जाति कल्याण विभाग, खादी ग्रामोद्योग  विभाग द्वारा कुल 39.00 लाख के स्वीकृति पत्र मंच से हितग्राहियों को वितरित किये गये। 

जीएसटी पर कार्यशाला का आयोजन 

हरदा | 22-नवम्बर-2017
 
 
   संयुक्त कलेक्टर श्रीमति प्रियंका गोयल की अध्यक्षता में आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार में जीएसटी पर कार्यशाला का आयोजन संपन्न हुआ।
   सहायक आयुक्त राज्य कर श्री संजीव पर्ते एवं श्री नमन जैन द्वारा कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में जीएसटी पर विभिन्न शासकीय विभागों के अधिकारियों, लेखापाल एवं कम्प्यूटर ऑपरेटरों को जानकारी दी गई। कार्यशाला में श्री नमन जैन ने जीएसटी के संबंध में तैयार किये गये प्रजेन्टेशन को प्रस्तुत किया साथ ही अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जीएसटी के सम्बन्ध में रजिस्ट्रेशन एवं अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की। कार्यशाला के दौरान जिले के ई- गवर्नेन्स मेनेजर श्री अभिषेक बड़जात्या द्वारा शासकीय वेबसाइट जेईएम द्वारा खरीदी की प्रक्रिया, रजिस्ट्रेशन आदि के बारे में विस्तार से जानकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को दी गई। कार्यशाला में विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

 

 

 

 

 

 

 


 

 

 
  • Address: Harihar Bhavan Nowgong Dist. Chatarpur Madhya Pradesh  , Mo : 98931-96874 , Email :  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. Web : www.ganeshshankarsamacharsewa.in