सीधी समाचार

 

 

आज होगी जनसुनवाई 
सीधी | 15-जनवरी-2018
 
  कलेक्टर दिलीप कुमार की अध्यक्षता में आज दिनांक 16.01.2018 को प्रातः 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक जिला पंचायत सीधी के सभागार में जन सुनवाई आयोजित की जायेगी।
   श्री कुमार ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे निर्धारित समय एवं स्थान पर उपस्थित रहें।
 

 

उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार विद्यालय संचालक स्कूल वाहनों का संचालन करे- कलेक्टर

 
सीधी | 11-जनवरी-2018
 
  जिला सड़क सुरक्षा समिति की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर दिलीप कुमार ने सभी विद्यालय संचालकों को निर्देश दिये कि माननीय उच्चतम न्यायालय तथा राज्य शासन के द्वारा जारी मापदण्डों के अनुरूप स्कूल वाहनों का संचालन किया जाना सुनिश्चित करें। सभी स्कूल बस पीले रंग में हों, आगे पीछे उनमें स्कूल बस लिखा हो, स्कूल का नाम तथा दूरभाष अंकित हो बस में शिक्षित व प्रशिक्षित परिचालक हो, बस में फर्स्ट एड बाक्स की सुविधा हो, गतिमापी यंत्र लगा हो, अग्निशमन यंत्र की सुविधा हो, जी.पी.एस तथा सी.सी.टी.वी कैमरा लगा हो, आदि। सभी विद्यालय संचालक 10 दिनों के अन्दर ये व्यवस्थाएं स्कूल बसों में सुनिश्चित करेंगे।
    कलेक्टर श्री कुमार ने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया है कि 10 दिनों के बाद सभी स्कूल बसों का फिजिकल सत्यापन कर रिपोर्ट कलेक्टर कार्यालय में प्रस्तुत करेंगे। पुलिस विभाग को निर्देश दिये कि सभी बस चालकों एवं परिचालकों को अग्निशमन यंत्रों को चलाने का प्रशिक्षण देने की व्यवस्था करें।
    पुलिस अधीक्षक मनोज श्रीवास्तव ने विद्यालय संचालकों को निर्देशित किया कि वे अपने बस चालकों/ परिचालकों का ब्यौरा पुलिस अधीक्षक कार्यालय को पुलिस वैरीफीकेशन के लिए प्रस्तुत करें तथा भविष्य में कोई नया चालक/परिचालक रखने पर उसका पुलिस वैरीफीकेशन अनिवार्य रूप से करायें।
    कलेक्टर श्री कुमार ने सभी बस चालकों को निर्देश दिये कि सभी बसे निर्धारित स्थान पर ही खडी हो तथा बसों का संचालन नये बस स्टैण्ड के अन्दर से अपने निर्धारित समय व स्थान से ही हो। 
    बैठक मं कलेक्टर दिलीप कुमार, पुलिस अधीक्षक मनोज श्रीवास्तव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदीप सिंडे, एस.डी.एम. शैलेन्द्र सिंह, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी अश्वनी कुमार रावत, यातायात प्रभारी, विद्यालयों के संचालक, बस आपरेटर तथा आटो संघ के अध्यक्ष उपस्थित रहे।

 

पंचायत निर्वाचन : समीक्षा बैठक सम्पन्न 
सीधी | 08-जनवरी-2018
 
   कलेक्टर दिलीप कुमार ने नगरीय निकाय एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम/उप निर्वाचन 2017 (उत्तरार्द्ध) की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि मतदाता पर्ची का वितरण 13 जनवरी तक सभी मतदाताओं को सुनिश्चित करें। साथ ही मतदान दिवस के दिन एक व्यक्ति मतदाता पर्ची के साथ मतदान केन्द्र पर उपस्थित रहेगा जिससे अवितरित मतदान पर्ची मतदाता को प्रदान की जा सके।
    कलेक्टर श्री कुमार ने निर्देश दिये कि ई.व्ही.एम. मशीनों का द्वितीय रेण्डमाईशन अभ्यर्थियों की उपस्थिति में 10 जनवरी तक करना सुनिश्चित करें। मतपत्रों का वितरण करते समय सावधानी बरते जिससे मतपत्र निर्धारित वार्ड पर ही पहुचे। निर्वाचन का कार्य शांतिपूर्वक एवं निष्पक्ष ढंग से सम्पूर्ण कराने के लिए चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सभी आदेशों का कडाई से पालन करें।
    बैठक में अपर कलेक्टर डी.पी.वर्मन, एस.डी.एम. चुरहट अर्पित वर्मा आई.ए.एस., एस.डी.एम. सिहावल बी.पी. पाण्डेय, एस.डी.एम. मझौली अखिलेश कुमार सिंह एस.डी.एम. कुसमी अनुराग तिवारी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुधीर कुमार बेक, एवं समस्त आर.ओ. तथा ए.आर.ओ. उपस्थित रहे।
 

 

पंचायत निर्वाचन : जोनल अधिकारियों की समीक्षा बैठक आज 
सीधी | 04-जनवरी-2018
 
 
 
 
   उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन सुधीर कुमार बेक ने जानकारी दी है कि त्रिस्तरीय पंचायतों के आम/ उप निर्वाचन 2017 (उत्तरार्द्ध) के आम/ उप निर्वाचन 17 जनवरी को सम्पन्न होना है। निर्वाचन कार्य को निर्विघ्न रूप से सम्पन्न कराये जाने के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेट/ जोनल अधिकारियों की नियुक्ति की जा चुकी है। निर्वाचन से सम्बन्धित विभिन्न कार्यो की समीक्षा के लिए कलेक्टर द्वारा दिनांक 05.01.2018 को सायं 4 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सभी जोनल अधिकारियों की बैठक का आयोजन किया गया है।
   श्री बेक ने बताया कि रिटर्निंग/ सहायक रिटर्निंग आफीसर जनपद पंचायतों को छोड़कर सभी जोनल अधिकारी आवंटित निर्वाचन क्षेत्रों के मतदान केन्द्रों के भौतिक सत्यापन प्रतिवेदन सहित निर्धारित समय बैठक में उपस्थित होना सुनिश्चित करें।

 

थाना यातायात के लिए जमीन चयनित 
10 जनवरी तक करें आपत्ति दर्ज 
सीधी | 01-जनवरी-2018
 
 कलेक्टर दिलीप कुमार ने जानकारी दी है कि ग्राम पडरा तहसील गोपद बनास की शासकीय भूमि खसरा क्र.258/मिन-1 कुल रकबा 2.315 हेक्टेयर में से अंश रकबा 0.607 हे. को उपखण्ड अधिकारी गोपद बनास द्वारा चयनित किया जाकर थाना यातायात जिला सीधी के प्रशासकीय/आवासीय भवन निर्माण कि लिए म.प्र. शासन पुलिस विभाग को हस्तांतरण किये जाने हेतु प्रस्तावित किया गया है। उपरोक्त भूमियों के सम्बन्ध में जिस किसी भी व्यक्ति को कोई आपत्ति हो तो वह दिनांक 10 जनवरी 2018 तक लिखित रूप मे कलेक्टर न्यायालय में आपत्ति प्रस्तुत कर सकता है। इसके उपरांत किसी भी आपत्ति पर कोई विचार नही किया जायेगा।

 

श्रमोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए आवेदन की अंतिम तिथि आज 

सीधी | 29-दिसम्बर-2017
 
 श्रम पदाधिकारी सीधी ने जानकारी दी है कि म.प्र. भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल भोपाल द्वारा चार बडे महानगरों में भोपाल,ग्वालियर, जबलपुर, इंदौर में नवोदय विद्यालय की भांति श्रमोदय विद्यालयों का संचालन किया जाना सुनिश्चित किया गया है। विद्यालयों में शिक्षण सत्र 2018-19 में प्रारंभ किया जा रहा है।
    उक्त विद्यालय सी.बी.एस.ई से मान्यता प्राप्त होगा तथा इस विद्यालयों में निर्माण श्रमिक के पुत्र-पुत्रियों को प्रवेश दिया जाना है। विद्यालय में छात्र/छात्राओं के लिए शिक्षा के साथ-साथ निःशुल्क आवास,भोजन पठन-पाठन सामग्री एवं गणवेश की उपलब्धता कराया जायेगा। प्रारंभ में श्रमोदय विद्यालय में कक्षा 6वी, 9वी तथा 11वी में छात्र-छात्राऐं प्रवेश लें सकेंगे। विद्यालय में प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। उक्त विद्यालय में प्रवेश परीक्षा के आवेदन मण्डल के पोर्टल http://www.shramiksewa.mp.gov.in तथा श्रम कार्यालय सीधी से प्राप्त किए जा सकते हैं। आवेदन पूर्ण कर एवं आवश्यक अभिलेख सहित दिनांक 30.12.2017 तक जमा किए जा सकते हैं।
 

 

सभी नयी आवासीय कालोनी/ प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन कराना अनिवार्य 
सीधी में दो प्रोजेक्ट रेरा में पंजीकृत 
सीधी | 27-दिसम्बर-2017
 
  म.प्र. में रियल स्टेट सेक्टर में व्याप्त असंतुलन को दूर कर इसे व्यवस्थित करने तथा उपभोक्ताओं के हितों की दृष्टि से पारदर्शी व जिम्मेदार बनाने के लिए 1 मई 2016 से रेरा (रियल स्टेल रेग्युलेटरी अथारीटी) एक्ट लागू कर दिया गया है। इसके तहत सभी प्रचलित और नयी आवासीय कालोनी प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन कराना अनिवार्य है। पंजीयन न कराने पर कालोनी और प्रोजेक्ट को अवैध माना जायेगा।
    म.प्र.रियल स्टेट रेग्युलेटरी प्राधिकरण के सचिव चन्द्रशेखर वालिंम्बे ने बताया कि सीधी जिले में दो निर्माणाधीन आवासीय प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन कराया गया है। जो गोकुलधाम कोलोनी रामपुर नैकिन और प्रियर्दशनी नगर जमोडी सीधी में निर्माणाधीन है।
    उन्होने बताया कि यदि किसी निर्माणाधीन आवासीय प्रोजेक्ट का पंजीयन रेरा में नही कराया गया है अथवा उसमें रहने वाले आम जन के लिए आवश्यक विकास कार्य विल्डर द्वारा पूरे नही किये गये हैं तो इसकी जानकारी रेरा प्राधिकरण के कार्यालय रेरा भवन बोर्ड ऑफीस कैम्पस, मेन रोड नं.1, भोपाल -462011 के पते पर दी जा सकती है तथा This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भी दी जा सकती है।
    श्री वालिंम्बे ने बताया कि रेरा एक्ट लागू होने के बाद किसी भी आवासीय कालोनी तथा प्रोजेक्ट की बुकिंग के लिए रेरा पंजीयन अनिवार्य है। सभी विल्डरर्स के लिए रेरा के प्रावधानों का पालन करना अनिवार्य है। रेरा प्राधिकरण के चेयनमैन अंटोनी दिसा एवं उनके सहयोगी द्वारा प्रतिदिन भोपाल में सुनवाई के साथ साथ प्रदि सप्ताह ग्वालियर, जबलपुर, एवं इन्दौर में सर्किट कैम्प का आयोजन भी किया जा रहा है। ताकि पक्षकारों को आसानी से न्याय मिल सके। उन्होने अपील की है कि कोई भी नागरिक प्लाट या मकान खरीदने जाय तो विल्डर का रेरा नम्बर अवश्य देखे बिना रेरा नम्बर वाले प्रोजेक्ट/कालोनी अवैध होने से उनमें ग्राहक के अधिकार सुरिक्षित नही है।

 

 

 

 

प्रशासन में नवाचार से सुशासन का मार्ग होता है प्रशस्त- केदार
अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने ली सुशासन की शपथ
सीधी 26 दिसम्बर 2017, प्रशासन में नवाचारों के माध्यम से सुशासन को प्राप्त किया जा सकता है। यदि प्रत्येक अधिकारी/कर्मचारी जिस भी कार्य को कर रहा है, उसमें शासन की योजनाओं का लाभ सहज एवं सुलभ ढंग से आम जनता को उपलब्ध कराने में कोई नवाचार करने में सफल होता है तो यह सच्ची राष्ट्र सेवा होगी। उक्त कथन स्थानीय विधायक केदार नाथ शुक्ल ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संवेदनशील, पारदर्शी प्रशासन के प्रणेता एवं भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न माननीय अटल बिहारी बाजपेयी जी के जन्म दिन के उपलक्ष्य में सुशासन दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कही।
उन्होने कहा कि अटल जी का जीवन एक आदर्श है। वह बहुत ही अनुशासित नेता थे। उन्होने सुशासन के क्षेत्र में पहला कार्य ब्यूरोक्रेसी को विश्वास में लेने का किया उनका यह मानना था कि देश में सुशासन अधिकारियों और कर्मचारियों के सहयोग के बिना प्राप्त करना सम्भव नही है। श्री शुक्ल ने कहा कि अटल जी के संसद में दिये गये भाषणों का संग्रह ’’ संसद में चार दशक’ भारतीय राजनीति, दर्शन, विदेश नीति आंतरिक नीति एवं विदेश नीति का दर्पण है। इसे आप सभी एक मार्गदर्शक के रूप में उपयोग कर सकते हैं। उन्होने कहा कि राष्ट्र को आगे ले जाने में जनप्रतिनिधियों एवं शासकीय सेवकों की समान जिम्मेदारी है। व्यक्ति जो भी कार्य करें पूरी ईमानदारी से करें तो निश्चित ही राष्ट्र प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा।
सुशासन दिवस पर नगर पालिका परिषद् सीधी के अध्यक्ष देवेन्द्र सिह मून्नू ने कहा कि हमने पं. दीनदयाल उपाध्याय के बारे में पढा लेकिन उनके रूप को अटल जी के रूप में देखा अटल जी जीवन अनुकरणीय है। उन्होने अपने जीवन में सिद्धांतों एवं विचारों से कभी समझौता नही किया। वे पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होने योजनाओं का नाम व्यक्ति के नाम पर न रखकर पद के नाम पर रखा जिससे योजनाएं निरंतर चलती रहें। उन्होने कहा कि अटल जी सर्वाधिक लोकप्रिय नेता थे जिनका सभी विचारधाराओं, पार्टियों के लोग सम्मान करते थे। नगर पालिका अध्यक्ष ने कहा कि हम सब जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी/कर्मचारी जनता के सेवक हैं। हमें सदैव तत्पर रहना चहिए कि किस प्रकार जनता को सहज और सुलभ न्याय तथा शासन की योजनाओं का लाभ मिल सके।
इस अवसर पर कलेक्टर दिलीप कुमार ने कहा कि शासन के द्वारा सत्ता को माध्यम बनाते हुए जनता तक सेवाओं को पहुचाना ही सुशासन है। अपने कार्यक्षेत्र में जो भी नीतिगत निर्देश है उनको ध्यान में रखते हुए जनता को कम से कम असुविधा पहुचाते हुए शासन की योजनाओं का लाभ पहुचाना ही सुशासन है। हमें इस प्रकार के कार्य अपने दैनिक दिन चर्या में करने चाहिए। उन्होने कहा कि विगत कुछ दशकों में सूचना का अधिकार अधिनियम, सी.एम. हेल्पलाइन,समाधान एक दिवस, डिजिटल इण्डिया, पी.ओ.एस. मशीन द्वारा सुविधाओं का वितरण एवं समग्र पोर्टल जैसे माध्यमों ने शासन में सुशासन के उच्चतम मापदण्डों को स्थापित किया है। इसी क्रम में म.प्र. शासन 11 जनवरी 2018 से समाधान एक दिन कार्यक्रम प्रारम्भ कर रही है, जिसमें 14 विभागों की 45 सेवाओं को तहसील एवं जिला स्तर पर आवेदक को एक दिवस में उपलब्ध कराई जायेंगी। उन्होने सभी अधिकारियों/एवं कर्मचारियों से अपील की वे जनता तक योजनाओं का लाभ पहुचाने का माध्यम बने।
अधिकारियों/कर्मचारियों ने ली सुशासन की शपथ
सुशासन दिवस के अवसर सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों ने शासन को अधिक पारदर्शी, सहभागी, जनकल्याण केन्द्रित तथा जवाबदेह बनाने के लिए हर सम्भव प्रयास करने एवं प्रदेश में सुशासन के उच्चतम मापदण्डों को स्थापित करने तथा प्रदेश के नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लक्ष्य को पाने के लिए सदैव प्रयास करने की शपथ ली।
सुशासन दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में स्थानीय विधायक केदार नाथ शुक्ल,नगर पालिका परिषद् सीधी के अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह मुन्नू, कलेक्टर दिलीप कुमार, एवं सभी जिला स्तरीय अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

जन सुनवाई में 156 आवेदन प्राप्त

सीधी 26 दिसम्बर 2017, कलेक्टर दिलीप कुमार की अध्यक्षता में आयोजित जन सुनवाई में आज 156 आवेदन प्राप्त हुए। कलेक्टर श्री कुमार ने प्राप्त आवेदन पत्रों के निराकरण के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों को निदेश दिए कि आवेदनों का समय सीमा में गुणवत्तापूर्ण निराकरण सुनिश्चित करें। जन सुनवाई में एस.डी.एम. गोपद बनास शैलेन्द्र सिंह, सहित जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
जन सुनवाई में सीमांकन कराने नहर का मुआवजा दिलवाने, पेन्शन दिलवाने, खाद्यान पर्ची दिलवाने, छात्रवृत्ति की राशि दिलवाने, प्रधानमंत्री आवास का लाभ देने सार्वजनिक रास्ता खुलवाने, इलाज कराने हेतु सहायता राशि दिलवाने, विद्युत लाइन सुधरवाने सम्बन्धी आवेदन प्राप्त हुए।
छैलू साकेत को होगा निःशुल्क इलाज
जनसुनवाई में आयें ग्राम पोस्ट टिकरी तहसील मझौली निवासी छैलू साकेत पिता बाबूलाल साकेत ने बताया कि मजदूरी के दौरान दीवार गिर जाने से मेरी कमर टूट गई है। वह अत्यधिक गरीब है और इलाज कराने में असमर्थ है। कलेक्टर ने उसकी स्थिति को समझते हुए सी.एम.एच.ओ. डाॅ. व्ही बी. सिंह बघेल को निर्देश दिये कि जिला चिकित्सालय भर्ती कर इसका निःशुल्क इलाज सुनिश्चित किया जाय।
तीन दिवस के अन्दर दिये सीमांकन के निर्देश
जनसुनवाई में आये ग्राम पो पडैनिया के निवासी मनोज कुमार मिश्रा पिता रसिक बिहारी मिश्रा ने बताया कि उन्होने सीमांकन के लिए 2014 से आवेदन दिया है किन्तु आज दिनांक तक सीमांकन का कार्य नही किया गया है। कलेक्टर ने एस.डी.एम. गोपद बनास को निर्देश दिये कि तीन दिवस के अन्दर आवेदक की जमीन का मशीन द्वारा सीमांकन सुनिश्चित करें।
समाचार क्रमांक 109-1811 फोटो क्रमांकः-61

 

समय सीमा बैठक सम्पन्न
सी.एम. हेल्पलाइन,जनसुनवाई,समाधान का समय सीमा में करें निराकरण- कलेक्टर

सीधी 26 दिसम्बर 2017, कलेक्टेªट सभागार में आयोजित समय सीमा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर दिलीप कुमार ने कडे शब्दों में हिदायत दी कि सी.एम. हेल्पलाइन, जनसुनवाई, समाधान में प्राप्त शिकायतों का समय सीमा में गुणवत्तापूण निराकरण सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि शिकायतों का निराकरण एल-1 तथा एल-2 स्तर पर ही निराकरण करना सुनिश्चित करें। जो शिकायते एल-4 स्तर तक पहुच गई हैं उनका निराकरण कर आवश्यक अनुशंसा सहित एल-4 अधिकारी के पास भेजना सुनिश्चित करें साथ ही इसकी एक प्रति कलेक्टर कार्यालय को भी देवें। कलेक्टर ने कहा कि शिकायतों के निराकरण में लापरवाही बरतने पर दोषी अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर कडी कार्यवाही की जावेगी।
कलेक्टर ने बताया कि पंचायत निर्वाचन हेतु तिथियों की घोषणा कर दी गई है। अतः सम्बन्धित ग्राम पंचायतों/जनपद पंचायतों/नगर परिषद के सम्बन्धित वाडों में आचार संहिता लागू हो गई है। जिसका कडाई से पालन किया जाना सुनिश्चित करें। उक्त क्षेत्रों में किसी प्रकार का कोई नया कार्य प्रारम्भ नही करेंगे न ही किसी प्रकार के औपचारिक कार्यक्रम शिलान्यास किये जायेंगे।
समाचार क्रमांक 1010-1812


डिजिटल इंण्डिया कार्यक्रम अन्तर्गत जिला स्तरीय कार्यशाला आज

सीधी 26 दिसम्बर 2017, कलेक्टर दिलीप कुमार ने जानकारी दी है कि डिजिटल इंण्डिया कार्यक्रम के अन्र्तगत आज 27 दिसम्बर को प्रातः 11 बजे जिला कार्यालय के सभागार में जिला स्तरीय कार्यशाला आयोजित की गई है।
उन्होने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार डिजिटल इंडिया कैम्पेन एवं कैशलेस ट्रांजेक्शन को प्रभावी बनाने हेतु सम्मेलनों का आयोजन दिनांक 16 से 30 दिसम्बर तक सम्पूर्ण देश में किया जाना है। इस हेतु सभी विभागों को सम्मिलित कर जिला स्तर पर कार्याशालाएं आयोजित की गई हैं।

विकास और अनुराग जायेंगे भूटान

सीधी 26 दिसम्बर 2017, भारतीय खेल एवं शिक्षा परिषद् द्वारा आयोजित प्रथम नेशनल ओपेन स्पोट्स गेम्स मथुरा (उत्तर प्रदेश) में 17 से 19 नवम्बर 2017 तक मार्शल आर्ट ताईक्वांडो राष्ट्रीय प्रतियोगिता में नवोदय सीनीयर सेकेण्डरी स्कूल चुरहट के छात्र विकास बहेलिया कक्षा 11 को गोल्ड मैडल एवं छात्र अनुराग सिंह कक्षा 8 को सिल्वर मेडल प्राप्त हुआ। अन्र्तराष्ट्रीय खेलों में चयनित होने पर भूटान देश में प्रथम प्दकव.ठीनजंद ैचवतजे- म्कनबंजपवद हंउमे 2017.18 दिनंाक 29 दिसम्बर 2017 से 1 जनवरी 2018 में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय खेल मार्शल आर्ट ताईक्वांडों में कोच प्रकाश प्रजापति के मार्गदर्शन में भा

13 कर्मचारियों को कारण बताओं नोटिस जारी 
सीधी | 22-दिसम्बर-2017
 
  सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग के.के. पाण्डेय ने जानकारी दी है कि वित्तीय वर्ष के 9 माह बीतने के बाद भी 13 कर्मचारियों ने बैंक से आज दिनांक तक लक्ष्य के अनुसार स्वरोजगार योजना/ आर्थिक कल्याण योजना में बैंक से स्वीकृत प्रकरण कार्यालय में जमा नही करने के कारण 13 कर्मचारियों को आगामी वर्षो की वेतन वृद्धि रोके जाने का कारण बताओं नोटिस जारी किया है। उन्होंने बताया कि रामकृष्ण सिंह, अधीक्षक आदिवासी बालक छात्रावास बकवा, देवकुमार सिह गिजवार, शंकर प्रसाद कोल सपही, पूरनदास कोल पोखरा, लालबहादुर सिंह चकडौर, मोतीलाल नापित बघवार, एवं श्री तिवारी अधीक्षक आदिवासी बालक आश्रम नौढिया, गंगा प्रसाद सिंह चकडौर, गणेश प्रसाद वर्मा चन्दरेह, रंगदेव सिंह शिक्षक आश्रम शाला खडौरा, गिरिजालाल पटेल सहायक शिक्षक खडौरा, छोटेलाल साकेत अधीक्षक अनुसूचित जाति बालक छात्रावास सिहावल क्र.1 एवं श्यामलाल कोल सिहावल क्र.2 ने स्वरोजगार योजना/आर्थिक कल्याण योजना में लक्ष्य अनुरूप कार्यालय में स्वीकृत प्रस्तुत नही किये हैं।
 

 

ग्वालियर में होगा निःशुल्क कौशल विकास प्रशिक्षण 
सीधी | 20-दिसम्बर-2017
 
  सहायक आयुक्त जनजातीय कार्यविभाग के.के. पाण्डेय ने जानकारी दी है कि सीपेट ग्वालियर में प्लास्टिक इंजीनीयरिंग एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में रोजगारोन्मूलक विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम चलायें जा रहे हैं। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम हेतु अनुसूचित जाति/जनजाति संवर्ग के प्रशिक्षणार्थियों का चयन किया जाना है। मैपसेट के एम.पी. ऑनलाइन पोर्टल पर https://mapcet.mponline.gov.in पर आधार आधारित निःशुल्क पंजीयन की सुविधा है। उन्होने बताया कि संस्था द्वारा दी गई जानकारी अनुसार यह प्रशिक्षण रहने, खाने एवं प्रशिक्षण पूर्णतः निःशुल्क रहेगा। अधिक जानकारी हेतु इच्छुक प्रशिक्षणार्थी कार्यालय सहायक आयुक्त जनजातीय कार्यविभाग में सम्पर्क कर सकते हैं।

 

 

सरपंच पद के अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन पत्र ऑन लाइन भरे जायेंगे- कलेक्टर 

सीधी | 19-दिसम्बर-2017
 
 त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन आम/उप निर्वाचन 2017 (उत्रार्द्ध) के लिए सरपंच पद के अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन पत्र ऑन लाइन भरे जायेंगे। उक्त जानकारी कलेक्टर दिलीप कुमार ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में दी। उन्होने कहा OLIN  एप्लिकेशन के माध्यम से अभ्यर्थी द्वारा स्वयं अथवा सुविधा केन्द्र पर अपना ऑनलाइन नाम निर्देशन OLIN  तैयार किया जायेगा इसके बाद अभ्यर्थी द्वारा OLIN  को सबमिट कर उसका फाईनल प्रिन्ट आउट निकाला जायेगा। फाईनल प्रिन्ट आउट में पूर्तिया कर आवश्यक दस्तावेज संलग्न कर नियत समयावधि में RO के समक्ष प्रस्तुत किये जायेंगे।
   उन्होने कहा कि यह एक सहज एवं सरल पारदर्शी प्रक्रिया है जिससे अभ्यर्थी को चौबीसों घंटे त्रुटि रहित नाम निर्देशन भरने की सुविधा देती है। बैठक में उपस्थित जन प्रतिनिधियों को ऑनलाइन नाम निर्देशन भरने की हैण्डसऑन प्रशिक्षण दिया गया साथ ही ई.व्ही.एम का प्रर्दशन भी किया गया। कलेक्टर दिलीप कुमार ने कहा कि इच्छुक अभ्यर्थी ई-दक्ष केन्द्र जाकर ऑनलाइन नाम निर्देशन भरने का हैण्सऑन प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष अभ्युदय सिंह सहित विभिन्न दलों के जनप्रतिनिधि उपस्थित रहें।

 

एकात्म यात्रा में बेटी बचाओं और महिला सुरक्षा को शमिल किया गया 
सीधी | 14-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
 
   मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बताया कि सामाजिक समरसता एवं सामाजिक एकता को बढाने के लिए आदि शंकराचार्य की प्रतिमा ओंकारेश्वर में स्थापित करने के लिए चार स्थानों उज्जैन, अमरकंटक, पचमठा रीवा, एवं ओकारेश्वर से एकात्म यात्रा निकाली जायगी इस यात्रा में बेटी बचाओं और महिला सुरक्षा को भी शामिल किया गया है। उन्होने कहा कि एकात्म यात्रा में बुद्धिजीवी, संत एवं विद्वानों को अधिक से अधिक संख्या में शामिल किया जायेगा।
   वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में विधायक केदार नाथ शुक्ल, नगर पालिका अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह, विधायक प्रतिनिधि, पुनीत नारायण शुक्ला, सिहावल के जनपद अध्यक्ष श्रीमान सिंह, कलेक्टर दिलीप कुमार, पुलिस अधीक्षक मनोज श्रीवास्तव सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।
   विधायक केदार नाथ शुक्ल ने वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में सुझाव दिया कि एकात्म यात्रा में मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत तीर्थ यात्रा के लिए गये तीर्थ यात्रियों को भी जोड़ा जाय।    

 

टीकाकरण में लापरवाही पर दो की वेतन वृद्धि बंद तीन की वेतन रोकी 

सीधी | 13-दिसम्बर-2017
 
 
 मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. व्ही.बी सिंह बघेल ने मिशन इन्द्रधनुष के तृतीय चरण में लापरवाही एवं उदाशीनता बरतने पर एवं बच्चों का टीकाकरण न करने पर उपस्वास्थ्य केन्द्र बढौरा की एम.पी.डब्लू श्रीमती पोलेक्सीना मिश्रा, तथा पनवार की श्रीमती शीला सिंह की असंचयी प्रभाव से दो वेतन वृद्धि रोक दी है तथा  जोगी पहाडी की संविदा कर्मी श्रीमती रामवती प्रजापति, पथरौला की श्रीमती उषा सिंह, खडौरा की श्रीमती पूनम गुप्ता की नो वर्क ने पे के आधार पर 10 दिवस की वेतन रोकी है।

 

 
 
 
 
   कलेक्टर दिलीप कुमार ने कृषि विभाग के प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दिये कि गुण नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत अमानक बीज, उर्वरक एवं दवाईया बेचने वाले शासकीय एवं निजी समस्त प्रतिष्ठानों का तत्काल प्रभाव से लाइसेंस निरस्त किया जाय। कलेक्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री बीमा योजना के तहत जिले के 1 लाख किसानों का फसल बीमा किया जाय अन्यथा वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी और ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी के विरूद्ध कडी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी।
   बैठक में उपसंचालक कृषि के.के. पाण्डेय, उपसंचालक पशु चिकित्सा ए.पी. गौतम, सहित उद्यान, आत्मा, शहरी कलर्चर के अधिकारी उपस्थित थे।
   कलेक्टर की समीक्षा के दौरान बताया गया कि रबी सत्र में 58800 हेक्टेयर क्षेत्र में गेहू की बोनी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है अब तक 46200 हेक्टेयर क्षेत्र में बोनी हो चुकी है। जिले में 1 लाख 31 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बोनी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है अब तक 1 लाख 18 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बोनी की जा चुकी है। रबी सत्र के लिए जिले में उरर्वरक का पर्याप्त भण्डारण कर लिया गया है। यूरिया का 864 मैट्रिक टन, डी.ए.पी. 1186 मैट्रिक टन तथा 12,13,16 102 मैट्रिक टन भडाण्रण किया गया है। 1 हजार मैट्रिक टन यूरिया और मगाई जा रही है। जिले में किसानो के यहां 110 बायोगैस स्थापित किये जाने है। अब तक मात्र 40 बायोगैस स्थापित किये गये हैं। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि लक्ष्य के अनुरूप प्राथमिकता के आधार पर एग्रो द्वारा बायोगैस स्थापित किये जायं। बताया गया कि किसानों के खेतों से 12 हजार मिट्टी के नमूने लेने हैं अब तक 9654 नमूने लिये जा चुके हैं। 72487 हजार मिट्टी हेल्थ कार्ड देने है अब तक 5896 हेल्थ कार्ड जारी किये जा चुकें हैं।
   आत्मा गवर्निग बाडी की बैठक सम्पन्नः- कलेक्टर दिलीप कुमार की अध्यक्षता में आयोजित आत्मा गर्वर्निग बाडी की बैठक में निर्देश दिये गये कि जिन किसानों को कृषक प्रशिक्षण के लिए एक बार बाहर ले जाया गया है उनका चयन दूसरी बार न किया जाय।
   बैठक में जिला पंचायत के कृषि सभापति मनोज, विधायक प्रतिनिधि उपसंचालक कृषि, उपसंचालक पशु चिकित्सा सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।
   बैठक में बताया गया कि राज्य के बाहर किसानों को प्रशिक्षण में ले जाना था इसके तहत बीस किसानों को बनारस तथा 14 किसानों इलाहाबाद की यात्रा कराई गई। राज्य के अन्दर प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत 50 किसानो को कुठुलिया रीवा फार्म ले जाया गया 200 किसानों को जिले के अन्दर प्रशिक्षित किया गया। विभागीय प्रदर्शन योजना के अन्तर्गत खरीफ सत्र में 9 प्रदर्शन किये गये। एक्पोजर विजिट के तहत 30 किसानो को राज्य के बाहर चित्रकूट और मझिगवां तथा राज्य के अन्दर कुठुलिया में प्रशिक्षण किया गया। पॉच समूहों को 10-10 हजार रूपये रिवालविंग फण्ड दिया गया। जिले में अच्छे कार्य करने वाले अच्छे किसानों को जिला स्तरीय 25 हजार का तथा विकास खण्ड स्तरीय 10-10 हजार रूपये का पुरस्कार दिया जाना है।

 

रसोईया श्रीमती वर्मा को मिलेगा चार माह से रूका मानदेय 

कलेक्टर ने महाराजपुर राजस्व शिविर का किया निरीक्षण 
सीधी | 10-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   
    कलेक्टर दिलीप कुमार ने महाराजपुर में आयोजित राजस्व शिविर का निरीक्षण कर ग्रामीणों को संबोधित करते हुये बताया कि किसी भी ग्राम में ऐसा परिवार जो कि पात्रता रखता है उसके पास आवास बनाने के लिये भूमि नहीं है तो उसे भू-अधिकार पत्र दिया जायेगा। उन्होने कहा कि काबिज कास्त का मकान होने पर लेकिन उस भूमि का पट्टा न होने पर उन्हे भी भूमि का पट्टा दिया जायेगा। जो व्यक्ति दूसरे के जमीन पर आवास बनाकर रह रहे है लकिन वे भूमिहीन है। ऐसे पात्र व्यक्तियो को भी भू-खण्ड का पटटा वितरित किया जायेगा। ऐसे आदिवासी परिवार जो गैरआदिवासी व्यक्ति की जमीन में आवास बनाकर रह रहे है और भूमिहीन है उन्हे भी भूमि का अधिकार पत्र दिया जायेगा। इसके लिये पटवारी द्वारा घर-धर जाकर सर्वे किया जा रहा है।
   शिविर में तहसीलदार विजय द्विवेदी सहित ग्रामीणजन उपस्थित थे। 
    कलेक्टर ने कहा कि ऐसा कोई भी परिवार शेष नहीं बचेगा जिसके पास भूमि का अधिकार पत्र न हो। बताया गया कि महराजपुर में 16 ऐसे परिवार है जो शासकीय भूमि में आवास बनाकर रह रहे है उनके पात्रता का परीक्षण कर उन्हे भू-खण्ड का पटटा दिया जायेगा। राजस्व शिविर के दौरान पटवारी ग्रामों का सर्वे करेगे, सर्वे करने के दौरान सरपंच और सचिव भी साथ में रहे। उन्होने कहा कि गांव में वृद्ध,निराश्रित एवं विधवा तथा परित्यक्त महिलाये है और पेंशन की पात्रता रखते है तो पात्रता के मान से उनका नाम पेंशन के लिये जोड़ा जाये। कलेक्टर ने इस दौरान सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत शासकीय उचित मूल्य की दुकान से खाद्यान्न एवं कैरोसिन के वितरण की स्थिति की जानकारी ली। गांव में शातिधाम बनाने के लिये भूमि आवटित करने के निर्देश दिये। उन्होने किसानों को सलाह दी कि वे रवी सत्र के दौरान प्रधानमंत्री बीमा योजना के तहत अपनी फसल का बीमा करायें। 
    छोटी प्रजापति को मिलेगी विधवा पेंशन - शिविर में छोटी प्रजापति ने बताया कि उसके पति की मृत्यु हो चुकी है ,उसका नाम गरीबी रेखा के नीचे की सूची में है लेकिन उसे विधवा पेंशन नहीं दी जा रही है। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि शिविर में ही विधवा पेंशन के लिये आवेदन पत्र भरवाकर यहीं पेंशन मंजूर की जाये। 
    शकुंतला को मिलेगा रसोईये का मानदेय- प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला में मध्यान्ह भोजन बना रही रसोईया श्रीमती शंकुतला वर्मा ने बताया कि उसको पिछले चार माह से रसोईया का मानदेय भुगतान नहीं किया गया है। कलेक्टर ने शिविर में ही निर्देश दिये कि मानदेय का तुरत भुगतान किया जायेगा।
 
मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण 10 दिसम्बर को आयोजित 
सीधी | 08-दिसम्बर-2017
 
 कलेक्टर दिलीप कुमार ने बताया कि पंचायत निर्वाचन 2017 के सुचारू संचालन के लिए मास्टर ट्रेनरों को आगामी 10 दिसम्बर को 11 बजे से कलेक्ट्रेट सभागार में प्रशिक्षण दिया जायेगा। उपरोक्त प्रशिक्षण प्राध्यापक डॉ अरविन्द कुमार त्रिपाठी एवं डॉ के.बी.सिंह देंगे।
   कलेक्टर ने बताया कि प्राध्यापक डॉ. आर.एल. शर्मा, ग्रथपाल अजय सिंह चौहान, सहायक प्राध्यापक अखिलेश कुमार शर्मा, प्रध्यापक एस.बी.सिंह, सहायक प्रध्यापक अनिल कुमार सिंह, भोला सिंह कुशराम, एस.सी. दुबे, ए आर. सिंह, एच.पी दुबे, विनोद कुमार प्रजापति, विनोद कुमार दुबे, आई.पी. कुम्हार, ए.पी. गुप्ता, आर.के. सोनी, के.एस. नेताम, एस.एम मिश्रा, आर. बी.एस चौहान, जे.पी मिश्रा, प्रभाकर सिंह, एल पी तिवारी, अरविन्द्र त्रिपाठी पी.के. सिंह एवं संतोष सिंह मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण लेंगे।    
 

 

अपनी आय बढ़ाने के लिये देशी गाय पाले ग्रामीण - विधायक श्री शुक्ल 

जिला स्तरीय गोपाल पुरस्कार में प्रमाण - पत्र वितरित 
सीधी | 26-नवम्बर-2017
 
 
   
 
   ग्रामीणों को पशुपालन को बढ़ावा देने और इसे प्रोत्साहित करने के लिये प्रदेश सरकार द्वारा गोपालक पुरस्कार योजना प्रांरभ की गयी। ग्रामों में शनैः शनैःकम होते पशुओं और इसमें रूचि कम होने पर इस योजना का प्रांरभ किया गया। ग्रामीण देशी गाय पालना प्रारम्भ करें इससे जहाँ एक ओर उनकी आय बढ़ेगी वही दूसरी ओर परिवार का कल्याण होगा। उनका परिवार समर्थ एवं शक्तिशाली होगा। देशी गाय के पंचगांव्य का उपयोग करें इसके उपयोग से बीमारियां पास नहीं फटकेगी। उक्त आशय का संबोधन सीधी विधानसभा क्षेत्र के विधायक केदारनाथ शुक्ल ने आज ग्राम पंचायत बरम्बाबा में आयोजित जिला स्तरीय गोपाल पुरस्कार का वितरण करते हुये दिया। 
         इस अवसर पर जनपद अध्यक्ष श्रीमती शकुंतला सिंह, जनपद सदस्य अनारकली सिंह, सरपंच राममनोहर सिंह, अन्त्योदय समिति के अध्यक्ष पुनीत नारायण शुक्ल, कृषि विभाग के उपसंचालक के.के.पाण्डे, पशु चिकित्सा विभाग के उपसंचालक डॉ. एम.पी.गौतम, पूर्व उपसंचालक कैलाश पति तिवारी, डॉ. रजनीश तिवारी सहित जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी मौजूद थे। 
     विधायक श्री शुक्ल ने कहा कि इस आधुनिकता की दौड़ में हम अपने आस -पास की छोटी-छोटी लेकिन महत्वपूर्ण चीजे खोते जा रहे है। पहले हमारे पूर्वज देशी गाय एवं भैस ही पालते थे और उनकी सेवा करते थे। सुबह उठकर किसान सबसे पहले गाय एवं बछड़े को चारा डालते थे तब दूसरा काम करते थे। महत्व के मान से देखे तो देशी गाय का मूत्र, गोबर, गाय का घी, गाय का दूध और गाय का दही बहुत फायदे मंद और महत्वपूर्ण है। पंचगांव्य का सेवन करने पर बीमारिया हमारे पास भी नहीं फटकती। सुबह चारा भूसा देते समय गाय की सांस बहुत उपयोगी है। एक नगरपालिका परिषद थोक में गाय और सांड का गोबर एकत्रित कर इसके कंडे 5 रूपये की दर से बेच रही है। वही बाबा रामदेव गोमूत्र 40 रूपये पाव बेच रहे है। जानकार लोग गौमूत्र पीकर बीमारियों से दूर रहते है और स्वस्थ रहते है। उन्होने कहा कि जर्सी गाय की अपेक्षा देशी गाय को पालन अधिक उपयोगी है। अतः समस्त ग्रामीण पशुपालन कर अपनी आय दुगनी करें। देशी गाय का दूध खरीदने के लिये शहरो में लाइन लगती है। हम भाग्यशाली है कि हमारे गाव की आबो हवा काफी शुद्ध है अभी हम ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव में नहीं आये है। नहीं तो दिल्ली जैसे शहरवासियों की तरह हमें भी आक्सीजन मास्क पहन कर चलना पड़ता। 
   विधायक श्री शुक्ल ने गौवंशीय में प्रथम पुरस्कार सुनील कुमार जायसवाल को 50 हजार रूपये एवं प्रमाण पत्र इनकी साहिवाल गाय ने 11.567 किलो दूध दिया। द्वितीय पुरस्कार अनिल कुमार सिह को  25 हजार रूपये और प्रमाण-पत्र दिया इनकी गाय ने 11.476 किलो तथा तृतीय पुरस्कार विनोद कुमार साहू को 15 हजार रूपये और प्रमाण-पत्र वितरित किये इनकी गाय 8.946 किलो दूध दिया। तथा 5-5  हजार रूपये के सांत्वना पुरस्कार वितरित किये इसमें रणजीत सिंह सतनामी,विष्णु प्रसाद यादव,श्रीमती राजवती सिंह,श्रीमती कुसुमवती सिंह,इन्दवती यादव, घनश्याम जायसवाल, और शशिकान्त पाण्डेय को प्रमाण-पत्र वितरित किया। इसी प्रकार भैसवंशीय में भगवान यादव को प्रथम पुरस्कार राजकुमार रजक को द्वितीय तथा राजबहादुर सिह को तृतीय पुरस्कार वितरित किया। सांत्वना पुरस्कार में सुखलाल साहू, उमाकांत पाण्डेय, फुलेल सिंह, हेमन्तकुमार जायसवाल, भरतलाल तिवारी, शिवराज जायसवाल और भोला गुप्ता को वितरित किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. रजनीश तिवारी ने किया।

सब को मिलेगा आवास के लिये भू-खण्ड-कलेक्टर 

दिसम्बर से शुरू होगा शिविर 
सीधी | 25-नवम्बर-2017
 
 
   कलेक्टर दिलीप कुमार ने बताया कि जिले में दिसम्बर माह से विशेष अभियान चलाकर भूमिहीन व्यक्तियों को पात्रता के अनुसार भू-खण्ड के पट्टे वितरित किये जायेगे। इसके लिये ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित किया जा रहा है। उन्होने जनप्रतिनिधियों से भी अपील की है कि वे भी भूमिहीन व्यक्तियों की जानकारी दे ताकि आवास निर्माण के लिये उन्हे आवासीय भू-खण्ड दिया जा सके। इसके लिये वासस्थान का सर्वे करने के साथ ही, दखल रहित व्यक्तियो का सर्वे किया जायेगा।  
   कलेक्टर ने बताया कि 1 दिसम्बर से आयोजित शिविर में प्रत्येक पंचायत में राजस्व कर्मचारी पूरे समय उपस्थित रहकर समस्याओं का निराकरण करेंगे।
   राजस्व समस्या निवारण शिविरों में वासस्थान, दखलकार अधिनियम 1980 के अन्तर्गत सर्वे किया जाकर पात्र व्यक्तियों का प्रकरण तैयार कर अनुविभागीय अधिकारी को प्रेषित किया जायेगा। दखलरहित अधिनियम 1970 के अन्तर्गत सर्वे किया जाकर प्रात्र व्यक्तियों का प्रकरण तैयार किया जाकर तहसीलदार को प्रेषित किया जायेगा। पात्र हितग्राहियों का भू अधिकार पत्र तैयार किया जायेगा, पात्र आवासहीन परिवारों का सर्वे कर सूची तैयार कर प्राधिकृत अधिकारी को प्रेषित किया जायेगा। आबादी भूमि का चिन्हांकन कर प्रस्ताव तैयार कर प्रेषित किया जायेगा। सी.एम. हेल्पलाइन, जनसुनवाई एवं एम.पी. समाधान के लम्बित सभी शिकायती आवेदन पत्रों की जॉच कराकर ग्राम पंचायत स्तर पर उसी दिन निराकरण किया जायेगा। अनुविभागीय अधिकारी का दायित्व है कि वे तुरन्त ग्राम पंचायतवार लम्बित ऐसी शिकायतों का प्रिंट आउट राजस्व अधिकारी को सौपे प्राकृतिक आपदा से सम्बन्धित नवीन प्रकरणों में प्रतिवेदन तैयार कर स्वीकृत प्रकरणों में भुगतान की कार्यवाही की जायेगी। राजस्व भूमि विवाद से सम्बन्धित अन्य समस्याओं का निराकरण मौके पर किया जायेगा। गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के लम्बित आवेदन पत्रों की जॉच पंचायत स्तर पर पीठासीन अधिकारी पात्र एवं अपात्र का निराकरण उसी दिन करेंगे। सार्वजनिक रास्ता एवं सार्वजनिक स्थलों के विवादों को मौके पर ही निराकरण किया जायेगा। अन्य विभागों से सम्बन्धित प्राप्त समस्यों की सूची तैयार कर कलेक्टर को अवगत कराया जायेगा।  ग्राम पंचायत के सचिव यह सुनिश्चित करेंगे कि पेन्शन के लिए पात्र कोई भी हितग्राही वंचित न हो ऐसे पात्र हितग्राही की पहचान कर कार्यवाही पूर्ण किया जाय। शिविर मे सम्बन्ध में ग्राम पंचायत स्तर मुनादी कराकर व्यापक प्रचार प्रसार किया जायेगा। उन्होने निर्देश दिये है कि सभी फौती नामांतरण की कार्यवाही आवश्यक रूप से पूर्ण की ली जाय शिविर के पश्चात यदि कोई फौती नामांतरण पाया जाता है तो सम्बन्धित पटवारी और राजस्व अधिकारी की जिम्मेदारी तय की जायेगी।

 

 
 
 
 
 
 



 

 

  • Address: Harihar Bhavan Nowgong Dist. Chatarpur Madhya Pradesh  , Mo : 98931-96874 , Email :  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. Web : www.ganeshshankarsamacharsewa.in