सागर समाचार

 

हमारी प्रेरणा बना सकती है बच्चों का उज्जवल भविष्य सभी अधिकारी अपने भ्रमण में स्कूली बच्चों से करें बात- कलेक्टर 
सागर | 12-जनवरी-2018
 
   जिला पंचायत सभाकक्ष में प्रेरणा संवाद को लेकर कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई। इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री चन्द्रशेखर शुक्ला, जिला शिक्षा अधिकारी श्री संतोष शर्मा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि फीस के अभाव में बच्चों का पढ़ाई पूरी नहीं कर पाना दुर्भाग्य की बात है। ऐसे बच्चों को आगे बढ़ाने के लिये मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मुख्यमंत्री मेघावी विद्यार्थी योजना आरंभ की गई है। इस योजना का उद्देश्य मेघावी विद्यार्थियों को 12वीं के बाद उच्च शिक्षा की फीस की समस्या से निजात दिलाना है। इसमें 12वीं की परीक्षा में मध्यप्रदेश बोर्ड से 75 प्रतिशत या सीबीएसई से 85 अंक प्राप्त करते हैं और यदि योजना में पात्रता और आपका प्रवेश किसी भी शासकीय या चयनित निजी महाविद्यालय में मेडीकल, इंजीनियरींग, आईआईएम, पॉलीटेक्निक, नर्सिंग, बीएससी या बीकॉम में से किसी भी कोर्स में होता है तो कॉलेज की फीस राज्य सरकार द्वारा जमा कराई जायेगी। इस हेतु कलेक्टर श्री सिंह ने सभी अधिकारियों को शासकीय-अशासकीय हायर सेकेण्डरी विद्यालयों में 15 से 30 जनवरी तक जाकर बच्चों से बात कर प्रेरणा देने के निर्देश दिये। इससे बच्चों का भविश्य संवारा जा सके। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने भ्रमण के दौरान इसे प्राथमिकता देंगे। 
    जिला पंचायत सीईओ श्री शुक्ला ने बताया कि इस योजना का लाभ उन मेघावी विद्यार्थियों को देना है जिन्हें समय पर सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पाती हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री मेघावी विद्यार्थी योजना के बारे में विस्तृत से जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी श्री संतोष शर्मा द्वारा दी गई। 
 

 

 

 

स्व सहायता समूह से जीवन में आयीं खुशहाली "सफलता की कहानी" 

सागर | 08-जनवरी-2018
 
 सागर जिले के केसली विकासखण्ड के ग्राम सोनपुर महिला स्व-सहायता समूह से जुडी श्रीमति प्रकाशरानी गौड ने कभी नही सोचा था कि उनके दरवाजे खुद का ट्रैक्टर खडा होगा। दो कमरो के कच्चे घर में अपने 70-80 पशुओं के साथ रहने वाली प्रकाशरानी बमुश्किल 15 लीटर दूध का प्रतिदिन उत्पादन कर पाती थी। 3.5 एकड की असंचित खेती में उनके पति बडेलाल धान, गेहूं की खेती करके अपने 04 बच्चो का पेट पालते थे। दूध विक्रय के लिये कोई स्थायी व्यवस्था नही होने के कारण घी बनाकर बेचना एकमात्र विकल्प था। विकासखण्ड के बाजार में जाकर स्थानीय व्यापारियों को 200-250 रूपये किलो घी बेचकर पूरे माह के दूध के उत्पादन से लगभग 2000 रू की अतिरिक्त आमदनी घर आ पाती थी। पूर्व में डीपीआईपी के द्वारा स्थापित बीएमसी से बडेलाल ने जुड कर अपना दूध खपाना शुरू किया। प्रकाशरानी ने समूह की सदस्यो को दूध उत्पादन को घी बनाकर बेचने से बेहतर बीएमसी में दूध बेचने का रास्ता दिखाया। बडेलाल ने अपने गांव में दुग्ध खरीदी केन्द्र चालू किया और रोजाना 60-70 लीटर दूध बीएमसी को भेजना शुरू कर दिया। दूध के खरीदी केन्द्र स्थापित हो जाने के कारण गांव के दूसरे किसानो ने भी पशुपालन को बेहतर बनाना शुरू किया। वे अच्छी नस्ल के दुधारू पशु खरीदने लगे। खुद प्रकाशरानी ने 80 मबेशियों की फौज को घटाकर एक मुर्रा, दो देशी भैंसे ओर तीन अच्छी गाय खरीद ली। प्रतिदिन 30 लीटर दूध का उत्पादन शुरू हो गया। बडेलाल ने अपनी बडी हुई आमदनी से खेती को सुधारने का प्रस्ताव अपनी पत्नि के सामने रखा। सबसे पहले खेत में बोरिंग करायी गयी, फिर एक कुआं और तैयार कराया गया। 04 बिजली पंप खरीदे पर बिजली नही होने की दशा में बाद में एक डीजल पंप भी ले लिया गया। अब उनके खेतो में धान, गेहूं के साथ आलू, प्याज, लेहसुन, लौकी, गाजर, हल्दी, मौसमी सब्जियां बोयी जाने लगी। सब्जियों से मिली आमदनी में उन्होने पहले अधिया पर खेती ली, बाद में 10 एकड जमीन सब्जी, बरसीन, गेहूं के लिये खरीद ली। पूरी खेती के प्रबंधन के लिये अब उन्हे ट्रेक्टर की आवश्यकता थी। बीएमसी से आने वाली रकम, खेती की रकम के कारण बैंक में उनकी साख अच्छी थी। उन्हे खुशी-खुशी बैंक से ट्रेक्टर फायनेंसिंग हो गयी। प्रकाशरानी स्वयं निरअक्षर है परंतु उनका सपना था कि वे अपने बच्चो को पढाई में कोई कसर न रखे, यही कारण है कि उनके शिक्षक बेटे की पत्नि स्वास्थ्य सेविका है और तीनो बेटियां अपनी ससुराल में खुशहाल है। अब कैसा लगता है पूछे जाने पर प्रकाशरानी स्थानीय भाषा में कहती है - अरे मर गय, गोबर पटकत-पटकत का पतो हति कै, अच्छे ढोर पालो मुतको दूध मिल है, लिडधार पाले से कछु नई होत।



आदि गुरु शंकराचार्य जी की प्रतिमा हेतु धातु संग्रहण एवं जनजागरण के उद्देश्य से प्रारंभ एकात्म यात्रा आज से जिले में 
आज जिले के घोघरा में प्रवेश से होगी एकात्म यात्रा की शुरुआत 
सागर | 04-जनवरी-2018
 
 
 
    आदि गुरू शंकराचार्य जी की प्रतिमा हेतु धातु संग्रहण एवं जनजागरण अभियान के उद्देश्य से प्रारंभ एकात्म यात्रा की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। यात्रा आज 5 जनवरी को सुबह 9.45 बजे घोघरा से सागर में प्रवेश कर 10 बजे गढ़ाकोटा पहुंचेगी। यहां श्रीमती सुशीला भार्गव शादी घर में जनसंवाद एवं दोपहर के भोजन पश्चात यात्रा सागर मुख्यालय आयेगी। सागर मुख्यालय में खेल परिसर के समीप मैदान पर जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया है। संवाद के बाद यात्रा का रात्रि भोज एवं विश्राम गुलाब बाबा मंदिर सागर में होगा। दूसरे दिन यात्रा सागर से मालथौन जाएगी। यहां जनसंवाद एवं भोजन पश्चात यात्रा खुरई पहुंचेगी यहां यात्रा का जनसंवाद एवं रात्रि विश्राम एवं भोजन की व्यवस्था रखी गई है। इस मार्ग पर विभिन्न ग्रामों एवं नगरीय निकायों में यात्रा का स्वागत एवं पादुका पूजन हेतु समय निर्धारित कर दिया गया है। कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह ने आदि गुरु शंकराचार्य जी की प्रतिमा हेतु धातु संग्रहण एवं जनजागरण अभियान लिए एकात्म यात्रा की व्यवस्था एवं पूर्व तैयारियों की समीक्षा भी कर ली है और संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए है।
सागर में एकात्म यात्रा का मार्ग
     जन अभियान परिषद के श्री सुनील वर्मन ने एकात्म यात्रा के संबंध में बताया कि एकात्म यात्रा 5 जनवरी को सुबह 9.45 बजे घोघरा से सागर में प्रवेश करेगी। यहां से यात्रा 10 बजे गढ़ाकोटा पहुंचेगी, गढ़ाकोटा में जनसंवाद एवं दोपहर के भोजन के पश्चात यात्रा अपरान्ह 2 बजे परसोरिया, 2.45 बजे बहेरिया तिराहा, 3 बजे मकरोनिया और अपरान्ह 3.30 बजे खेल परिसर सागर पहुंचेगी। इन ग्रामों एवं नगरीय निकायों में यात्रा का स्वागत एवं पादुका पूजन होगा। खेल परिसर सागर में जनसंवाद का आयोजन किया गया है। एकात्म यात्रा के रात्रि भोज एवं विश्राम की व्यवस्था गुलाब बाबा मंदिर सागर में की गई है। इसी प्रकार 6 जनवरी 2018 को मोतीनगर चौहारा से चलकर यात्रा सुबह 9.15 बजे भगवानगंज, 9.55 बजे मेहर, 10 बजे बादंरी, 10.30 बजे रंजवास, 10.50 बजे मालथौन पहुंचेगी, मालथौन में जनसंवाद एवं दोपहर के भोजन के बाद यात्रा अपरान्ह 2 बजे खिमलासा, 2.20 बजे पथरिया, 2.30 बजे तेवरा,  2.45 बजे धांगर होते हुए 2.50 बजे खुरई पहुंचेगी। खुरई में जनसंवाद एवं यात्रा का रात्रि भोज एवं विश्राम व्यवस्था रखी गई है। 
    इसी प्रकार एकात्म यात्रा 7 जनवरी को प्रातः 9 बजे खुरई से प्रारम्भ होकर कठेली, बरोदिया, नौना, झिला, चन्द्रपुरा होते हुये 10 बजे राहतगढ़ पहंचेगी, यहां पादुका पूजन कर यात्रा को विदाई दी जायेगी। यहां से यात्रा रायसेन जिले में प्रवेश करेगी। 

बापूजी ज्ञान, भक्ति और कर्म के संत शिरोमणी - मुख्यमंत्री श्री चौहान 
सभी अपने निर्धारित दायित्वों का ईमानदारी से निर्वाह करें, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बापू जी की कथा सुनी तथा दर्शन किये, ओरछा में श्रीराम कथा का आयोजन 
सागर | 27-दिसम्बर-2017
 
 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार की सुबह ओरछा में चल रही श्री मुरारी बापूजी की रामकथा सुनी तथा संतों के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया। इसके पश्चात श्री चौहान एवं अतिथियों ने श्री रामराजा मंदिर में दर्शन किये और तत्पश्चात हेलीकॉप्टर से रीवा रवाना हो गये।
   श्री चौहान बुधवार की सुबह ओरछा हेलीपैड से सीधे कथास्थल पहुँचे तथा श्री बापूजी एवं संतों का आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बापूजी भक्ति, ज्ञान और कर्म योग संत शिरोमणी है। उन्होंने कहा उनके मुखारविंद से श्री रामकथा का श्रमण कर हम सभी पुण्य कमायें।
 
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शासकीय सेवक, जनप्रतिनिधि, आमजन सहित सभी अपने निर्धारित दायित्वों का ईमानदारी और निष्ठा से निर्वाह करें। उन्होंने कहा कि इसी से देश और समाज की प्रगति होगी और सभी का विकास होगा।
   श्री चौहान ने कहा कि मैं प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता की ओर से पूज्य बापूजी व सभी संतों को नमन करता हूँ। उन्होंने कहा कि संतों के दिखाये सत्मार्ग से ही सभी का कल्याण होगा। इस दौरान टीकमगढ़ जिले के प्रभारी मंत्री श्री रूस्तम सिंह, विधायक निवाड़ी श्री अनिल जैन, विधायक पृथ्वीपुर श्रीमती अनीता नायक, स्थानीय जनप्रतिनिधिगण, विधायक टीकमगढ़ श्री केके श्रीवास्तव, ओरछा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र सिंह राठौर, कमिश्नर श्री आशुतोष अवस्थी, आईजी श्री सतीष कुमार सक्सेना, डीआईजी, कलेक्टर श्री अभिजीत अग्रवाल, एसपी श्री कुमार प्रतीक एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में श्रोताबन्धु उपस्थित थे।
 
 
 
 
 
जल है, तो कल है                                                  बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ
परिवार कल्याण कार्यक्रम की लक्ष्यपूर्ति हेतु जी-जान से जुट जायें 
बैठक में अनुपस्थित विभागाधिकारियों को भविष्य के लिये चेतावनी दी गई
संयुक्त आयुक्त डॉ. राय ने की प्रमुख विभागों की पाक्षिक समीक्षा
     सागर 26 दिसम्बर 17/ कमिष्नर श्री आषुतोष अवस्थी के आदेषानुसार संयुक्त आयुक्त (विकास) डॉ. राजेष राय ने मंगलवार की शाम प्रमुख विभागों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में आपने क्रमषः लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, उद्योग एवं स्कूल षिक्षा विभाग की पाक्षिक समीक्षा की। बिना किसी सूचना के बैठक में अनुपस्थित रहने वाले विभागों क्रमषः खनिज, आबकारी एवं नगर एवं ग्राम निवेष विभागाधिकारियों के प्रति अप्रसन्नता व्यक्त कर संयुक्त आयुक्त ने इन्हें भविष्य हेतु चेतावनी दी।
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की समीक्षा में संयुक्त आयुक्त ने विभागीय संयुक्त संचालक को परिवार कल्याण कार्यक्रम हेतु संभाग के सभी जिलों को आवंटित नसबंदी लक्ष्यों की पूर्ति के लिये जी-जान से जुट जाने को कहा। बता दें कि संभाग के टीकमगढ़ जिले को 12000 नसबंदी आपरेषन लक्ष्य के विरूद्व अबतक 5770 आपरेषन हो चुके है। उपलब्धि 48.08 प्रतिषत रही। दमोह जिले को 11000 नसबंदी आपरेषन लक्ष्य के विरूद्व अबतक 4910 आपरेषन हो चुके है। उपलब्धि 44.64 प्रतिषत रही। छतरपुर जिले को 15500 नसबंदी आपरेषन लक्ष्य के विरूद्व अबतक 5855 आपरेषन हो चुके है। उपलब्धि 37.08 प्रतिषत रही। सागर जिले को 21000 नसबंदी आपरेषन लक्ष्य के विरूद्व अबतक 7480 नसबंदी आपरेषन हो चुके है। उपलब्धि 35.62 प्रतिषत रही। परन्तु पन्ना जिले को 8800 नसबंदी आपरेषन लक्ष्य के विरूद्व अबतक मात्र 179 आपरेषन हुये हैं। उपलब्धि मात्र 2.03 प्रतिषत रही। इस पर संयुक्त आयुक्त ने संयुक्त संचालक(स्वास्थ्य) को इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये संभाग के सभी जिलों के सीएमएचओ को निर्देषित करने को कहा। संयुक्त आयुक्त ने बताया कि मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना, राज्य बीमारी सहायता योजना व अन्य प्रकार की उपचार योजनाओं का जरूरतमंदो को सीधा लाभ पहुंचाने के लिये आगामी 7 जनवरी से संभाग के सभी जिला मुख्यालयों में उपचार षिविर लगाये जायेंगे। 
उद्योग विभाग की समीक्षा में मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में लक्ष्य के विरूद्व टीकमगढ़ जिले की उपलब्धि 61 प्रतिषत, दमोह जिले की उपलब्धि 54 प्रतिषत, सागर जिले की उपलब्धि 44 प्रतिषत, पन्ना जिले की उपलब्धि 40 प्रतिषत और छतरपुर जिले की उपलब्धि 30 प्रतिषत पाई गई। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में लक्ष्य के विरूद्व पन्ना जिले की उपलब्धि 87 प्रतिषत, टीकमगढ़ जिले की उपलब्धि 66 प्रतिषत, दमोह जिले की उपलब्धि 57 प्रतिषत, सागर जिले की उपलब्धि 45 प्रतिषत और छतरपुर जिले की उपलब्धि 42 प्रतिषत पाई गई। मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना में लक्ष्य के विरूद्व पन्ना जिले की उपलब्धि 80 प्रतिषत, टीकमगढ़ जिले की उपलब्धि 70 प्रतिषत, दमोह जिले की उपलब्धि 53 प्रतिषत, सागर जिले की उपलब्धि 47 प्रतिषत, और छतरपुर जिले की उपलब्धि 38 प्रतिषत पाई गई। इस पर संयुक्त आयुक्त ने संयुक्त संचालक (उद्योग) को इन सभी योजनाओं में शत-प्रतिषत लक्ष्यपूर्ति के लिये निर्देषित किया गया।
स्कूल षिक्षा विभाग की समीक्षा में बच्चों को साईकिल वितरण के मामले में पाया गया कि संभाग के सभी जिलों में छटवीं कक्षा में विद्यारत कुल 24 हजार 534 विद्यार्थियों को और नवमीं कक्षा में विद्यारत कुल 65 हजार 545 विद्यार्थियों को साईकिल का वितरण होना है। संयुक्त संचालक (लोक षिक्षण) ने बताया कि जनवरी 2018 में इन सभी विद्यार्थियों को साईकिल वितरण कार्य सम्पन्न कराया जायेगा। स्कूल षिक्षा विभाग द्वारा दी जा रही समस्त प्रकार की छात्रवृत्ति योजनाओं में संभाग का पन्ना जिला 99.94 प्रतिषत के साथ पूरे प्रदेष में तीसरे पायदान पर है। सागर जिला 99.45 प्रतिषत के साथ पूरे प्रदेष में 22वीं पायदान पर है। छतरपुर जिला 98.54 प्रतिषत के साथ पूरे प्रदेष में 32वीं पायदान पर है। दमोह जिला 97.90 प्रतिषत के साथ पूरे प्रदेष में 37वीं पायदान पर है। इसी प्रकार टीकमगढ़ जिला 96.96 प्रतिषत के साथ पूरे प्रदेष में 43वीं पायदान पर है।
पाक्षिक समीक्षा का रोस्टर
उल्लेखनीय है कि कमिष्नर श्री आषुतोष अवस्थी द्वारा हर पखवाड़े में सभी विभागों की माइक्रो लेवल पर समीक्षा की जा रही है। बताया गया कि प्रतिमाह प्रथम एवं तृतीय सोमवार को शाम 5 बजे से श्रम, महिला एवं बाल विकास, महिला सषक्तिकरण, आदिम जाति कल्याण तथा सामाजिक न्याय विभाग की समीक्षा की जायेंगी। द्वितीय एवं चतुर्थ सोमवार को शाम 5 बजे से लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं मध्यप्रदेष राज्य पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण की समीक्षा की जायेगी। द्वितीय एवं चतुर्थ मंगलवार को शाम 5 बजे से नगरीय प्रषासन, प्रदूषण नियंत्रण, नगर एवं ग्राम निवेष, उद्योग एवं खनिज, स्कूल षिक्षा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आबकारी विभाग की समीक्षा की जायेगी। इसी तरह प्रतिमाह प्रथम एवं तृतीय बुधवार को शाम 5 बजे से कृषि, सहकारिता, नागरिक आपूर्ति निगम, खाद्य, मंडी, उद्यानिकी, मत्स्य, पषु चिकित्सा सेवाएं, बुन्देलखण्ड दुग्धसंघ एवं एम.पी. एग्रो विभाग की समीक्षा की जायेगी। क्रमांक 98/1548/2017 
 
संभागीय जनसम्पर्क कार्यालय सागर (म.प्र.)
समाचार
जल है, तो कल है                                                  बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ
जगन्नाथपुरी यात्रा हेतु लॉटरी प्रक्रिया आज
सागर 26 दिसम्बर 17/ म.प्र. शासन ,धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग भोपाल  निर्देशानुसार सागर जिले के  तीर्थयात्रियों को जगन्नाथपुरी यात्रा के लिए 11 जनवरी को भेजा जाना है । शासन द्वारा सागर जिले को आवंटित निर्धारित कोटे से अधिक संख्या में आवेदन प्राप्त होने से तीर्थ यात्रियों का चयन लॉटरी प्रक्रिया द्वारा दिनांक 27 दिसम्बर को दोपहर 2 बजे एन आई सी सागर में किया जाएगा।
क्रमांक 99/1549/2017
डिजिटल बाजार उपभोक्ता संरक्षण के लिए चुनौती है - कलेक्टर
राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस कार्यक्रम संपन्न
सागर 26 दिसम्बर 17/ राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस के अवसर पर खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग सागर द्वारा सामाजिक संस्था सचेत के सहयोग से कार्यक्रम का आयोजन शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय के सभागार में आयोजित किया गया इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिले के कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह तथा अध्यक्षता उच्च शिक्षा विभाग के क्षेत्रीय संचालक प्राचार्य जी एस रोहित ने की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह ने कहा कि वर्तमान युग उपभोक्ता का युग है संचार क्रांति और भूमंडलीकरण के दौर मैं संपूर्ण विश्व बाजार एक इकाई के रूप में स्थापित हुआ है। इस सुविधा का लाभ उठाने तथा ठगी से बचने के लिए उपभोक्ता को जागरुक होना जरूरी है। डिजिटल ट्रांसेक्शन एवं ऑनलाईन शापिंग उपभोक्ता संरक्षण के लिये नई चुनौतियां लेकर आ रहे है। इसमें विद्यार्थियों के स्तर से ही सतर्कता विकसित करना आवष्यक होगा। कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ. जी.एस.रोहित ने उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 के प्रावधानों पर विस्तृत प्रकाष डाला। कार्यक्रम आयोजक खाद्य नियंत्रक सागर श्री राजेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि शासन स्तर पर उपभोक्ताओं के संरक्षण व जागरूकता के लिए निरंतर प्रयास जारी है। जिनके कारण ठगी पर बहुत अधिक नियंत्रण स्थापित करने में सफलता प्राप्त हुई है। जिले के उपभोक्ता फोरम में 6 जून 2016 से 4 अक्टूबर 2017 तक 250 प्रकरणों में 2 करोड़ 55 लाख 67 हजार रूपये के प्रकरण उपभोक्ताओं के पक्ष में हरजाने एवं क्षतिपूर्ति के लिये निर्णित किये गये है। 
समारोह के दौरान विभिन्न प्रतिभागियों को पुरस्कार एवं प्रमाणपत्र प्रदान किये गये। इस अवसर पर नापतोल, खाद्य एवं औषधि प्रषासन विभाग, गैस एसोषियेषन, पेट्रोलपंप एसोषियेषन द्वारा उपभोक्ता जागरूकता प्रदर्षनी का आयोजन भी किया गया। 
क्रमांक 100/1550/2017
सुषासन दिवस पर संभागायुक्त कार्यालय में ली गई शपथ
संयुक्त आयुक्त डॉ. राय ने दिलायी शपथ
सागर 26 दिसम्बर 17/ सुषासन दिवस के मौके पर मंगलवार को संभागायुक्त कार्यालय सागर में सुषासन दिवस की शपथ दिलाई गई। कमिष्नर श्री आषुतोष अवस्थी के आदेषानुसार संयुक्त आयुक्त (विकास) डॉ. राजेष राय ने संभागायुक्त कार्यालय में पदस्थ सभी शासकीय सेवकों को शपथ दिलाई और सभी से पूरी निष्ठा, लगन और तन्मयता से अपने-अपने पदीय दायित्वों का निर्वहन करने का आव्हान किया। 
क्रमांक 101/1551/2017
 
 
 
जल है, तो कल है                                                  बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ
सुषासन दिवस पर कार्यषाला सम्पन्न
बेहतर काम हम सबकी पहचान बनाता है - विधायक
संवेदनषीलता का पुट हो हमारी कार्यषैली में-कलेक्टर
सागर 26 दिसम्बर 17/ भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्मदिन को प्रदेष सरकार सुषासन दिवस के रूप में मना रही है। इसी तारतम्य में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्मदिन के उपलक्ष्य पर सुषासन से संबंधित संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन, कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह, नगर निगम आयुक्त श्री अनुराग वर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती प्रभा श्रीवास्तव, श्री अविनाष रावत एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 
सुषासन दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में विधायक श्री जैन ने कहा कि साल भर में एक दिन मनाया जाने वाला यह दिवस हर तिमाही में आयोजित किया जाना चाहिये। सभी अधिकारी अपने कार्यों की समीक्षा एवं मूल्यांकन कर उसे ओर बेहतर करने के लिये तत्पर रहें। श्री अटल जी के बारे में उन्होंने कहा कि आपका व्यक्तित्व हमेषा प्रभावषाली रहा है। विपक्ष भी आपकी इस अद्भुत प्रतिभा से प्रभावित रहा है। श्री जैन ने कहा कि जब भी कोई श्री अटल बिहारी जी से मिलकर जाता उसके चेहरे प्रसन्नता होती थी यही विषेषता हमें अपने जीवन एवं कार्यों में लाने की आवष्यकता है। सुषासन दिवस के इस अवसर पर कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह ने अपने अनुभव साझा करते हुये कहा कि हमें स्वयं को अनुषासित रखकर कार्य करने की आवष्यकता है। इस हेतु आपने सेल्फ मॉडल कोड ऑफ कण्डक्ट अपनाने की बात कही। भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी और पं. दीनदयाल उपाध्याय की विचारधारा का जिक्र करते हुए कहा कि इन विभूतियों की संकल्पना को प्रदेष सरकार बखूबी रूप से साकार करने में प्रयासरत् है। सीएम हेल्पलाईन एवं लोक सेवा गारंटी अधिनियम इसके अनूठे एवं संवेदनषील उदाहरण है। आपने सहायक संचालक श्री धीरेन्द्र मिश्रा से आगे भी इसी तरह के संगोष्ठी कार्यक्रम आयोजित करने को कहा। साथ ही विजन डाक्यूमेंट और प्रभावी पॉलिसी को लक्ष्य बनाकर काम करने एवं अपनी प्रतिभा को निखारने का कहा। नगर निगम आयुक्त श्री अनुराग वर्मा ने कहा कि पद की अपनी-अपनी जिम्मेदारियां होती है। हम सब अपना काम बेहतर तरीके से करें इसी से सुषासन की प्राप्ति हो जायेगी। वक्ता के रूप में आये श्री आर.के.गोस्वामी ने बताया कि जनसामान्य की शासन तक सीधी पहुंच ही सुषासन है। साथ ही प्रषासन में बेहतर कार्य करने हेतु सुझाव भी दिये। सामाजिक, राजनैतिक एवं प्रषासनिक जीवन में उच्च मापदण्ड रखने वाले अनूठी प्रतिभा के धनी श्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर सुषासन संगोष्ठी में जिम्मेदारी, संवेदनषीलता, सहभागिता, पारदर्षिता, एवं तटस्थता जैसे आयामों को सुचारू रूप से क्रियान्वित करने की आवष्यकता है। यह विचार श्री अषोक पन्या ने सभाकक्ष में साझा किये। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री चन्द्रषेखर शुक्ला, प्रो. अमन कुमार जैन, श्री ए.के. नेमा एवं अन्य अधिकारियों ने अपने-अपने विचार एवं अनुभव साझा किये। साथ ही शासन अपने लिये नहीं बल्कि जनता के हित में किये जाने की बात कही। तत्पष्चात् सभाकक्ष में कलेक्टर श्री सिंह द्वारा सुषासन दिवस पर शपथ दिलाई गई और सुषासन दिवस पर उत्कृष्ट कार्य हेतु इ-गवर्नेंस विभाग के अधिकारियों को प्रषस्ति पत्र भी प्रदान किये गये।
  • Address: Harihar Bhavan Nowgong Dist. Chatarpur Madhya Pradesh  , Mo : 98931-96874 , Email :  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. Web : www.ganeshshankarsamacharsewa.in