देवास समाचार

 

प्रदेश के स्कूलों में होंगी "मतदाता जागरूकता" पर प्रतियोगिताएं 
स्कूल शिक्षा विभाग ने जारी किये निर्देश 
देवास | 08-जनवरी-2018
 
   राज्य के स्कूलों में मतदाता जागरूकता विषय को लेकर विभिन्न प्रतियोगिताएँ आयोजित होंगी। इनमें निबंध, वाद-विवाद, चित्रकला और स्लोगन प्रतियोगिताएँ प्रमुख हैं। प्रतियोगिता के आयोजन को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग ने जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किये हैं। स्कूलों में यह प्रतियोगिताएँ 12 जनवरी को होंगी।
   निबंध प्रतियोगिता का विषय सुलभ और सरल चुनाव, राष्ट्रीय मतदाता दिवस का महत्व, निर्वाचन में मतदान का महत्व, मतदान की अनिवार्यता, ऑनलाइन वोटिंग, रखे गये हैं। वाद-विवाद प्रतियोगिता का विषय मतदान के लिये जरूरी है वोटर आई.डी., युवा ही लोकतंत्र का आधार हैं, ऑनलाइन वोटिंग एक बेहतर विकल्प, मजबूत लोकतंत्र महिलाओं की भागीदारी के बिना संभव नहीं है और मतदान की अनिवार्यता, होंगे। चित्रकला प्रतियोगिता में जो विषय रखे गये हैं, उनमें आदर्श मतदान केन्द्र, नि:शक्त मतदाताओं की सुविधाएँ और मतदाता सहायता केन्द्र हैं। स्लोगन प्रतियोगिता के लिये मतदाता शिक्षा, नैतिक मतदान, बिना लालच, भय एवं जातिवाद के मतदान, चुनाव में महिलाओं की भागीदारी, लोकतंत्र में युवाओं की भूमिका विषय रखे गये हैं।
   प्रदेश में मतदाताओं में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। दिवस पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में शामिल होने वाले विजयी विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया जायेगा। राज्य-स्तरीय प्रतियोगिता सुभाष उत्कृष्ट विद्यालय में होगी।

 

रोजगार मेले का आयोजन 2 जनवरी को 
देवास | 30-दिसम्बर-2017
 
  मध्य प्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मप्र शासन जनपद पंचायत देवास द्वारा रोजगार मेले का आयोजन किया जाएगा। एक दिवसीय रोजगार मेले का आयोजन 2 जनवरी 2018 को प्रातः 11.00 बजे से 4.00 बजे तक आईटीआई परिसर देवास में किया जाएगा। जिसमें बेरोजगार आवेदकों को निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने हेतु विभिन्न कम्पनियों को आमंत्रित किया गया है, जो मेले में उपस्थित आवेदकों का साक्षात्कार लेकर प्राथमिक चयन की कार्यवाही करेगी। इसके अतिरिक्त इन्दौर, भोपाल, मेहतवाडा-सीहोर सहित अन्य जिलों एवं स्थानों से भी निजी कम्पनियां भाग लेगी। 
   जिला परियोजना प्रबंधक मप्र डे ग्रामीण आजीविका मिशन देवास ने बताया कि इन कम्पनियों में न्यूनतम 5वीं पास, आय.टी.आय. पास एवं उच्च योग्यताधारी एवं अनुभवी भी सम्मिलित हो सकते हैं। वेतन हर कम्पनी का अलग-अलग होगा। कम्पनी की ओर से मिलने वाले अन्य लाभ भी दिये जाएंगे। उन्होंने आने वाले आवेदकों से कहा है कि अपने समस्त प्रमाण-पत्र एवं अनुभव प्रमाण पत्रों की फोटो कॉपी तथा दो पासपोर्ट साईज के फोटो साथ लेकर आए।  इस प्रयोजन हेतु किसी प्रकार का मार्गव्यय आदि देय नहीं होगा। स्वरोजगार के इच्छुक आवेदकों को शासन की स्वरोजगार संबंधी योजनाओं की जानकारी हेतु संबंधित सभी विभाग उपलब्ध रहेंगे।

 

संत कबीर की स्मृति में "निर्गुण समारोह" आज एवं कल 
देवास | 27-दिसम्बर-2017
 
   मध्यप्रदेश शासन संस्कृति विभाग के लिए भोजपुरी साहित्य अकादमी भोपाल द्वारा 28 एवं 29 दिसंबर को संत कबीर की स्मृति में निर्गुण समारोह का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम का शुभारंभ 28 दिसंबर को स्थानीय मल्हार स्मृति मंदिर के सभागृह में सायं 7.30 बजे से होगा। कलेक्टर आशीष सिंह ने शहर एवं जिले के सभी कबीर पंथी, कला रसिक प्रेमी एवं संगीत प्रेमियों में कार्यक्रम में उपस्थित होने का आग्रह किया है। कायर्क्रम में प्रवेश नि:शुल्क होगा।
   अपर कलेक्टर सारिका भूरिया ने बताया कि 28 दिसंबर को भोजपुरी निर्गुण गायन होगा। जिसमें गीताबाई पराग टोंक देवास द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी। कार्यक्रम में कबीर पदों के गायिकों के सबसे सम्मोहक लोक गायकों में से एक तथा पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित श्री प्रहलाद टिपानिया उज्जैन प्रस्तुति देंगे। उन्होंने बताया कि 29 दिसंबर को भोजपुरी गायिका पटना बिहार की रीना कुमारी (मेहरा), भोजपुरी गायक रामेश्वर गोप ग्राम माधोपुर जिला छपरा तथा जबलपुर के गजल एवं भजन गायक अनवर हुसैन प्रस्तुति देंगे।

 

वैज्ञानिक सलाहकार समिति संपन्न 
देवास | 22-दिसम्बर-2017
 
  कृषि विज्ञान केन्द्र देवास की 21वीं वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक का आयोजन गत दिवस किया गया। बैठक में संयुक्त विस्तार सेवाएं ग्वालियर के डॉ.यू.पी.एस भदौरिया, कृषि महाविद्यालय इन्दौर के डॉ. एस. एन. उपाध्याय, सोयाबीन अनुसंधान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. दुपारे, गेंहू अनुसंधान केन्द्र इंदौर के वैज्ञानिक डॉ. साई. प्रसाद, केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. निषिथ गुप्ता, डॉ.के.एस. भार्गव, डॉ. लक्ष्मी, नीरजा पटेल, डॉ. मौनी सिंह व अंकिता पाण्डेय एवं अन्य संबंधित उपस्थित थे।
   बैठक में डॉ. यू.पी.एस.भदौरिया ग्वालियर ने किसानों को फसलों के कुपोषण को दूर करने के लिए पोषण वाटिका को और प्रभावी ढंग के बारे में बताया। उन्होंने केन्द्र के माध्यम से बीज के किट किसानों को उपलब्ध कराने हेतु निर्देश भी दिए। 
   बैठक में केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. ए.के. दीक्षित ने विगत 6 माहों के आयोजित गतिविधियों की प्रगति प्रतिवेदन एवं आगामी 6 माह की प्रस्तावित कार्ययोजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी। बैठक में जिले के अधिकांश विभागों के अधिकारियों ने सहभागिता दी। 
   बैठक में डॉ. दुपारे ने बताया कि कृषि अभियांत्रिकी विभाग के सहयोग से केन्द्र द्वारा आयोजित कस्टम हायरिंग सेंटर पर प्रक्षेत्र परीक्षण पर ध्यान देकर उसे ओर अधिक सुदृढ़ किया जाये। डॉ. एस.एन. उपाध्याय ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दुगुना करने हेतु समन्वित कृषि प्रणाली को अपनाने की बात कही। गेहूं अनुसंधान केन्द्र इन्दौर डॉ. साई प्रसाद ने ड्यूरम गेहूं के मूल्य संवर्धन पर प्रशिक्षण आयोजित करने का सुझाव दिया।

 

जॉब फेयर का आयोजन 23 दिसंबर को 

देवास | 20-दिसम्बर-2017
 
 नेशनल कैरियर सेन्टर श्रम मंत्रालय नई दिल्ली, रोजगार निर्माण बोर्ड मध्य प्रदेश शासन भोपाल के आदेशानुसार जिला प्रशासन देवास के मार्गदर्शन में जिला रोजगार कार्यालय देवास द्वारा मेगा जॉब फेयर का आयोजन किया जाएगा। जॉब फेयर का आयोजन 23 दिसंबर को प्रात: 11 बजे से  दोपहर 3 बजे तक आईटीआई परिसर विकास नगर चौराहा देवास में आयोजित किया जाएगा। इस मेले में जिले के समस्त बेरोजगार युवक-युवतियों को रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए अवसर प्रदान किए जाएंगे।
    जिला रोजगार अधिकारी रवि वर्मा ने बताया कि मेगा जॉब फेयर में देवास से टेक्सपोर्ट इण्डिया पेरीवेयर रोका, मां चामुण्डा इन्टरप्राइजेस भण्डारी फाइल, इन्दौर से डिजायर रिसर्च शेयर बीपीओ हिन्दुस्तान ग्लोबल साल्युशन (फ्लीपकार्ड डिलीवरी बॉय के पद हेतु ) आयएलएफएस इन्दौर के अतिरिक्त इन्श्योरेंस ग्रुप रहेंगी। साथ ही पीथमपुर, धार, इन्दौर, मेहतवाड़ा (सीहोर) आदि जगहों से भी निजी कम्पनियां आएंगी। उक्त कम्पनियों में योग्यता 5वीं पास से लेकर स्नातक एवं आय.टी.आय. पास एवं उच्च योग्यताधारी एवं अनुभवी भी सम्मिलित हो सकते है। वेतन हर कम्पनी का अपना अलग-अलग कार्य होने से उनका वेतन भी कम्पनियों के नियमानुसार होगा। कम्पनी की ओर  से मिलने वाले अन्य लाभ भी दिये जाएंगे। आने वाले आवेदकों से अनुरोध है कि अपने समस्त प्रमाण पत्र एवं अनुभव प्रमाण पत्रो की फोटो कापी तथा दो पासपोर्ट साईज के फोटो साथ लेकर आए। इस प्रयोजन हेतु किसी प्रकार का मार्ग व्यय आदि देय नहीं होगा। अन्य जानकारी के लिए कार्यालय का नम्बर 07272-222296 पर कॉल करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

सहकारी संस्था को परिसमापन में लाया गया 
देवास | 19-दिसम्बर-2017
 
   उप/सहायक पंजीयक सहकारी समितियां जिला देवास द्वारा जिले की सहकारी संस्था को परिसमापन में लाया जाकर सहकारिता निरीक्षक पर्वतसिंह निगवाल को परिसमापक नियुक्त किया गया है। संस्था में जय किसान बीज उत्पादक सहकारी संस्था मर्यादित जानसूर को परिसमापन में लाया गया है। मप्र सहकारी सोसायटी नियम के अंतर्गत उक्‍त सहकारी संस्थाओं के विरूद्ध दावों को 60 दिवस के अंदर मय प्रमाण के यदि कोई हो तो लिखित रूप से कार्यालय सहायक पंजीयक (अंकेक्षण) सहकारी संस्थाएं एबी रोड देवास में कार्यालयीन दिवसों में दोपहर 12 से 2 बजे तक प्रस्तुत किया जा सकता है।
   यदि उक्त संस्थाओं के अभिलेख या आस्तियां, डेड स्टॉक संस्था का रिकॉर्ड किसी के पास हो तो अविलंब सौंपें। यदि बाद में ज्ञात होता है कि किसी के द्वारा जानबुझकर आस्तियों या अभिलेख एवं रिकॉर्ड डेड स्टॉक नहीं सौंपे गए हैं तो संबंधित के विरूद्ध वसूली हेतु विधिवत वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। जिसकी संपूर्ण जवाबदारी संबंधित की रहेगी। यदि उक्त संस्था के अभिलेख एवं आस्तियां समस्त प्रयासों के बावजूद भी प्राप्त नहीं होती हैं तो दावेदारों/साहुकारों/सदस्यों के दो आपत्तियों का निराकरण गत वर्षों के वित्तीय पत्रकों में दर्शाई गई लेनदारी एवं देनदारी की प्रविष्टियां बोगस, शून्यकाल मानकर तदानुसार पंजीयन निरस्ती हेतु अंतिम प्रतिवेदन प्रस्तुत कर सक्षम अधिकारी के अनुमोदन से पंजीयन निरस्ती की कार्यवाही की जाएगी।

 

स्पर्श अभियान एवं एडिप योजनान्तर्गत दिव्यांगजनों का परीक्षण 

87 दिव्यांगों को सहायक उपकरण दिए जाएंगे 
देवास | 18-दिसम्बर-2017
 
 
 
 
   
  
   कलेक्टर आशीष सिंह के आदेशानुसार जिले में स्पर्श अभियान एवं एडिप योजनान्तर्गत दिव्यांगजनों का परीक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत आज सोमवार को महारानी चिमनाबाई हायर सेकेण्डरी स्कूल देवास में दिव्यांगों का परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 139 दिव्यांगों द्वारा पंजीयन कराया जाकर विशेषज्ञ चिकित्साकों द्वारा उनका परीक्षण किया गया है। इस अवसर पर उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण राजेश कामदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत देवास राजेन्द्र यादव, प्राचार्य महा.चि.बाई उ.मा.वि. देवास एबी मानेकर, सचिव भारतीय रेडक्रास सोसायटी देवास डॉ. के.के धूत उपस्थित थे।
   उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन कल्याण राजेश कामदार ने बताया कि परीक्षण उपरान्त 37 अस्थि बाधित, 14 श्रवण बाधित, 36 दृष्टि बाधित, 03 मानसिक दिव्यांगों को विभिन्न प्रकार के सहायक उपकरण हेतु अनुशंसा की जाकर 79 दिव्यांगों को दिव्यांगता प्रमाण-पत्र जारी किये है। दिव्यांगों का परीक्षण डॉ. ए.एम. त्रिपाठी अस्थिरोग विशेषज्ञ, डॉ एस.एस. डंगावकर नाक-कान-गला रोग विशेषज्ञ, डॉ. मनीषा मिश्रा मेडिकल आफिसर, डॉ. विजया सतपाल मानसिक रोग विशेषज्ञ द्वारा किया गया।
इन विकासखंडों में होगा शिविरों का आयोजन
   उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन कल्याण ने बताया कि 19 दिसंबर को सोनकच्छ में, 20 दिसंबर को टोंकखुर्द में,  21 दिसंबर को बागली में, 22 दिसंबर को कन्नौद में, 23 दिसंबर को खातेगांव में दिव्यांग परीक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा।

 

स्पर्श अभियान एवं एडिप योजनान्तर्गत दिव्यांगजनों का परीक्षण 
87 दिव्यांगों को सहायक उपकरण दिए जाएंगे 
देवास | 18-दिसम्बर-2017
 
  कलेक्टर आशीष सिंह के आदेशानुसार जिले में स्पर्श अभियान एवं एडिप योजनान्तर्गत दिव्यांगजनों का परीक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत आज सोमवार को महारानी चिमनाबाई हायर सेकेण्डरी स्कूल देवास में दिव्यांगों का परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 139 दिव्यांगों द्वारा पंजीयन कराया जाकर विशेषज्ञ चिकित्साकों द्वारा उनका परीक्षण किया गया है। इस अवसर पर उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण राजेश कामदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत देवास राजेन्द्र यादव, प्राचार्य महा.चि.बाई उ.मा.वि. देवास एबी मानेकर, सचिव भारतीय रेडक्रास सोसायटी देवास डॉ. के.के धूत उपस्थित थे।
        उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन कल्याण राजेश कामदार ने बताया कि परीक्षण उपरान्त 37 अस्थि बाधित, 14 श्रवण बाधित, 36 दृष्टि बाधित, 03 मानसिक दिव्यांगों को विभिन्न प्रकार के सहायक उपकरण हेतु अनुशंसा की जाकर 79 दिव्यांगों को दिव्यांगता प्रमाण-पत्र जारी किये है। दिव्यांगों का परीक्षण डॉ. ए.एम. त्रिपाठी अस्थिरोग विशेषज्ञ, डॉ एस.एस. डंगावकर नाक-कान-गला रोग विशेषज्ञ, डॉ. मनीषा मिश्रा मेडिकल आफिसर, डॉ. विजया सतपाल मानसिक रोग विशेषज्ञ द्वारा किया गया।
इन विकासखंडों में होगा शिविरों का आयोजन
         उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन कल्याण ने बताया कि 19 दिसंबर को सोनकच्छ में, 20 दिसंबर को टोंकखुर्द में,  21 दिसंबर को बागली में, 22 दिसंबर को कन्नौद में, 23 दिसंबर को खातेगांव में दिव्यांग परीक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा।

 

 

मशरूम उत्पादन कर स्वावलम्बी बने 

देवास | 14-दिसम्बर-2017
 
 
   कृषि विज्ञान केन्द देवास द्वारा भूमिहीन किसानों हेतु "उत्पादन एवं प्रसंस्करण" विषय पर आठ दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिले में भूमिहीन तथा बेरोजगार किसानों के लिये मशरूम उत्पादन एक लाभकारी धंधा बन सकता हैं। इस प्रशिक्षण द्वारा ज्यादा से ज्यादा किसानों को एवं बेरोजगार युवक एवं युवतियों को रोजगार के समान अवसर प्राप्त हो सकेंगे। 
   प्रशिक्षण में केन्द्र की प्रसार वैज्ञानिक अंकिता पाण्डेय ने कार्यक्रम के अन्तर्गत मशरूम उत्पादन तकनीक को प्रयोगात्मक रुप से प्रशिक्षाणर्थियों को अवगत कराया एवं प्रशिक्षार्थियों द्वारा कराया गया तथा मशरूम होने वाले भोज्य तथा औषधीय गुणों से भी किसानों व प्रशिक्षार्थियों को अवगत कराया। कार्यक्रम की शुरूआत में केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. निशिथ गुप्ता ने प्रशिक्षार्थियों से कहा कि मशरूम उत्पादन करके अत्यधिक आय प्राप्त कर सकते है। यदि वे इसी दिशा में अपने कदम बढ़ाये और मशरूम उत्पादन तकनीक की गुणवत्ता का ध्यान दे तो निश्चित ही अपना व्यवसाय प्रारम्भ कर सकते हैं। देवास जिले में बेरोजगार की समस्या का समाधान कर सकते है। 
   केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. के.एस. भार्गव ने कहा कि मशरूम को दैनिक भोजन का आवश्यक अंग बुद्धिमता का प्रतीक है क्यों कि इसके नियमित सेवन से शरीर में रोगरोधिता का विकास होता हैं। विशेष रूप से चर्चा की जाये तो अधिक प्रोटीन की मात्रा जिसमें उपयोगी अमीनो अम्लों का अधिक अंश होता हैं।  
   प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक नीरजा पटेल ने भी मशरूम में होने वाले विभिन्न रोगों के उपचार का प्रबंधन करना बतलाया तथा फार्मेलिन तथा कवकनाशी द्वारा उत्पादन हेतु प्रयुक्त होने वाले कार्बनिक स्त्रोतों को 12 से 14 घंटे हेतु 1 से 2 प्रतिशत फार्मेलिन 0.05 प्रतिशत वाबिस्टिन के घोल में भिगोना तथा सावधानी रखने योग्य बातों को किसानों को कहा। 
   मत्स्य वैज्ञानिक डॉ.लक्ष्मी ने मशरुम खुम्बी की वितरण व्यवस्था तथा उसके पैकिंग किस तरह कर विवरण कर अधिक से अधिक मूल्य अर्जित कर सकते है। मृदा वैज्ञानिक डॉ. सविता कुमारी ने किसानों को मशरुम के स्पेंट का उपयोग कर वर्मी कम्पोस्ट जैविक खाद बनाने की जानकारी दी। प्रशिक्षण के दौरान कृषकों को कृषि महाविद्यालय, इन्दौर में स्थापित मशरुम यूनिट का भ्रमण डॉ.वी.पी.मिश्रा पौध संरक्षण विभाग प्रमुख व डॉ.आर.के.सिंह के मार्गदर्शन में कराया गया। साथ ही प्रशिक्षण के दौरान 10.12.2017 को विश्वविद्यालय के निदेशक डॉ. एन.एस.बनाफर द्वारा कृषकों को मशरुम में लघु उघोग हेतु प्रेरित किया। 
   कार्यक्रम के अंतिम दिवस पर डॉ.ए.के.तिवारी, निदेशक दलहन उत्पादन, भोपाल एवं केन्द्र प्रमुख डॉ.ए.के.दीक्षित द्वारा किसानों को प्रोत्साहित करते हुए प्रमाण पत्र एवं उच्च गुणवत्ता का बीज (आयस्टर फ्लोरिडा) वितरित किया गया। डॉ. मौनी सिंह ने किसानों को मशरुम द्वारा बनने वाली विभिन्न व्यजनों की जानकारी दी। इस प्रशिक्षण के अन्तर्गत 25 किसानों ने भाग लिया तथा मशरूम उत्पादन प्रकिया को विधिवत सीखा।  

मशरूम उत्पादन कर स्वाबलम्बी बने 

देवास | 14-दिसम्बर-2017
 
 
   कृषि विज्ञान केन्द देवास द्वारा भूमिहीन किसानों हेतु "उत्पादन एवं प्रसस्कंरण" विषय पर आठ दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिले में भूमिहीन तथा बेरोजगार किसानों के लिये मशरूम उत्पादन एक लाभकारी धंधा बन सकता हैं। इस प्रशिक्षण द्वारा ज्यादा से ज्यादा किसानों को एवं बेरोजगार युवक एवं युवतियों को रोजगार के समान अवसर प्राप्त हो सकेंगे। 
   प्रशिक्षण में केन्द्र की प्रसार वैज्ञानिक अंकिता पाण्डेय ने कार्यक्रम के अन्तर्गत मशरूम उत्पादन तकनीक को प्रयोगात्मक रुप से प्रशिक्षाणर्थियों को अवगत कराया एवं प्रशिक्षार्थियों द्वारा कराया गया तथा मशरूम होने वाले भोज्य तथा औषधीय गुणों से भी किसानों व प्रशिक्षार्थियों को अवगत कराया। कार्यक्रम की शुरूआत में केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. निशिथ गुप्ता ने प्रशिक्षार्थियों से कहा कि मशरूम उत्पादन करके अत्यधिक आय प्राप्त कर सकते है। यदि वे इसी दिशा में अपने कदम बढ़ाये और मशरूम उत्पादन तकनीक की गुणवत्ता का ध्यान दे तो निश्चित ही अपना व्यवसाय प्रारम्भ कर सकते हैं। देवास जिले में बेरोजगार की समस्या का समाधान कर सकते है। 
   केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. के.एस. भार्गव ने कहा कि मशरूम को दैनिक भोजन का आवश्यक अंग बुद्धिमता का प्रतीक है क्यों कि इसके नियमित सेवन से शरीर में रोगरोधिता का विकास होता हैं। विशेष रूप से चर्चा की जाये तो अधिक प्रोटीन की मात्रा जिसमें उपयोगी अमीनो अम्लों का अधिक अंश होता हैं।  
   प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक नीरजा पटेल ने भी मशरूम में होने वाले विभिन्न रोगों के उपचार का प्रबंधन करना बतलाया तथा फार्मेलिन तथा कवकनाशी द्वारा उत्पादन हेतु प्रयुक्त होने वाले कार्बनिक स्त्रोतों को 12 से 14 घंटे हेतु 1 से 2 प्रतिशत फार्मेलिन 0.05 प्रतिशत वाबिस्टिन के घोल में भिगोना तथा सावधानी रखने योग्य बातों को किसानों को कहा। 
   मत्स्य वैज्ञानिक डॉ.लक्ष्मी ने मशरुम खुम्बी की वितरण व्यवस्था तथा उसके पैकिंग किस तरह कर विवरण कर अधिक से अधिक मूल्य अर्जित कर सकते है। मृदा वैज्ञानिक डॉ. सविता कुमारी ने किसानों को मशरुम के स्पेंट का उपयोग कर वर्मी कम्पोस्ट जैविक खाद बनाने की जानकारी दी। प्रशिक्षण के दौरान कृषकों को कृषि महाविद्यालय, इन्दौर में स्थापित मशरुम यूनिट का भ्रमण डॉ.वी.पी.मिश्रा पौध संरक्षण विभाग प्रमुख व डॉ.आर.के.सिंह के मार्गदर्शन में कराया गया। साथ ही प्रशिक्षण के दौरान 10.12.2017 को विश्वविद्यालय के निदेशक डॉ. एन.एस.बनाफर द्वारा कृषकों को मशरुम में लघु उघोग हेतु प्रेरित किया। 
   कार्यक्रम के अंतिम दिवस पर डॉ.ए.के.तिवारी, निदेशक दलहन उत्पादन, भोपाल एवं केन्द्र प्रमुख डॉ.ए.के.दीक्षित द्वारा किसानों को प्रोत्साहित करते हुए प्रमाण पत्र एवं उच्च गुणवत्ता का बीज (आयस्टर फ्लोरिडा) वितरित किया गया। डॉ. मौनी सिंह ने किसानों को मशरुम द्वारा बनने वाली विभिन्न व्यजनों की जानकारी दी। इस प्रशिक्षण के अन्तर्गत 25 किसानों ने भाग लिया तथा मशरूम उत्पादन प्रकिया को विधिवत सीखा।  

 

 

नेशनल लोक अदालत का आयोजन आज 
देवास | 08-दिसम्बर-2017
 
 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला न्यायाधीश श्रीमती सरिता सिंह के मार्गदर्शन में 09 दिसम्बर 2017 शनिवार को जिले के समस्त न्यायालयों में वृहद स्तर पर ’नेशनल लोक अदालत’ का आयोजन किया जाएगा। जिसमें समझौता योग्य आपराधिक, सिविल, पारिवारिक विवाद, घरेलू हिंसा अधिनियम, भरण-पोषण मामले, विद्युत चोरी प्रकरण, चैक बाउन्स, बैंक रिकवरी, श्रम मामले, मोटर दुर्घटना दावा, भू-अर्जन, नगर निगम के जलकर एवं संपत्तिकर प्रकरण आदि विषयक प्रकरणों का निराकरण किया जायेगा।
   जिला विधिक सहायता अधिकारी कृष्णपालसिंह सिसोदिया ने बताया कि संपूर्ण जिले से न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में से 4996 लंबित प्रकरण एवं 5500 प्रिलिटिगेशन प्रकरण नेशनल लोक अदालत में रखे जाएंगे। इसके लिए जिला न्यायाधीश श्रीमती सरिता सिंह द्वारा जिला एवं तहसील स्तरों में 26 खंडपीठों का गठन किया गया है।  
   मुख्यालय देवास के लिए जिला एवं सत्र न्यायाधीश सरिता सिंह, प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय श्याम बिहारी वर्मा, प्रथम अपर जिला न्यायाधीश प्रिवेन्द्र कुमार सेन, द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश ओ.पी. रघुवंशी, तृतीय अपर जिला न्यायाधीश जोगिन्द्र सिंह, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट विकास भटेले, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुरेन्द्र सिंह गुर्जर, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी कविता इवनाती, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी पद्मा राजोरे तिवारी, जेएमएफसी मनीष कुमार सिंह, जेएमएफसी संजोग सिंह वाघेला, जेएमएफसी अनुष्का शर्मा एवं श्रम न्यायाधीश देवास ए.के. खेरिया की खंडपीठ गठित की गई है। 
   तहसील सोनकच्छ में एडीजे सोनकच्छ जितेन्द्र सिंह कुशवाह, जेएमएफसी अशोक भारद्वाज एवं जेएमएफसी प्रसन्न सिंह बहरावत, तहसील बागली में एडीजे बागली मनीषा बसेर, जेएमएफसी चारूलता दांगी एवं जेएमएफसी आरती ढींगरा, तहसील कन्नौद में एडीजे कन्नौद नीना आशापुरे एवं जेएमएफसी गौतम भट्ट, तहसील खातेगांव में एडीजे खातेगांव मनोज कुमार तिवारी, जेएमएफसी मनीष लोवंशी, जेएमएफसी चंदनसिंह चौहान एवं शिवकुमार डाबर तथा तहसील टोंकखुर्द में मधुलिका मुले जेएमएफसी टोंकखुर्द की खंडपीठ गठित की गई है। 
विभागों द्वारा दी जाएगी विशेष छूट
   नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों का निराकरण कराने पर विभागों द्वारा विशेष छूट दी जायेगी। जिसमें विद्युत चोरी के मामलों के अंतर्गत न्यायालय में लंबित विद्युत चोरी के प्रकरणों में पंचनामा राशि पर 25 प्रतिशत की छूट एवं ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। ऐसे प्रकरण जिनमें पंचनामा बनाया जा चुका है, किन्तु न्यायालय में प्रस्तुत नहीं हुए (प्रिलिटिगेशन प्रकरण) उनमें निर्धारित राशि पर 40 प्रतिशत तक की छूट एवं ब्याज में 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। 
   नगर निगम के प्रकरणों में विशेष छूट-संपत्ति कर के प्रकरणों में अधिभार में 25 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक एवं जलकर के प्रकरणों में अधिभार में 50 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। साथ ही बैंक रिकवरी के प्रकरणों में भी नियमानुसार छूट दी जाएगी।
राजीनामा के आधार पर होगा निराकरण
   लोक अदालत में राजीनामा के आधार पर मामले का शीघ्र और बिना किसी व्यय के निराकरण होता है। इससे पक्षकारों के बीच का प्रेम और स्नेह बना रहता है। नेशनल लोक अदालत में दीवानी एवं चैक अनादरण से संबंधित प्रकरणों में न्याययशुल्क की राशि की वापसी होती है। अतः अधिक से अधिक पक्षकार इस अवसर का लाभ उठायें।

 

बच्चों और शिक्षकों के बीच सेतु हैं कहानियाँ - स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री जोशी 

राज्य स्तरीय कहानी उत्सव में बच्चों और शिक्षकों ने सुनाई कहानियाँ 
देवास | 29-नवम्बर-2017
 
 
   कहानियाँ बच्चों और शिक्षकों के बीच परस्पर व्यवहार स्थापित करने में सेतु का कार्य करती हैं। कहानियों की मदद से शिक्षक बच्चों के दिलों के माध्यम से उनके दिमाग तक सहजता से पहुँच सकते हैं। तकनीकी शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), स्कूल शिक्षा एवं श्रम राज्य मंत्री श्री दीपक जोशी ने प्रगत शैक्षिक संस्थान भोपाल में दो दिवसीय राज्य स्तरीय कहानी उत्सव का शुभारंभ करते हुए कहा कि मैंने अपने स्कूल के समय में कहानियों के माध्यम से गुरु को बच्चों का मित्र बनते देखा है।
   श्री जोशी ने अपने स्कूल काल के संस्मरण सुनाते हुए प्रेमचन्द, गुलेली, सुदर्शन और श्री गिजू भाई जैसे कहानीकारों की अनेक रचनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहानी कहने वाले बच्चों और शिक्षकों को पुस्तकें भेंट कर सम्मानित किया। उत्सव में प्रदेश के चयनित 51 बच्चे और 51 शिक्षक सहभागिता कर रहे हैं।
   स्कूलों में कक्षा शिक्षण को रोचक बनाने के लिये शाला स्तर से राज्य स्तर तक कहानी उत्सव आयोजित किया जा रहा है। सबसे पहले 3 अगस्त को श्री मैथिलीशरण गुप्त जयंती पर 1 लाख 14 हजार स्कूलों में शाला स्तर पर कहानी प्रतियोगिता करवाई गई। इस प्रतियोगिता में प्रथम आने वाले विद्यार्थी और शिक्षक 16 अगस्त को सुश्री सुभद्रा कुमारी चौहान के जन्म दिन पर जनशिक्षा केन्द्र स्तर पर कहानी प्रतियोगिता में शामिल हुए। हिन्दी दिवस पर 14 अगस्त को विकासखंड स्तरीय और मुंशी प्रेमचन्द्र की पुण्य-तिथि 8 अक्टूबर को जिला स्तरीय कहानी उत्सव हुआ। इसी क्रम में शिक्षाविद और बाल कहानीकार श्री गिजू भाई की जयंती पर राज्य स्तरीय कहानी उत्सव किया जा रहा है।
   कहानी शिक्षण के महत्व को देखते हुए राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा कक्षा-1 एवं 2 में शिक्षण के पूर्व कक्षा का प्रारंभ रोचक कहानी के साथ करने के निर्देश दिये गये हैं। कहानी उत्सव में शामिल बच्चों को आंचलिक विज्ञान केन्द्र का भ्रमण भी करवाया जाएगा। विगत शैक्षिणक सत्र में राज्य स्तरीय कहानी उत्सव के विजेता रहे प्रथम 5 बच्चों को हैदराबाद में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव "गोल्डन एलीफेंट"  में सहभागिता का भी मौका मिला। इस दौरान संचालक राज्य शिक्षा केन्द्र श्री लोकेश कुमार जाटव एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान समारोह एवं प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) सम्मेलन का आयोजन 

देवास | 27-नवम्बर-2017
 
 
    जिला पंचायत देवास द्वारा गत दिवस को पुलिस ग्राउण्ड देवास पर मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान समारोह एवं प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) सम्मेलन का आयोजन सांसद श्री मनोहर उंटवाल के मुख्य आतिथ्य एवं जिला पंचायत अध्यक्ष श्री नरेन्द्रसिंह राजपूत की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। आयोजन में स्वच्छ भारत मिशन एवं प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों, शासकीय अमले, हितग्राहियों एवं स्वच्छता चैम्पियन्स को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर आशीष सिंह, सीईओ जिला पंचायत राजीव रंजन मीणा, सुनील पुरोहित एवं अन्य संबंधित अधिकारी/कर्मचारी एवं हितग्राही उपस्थित थे।
सांसद ने की कार्य की प्रशंसा
    कार्यक्रम में सांसद श्री मनोहर उंटवाल ने सम्मानित हुए समस्त प्रतिभागीयों को बधाई दी। उन्होंने जिले में हुए उत्कृष्ट कार्य के लिये कलेक्टर एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत की प्रशंसा करते हुए जिले को एक नई दिशा देने में प्रेरणादायी उदाहरण देते हुए उपस्थित जन प्रतिनिधियों को और बेहतर विकास कार्य करने के लिए प्रेरित किया।
31 दिसंबर तक पूर्ण करेंगे लक्ष्य
    कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह राजपूत ने जन प्रतिनिधियों एवं शासकीय अमले को बधाई दी। उन्होंने जिले में उक्त दोनों योजनाओं में 31 दिसम्बर तक दिये गये लक्ष्य को पूर्ण मनोयोग से प्राप्त करने हेतु प्रेरित किया। साथ ही जिला प्रशासन ने उक्त दोनों योजनाओं में किये गये कार्य की प्रशंसा की। 

डॉ. पटेल के स्थानांतरण पर दी भावभीनी विदाई 

देवास | 20-नवम्बर-2017
 
 
   जिला जनसंपर्क कार्यालय देवास में पदस्थ उपसंचालक डॉ. आर.आर. पटेल का इंदौर स्थानांतरण होने पर आज प्रेस क्लब, स्थानीय पत्रकार, जनसंपर्क कार्यालय एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों ने भावभीनि विदाई दी। कार्यक्रम स्थानीय सर्किट हाउस में आयोजित किया गया। इस अवसर पर एसडीएम पुरूषोत्तम कुमार, सीएमएचओ डॉ. एस के सरल, उपसंचालक पशु चिकित्सा डॉ. जीडी वर्मा, प्रेस क्लब अध्यक्ष अनिलराज सिकरवार, प्रेस क्लब सदस्य एवं पत्रकारगण उपस्थित थे।
   कार्यक्रम में उपसंचालक डॉ आर आर पटेल ने कहा कि देवास के जैसा जिला कोई भी नहीं है। मैंने अपने नौकरी के दौरान मप्र के अनेक जिलों में नौकरी की हैं इसमें देवास जिला मुझे बहुत अच्छा लगा। यहां के पत्रकार साथी दूसरे जिलों की तुलना में बहुत अच्छे हैं। साथ ही जिला प्रशासन में पदस्थ अधिकारियों का व्यवहार भी काफी मिलनसार और दोस्ताना है।
   इस अवसर पर एसडीएम पुरूषोत्तम कुमार ने कहा कि मेरा और पीआरओ साहब के बीच अधिकारी कम दोस्ताना व्यवहार ज्यादा रहा है। उनके यहां से स्थानांतरण के बाद उनकी कमी हमेशा खलेगी। कार्यक्रम में उपसंचालक पशु चिकित्सा डॉ. जीडी वर्मा ने कहा कि पटेल साहब और मेरी  बहुत पुरानी दोस्ती है। हमारे बीच अटूट दोस्ती रही है और रहेगी।
हमेशा स्वस्थ रहे
   इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसके सरल ने कहा कि पटेल साहब हमेशा स्वस्थ् एवं दीर्घायु रहे यही हमारी कामना है और अपने जीवन में ऊंचाइयों को प्राप्त करें। उल्लेखनीय है कि उपसंचालक डॉ. पटेल 24 जून 2015 से 20 नवंबर 2017 तक देवास कार्यालय में पदस्थ रहे। इस दौरान ग्राम उदय से भारत उदय, नर्मदा सेवा यात्रा, 2 जुलाई का रिकॉर्ड सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम तथा कई अन्य कार्यक्रमों में सहभागिता कर उनका प्रचार-प्रसार किया। कार्यक्रम का संचालन अरविंद त्रिवेदी ने किया और आभार सौरभ सचान ने माना।

नवजात शिशुओं की माताओं को स्तनपान और पूरक आहार की जानकारी दी 

देवास | 17-नवम्बर-2017
 
 
 
 
   कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देश पर जिले में निरन्तर स्वास्थ्य सेवाओं में जागरूता लाने के लिये गतिविधियां आयोजित की जा रही है। इसी कड़ी में नवजात शिशु देखभाल सप्ताह के अंतर्गत पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती बच्चों की माताओं को बच्चे की उचित देखभाल के लिए स्तनपान और पूरक आहार की जानकारी दी गई।
   सिविल सर्जन डॉ.आर के सक्सेना ने बताया की बच्चे को जानलेवा बीमारियों से बचने के लिए, उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए उचित पोषण बहुत जरूरी है। इस संबंध में स्तनपान तथा पूरक आहार सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। नवजात शिशु को उचित देखभाल की आवश्यकता होती है। नवजात शिशु देखभाल सप्ताह अंतर्गत मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण और परिवार कल्याण साधनो की जानकारी दी जा रही है। डी.पी.एच.एन.ओ. सुनिता सक्सेना और पोषण प्रशिक्षक अर्चना दुबे ने सभी माताओं को बताया कि बच्चे के जन्म के एक घण्टे के भीतर ही स्तनपान अवश्य शुरू कराना चाहिए। साथ ही 6 माह की आयु तक केवल स्तनपान ही कराना चाहिए। छ: माह की आयु पर ऊपरी आहार शुरू करना और 2 वर्ष की आयु तक लगातार स्तनपान जरूर कराना चाहिए है। शिशु के जीवन के पहले 6 महीनों में मॉ का दूध शिशु के खाने और पीने-दोनों की जरूरतें पूरी करता है। आहार का प्रकार, कितनी बार और कितनी मात्रा में शिशुओं को दिया जाए इसका ध्यान रखना चाहिए। छ: माह से शुरूआत करे नरम खिचडी तथा मसला हुआ आहार ताकि शिशु अपनी ऊंगलियों से उठाकर खा सके। माताओं द्वारा साफ-सफाई का विशेष ध्यान देना आवश्यक है। साथ ही परिवार कल्याण कार्यक्रम के बारे में बताया की बच्चों को उचित देखभाल की आवश्यकता होती है। परिवार सीमित होगा तो बच्चों की देखभाल भी माता-पिता अच्छे से कर सकते हैं। उन्हें परिवार कल्याण के अस्थाई और स्थायी साधनों की जानकारी दी गई। बी.ई.ई अशोक खाकरिया द्वारा भी दी जाने वाली अन्य स्वास्थ्य योजनाओं जैसे प्रसूति अवकाश सहायता योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, राज्य बीमारी सहायता बारे में बताया इस अवसर पर नर्सिंग स्टॉफ,कर्मचारी उपस्थित रहे।

 

 

 

 

 

 

 

 

  • Address: Harihar Bhavan Nowgong Dist. Chatarpur Madhya Pradesh  , Mo : 98931-96874 , Email :  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. Web : www.ganeshshankarsamacharsewa.in