You are here: Homeसमाचार

समाचार

 

फर्शीपत्थर खदानों की ई-निलामी 15 जनवरी को 
नीमच | 16-दिसम्बर-2017
 
 
    खनिज विभाग द्वारा नीमच जिले में ई-आक्शन के माध्यम से जिले की 17 फर्शीपत्थर खदानों की ऑनलाईन निलामी की जा रही है। तहसील नीमच के ग्राम चैनपुरा एवं बिसलवास खुर्द के विभिन्न सर्व नंबर पर ई-आक्शन के माध्यम से नीलामी होगी। नीलामी 15 जनवरी 2018 को प्रातः 11.00 बजे से 1.00 बजे तक होगी। नीलामी में भाग लेने हेतु ई.एम.डी की राशि 13 जनवरी 2018 को सायं 5.00 बजे तक जमा की जावेगी। उसके पश्चात ई.एम.डी. जमा नहीं होगी। इच्छुक व्यक्ति नीलामी में भाग लेने हेतु शीघ्रतिशीघ्र ई.एम.डी. की राशि जमा करें। खदानों की सूची का अवलोकन जिला खनिज कार्यालय में किया जा सकता है। 

 

मॉं कंकाली कृषि समूह ने सब्जी उत्पादन में शहडोल संभाग का किया नाम रौशन "सफलता की कहानी" 

शहडोल संभाग के टमाटर ने दिल्ली, बैंगलोर और प्रमुख नगरों में बनाई अपनी पहचान क्षेत्र के लगभग 200 लोगों को मिला रोजगार 
शहडोल | 16-दिसम्बर-2017
 
  शहडोल संभाग के उमरिया जिले के घुनघुटी में लगभग 125 एकड़ क्षेत्र में मॉं कंकाली कृषि समूह के आठ किसानों ने सब्जी की खेती कर सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। किसानों द्वारा उत्पादित सब्जी उत्पादों ने शहडोल संभाग ही नहीं देश के दिल्ली, बैंगलोर, रीवा, सतना, जबलपुर, रायपुर आदि नगरों के बाजारों में अपनी पहचान बनाई है। उमरिया जिले के घुनघुटी एवं शहडोल जिले के विचारपुर क्षेत्र में किसानों ने शासकीय सहायता पाकर सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। किसानों द्वारा उत्पादित टमाटर और अन्य सब्जियां ट्रकों में भरकर दिल्ली, बैंगलोर और देश के अन्य बड़े बाजारों में पहुंचाई जा रही है, जिससे किसानों को सीधा लाभ हो रहा है। इस सफलता पर हर्ष महसूस करते हुये शहडोल जिले के प्रगतिशील किसान श्री पवन मिश्रा ने बताया कि उन्होने इसकी शुरूआत पहले शहडोल जिले के विचारपुर और सिंदुरी क्षेत्र से की। उन्होने बताया कि उद्यानिकी विभागों के अधिकारियों की सलाह पर उन्होने आज से 10 वर्ष पूर्व ग्राम सिंदुरी और विचारपुर में 10 एकड़ भूमि पर टमाटर के खेती की शुरूआत की थी। टमाटर की उन्नत खेती के लिये कृषि विभाग के अधिकारियों और उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों द्वारा उन्हें तकनीकी मार्गदर्शन दिया गया साथ ही ड्रिप एरीकेशन के लिये 5 लाख रूपये की राशि बैंक के माध्यम से उन्हें मुहैया कराई गई। उन्होने बताया कि टमाटर की अच्छी मांग के कारण उन्हें निरंतर लाभ होता गया जिसके कारण उन्होने बाद में टमाटर के साथ मिर्ची, लौकी, खीरा, बरबटी, आलू, लहसुन और प्याज की खेती प्रारंभ की। उन्होने बताया कि सब्जियों की खेती करने से उन्हें काफी लाभ हुआ जिसके कारण उन्होने अन्य किसानों को भी समूह बनाकर सब्जी की खेती करने की सलाह दी। मेरे समझाईस देने पर उमरिया जिले के लगभग 8 किसानों द्वारा मॉं कंकाली कृषि समूह का निर्माण किया गया तथा उमरिया जिले के घुनघुटी क्षेत्र में लगभग 125 एकड़ भूमि पर सब्जी की उन्नत खेती करने की कार्ययोजना बनाई तथा उसे मूर्त रूप दिया। किसान श्री पवन मिश्रा ने बताया कि निरंतर सजगता एवं कृषि वैज्ञानिकों की सलाह के कारण शहडोल संभाग के ग्राम पंचायत सिंदुरी, विचारपुर और घुनघुटी में सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित किये गये हैं। कृषक ने बताया कि मॉं कंकाली कृषि समूह के किसानों का सब्जी उत्पादन का वार्षिक टर्न ओवर लगभग 3 से 4 करोड़ रूपये है। उन्होने बताया कि शहडोल संभाग का टमाटर देश की प्रमुख सब्जी मंडियों दिल्ली, बैंगलोर, जबलपुर, रायपुर, रीवा, सतना, इलाहाबाद एवं अन्य मंडियों तक पहुंच रहा है, इससे किसानों को सीधा लाभ हो रहा है तथा क्षेत्र के लगभग 200 लोगों को रोजगार मिला है। उन्होने बताया कि शहडोल संभाग के टमाटर की बहुत ज्यादा मांग है, सब्जी व्यापारियों के ट्रक खेतों में पहुंचकर सब्जियों का उठाव करते हैं। उन्होने बताया कि शहडोल संभाग के अन्य किसान भी सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में आगे आ रहे हैं। 
 

 

विद्युत शैलचॉक से बढ़ी उदयलाल की आमदनी (सफलता की कहानी) 
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से मिली मदद 
नीमच | 13-दिसम्बर-2017
 
 
   नीमच जिले  की जावद तहसील के ग्राम तुम्बा निवासी उदयलाल पहले परम्परागत्  पत्थर के चाक से मटके, दीपक, सुराई, आदि बनाने का कार्य करते थे। एक दिन समाचार पत्र में एक विज्ञापन की खबर से इन्हे मालूम हुआ, कि माटीकला बोर्ड जिला पंचायत नीमच कार्यालय में माटीकला कार्य हेतु जिनमें मटके, मूर्ति आदि कार्यो के लिए शासन की ओर से ऋण दिए जा रहा है।
   बस फिर क्या था, उदयलाल ने जिला पंचायत कार्यालय पहुंचकर माटीकला बोर्ड के प्रबंधक से सम्पर्क किया। तदपश्चात् इनके द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत 2 लाख रूपये का ऋण आवेदन प्रकरण तैयार कर जिला समिति की बैठक में प्रस्तुत कर पास करवाया गया। उसके पश्चात सेन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया शाखा जावद में प्रस्तुत कर बैंक ऋण स्वीकृत करवाया। 
   बैंक द्वारा ऋण प्रकरण पास कर उदयलाल को विद्युत शैलचॉक उपलब्ध कराया गया। जब यह परम्परागत चॉक से कार्य करते थे, तो इनका परिवार माह में डेढ़ हजार रूपये कमा लेता था। वर्ष 2014-15 से विद्युत शैलचॉक से इन्होने कार्य प्रारम्भ किया है, तब से इनके कार्य में गुणवत्ता एवं गति आश्चर्यजनक तरीके से बढ़ गई। अब इनका कार्य कम समय में अधिक तेजी से हो रहा है। इसके कारण आज अपने परिवार का पालन-पोषण करने के बाद भी यह 10 हजार से 12 हजार रूपये तक बचा लेते है।

 

मतदाताओं को जागरूक करने हेतु कार्यक्रम निर्धारित 

एसडीएम ने दिखाई जागरूकता वेन को हरी झण्डी 
भिण्ड | 01-दिसम्बर-2017
 
 
   राज्य निर्वाचन आयोग के माध्यम से प्रदेश के जिलो की भांति विधानसभा क्षेत्रवार मतदाता जागरूकता वेन के माध्यम से मतदाताओं को जागरूक करने की पहल सुनिश्चित की गई है। इस दिशा में जिले के विधानसभावार कार्यक्रम निर्धारित कर दिया गया है। साथ ही अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री टीएन सिंह ने जिले के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए है। 
   एसडीएम श्री संतोष तिवारी ने मतदाता जागरूकता वेन के लिए विधानसभा क्षेत्र भिण्ड के क्षेत्र में वार्ड/ग्रामवार निर्धारित किए गए रूटचार्ट के मान से अधिकारी/कर्मचारियों की तैनाती की जा चुकी है। साथ ही संबंधित क्षेत्र के पटवारी व राजस्व निरीक्षक की ड्यूटी लगाई गई है। एसडीएम ने आज तहसील परिसर भिण्ड से वेन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह वेन भिण्ड क्षेत्र के ग्रामीण अंचलो में आज से 5 दिसम्बर 2017 तक मतदाताओं को जागरूक करेगी। 
   इस वेन में मतदाताओं को जागरूक करने की दिशा में एक नोडल अधिकारी की भी तैनाती की गई है। साथ ही भ्रमण क्षेत्रों में मैदानी कर्मचारियों को दायित्व सौंपे गए है। इसीप्रकार संबंधित क्षेत्र के बीएलओ, सुपरवाईजर एवं बीएजी सदस्य मतदाता जागरूकता वेन के भ्रमण के दौरान उपस्थित रहकर मतदाताओं को जागरूक करने की पहल सुनिश्चित करेंगे। 
विधानसभा वार वेन के लिए तिथि निर्धारित 
   राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार भिण्ड जिले में मतदाता जागरूकता वेन के भ्रमण की दिशा में निर्धारित किए गए कार्यक्रम के अनुसार यह वेन जिले की विधानसभा भिण्ड क्षेत्र में मतदाता जागरूकता वेन द्वारा 1 दिसम्बर से 5 दिसम्बर 2017 तक, अटेर के क्षेत्र में 6 दिसम्बर से 9 दिसम्बर एवं मेहगांव के क्षेत्र में 11 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक मतदाताओ को जागरूक करने की दिशा में संदेश पहुंचाएगी।  

जिला एवं सत्र न्यायालय में वाहन की खुली नीलामी 28 दिसम्बर को 

शहडोल | 29-नवम्बर-2017
 
 
   जिला एवं सत्र न्यायाधीश शहडोल से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला एवं सत्र न्यायालय शहडोल में शासकीय वाहन एम्बेस्डर कार क्रमांक एम.पी. 02-5394 जो जहां जिस स्थिति में है की बिक्री 28 दिसम्बर 2017 को 10.30 बजे दिन को जिला न्यायालय परिसर शहडोल में खुली नीलामी की जायेगी। सर्वसाधारण उक्त वाहन के क्रय हेतु विहित शर्तों के अधीन नीलामी में भाग ले सकते हैं। वाहन का क्रमांक एम.पी. 02-5394 है, मॉडल वर्ष 2001 का है, निर्धारित ऑफसेट प्राईज 12 हजार रूपये है। वाहन जिला न्यायालय प्रांगण में निरीक्षण हेतु उपलब्ध रहेगा। कार्यालय समय में भी निरीक्षण किया जा सकता है, वाहन जहां हैं, जिस स्थिति में है विक्रय किया जायेगा। वाहन की नीलामी हेतु 5 हजार (पांच हजार) अमानत की राशि जिला नाजिर शहडोल के पास नीलामी के एक दिन पूर्व जमा कर रसीद प्राप्त करना होगा। अमानत राशि जमा करने की मूल रसीद के साथ ही नीलामी में भाग लिया जा सकेगा। उच्चतम बोली स्वीकार करने पर विचार किया जायेगा। बोली स्वीकार करने पर तत्काल एक मुश्त राशि संबंधित विभाग के पास जमा करना होगा। तत्पश्चात ही वाहन उपलब्ध कराया जायेगा। बोली की राशि समय पर जमा न करने पर अमानत राशि राजसात कर ली जायेगी। बोली स्वीकार करने या न करने का पूर्ण अधिकार जिला एवं सत्र न्यायाधीश शहडोल को होगा। शर्तों का पालन आवश्यक है। उक्त दिनांक के नीलामी की कार्यवाही पूर्ण न होने की दशा में अगले दिन भी निरंतर चालू रहेगी।

भावांतर योजना किसानों के हित में 

दमोह | 27-नवम्बर-2017
 
 
     किसानों को खाद, बीज, कीटनाशक दवायें, पानी और बिजली समय पर मिल जाये तो किसानों के चेहरे पर खुशी देखते ही बनती है, अपनी अच्छी फसल देखकर किसान बहुत खुश हो जाता है, वह ईश्वर से सिर्फ अपनी फसल अच्छी रखने की प्रार्थना करता है, क्योंकि इसी फसल से उसके अपने परिवार के सपने जुड़े होते हैं। इधर सरकार ने किसानों की खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये लगातार काम कर रही है, फसलों के बाजार भाव के उतार चढ़ाव से सुरक्षा प्रदान करने हेतु प्रदेश में मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना लागू की गई है।
   दमोह जिले के विकासखण्ड बटियागढ़ के ग्राम सकतपुर के गोविंद पटैल एक ऐसे किसान है जिन्हें हाल ही में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा भावांतर की राशि 1 लाख 20 हजार 072 का स्वीकृति पत्र अंत्योदय मेला में दिया गया। इस योजना की राशि मिलने से किसान बड़े खुश नजर आये। गोविंद पटैल के एक ही पुत्र है कृष्ण कुमार पटैल जो स्वयं भी खेती करते हैं। जब इनसे बात हुई ये अपने खेत पर ही थे, बात करने पर बताते हैं सरकार की भावांतर योजना किसानों के लिये लाभ का धंधा है, सरकार की योजना किसानों के हित में है।
   कृष्ण कुमार कहते हैं हमने अपनी उड़द की फसल दमोह कृषि उपजमण्डी में बेची और भाव के अंतर की राशि एक लाख 20 से अधिक मिली है। हम खुश है, हमारे परिवार के सदस्य भी बहुत खुश है। श्री पटैल अपनी लगभग 48 एकड़ रकबे में चना, मसूर और गेंहू की फसल लगाई है। इन्हें खाद, बीज की अच्छी व्यवस्था है, कहीं कोई परेशानी नहीं हुई।
   सिंचाई के संबंध में चर्चा करने पर बताते हैं जिले की पंचमनगर योजना किसानों के लिये लाइफ लाईन होगी, पाईप लाईन का बेसबरी से इंतजार है, पंचमनगर से पानी मिलने लगे तो किसानों का भविष्य सुनहरा हो जायेगा। इनका कहना है सरकार भावांतर की समीक्षा करे और बिचौलियों से होने वाली परेशानी से किसानों को बचाये, बिचौलियों ने सरकार की छबि को धूमिल करने की कोशिश की है, पर सरकार की तीखी नजर से वे कामयाब नहीं हो सके।
   इसी प्रकार ग्राम मोठा के परसराम पटैल है, यह भी कहते हैं भावांतर योजना सरकार की अच्छी योजना है, यह तो हमें जब अंतर की राशि 1 लाख 1 हजार 207 रूपये मिली तब समझ में आया की भावांतर में कितना फायदा है, परसराम 17 एकड़ रकवे में खेती करते हैं। उड़द 40 से 42 क्विंटल हुआ था। ये बताते हैं अंत्योदय मेला में पथरिया गये थे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने का मौका मिला और उनसे भावांतर की राशि का प्रमाण पत्र मिला है। अभी फसल अच्छी है। मुख्यमंत्री से मिलने से खुशी भी हुई।
   इधर जिले में खेती को लाभ का धंधा बनाने और किसान संबद्ध और खुशहाल बने इसके लिये वित्तमंत्री जयंत कुमार मलैया भी पीछे नहीं है, किसानों की सिंचाई की व्यवस्था के लिये जलसंसाधन मंत्री के रूप में अनेकों तालाब बनवाये हैं, गहरीकरण कराया है और बड़ी-बड़ी परियोजनाओं का निर्माण भी कराया है इसमें से एक हैं पंचमनगर योजना जो पूरी हो चुकी है, अब किसानों के खेतों को नहर और पाईप के माध्यम से पानी मिलेगा। इसी प्रकार उन्होंने जुड़ी, साजली और सतधरू सिंचाई परियोजना भी स्वीकृत हो चुकी है, अभी 50 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो रही है, इन योजनाओं के पूर्ण हो जाने से 1 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होने लगेगी।

ग्रांव में खुले नागरिक सेवा केन्द्रों (सीएससी) से ग्रामीण जन प्राप्त कर सकेंगे चिन्हित सेवाएं 

अनुपपुर | 27-नवम्बर-2017
 
 
     जिला लोक सेवा प्रबंधक श्रीमती सोनू सिंह राजपूत ने बताया है कि आमजनों से जुड़ी सरकार की जरूरी सेवाओं व योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन व अन्य प्रक्रिया जो अब तक जनपद मुख्यालय पर लोक सेवा केन्द्र से होती थी, अब गांव-गांव में खुले नागरिक सुविधा केन्द्रों (सीएससी) से पूरी हो सकेगी। एक दिसम्बर से मध्यप्रदेश ई-डिस्ट्रिक की चिन्हित सेवाएं जो लोक सेवा गारंटी अधिनियम में अधिसूचित है, इनमें से कुछ चिन्हित सेवाएं सीएससी केन्द्रों से संचालित होगी। पहले चरण में ऑनलाइन सेवाओं को शामिल किया गया है। इसमें आय प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र, अविवादित बटवारा, प्रसूति सहायता, विवाह सहायता सहित गरीबी रेखा अन्तर्गत पात्र हितग्राहियों के नाम जोड़ने सहित अन्य सेवाएं शामिल है। ऐसी योजनाएं जिसमें पदाविहित अधिकारी को हार्डकॉपी भेजने की जरूरत हो, वे लागू नहीं होंगी। 
        लोक सेवा केन्द्र में मिलने वाली सुविधाओं का लाभ गांव में सीएससी से मिलने पर ग्रामीणों को जनपद तक दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। लोक सेवा साफ्टवेयर और सीएससी पोर्टल में बदलाव होगा, जिससे लागो से जुड़ी सरकार की जरूरी सेवाओं का लाभ गांव में ही मिल सके। सीएससी सरकार की डिजिटल इंडिया का प्रमुख भाग है। नई व्यवस्था से सरकार डिजिटल माध्यम से गांवों को जोड़ने का प्रयास कर रही है। 

 

 

 

 

 
 

 

 




 
 
 
 
 
 
 
 
  • Address: Harihar Bhavan Nowgong Dist. Chatarpur Madhya Pradesh  , Mo : 98931-96874 , Email :  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. Web : www.ganeshshankarsamacharsewa.in