Tuesday, October 15News That Matters

यूपी के मऊ में सिलेंडर फटने के बाद गिरी दो मंजिला इमारत, 10 की मौत, कईयों के मलबे में दबे होने की आशंका

Share

मऊ: उत्तर प्रदेश के मऊ में सिलेंडर फटने से एक दो मंजिला इमारत गिर गई. इमरात गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई. मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है. इमारत के मलबे में अभी कई लोगों के दबे होने की आशंका है. स्थानीय लोगों के साथ मिलकर प्रशासन टीम राहत एवं बचाव कार्य में लगी हुई है. करीब एक दर्जन से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं. घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है.
वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे पर गहरा दुख जाहिर किया है. जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद मऊ में सिलेंडर फटने की दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है.

LPG सिलेंडर फटने से महिला गंभीर रूप से घायल, दुर्घटना रोकने के लिए इन 8 बातों का हमेशा रखें ध्यान

साथ ही उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को घायलों के उपचार की समुचित व्यवस्था करने तथा इस हादसे के पीड़ितों को हर संभव मदद एवं राहत प्रदान करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने ईश्वर से वंगत आत्मा की शान्ति की प्रार्थना करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना भी व्यक्त की है.

LPG सिलेंडर का इस्तेमाल करने में इन 8 बातों का जरूर रखें ध्यान

गैस नली के साथ रबर ट्यूब बदलें. सुरक्षा नली अग्निरोधी हैं, इसलिए ज्यादा सुरक्षित है और लेकिन इसका इस्तेमाल 5 साल तक ही करें. खाना पकाते समय सूती कपड़ें पहने.
लीक की जांच करने के लिए जलती माचिस की तीली का प्रयोग न करें. एक आसान तरीका है, कि कुछ सेकंड के लिए सिलेंडर वाल्व पर अंगूठा रखे, रिसाव के मामले में आप रिसने वाली गैस का दबाव महसूस कर सकते हैं. साबुन के घोल को डाट / लीक के लिये केवल जाँच के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.
पहले माचिस की तीली जलाए, फिर बर्नर नॉब को खोलें.
गैस लीक होने की स्थिति में रेग्युलेटर और बर्नर नॉब्स को बंद करें. सभी दरवाजे और खिड़कियां खोल दें. बिजली के स्विच ऑन ना करें. तुरंत डिस्ट्रीब्यूटर से संपर्क करें.
सिलेंडर से जुड़ी नायलॉन धागे के साथ सुरक्षा कैप को संभाल कर रखें. यदि कोई हो रिसाव हैं तो रोकने के लिए वाल्व पर कैप लगा दें
कभी भी बर्तन को, जलते बर्नर पर ना छोड़ें. उबाल आने पर लौ बुझ सकती हैं और गैस रिसाव का कारण बन सकता है. गैस स्टोव हमेशा सिलेंडर से ऊपर प्लेटफॉर्म पर रखें.
रात को सोते समय रेग्यूलेटर जरूर बंद कर दें. बच्चों को एलपीजी लगी जगह पर खेलने की अनुमति न दें. एलपीजी. लगाने के बाद से हर दो साल में जांच करवाएं.
सिलेंडर की एक्सपाइरी डेट भी जरूर चेक करें.