Wednesday, December 11News That Matters

चंबल

Share

पंचायतों की प्रारुप मतदाता सूची का प्रकाशन 13 नवम्बर को होगा

श्योपुर | 18-अक्तूबर-2019

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का वार्षिक पुनरीक्षण-2019 के फोटो प्रारूप मतदाता सूची का प्रकाशन ग्राम पंचायत एवं निर्धारित स्थानों पर 13 नवम्बर को किया जाएगा।
जिला पंचायत के सीईओ श्री हर्ष सिंह ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुरीक्षण के संशोधित कार्यक्रम के अनुसार प्रथम चरण में कन्ट्रोल टेबल का वेरीफिकेशन, अपडेशन, मतदान केन्द्रों का युक्तियुक्तकरण और द्वितीय चरण में प्रारुप मतदाता सूची तैयार करने की कार्यवाही की जाएगी।
इसी प्रकार रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों द्वारा फोटोयुक्त प्रारुप मतदाता सूची का सार्वजनिक प्रकाशन 13 नवम्बर को ग्राम पंचायत एवं निर्धारित स्थानों पर कराया जायेगा। इसी के साथ दावा आपत्तियों को लिये जाने का सिलसिला प्रारंभ होगा, जो 21 नवम्बर तक चलेगा। दावा आपत्तियों का निराकरण 27 नवम्बर तक किया जाएगा। इसके अतिरिक्त 13 से 18 नवम्बर के मध्य स्टैण्डिंग कमेटी की बैठकों का आयोजन होगा। फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची का ग्राम पंचायत तथा अन्य निर्धारित स्थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन 16 दिसम्बर 2019 को किया जाएगा।

65 आशा कार्यकर्ताओं का चयन तत्काल प्रभाव से समाप्त

चंबल | 11-अक्तूबर-2019

जिला स्तर से नियम विरूद्ध चिन्हांकित की गई दोषपूर्ण होकर गंभीर अनियमितता पाये जाने पर कलेक्टर एवं जिला स्वास्थ्य समिति की अध्यक्ष श्रीमती प्रियंका दास ने जिले की 65 चिन्हांकन हेतु चयन की गई आशा कार्यकर्ताओं का चयन तत्काल प्रभाव से निरस्त समाप्त कर दिया है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विनोद गुप्ता ने बताया कि विकासखण्ड अम्बाह की 14, मुरैना (नूरावाद) में चयन की गई 26, अम्बाह (खड़ियाहार) में चयन की गई 11, जौरा में चयन की गई 10, पहाड़गढ़ में चयन की गई 2, सबलगढ़ और पोरसा में चयन की गई 1-1 आशा कार्यकर्ताओं का चयन समाप्त किया गया है।

उर्वरकों के नमूने अमानक पाये जाने पर विक्रय, भण्डारण एवं स्थानान्तरण तत्काल प्रभाव से रोक

चंबल | 05-अक्तूबर-2019

उर्वरकों गुण नियंत्रण आदेश 1985 की धारा 26 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुये उर्वरक पंजीयन एवं उप संचालक कृषि श्री पी.सी. पटेल ने आईएफएफडीसी कृषक सेवा केन्द्र कैलारस के उर्वरकों का परीक्षण कराया गया। जिसमें अमानक पाये जाने पर क्रय विक्रय एवं भण्डारण तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।

कमिश्नर ने दत्तपुरा में चलाया सफाई अभियान

चंबल | 27-सितम्बर-2019

’’मैं हूं कबाड़ी सफाई अभियान गुरूवार को दत्तपुरा मोहल्ला के भरोषी की धर्मशाला और हाकिम पहलवान वाली गली में चलाया गया। चम्बल कमिश्नर श्रीमती रेनू तिवारी सहित शहर के गणमान्य नागरिक, समाजसेवियो ने सफाई अभियान मे सहयोग प्रदान किया। इस अवसर पर चम्बल कमिश्नर ने समाजसेवी डॉ. संजय शर्मा के पिता का श्राद्ध होने के उपलक्ष में सफाई कर्मचारियों को एक-एक टॉविल और साबुन प्रदान किया। इस अवसर पर समाजसेवी आशा सिकरवार, डॉ. संजय शर्मा, श्री विक्रम मुदगल सहित बैंको के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे।

अतिवृष्टि से खराब हुई सड़कों को सुधारने की कार्यवाही करें : प्रमुख सचिव गृह श्री मिश्रा

चंबल | 20-सितम्बर-2019

प्रमुख सचिव गृह श्री एस.एन. मिश्रा ने निर्देश दिये हैं कि प्रदेश में अतिवृष्टि के कारण बड़ी-छोटी नदियों के पुल-पुलियों से पानी उतरने पर खराब हुई सड़कों को सुधारने की कार्यवाही सड़क निर्माण एजेन्सी द्वारा शुरू की जाये। सुरक्षा की दृष्टि से पुल-पुलिया को भी बारीकियों से देख लिया जाये कि वो क्षतिग्रस्त नहीं हुई हो। पुल-पुलियों के क्षतिग्रस्त होने या उनमें दरार आने पर आवश्यक सुधार कार्य तत्काल कराये जायें। श्री मिश्रा ने आज मंत्रालय में राज्य सड़क सुरक्षा क्रियान्वयन समिति की बैठक में यह निर्देश दिये।
प्रमुख सचिव श्री मिश्रा ने कहा कि यातायात नियमों के उल्लंघन के मामलों में ड्रायविंग लायसेंस निलम्बन की कार्रवाई के लिये लायसेंस नम्बर के साथ पूरी सूची परिवहन विभाग को उपलब्ध करायें। यह कार्यवाही पूरे प्रदेश में की जाये। बताया गया कि इस वर्ष अभी तक लगभग 5726 ड्रायविंग लायसेंस निलम्बित किये गये हैं। पहले 6 माह में 306 फिटनेस निलम्बन और 408 ओव्हर लोडिंग वाहन के विरुद्ध कार्यवाही की गई है। श्री मिश्रा ने कहा कि एक स्थान पर दो या दो से अधिक दुर्घटना होने पर कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, जिला परिवहन अधिकारी और लोक निर्माण विभाग के अधिकारी आवश्यक रूप से स्थल निरीक्षण करें। बताया गया कि स्कूली बच्चों की सुरक्षा के लिये स्कूल बस पॉलिसी भी बनाई गई है।
प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि 20 से 25 प्रतिशत दुर्घटनाओं वाले जिलों में दुर्घटना रोकने के लिये विशेष प्रयास किये जायें। श्री मिश्रा ने लीड एजेन्सी में नोडल अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने को कहा। बताया गया कि प्रदेश में 44 स्थानों पर ट्रॉमा सेन्टर बनाये गये हैं। जिला चिकित्सालयों को भी ट्रॉमा सेन्टर के रूप में उपयोग किया जा रहा है। प्रमुख सचिव ने एम्बुलेंसो को दो चरणों में एकीकृत/केन्द्रीयकृत करने के निर्देश दिये।
बैठक में विशेष पुलिस महानिदेशक श्री महान भारत सागर और परिवहन आयुक्त श्री शैलेन्द्र श्रीवास्तव उपस्थित थे।

“वाइल्ड विजडम क्विज 2019” के लिये पंजीयन 15 सितम्बर तक

चंबल | 14-सितम्बर-2019

विश्व प्रकृति निधि भारत (डब्लूडब्लूएफ) द्वारा युवाओं में पर्यावरण चेतना जागृत करने के उद्देश्य से एशिया का सबसे बड़ा “वाइल्ड विजडम क्विज 2019” किया जा रहा है। स्कूली विद्यार्थियों के लिये प्रतियोगिता तीन वर्गों में आयोजित की जा रही है। प्रतियोगिता की थीम “अपने ग्रह की खोज” है। क्विज में पंजीयन की अंतिम तिथि 15 सितम्बर है।
विद्यालय http://quiz.wwfindia.org/wwq/senior.aspx लिंक पर जाकर पंजीयन कर सकते हैं। राज्य स्तर की प्रतियोगिता अक्टूबर, में भोपाल में होगी। राज्य स्तर की विजेता टीम राष्ट्रीय स्तर पर नवम्बर में दिल्ली में क्विज में भाग लेंगी। यह क्विज गत 12 वर्षों से निरंतर की जा रही है। क्विज में इस वर्ष सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरे एशिया पैसिफिक रीजन, युनाइटेड किंगडम, साउथ अमेरिका, नेपाल और भूटान सहित 7 देशों के लगभग 70 हजार विद्यार्थी और 11 हजार स्कूल के भाग लेने की संभावना है।

अवैध परिवहन रोकने बनाए नाकों से पहले ही वाहनों से माल उतार रहा माफिया, कार्रवाई के डर से रेत खदान से भागे ट्रक

चंबल| 31-अगस्त-2019

चंबल पुल से पहले वाहनों को अंडरलोड कर रहे,ताकि यूपी में कार्रवाई से बच सके।जिले में रेत अाैर गिट्‌टी के अवैध परिवहन को रोकने के लिए जिले में छह नाके शुरू किए गए हैं, लेकिन माफिया ने नाकाें से पहले ही वाहनों काे अंडरलोड करना (माल कम करना) शुरू कर दिया है। खास बात यह है कि अभी तक भिंड इटावा रोड पर चंबल पुल से पहले वाहनों को अंडरलोड कर रहा था ताकि यूपी में आरटीओ की सख्त कार्रवाई से बच सके। अब यह भिंड जिले में होना शुरू हो गया है। वहीं नाकों की वजह से कई लोगों ने अपने वाहन ही खड़े कर दिए हैं। बुधवार को स्थिति यह रही कि लहार क्षेत्र की खदानों से रेत भरने आए एक सैकड़ा से ज्यादा ट्रक कार्रवाई के डर से वापस यूपी की ओर भागे, जिससे सड़क पर इन ट्रकों की लंबी कतार लग गई।
जिले में रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन इतने चरम पर पहुंच गया कि सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह को सार्वजनिक रूप से बोलना पड़ा कि प्रदेश सरकार इस पर अंकुश लगाने में असफल हुई है। उन्होंने पुलिस के थानास्तर से लेकर चंबल आईजी तक पर इसमें संलिप्त होने के आरोप भी लगाए। इसके बाद चंबल आईजी डीपी गुप्ता ने जिले में छह मार्गों पर नाके लगाकर अवैध परिवहन रोकने के आदेश दे दिए, लेकिन अब रेत माफिया ने कार्रवाई के डर से नाकों से पहले ही ट्रैक्टर ट्राॅलियों व ट्रकों को अंडरलोड करना शुरू कर दिया है।

पुराना पुल छूकर निकली चंबल…जिले के 40 से अधिक गांव डूबे, संपर्क टूटा

चंबल| 27-अगस्त-2019

दो दिन में कोटा बैराज से छोड़ा गया 2 लाख क्यूसेक से अधिक पानी चंबल नदी में पहुंचना शुरू हो चुका है। चंबल का जलस्तर इतना बढ़ गया है कि नदी का पानी पुराने पुल के ऊपरी सतह को छूकर निकलने लगा है। शनिवार को लोग चंबल नदी के नए पुल पर नदी का जलस्तर देखने को पहुंचने लगे। वहीं कोटा बैराज से 14 और 15 अगस्त को छोड़े गए एक लाख क्यूसेक पानी से नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 10.51 मीटर ऊपर पहुंचने से राजाखेड़ा, बसईडांग, सरमथुरा के तकरीबन 40 गांवों का मुख्य सड़कों से सम्पर्क टूट गया।

जहां-जहां पानी में गांव घिरे दिखाई दिए। वहां के लोग या तो पैदल गांव से निकलते हुए दिखाई दिए या फिर खुद ट्यूबों व नावों की सहायता से गांव से पलायन करते नजर आए। वहीं बसईडांग क्षेत्र में गांवों के पानी से घिर के बाद बाड़ी एसडीएम सुमन चौधरी के साथ बाड़ी सीओ श्योराजमल मीना और बसईडांग थाना प्रभारी हीरालाल ने करुआपुरा, मुतावली सहित आधा दर्जन से अधिक गांवों का निरीक्षण किया। जिले भर के 40 से अधिक गांवों के पानी से घिर जाने के साथ ही गांवों में हजारों बीघा में खड़ी हुई बाजरे की फसल बर्बाद हो गई। कोटा बैराज से शनिवार सुबह साढ़े 8 बजे छोड़ा गया एक लाख 13 हजार क्यूसेक पानी भी रविवार सुबह तक धौलपुर पहुंच जाएगा। जिससे निचले स्तर के गांव डूबने की कगार पर पहुंच सकते हैं। 15 अगस्त के अंक में भास्कर ने जिला प्रशासन के अलर्ट से पहले कोटा बैराज से छोड़े गए पानी की सूचना दी थी। जिसमे भास्कर ने 36 घंटों में पानी के धौलपुर पहुंचने की बात कही थी। कोटा पीआरओ हरिओम गुर्जर ने बताया कि शनिवार के बाद अभी पानी नहीं छोड़ा गया है।

निगम के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त करने हेतु चम्बल संभाग की कमिश्नर श्रीमती रेनू तिवारी ने किये प्रयास 

मुरैना | 06-अगस्त-2019

 पिछले 4 दिनों से नगर निगम के सफाई कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल के कारण मुरैना शहर में फैल रही गंदगी को लेकर चम्बल संभाग की कमिश्नर श्रीमती रेनू तिवारी ने सोमवार को नगर निगम आयुक्त श्री मूलचन्द्र वर्मा द्वारा हड़ताल को समाप्त नहीं करवा पाने पर अप्रशंसा व्यक्त की है। उन्होनें तत्काल ए.डी.एम श्री एसके मिश्रा को सफाई कर्मचारियों की हड़ताल वापस कराने के लिये सामंजस्य बनाने, उनके बीच मध्यस्थता करने के लिये भेजा। इस पर ए.डी.एम श्री मिश्रा द्वारा पूरे प्रयास किये गये कि सफाई कर्मचारी हड़ताल समाप्त कर दें। इस पर कई कर्मचारियों ने हड़ताल वापस लेने का आश्वासन दिया है। मंगलवार से सफाई वाहन चालक अपने वाहन चलायेगें और घर-घर जाकर कचरा एकत्रित करेंगे। नगर निगम की परिषद की बैठक में भी सफाई कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त करने के प्रयास किये गये है।
चम्बल संभाग की कमिश्नर श्रीमती तिवारी ने सभी सफाई कर्मचारियों से हड़ताल समाप्त कर अपने कार्य पर वापस आने को कहा है। उन्होनें यह भी कहा है कि जो लोग सफाई कर्मचारियों को बेकाह रहे है उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। उन्होनें हड़ताल समाप्त कराने के लिये अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से भी चर्चा की है।

चंबल के बीहड़ों में इस एक्टर के साथ घूम रही भूमि पेडनेकर, कुछ ऐसा करने की है तैयारी

चंबल-26-जुलाई-2019

फिल्म की शूटिंग शुरू हो गई है. ‘इश्किया’, ‘डेड़ इश्किया’ और ‘उड़ता पंजाब’ जैसी फिल्में बनाने वाले डायरेक्टर अभिषेक चौबे इसे डायरेक्ट कर रहे हैं, और फिल्म चंबल आधारित है. इसलिए इसकी पूरी शूटिंग चंबल में होगी. जिसके लिए इसकी पूरी टीम चंबल पहुंच चुकी है. सुशांत और भूमि दोनों ने ही अपने सोशल मीडिया एकाउंट्स पर फिल्म की शूटिंग शुरू होने की जानकारी दे दी है, चंबल के बीहड़ों की तस्वीरें भी भेजी हैं, जहां अगले कुछ दिन उन्हें फिल्म की शूटिंग को अंजाम देना है.

दबंगईः अवैध नाव चलाने से रोकने पर वन विभाग टीम पर हमला, फायरिंग कर भागे हमलावर

चंबल 24.07.2019

चंबल नदी के पिनाहट घाट पर अनुमति के अभाव में स्टीमर बंद होने पर सोमवार को क्योरी घाट पर अवैध रूप से दिनभर नाव चलाई गई। सूचना पर मंगलवार को वन विभाग की टीम ने पुलिस के साथ पहुंचकर संचालन बंद कराने की कोशिश की तो नाव संचालकों ने टीम पर फायरिंग कर दी।  पुलिस की ओर से भी जवाब में गोलियां दागी गईं। इस बीच संचालक नाव लेकर नदी पार मध्यप्रदेश की सीमा में भाग निकले। सूचना पर पहुंची मुरैना के महुआ थाने की पुलिस ने नाव को सीज कर दिया है। वहीं हमलावरों की तलाश की जा रही है।  नाव संचालकों के हमले की खबर पर थानाध्यक्ष पिनाहट और वन रेंजर बाह आरके सिंह राठौर भी फोर्स के साथ पहुंचे। पिनाहट पुलिस