Thursday, November 26News That Matters

बड़वानी

Share
सार्वजनिक स्थान पर लोहे का फरसा लहराने वाले आरोपी को भेजा जेल
बड़वानी | 24-नवम्बर-2020

    न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी अंजड़ आभा गवली  द्वारा  धारा 25 बी आयुध अधिनियम  के तहत् आरोपी मोहन पिता बाबूसिंह निवासी विवेकानंद कॉलोनी ठीकरी को जेल भेजा गया। अभियोजन की ओर से पैरवी अकरम खान मंसूरी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी अंजड़ द्वारा की गई।
अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान ने बताया कि 23.11.2020 को थाना ठीकरी में पदस्थ उपनिरीक्षक को कस्बा ठीकरी में भ्रमण के दौरान मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि एक आदमी विवेकानंद कॉलोनी में फरसा लेकर घुम रहा है ओर आने जाने वाले लोगो को धमका रहा है। मुखबिर की सूचना पर विश्वास कर बताये स्थान पर पहुंचे वहा एक व्यक्ति हाथ में धारदार हथियार फरसा लेकर हवा में लहरा रहा था, जिससे आम जनता में भय व्याप्त था। तब आरोपी से लोहे का फरसा जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर उसके विरूद्ध थाना ठीकरी में अपराध  पंजीबद्ध  किया गया। गिरफतार आरोपी को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया जहां से उसे केन्द्रीय जेल बड़वानी भेजा गया।

बड़वानी के पपीता की खेती से किसान की आर्थिक समृद्धि (खुशियों की दास्तां)

बड़वानी | 18-नवम्बर-2020
    जिला मुख्यालय से 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम लोनसरा के कृषक श्री गोविन्द पिता श्री मांगीलाल काग एक प्रगतिशील कृषक है  जो कि सामान्यतः पिछले 8 वर्षो से बड़वानी जिले में मुख्यतः सब्जियों जैसे टमाटर, करेला, खीरा की खेती कर रहे थें। लॉकडाउन के दौरान श्री गोविन्द कॉग ने कृषि विज्ञान केन्द्र से मार्गदर्शन प्राप्त कर फलों कें अंतर्गत पपीता की खेती करने का सोचा तथा केन्द्र से तकनीकी मार्गदर्शन प्राप्त कर पपीता की उन्नत किस्म ताईवान-786 का रोपण किया।
माह फरवरी में 2.40 मीटर की दूरी पर ड्रिप सिंचाई पद्धति से पौधों को लगाया। पौधो को संतुलित मात्रा में पोषक तत्व दिए जिसमें 250 ग्राम नाइट्रोजन, 250 ग्राम फास्फोरस, 500 ग्राम पोटाश प्रति पौधा प्रयोग किया तथा इन पौधों से नवबंर माह में फल प्राप्त होने लगे तथा यह फल माह मई-जून तक निरंतर प्राप्त होगें। इस प्रकार 4000 पौधों, जिनको 4 एकड़ क्षेत्रफल में लगाया था उनके उचित प्रबंधन हेतु कृषि विज्ञान केन्द्र बड़वानी के वैज्ञानिकों द्वारा समय-समय पर तकनीकी सलाह दी गयी। फसल रोपण से 25 दिन से लेकर उत्पादन की अवस्था तक विभिन्न जलविलेय उर्वरकों का प्रयोग फर्टिगेशन सेड्यूल के अनुसार किया गया। पपीता की फसल 11 माह में तैयार हो जाती है तथा 16 वे माह तक 6-8 तुड़ाई पूर्ण  कर ली जाती है। कृषक श्री काग ने 4 एकड़ कुल क्षेत्रफल में 4000 पौधे रोपित किये थे जिनसे कुल उत्पादन 1650 क्विंटल प्राप्त हुआ। इससे उन्हे कुल आय राशि रू. 10 लाख 73 हजार 5 सौ  प्राप्त हुई। इनके द्वारा  प्रति पौध लगभग 95 रू. व्यय किया गया। इस प्रकार कुल व्यय राशि रू. 4 लाख 1 हजार किया गया एवं अन्य सभी व्यय की गणना करने के पश्चात् पपीता की 4 एकड़ खेती से शुद्ध आय 6 लाख 30 हजार प्राप्त की गयी व प्रति एकड़ शुद्ध आय 15 लाख 75 हजार प्राप्त की गई।किसान गोविंद भाई बताते हैं कि कृषि विज्ञान केंद्र से मार्गदर्शन प्राप्त कर कोई भी किसान उन्नत खेती की तकनीक को अपना सकता है।

राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान के लिये ऑनलाइन आवेदन 11 जुलाई तक आमंत्रित

बड़वानी | 10-जुलाई-2020
      केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय, नई दिल्ली के राष्ट्रीय शिक्षक कल्याण प्रतिष्ठान द्वारा राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार-2020 के लिये ऑनलाइन आवेदन 11 जुलाई, 2020 तक स्वीकार किये जायेंगे।
राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिये ऑनलाइन आवेदन, नामांकन एवं चयन की प्रक्रिया 17 अगस्त तक पूर्ण की जायेगी। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट www.mhrd.gov.in पर शिक्षकों अथवा संस्था प्रमुख सीधे ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जिला अथवा क्षेत्रीय चयन समिति द्वारा शिक्षकों की शार्ट लिस्टिंग और ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से राज्य अथवा संगठन चयन समिति को 12 से 21 जुलाई तक शार्ट लिस्ट किया जायेगा। राज्य अथवा संगठन चयन समिति की शार्ट लिस्ट ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से 22 जुलाई से 31 जुलाई तक स्वतंत्र राष्ट्रीय जूरी को भेजी जायेगी। चयन के लिये शार्ट लिस्ट किये गये उम्मीदवारों को 3 अगस्त तक सूचित किया जायेगा। राष्ट्रीय जूरी 6 से 14 अगस्त तक उम्मीदवारों का चयन कर 14 अगस्त को उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप देगी। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री के अनुमोदन के बाद 16 एवं 17 अगस्त को चयनित उम्मीदवारों को सूचित किया जायेगा और 5 सितम्बर, 2020 को नई दिल्ली में राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार दिये जायेंगे।

डेढ किलोमीटर पैदल चलकर कलेक्टर पहुचे पहाड़ी पर देखा मनरेगा का कार्य

बड़वानी | 18-जून-2020

    बड़वानी कलेक्टर श्री अमित तोमर ने गुरूवार को विकासखण्ड निवाली के ग्राम फुलज्वारी में चल रहे सीसीटी, सीपीटी के कार्य का निरीक्षण किया। इसके लिये वे लगभग डेढ किलोमीटर खेतो, पखडण्डियो, पहाड़ियों पर पैदल चले। इस दौरान उनके साथ एसडीएम पानसेमल श्री सुमेरसिंह मुजाल्दा, जनपद पंचायत सीईओ श्री डीएस राठौर, जनपद के इंजिनियर भी थे ।
पैदल चलकर पहाड़ी पर पहुंचे कलेक्टर ने कार्य कर रहे प्रवासी मजदूर श्री दिनेश चौहान एवं श्री मालसिंह चौहान से चर्चाकर जानकारी प्राप्त की । इस दौरान इन लोगो ने बताया कि वे लाक डाउन के कारण गुजरात के मोरवी से वापस अपने ग्राम लौटे है और विगत लगभग 25 दिनो से यहॉ चल रहे कार्य में मजदूरी प्राप्त कर रहे है। इस दौरान इन लोगो ने बताया कि यदि ग्राम के विभिन्न फल्यो में पहुंचने का मार्ग भी बनवा दिया जाये तो इससे जहॉ ग्रामीणों को आवागमन में सुविधा होगी । वही लोगो को लम्बे समय तक कार्य भी मिल पायेगा । इस पर कलेक्टर ने मौके पर ही उपस्थित जनपद पंचायत के सहायक यंत्री को निर्देशित किया कि वे शीघ्र ही इस मार्ग का सर्वे कर उस पर होने वाले व्यय की जानकारी बनाकर उन्हें देंगे । जिससे इस मार्ग के बारे में समुचित निर्णय किया जा सके । इसी प्रकार कलेक्टर ने मौके पर उपस्थित जीआरएस श्री शांतिलाल से भी चर्चा की । जिस पर जीआरए ने उन्हें बताया कि लगभग 20 दिनो पहले से इस 8 हेक्टर की इस पहाड़ी पर सीसीटी, सीपीटी का कार्य करवाया जा रहा है। जिसमें वर्तमान में 79 मजदूर रोजगार प्राप्त कर रहे है।

लॉकडाउन में तनावग्रस्त बच्चों को उपलब्ध होगी सायको सोशल काउंसलिंग

बड़वानी | 02-जून-2020

    कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण बच्चों में मानसिक तनाव एवं व्यग्रता आदि की समस्याएँ देखने में आ रही हैं। महिला-बाल विकास विभाग द्वारा बच्चों और अभिभावकों को सलाह एवं परामर्श देने के लिए चाइल्ड लाईन सेवा 1098 के अतिरिक्त जिला स्तर पर विशिष्ट टेलिफोनिक सायको सोशल हेल्थ डेस्क स्थापित किए गए है। यूनीसेफ एवं निमहेन्स बेंगलुरू के सहयोग से प्रत्येक जिले के लिए प्रशिक्षित सायको सोशल काउंसलर्स की टीम तैयार की गई है।
सभी जिलों के जिला कार्यक्रम अधिकारी को हेल्थ डेस्क का प्रभारी बनाया गया है। महिला-बाल विकास विभाग द्वारा केन्द्रीकृत नम्बर 8889983062, 6205397158 पर सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक सोमवार से शनिवार परामर्श प्राप्त करने की व्यवस्था आमजन के लिए की गई है।
कोरोना महामारी में लॉकडाउन के दौरान बच्चों को घरों पर सुरक्षित रखने, उन्हें रूचि अनुसार रचनात्मक कार्यों में संलग्न रखने और ऑनलाईन अध्ययन करने जैसे परामर्श अभिभावकों को हेल्थ डेस्क द्वारा दिए जा रहे हैं।

गंभीर कुपोषित बच्चों के समुदाय आधारित प्रबंधन (सी सैम) उन्मुखीकरण कार्यक्रम

बड़वानी | 18-फरवरी-2020
     राजपुर मुख्यालय परं नीति आयोग के आकांक्षी जिला विकाश कार्यक्रम के अंतर्गत स्वास्थ्य एवम् पोषण के सूचकांकों में सुधार लाने हेतु स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवम् बाल विकास विभाग की सयुक्त समन्वय समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें  गंभीर कुपोषित बच्चों का समुदाय आधारित प्रबंधन कार्यक्रम (सी सैम) पर चर्चा की गई।
इस दौरान प्रतिभागियो को बताया गया कि यह कार्यक्रम  कुपोषण को दूर करने के लिए एक नवाचार है। जिसके आंगनवाड़ी केंद्र में दर्ज सभी 6 माह से 59 माह के बच्चों का स्क्रीइंग करना तथा ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवम पोषण दिवस के दिन सी सैम क्लीनक का आयोजन किया जा रहा है। जिसमे चिन्हित बच्चों का एएनएम के द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा और क्रिटिकल बच्चों को एनआरसी रेफर करने के बाद सामान्य सैम बच्चों को सी सैम सत्र के दौरान पोषण उपचार के माध्यम से सेवाएं दी जायेगी जिससे की उनके पोषण के स्तर में सुधार हो सके।
वही बैठक के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अमले को भी बताया गया कि उन्हें भी आंगनवाड़ी केन्द में दर्ज बच्चों के लिये एनिमिया मुक्त भारत कार्यक्रम के तहत आयरन फोलिक एसिड सिरप का वितरण करना। साथ ही गर्भवती महिलाओं का अति शीघ्र पंजीयन कर उनकी 4 अनिवार्य एएनसी जाँच करना, एमसीपी कार्ड प्रदान करना, हाईरिस्क की गर्भवती महिलाओं की पहचान कर उनका सुरक्षित प्रसव करवाना, सम्पूर्ण टीकाकरण, कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती करवाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है। अतः दोनो विभाग का मैदानी अमला मिलकर अपने पदीन जिम्मेदारियो का निर्वहन करें।
समीक्षा बैठक में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेखा जमरे,विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ एम् एस सिसोदिया, विकासखंड परिवर्तन अधिकारी (स्वास्थ्य एवम् पोषण) पीरामल फाउंडेशन नीति आयोग संतोष सावनेर, ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर राकेश पवार,राधा यादव, स्वास्थ्य विभाग महिला बाल विकास विभाग के पर्यवेक्षक एएनएम्, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आशा सहयोगिनी उपस्थित थे।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी पर सेमिनार का आयोजन

सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण के अंतर्गत हो रहे हैं आयोजन
बड़वानी | 11-फरवरी-2020

    कार्यालय कलेक्टर, सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण, जिला बड़वानी के उपसंचालक श्री शैलेंद्र शर्मा के निर्देशानुसार शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा ‘राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के व्यक्तित्व और योगदान’ पर सेमिनार का आयोजन प्राचार्य डॉ. जे. के. गुप्ता के मार्गदर्शन में किया गया। सेमिनार का संयोजन प्रीति गुलवानिया और ज्योति जोषी उपाध्याय ने किया। इतिहास के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मधुसूदन चौबे ने पावर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से महात्मा गांधी जी के जीवन वृत्त, दक्षिण अफ्रीका में सत्याग्रह,  भारत में चंपारन सत्याग्रह, असहयोग आंदोलन, सविनय अवज्ञा आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन और उनके सत्य, अहिंसा, ट्रस्टीशिप जैसे सिद्धांतों की विस्तार से व्याख्या की। इसमें सौ से अधिक विद्यार्थियों ने सहभागिता की। विद्यार्थियों द्वारा पूछे गये प्रश्नों के उत्तर दिये गये। आयोजन में सहयोग राहुल मालवीया, रवीना मालवीया, कोमल सोनगड़े, जितेंद्र चौहान, अंशुल सुलिया, रितु बर्फा, राधिका शर्मा, पुष्पा धनगर, वर्षा मालवीया, राहुल भंडोले, विधी लोनारे ने दिया।

कॅरियर अवसर मेले की बैठक में कलेक्टर श्री तोमर ने कहा

सभी विभाग अपने स्टॉल लगाकर युवाओं को दें मार्गदर्शन, जिले के युवाओं को रोजगार और मार्गदर्शन देने का यह अच्छा अवसर- श्री सरियाम
बड़वानी | 28-जनवरी-2020

कॅरियर मेले में जिले के शासकीय विभाग अपने स्टॉल लगायें। विशेषकर जिला रोजगार कार्यालय, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, पुलिस विभाग, प्रशासन विभाग, जनसंपर्क विभाग, बैंक, बीमा आदि युवाओं को मार्गदर्शन देकर उनके स्वरोजगार स्थापना तथा सरकारी या निजी सेवा में अपना कॅरियर बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने में सक्षम बनायें। यह मेला युवाओं के लिए सार्थक सिद्ध हो, ऐसा प्रयास किया जाये। सरकारी सेवा, निजी सेवा एवं स्वरोजगार के क्षेत्र में उपलब्ध अवसरों की जानकारी देते हुए उन्हें प्राप्त करने के लिए उचित मार्गदर्शन का प्रबंध किया जाये। समस्त सरकारी विभाग अपने विभागों की वेकेंसी और अन्य जानकारी प्रदान करें। ये बातें कलेक्टर श्री अमित तोमर ने शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ एवं जिला रोजगार कार्यालय द्वारा 19 एवं 20 फरवरी, 2020  को आयोजित किये जाने वाले दो दिवसीय जिला स्तरीय कॅरियर एवं रोजगार अवसर मेले के संबंध में आज आयोजित हुई बैठक में जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहीं। मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत और अपर कलेक्टर श्री मनोज सरियाम ने कहा कि क्षेत्र के युवाओं को रोजगार दिलाने और सुनहरे भविष्य के लिए मार्गदर्शन देने का यह बहुत अच्छा अवसर है। इस मेले को सार्थक रूप से आयोजित करने में सभी विभाग बढ़-चढ़कर भूमिका का निर्वाह करें।

हिला स्वयं सहायता समूह के ऋण को भी माफ किया जायेगा – गृहमंत्री श्री बच्चन

बड़वानी | 14-जनवरी-2020

प्रदेश के गृहमंत्री श्री बाला बच्चन ने स्वयं सहायता समूह के महासम्मेलन में कहा कि जिस प्रकार से राज्य शासन ने किसानों का ऋण माफ किया है उसी प्रकार से हम महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं का भी ऋण माफ करेंगे। साथ ही उन्होने महिलाओं को बताया कि, उन्हें अपनी बैठक करने के लिए सदस्यों से राशि एकत्रित करने की भी जरूरत नहीं,  यह राशि भी उन्हें मैं अपनी निधि से दूंगा।
बड़वानी जिले के राजपुर मण्डी प्रांगण में सोमवार को प्रदेश के गृहमंत्री एवं राजपुर के विधायक श्री बाला बच्चन ने एक्शन फॉर सोशल एडवांसमेंट (आसा) द्वारा आयोजित स्वयं सहायता समूह महासम्मेलन में उपस्थित महिलाओं को सम्बोधित करते हुये उन्हें विश्वास दिलाया कि वे अपने स्वयं सहायता समूह एवं सदस्य महिलाओं के नाम उन्हें दे, जिससे वे अपनी मंत्री निधि से उक्त राशि दे सके।  जिससे महिलाऐं, आर्थिक गतिविधियों के क्षेत्र में और सक्षम बन सके।
इस दौरान उन्होने उपस्थित महिलाओं को बताया कि सरकार ने अनुसूचित जाति, जनजाति बाहुल्य ग्रामो में 25-25 हजार रूपये के बर्तन खरीदने हेतु जिले को 17 करोड़ की राशि दी है। जिससे ग्राम में होने वाले सार्वजनिक कार्यक्रमो के दौरान इन बर्तनो का उपयोग किया जा सके। उन्होने बताया कि यदि किसी पिछड़े एवं सामान्य बाहुल्य ग्रामो में भी बर्तन खरीदने हेतु राशि की आवश्यकता है तो वे अपनी स्वेच्छा निधि से समुचित राशि देंगे।
कार्यक्रम के दौरान आसा संस्था के पदाधिकारियों ने विगत 15 वर्षो में जिले के विभिन्न ग्रामों में महिलाओं के माध्यम से चलाये जा रहे कृषि विकास, जल संरक्षण सहित अन्य गतिविधियों पर तैयार चलचित्र का प्रदर्शन भी किया गया, जिसे गृहमंत्री ने भी देखा एवं सराह। साथ ही उन्होने श्रेष्ठ कार्य करने वाली महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को प्रशंसा पत्र भी देकर सम्मानित किया।

सभी श्रेणी की कर प्रणाली को सरल और सुगम बनाने का साल रहा-2019

धार | 07-जनवरी-2020

 राज्य सरकार ने पिछले एक वर्ष में सभी श्रेणी के करदाताओं के लिये कर प्रणाली को सरल और सुगम बनाया है। अब कम्प्यूटर प्रणाली से जीएसटी सिस्टम में पंजीयन की कार्यवाही की जा रही है। जीएसटी में अनिवार्य पंजीयन के लिये एक जुलाई 2019 से करदाताओं की वार्षिक टर्नओव्हर सीमा को 20 लाख से बढ़ाकर 40 लाख किया गया। वेट अधिनियम में 2,90,457 पंजीबद्ध करदाता एक जुलाई 2017 को जीएसटी में माइग्रेट हुए थे। इनकी संख्या बढ़कर अब 4 लाख 17 हजार से ज्यादा हो गई है। अप्रैल 2019 के बाद से अब तक जीएसटी में 41 हजार 136 नये पंजीयन जारी किये गये।
कम्पोजिशन की सुविधा

सालाना डेढ़ करोड़ तक टर्नओव्हर वाले छोटे निर्माता करदाताओं को कम्पोजिशन की सुविधा का विकल्प दिया गया, जिसमें उन्हें हिसाब रखने से छूट दी गई। त्रैमासिक कर चुकाने और वार्षिक विवरणी की सुविधा देने के लिये जीएसटी के नियमों में जरूरी बदलाव किये गये। सभी करदाताओं को प्रतिमाह वापसी के आवेदन करने की सुविधा दी गई। अब करदाता गलती से कर की राशि किसी अन्य हेड में जमा होने पर वापसी के लिये स्वयं ही उसे सही हेड में ट्रांसफर कर सकेंगे।

खनिज विभाग ने अवैध रेत परिवहन करते हुए जप्त किया डम्पर एवं ट्रेक्टर-ट्राली को

बड़वानी | 28-दिसम्बर-2019

बड़वानी जिले में रेत माफिया के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के दौरान शुक्रवार को बड़वानी नगर से एक डम्पर को एवं पाटी में एक ट्रेक्टर-ट्राली को अवैध रेत परिवहन करते हुए जप्त किया गया है।

मध्यप्रदेश में महानगरों से पर्यटकों के लिये शीघ्र शुरू की जाएगी हेलीकॉप्टर सेवा

एनवीडीए परियोजनाओं से एक साल में 4.28 लाख हेक्टेयर में सिंचाई हुई, नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन मंत्री श्री बघेल ने दी एक वर्ष की उपलब्धियों की जानकारी
बड़वानी | 17-दिसम्बर-2019

नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने बताया है कि मध्यप्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पिछले एक साल में निवेशकों के लिये व्यापक, सरल एवं पारदर्शी पर्यटन नीतियाँ बनाई गई हैं। इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर महानगर से प्रदेश के पर्यटन स्थलों के लिये पर्यटकों के लिये हेलीकाप्टर सुविधा शीघ्र शुरू की जा रही है। उन्होंने जानकारी दी कि नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण की सिंचाई परियोजनाओं से पिछले एक साल में 4 लाख 28 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में रबी फसलों को सिंचाई के लिये पानी उपलब्ध कराया गया। इस वर्ष रबी के लिये एक लाख हेक्टेयर अधिक अर्थात 5 लाख 28 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि रबी सिंचाई में लगभग 27 प्रतिशत की वृद्धि सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। श्री बघेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देश पर पिछले एक वर्ष में पानी की हर बूंद को संग्रहीत कर उपयोग में लाने की दिशा में कार्य किया गया है जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं।

आर्ट एंड क्राफ्ट – रंगबिरंगे दीपों से बनाये अपनी दीपावली को इन्द्रधनुषी

बड़वानी | 22-अक्तूबर-2019

दीपावली का त्योहार दीपों की रोशनी से पूर्णता प्राप्त करता है। बाजार में मिलने वाले सामान्य और डिजाइनदार मिट्टी के दीपों को रंगों से सजाकर सुंदरतम रूप दिया जा सकता है। जब ये आपके आंगन में प्रज्ज्वलित होंगे तो इन्द्रधनुषी छटा देखते ही बनेगी। ये बातें शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा आज से आर्ट एंड क्राफ्ट के अंतर्गत प्रारंभ की गई तीन दिवसीय कार्यशाला में दीप सज्जा का प्रशिक्षण देते हुए प्रशिक्षकद्वय ज्योति ओझा और प्रीति गुलवानिया ने कहीं। प्रीति ने कहा कि दीप सज्जा एक शौक के साथ ही एक अच्छा व्यवसाय भी सिद्ध हो सकता है। ज्योति ओझा ने कहा कि सीमित साधनों से ही इस कला को सीखा जा सकता है और इसका लाभ उठाया जा सकता है। यह आयोजन प्राचार्य डॉ. आर. एन. शुक्ल के मार्गदर्शन में संचालित किया जा रहा है। कॅरियर काउंसलर डॉ. मधुसूदन चौबे ने प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए कहा कि कला का साधन अध्ययन के क्षेत्र में उच्च सफलताएं प्राप्त करता है क्योंकि उसकी एकाग्र होने की क्षमता बहुत बढ़ जाती है। जो युवा सृजनात्मक क्षमताओं से युक्त होते हैं, वो भीड़ में अलग ही दिखाई देता है। आयोजन में सहयोग जितेंद्र चौहान, कोमल सोनगड़े, राहुल मालवीया, ज्योति जोशी ने दिया।

केंद्रीय दल ने खेतों में पहुंचकर किया अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों का निरीक्षण

बड़वानी | 15-अक्तूबर-2019

बड़वानी जिले में अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों का निरीक्षण केंद्रीय दल ने खेतों में पहुंचकर किया। इस दौरान उन्होंने किसानों से चर्चा करते हुए बताया कि उन्होंने खेतों का निरीक्षण कर कितनी नुकसानी हुई है इसको देख लिया है। अब अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को प्रस्तुत करेंगे जहां से नियमानुसार राहत राशि स्वीकृत होगी।
केंद्र से आए इस दल ने विकासखंड राजपुर के ग्राम रुई के कृषक रामेश्वर साहू के खेत में लगी मक्का की फसल एवं ग्राम कादवी के कृषक मुन्नालाल के खेत में लगी मक्का एवं कपास की फसल का निरीक्षण किया। इस दौरान संबंधित कृषकों ने उन्हें बताया कि खेत में भरे पानी के कारण उनकी फसल पूरी तरह से नष्ट हो गई है।
केंद्र से आए इस दल में गृह विभाग के ज्वाइंट सेक्रेट्री श्री एस के साही, वित्त विभाग के डायरेक्टर श्री अमरनाथ सिंह, ग्रामीण विकास के डिप्टी सेक्रेटरी श्री एमके सिंह, विद्युत विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर श्री सुमित गोले, मध्य प्रदेश कृषि विभाग के डायरेक्टर डॉ एके तिवारी, जल संसाधन विभाग के डायरेक्टर मनोज पउनीकर, सड़क विभाग के सुपरीटेंडेंट इंजीनियर श्री सुमित कुमार सम्मिलित थे।
केंद्रीय दल के निरीक्षण के दौरान बड़वानी कलेक्टर श्री अमित तोमर ,अपर कलेक्टर श्रीमती रेखा राठौर, उप संचालक कृषि श्री केएस खपेडि़या, उप संचालक उद्यानिकी श्री अजय चौहान, एसडीएम राजपुर श्री वीर सिंह चौहान, अधीक्षक भू-अभिलेख श्री मुकेश मालवीय, तहसीलदार राजपुर श्री भागीरथ वाखला, कृषि विज्ञान केंद्र बड़वानी के वैज्ञानिक डॉ डीके जैन सहित बड़ी संख्या में कृषक बंधु उपस्थित थे।

पर्यावरण को बचाना है प्लास्टिक को छोड़ना है

बड़वानी | 01 अक्टूबर -2019

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर को कोठे के निर्देशानुसार एवं अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय श्री हेमंत जोशी के मार्गदर्शन में पर्यावरण ग्रुप के नोडल अधिकारी श्री अर्जुन परमार के नेतृत्व में सोमवार को बड़वानी के बस स्टैंड में पॉलिथीन में सामान बेचने वाले लोगों को प्लास्टिक की हानियो के बारे में बताया । सिंगल यूज प्लास्टिक जो हम उपयोग करते हैं तुरंत उपयोग करके फेंक देते हैं। उनमें पानी की बोतल, गिलास, पन्नों, पान मसाले के पाउच, डिस्पोजल चाय के गिलास आदि ये सभी बहुत हानिकारक है। इन को नष्ट करते हैं तो यह पूरी तरह नष्ट भी नहीं होता है और इसे जलाते हैं तो जो जहरीली गैस धुएँ के रूप में निकलती है उससे हमें कैंसर हो सकता है। प्लास्टिक का उपयोग न करें। बसों में यात्रियों के बीच जाकर पर्यावरण ग्रुप ने पॉलिथीन का उपयोग न कर कपड़े की थैली का उपयोग करने का सभी को संकल्प दिलाया। पर्यावरण ग्रुप के सदस्य में श्री नरसिंह माली, श्रीमती अनीता चोयल, श्री सरदार बघेल, श्री सुरेश, श्रीमती शैलजा पारगीर, श्रीमती बरखा चौबे, कुमारी अमिना खान, श्री रुपेश व्यास, श्रीमती सुनीता चोहान, श्रीमती शैली, रूपेश पुरोहित, सुनीता चौहान उपस्थित थे।

आपकी सरकार आपके द्वार योजना के तहत 25 को लगेगा निवाली में शिविर

बड़वानी | 24-सितम्बर-2019

आपकी सरकार आपके द्वार योजना के तहत 25 सितम्बर को विकासखण्ड निवाली में शिविर का आयोजन किया जायेगा। इसके पूर्व कलेक्टर के निर्देशन में जिला अधिकारियों का दल एक बस में सवार होकर पहुंचेगा एवं उस ग्राम में संचालित समस्त शासकीय संस्थाओं का निरीक्षण कर उनकी गतिविधियों एवं शासकीय योजनाओं की मैदानी हकीकत जानेगा। अधिकारियों का दल किस ग्राम में जायेगा इसका निर्धारण 25 सितम्बर को ही प्रातः कलेक्टर द्वारा आकस्मिक रूप से किया जायेगा।
ज्ञातव्य है कि 25 सितंबर को लगने वाले इस शिविर की पहले तिथि 27 सितंबर निर्धारित थी, जिसे परिवर्तित कर 25 सितंबर की गई है। कलेक्टर श्री अमित तोमर ने आपकी सरकार आपके द्वार योजना में सम्मिलित विभागों के जिला अधिकारियों को 25 सितंबर को प्रातः 8.30 बजे कलेक्टरेट कार्यालय बड़वानी में उपस्थित होने के निर्देश दिये है। जिससे समस्त अधिकारी एक बस में सवार होकर चयनित ग्राम में पहुंच सके।

आज बंद रहेगी विभिन्न क्षेत्रों में विद्युत सप्लाई

बड़वानी | 17-सितम्बर-2019

मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के सहायक यंत्री से प्राप्त जानकारी अनुसार आज अर्थात 17 सितंबर को प्रातः 8 से 11 तक 11 केवी आमल्यापानी फीडर पर मेंटेनेंस का कार्य किए जाने के कारण शहर न्यू हाउसिंग बोर्ड, डीआरपी लाइन, पानवाड़ी मोहल्ला, दशहरा मैदान, लक्ष्मी टॉकीज, चांदशाह मोहल्ला, भारूड़ मोहल्ला, राधाकृष्ण कॉलोनी, सतपुड़ा कॉलोनी, कृष्णा स्टेट, पूजा स्टेट, भवानी नगर, बोहरा कांप्लेक्स, चंचल चौराहा, स्नेहनगर, बंधान रोड, गुरु नानक नगर, गुरु शिवोम विहार, आकाश नगर, भगवान नगर, हाउसिंग कॉलोनी व आसपास के क्षेत्रों में विद्युत सप्लाई बंद रहेगी। उन्होंने बताया कि काय अनुसार निर्धारित समय-सीमा घटाया बढ़ाई जा सकती है।

शिक्षक दिवस पर परिचर्चा एवं गुरुजनों का सम्मान

स्टालिन ने कहा था उन्हें 24 घंटे पढ़ने वाला प्रोफेसर

बड़वानी | 06-सितम्बर-2019

शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा प्राचार्य डॉ. आर. एन. शुक्ल के मार्गदर्शन में ‘चौबीस घंटे पढ़ने वाले प्रोफेसर-डॉ. राधाकृष्णन’ विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया तथा महाविद्यालय के समस्त गुरुजनों का तिलक, आरती और पुष्पवर्षा से सम्मान किया गया। इस अवसर पर कस्तूरबा आश्रम, निवाली के श्री घीसालाल टाक मुख्य अतिथि थे। डॉ. महेशलाल गर्ग, डॉ. बलराम बघेल, डॉ. प्रवीण मालवीया विशेष अतिथि थे। संयोजन कर रहीं प्रीति गुलवानिया और किरण वर्मा ने सर्वप्रथम डॉ. राधाकृष्णन की जीवनी पर प्रकाश डाला तत्पश्चात सलोनी शर्मा, अंशुल सुलिया, किरण वर्मा, रवीना मालवीया, राधिका शर्मा, रितु बर्फा, प्रीतम राठौड़, अजय चांदोरे, भूमिका शर्मा, दीपिका धनगर, रवि धनगर, राहुल गोले, आशीष गोयल, राजेश जादव, राहुल देवड़ा, राहुल मालवीया, ग्यानारायण शर्मा, दीपक अग्रवाल, मोनिका बघेल, पूजा अग्रवाल, लक्ष्य सूर्यवंशी एवं डॉ. मधुसूदन चौबे ने विचार व्यक्त करते हुए गुरु की महत्ता को स्वीकार किया तथा अपने जीवन में उन्नति के लिए गुरु के दिशानिर्देश को मानने का संकल्प लिया।
स्टालिन ने कहा था उन्हें चौबीस घंटे पढ़ने वाले प्रोफेसर
संयोजक प्रीति गुलवानिया और किरण वर्मा ने डॉ. राधाकृष्णन जी के जीवन वृत्त पर प्रकाश डालते हुए बताया कि उनका जन्म 5 सितम्बर 1888 को हुआ था। उन्होंने 1975 तक के अपने 87 वर्षों के जीवन काल में हर प्रकार की चुनौती को स्वीकार किया और अपनी मेधा से उन पर विजय प्राप्त की। किशोरावस्था की पारिवारिक वित्तीय विपन्नता से विचलित हुए बिना वे स्वअर्जित धन से स्वाध्याय करते रहे। गणित, इतिहास और दर्शनशास्त्र के दैदीप्यमान विद्यार्थी के रूप में अपने अध्यापकों को हतप्रभ करते रहे। जब मद्रास कॉलेज में दर्शनशास्त्र के प्राध्यापक बने तो अध्यापन की नई इबारत गढ़ दी। विद्यार्थियों से मैत्रीपूर्ण व्यवहार करते हुए उन्हें अनुशासित बनाये रखने की उनकी कला अनोखी थी। हिन्दू धर्म दर्शन पर उनकी पकड़ और विवेचना का उनका ढंग अनुपम था। इंग्लैण्ड और अमेरिका भी उनके विचारों से ऊर्जा ग्रहण की। वे वहां भी पढ़ाने गए थे। उनके व्याख्यान इतने स्तरीय होते थे कि वे सभी कालांतर में लगभग 150 ग्रंथों के रूप में प्रकाशित हुए। द हिन्दू व्यू ऑफ लाइफ उनकी प्रख्यात रचना है। संविधान सभा के सदस्य के रूप में उनके परामर्ष संविधान को निखारने में कारगर रहे। 14 अगस्त, 1947 की अर्धरात्रि को उनके भाषण के साथ ही हमने स्वतंत्र भारत में प्रवेश किया। सोवियत संघ के राजदूत के रूप में वे देश के हितों को साधने और संबंधों की मधुरता बनाये रखने में कामयाब रहे। स्टालिन ने उन्हें 24 घण्टे पढ़ने वाला प्रोफेसर कहकर उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया था। देश के प्रथम उपराष्ट्रपति रहते हुए उन्होंने राज्य सभा के पदेन सभापति के रूप में सदन का अविस्मरणीय सफलता के साथ संचालन किया। डॉ. राजेंद्र प्रसाद के उत्तराधिकारी के तौर पर वे देश के महान राष्ट्रपति सिद्ध हुए। उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया।
1962 से मनाया जा रहा है शिक्षक दिवस
सलोनी शर्मा ने बताया कि डॉ. राधाकृष्णन के नाम के पहले लगने वाला शब्द सर्वपल्ली एक गांव का नाम है। दक्षिण भारत में व्यक्ति अपने नाम के पहले गांव का उल्लेख करते हैं। भारत में 1962 से शिक्षक दिवस मनाया जाना प्रारंभ हुआ।
सीख सकते हैं ये खास बातें
डॉ. चौबे ने कहा कि उनका जीवन मुख्य रूप से तीन बातें सीखाता है- आर्थिक अभाव उन्नति के मार्ग में आड़े नहीं आते। सतत अध्ययन और चिन्तन आत्म तथा राष्ट्रविकास के लिए अपरिहार्य है और जो दायित्व मिले उसे पूर्ण शिद्दत के साथ सम्पन्न किया जाना चाहिए।
शिक्षकों का किया सम्मान
कॅरियर सेल के कार्यकर्ताओं ने प्राचार्य डॉ. आर. एन. शुक्ल, डॉ. एन. एल. गुप्ता, डॉ. दिनश वर्मा सहित महाविद्यालय के प्राध्यापकों का तिलक, आरती और पुष्पवर्षा से सम्मान किया।

निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर के लिए समाज कार्य विद्यार्थियों ने घर-घर दी दस्तक

बड़वानी | 31-अगस्त-2019

निःशुल्क पारिवारिक स्वास्थ्य परिक्षण शिविर का आयोजन आज अर्थात शनिवार को प्रातः 9.30 बजे से दोपहर 2.00 बजे तक रणजीत क्लब बड़वानी में किया गया है। शिविर का आयोजन चोईथराम अस्पताल एवं अनुसंधान केन्द्र इन्दौर एवं लॉयंस क्लब बड़वानी सीटी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया है। शिविर में विशेष स्वास्थ्य विशेषज्ञों की टीम मरीजों को परामर्श सह चिकित्सा प्रदान करेगी जिनमें मुख्य रूप से शिशु हृदय रोग, दर्द निवारक, पेट रोग विशेषज्ञ, हड्डी रोग, स्त्री रोग, हृदय रोग, डायबिटीज एवं केंसर के अनुभवी विशेषज्ञ सेवाऐं प्रदान करेगे। शुक्रवार को शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बड़वानी के समाज कार्य विद्यार्थियों ने प्राचार्य डॉ. आर.एन. शुक्ल के मार्गदर्शन में तथा आशाग्राम ट्रस्ट बड़वानी के पीआरओ सचिन दुबे के समन्वय में घर-घर जाकर निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का लाभ उठाने की दस्तक दी।
इस दौरान कु. कृष्णा रावत, रिंकू वास्केल, पूजा चौहान, सीता देसाई, रेखा बण्डोड़, भावना मण्डलोई, अनु नर्गेश, काजल वाघ, दिगंबर ठाकुर, दिलीप परिहार, शर्माजी सोलंकी, अंतिम मण्डलोई आदि छात्र-छात्राऐं उपस्थिति थे।

 

43 ग्राम पंचायतो में खुलेगी राशन दुकान 

इसके लिये ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित 

बड़वानी | 23-अगस्त-2019

जिला खाद्य अधिकारी श्री बीके कोष्ठा से प्राप्त जानकारी अनुसार विकासखण्ड बड़वानी के ग्राम पंचायत चारणखेड़ा, केली, मालुराणा में, विकासखण्ड पाटी के ग्राम पंचायता आवली, बुदी, गुडी, हरला, वेरवाड़ा में, विकासखण्ड राजपुर के ग्राम पंचायत बोबलवाड़ी, देवनली, घुसगॉव, मोरगुन, नांदेड, नंदगॉव, कुसमरी, लफनगॉव, लिम्बई, साली, टाकली, सांगवीनीम, चौतरीया, टेमला, सिनगुन, नागलवाड़ीखुर्द में, विकासखण्ड ठीकरी के ग्राम पंचायत केरवा, लोहारा, मदरानिया, चकेरी, दाबड़, दतवाड़ा, जरवाह, टेमला, उमरदा, तक्यापुर, बलगॉव में, विकासखण्ड निवाली के ग्राम पंचायत सिलदड़ में, विकासखण्ड सेंधवा के ग्राम पंचायत देवली, धावड़ा ‘‘च‘‘, जुलवानिया, पेढारान्या, कालीकुण्डी, धनोरा, बड़गॉव में यह राशन दुकान खुलना है।

कौन खेल सकता है दुकान
  •     पात्र सहकारी संस्थाओं/ स्वसहायता समूहो से 13 सितम्बर तक ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किये गये है।
  •     उचित मूल्य दुकान के आवंटन उपभोक्ता सोसायटी/विपणन सोसायटी/उत्पादक सासायटी/संसाधन सोसायटी/महिला स्वसहायता समूह/बहु प्रयोजन सोसायटी/संयुक्त वन प्रबंधन समिति/महिला स्वसहायता समूह / शासकीय विभाग में पंजीबद्ध होना चाहिये।
  •     ग्रामीण क्षेत्र में उचित मूल्य दुकान के आवंटन उपभोक्ता सोसायटी/ विपणन सोसायटी/उत्पादक सोसायटी/संसाधन सोसायटी/ महिला स्वसहायता समूह/संयुक्त वन प्रबंधन समिति ऐसी संस्थाऐ जिसका पंजीयन उचित मूल्य दुकान आवंटन हेतु आवेदन दिनांक से 1 वर्ष पूर्व का न हो। आवेदन दिनांक से 1 वर्ष पूर्व पंजीकृत सहकारी संस्था/स्व’-सहायता समूह- उचित मूल्य दुकान के आवंटन के लिये पात्र नही होगी।
  •     उचित मूल्य दुकान के आवंटन हेतु आवेदन करने वाली विपणन सोसायटी को मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ का सदस्य होना अनिवार्य होगा।
  •     उचित मूल्य दुकान आवंटन हेतु आवेदन करने वाली विपणन सासायटी का वन परिक्षेत्र में कार्य करने हेतु पंजीकृत एवं कार्यशील होना अनिवार्य होगा।
  •     उचित मूल्य दुकान आवंटन के लिये आवेदन करने वाली उत्पादक सोसायटी को मध्यप्रदेश सहकारी सोसायटी अधिनियम 1960 (क्रमांक 17 सन 1961) में उल्लेखीत उद्देश्यों के लिये पंजीकृत तथा कार्यशीलन होना अनिवार्य होगा। जिसमें एक उपभोक्ता सोसायटी अथवा संसाधन सोसायटी का होना अनिवार्य होगा।

रक्तदान शिविर का आयोजन 14 अगस्त को 

बड़वानी | 09-अगस्त-2019

   क्षत्रीय कुशवाह युवा संगठन व कुशवाह युवा रक्तदान समिति बड़वानी के द्वारा 14 अगस्त को कुशवाह समाज के आराध्य देव भगवान लव-कुश के जन्मोत्सव पर स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन,  कुशवाह समाज धर्मशाला रानीपुरा बड़वानी में किया जाएगा। समिति के पदाधिकारियो ने समाजनो एवं आमजनो से अव्हान किया है कि वे अधिक से अधिक इस रक्तदान शिविर में पहुंचकर अपना रक्तदान कर इस शिविर को सफल बनाये।