Friday, January 24News That Matters

मध्यप्रदेश / कपलिंग टूटने से दो हिस्सों में बंटी पंजाब मेल, इंजन समेत 17 डिब्बे हरदा रेलवे स्टेशन पहुंचे, 7 जंगल में छूट गए

Share
    • हरदा स्टेशन से पहले गुरुवार रात 10 बजे हादसा, एस-5 और एस-6 के बीच की कपलिंग टूटी
    • यात्री ने बताया, एस-5 और एस-6 के बीच खड़े यात्री इटारसी में उतर गए थे, होते तो कई मारे जाते
    • फिरोजपुर से मुंबई जा रही थी पंजाब मेल, कुछ यात्रियों को चोट लगने की भी जानकारी

    हरदा. फिरोजपुर से मुंबई जा रही पंजाब मेल गुरुवार रात 10 बजे हरदा रेलवे स्टेशन से 500 मीटर पहले एस-5 और एस -6 के बीच की कपलिंग टूटने से दो हिस्सों में बंट गई। इंजन और 17 डिब्बे स्टेशन तक पहुंच गए, जबकि 7 डिब्बे कुछ दूर पहले जंगल में ही छूट गए।

    ट्रेन के दो हिस्सों में बंटने की जानकारी होने पर एस-5 के यात्री ने झटका लगते ही चेन पुलिंग की। झटका इतना जबरदस्त था कि बर्थ पर सोए कई यात्री गिर गए। कुछ को हाथ-पैर में और कुछ को अंदरूनी चोटें आई हैं। बाद में 17 डिब्बों को भी वापस लाकर जंगल में छूटे 7 डिब्बों से जोड़ा गया और हरदा स्टेशन लाया गया। रात 10.45 बजे ट्रेन रवाना हुई।

    चेन पुलिंग कर रुकवाई ट्रेन

    ग्वालियर से मुंबई जा रहे यात्री अमित कौरव ने बताया कि अचानक ट्रेन को जोरदार झटका लगा। उन्हाेंने गेट से बाहर देखा तो ट्रेन दो हिस्सों में बंटी हुई थी। अगला हिस्सा उन्हें लेकर आगे जा रहा था। तत्काल चेन पुलिंग की। ट्रेन स्टेशन के ओवरब्रिज के पास जाकर रुक गई।

    25 मिनट में रिपेयरिंग की

    हरदा के एएसएम रामेश्वर सिंह ने बताया पंजाब मेल के एस-5 बोगी की स्पेयर कपलिंग टूट गई थी। इसके कारण ट्रेन 35 मिनट देरी से रवाना हुई। रिपेयरिंग में कर्मचारियों को करीब 25 मिनट लगे।

    टल गया बड़ा हादसा

    ग्वालियर के यात्री योगेश चौहान ने बताया- मुंबई जा रहा हूं। ट्रेन करीब 80 की रफ्तार से चल रही थी। हरदा स्टेशन के कुछ दूर पहले झटका लगा और ट्रेन दो टुकड़े में बंट गई। एस-5 से लेकर इंजन की बोगियां आगे निकल गईं, हमारी बोगी एस-6 सहित कई डिब्बे जंगल में छूटे थे। अंधेरा होने से अफरातफरी के बीच सूचना मिलने पर रेलवे स्टाफ आया। शुक्र रहा कि जिन बोगियों के बीच से ट्रेन अलग हुई, उनकी कपलिंग पर इटारसी तक कई लोग खड़े और बैठे हुए थे। वे इटारसी में ही उतर गए। यदि वे अभी होते तो कई जानें जा सकती थीं।