Saturday, October 16News That Matters

यूनिवर्सिटीज-कॉलेजों में भर्ती के नियम बदले:UGC ने कहा- इस साल असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए PhD जरूरी नहीं; NET करने वाले फार्म भर सकेंगे

मध्यप्रदेश की यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसरों और अन्य शैक्षणिक कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए अब PhD की जरूरत नहीं है। सिर्फ NET पास करने वाले भी फार्म भर सकेंगे। पहले की तरह इन पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। इसका नोटिफिकेशन जारी हो गया है।

दरअसल, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने इस साल से यह तय किया था कि असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती के लिए PhD जरूरी होगा। बाद में कोरोना काल को देखते हुए आयोग ने अपना यह फैसला वापस ले लिया है। इस हिसाब से अब इस साल कॉलेजों में भर्तियां पूर्ववत हो जाएंगी। PhD अनिवार्य होने वाला नियम 1 जुलाई 2023 यानी अगले साल से लागू हो सकता है।

यूजीसी द्वारा नए नियमों में ढील देने से अब मध्यप्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को भर्ती के लिए दोबारा विज्ञापन निकालना पड़ेगा। दरअसल, विश्वविद्यालयों ने नए नियम के हिसाब से भर्तियां निकाली थीं। अब उन्हें तारीख बढ़ाकर नए नियम से विज्ञापन बनाना पड़ेगा। इससे आवेदकों की संख्या भी बढ़ेगी।

BU में बैकलॉक के पदों पर 29 अक्टूबर तक होगा आवेदन
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ने जुलाई में बैकलॉक पदों के लिए भर्ती निकाली थी। कुल 7 पदों के लिए PhD की अनिवार्यता की शर्त के साथ यह पद निकाले गए थे। नए निर्देश आने के बाद अब इन पदों के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 29 अक्टूबर 2021 तक कर दी गई है।

मध्यप्रदेश में भर्ती संबंधी जानकारी

  • मध्यप्रदेश के सक्षम अधिकारी के द्वारा जारी किया गया अद्यतन जाति प्रमाण पत्र धारित करने वाले अभ्यर्थी ही आरक्षण का लाभ लेने के पात्र होंगे।
  • मध्यप्रदेश शासन के नियमानुसार नि:शक्तजनों को आरक्षण का लाभ दिया जाएगा।
  • वेबसाइट पर उपलब्ध पंजीयन पत्र को ऑनलाइन भरना एवं शुल्क जमा करना अनिवार्य है।
  • इन पदों के लिए पहले आवेदन कर चुके अभ्यार्थियों के लिए दोबारा आवेदन करने की जरूरत नहीं है।
  • विस्तृत विवरण, शर्तें, ऑनलाइन पंजीयन की लिंक एवं आवेदन पत्र का प्रारूप विश्वविद्यालयों की साइट पर है।