Sunday, May 16News That Matters

महाराष्ट्र में टोटल लॉकडाउन पर फैसला जल्द:हेल्थ मिनिस्टर राजेश टोपे ने कहा- कल रात 8 बजे CM उद्धव ठाकरे करेंगे ऐलान, राज्य में 10वीं की परीक्षा भी रद्द

Share

महाराष्ट्र में बेकाबू होते कोरोना के मद्देनजर राज्य सरकार अब टोटल लॉकडाउन की तैयारी में है। मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में लगभग सभी मंत्रियों ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से राज्य में टोटल लॉकडाउन लगाने को कहा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बुधवार रात 8 बजे इसका ऐलान कर सकते हैं। संक्रमण को देखते हुए राज्य में 10वीं की परीक्षा रद्द कर दी गई है। शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने यह जानकारी दी।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, ‘कल रात 8 बजे के बाद मुख्यमंत्री लॉकडाउन के बारे में घोषणा करेंगे। वे स्वयं इसके बारे में निर्णय लेंगे। जैसे यूनाइटेड किंगडम ने 3 महीने तक फुल लॉकडाउन रखा और बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन किया, हमारी तैयारी भी कुछ ऐसी ही है। हमने वैक्सीन इंपोर्ट करने का निर्णय भी लिया है। इनमें स्पूतनिक, फाइजर और मॉडर्ना शामिल हैं।’

18 से 45 साल तक के लोगों का वैक्सीनेशन होगा
टोपे ने कहा, ‘हमारी पहली प्राथमिकता वैक्सीनेशन होगी। इसलिए अगर जरूरत पड़ी तो हम बाकी कामों को रोककर इसके फंड का इस्तेमाल वैक्सीनेशन के लिए करेंगे। हमारा उद्देश्य 18 से 45 साल के लोगों को ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेट करना है, क्योंकि यह सभी बाहर घूमते हैं और संक्रमण का खतरा इनसे ज्यादा होता है। हम यह मांग करते हैं कि केंद्र सरकार जो भी वैक्सीन दे रही है, उसे ज्यादा संख्या में हमें दिया जाए।’

ऑक्सीजन की कमी से परेशान राज्य सरकार
राजेश टोपे ने कहा, ‘ महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की खपत भी बहुत ज्यादा है। वर्तमान समय में 1500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लग रही है, लेकिन आने वाले समय में यह संख्या 2000 मीट्रिक टन तक पहुंच जाएगी। पड़ोस के राज्यों से हम 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मंगा जरूर रहे हैं, लेकिन कई सारी दिक्कतें हैं। कैबिनेट की बैठक में ऑक्सीजन जनरेटर लगाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए हमने हर कलेक्टर को अपने जिले में एक या दो प्लांट्स बनाने के लिए कहा है।’

एकनाथ शिंदे ने आज से ही लॉकडाउन की बात कही थी
कैबिनेट की बैठक के बाद बाहर निकले मंत्री असलम शेख ने कहा था, ‘ऑक्सीजन की कमी के चलते महाराष्ट्र संपूर्ण लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा है। जल्द ही इसका ऐलान होगा और इसकी गाइडलाइन भी जारी होगी।’ एकनाथ शिंदे ने भी कहा, ‘मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों ने आज (मंगलवार) रात 8 बजे से संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का आग्रह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से किया है। इस पर अंतिम निर्णय उन्हीं को लेना है।’

महाराष्ट्र में कर्फ्यू के बावजूद संक्रमण बेकाबू
राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान यहां 58,924 नए केस सामने आए हैं। इसी दौरान 351 लोगों की मौत भी हुई है। इस बीच सरकार की तरफ से गाइडलाइंस जारी की गई हैं। इसके मुताबिक किराना, फल-सब्जियों की दुकानें, डेयरी, बेकरी, कन्फेक्शनरी, खाने-पीने की दूसरी वस्तुओं (चिकन, मटन, पोल्ट्री, मछली और अंडे समेत) की दुकानें और कृषि उपज मंडी सुबह 7 बजे से 11 बजे तक खोली जा सकेंगी। वहीं रेस्तरां और ई-कॉमर्स के जरिए होम डिलीवरी की परमिशन रात 8 बजे तक रहेगी। ये नियम संबंधित जिलाधिकारी अपने यहां की स्थिति को देख कर बदल भी सकते हैं।

महाराष्ट्र से रवाना हुई देश की पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस

ऑक्सीजन की कमी को खत्म करने के लिए सोमवार रात को कलंबोली से देश की पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस खाली सात टैंकर लेकर विशाखापट्टनम के लिए रवाना हुई।
ऑक्सीजन की कमी को खत्म करने के लिए सोमवार रात को कलंबोली से देश की पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस खाली सात टैंकर लेकर विशाखापट्टनम के लिए रवाना हुई।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस को परिवहन मंत्री अनिल परब ने हरी झंडी दिखाई। विशाखापट्टनम से ऑक्सीजन भरकर टैंक वापस तलोजा आएंगे। यदि पहला राउंड सफल रहा, तो आने वाले दिनों में इसी तरह देश के विभिन्न हिस्सों, जैसे बेल्लारी और झारखंड के जमशेदपुर से भी ऑक्सीजन लाई जाएगी।

ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए महाराष्ट्र में बनेगा ग्रीन कॉरिडोर
महाराष्ट्र में दूसरे राज्यों से ट्रेन में आने वाली ऑक्सीजन को अलग-अलग जगहों पर पहुंचाने के लिए सरकार ग्रीन कॉरिडोर बनाएगी। ट्रांसपोर्ट मंत्री अनिल परब ने बताया कि कॉरिडोर के जरिए ग्रामीण इलाकों तक ऑक्सीजन पहुंचाई जाएगी। महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए अभी से तैयारी की जा रही है। MSRDC ने टैंकरों को टैक्स फ्री कर दिया है।

मुंबई में सार्वजनिक जगहों पर कोरोना टेस्टिंग शुरू की गई है। कोरोना की पहली वेव में सार्वजनिक टेस्टिंग से संक्रमण को कम करने में बड़ी मदद मिली थी।
मुंबई में सार्वजनिक जगहों पर कोरोना टेस्टिंग शुरू की गई है। कोरोना की पहली वेव में सार्वजनिक टेस्टिंग से संक्रमण को कम करने में बड़ी मदद मिली थी।

वसई का पॉजिटिव रेट 60% से अधिक

मुंबई से सटे वसई में पॉजिटिव रेट 60% से अधिक हो गया है। 30 लाख की आबादी वाले इस इलाके में कोरोना के इस हाल के बाद प्रशासन ने यहां हार्ड लॉकडाउन का मन बना लिया है। माना जा रहा है कि जल्द इसका ऐलान संभव है। रविवार को यहां 1,505 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिनमें से 908 मरीज पॉजिटिव पाए गए। यह रेट 12 अप्रैल को तो 67% हो गया था।

सोमवार को पालकमंत्री दादा साहेब भुसे ने वसई विरार का दौरा किया। उन्होंने कहा, ‘यहां के बढ़ते आंकड़े काफी चिंताजनक हैं। यहां ICU और वेंटिलेटर बेड बढ़ाए जाएंगे। दो और एम्बुलेंस भी दी जाएंगी।’ वसई विरार महानगर पालिका के पास कोरोना टेस्टिंग के लिए 21 सेंटर हैं। यहां रोज एक हजार से डेढ़ हजार टेस्टिंग की जाती है।

मुंबई में बाहर घूमने वाले वाहनों पर लगाम के लिए पुलिस का स्टीकर अभियान जारी है।
मुंबई में बाहर घूमने वाले वाहनों पर लगाम के लिए पुलिस का स्टीकर अभियान जारी है।

मुंबई में भी कायम है कोरोना का कहर
पाबंदी के बावजूद मुंबई भी लगातार कोरोना की चपेट में है। बीते 24 घंटे में यहां 7,381 नए केस आए हैं और इसी दौरान 58 लोगों की मौत भी हुई है। शहर में अभी 85,321 मरीजों का इलाज चल रहा है। पूरे राज्य की बात करें तो यहां अब तक 38.98 लाख लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 31.59 लाख लोग ठीक हुए हैं, जबकि 60,824 की मौत हुई है। यहां फिलहाल करीब 6.76 लाख लोगों का इलाज चल रहा है।

BMC ने होम क्वारैंटाइन मरीजों के लिए जारी की नई गाइडलाइन
BMC की गाइडलाइन के मुताबिक, घर में क्वारैंटाइन हुए मरीज डॉक्टर की सलाह पर ही दवाओं का प्रयोग करें। ऑक्सीजन का लेवल 95 प्रतिशत तक मेंटेन करने का प्रयास करें। यदि मरीज को फीवर है तो 100 फारनहाइट से अधिक न होने पाए। लंबे समय तक खांसी न आए इसका ध्यान रखना चाहिए। चिंता छोड़कर आठ घंटे नींद लेने की कोशिश करें। गर्म पानी का हमेशा सेवन करें और योग करें। घर में यदि कोई गंभीर बीमारी से पीड़ित हो तो उससे दूर रहें।