Tuesday, October 15News That Matters

अनुपपुर

Share

पटवारी रमेश सिंह निलंबित

अनुपपुर | 15-अक्तूबर-2019

अनुविभागीय अधिकारी(राजस्व) अनुभाग जैतहरी ने तहसील जैतहरी अंतर्गत पटवारी हल्का मौहरी में पदस्थ पटवारी रमेश सिंह को हल्का में लगातार अनुपस्थित रहने के कारण म.प्र. सिविल सेवा(वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 09 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

प्रदेश को कुपोषण मुक्त बनाने लोगों की मानसिकता बदलना जरूरी

अनुपपुर | 01 अक्टूबर -2019

महिला-बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने कहा है कि प्रदेश को कुपोषण मुक्त बनाने के लिये लोगों की मानसिकता को बदलना होगा। महिलाओं एवं परिवार के अन्य सदस्यों को पोषण तथा स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूर्ण विषयों के मामले में जागरूक करना अत्यन्त आवश्यक है। इमरती देवी भोपाल में महात्मा गाँधी सेवा आश्रम, डब्ल्यू.एच.एच. द्वारा आयोजित राज्य-स्तरीय पोषण समृद्ध गाँव सम्मेलन को संबोधित कर रही थीं। मंत्री इमरती देवी ने इस मौके पर ‘‘म.प्र. में आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा पोषण शिक्षा’’ पुस्तक का विमोचन किया।
मंत्री इमरती देवी ने कहा कि आँगनबाड़ी कार्यकर्ता एक महत्वपूण कड़ी है, जो घर-घर जाकर महिलाओं और परिवारों को पोषण की शिक्षा देती है। उन्होंने निर्देश दिये कि गाँवों में कैम्प लगाकर कुपोषित बच्चों का परीक्षण कराया जाये। बच्चों को पोषण तत्वों के महत्व, दैनिक जीवन में उनके उपयोग की जानकारी आदि चित्रों और नुक्कड नाटकों के माध्यम से दें।

कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर ने पोलियो की 2 बूँद पिलाकर सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान की शुरूआत की

अनुपपुर | 24-सितम्बर-2019

प्रदेश में 23 सितम्बर से 5 अक्टूबर 2019 तक मिशन इन्द्रधनुष प्रथम चरण का आयोजन किया जाना हैं। इस दौरान 0 से 2 वर्ष के बच्चों एवं गर्भवती माताओं का सम्पूर्ण टीकाकरण किया जायेगा।
राज्य शासन के निर्देशानुसार 23 सितम्बर से एक सप्ताह तक चलने वाले विशेष टीकाकरण अभियान मिशन इंद्रधनुष सघन टीकारकरण सुदृढ़ीकरण पहल की शुरूआत ग्राम जमुडी के आंगनबाडी केन्द्र में सिप्तेन्द्र पिता शहजाद उम्र 3 माह को कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर ने 2 बूंद पोलियो की दवा पिलाकर की। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बी.डी.सोनवानी, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एस.बी.चौधरी बेलिया द्वारा बच्चों को पोलियो की बूस्टर डोज पिलाया गया ।
टीकाकरण से बाल मृत्यू दर एवं मातृ मृत्यू दर में लाई जा सकती है कमी
कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर ने कहा कि सघन टीकारकरण सुदृढ़ीकरण पहल मिशन इंद्रधनुष सरकार की उच्च प्राथमिकता वाला कार्यक्रम है। जिसका उद्देश्य ऐसे बच्चे एवं गर्भवती मातायें जो किन्हीं कारणों से टीकाकरण की सम्पूर्ण खुराक पाने से बंचित रह जाते हैं तथा विभिन्न बीमारियों से असमय ग्रसित हो जाते है जाते है और कभी-कभी उनकी मृत्यु भी हो जाती है। उन बच्चों एवं गर्भवती माताओं को चिन्हित कर टीकाकरण के माध्यम से बीमारियों से निजात दिलाकर सुखद भविष्य की कल्पना को साकार करना है। श्री ठाकुर ने इस अवसर पर सभी जनप्रतिनिधियों, समाजसेवी लोगों तथा समाज के प्रबुद्ध लोगों, मीडिया से जुडे लोगों से शासन कि इस महत्वाकांक्षी मिशन से जुडकर लक्षित शत्-प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण कराने तथा जनजागरूकता के माध्यम से अभिभावकों को प्रेरित करने की समझाईश दी।
मिशन इंद्रधनुष के प्रयास में बने सहभागी
सघन टीकारकरण सुदृढ़ीकरण पहल मिशन इंद्रधनुष का संचालन शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे स्थानों पर किया जा रहा है, जहां किन्हीं कारणों से जन्म से 02 वर्ष तक के बच्चे एवं गर्भवती माताएं टीकाकरण की सम्पूर्ण खुराक पाने से वंचित रह जाते हैं। बच्चे राष्ट्र के भविष्य होते हैं। इन्हीं के कंधों पर देश का भविष्य निर्भर करता है। शासन द्वार बच्चों के सम्पूर्ण स्वास्थ्य को सुखद बनाने के उद्देश्य से मिशन इंद्रधनुष का संचालन किया जा रहा है। इन सबको शासन के इस प्रयास में सहभागी बनकर टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों एवं गर्भवती माताओं की जानकारी संकलित कर टीकाकरण की जवाबदारी स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर निभानी चाहिए। उक्ताशय का विचार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बी.डी.सोनवानी ने शुभारंभ के अवसर पर व्यक्त किये ।
बीमारियों से बचाते हैं टीके
डॉ.बी.डी.सोनवानी ने बताया की इंद्रधनुष के 07 रंगों की तरह बच्चों को 7 प्रकार के टीके लगाएं जाते हैं, जो उन्हें 7 जानलेवा बीमारियों से बचाते हैं। ये टीके स्वास्थ्य केन्द्रों में निःशुल्क लगाए जाते हैं। श्री श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में जन्म से 02 वर्ष तक के वे बच्चे एवं गर्भवती माताओं को जिन्हें किन्हीं कारणों से टीकाकरण की सम्पूर्ण खुराक नहीं मिल पाई है। उनके टीकाकरण हेतु आज 23 सितम्बर से 05 अक्टूबर 2019 तक जिले के 129 उपस्वास्थ्य केन्द्र के अन्तर्गत 441 चिन्हित ग्रामों में अभियान के तहत टीकाकरण किया जा रहा है। कार्यक्रम मे स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के कार्यकर्ता एवं काफी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक 23 सितम्बर को

अनुपपुर | 17-सितम्बर-2019

सोमवार 23 सितम्बर को समय-सीमा बैठक के उपरांत राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया है। इस बैठक में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, सीएम हेल्पलाईन, लोक सेवाओं के गारंटी अधिनियम के तहत समय-सीमा के बाहर प्रकरण, आरसीएमएस के प्रकरण, वसूली, कमिश्नर के समय-सीमा के लंबित पत्रों के प्रतिवेदन की जानकारी, भू-अर्जन प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी। कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर ने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारियों, तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों, अधीक्षक भू-अभिलेख, प्रबंधक लोकसेवा, प्रबंधक ई-गवर्नेंस को 15 सितम्बर 2019 की स्थिति में 18 सितम्बर तक संबंधित जानकारी हार्डकापी व साफटकापी में उपलब्ध कराने तथा सभी राजस्व अधिकारियों को निर्धारित अवधि में बैठक में आवश्यक जानकारी के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।

इंडस्ट्रियल पॉवर और गैर घरेलू परिसरों में विद्युत लोड सर्वे का विशेष अभियान

अनुपपुर | 06-सितम्बर-2019

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री विशेष गढ़पाले ने कहा कि है कि कंपनी द्वारा 10 सितम्बर तक गैर घरेलू परिसर और इंडस्ट्रियल पॉवर परिसरों में लोड सर्वे का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने मैदानी अधिकारियों से कहा कि वे सभी व्यवसायिक परिसरों और इंडस्ट्रियल पॉवर परिसरों जैसे आटा चक्की और ऑयल मिल आदि का सर्वे कर वास्तविक लोड के आधार पर लोड स्वीकृत करें। इससे उपभोक्ता को पर्याप्त वोल्टेज पर बिजली और कंपनी को सही राजस्व मिल सकेगा।
श्री गढ़पाले ने मैदानी अधिकारियों को निर्देशित किया कि बिजली की हर यूनिट की गणना, बिलिंग और राजस्व संग्रहण प्रभावी ढंग से करें। विशेष अभियान में करीब एक हजार 500 से अधिक गैर घरेलू परिसरों के लोड में वृद्धि की गई है। इसी प्रकार करीब 150 से अधिक इंडस्ट्रियल पॉवर उपभोक्ताओं के परिसरों के लोड में भी वृद्धि की गई है।
प्रबंध संचालक ने खराब तथा जले ट्रांसफार्मर क्षेत्रीय भण्डार में वापस करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि समय-सीमा में ट्रांसफार्मर नहीं लौटाने पर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। जहां बार-बार वितरण ट्रांसफार्मर फेल होते हैं, उन स्थानों को चिन्हित कर तकनीकी खामियों को दूर किया जाए। नल-जल योजना के ए.एम.आर. मीटर समय सीमा में स्थापित करें और इनका भौतिक सत्यापन भी करें।
प्रबंध संचालक ने कृषि पम्पों पर भार वृद्धि के लिए सर्वे करने के निर्देश दिए हैं ताकि रबी सीजन में किसानों को पर्याप्त वोल्टेज पर बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके। रबी सीजन का लोड आने के पहले पात्रता वाले सभी खराब तथा जले हुए ट्रांसफार्मर एक सप्ताह में बदल दें। उन्होंने कहा कि इंदिरा गृह ज्योति योजना के विस्तार के निर्णय के बाद जुड़ने वाले नए हितग्राहियों को समुचित लाभ दिलाना सुनिश्चित करें। प्रबंध संचालक ने सभी अधिकारियों को अस्थायी कनेक्शन आसानी से उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।
शिकायतों का विश्लेषण
मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक ने कहा कि अगर शहरी और अर्धशहरी क्षेत्रों में किसी उपभोक्ता की लगातार शिकायतें आती है, तो ऐसी शिकायत का विश्लेषण करें। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवार भी शिकायतों के विश्लेषण की जरूरत है ताकि उपभोक्ता शिकायतों को कम किया जा सके।

राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा सितम्बर माह

अनुपपुर | 31-अगस्त-2019

प्रदेश में राष्ट्रीय पोषण अभियान में इस वर्ष भी सितंबर माह राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा। 1 से 30 सितम्बर तक मनाये जाने वाले पोषण माह की टैग लाईन “हर घर पोषण का त्यौहार” रखी गयी है। पूरे माह राज्य, जिला, विकासखण्ड और आँगनवाड़ी स्तर पर पोषण जागरूकता एवं इसे जन-आंदोलन का रूप देने विभिन्न कार्यक्रम होंगे।
राष्ट्रीय पोषण माह का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य एवं पोषण आवश्यकता के प्रति जागरूकता, गर्भावस्था जाँच और पोषण देखभाल, शीघ्र स्तनपान व्यवहार, सही समय पर ऊपरी आहार और निरन्तरता आदि पर प्रचार-प्रसार कर समुदाय को जागरूक करना है। इसके अतिरिक्त एनीमिया या शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिये आयरन सेवन एवं खाद्य विविधता संबंधित उपायों तथा पाँच वर्ष तक के बच्चों की शारीरिक वृद्धि निगरानी, किशोरी-शिक्षा, पोषण शिक्षा का अधिकार, सही उम्र में विवाह, सफाई और स्वच्छता की गतिविधियों के माध्यम से पोषण विषय को जन-आन्दोलन का रूप देना है।
पोषण माह के सफल आयोजन में महिला-बाल विकास विभाग के साथ-साथ नगरीय प्रशासन एवं विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्कूल शिक्षा, खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, उच्च शिक्षा, दूरदर्शन एवं रेडियो, आकाशवाणी तथा डेव्हलपमेंट पार्टनर्स (यूनिसेफ, जीआईजेड डब्ल्यू. डब्ल्यू. एच CHAI, पीरामल फाउन्डेशन, एन.आई. ACF, न्यूट्रीशन बोर्ड, ल्यूपिन) आदि सहभागी होंगे।
पोषण माह में होने वाली सभी गतिविधियों की जानकारी केन्द्र सरकार के पोर्टल पर अपडेट की जाएगी तथा वेबसाइट के माध्यम से इसकी रोजाना समीक्षा भी होगी।

 

एकलव्य आवासीय विद्यालयों में होगी स्मार्ट क्लास

अनुपपुर | 23-अगस्त-2019

  प्रदेश में आदिवासी विद्यार्थियों के लिये चलाये जा रहे 33 एकलव्य आवासीय विद्यालयों में स्मार्ट क्लास शुरू करने की मंजूरी दी गई है। आदिम जाति कल्याण विभाग ने प्रत्येक एकलव्य विद्यालय में 22 लाख रुपये लागत के आई.सी.टी. सेंटर स्वीकृत किये हैं।
एकलव्य आवासीय विद्यालयों में कम्प्यूटर लैब एवं स्मार्ट क्लास बनाई जा रही है। इसमें वेब कैमरा, प्रोजेक्टर, साउण्ड-प्रूफ ब्लैक बोर्ड आदि लगाये जा रहे हैं। स्मार्ट क्लास शुरू होने से प्रदेश भर में 9 हजार 500 विद्यार्थियों को फायदा होगा। इन विद्यालयों में आधुनिक शिक्षण सुविधाएँ और इंटरनेट कनेक्टिविटी दी जा रही है। इस परियोजना के लिये 7 करोड़ 26 लाख रूपये मंजूर किये गये हैं।

ऑनलाइन मिलेगी पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति

    आदिम-जाति कल्याण विभाग ने पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति के लिये ऑनलाईन सुविधा मुहैया कराई है। इसके अंतर्गत छात्रवृत्ति स्वीकृत और वितरण करने की पूरी व्यवस्था पारदर्शी होगी। इसमें पेपरलेस वर्क होगा और स्व-सत्यापित प्रक्रिया लागू होगी। ऑनलाइन व्यवस्था से अभी तक 27 हजार आदिवासी विद्यार्थियों को लगभग 21 करोड़ रुपये पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति वितरित की गई है।

चार जिलों में इस वर्ष 2000 हेक्टेयर में काजू की खेती

अनुपपुर | 09-अगस्त-2019

    प्रदेश में इस वर्ष चार जिलों बैतूल, सिवनी, बालाघाट एवं छिन्दवाड़ा में 2000 हेक्टेयर क्षेत्र में काजू की खेती की जायेगी। बैतूल प्रदेश का पहला जिला है, जहाँ वर्ष 2018 से काजू की व्यवसायिक खेती प्रारंभ की गई है। उद्यानिकी विभाग ने बैतूल जिले में क्रियान्वित उद्यानिकी प्लान के मुताबिक सिवनी, बालाघाट और छिन्दवाड़ा में काजू को प्रमुख फसल के रूप में शामिल किया है।
उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को हाल ही में कर्नाटक राज्य के उडुपी में काजू की खेती के लिए तीन दिवसीय राष्ट्रीय प्रशिक्षण दिलवाया गया। प्रशिक्षण में चारों  जिले के उद्यानिकी अधिकारी शामिल हुए। देश के काजू उत्पादक अन्य 8 राज्यों के 51 उद्यानिकी एवं कृषि विभाग के अधिकारी भी प्रशिक्षण में शामिल हुए।

विश्वस्तनपान सप्ताह के संबंध में मीडिया कार्यशाला आज

अनुपपुर | 30-जुलाई-2019

 जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विनोद परस्ते ने बताया कि 01 अगस्त 2019 से 07 अगस्त 2019 तक विश्वस्तनपान सप्ताह मनाया जाना है। इस दौरान आयोजित होने वाली गतिविधियों के संबंध में संयुक्त कलेक्ट्रेट भवन अनूपपुर के प्रथम तल कक्ष क्रमांक 101 में 31 जुलाई को प्रातः 11 बजे से जिला स्तरीय मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा।

डेंगू एवं चिकनगुनिया से बचाव का सर्वश्रेष्ठ उपाय सावधानी

नगरपालिका को साफ सफाई हेतु सक्रिय रहने के कलेक्टर ने दिए निर्देश 

अनुपपुर | 26-जुलाई-2019

कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में वर्षा का क्रम आरंभ होने को दृष्टिगत रखते हुए डेंगू चिकनगुनिया एवं मलेरिया की रोकथाम हेतु अंतर्विभागीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। कार्यशाला में बताया गया कि वातावरण में अधिक नमी तथा तापमान एवं जल भराव से मच्छर पनपते हैं। मच्छरों के कारण मलेरिया, डेंगू तथा चिकनगुनिया रोगों का प्रकोप होता है। डेंगू तथा चिकनगुनिया का प्रकोप एडीज मच्छरों के काटने से होता है। यह मच्छर साफ पानी में पनपता है। इससे बचाव के लिए कूलर, गमलों, अनुपयोगी बर्तनों, पानी की टंकी तथा मटकों आदि का पानी बदलते रहें। इनमें लंबे समय तक पानी जमा न रहने दें। जहां पानी खाली करना संभव न हो वहां खाद्य तेल की कुछ बूंदे डाल दें इससे पानी में तेल की पतली परत बन जाती है तथा मच्छरों को पनपने का अवसर नहीं मिलता है। मच्छरों से बचाव के लिए पूरे बाहं के कपड़े पहनें तथा सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें।
किसी भी तरह का तेज बुखार आने, मांसपेशियों तथा जोड़ों में दर्द होने, सर दर्द होने एवं शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना डेंगू के लक्षण हैं। इस तरफ का लक्षण दिखाई देने पर तत्काल डॉक्टर से संपर्क कर उचित उपचार करायें। समय पर उपचार कराने से डेंगू एवं चिकनगुनिया से पूरी तरह बचाव होता है। कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने सभी नगरपालिका अधिकारियों को निर्देशित किया कि नियमित रूप से शहरी क्षेत्रों का भ्रमण कर ऐसे स्थल कार्यालय जहाँ पानी का भराव हो वहाँ तुरंत सुधारात्मक कार्यवाही करें।

बिजली संबंधी शिकायतों का किया गया त्वरित निराकरण 

– 
अनुपपुर | 24-जुलाई-2019

 

कार्यालय कार्यपालन अभियंता संचा/संधा. अनूपपुर म.प्र.पू.क्षे.वि.वि.कं.लिमि. अनूपपुर के अंतर्गत आने वाले समस्त वितरण केंन्दों एवं संभागीय कार्यालय में बिजली संबंधी सभी तरह की शिकायतों के निराकरण हेतु आज जनसुनवाई की गई जनसुनवाई के दौरान नये कनेक्शन के 03, रीडिंग एवं बिल संबंधी 32 शिकायत एवं अन्य शिकायते 1 कुल 36 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें 34 शिकायतों का त्वरित निराकरण किया गया।