Sunday, May 16News That Matters

आगर-मालवा

Share
दस्तावेज सत्यापन 5 मई तक स्थगित

आगर-मालवा | 16-अप्रैल-2021

   लोक शिक्षण संचालनालय मध्यप्रदेश शासन भोपाल के निर्देशानुसार वर्तमान में प्रदेश में बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के कारण तथा कई जिलों में कोरोना कर्फ्यू होने वा दस्तावेज़ सत्यापन के दौरान सत्यापित सत्यापित करने वाले अधिकारी कोरोना संक्रमित होने की वजह से उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक शिक्षक भर्ती के दस्तावेज के सत्यापन का कार्य 5 मई 2021 तक स्थगित किया गया है।
प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि 5 मई 2021 को संक्रमण की स्थिति की समीक्षा के उपरांत दस्तावेज सत्यापन हेतु नई तिथि से लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा घोषित की जाएगी। जिसको उपरांत ही दस्ता सत्यापन के लिए आना होगा।

(1 days ago)

कलेक्टर ने जिला कोषालय के स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया

आगर-मालवा | 09-अप्रैल-2021

    कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा द्वारा आज मंगलवार को जिला कोषालय के स्ट्रांग रूम का निरीक्षण कर आवश्‍यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर ने स्ट्रांग रूम में रखे विभिन्न मूल्यों के स्टांप का अवलोकन कर भौतिक सत्यापन किया। इस अवसर पर जिला कोषालय अधिकारी श्री तरूण त्रिपाठी उपस्थि रहे।

70 वर्षीय पेंशनर दामोदर शर्मा ने लगवाया को-वैक्सीन का टीका (खुशियों की दास्तां)

आगर-मालवा | 05-मार्च-2021

      कोविड टीकाकरण अभियान में जिले में बडी संख्या में 60 वर्ष से अधिक उम्र के वृद्धजन अपनी बारी आने पर उत्साहपूर्वक कोविड वैक्सीन का टीका लगवा रहे है।
इस कड़ी में आगर मालवा के रहने वाले 70 वर्षिय पेंशनर दामोदर शर्मा ने अपनी बारी आने पर आज गुरुवार को जिला चिकित्सालय आगर के वैक्सीनेशन केन्द्र पर पहुंचकर को-वैक्सीन का टिका लगवाया। टीकाकरण के बाद पेंशनर श्री शर्मा को आधा घंटा आब्जर्वेशन कक्ष में रखा गया। श्री शर्मा कहते है कि अस्थमा पेशेंट भी है। वे कहते हैं कि उन्हें अस्थमा होने की वजह से और ज्यादा उम्र होने से संक्रमण का डर लगा रहता था, इसलिए कही भी आना- जाना बंद कर दिया था। परंतु अब कोविड वेक्सिन आ गई है, वे कहते है कि आज मेरे द्वारा कोविड वैक्सीनेशन का टिका लगवा लिया है। टीकाकरण लगाते वक्त तथा इसके पश्चात् किसी प्रकार की कोई तकलीफ नहीं हुई है। मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूं।
पेंशनर श्री शर्मा कहते हैं कि यह टीका पूर्णतः सुरक्षित है। इसके कोई साईड इफेक्ट नहीं है। ज्यादा से ज्यादा वृद्धजन और आमजन अपनी बारी आने पर कोविड का टीका अवश्य लगवाये। वे कहते हैं कि टिका लग जाने के बाद भी कोविड से बचाव हेतु फेस मास्क कवर का उपयोग जरूर करे तथा दो गज की दूरी का पालन करें।

अपनत्व का एहसास कराते हुए जिले की सुशासन टीम के सदस्य – खुशियों की दास्तां

आगर-मालवा | 23-फरवरी-2021

   सुशासन शब्द से ही आभास हो जाता है की एक अच्छा प्रबंधन और यही सब आगर मालवा जिले मैं देखने को मिल रहा है जिले में कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा द्वारा नियुक्त की गई सुशासन टीम बेहतर तरीके से  गांव गांव जाकर अपना कार्य करने में लगी हुई है गांवो में पात्र हितग्राहियो को शासन की योजनाओं का लाभ मिल सके इसके लिए टीम पूरी तत्परता के साथ कार्य कर रही है साथ ही  गांव के बच्चों के स्वास्थ्य पर भी विशेष नजर बनाते हुए उनके कुपोषण को दूर कर बच्चों को सुपोषित किया जा रहा है सुशासन टीम की सदस्य जिला संयोजक श्री मति आशा चौहान ने अपनी टीम की साथी पटवारी दिव्या उपाध्याय के साथ ग्राम ढोटी में पहुँचकर वहाँ उपस्थित ग्रामीण जनो को शासन की योजनाओं की जानकारी दी। श्री मति चौहान का कहना है कि सोमवार और गुरुवार का दिन उनके लिए बहुत ही उत्साह और प्रेरणादायक बन गया है। क्योंकि उस दिन वो गांवो में जाकर वहाँ की वस्तुस्थिति के साथ ही बच्चो एवं उनकी माताओं से रूबरू होती है। वे कहती है कि हमारे जिले को कुपोषण से मुक्त करने का जो हमारी टीम ने संकल्प लिया है। हम उसको साकार करने में लगे हुए हैं। श्री मति चौहान आज सोमवार को अपने निर्धारित ग्राम झोटी के आंगनवाड़ी केंद्र पहुँची केंद्र में उन्होंने बच्चो के साथ बैठकर बच्चे बनते हुए उन्हें लाड़ दुलार कर बच्चो को गेम खिलाते हुए उनसे उनसे बाते की। साथ ही उन्होंने आँगन वाड़ी कार्यकर्त्ता द्वारा बच्चो के बारे में जानकारी ली एवं कुपोषित बच्चों की माता को बुलवाकर संतुलित पूरक पोषण आहार देने की समझाईश भी उन्होंने दी। बड़े ही सरल सौम्य शब्दो में श्री मति चौहान ने कहा की आप सभी माताएं एवं बहने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सलाह एवं समय समय पर उचित संतुलित पोषण आहार देकर हमारे इन प्यारे नन्हे बच्चो को सुपोषित बनाए। इस दौरान श्रीमति चौहान ने बड़े ही अपनत्व भरे अंदाज में बच्चो को फल फ्रूट  परमल चने देते हुए उनके साथ सेल्फी भी ली। श्री मति चौहान कहती है कि वे लगातार गांवों में बच्चो के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग भी आंगनवाड़ी के माध्यम से कर रही है वे कहती है कि हमारी सुसाशन की टीम जिले को कुपोषण से मुक्त कर जिले को सुपोषित बनाने का अपना संकल्प पूरा कर रही है।

राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय समीक्षा बैठक सम्पन्न

आगर-मालवा | 16-फरवरी-2021

    जिला स्तर पर राष्ट्रीय क्षय उन्मुलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय समीक्षा बैठक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की अध्यक्षता में सपंन्न हुई। बैठक में जिला क्षय अधिकारी डॉ राजेष गुप्ता  के साथ जिले के समस्त एसटीएसएस एवं एसटीएस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
जिला क्षय अधिकारी डॉ गुप्ता ने वर्ष 2020 एवं जनवरी 2021 की प्रगति के बारे में अवगत कराते हुए बताया कि जिले में पदस्थ समस्त चिकित्सकों को मासिक लक्ष्य निर्धारित किया है। जिसमें जिला अस्पताल के समस्त चिकित्सकों को प्रति माह 2-2 केस एवं सीएचसी एवं पीएचसी पर पदस्थ समस्त डॉक्टर को 8-8 केस का लक्ष्य निर्धारित किया है, ताकि जिले की उपलब्धि शत-प्रतिषत प्राप्त की जा सकें। उन्होंने बताया कि 17 फरवरी से 15 मार्च 2021 तक एक विषेष टीबी नोटिफिकेषन माह मनाया जायेगा। जिसमें टीबी से ग्रसित मरीजो को पहचान की जाएगी।

संतरे की खेती करके आत्मनिर्भर बने पायली के कृषक जुगल किशोर पाटीदार “खुशियों की दास्तां“

आगर-मालवा | 10-फरवरी-2021

    सुसनेर विकासखण्ड के ग्राम पायली में कृषक श्री जुगल किशोर पाटीदार ने अपनी कृषि भूमि पर 3500 संतरे के पौधे लगाए हैं। श्री पाटीदार बताते हैं कि वे वर्षों से अपनी भूमि पर परम्परागत रुप से पहले गेंहू एवं सोयाबीन की फसल बोते थे। जिससे उन्हें कुछ खास लाभ नहीं मिल रहा था। जब उन्हें पता चला कि संतरे का उत्पादन से लाभ अच्छा मिल सकता है। तब से उन्होंने संतरे की खेती करना प्रारंभ कर दिया। श्री पाटीदार का कहना हैं कि तभी उन्होंने नागपुर से 3500 पौधे लाकर खेत में संतरे का बगीचा लगाया है।
श्री पाटीदार बताते हैं कि वे समय- समय उद्यानिकी विभाग द्वारा आयोजित संगोष्ठी में भी जाते हैं, एवं विशेषज्ञ के द्वारा दिए गए फसल के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं। तथा उसका अमल भी अपनी फसल में करते हैं। श्री पाटीदार कहते है कि उद्यानिकी विभाग की सलाह पर उन्होंने जैविक खाद का उपयोग खेती में किया, जिसके फल स्वरुप संतरे के पौधों में फल भी अच्छे लगे हैं। श्री पाटीदार बताते हैं  कि अब उन्हें लागत सहित अन्य सभी खर्चों को घटाने के बाद अच्छा लाभ प्राप्त हो जाता है। वे अपनी संतरे की फसल को बाहर मंडियों में बेचते हैं, तथा बाहर के व्यापारी भी गांव में आकर उनकी फसल अच्छे दामो पर खरीद लेते हैं। जिससे उनकी आर्थिक स्थिति भी अच्छी हुई है तथा वे आत्मनिर्भर बन गए।
श्री पाटीदार  प्रदेश सरकार एवं उद्यानिकी विभाग को धन्यवाद देते हुए कहते हैं, की प्रदेश सरकार ने हमारे जिले की संतरे की फसल को एक जिला एक उत्पाद में शामिल कर हमें आत्मनिर्भर बनाते हुए हमारी फसल की पहचान देश प्रदेश में बड़ाई है।

कृषि मंडी आगर में सोमवार को 6657 क्विंटल की आवक

आगर-मालवा | 02-फरवरी-2021

      कृषि उपज मंडी आगर में सोमवार को 6657 क्विंटल कुल उपज की आवक रही। कुल उपज में सर्वाधिक आवक सोयाबीन की 2127 क्विंटल रही है। सोयाबीन का 2900-4800 रुपए प्रति क्विंटल भाव रहा।
सोमवार को मंडी में धनिया की आवक भी अच्छी रही है। धनिया की  कुल 2010 क्विंटल आवक रही। धनिया का भाव 3000-5351 प्रति क्विंटल रहा। इसके अतिरिक्त गेहूं की आवक 910 क्विंटल, भाव 1611-1765 प्रति क्विंटल, रायड़ा 980 क्विंटल, भाव 3900-5401 प्रति क्विंटल, मसूर 419 क्विंटल, भाव 3000-5000 प्रति क्विंटल रहा।

समय पर आयकर रिटर्न न जमा करने पर उत्तरदायी अधिकारी द्वारा विलंब शुल्क जमा करवाया जाएगा

आगर-मालवा | 15-दिसम्बर-2020

    आयकर अधिनियम-1961 के अनुसार आयकर रिटर्न समय से प्रस्तुत करना विभाग के आहरण संवितरण अधिकारी का दायित्व है। वित्त विभाग मंत्रालय, मध्य-प्रदेश शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि समय पर आयकर रिटर्न जमा न किए जाने की स्थिति में उत्तरदायी अधिकारी द्वारा ही विलम्ब शुल्क जमा कराया जाएगा। इस संबंध में वित्त विभाग के उप सचिव मनोज कुमार जैन ने समस्त विभागों के आहरण-संवितरण अधिकारियों को पत्र जारी किया है। जारी पत्र में कहा गया है कि ऐसे प्रकरणों में जहां आयकर विभाग द्वारा की गई कार्यवाही नियमानुकुल नहीं है और उसके विरूद्ध अपील आदि की जानी है, से संबंधित व्यय सक्षम स्वीकृति उपरांत विभागीय बजट से किए जा सकते है।
उल्लेखनीय है कि आयकर अधिनियम अन्तर्गत प्रत्येक वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर टीडीएस रिटर्न आयकर विभाग द्वारा निर्धारित तिथि में आहरण एवं संवितरण अधिकारी द्वारा जमा किया जाने का प्रावधान है। किन्तु कई विभाग तथा आहरण एवं संवितरण अधिकारी आयकर विभाग द्वारा निर्धारित तिथि में टीडीएस रिटर्न जमा नहीं करते हैं। जिसके कारण अधिनियम के प्रावधान अनुसार प्रतिदिन 200 रुपए की दर से विलम्ब शुल्क राशि निर्धारित कर जमा करने हेतु आयकर विभाग द्वारा आदेश पारित किया गया है। आदेश के पालन में कतिपय अधिकारी शासन से प्राप्त बजट से राशि आहरित कर भुगतान करते है,जबकि कई प्रकरणों में संबंधित अधिकारी द्वारा व्यक्तिगत रूप से राशि जमा की जाती है।

नगरीय निकाय एवं पंचायतों के आम निर्वाचन हेतु वीडियों कान्फ्रेंस 10 एवं 11 दिसम्बर को

आगर-मालवा | 09-दिसम्बर-2020
   राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकाय एवं पंचायतों के आम निर्वाचन हेतु वीडियों कान्फ्रेंस के माध्यम से 10 एवं 11 दिसम्बर को अपरान्ह 04ः30 बजे से 05ः30 बजे तक प्रशिक्षण आयोजित किया गया है।
आयोग द्वारा प्रथम दिन एनआईसी द्वारा विकसित पोलिंग पार्टी एवं काउंटिंग पार्टी रेण्डमाईजेशन एप्लीकेशन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिसमें जिला स्तर पर स्थानीय वीसी कक्ष में उप जिला निर्वाचन अधिकारी के साथ प्रभारी अधिकारी (मतदान दल गठन) एवं जिला सूचना अधिकारी को प्रशिक्षण में उपस्थित रहना होगा। द्वितीय दिवस ऑनलाईन नॉमिनेशन विषय पर आयोजित प्रशिक्षण में उप जिला निर्वाचन अधिकारी, नोडल ऑफिसर (आई.टी), ई-गवर्नेंस मैनेजर, लोक सेवा प्रबंधक एवं लीड ट्रेनर्स, ई-दक्ष केन्द्र(आरसीबीसी), जिला समन्वयक एमपीऑनलाई को उपस्थित रहना होगा। आयोग द्वारा 24 एवं 28 नवम्बर को आयोजित वीसी में जिला स्तर पर अनुपस्थित अधिकारी-कर्मचारी को भी उक्त प्रशिक्षण में उपस्थित रहने के निर्देश दिए है।

पथ  विक्रेताओ को लाभ देने हेतु बैंक शाखाओं ने अवकाश दिवस में लगाए विशेष शिविर

आगर-मालवा | 01-दिसंबर-2020

      कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा के निर्देशानुसार जिले की बैंक शाखाओं द्वारा मुख्यमंत्री पथ विक्रेता योजनान्तर्गत अवकाश दिवस  शनिवार, रविवार एव सोमवार को पथ विक्रताओं के लिए शिविर आयोजित कर लाभन्वित किया गया है।
सोमवार को जनपद पंचायत आगर में  जनपद स्तरीय शिविर का आयोजन किया। जिसमें मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजनान्तर्गत  बैंकों के द्वारा 10 हजार रुपये की कार्यशील पूंजी ग्रामीण पथ विक्रेताओं को अपने पथ व्यवसाय के सुचारू संचालन के लिए प्रदाय करने की कार्यवाही की गई।  जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके।
शिविर में 576 ग्रामीण पथ विक्रेताओं का पंजीयन किया गया।  विभिन्न बैंकों के द्वारा मौके पर ही 54 प्रकरणों में ऋण वितरण की कार्यवाही सुनिश्चित की गई तथा 303 प्रकरणों में संभावित स्वीकृति दी गई।
आयोजित जनपद स्तरीय शिविर में मुख्य रूप से एडिशनल सीईओ जितेंद्र सिंह सेंगर, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक के श्री कटारा, जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एके त्रिवेदी, जिला प्रबंधक तथा  बीपीएम एन आर एल एम सी मेवाड़ा, खंड पंचायत अधिकारी श्रीमाल तथा जनपद के सभी सहायक विकास विस्तार अधिकारी,  पंचायत  समन्वयक अधिकारी के साथ ही विभिन्न बैंकों के शाखा प्रभारी व उनके सहायक उपस्थित रहे।

कोरोना संक्रमण रोकने जन-जागृति और जनसहयोग से बचाव के सभी उपाय करें : मुख्यमंत्री श्री चौहान

वी.सी. के माध्यम से जिलेवार समीक्षा

आगर-मालवा | 24-नवम्बर-2020

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, देश और प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण गत दिनों में बढ़ा है। कुछ शहरों में अधिक बढ़ा है। आमजन में जागृति लाकर और जनसहयोग से बचाव के सभी उपाय अपनाकर संक्रमण को रोकने के निर्देश मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दिए।
मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की गई। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. संजय गोयल और अधिकारीगण मौजूद थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन जिलों में कोरोना संक्रमण की दर सामान्य से अधिक है, वहां जिले के प्रभारी अधिकारी और जिला प्रशासन जनसहयोग लेकर बचाव के सभी उपाय सुनिश्चित करें। आमजन को स्वयं आगे आकर मास्क का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, रात्रि में देर रात तक दुकान नहीं खोलने, भीड़ होने से रोकने और जनता कर्फ्यू लगाने जैसे उपाय करने के लिए प्रेरित किया जाए। जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप प्रभावी भूमिका निभाएं।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आपदा प्रबंधन समिति की बैठकों के निर्णय राज्य शासन को मिल गये है। इन पर विचार कर अनुमति दी जा रही है। कोरोना संक्रमण को समाप्त करने के लिए प्रयासों के अंतर्गत जिला-स्तरीय आपदा मेनेजमेंट ग्रुप को प्रभावी और सशक्त बनाया जाए।

कलेक्टर्स आवश्यक वस्तुओं का परिवहन निर्बाध रूप से होने दें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि कलेक्टर्स देखें कि कहीं भी बाजार और मोहल्लों को अनावश्यक रूप से बंद नहीं किया जाए। जहां जरूरी हो वहीं बंद रखने का निर्णय लें। बाजार बंद करने की स्थिति में यह सुनिश्चित हो कि आवश्यक वस्तुओं फल, दूध, सब्जी आदि के परिवहन पर रोक नहीं लगाई जावे। यह कार्य निर्बाध होता रहे, लोगों को दिक्कत नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अधिक संक्रमण दर वाले जिलों के कलेक्टर्स से संक्रमण रोकने, अपनाये गये उपायों की जानकारी ली।
कलेक्टर्स ने बताया कि त्यौहारों के कारण बाजारों में भीड़ बढ़ी थी। इसके कारण ही कोरोना के प्रकरण पुनरू बढ़ने लगे हैं। प्रदेश में अलग-अलग जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ने की दर अलग-अलग है। परन्तु इन्दौर, भोपाल, विदिशा, रतलाम, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, अशोकनगर तथा धार जिलों में यह दर अधिक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन जिलों में प्रशासन, जनप्रतिनिधियों और आम जनता से गंभीरतापूर्वक कोविड गाईडलाइन का पालन करने का संकल्प लेने और आवश्यक प्रतिबंध लगाने के लिये कहा है।

रोको-टोको का नवाचार सराहनीय, संक्रमण नियंत्रण के लिए यह अच्छा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कुछ जिलों में संक्रमण रोकने के लिए नवाचार किए हैं। उज्जैन कलेक्टर ने आमजन को मास्क के महत्व से अवगत करवाने के लिए रोको-टोको अभियान चलाया है, जिससे संक्रमण के नियंत्रण में आसानी होगी। धार कलेक्टर ने भी उद्योगपतियों और व्यापारियों से स्वैच्छिक सहयोग प्राप्त किया है। जनता कर्फ्यू के नाम से  रात्रिकालीन कर्फ्यू की व्यवस्था प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनता स्वयं जागरूक रहे तो प्रकरण नहीं बढ़ेंगे।

शहरी लोगों को अधिक सजग रहने की जरूरत

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में नए कोरोना प्रकरणों में 85 प्रतिशत शहरी क्षेत्र से और 15 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्र से आए हैं। शहरी क्षेत्रों में भीड़भाड़ अधिक रहती है। अतरू शहरों में सुरक्षित दूरी बनाने की आवश्यकता अधिक है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवाओं से लापरवाही न करने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के सभी उपायों को अपनाएं। क्योंकि कोविड के कुल रोगियों में युवाओं का प्रतिशत अधिक है। जबकि बुजुर्ग सावधानी बरत रहे हैं। इसलिए उनका प्रतिशत 10 है।
बैठक में बताया गया कि नये प्रकरणों में पुरुषों के 69 प्रतिशत तथा महिलाओं के 31 प्रतिशत प्रकरण आये हैं। महिलाएं कोविड की गाईडलाइन का अधिक सतर्कता के साथ पालन कर रही हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपील की, प्रदेश के प्रत्येक नागरिक का जीवन और स्वास्थ्य अनमोल है। इसलिए जब-तक दवा और वैक्सीन नहीं तब-तक बचाव के उपाय अपनाना बहुत आवश्यक है। जरा भी लापरवाही और ढ़िलाई नहीं होने दी जाए। सभी नागरिक मास्क लगायें, आपस में दूरी बनाये रखें। भीड़भाड़ नहीं करें।

 

जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक आज

आगर-मालवा | 18-नवम्बर-2020
      जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा की अध्यक्षता में आज 18 नवम्बर को कलेक्टर सभाकक्ष में अपरान्ह 03:00 बजे से आयोजित की जाएगी। बैठक समिति के सदस्यों की उपस्थिति में संपन्न होगी। जिसमें रबी सिंचाई वर्ष 2019-20 के सिंचाई लक्ष्य की उपलब्धि, रबी सीजन वर्ष-2020-21 में सिंचाई के लिए किसानों की मांग एवं चर्चा एवं सिंचाई लक्ष्य निर्धारण सहित अन्य विषयों की समीक्षा की जाएगी।

कौशल उन्नयन योजनान्तर्गत आवेदन आमंत्रित

आगर-मालवा | 10-जुलाई-2020
      बेरोजगार युवक एवं युवती तथा प्रवासी मजदूरों के कौशल उन्नयन हेतु नवीन प्रशिक्षाणर्थियों के आवेदन ऑनलाईन आमंत्रित किए गए है।
प्रबंधक मध्यप्रदेश खादी एवं ग्रामोद्योग ने बताया कि कौशल उन्नयन अन्तर्गत फैशल डिजाइनिंग, रेडिमेड गारमेंटस, मेकिंग, लदरगुड्स, बेकरी, फुड प्रोसेसिंग, कम्प्यूटर रिपयेरिंग, हार्डवेयर, डाटा एन्ट्री, टेली, घरेलू उपकरण मरम्मत, प्लंबर, इलेक्ट्रिशियन आदि ट्रेड का निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदाय किया जाएगा। प्रशिक्षण हेतु आवेदन 05 जुलाई से प्रारंभ  हो गए है। अधिक जानकारी के लिए खादी ग्रामोद्योग बोर्ड जिला पंचायत कार्यालय से कार्यालयीन समय में प्राप्त की जा सकती है।

कृषि उपज मंडी आगर में आज 7695 क्विंटल की आवक

आगर-मालवा | 19-जून-2020

    कृषि उपज मंडी आगर में गुरूवार को कुल 7695 क्विंटल की आवक हुई। कुल आवक में 4842 क्विंटल गेहूं एवं शेष चना, धनिया, मसूर, रायड़ा, सोयाबीन, असालिया, मेथीदाना, आदि उपज किसानों द्वारा विक्रय हेतु लाई गई।
मंडी सचिव आगर ने कोविड-19 के दृष्टिगत कृषकों से आग्रह किया है कि मंडी प्रांगण में उपज विक्रय के दौरान शारीरिक दूरी का पालन एवं मास्क का उपयोग अनिवार्यतः करें। बच्चे, बुजुर्ग एवं अस्वस्थ्य व्यक्तियों को मंडी प्रांगण में आना वर्जित है। अतः वे मंडी प्रांगण में अपनी उपज लेकर न आएं।

समय-सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक आज

आगर-मालवा | 11-फरवरी-2020
    कलेक्टर श्री संजय कुमार आज मंगलवार को समय-सीमा में पत्रों की समीक्षा करेंगे। समीक्षा बैठक दोपहर 02.00 बजे से कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित की जाएगी। जिसमें विभागवार समयसीमा के लम्बित पत्रों की समीक्ष की जाएगी। समस्त जिला अधिकारी अपने विभाग से संबंधित जानकारी के साथ नियत समय पर बैठक में उपस्थित रहे।

कानड़ बस स्टेण्ड, अन्य नगर परिषदों के लिए उदाहरण बनेगीं

प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कानड़ में 9 करोड़ 18 लाख से अधिक के कार्यो का लोकार्पण किया
आगर-मालवा | 28-जनवरी-2020

मध्यप्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास विभाग मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह गत दिवस रविवार को आगर-मालवा जिले के कानड़ में 9 करोड़ 19 लाख 94 हजार की लागत से निर्मित तीन कार्यो का लोकार्पण किया गया। लोकार्पण कार्य में कानड़ में नवीन बस स्टेण्ड एवं सौंदर्यीकरण कार्य लागत 82 लाख 07 हजार, पेयजल योजना के अंतर्गत बने फिल्टर प्लांट आदि की लागत राशि 7 करोड़ 48 लाख  तथा शिव पहाड़ी पर सामुदायिक भवन, सौन्दर्यीकरण एवं विकास कार्य लागत 88 लाख 87 हजार शामिल है।

स्वर्गीय श्री मेघराज जी पालीवाल नवीन बस स्टेण्ड के लोकार्पण समारोह को सम्बोधित करते हुए प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि कानड़ में इस तरह की आधुनिक बस स्टेण्ड का निर्माण हुआ है, जो प्रदेश की अन्य नगर परिषदों के लिए एक उदाहरण बनेगी। प्रदेश की नगर परिषदों में कानड़ की बस स्टेण्ड के तर्ज पर निर्माण करवाया जाएगा। बस स्टेण्ड प्रदेश की टॉप-10 बस स्टेण्डों में शामिल की जाएगी। उन्होंने कहा कि बस स्टेण्ड के निर्माण नगर परिषद् अध्यक्ष, पार्षद एवं अधिकारी-कर्मचारी की मेहनत का प्रतीक है, इसके लिए सभी धन्यवाद के पात्र है। प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि शिव पहाड़ी पर और सौन्दर्यीकरण करवाया जाएगा। उन्होने कहा कि नगरीय क्षेत्र कानड़ के विकास में किसी प्रकार की कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथजी की मंशा है कि प्रदेश के सभी गांवों एवं शहरों में नलों के माध्यम से पानी मिलें और नागरिकों की समस्याओं का भी उनके द्वार पर ही निराकरण किया जाए। प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास मिशन अन्तर्गत हर नगर परिषद् में सर्वे करवाया जाएगा, जिसमें जिनके पास पक्के मकान नहीं है, उनके पट्टे एवं आवास निर्माण हेतु ढ़ाई लाख रूपए की राशि दी जाएगी। प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि शासन हर समय किसानों के साथ खड़ी है। जय किसान ऋण माफी योजना के माध्यम से किसानों को ऋण माफ किया है। उन्होंने कहा कि अति-वृष्टि से फसल नुकसानी हुई, उसका मुआवजा भी शासन द्वारा किसानों को दिया गया है।
कार्यक्रम में श्री दुर्गाप्रसाद पालीवाल ने सम्बोधित कर नगर परिषद् द्वारा विगत पांच वर्षों में किए गए विकास कार्यो की बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कानड़ को इस तरह के अधोसंरचनात्मक कार्यो का निर्माण करवाकर प्रदेश में एक अलग पहचान दिलाई जाएगी। कार्यक्रम को  जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री बाबूलाल यादव, एनएसआईयू प्रदेश अध्यक्ष श्री विपिन वानखेड़े ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम में श्री राजमल सोनी ने स्वागत भाषण दिया।
कार्यक्रम में कानड़ नगर परिषद् द्वारा किए गए विकास कार्यो पर तीन मिनट की डाक्यूमेंन्ट्री फिल्म दिखाई गई। कार्यक्रम में कलेक्टर श्री संजय कुमार, पुलिस अधीक्षक सुश्री सविता सोहाने, सर्व श्री ललित पालीवाल, देवकरण गुर्जर, पिन्टू जायसवाल, शहर काजी कानड़, राजेन्द्र सोलंकी, वसीद्दीन काजी आगर, अर्जुनसिंह राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं बड़ी संख्या आमजन उपस्थित रहे।

इंदिरा गृह ज्योति योजना का बिजली बिल पाकर प्रसन्न है- ललताबाई (खुशियों की दास्तां)

आगर-मालवा | 21-जनवरी-2020

मध्यप्रदेश -शासन द्वारा चलाई जा रही इन्दिरा गृह ज्योति योजना के तहत 100 यूनिट तक बिजली खपत करने पर 100 रुपये की राशि का बिजली बिल जमा करने की सुविधाए दी जा रही है।
जिले के ग्राम मालीखेडी निवासी ललताबाई के पति बालुसिंह मेहनत-मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते है। पति की मजदूरी की राशि से परिवार का पालन-पोषण में भी बड़ी मुश्किलों को सामना करना पड़ता है। ऐसे में अधिक राशि का विद्युत बिल जमा करना तो उनके लिए चुनौतीपूर्ण होता था।
ललता बाई का कहना है कि पहले पति को एक हजार से पन्द्रह सौ रूपये तक का हर महीने बिजली बिल आता था जिसको जमा करने की चिंता हमेशा लगी रहती थी। और घर का बजट बिगड जाता था। ऐसे में म.प्र.सरकार द्वारा इन्दिरा गृह ज्योति योजना के तहत उसे नवम्बर माह का 104 रुपये का बिजली बिल मिला है। जिसे वह खुशी-खुशी जमा कर, बहुत प्रसन्न है। ललताबाई म.प्र. की कमलनाथ सरकार को दुआएं दे रही है, उनका कहना है कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने अपने वचन को पूरा कर सस्ती बिजली कर हम जैसे गरीब परिवारों के जीवन में उजियारा कर दिया है।

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण समीक्षा बैठक सम्पन्न

आगर-मालवा | 14-जनवरी-2020
    स्वच्छता गतिविधियों के सुचारू व समयबद्ध क्रियान्वयन के लिए कलेक्टर श्री संजय कुमार के निर्देशानुसार अनुसार स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण अंतर्गत LOB-2, व NLB के तहत चिन्हित शौचालय विहीन घरों/परिवारों के यहाँ शौचालय निर्माण/सुविधा के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत श्रीमती अंजली जोसेफ की अध्यक्षता में सोमवार को बैठक जिला पंचायत सभाग्रह में संपन्न हुई।
बैठक में जिला समन्वयक-एसबीएम पवन स्वर्णकार, जनपद सीईओ नलखेड़ा श्री एम.एस. ठाकुर, सीईओ बडौद श्री मोहनलाल स्वर्णकार, सीईओ सुसनेर श्री पराग पंथी तथा ब्लॉक समन्वयक-एसबीएम व NLBs (No one Left Behind Beneficiary) के तहत भारत सरकार के पोर्टल पर जोड़े शौचालय विहीन घर/परिवार के लक्ष्य वाली पंचायत के सचिव, ग्राम पंचायत व रोजगार सहायक, डेटा एंट्री आपरेटर भी उपस्थित रहे।
समीक्षा बैठक में सीईओ जिला पंचायत द्वारा जनपदवार व ग्राम पंचायत वॉर   LOB-2 व NLB के तहत लिए गए लक्ष्यों की प्रगति हेतु संबंधित अमलो से पंचायतवॉर शौचालय निर्माण की तैयारी व संक्षिप्त रणनीति पर समीक्षा की गई है साथ ही समीक्षा में जनपद सीईओ बडौद, नलखेड़ा व सुसनेर द्वारा भी लक्ष्यपूर्ति हेतु सुझाव दिए गए। सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जोसेफ द्वारा जनपद आगर की 22 पंचायत में 117 शौचालय विहीन घर, जनपद बडौद की 23 पंचायत के 379, जनपद नलखेड़ा की 23 पंचायत 349 तथा जनपद सुसनेर की 16 पंचायत में 420 शौचालय निर्माण का अंतिम तिथि 25 जनवरी 2020 तक फील्ड में निर्माण कार्य (हार्डवेयर) तथा 25 से 30 जनवरी 2020 तक भौतिक प्रगति (MIS) सॉफ्टवेयर पर कार्य रोजगार सहायक, डेटा एंट्री ऑपरेटर, ब्लॉक समन्वयक कराएंगे। शौचालय निर्माण हेतु एजेंसी- स्वयं हितग्राही/पंचायत/समूह द्वारा कराया जा सकेगा।
सीईओ जिला पंचायत ने अनुपयोगी शौचालय-बेसलाइन सर्वे 2012 के बाद निर्मित शौचालय का सत्यापन कार्य स्वच्छाग्राही के माध्यम से कराया, जिसमे कतिपय शौचालय अनुपयोगी व मिसिंग पाये है। अनुपयोगी व मिसिंग शौचालयों का द्वितीय सत्यापन कार्य जनपद स्तर से दल गठित कर वास्तविक स्थिति का अवलोकन/स्थल निरीक्षण करने के निर्देश दिए गये है तदानुसार उन्हे उपयोगी बनाया जावे। उन्होंने समस्त जनपद सीईओ को भी वांछित लक्ष्यपूर्ति के ग्राम पंचायतों में दैनिक व साप्ताहिक समीक्षा कर जिले को अवगत कराने के निर्देश जारी किए।

समय-सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक 07 जनवरी को

आगर-मालवा | 07-जनवरी-2020

    कलेक्टर श्री संजय कुमार आज मंगलवार को समय-सीमा में पत्रों की समीक्षा करेंगे। समीक्षा बैठक दोपहर 02.00 बजे से कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित की जाएगी। जिसमें विभागवार समयसीमा के लम्बित पत्रों की समीक्ष की जाएगी। समस्त जिला अधिकारी अपने विभाग से संबंधित जानकारी के साथ नियत समय पर बैठक में उपस्थित रहे।

छात्रवृत्ति भुगतान प्रक्रिया निर्धारण के लिए समिति गठित

आगर-मालवा | 28-दिसम्बर-2019
   राज्य शासन ने उच्च शिक्षा विभाग के अन्तर्गत संचालित अशासकीय महाविद्यालयों के अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति भुगतान प्रक्रिया की नीति निर्धारण के लिए समिति का गठन किया है। अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन को समिति का अध्यक्ष बनाया गया है।
    प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, जनजातीय विभाग, और अन्य पिछड़ा वर्ग इस समिति के सदस्य मनोनीत किये गये हैं। अपर सचिव उच्च शिक्षा को समिति का सदस्य सचिव बनाया गया है। समिति दो माह में अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी।

बिजली लाइनों के आसपास न करें आतिशबाजी : ऊर्जा मंत्री श्री सिंह

आगर-मालवा | 22-अक्तूबर-2019

ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि दीपावली के पर्व पर विद्युत लाइन के आसपास आतिशबाजी नहीं करें। उन्होंने कहा है कि पटाखे सुरक्षित स्थान पर फोड़ें। पटाखा व्यवसायी बिजली लाइन और ट्रांसफार्मर के आसपास दुकान नहीं लगायें।
विद्युत वितरण कम्पनी ने कहा है कि घरों में प्रकाशीय साज-सज्जा बिजली कनेक्शन में स्वीकृत भार के अनुसार ही करें। व्यवसाइयों से नियमानुसार अस्थाई दुकानों के लिये अस्थाई कनेक्शन लेकर ही बिजली का उपयोग करें। कम्पनी ने मैदानी अमले और सतर्कता विंग को सघन जाँच अभियान चलाकर बिजली चोरी पर कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।

ग्राहकों के बल्ब रिप्लेस हेतु उपलब्ध

आगर-मालवा | 15-अक्तूबर-2019

उजाला योजनान्तर्गत सहाकारी विपणन एवं प्रक्रिया संस्था आगर में ग्राहकों के बल्ब बदलने हेतु उपलब्ध है।
संस्था प्रबंधक ने बताया कि ई.एस.एल. कम्पनी से रिप्लेस होकर एक हजार बल्ब संस्था को प्राप्त हुए है। सहाकारी विपणन संस्था द्वारा 03 वर्ष समयावधि में विक्रय किए गए ग्राहकों के ही बल्ब ही बदले जाएंगे। एक बार बदलने के बाद बल्ब दोबारा नही बदले जाएंगे तथा नए बल्ब का विक्रय भी नहीं किया जाएगा।

गाँधी जयंति के उपलक्ष्य में प्लैगिंग रन(दौड) का आयोजन 02 को

आगर-मालवा | 01 अक्टूबर -2019

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150 वे जन्मवर्ष के उपलक्ष्य में वर्ष भर जिले में गाँधी जी के विचारों एवं सिद्धांतो पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन जिला कलेक्टर श्री संजय कुमार के मार्ग दर्शन में किया जाएगा। इसी श्रृंखला में 02 अक्टूबर गाँधी जयंति के उपलक्ष्य में प्रात: 8:00 बजे प्लैगिंग रन(दौड) का आयोजन पुरानी कृषि उपज मण्डी से प्रारंभ होगा जो अयोध्या बस्ती छावनी झण्डा चौक होते हुए कंपनी गार्डन में पहुंचेगी, जहां पर सर्व समाज सद्भावना सभा का आयोजन होगा। जिसमें स्कूल कॅालेज के विद्यार्थी, स्काऊट, गाईड, रेडक्रास, षासकीय सेवकगंण, स्वंय सेवी संस्था के प्रतिनिधि, धर्मगुरू, जन प्रतिनिधिगण , पत्रकार बन्धु, व्यापारीगण एवं आमजन से रैली में शामिल होने की होने की अपील कलेक्टर श्री संजय कुमार ने की है। साथ ही कलेक्टर ने आम जन से अपील की है कि स्वंय सेवी संस्थाए, विद्यालय एवं समाजसेवी गण अपने-अपने स्तर से गाँधी जी के प्रेरणांदायी जीवन पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन कर-बापू के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने में योगदान देवें।

स्वच्छता ही सेवा 2019 के तहत् कार्यशाला आयोजित

आगर-मालवा | 24-सितम्बर-2019

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अंतर्गत ‘‘स्वच्छता ही सेवा 2019‘‘ अभियान के तहत् सोमवार को जिले की समस्त जनपद पंचायतों मे कार्यशाला आयोजित की गई। जिसमे अधिकारी/कर्मचारी, सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग के ग्रामीण स्तर के कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यशाला मे प्लास्टिक के उपयोग से होने वाले नुकसान तथा उससे बचने एवं स्वास्थ्य लाभ पर चर्चा की गई। साथ कार्यशालाओं में अभियान के प्रति जागरूकता लाने एंव सिंगल यूज पलास्टिक एवं पोलोथीन बैग का उपयोग नही करेंगे और न करने देगें की शपथ भी दिलाइ गई।

सोयत में पहले की तरह स्थिति सामान्य

जलभराव से हुई क्षति का पटवारियों द्वारा सर्वे किया जा रहा है

आगर-मालवा | 17-सितम्बर-2019

बीते शुक्रवार की रात्रि में तेज वर्षा होने के कारण जिले के सोयतकलां में कंठाल नदी का जलस्तर बढ़ने से नगरीय क्षेत्र में बाढ़ का पानी भर गया था। जो अब पूरी तरह से नगरीय क्षेत्र के घरों से निकाला जा चुका है। सोयत नगर में स्थिति अब पहले की तरह सामान्य है। नदी के पानी से हुई गंदगी एवं कीचड़ की साफ-सफाई हेतु नगर परिषद् सोयतकलां द्वारा विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही मौसमी बीमारियों की रोकथाम हेतु नगर में दवाईयों का छिड़काव भी किया जा रहा है।
एसडीएम सुसनेर ने बताया कि घरों में पानी भरने से लोगों को घरों में हुई क्षति का आंकलन करने हेतु दस पटवारी की टीम भी गठित की गई है। प्रत्येक पटवारी को दो-दो वार्ड का सर्वे कार्य दिया गया है। टीम को तीन दिनों में क्षति का आंकलन करने के निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि घरों में पानी भरने से घरेलू सामग्री खराब होने के कारण सोयत के लिये लगभग 500-600 भोजन के पैकेट भी वितरित किए जा रहे है।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने तीन प्रतिष्ठानों से खाद्य सामग्रियों के नमूने लिए

आगर-मालवा | 06-सितम्बर-2019

गुरूवार को आगर नगर के खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा 3 खाद्य प्रतिष्ठानों से खाद्य सामग्रियों के सैम्पल गुणवत्ता परीक्षण हेतु लिये गए। जिसमें भंडारी वेयर हाउस के सामने होटल से से आलूबड़ा, केशरीमल जैन इन्द्रा गांधी काम्प्लेक्स से सिकी सुपारी, अजय श्री टाकीज के पास बडौद रोड पर संचालित श्री सिद्धि विनायक रेस्टॉरेंट से मोतीचूर के लड्डू की गुणवत्ता परीक्षण हेतु सैपल लिए गए। जिन्हें जांच हेतु प्रयोगशाला भेजा गया है। निरीक्षण के दौरान दुकानों पर खाद्य पंजीयन, खाद्य सुरक्षा डिस्प्ले बोर्ड नही पाए जाने पर पंजीयन तत्काल प्राप्त करने तथा खाद्य पंजीयन की प्राप्ति तक खाद्य कारोबार सम्बन्धी गतिविधियां स्थगित रखने के लिए निर्देशित किया। सभी दुकानदारो से साफ सफाई, गुणवत्ता पूर्ण खाद्य सामग्री के संग्रहण, प्रदर्शन एवं विक्रय करने, वैध खाद्य लाइसेंस प्राप्त कर लगाने तथा खाद्य सुरक्षा डिस्प्ले बोर्ड ग्राहक को स्पष्टतापूर्वक दिखाई देने वाले स्थान पर लगाने को कहा गया।

कृषक-वैज्ञानिक परिचर्चा आयोजित

आगर-मालवा | 31-अगस्त-2019

’’आत्मा’’ परियोजना द्वारा शुक्रवार को कृषक-वैज्ञानिक परिचर्चा का आयोजन समर्थ किसान प्रोड्यसर कम्पनी लिमिटेड बड़ौद रोड़ आगर के सभाकक्ष में किया गया।परिचर्चा में चारो विकासखण्ड के लगभग 30 उन्नत कृषको ने भाग लिया, जिसमें कृषि विज्ञान केन्द्र आगर के वरिष्ठ वैज्ञानिक श्री आर.पी.एस.शक्तावत ने खरीफ फसलो की वर्तमान की स्थिति एवं आगामी रबी में ली जाने वाली फसलो आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
उपसंचालक कृषि श्री आर.पी.कनेरिया ने कृषि द्वारा लागत कम कर अधिक उत्पादन कैसे लिया जाये इस पर विस्तार से बताया गया। वही उपस्थित कृषि वैज्ञानिक श्री अजय पनिका, मत्स्य पालन के श्री राजाराज तिलक धूर्वे, सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी श्री एल.एन.जाटव ने भी सम्बोधित किया। इस कार्यक्रम में आगर प्रभारी व.कृ.वि.अ. श्री गोपाल बोयल, बडौद व.कृ.वि.अ. श्री आर.एस.भूरे, सुसनेर प्रभारी व.कृ.वि.अ. डी.के.जैन, नलखेडा प्रभारी व.क.वि.अ. श्री जे.सी.राठौर एवं बी.टी.एम. आगर प्रभारी श्री अखिलेश घनघोर, बडौद प्रभारी बी.टी.एम. श्री हेमराज तोमर, सुसनेर बी.टी.एम. हरिमोहन बंजारा, नलखेडा प्रभारी बी.टी.एम. श्री वेदप्रकाश सेन सहित चारो विकासखण्ड के ग्रा.कृ.वि.अ. मौजूद थे।
कार्यक्रम का संचालन श्री वेदप्रकाश सेन ने किया एवं आभार परियोजना संचालक आत्मा श्री अनिल कुमार तिवारी ने माना।

कलेक्टर के प्रयास से गम्भीर बीमारी से पीड़ित फरीदा बी का होगा ऑपरेशन 

राशि कम पड़ने से नहीं हो पा रहा था उपचार 

आगर-मालवा | 27-अगस्त-2019

   सुसनेर निवासी फरीदा बी गम्भीर बीमारी से पीडि़त होने तथा राशि नहीं जुटा पाने पर अपना उपचार कराने में असमर्थ थी। उक्त प्रकरण जब कलेक्टर श्री संजय कुमार के संज्ञान में आया तो, उन्होंने तत्काल अस्पताल में सम्पर्क कर उक्त महिला का उपचार प्रारम्भ ही नहीं कराया बल्कि शासन स्तर पर बात कर पीडि़ता की गम्भीर बीमारी के ऑपरेशन हेतु अस्पताल को राशि उपलब्ध करवाने हेतु भी आश्वस्त किया गया।
उल्लेखनीय है कि फरीदा बी पति सलीम खान की ओर से उनकी पुत्री बुलबुल ने विगत 22 अगस्त को कलेक्टर श्री संजय कुमार के समक्ष उपस्थित होकर बताया कि उसकी माता फरीदा बी गम्भीर बीमारी से पीडि़त है, जिनका उपचार भण्डारी हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर इन्दौर में चल रहा है। उसने बताया कि अस्पताल द्वारा बीमारी के उपचार हेतु दो लाख तीस हजार रुपए का खर्च बताया गया है, किन्तु  मुख्यमंत्री स्वैच्छानुदान निधि से एक लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। उसने बताया कि आर्थिक स्थिति कमजोर होने से उपचार की शेष राशि जुटा पाना बहुत मुश्किल है। इस पर कलेक्टर द्वारा तुरंत कार्यवाही करते हुए शासन स्तर एवं भण्डारी हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर इन्दौर में सम्पर्क किया गया। उक्त प्रयासों से शासन स्तर से भण्डारी हॉस्पिटल इन्दौर को शेष राशि स्वीकृत करने का आश्वासन दिया गया। जिससे अस्पताल द्वारा पीडि़ता फरीदा बी का ईलाज पुनः आरम्भ कर दिया गया है एवं 28 अगस्त 2019 को उनकी गम्भीर बीमारी के चलते ऑपरेशन किया जायेगा।

जिले में बीते 24 घंटों में 130.0 मिमी. औसत वर्षा 

आगर-मालवा | 16-अगस्त-2019

 जिले में आज 15 अगस्त सुबह 08.00 बजे तक बीते 24 घंटे में 130.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जिसमें बड़ौद तहसील में सबसे अधिक 190.0 मिमी. एवं सुसनेर मे सबसे कम 83.6 मिमी. वर्षा दर्ज की गई है। इसके अतिरिक्त आगर में 128.0 मिमी तथा नलखेड़ा तहसील में 118.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

जिले में अब तक कुल 908.0 मिमी औसत वर्षा

    जिले में एक जून से अब तक कुल 908.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिसमें आगर तहसील में 997.0 मिमी., बड़ौद 1082.2 मिमी, सुसनेर में 735.4 मिमी. तथा नलखेड़ा में 817.5 मिमी. वर्षा हुई है। विगत वर्ष इस अवधि में 587.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। जिले की औसत सामान्य वर्षा 899.9 मिमी है।

 

पेयजल प्रयोगशालाओं को एनएबीएल से मान्यता दिलाने का निर्णय – मंत्री श्री पांसे 

प्रयोगशालाओं के आधुनिकीकरण के लिये 26.56 करोड़ का प्रावधान 

आगर-मालवा | 06-अगस्त-2019

  लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने कहा है कि आमजन को शुद्ध पेयजल प्रदाय के लिये राज्य सरकार ने पेयजल प्रयोगशालाओं को नेशनल एक्रीडीशन बोर्ड लैब (एनएबीएल) से मान्यता दिलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि पेयजल प्रयोगशालाओं के रख-रखाव और आधुनिकीकरण के लिये विभागीय बजट में कुल 26 करोड़ 56 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है।
मंत्री श्री पांसे ने बताया कि प्रदेश में पेयजल की गुणवत्ता की जाँच के लिये 51 जिला-स्तरीय और 104 उपखण्ड-स्तरीय प्रयोगशालाएँ हैं। इनके रख-रखाव और आधुनिकीकरण के लिये बजट में 22 करोड़ 50 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि 30 प्रयोगशालाओं के नवीन भवन निर्माण तथा पुराने भवनों के उन्नयन के लिये इस वर्ष बजट में 4 करोड़ 6 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है।

 

रतलाम अब तक सर्वाधिक वर्षा वाला जिला 

आगर-मालवा | 26-जुलाई-2019

 प्रदेश में अब तक 7 जिलों में सामान्य से 20 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई, जिसमें सर्वाधिक वर्षा रतलाम में 538.7 मापी गई, जो सामान्य से 232.4 अधिक है। जबकि प्रदेश के 18 जिलों में सामान्य से कम मापी गई। इसमें सबसे कम वर्षा 189.4 सीधी में मापी गई, जो सामान्य से 202 कम है।
प्रदेश में अब तक रतलाम, नीमच, झाबुआ, मुरैना, इंदौर, उमरिया एवं मंदसौर जिलों में सामान्य से अधिक वर्षा दर्ज की गई। प्रदेश के 25 जिलों उज्जैन, भिण्ड, दमोह, बड़वानी, खण्डवा, धार, ग्वालियर, शाजापुर, दतिया, शिवपुरी, अलीराजपुर, जबलपुर, रायसेन, मण्डला, राजगढ़, डिण्डौरी, सतना, रीवा, सिंगरोली, नरसिंहपुर, सीहोर, बुरहानपुर, भोपाल, खरगौन एवं आगर-मालवा सामान्य वर्षा मापी गई।प्रदेश में वर्षा की स्थिति सामान्य है। किसी भी जिले में बाढ़ की स्थिति नहीं बनी है।

यातायात थाना द्वारा अभियान चलाकर वाहनों की रूटवार नम्बरिंग की ग