Saturday, March 28News That Matters

आगर-मालवा

Share
समय-सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक आज
आगर-मालवा | 11-फरवरी-2020
    कलेक्टर श्री संजय कुमार आज मंगलवार को समय-सीमा में पत्रों की समीक्षा करेंगे। समीक्षा बैठक दोपहर 02.00 बजे से कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित की जाएगी। जिसमें विभागवार समयसीमा के लम्बित पत्रों की समीक्ष की जाएगी। समस्त जिला अधिकारी अपने विभाग से संबंधित जानकारी के साथ नियत समय पर बैठक में उपस्थित रहे।

कानड़ बस स्टेण्ड, अन्य नगर परिषदों के लिए उदाहरण बनेगीं

प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कानड़ में 9 करोड़ 18 लाख से अधिक के कार्यो का लोकार्पण किया
आगर-मालवा | 28-जनवरी-2020

मध्यप्रदेश शासन के नगरीय विकास एवं आवास विभाग मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह गत दिवस रविवार को आगर-मालवा जिले के कानड़ में 9 करोड़ 19 लाख 94 हजार की लागत से निर्मित तीन कार्यो का लोकार्पण किया गया। लोकार्पण कार्य में कानड़ में नवीन बस स्टेण्ड एवं सौंदर्यीकरण कार्य लागत 82 लाख 07 हजार, पेयजल योजना के अंतर्गत बने फिल्टर प्लांट आदि की लागत राशि 7 करोड़ 48 लाख  तथा शिव पहाड़ी पर सामुदायिक भवन, सौन्दर्यीकरण एवं विकास कार्य लागत 88 लाख 87 हजार शामिल है।

स्वर्गीय श्री मेघराज जी पालीवाल नवीन बस स्टेण्ड के लोकार्पण समारोह को सम्बोधित करते हुए प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि कानड़ में इस तरह की आधुनिक बस स्टेण्ड का निर्माण हुआ है, जो प्रदेश की अन्य नगर परिषदों के लिए एक उदाहरण बनेगी। प्रदेश की नगर परिषदों में कानड़ की बस स्टेण्ड के तर्ज पर निर्माण करवाया जाएगा। बस स्टेण्ड प्रदेश की टॉप-10 बस स्टेण्डों में शामिल की जाएगी। उन्होंने कहा कि बस स्टेण्ड के निर्माण नगर परिषद् अध्यक्ष, पार्षद एवं अधिकारी-कर्मचारी की मेहनत का प्रतीक है, इसके लिए सभी धन्यवाद के पात्र है। प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि शिव पहाड़ी पर और सौन्दर्यीकरण करवाया जाएगा। उन्होने कहा कि नगरीय क्षेत्र कानड़ के विकास में किसी प्रकार की कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथजी की मंशा है कि प्रदेश के सभी गांवों एवं शहरों में नलों के माध्यम से पानी मिलें और नागरिकों की समस्याओं का भी उनके द्वार पर ही निराकरण किया जाए। प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास मिशन अन्तर्गत हर नगर परिषद् में सर्वे करवाया जाएगा, जिसमें जिनके पास पक्के मकान नहीं है, उनके पट्टे एवं आवास निर्माण हेतु ढ़ाई लाख रूपए की राशि दी जाएगी। प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि शासन हर समय किसानों के साथ खड़ी है। जय किसान ऋण माफी योजना के माध्यम से किसानों को ऋण माफ किया है। उन्होंने कहा कि अति-वृष्टि से फसल नुकसानी हुई, उसका मुआवजा भी शासन द्वारा किसानों को दिया गया है।
कार्यक्रम में श्री दुर्गाप्रसाद पालीवाल ने सम्बोधित कर नगर परिषद् द्वारा विगत पांच वर्षों में किए गए विकास कार्यो की बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कानड़ को इस तरह के अधोसंरचनात्मक कार्यो का निर्माण करवाकर प्रदेश में एक अलग पहचान दिलाई जाएगी। कार्यक्रम को  जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री बाबूलाल यादव, एनएसआईयू प्रदेश अध्यक्ष श्री विपिन वानखेड़े ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम में श्री राजमल सोनी ने स्वागत भाषण दिया।
कार्यक्रम में कानड़ नगर परिषद् द्वारा किए गए विकास कार्यो पर तीन मिनट की डाक्यूमेंन्ट्री फिल्म दिखाई गई। कार्यक्रम में कलेक्टर श्री संजय कुमार, पुलिस अधीक्षक सुश्री सविता सोहाने, सर्व श्री ललित पालीवाल, देवकरण गुर्जर, पिन्टू जायसवाल, शहर काजी कानड़, राजेन्द्र सोलंकी, वसीद्दीन काजी आगर, अर्जुनसिंह राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं बड़ी संख्या आमजन उपस्थित रहे।

इंदिरा गृह ज्योति योजना का बिजली बिल पाकर प्रसन्न है- ललताबाई (खुशियों की दास्तां)

आगर-मालवा | 21-जनवरी-2020

मध्यप्रदेश -शासन द्वारा चलाई जा रही इन्दिरा गृह ज्योति योजना के तहत 100 यूनिट तक बिजली खपत करने पर 100 रुपये की राशि का बिजली बिल जमा करने की सुविधाए दी जा रही है।
जिले के ग्राम मालीखेडी निवासी ललताबाई के पति बालुसिंह मेहनत-मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते है। पति की मजदूरी की राशि से परिवार का पालन-पोषण में भी बड़ी मुश्किलों को सामना करना पड़ता है। ऐसे में अधिक राशि का विद्युत बिल जमा करना तो उनके लिए चुनौतीपूर्ण होता था।
ललता बाई का कहना है कि पहले पति को एक हजार से पन्द्रह सौ रूपये तक का हर महीने बिजली बिल आता था जिसको जमा करने की चिंता हमेशा लगी रहती थी। और घर का बजट बिगड जाता था। ऐसे में म.प्र.सरकार द्वारा इन्दिरा गृह ज्योति योजना के तहत उसे नवम्बर माह का 104 रुपये का बिजली बिल मिला है। जिसे वह खुशी-खुशी जमा कर, बहुत प्रसन्न है। ललताबाई म.प्र. की कमलनाथ सरकार को दुआएं दे रही है, उनका कहना है कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने अपने वचन को पूरा कर सस्ती बिजली कर हम जैसे गरीब परिवारों के जीवन में उजियारा कर दिया है।

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण समीक्षा बैठक सम्पन्न

आगर-मालवा | 14-जनवरी-2020
    स्वच्छता गतिविधियों के सुचारू व समयबद्ध क्रियान्वयन के लिए कलेक्टर श्री संजय कुमार के निर्देशानुसार अनुसार स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण अंतर्गत LOB-2, व NLB के तहत चिन्हित शौचालय विहीन घरों/परिवारों के यहाँ शौचालय निर्माण/सुविधा के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत श्रीमती अंजली जोसेफ की अध्यक्षता में सोमवार को बैठक जिला पंचायत सभाग्रह में संपन्न हुई।
बैठक में जिला समन्वयक-एसबीएम पवन स्वर्णकार, जनपद सीईओ नलखेड़ा श्री एम.एस. ठाकुर, सीईओ बडौद श्री मोहनलाल स्वर्णकार, सीईओ सुसनेर श्री पराग पंथी तथा ब्लॉक समन्वयक-एसबीएम व NLBs (No one Left Behind Beneficiary) के तहत भारत सरकार के पोर्टल पर जोड़े शौचालय विहीन घर/परिवार के लक्ष्य वाली पंचायत के सचिव, ग्राम पंचायत व रोजगार सहायक, डेटा एंट्री आपरेटर भी उपस्थित रहे।
समीक्षा बैठक में सीईओ जिला पंचायत द्वारा जनपदवार व ग्राम पंचायत वॉर   LOB-2 व NLB के तहत लिए गए लक्ष्यों की प्रगति हेतु संबंधित अमलो से पंचायतवॉर शौचालय निर्माण की तैयारी व संक्षिप्त रणनीति पर समीक्षा की गई है साथ ही समीक्षा में जनपद सीईओ बडौद, नलखेड़ा व सुसनेर द्वारा भी लक्ष्यपूर्ति हेतु सुझाव दिए गए। सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जोसेफ द्वारा जनपद आगर की 22 पंचायत में 117 शौचालय विहीन घर, जनपद बडौद की 23 पंचायत के 379, जनपद नलखेड़ा की 23 पंचायत 349 तथा जनपद सुसनेर की 16 पंचायत में 420 शौचालय निर्माण का अंतिम तिथि 25 जनवरी 2020 तक फील्ड में निर्माण कार्य (हार्डवेयर) तथा 25 से 30 जनवरी 2020 तक भौतिक प्रगति (MIS) सॉफ्टवेयर पर कार्य रोजगार सहायक, डेटा एंट्री ऑपरेटर, ब्लॉक समन्वयक कराएंगे। शौचालय निर्माण हेतु एजेंसी- स्वयं हितग्राही/पंचायत/समूह द्वारा कराया जा सकेगा।
सीईओ जिला पंचायत ने अनुपयोगी शौचालय-बेसलाइन सर्वे 2012 के बाद निर्मित शौचालय का सत्यापन कार्य स्वच्छाग्राही के माध्यम से कराया, जिसमे कतिपय शौचालय अनुपयोगी व मिसिंग पाये है। अनुपयोगी व मिसिंग शौचालयों का द्वितीय सत्यापन कार्य जनपद स्तर से दल गठित कर वास्तविक स्थिति का अवलोकन/स्थल निरीक्षण करने के निर्देश दिए गये है तदानुसार उन्हे उपयोगी बनाया जावे। उन्होंने समस्त जनपद सीईओ को भी वांछित लक्ष्यपूर्ति के ग्राम पंचायतों में दैनिक व साप्ताहिक समीक्षा कर जिले को अवगत कराने के निर्देश जारी किए।

समय-सीमा पत्रों की समीक्षा बैठक 07 जनवरी को

आगर-मालवा | 07-जनवरी-2020

    कलेक्टर श्री संजय कुमार आज मंगलवार को समय-सीमा में पत्रों की समीक्षा करेंगे। समीक्षा बैठक दोपहर 02.00 बजे से कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित की जाएगी। जिसमें विभागवार समयसीमा के लम्बित पत्रों की समीक्ष की जाएगी। समस्त जिला अधिकारी अपने विभाग से संबंधित जानकारी के साथ नियत समय पर बैठक में उपस्थित रहे।

छात्रवृत्ति भुगतान प्रक्रिया निर्धारण के लिए समिति गठित

आगर-मालवा | 28-दिसम्बर-2019
   राज्य शासन ने उच्च शिक्षा विभाग के अन्तर्गत संचालित अशासकीय महाविद्यालयों के अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति भुगतान प्रक्रिया की नीति निर्धारण के लिए समिति का गठन किया है। अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन को समिति का अध्यक्ष बनाया गया है।
    प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, जनजातीय विभाग, और अन्य पिछड़ा वर्ग इस समिति के सदस्य मनोनीत किये गये हैं। अपर सचिव उच्च शिक्षा को समिति का सदस्य सचिव बनाया गया है। समिति दो माह में अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी।

बिजली लाइनों के आसपास न करें आतिशबाजी : ऊर्जा मंत्री श्री सिंह

आगर-मालवा | 22-अक्तूबर-2019

ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि दीपावली के पर्व पर विद्युत लाइन के आसपास आतिशबाजी नहीं करें। उन्होंने कहा है कि पटाखे सुरक्षित स्थान पर फोड़ें। पटाखा व्यवसायी बिजली लाइन और ट्रांसफार्मर के आसपास दुकान नहीं लगायें।
विद्युत वितरण कम्पनी ने कहा है कि घरों में प्रकाशीय साज-सज्जा बिजली कनेक्शन में स्वीकृत भार के अनुसार ही करें। व्यवसाइयों से नियमानुसार अस्थाई दुकानों के लिये अस्थाई कनेक्शन लेकर ही बिजली का उपयोग करें। कम्पनी ने मैदानी अमले और सतर्कता विंग को सघन जाँच अभियान चलाकर बिजली चोरी पर कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।

ग्राहकों के बल्ब रिप्लेस हेतु उपलब्ध

आगर-मालवा | 15-अक्तूबर-2019

उजाला योजनान्तर्गत सहाकारी विपणन एवं प्रक्रिया संस्था आगर में ग्राहकों के बल्ब बदलने हेतु उपलब्ध है।
संस्था प्रबंधक ने बताया कि ई.एस.एल. कम्पनी से रिप्लेस होकर एक हजार बल्ब संस्था को प्राप्त हुए है। सहाकारी विपणन संस्था द्वारा 03 वर्ष समयावधि में विक्रय किए गए ग्राहकों के ही बल्ब ही बदले जाएंगे। एक बार बदलने के बाद बल्ब दोबारा नही बदले जाएंगे तथा नए बल्ब का विक्रय भी नहीं किया जाएगा।

गाँधी जयंति के उपलक्ष्य में प्लैगिंग रन(दौड) का आयोजन 02 को

आगर-मालवा | 01 अक्टूबर -2019

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150 वे जन्मवर्ष के उपलक्ष्य में वर्ष भर जिले में गाँधी जी के विचारों एवं सिद्धांतो पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन जिला कलेक्टर श्री संजय कुमार के मार्ग दर्शन में किया जाएगा। इसी श्रृंखला में 02 अक्टूबर गाँधी जयंति के उपलक्ष्य में प्रात: 8:00 बजे प्लैगिंग रन(दौड) का आयोजन पुरानी कृषि उपज मण्डी से प्रारंभ होगा जो अयोध्या बस्ती छावनी झण्डा चौक होते हुए कंपनी गार्डन में पहुंचेगी, जहां पर सर्व समाज सद्भावना सभा का आयोजन होगा। जिसमें स्कूल कॅालेज के विद्यार्थी, स्काऊट, गाईड, रेडक्रास, षासकीय सेवकगंण, स्वंय सेवी संस्था के प्रतिनिधि, धर्मगुरू, जन प्रतिनिधिगण , पत्रकार बन्धु, व्यापारीगण एवं आमजन से रैली में शामिल होने की होने की अपील कलेक्टर श्री संजय कुमार ने की है। साथ ही कलेक्टर ने आम जन से अपील की है कि स्वंय सेवी संस्थाए, विद्यालय एवं समाजसेवी गण अपने-अपने स्तर से गाँधी जी के प्रेरणांदायी जीवन पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन कर-बापू के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने में योगदान देवें।

स्वच्छता ही सेवा 2019 के तहत् कार्यशाला आयोजित

आगर-मालवा | 24-सितम्बर-2019

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अंतर्गत ‘‘स्वच्छता ही सेवा 2019‘‘ अभियान के तहत् सोमवार को जिले की समस्त जनपद पंचायतों मे कार्यशाला आयोजित की गई। जिसमे अधिकारी/कर्मचारी, सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग के ग्रामीण स्तर के कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यशाला मे प्लास्टिक के उपयोग से होने वाले नुकसान तथा उससे बचने एवं स्वास्थ्य लाभ पर चर्चा की गई। साथ कार्यशालाओं में अभियान के प्रति जागरूकता लाने एंव सिंगल यूज पलास्टिक एवं पोलोथीन बैग का उपयोग नही करेंगे और न करने देगें की शपथ भी दिलाइ गई।

सोयत में पहले की तरह स्थिति सामान्य

जलभराव से हुई क्षति का पटवारियों द्वारा सर्वे किया जा रहा है

आगर-मालवा | 17-सितम्बर-2019

बीते शुक्रवार की रात्रि में तेज वर्षा होने के कारण जिले के सोयतकलां में कंठाल नदी का जलस्तर बढ़ने से नगरीय क्षेत्र में बाढ़ का पानी भर गया था। जो अब पूरी तरह से नगरीय क्षेत्र के घरों से निकाला जा चुका है। सोयत नगर में स्थिति अब पहले की तरह सामान्य है। नदी के पानी से हुई गंदगी एवं कीचड़ की साफ-सफाई हेतु नगर परिषद् सोयतकलां द्वारा विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही मौसमी बीमारियों की रोकथाम हेतु नगर में दवाईयों का छिड़काव भी किया जा रहा है।
एसडीएम सुसनेर ने बताया कि घरों में पानी भरने से लोगों को घरों में हुई क्षति का आंकलन करने हेतु दस पटवारी की टीम भी गठित की गई है। प्रत्येक पटवारी को दो-दो वार्ड का सर्वे कार्य दिया गया है। टीम को तीन दिनों में क्षति का आंकलन करने के निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि घरों में पानी भरने से घरेलू सामग्री खराब होने के कारण सोयत के लिये लगभग 500-600 भोजन के पैकेट भी वितरित किए जा रहे है।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने तीन प्रतिष्ठानों से खाद्य सामग्रियों के नमूने लिए

आगर-मालवा | 06-सितम्बर-2019

गुरूवार को आगर नगर के खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा 3 खाद्य प्रतिष्ठानों से खाद्य सामग्रियों के सैम्पल गुणवत्ता परीक्षण हेतु लिये गए। जिसमें भंडारी वेयर हाउस के सामने होटल से से आलूबड़ा, केशरीमल जैन इन्द्रा गांधी काम्प्लेक्स से सिकी सुपारी, अजय श्री टाकीज के पास बडौद रोड पर संचालित श्री सिद्धि विनायक रेस्टॉरेंट से मोतीचूर के लड्डू की गुणवत्ता परीक्षण हेतु सैपल लिए गए। जिन्हें जांच हेतु प्रयोगशाला भेजा गया है। निरीक्षण के दौरान दुकानों पर खाद्य पंजीयन, खाद्य सुरक्षा डिस्प्ले बोर्ड नही पाए जाने पर पंजीयन तत्काल प्राप्त करने तथा खाद्य पंजीयन की प्राप्ति तक खाद्य कारोबार सम्बन्धी गतिविधियां स्थगित रखने के लिए निर्देशित किया। सभी दुकानदारो से साफ सफाई, गुणवत्ता पूर्ण खाद्य सामग्री के संग्रहण, प्रदर्शन एवं विक्रय करने, वैध खाद्य लाइसेंस प्राप्त कर लगाने तथा खाद्य सुरक्षा डिस्प्ले बोर्ड ग्राहक को स्पष्टतापूर्वक दिखाई देने वाले स्थान पर लगाने को कहा गया।

कृषक-वैज्ञानिक परिचर्चा आयोजित

आगर-मालवा | 31-अगस्त-2019

’’आत्मा’’ परियोजना द्वारा शुक्रवार को कृषक-वैज्ञानिक परिचर्चा का आयोजन समर्थ किसान प्रोड्यसर कम्पनी लिमिटेड बड़ौद रोड़ आगर के सभाकक्ष में किया गया।परिचर्चा में चारो विकासखण्ड के लगभग 30 उन्नत कृषको ने भाग लिया, जिसमें कृषि विज्ञान केन्द्र आगर के वरिष्ठ वैज्ञानिक श्री आर.पी.एस.शक्तावत ने खरीफ फसलो की वर्तमान की स्थिति एवं आगामी रबी में ली जाने वाली फसलो आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
उपसंचालक कृषि श्री आर.पी.कनेरिया ने कृषि द्वारा लागत कम कर अधिक उत्पादन कैसे लिया जाये इस पर विस्तार से बताया गया। वही उपस्थित कृषि वैज्ञानिक श्री अजय पनिका, मत्स्य पालन के श्री राजाराज तिलक धूर्वे, सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी श्री एल.एन.जाटव ने भी सम्बोधित किया। इस कार्यक्रम में आगर प्रभारी व.कृ.वि.अ. श्री गोपाल बोयल, बडौद व.कृ.वि.अ. श्री आर.एस.भूरे, सुसनेर प्रभारी व.कृ.वि.अ. डी.के.जैन, नलखेडा प्रभारी व.क.वि.अ. श्री जे.सी.राठौर एवं बी.टी.एम. आगर प्रभारी श्री अखिलेश घनघोर, बडौद प्रभारी बी.टी.एम. श्री हेमराज तोमर, सुसनेर बी.टी.एम. हरिमोहन बंजारा, नलखेडा प्रभारी बी.टी.एम. श्री वेदप्रकाश सेन सहित चारो विकासखण्ड के ग्रा.कृ.वि.अ. मौजूद थे।
कार्यक्रम का संचालन श्री वेदप्रकाश सेन ने किया एवं आभार परियोजना संचालक आत्मा श्री अनिल कुमार तिवारी ने माना।

कलेक्टर के प्रयास से गम्भीर बीमारी से पीड़ित फरीदा बी का होगा ऑपरेशन 

राशि कम पड़ने से नहीं हो पा रहा था उपचार 

आगर-मालवा | 27-अगस्त-2019

   सुसनेर निवासी फरीदा बी गम्भीर बीमारी से पीडि़त होने तथा राशि नहीं जुटा पाने पर अपना उपचार कराने में असमर्थ थी। उक्त प्रकरण जब कलेक्टर श्री संजय कुमार के संज्ञान में आया तो, उन्होंने तत्काल अस्पताल में सम्पर्क कर उक्त महिला का उपचार प्रारम्भ ही नहीं कराया बल्कि शासन स्तर पर बात कर पीडि़ता की गम्भीर बीमारी के ऑपरेशन हेतु अस्पताल को राशि उपलब्ध करवाने हेतु भी आश्वस्त किया गया।
उल्लेखनीय है कि फरीदा बी पति सलीम खान की ओर से उनकी पुत्री बुलबुल ने विगत 22 अगस्त को कलेक्टर श्री संजय कुमार के समक्ष उपस्थित होकर बताया कि उसकी माता फरीदा बी गम्भीर बीमारी से पीडि़त है, जिनका उपचार भण्डारी हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर इन्दौर में चल रहा है। उसने बताया कि अस्पताल द्वारा बीमारी के उपचार हेतु दो लाख तीस हजार रुपए का खर्च बताया गया है, किन्तु  मुख्यमंत्री स्वैच्छानुदान निधि से एक लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। उसने बताया कि आर्थिक स्थिति कमजोर होने से उपचार की शेष राशि जुटा पाना बहुत मुश्किल है। इस पर कलेक्टर द्वारा तुरंत कार्यवाही करते हुए शासन स्तर एवं भण्डारी हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर इन्दौर में सम्पर्क किया गया। उक्त प्रयासों से शासन स्तर से भण्डारी हॉस्पिटल इन्दौर को शेष राशि स्वीकृत करने का आश्वासन दिया गया। जिससे अस्पताल द्वारा पीडि़ता फरीदा बी का ईलाज पुनः आरम्भ कर दिया गया है एवं 28 अगस्त 2019 को उनकी गम्भीर बीमारी के चलते ऑपरेशन किया जायेगा।

जिले में बीते 24 घंटों में 130.0 मिमी. औसत वर्षा 

आगर-मालवा | 16-अगस्त-2019

 जिले में आज 15 अगस्त सुबह 08.00 बजे तक बीते 24 घंटे में 130.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जिसमें बड़ौद तहसील में सबसे अधिक 190.0 मिमी. एवं सुसनेर मे सबसे कम 83.6 मिमी. वर्षा दर्ज की गई है। इसके अतिरिक्त आगर में 128.0 मिमी तथा नलखेड़ा तहसील में 118.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

जिले में अब तक कुल 908.0 मिमी औसत वर्षा

    जिले में एक जून से अब तक कुल 908.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिसमें आगर तहसील में 997.0 मिमी., बड़ौद 1082.2 मिमी, सुसनेर में 735.4 मिमी. तथा नलखेड़ा में 817.5 मिमी. वर्षा हुई है। विगत वर्ष इस अवधि में 587.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। जिले की औसत सामान्य वर्षा 899.9 मिमी है।

 

पेयजल प्रयोगशालाओं को एनएबीएल से मान्यता दिलाने का निर्णय – मंत्री श्री पांसे 

प्रयोगशालाओं के आधुनिकीकरण के लिये 26.56 करोड़ का प्रावधान 

आगर-मालवा | 06-अगस्त-2019

  लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने कहा है कि आमजन को शुद्ध पेयजल प्रदाय के लिये राज्य सरकार ने पेयजल प्रयोगशालाओं को नेशनल एक्रीडीशन बोर्ड लैब (एनएबीएल) से मान्यता दिलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि पेयजल प्रयोगशालाओं के रख-रखाव और आधुनिकीकरण के लिये विभागीय बजट में कुल 26 करोड़ 56 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है।
मंत्री श्री पांसे ने बताया कि प्रदेश में पेयजल की गुणवत्ता की जाँच के लिये 51 जिला-स्तरीय और 104 उपखण्ड-स्तरीय प्रयोगशालाएँ हैं। इनके रख-रखाव और आधुनिकीकरण के लिये बजट में 22 करोड़ 50 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि 30 प्रयोगशालाओं के नवीन भवन निर्माण तथा पुराने भवनों के उन्नयन के लिये इस वर्ष बजट में 4 करोड़ 6 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है।

 

रतलाम अब तक सर्वाधिक वर्षा वाला जिला 

आगर-मालवा | 26-जुलाई-2019

 प्रदेश में अब तक 7 जिलों में सामान्य से 20 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई, जिसमें सर्वाधिक वर्षा रतलाम में 538.7 मापी गई, जो सामान्य से 232.4 अधिक है। जबकि प्रदेश के 18 जिलों में सामान्य से कम मापी गई। इसमें सबसे कम वर्षा 189.4 सीधी में मापी गई, जो सामान्य से 202 कम है।
प्रदेश में अब तक रतलाम, नीमच, झाबुआ, मुरैना, इंदौर, उमरिया एवं मंदसौर जिलों में सामान्य से अधिक वर्षा दर्ज की गई। प्रदेश के 25 जिलों उज्जैन, भिण्ड, दमोह, बड़वानी, खण्डवा, धार, ग्वालियर, शाजापुर, दतिया, शिवपुरी, अलीराजपुर, जबलपुर, रायसेन, मण्डला, राजगढ़, डिण्डौरी, सतना, रीवा, सिंगरोली, नरसिंहपुर, सीहोर, बुरहानपुर, भोपाल, खरगौन एवं आगर-मालवा सामान्य वर्षा मापी गई।प्रदेश में वर्षा की स्थिति सामान्य है। किसी भी जिले में बाढ़ की स्थिति नहीं बनी है।

यातायात थाना द्वारा अभियान चलाकर वाहनों की रूटवार नम्बरिंग की गई 

आगर-मालवा | 23-जुलाई-2019

पुलिस अधीक्षक सुश्री सविता सोहाने के निर्देषन एवं मार्गदर्षन में दुर्घटना के दौरान नम्बरिंग नहीं होने वाहनों की पहचान नहीं हो पाने के दृष्टिगत रखते हुए यातायात थाना टीम द्वारा सोमवार को जिले में बस स्टेण्ड से तनोड़िया रूट, बड़ौद चौराहा से बड़ौद रूट पर एक संयुक्त अभियान चलाकर वाहनों की रूटवार नम्बरिंग की गई।
यातायात थाना प्रभारी ने बताया कि अभियान का उद्देष्य सवारी वाहन मैजिक, ऑटो आदि पर नम्बरिंग नहीं होने से दुर्घटना होने पर पहचान नहीं हो पाती है। इसके लिये अभियान चलाकर वाहनों के दस्तावेजों की चेकिंग कर वाहनों की नम्बरिंग की गई व वाहन स्वामी एवं चालक के मोबाईल नम्बर व पता भी एकत्रित किया गया है। उन्होंने बताया कि तनोड़िया रूट की तरफ से जाने वाले मैजिक को TN-1, बडौद रूट के मैजिक वाहन को BR-1, भ्याना रूट के मैजिक को BH-1, गंगापुर रूट के वाहन को GN-1  से मार्किंग की गई। जिससे कि वाहनों की आसानी से पहचान की जा सकें। सोमवार को 24 वाहनों की जानकारी एकत्रित की गई व वाहन चालकों को समझाईष दी गई कि वाहन की क्षमता अनुसार ही सवारी बैठाये। उन्होंने बताया कि उक्त अभियान सतत् जारी रहेगा।
कार्यवाही के दौरान यातायात थाना प्रभारी सुरी सोनू बडगुर्जर, स.उ.नि. एमएल मंडोत, सउनि बीएल पेजवाल, आगर 97 जितेन्द्र सिंह करनावत, एनसीओ 67 बाबूसिंह चंद्रावत सहित यातायात थाने के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

1403 शिक्षक ट्राइबल स्कूलों में प्रतिनियुक्ति पर जायेंगे

एन.ओ.सी. जारी 

आगर-मालवा | 12-जुलाई-2019

    स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आदिम-जाति कल्याण विभाग की शालाओं में प्रतिनियुक्ति के लिये 1403 प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक एवं उच्चतर माध्यमिक शिक्षकों के अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी किये गये हैं। आदिम-जाति कल्याण विभाग के पोर्टल <www.tribal.mp.gov.in> पर ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।
आवेदक MPTAAS पर ट्रांसफर मॉड्यूल में “शिक्षा विभाग से प्रतिनियुक्ति पर” के विकल्प पर क्लिक करेगा। आवेदक द्वारा यूनिक आई.डी., मोबाइल नम्बर तथा ई-मेल दर्ज करने पर आवेदक के मोबाइल नम्बर तथा ई-मेल पर ओटीपी प्राप्त होगा। आवेदक द्वारा ओटीपी दर्ज करने पर अगली स्क्रीन पर आवेदक की सामान्य जानकारी जैसे नाम, पदनाम, विषय, वर्तमान पद-स्थापना एवं जिला आदि की जानकारी प्रदर्शित होगी। तत्पश्चात् आदिम-जाति कल्याण विभाग की शालाओं की जिलेवार जानकारी प्रदर्शित होगी।
आवेदक प्रदर्शित शालाओं में से 5 शालाओं का चयन कर सकेगा। आवेदक को विभागीय शालाओं में प्रतिनियुक्ति के लिये आदेश जारी कर पदस्थ किया जायेगा। जिन शिक्षकों को स्कूल शिक्षा विभाग की अनुमति जारी कर दी गई है, वे तत्काल आदिम-जाति कल्याण विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करें, ताकि उनकी पद-स्थापना आदिम-जाति कल्याण विभाग की शालाओं में की जा सके।

किसानों को आम का उचित मूल्य और उपभोक्ताओं को गुणवत्तायुक्त आम सुलभ कराने की पहल सराहनीय 

कृषि मंत्री श्री यादव ने किया नाबार्ड के “आम महोत्सव-02” का शुभारंभ 

आगर-मालवा | 07-जून-2019   “आम महोत्सव” नाबार्ड की सराहनीय पहल है। इससे किसानों को आम की उपज का उचित मूल्य और उपभोक्ताओं को गुणवत्तायुक्त जैविक पद्धति से उत्पादित आम सुलभ हो रहा है। यह बात किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने गत दिवस नाबार्ड के क्षेत्रीय कार्यालय में राज्य स्तरीय आम महोत्सव-02 प्रदर्शन सह- बिक्री प्रदर्शनी का शुभारंभ करते हुए कही।
राज्य स्तरीय आम महोत्सव-02 प्रदर्शन सह- बिक्री प्रदर्शनी 8 जून तक रहेगी। इसमें प्रदेश के 13 जिलों की नाबार्ड समर्थित बाड़ी परियोजनाओं एवं किसान उत्पादक संगठनों के विशेषकर आदिवासी किसानों द्वारा आम प्रेमियों को जैविक, कीटनाशक मुक्त और प्राकृतिक रूप से पके आमों की 10 सर्वाधिक लोकप्रिय किस्में प्रदर्शित की की गई है। इन किस्मों में दशहरी, लंगड़ा, केसर, नीलम, फाजली, सुंदरजा, आम्रपाली और मल्लिका आम उचित दामों पर उपलब्ध हैं।
नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक श्री संजय कुमार बंसल ने बताया कि प्रदेश के आदिवासी किसानों की बाड़ी के आम, जो जैविक खाद, कीटनाशकयुक्त तथा प्राकृतिक रूप से पकाये गये हैं, को उचित बाजार तथा आम प्रेमियों को गुणवत्तायुक्त आम सुलभ कराने के लिये महोत्सव किया गया है। कार्यक्रम में विभिन्न जिलों से आये आम उत्पादक कृषक तथा स्थानीय नागरिक उपस्थित थे।