Friday, August 23News That Matters

उमरिया

Share

स्वच्छ भारत ग्रामीण मिशन के लिये एक हजार करोड़ का प्रावधान 

ढाई हजार ग्रामों में होगा ठोस अपशिष्ट प्रबंधन
उमरिया |

09-अगस्त-2019

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा है कि स्वच्छ भारत ग्रामीण मिशन में इस वर्ष प्रदेश के ढाई हजार गांव में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन कार्य प्रारंभ किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मिशन के लिये बजट में एक हजार करोड़ का प्रावधान किया है।
मंत्री श्री पटेल ने कहा कि वर्ष 2018-19 में प्रदेश में 7 लाख 49 हजार 400 शौचालयों का निर्माण कर 25 हजार 612 ग्रामों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया है। अभियान में 392 ग्रामीण उप-स्वास्थ्य केन्द्रों में सामुदायिक स्वच्छता परिसरों का निर्माण कराया गया है। उन्होंने बताया कि खुले में शौच से मुक्त घोषित हो चुकी पंचायतों में ठोस एवं तरल अपशिष्टों के निपटान के लिये वित्तीय प्रावधान किये गये हैं। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि मिशन में 150 परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 7 लाख, 300 परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 12 लाख, 500 परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 15 लाख एवं 500 से अधिक परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 20 लाख रूपये व्यय का प्रावधान किया गया है।

पिता की मृत्यु के बाद शिक्षा प्राप्त करने हेतु राज कुमार सिंह की कलेक्टर द्वारा मदद (खुशियों की दास्तां 

उमरिया | 30-जुलाई-2019

 मानपुर जनपद पंचायत के ग्राम भरहुत निवासी राज कुमार सिंह के पिता की एक दिन पूर्व अर्थात 29 जुलाई को देहांत हो गया। राज कुमार सिंह एक्सीलेंस स्कूल सज्जन उमावि उमरिया का कक्षा 10 वीं का विद्यार्थी है। पिता की एक दिन पूर्व मृत्यु के बावजूद पढाई के प्रति अपने जज्बें को दिखाते हुए जनसुनवाई में आवेदन लेकर कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी के पास आया तथा उसने बताया कि मेरी आर्थिक स्थिति बहुत खराब है। मै स्कूल की फीस भी नही भर पा रहा हूं, लेकिन पढाई करना चाहता हूं।  आप मेरी मदद करें।
कलेक्टर एवं शाला प्रबंधन समिति के अध्यक्ष स्वरोचिष सोमवंशी ने पढाई के प्रति उसके जज्बें को देखते हुए स्कूल की फीस स्वयं भरने की बात कही तथा राज कुमार को समझाइश दी कि वह ध्यान लगाकर पढे और आगें बढे उसकी मदद के लिए जिला प्रशासन तत्पर है।

 

एक क्लिक पर मिलेगी जिलों की जानकारी 

उमरिया | 26-जुलाई-2019

 वन इंडिया प्रोग्राम के अंतर्गत भारत के समस्त जिलों की जानकारी एक क्लिक पर प्राप्त होगी। भारत सरकार के राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र की पहल पर पूरे देश को एक वेबसाइट में समाहित करने का कार्य किया जा रहा है। जिससे देश व विदेश के नागरिक भारत की शहरी और ग्रामीण संस्कृति की जानकारी ले सकेंगे। इस नई व्यवस्था से जिले का भौगोलिक ज्ञान, पर्यटन, इसके साथ ही जनप्रतिनिधि से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की घर बैठे ही वेबसाइट से जानकारी मिल जायेगी। इस वेबसाइट को हिन्दी और अंग्रेजी भाषा में भी देखा जा सकता है।
देश विदेश के सैलानियों और शासकीय संस्थाओं को एक क्लिक पर भारत दर्शन कराने की थीम को लेकर राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र ने यह नये आयाम की शुरूआत की है। जिले का इतिहास, जिले के मानचित्र, जन साख्यिकी, प्रशासनिक गतिविधियॉं, आपदा प्रबंधन, स्थानीय प्रसिद्ध व्यंजन, सार्वजनिक उपयोगिताएं जैसे बैंक, कॉलेज, बिजली, डाक, अस्पताल, स्कूल, पर्यटन, दस्तावेज आदि समस्त जानकारियॉं प्राप्त की जा सकेगी। इसके अलावा इस वेबसाइट को शासकीय गाइडलाइन और एक थीम पर तैयार किया गया है।

गुड्डी बाई को संबल योजना का तथा आशीष एवं सविता को फास्टर केयर योजना का मिला लाभ (खुशियों की दास्तां)

उमरिया | 24-जुलाई-2019 

 

साप्ताहिक जनसुनवाई में मानपुर जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत इंदवार से आई गुड्डी बाई ने बताया कि उनके बेटे शिवम जायसवाल की मृत्यु बाण सागर जलाशय में डूबने से हो गई थी। किंतु उन्हें सहायता राशि नही मिली है। कलेक्टर ने आवेदन को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम मानपुर दीपक सिंह चौहान को निर्देशित किया कि आज ही सभी औपचारिकताएं पूरी कराकर उन्हे संबल योजना का लाभ दिलाया जाए। इतना ही नही जिला स्तर पर क्विक रिस्पांस टीम के साथ विशेष वाहन से उन्हें मानपुर भेजवाने की व्यवस्था की गई तथा संबल योजना का लाभ भी दिलाया गया।
जनसुनवाई में ग्राम उजनिया जनपद पंचायत करकेली से आशीष कुमार कोल उम्र 15 वर्ष तथा उनकी बहन सविता उम्र 12 वर्ष अपने मामा के साथ आये हुए थे, मामा ने बताया कि पिता की मृत्यु पहले हो चुकी थी। बाद में इनके मां की भी मृत्यु ट्रेन दुर्घटना में हो गई। दोनो बच्चे अनाथ है। इनके परिवरिश की जरूरत है। कलेक्टर ने दोनो बच्चों की पढ़ाई का इंतजाम करते हुए सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को छात्रावास में प्रवेश दिलाने तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास को फास्टर केयर योजना के तहत दो हजार रूपये प्रति माह की सहायता राशि स्वीकृत की।
जनपद पंचायत करकेली के ग्राम मझगवां से आये 80 वर्षीय चुन्नी लाल ने बताया कि वे नि:शक्त है तथा कोई काम नही कर सकते है। जीविकोपार्जन हेतु वृद्धावस्था पेशन स्वीकृत कर दी जाए। कलेक्टर ने उनकी हालत को देखते हुए सीइओ जनपद पंचायत करकेली को तत्काल वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृत कर वाट्सअप के माध्यम से आदेश मंगाकर आदेश की प्रति उन्हें सौपी।