Thursday, November 26News That Matters

उमरिया

Share
25 नवम्बर तक मनाया जाएगा कौमी एकता सप्ताह
उमरिया | 24-नवम्बर-2020

      राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में 25 नवम्बर तक कौमी एकता सप्ताह मनाने के निर्देश सभी एस.डी.एम. और अधिकारियों को दिये है।
अपर कलेक्टर श्री कमल चन्द्र नागर ने उक्त जानकारी देते हुए बताया की 19 नवम्बर से 25 नवम्बर तक कौमी एकता सप्ताह अन्तर्गत राष्ट्रीय साम्प्रदायिक सदभाव प्रतिष्ठान नई दिल्ली द्वारा निर्धारित कार्यक्रम अनुसार कोविड़-19 को ध्यान में रखते हुए मनाने के निर्देश दिये गये है।

गौवंश संरक्षण के अधिकाधिक प्रयास होंगे मुख्यमंत्री श्री चौहान गौ अभ्यारण में मनाएंगे गोपाष्टमी

मुख्यमंत्री निवास पर हुई गोवर्धन पूजा
उमरिया | 18-नवम्बर-2020
    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गौवंश संरक्षण के अधिकाधिक प्रयास होंगे। मध्यप्रदेश ने गौ अभ्यारण बनाकर देश में अनूठी पहल की है। प्रदेश में निरंतर गौशालाएं बन रही हैं। गौरक्षा के लिए अन्य क्या कदम आवश्यक हैं, इसकी भी समीक्षा कर नए कदम लागू किए जाएंगे। आगर-मालवा का गौ अभ्यारण, गौवंश संरक्षण का मॉडल बनेगा। सरकार और समाज मिलकर गौवंश संरक्षण का कार्य करें, यह सुनिश्चित किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज के दिन आमजन पर्यावरण बचाने का भी संकल्प लें। कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष के दिन के आठवें दिन गोपाष्टमी पर्व की परंपरा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस बार वे गौ अभ्यारण में गायों की पूजा का गोपाष्टमी पर्व मनाएंगे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज परिवार के साथ गोवर्धन पूजा के अवसर पर निवास में पूजा अर्चना के साथ मुख्यमंत्री निवास की गौशाला में इसी सप्ताह जन्मी दो बछियों-अष्टमी और धनवंतरी के साथ स्नेह दुलार किया और उन्हें आहार भी खिलाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा कर पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह और परिजन उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि आज गोवर्धन पूजा आनंद का अवसर है। दरअसल यह प्रकृति और पर्यावरण की पूजा है। गोवर्धन पूजा का दिन पर्यावरण बचाने का संदेश देता है। भगवान श्रीकृष्ण द्वारा सर्वकल्याण के भाव से अपनी कनिष्ठिका पर गोवर्धन पर्वत को उठाया गया था। उन्होंने ब्रजवासियों से कहा था कि वे प्रतिवर्ष गोवर्धन पूजा कर अन्नकूट का पर्व मनाएं। तब से यह परंपरा चल रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस पर्व का आज भी महत्व है। यह पर्व प्रासंगिक है, युवा पीढ़ी को प्रकृति के महत्व से अवगत करवाने वाला पर्व है। बिना वृक्षों और पशुओं के मनुष्य के जीवन का भी अर्थ नहीं है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गौमाता अद्भुत है। गाय के दूध से और गोमूत्र से अनेक औषधियां निर्मित होती हैं। गौवंश की पूजा से संतोष मिलता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गाय और बछियों के निश्चल, निष्कपट और निस्पृहरू प्रेम से आज अभिभूत हुआ हूँ और इन बछियों के स्नेह से अपार आनंद की अनुभूति हुई है।

प्रदेश में किल कोरोना अभियान के अच्छे परिणाम

58 प्रतिशत सर्वे पूर्ण, 1.26 प्रतिशत पॉजिटिविटी रेट, कोरोना एक्टिव प्रकरणों में मध्य प्रदेश देश में 16वें स्थान पर आया, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की
उमरिया | 10-जुलाई-2020
      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में ष्किल कोरोनाष् अभियान के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। इसके अंतर्गत अभी तक प्रदेश में लगभग 4 करोड़ व्यक्तियों का यानि 58 प्रतिशत सर्वे पूर्ण कर लिया गया है। इनमें 47 हजार 690 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए हैं, जिनमें 599 पॉजिटिव आए हैं। पॉजिटिविटी का प्रतिशत 1.26 प्रतिशत जो स्पष्ट रूप से बताता है कि प्रदेश में कम्युनिटी स्प्रेड जैसी कोई स्थिति नहीं है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश के 17 ऐसे राज्य, जहां कोरोना संक्रमण अपेक्षाकृत अधिक है, इनमें एक्टिव प्रकरणों की संख्या में मध्य प्रदेश अब 16वें स्थान पर आ गया है, 17वें स्थान पर केरल है। मध्यप्रदेश में कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या 8 जुलाई की स्थिति में 3420 है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री फैज अहमद किदवई उपस्थित थे।

पैरामीटर्स अच्छे है, सावधानी रखें

जबलपुर जिले की समीक्षा में पाया गया कि वहां पैरामीटर्स अच्छे हैं। पॉजिटिविटी दर 2.99 प्रतिशत है, रिकवरी दर 77.5 प्रतिशत है तथा मृत्यु दर 2.89 प्रतिशत है। जिले में अभी एक्टिव प्रकरण 95 है तथा 375 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर जा चुके है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सावधानी रखें, जिससे आगे संक्रमण न फैले।

एक जून के बाद मृत्यु दर शून्य

मंदसौर जिले की समीक्षा में पाया गया कि वहां एक जून के पश्चात कोरोना मृत्यु दर शून्य है। जिले में अभी 44 एक्टिव मरीज हैं, 106 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि जिला राजस्थान का सीमावर्ती होने से वहां से आवा-जाही में सावधानी बरती जाए। मुख्य सचिव श्री बैंस ने निर्देश दिए कि जिले में फर्स्ट कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग काफी कम (6.9 प्रतिशत) है। इसे बढ़ाया जाए।

बिना स्क्रीनिंग के कोई आएगा-जाएगा नहीं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि अन्य राज्यों के सीमावर्ती जिलों में कोई भी व्यक्ति राज्य की सीमा में बिना स्क्रीनिंग के आए-जाए नहीं यह कलेक्टर सुनिश्चित करें।

आयोग द्वारा राज्यसभा चुनाव में कोविड-19 के दृष्टिगत निर्वाचकों को पोस्टल बैलट की सुविधा

उमरिया | 18-जून-2020

    भारत निर्वाचन आयोग ने राज्यसभा चुनाव में कोविड-19 के दृष्टिगत पोस्टल बैलट की भी सुविधा प्रदान की है। आयोग द्वारा कोविड-19 के इलाज के लिये राज्य के अंदर अस्पताल में भर्ती निर्वाचक को निर्वाचन में भाग लेने के लिये पोस्टल बैलट की सुविधा दी गई है। चिकित्सीय सलाह पर यदि कोई निर्वाचक पोलिंग स्टेशन आकर वोट डालने में सक्षम नहीं है और ऐसा निर्वाचक पोस्टल बैलट के लिये अनुरोध करता है, तो रिटर्निंग अधिकारी पोस्टल बैलट प्रदान करेगा।
रिटर्निंग ऑफीसर पोस्टल बैलट पहुँचाने और उसे कलेक्ट करने की व्यवस्था सुनिश्चित करेगा। यह व्यवस्था आयोग द्वारा मुख्य सचिव को दिये गये निर्देशों के अंतर्गत कोविड-19 के लिये बनाये गये नोडल अधिकारी के समन्वय में की जायेगी।
बैलट पेपर जारी करने के जो निर्देश आयोग द्वारा दिये गये हैं, उनके अनुसार राज्यसभा निर्वाचन मतदाता-सूची का मतदाता क्रमांक बैलट पेपर के काउंटर फाइल पर डाला जायेगा और काउंटर फाइल को सुरक्षित रखा जायेगा।
आयोग ने संबंधित निर्वाचक का इलाज करने वाले डॉक्टर को यह प्रमाणित करने का प्राधिकारी बनाया है कि संबंधित निर्वाचक अस्पताल में भर्ती होकर कोविड-19 का इलाज करा रहा है।

सीएम राईज डिजिटल शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत शिक्षकों का प्रशिक्षण जारी

उमरिया | 02-जून-2020

    सहायक आयुक्त आदिवासी विकास आनंद राय सिन्हां ने बताया है कि राज्य शासन के निर्देशानुसार सीएम राईज डिजिटल शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है, जिसमंे कक्षा 1 से 12 तक के 2840 शिक्षकों का पंजीयन किया जाना था, तथा जिसमें प्रथम कोर्स प्रशिक्षण से परिचय में 2682 शिक्षकों का पंजीयन किया गया तथा 2571 शिक्षकों की कोर्स पूर्ण किया। प्रदेश में उमरिया जिला चौथे स्थान पर रहा। द्वितीय कोर्स शिक्षक की भूमिका मे के तहत 2582 शिक्षकों का पंजीयन किया गया जिसमें 2196 शिक्षकों द्वारा कोर्स पूरा किया गया। जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा। चिंतन प्रभावी शिक्षण का आधार विषय पर आधारित प्रशिक्षण में 1838 शिक्षकों ने पंजीयन कराया तथा 1026 शिक्षकों द्वारा कोर्स पूरा किया गया। जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा।

समुदाय आधारित पोषण प्रबंधन लागू करने वाला पहला राज्य मध्यप्रदेश

मंत्री इमरती देवी ने बताई वार्षिक विभागीय कार्य-योजना
उमरिया | 18-फरवरी-2020

    मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है, जहाँ अति-गंभीर कुपोषित बच्चों के लिये समुदाय आधारित पोषण प्रबंधन (सी-सेम) को अभियान के स्वरूप में प्रारंभ किया गया है। अभियान दो चरणों में क्रियान्वित किया जायेगा। पहले चरण में प्रदेश के 97 हजार 135 ऑगनवाड़ी केन्द्रों में 20 फरवरी तक अति गंभीर कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन की कार्यवाही जारी है। महिला-बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने 14 फरवरी को भोपाल में विभागीय कार्य-योजना-2020 की जानकारी देते हुए बताया कि दूसरे चरण में केन्द्र आधारित पाँच दिवसीय स्वास्थ्य परीक्षण और निर्धारित मेडिसिन प्रदाय किया जायेगा। इसमें 12 सप्ताह तक पोषण, अवलोकन और परामर्श तथा ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता और पोषण दिवसों पर मासिक स्वास्थ्य और पोषण की जाँच की जायेगी।
मंत्री इमरती देवी ने बताया कि 10 से 15 प्रतिशत अति गंभीर कुपोषित बच्चों को चिकित्सकीय जटिलताओं के कारण उपचार की आवश्यकता पड़ती है। 85 से 90 प्रतिशत अति गंभीर कुपोषित बच्चे, जिन्हें चिकित्सकीय जटिलता नहीं होती है, उनका समुदाय स्तर पर बेहतर पोषण प्रबंधन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सीमेस एप द्वारा प्रबंधन की निगरानी एवं पर्यवेक्षण किया जा रहा है। इमरती देवी ने बताया कि इस अभियान से लगभग 80 लाख बच्चों का शारीरिक माप कर उनके पोषण स्तर का निर्धारण किया जा सकेगा। साथ ही, लगभग 80 से 85 प्रतिशत बच्चों का समुदाय स्तर पर पोषण प्रबंधन भी किया जायेगा।
पोषण जागरुकता स्टॉल
महिला-बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने बताया कि आदिवासी क्षेत्रों में पोषण जागरुकता के लिए हाट-बाजारों में पोषण जागरूकता स्टॉल लगाया जायेगा। उन्होंने बताया कि आदिवासी क्षेत्रों में प्रति सप्ताह 963 और एक वर्ष में 50 हजार 76 पोषण जागरूकता स्टॉल लगाये जाने का लक्ष्य है। इसके अलावा, जन-समुदाय और घुमन्तू समुदाय आदि के साथ पोषण-संवाद भी किया जायेगा। उन्होंने बताया कि आदिवासी क्षेत्रों के साप्ताहिक हाट बाजारों में पोषण जागरूकता स्टॉल के माध्यम से बच्चों को पोषण बास्केट का वितरण किया जायेगा।
सामुदायिक पोषण रसोई
मंत्री इमरती देवी ने जानकारी दी कि स्थानीय स्तर पर उपलब्ध एवं उपयोग किए जाने वाले अनाज, फल तथा सब्जियों से स्वादिष्ट एवं पौष्टिक भोजन तैयार करने के प्रति जागरूकता लाने के लिए सामुदायिक पोषण रसोई कार्यक्रम शुरू किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 8 से 31 मार्च तक स्थानीय स्तर पर उपलब्ध एवं उपयोग किये जाने वाले अनाज,फल तथा सब्जियों की सामुदायिक पोषण रसोई प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी।
शुरू होंगे नए बाल शिक्षा केन्द्र
मंत्री इमरती देवी ने बताया कि 28 फरवरी 2020 को 800 नवीन बाल शिक्षा केन्द्रों की शुरूआत की जायेगी। उन्होंने बताया कि 3 से 6 वर्ष तक की आयु के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शाला पूर्व शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पहले चरण में 313 ऑगनवाड़ी केन्द्रों को बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित किया गया था।
खिलौना-पुस्तक बैंक
आँगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों के खेलने और पढ़ने के लिये प्रोत्साहित करने की दृष्टि से खिलौना-पुस्तक बैंक की स्थापना की जा रही है। समुदाय द्वारा अपने बच्चों के नाम पर आँगनवाड़ी केन्द्रों को उपयोगी खिलौने एवं पुस्तकें दान की जायेंगी। मंत्री इमरती देवी ने बताया कि समुदाय का आँगनवाड़ी केन्द्रों के साथ भावनात्मक जुड़ाव स्थापित करने के लिए इस योजना को लागू करने का निर्णय लिया गया।
समधारा 2020
महिला-बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने बताया कि प्रदेश में 18 साल से कम उम्र के बच्चों की देखभाल, सुरक्षा तथा संरक्षण के लिए प्रदेश में समेकित बाल संरक्षण योजना चलाई जा रही है। इस योजना में 29 शासकीय और 83 अशासकीय संस्थाओं के माध्यम से 18 वर्ष तक के 3 हजार बच्चों का संरक्षण किया जा रहा है। इनमें 14 से 18 वर्ष के एक हजार बच्चे हैं। समधारा 2020 योजना ऐसे बच्चों को उनकी रूचि अनुसार शिक्षा एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाते हुए समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास है।

आठवी राज्य स्तरीय स्कूली शिक्षा विभाग की टेनिस बाल किक्रेट प्रतियोगिता संपन्न

प्रतियोगिता में खिलाड़ियो द्वारा दिया गया खेल भावना का परिचय सराहनीय – राजेश शर्मा, प्रतियोगिता में सागर संभाग विजेता तथा लोक शिक्षण संचालनालय की टीम रही उप विजेता
उमरिया | 11-फरवरी-2020
    स्कूली शिक्षा विभाग के तत्वाधान में आठवी राज्य स्तरीय टेनिस बाल क्रिकेट प्रतियोगिता का समापन समारोह आज जिला मुख्यालय स्थित अमर शहीद भगत सिंह स्टेडियम उमरिया में आयोजित किया गया । समापन समारोह के मुख्य अतिथि दैनिक बांधवभूमि समाचार पत्र के संपादक राजेश शर्मा ने कहा कि खेल में अनुशासन एवं खिलाडी भावना का परिचय सबसे महत्वपूर्ण होता है। पूरी प्रतियोगिता में सभी नौ टीमों के खिलाड़ियों द्वारा पूर्ण अनुशासन में रहकर भाग लिया गया। जो नवोदित खिलाडियो के लिए प्रेरणा दायक रहा। आपने कहा कि सभी खिलाडी उमरिया जिले की अच्छी यादें अपने साथ लेकर जाएं जो भी कमियां रही हो उन्हें यही छोंड़ जायें।
प्रतियोगिता का शुभारंभ 6 फरवरी को किया गया था। जिसमें प्रदेश के 9 संभागों तथा लोक शिक्षण संचालनालय की क्रिकेट टीम ने भाग लिया। प्रतियोगिता में कुल 180 खिलाडियो ने भाग लेकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया । पांच दिवसीय प्रतियोगिता में सागर संभाग की टीम ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए ट्राफी पर कब्जा किया। उप विजेता लोक शिक्षण संचालनालय की टीम रही। जिला शिक्षा अधिकारी उमेश धुर्वे ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले टीमों उनके खिलाडियो तथा पूरे आयोजन को सफल बनानें में सहयोग देने वाले जनप्रतिनिधियों, शिक्षकों, खिलाडियो, अधिकारियों तथा उमरिया नगर के खेल प्रेमी लोगों के साथ ही संभाग स्तर से आयोजन का संचालन करने आये सभी शासकीय सेवकों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। प्रतियोगिता के आयोजन में संभागीय क्रीडा अधिकारी सुदर्शन मिश्रा एवं जिला क्रीडा अधिकारी शेख सलीम तथा उनके सहयोगियों की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रदेश सरकार की एक वर्ष की उपलब्धियों, निर्णयों तथा क्रियान्वयन पर आधारित छायाचित्र प्रदर्शनी लगायी गई

महात्मा गांधी की 150 वीं जयन्ती वर्ष के अवसर पर उनके द्वारा म.प्र. में की गई यात्राओं पर आधारित प्रदर्शनी भी आकर्षण का केन्द्र रही
उमरिया | 28-जनवरी-2020

     गणतंत्र दिवस के अवसर पर सायं कालीन आयोजित भारत पर्व मे जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रदेश सरकार की योजनाओं, निर्णयों तथा उपलब्धियो पर आधारित छायाचित्र विकास प्रदेर्शनी लगायी गई। जिसमें जय किसान फसल ऋण माफी योजना, युवाओं के लिए बेहतर कल का निर्माण, गुणवत्तापूर्ण स्कूली शिक्षा, महिलाओं को मिल रहा सम्मान और हम, उम्मीदें रंग लाई तरक्की मुस्कराई, आत्म निर्भर और खुशहाल मध्य प्रदेश, हमने हमने अपना वचन निभाया- बदलाव की ओर कदम बढ़ाया, प्रदेश मे रोजगार के द्वार, प्रदेश मे उद्योगों मे निवेश करने पर स्थानीय निवासियो को रोजगार 70 प्रतिशत अनिवार्य, फसल कर्ज माफी तथा शिल्प कला व आकर्षण का केंद्र मध्यप्रदेश पर आधारित छायाचित्र  प्रदर्शनी सामुदायिक भवन उमरिया में लगाई गई,जिसका अवलोकन उपस्थिति अतिथियों द्वारा किया गया।
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयन्ती वर्ष के अवसर पर उनके द्वारा म.प्र. में की गई यात्राओं पर आधारित प्रदर्शनी आकर्षण का केन्द्र रही। प्रदर्शनी में महात्मा गांधी द्वारा इन्दैर, खण्वा, छिन्दवाडा, भोपाल, सिवनी, सांची बालाघाट, होशंगाबाद, मण्डला, जबलपुर, कटनी, खण्डवा, भेडाघाट आदि स्थानों में की गयी यात्राओं के दुर्लभ चित्रों को प्रदर्शित किया गया था। प्रदर्शनी का आयोजन प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग एवं जन सम्पर्क विभाग उमरिया द्वारा किया गया। दोनों प्रदर्शनी का अवलोकन अतिथियों, जन प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों, मीडिया के लोगों तथा विद्यार्थियों द्वारा किया गया।

राज्य सरकार ने शुरू किया आम आदमी के सर्वांगीण विकास का सिलसिला

मंत्री श्री हर्ष यादव ने संवाद कार्यक्रम में दी जानकारी
उमरिया | 21-जनवरी-2020
    कुटीर एवं ग्रामोद्योग तथा नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने शनिवार को प्रभार के जिला रायसेन में संवाद कार्यक्रम में शामिल हुए।  श्री यादव ने कहा कि प्रदेश में नई सरकार ने पिछले एक वर्ष में सभी वर्गो के विकास के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेकर उनका तेजी से क्रियान्वयन सुनिश्चित किया गया। उन्होंने बताया कि लोगों का अपना घर का सपना साकार करने के लिये सरकार ने कलेक्टर गाईड लाईन में जमीन के दामों में 20 प्रतिशत की कमी की। आवास मिशन में प्रति परिवार दो लाख 50 हजार रूपये सहायता देना शुरू किया। भूमिहीनों को आवासीय पट्टे उपलब्ध कराए गये। इंदिरा गृह ज्योति योजना शुरू कर कमजोर वर्ग को हजारों रूपए के बिजली बिल से मुक्ति दिलाई गई। उन्होंने कहा कि कहा कि अब प्रदेश में घरेलू उपभोक्ताओं को 100 रूपए में 100 यूनिट बिजली मिल रही है। साथ ही, किसानों को 10 हार्स पॉवर तक के पम्पों के लिए आधी दर पर बिजली उपलब्ध कराई जा रही है।
प्रभारी मंत्री श्री यादव ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने सत्ता संभालते ही सबसे पहले किसानों का दो लाख रूपए तक का फसल ऋण माफ किया। पहले चरण में 20 लाख से अधिक किसानों का फसल ऋण माफ किया गया। शेष पात्र किसानों का फसल ऋण माफ करने के लिए दूसरा चरण शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि स्कूली शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए पांचवी और आठवीं कक्षा को पुनः बोर्ड परीक्षा में शामिल किया गया। प्रदेश के इतिहास में पहली बार 35 हजार से अधिक शिक्षकों का ऑनलाईन ट्रांसफर किया गया।
मंत्री श्री यादव ने लोगों को बताया कि राज्य सरकार ने वृद्धावस्था पेंशन तथा विधवा पेंशन योजना की राशि बढ़ाकर 600 रूपए प्रतिमाह कर बुजुर्गों को राहत दी है। कन्या विवाह/निकाह योजना में सहायता राशि 28 हजार से बढ़ाकर 51 हजार रूपये की गई। महिलाओं और युवतियों को निःशुल्क ड्राईविंग लायसेंस देने का सिलसिला शुरू किया गया। युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर दिलाने के लिए प्रदेश में स्थापित होने वाले उद्योगों में 70 प्रतिशत नौकरियाँ स्थानीय लोगों को देने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा श्री रमाकांत शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त

उमरिया | 14-जनवरी-2020

    मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने श्री रमाकांत शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्री कमल नाथ ने कहा कि मेरे मंत्रि-मंडल के साथी श्री पी.सी. शर्मा के बड़े भाई श्री रमाकांत शर्मा के निधन का समाचार सुनकर मुझे गहरा दुरूख हुआ है। मुख्यमंत्री  ने शर्मा परिवार के प्रति शोक संवेदनाएं व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा को शांति तथा परिवार को यह दुरूख सहन करने की शक्ति देने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

प्रभारी नगर पालिका अधिकारी चंदिया विनोद प्रसाद चतुर्वेदी निलंबित

उमरिया | 07-जनवरी-2020

कमिश्नर शहडोल संभाग श्री आर.बी. प्रजापति ने प्रभारी नगर पालिका अधिकारी चंदिया जिला उमरिया को नगरपालिका सेवा नियम 1973 के नियम 2(घ-दो) एवं नियम 36 तथा मध्यप्रदेश नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 86(2) के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए मध्यप्रदेश सविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9(1) के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में नियमानुसार उन्हें जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।
जारी आदेश मे उल्लेखित किया गया है कि श्री विनोद प्रसाद चतुर्वेदी द्वारा नगर परिषद चंदियॉ जिला उमरिया मंे नगरीय क्षेत्रान्तर्गत भरोसा तालाब, भास्कर तालाब, छोहाई तालाब, जटवार तालाबों के गहरीकरण एवं सौदर्यीकरण कार्य में प्रशासकीय एवं वित्तीय अनियमितता एवं वार्ड नम्बर 6 में नाली निर्माण, वार्ड नम्बर 12 में सीसीरोड़ निर्माण में तकनीकी एवं वित्तीय अनियमितता की गई है। जिससे 24 लाख 46 हजार 727 रूपये की शासन को आर्थिक क्षति पहुचाई गई है। उक्त कृत्य मध्यप्रदेश नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 92 एवं मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियम के 1965 के नियम 3 का स्पष्ट उल्लंघन है।

वनाधिकार पट्टों के लियें आवश्यक दस्तावेज

उमरिया | 28-दिसम्बर-2019
   राज्य सरकार द्वारा वनाधिकार पट्टों के लिये आवश्यक दस्तावेजों का निर्धारण किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार द्वारा वनाधिकार पट्टों के लियें आधार कार्ड, वोटर आई डी, मूल निवासी प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, दावेदार का फोटो, पति-पत्नि का फोटो और भरा हुआ हस्ताक्षरित व्यक्तिगत दावा प्रपत्र, समग्र आई आदि दस्तावेज आवश्यक है।

विजय दिवस पर दौड़ कार्यक्रम संपन्न

उमरिया | 17-दिसम्बर-2019

जिला मुख्यालय स्थित अमर शहीद स्टेडियम ग्राउण्ड से विजय दिवस के अवसर पर दौड़ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अमर शहीद स्टेडियम ग्राउण्ड से दौड प्रारंभ हुई जो गांधी चौक, जय स्तंभ चौक , अस्पताल तिराहा होते हुए पुनः स्टेडियम ग्राउण्ड पहुची। दौड को मुख्य नगर पालिका अधिकारी एस के गढपाले ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर जिला खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी रावेंद्र हाड्रिया सहित अन्य शासकीय अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे। विदित हो कि कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन हेतु अधिकारियों कर्मचारियो की ड्युटी लगाई गई थी।
कार्यक्रम में सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण आनंद राय सिन्हां ने बच्चों से परिचय प्राप्त किया एवं विजय दिवस के बारे में विस्तार से बताया।

राइट टू हेल्थ कॉन्क्लेव एक-दो नवम्बर को भोपाल में

उमरिया | 25-अक्तूबर-2019

 एक और दो नवम्बर को मिन्टो हॉल भोपाल में राइट टू हेल्थ कॉन्क्लेव होने जा रहा है। दो दिन के कॉन्क्लेव में स्वास्थ्य एवं समाज सेवा से जुडे देश भर के प्रबुद्ध व्यक्ति शामिल होंगे। मध्यप्रदेश सरकार स्वास्थ्य के अधिकार का कानून बनाकर नागरिकों के अधिकारों की एक व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिये कटिबद्ध है।
राइट टू हेल्थ कॉन्क्लेव में प्राप्त सुझावों एवं निष्कर्षों के आधार पर कानून तैयार करने के लिये ड्राफ्ट तैयार किया जायेगा।

मध्यप्रदेश का निवेश – इतिहास बदल जाएगा- मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ

उमरिया | 22-अक्तूबर-2019

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश सभी राज्यों से भिन्न है। ये प्राकृतिक और लॉजिस्टिक रूप से उद्योगों के लिए काफी अनुकूल है। आज इंदौर में विभिन्न राज्यों से आए निवेशक मध्यप्रदेश की विशेषताओं और उद्योगों के अनुकूल नीतियों को जानकर काफी आशान्वित हुए हैं। मेरा विश्वास है कि अब मध्यप्रदेश का निवेश – इतिहास बदल जाएगा। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने इंदौर के ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में मैग्नीफिसेंट एमपी के समापन पर सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के पश्चात संबोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर कलाकारों की प्रस्तुतियों ने उद्योगपतियों और आमंत्रित अतिथियों का मन मोह लिया। मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहन्ती सहित वरिष्ठ अधिकारी कार्यक्रम में उपस्थित थे। सीआईआई के अध्यक्ष श्री प्रवीण अग्रवाल ने आभार माना।

मुख्यमंत्री ने सुनी आम लोगों की समस्याएँ

उमरिया | 15-अक्तूबर-2019

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने गत दिवस छिन्दवाड़ा में शिकारपुर स्थित अपने कार्यालय में आम लोगों की समस्याएँ सुनी और आवेदन भी लिये। जिले के दूरदराज के लोग बड़ी संख्या में अपनी समस्याओं के निराकरण के लिये मुख्यमंत्री से मिलने पहुँचे।
सहज योग केन्द्र पहुँचे श्री कमल नाथ
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शनिवार को देर शाम छिन्दवाड़ा जिले में लिंगा स्थित माँ निर्मला देवी के सहज योग केन्द्र का भ्रमण किया। केन्द्र के संचालकों ने मुख्यमंत्री को केन्द्र के बारे में आवश्यक जानकारी दी।
जिले के प्रभारी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे, सांसद श्री नकुल नाथ और पूर्व विधायक श्री दीपक सक्सेना मुख्यमंत्री की आम लोगों से मुलाकात और सहज योग केन्द्र के भ्रमण में साथ रहे।

पहाड़ों से घिरा छोटी तुम्मी-बड़ी तुम्मी का चित्रकारी युक्त दृश्य (खुशियो की दास्तां)

उमरिया | 01 अक्टूबर -2019

जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर घने पहाड़ों के बीच स्थित पिकनिक स्पॉट छोटी तुम्मी और उसके आगे बड़ी तुम्मी प्राकृतिक सौंदर्यता से भरपूर है। यहां आने के बाद ऐसा लगता है जैसे व्यक्ति किसी चित्रकारी का हिस्सा हो गया हो। पूरा परिवेश किसी विशाल पोट्रेट जैसा ही है। छोटी तुम्मी अनूपपुर तो बड़ी तुम्मी क्षेत्र उमरिया जिले की सीमा में लगता है। यहां पर टाइगर का मूवमेंट भी रहता हैं, इस लिहाज से यहां पर सुरक्षा के इंतजामों की आवश्यकता भी है। यह क्षेत्र पिकनिक स्पॉट के लिए प्रसिद्ध हो चुका है और यहां प्रतिदिन लोग पहुंचते हैं। जंगल से घिरे इस क्षेत्र में दूर बहते नाले के पानी की आवाज संगीत की तरह घुली रहती है। यहां आने वालों को जंगली जानवरों के दीदर अवश्य होते हैं और यह एक रोमांचक यात्रा के लिए मशहूर क्षेत्र है।

मध्यप्रदेश ऑनलाइन सम्पत्ति सेवाएँ प्रदान करने में अव्वल

उमरिया | 24-सितम्बर-2019

प्रदेश में ऑनलाइन सम्पत्ति पंजीयन एवं अन्य सेवाओं में सराहनीय कार्य के लिये पंजीयन महानिरीक्षक के सम्पदा पोर्टल को उपभोक्ताओं ने देश भर में सर्वाधिक अंक दिये हैं। पंजीयन मुख्यालय ने दस्तावेजों का ऑनलाइन पंजीयन, दस्तावेजों की ऑनलाइन सर्च, दस्तावेजों की ऑनलाईन प्रमाणित प्रति का प्रदाय इत्यादि सेवाओं के लिये शत-प्रतिशत अंक हासिल किये हैं।
स्टेट बिजनेस रिफॉर्मस एक्शन प्लान 2017 और 2018 के लिए ईजी ऑफ डूइंग बिजनेस के अन्तर्गत कई राज्यों के तुलनात्मक विश्लेषण से यह जानकारी प्राप्त हुई है। ऑनलाइन सेवाओं के उच्चतम मापदण्डों के लिए भारत सरकार द्वारा स्टेट बिजनेस रिफॉर्मस एक्शन प्लान क्रियान्वित किया जा रहा है। वर्तमान में नये मानकों पर वर्ष 2019 के लिए स्टेट बिजनेस रिफॉर्मस-एक्शन प्लान का अवलोकन हो रहा है। इसमें संपूर्ण अंक उपभोक्ताओं के फीडबेक पर आधारित होंगे। वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने इस उपलब्धि के लिये पंजीयन अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई दी है। श्री राठौर ने उम्मीद जताई है कि वर्ष 2019 में भी वाणिज्यिक कर विभाग का महानिरीक्षक पंजीयन कार्यालय उच्च मानकों पर खरा उतरेगा।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा पूरे भारत में मतदाता सत्यापन कार्यक्रम 15 अक्टूबर तक

उमरिया | 17-सितम्बर-2019

आयोग ने प्रदेश के समस्त मतदाताओं के सत्यापन की समय-सीमा 15 अक्टूबर के पूर्व सम्पन्न किये जाने हेतु कहा है। विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2020 के प्रारूप प्रकाशन के पूर्व जिले के समस्त मतदाताओं के सत्यापन का कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण कराया जाना है, जिसके आधार पर जिले में प्रारूप प्रकाशन की अनुमति आयोग से प्राप्त होगी। मतदाता सत्यापन कार्य को समय-सीमा में पूर्ण करने के लिये जिले के सभी विधान सभा क्षेत्रों की समीक्षा की जायेगी।
मतदाता सहायता केन्द्र पर जो भी मतदाता सत्यापन, संशोधन के लिये आएंगे उनका सत्यापन उस विधानसभा क्षेत्र के डाटा एन्ट्री आपरेटर लॉगिन से किया जाएगा। प्रत्येक मतदान केन्द्र हेतु नियुक्त बीएलओ Hybrid BLO Register App द्वारा डोर टू डोर भ्रमण के दौरान क्षेत्र के समस्त मतदाताओं एवं उनके परिवार से व्यक्तिगत सम्पर्क कर सत्यापन का कार्य एवं उनके मकान की लोकेशन को दर्ज करना सुनिश्चित करेंगे।
मतदाता सत्यापन मतदाता द्वारा स्वयं वोटर हेल्पलाईन एप्प के माध्यम से, NVSP पोर्टल के माध्यम से, कॉमन सर्विस सेन्टर के माध्यम से, जिला कान्टेक्ट सेन्टर 1950 के माध्यम से, विधानसभा स्तर पर मतदाता सहायता केन्द्र के माध्यम से संचालित किया जा सकता है।

अवकाश के दिनों में भी अपने घर में विद्यार्थियों को पढ़ाते है शिक्षक सुनील मिश्रा “खुशियो की दास्तां”

उमरिया | 06-सितम्बर-2019

शिक्षक का पद उदत्त होता है। वह सदैव अपने विद्यार्थियो को अपनी ज्ञान गंगा देता है तथा उसकी चाहत होती है कि उसके द्वारा पढाए गए विद्यार्थी उच्च पदों पर आसीन हो। बस इतनी ही जानकारी से वह अपनी मेहनत का फल प्राप्त कर लेता है।
आज जब शिक्षा के संबंध में अनेकों तरह की बाते समाज एवं देश में उठ रही है तब उमरिया जिले के करकेली जनपद पंचायत मे संचालित प्राथमिक शाला सेहराटोला में पदस्थ शिक्षक सुनील मिश्रा ने अपने गुरूतर दायित्व को इस तरह से निभा रहे है जिसका अनुकरण पूरे समाज के लिए सराहनीय है। शिक्षक सुनील मिश्रा छुट्टी के दिनो में कमजोर विद्यार्थियों को घर बुलाते है तथा वे स्वयं एवं उनकी बेटी इन विद्यार्थियों के शैक्षणिक स्तर को बढाने हेतु प्रयास करते है।
शिक्षक सुनील मिश्रा ने बताया कि हमारी स्कूल में दो कक्ष एवं तीन शिक्षक है। एक कक्ष में दो शिक्षकों को पढाना पडता है। पढाई के दौरान मेरे ध्यान मे आया कि कक्षा तीन बच्चे जिनकी पढाई में कम रूचि है वे पढने की जगह इधर उधर की गतिविधियां करते रहते है। इन विद्यार्थियों को अन्य विद्यार्थियों की श्रेणी मे लाने हेतु विशेष प्रयास की आवश्यकता है। बस इसी सोच के साथ इन विद्यार्थियो को छुट्टी के दिनो में घर बुलाकर अध्ययन कराना प्रारंभ किया। अब ये बच्चे भी अन्य बच्चों की तरह मन लगाकर पढाई करने लगे है।

“स्वाधीनता आन्दोलन” प्रदर्शनी अब 31 अगस्त तक

उमरिया | 31-अगस्त-2019

संचालनालय पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय द्वारा राज्य संग्रहालय, श्यामला हिल्स भोपाल में “स्वाधीनता आन्दोलन 1920-1947” विषय से संबंधित दुर्लभ अभिलेखों एवं छायाचित्रों की प्रदर्शनी की अवधि 31 अगस्त तक बढ़ाई गई है। प्रदर्शनी 31 अगस्त तक प्रातरू 10:30 से सायंकाल 5.30 बजे तक खुली रहेगी। प्रवेश नि:शुल्क है।

 

ग्रामीण अंचलों में अधोसंरचना विकास के लिये 7,828 करोड़ 

ग्राम पंचायतों के माध्यम से होंगे कार्य – मंत्री श्री पटेल 

उमरिया | 23-अगस्त-2019

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधोसंरचना विकास के लिए इस वर्ष 7 हजार 828 करोड़ की राशि उपलब्ध कराई जाएगी। यह राशि गत वर्ष की तुलना में एक हजार 49 करोड़ अधिक है। उन्होंने बताया कि यह राशि ग्राम पंचायतों के माध्यम से व्यय की जाएगी।
मंत्री श्री पटेल ने कहा कि पंचायत राज अधिनियम के प्रावधानों में पंचायत संस्थाओं को पुनरू सशक्त बनाने का निर्णय लिया गया है। इसी कड़ी में पंचायत राज प्रतिनिधियों को अधिकार-सम्पन्न बनाया गया है। निर्वाचित पदाधिकारियों के विकल्प पर राज्य वित्त आयोग की राशि में भी इजाफा किया गया है। इसके लिए वर्ष 2018-19 में 406 करोड़ 40 लाख का प्रावधान किया गया था। चालू वित्त वर्ष में यह राशि बढ़ाकर 552 करोड़ 50 लाख कर दी गई है।

स्वच्छ भारत ग्रामीण मिशन के लिये एक हजार करोड़ का प्रावधान 

ढाई हजार ग्रामों में होगा ठोस अपशिष्ट प्रबंधन
उमरिया |

09-अगस्त-2019

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा है कि स्वच्छ भारत ग्रामीण मिशन में इस वर्ष प्रदेश के ढाई हजार गांव में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन कार्य प्रारंभ किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मिशन के लिये बजट में एक हजार करोड़ का प्रावधान किया है।
मंत्री श्री पटेल ने कहा कि वर्ष 2018-19 में प्रदेश में 7 लाख 49 हजार 400 शौचालयों का निर्माण कर 25 हजार 612 ग्रामों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया है। अभियान में 392 ग्रामीण उप-स्वास्थ्य केन्द्रों में सामुदायिक स्वच्छता परिसरों का निर्माण कराया गया है। उन्होंने बताया कि खुले में शौच से मुक्त घोषित हो चुकी पंचायतों में ठोस एवं तरल अपशिष्टों के निपटान के लिये वित्तीय प्रावधान किये गये हैं। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि मिशन में 150 परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 7 लाख, 300 परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 12 लाख, 500 परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 15 लाख एवं 500 से अधिक परिवार वाली ग्राम पंचायतों को 20 लाख रूपये व्यय का प्रावधान किया गया है।