Thursday, September 23News That Matters

कटनी

जनवरी 2022 से प्लास्टिक की छ: वस्तुएँ होगी प्रतिबंधित
कटनी | 20-अगस्त-2021

     भारत सरकार द्वारा प्लास्टिक अपशिष्ट प्रंबधन (संशोधन) नियम 2021 जारी कर देश में दो चरणों में सिंगल यूज प्लास्टिक की कुछ सामग्री प्रतिबंधित करने के लिए समय-सीमा निर्धारित की गई है। इसमें एक जनवरी 2022 से 6 वस्तुएँ प्लास्टिक स्टिकयुक्त ईयरबड्स, गुब्बारों के लिए प्लास्टिक की डंडियाँ और थार्मोकोल की सजावटी सामग्री प्रतिबंधित करने का प्रावधान किया गया है। राज्य शासन द्वारा गठित राज्य स्तरीय स्पेशल टॉस्क फोर्स की इस सिलसिले में हुई पहली बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

अपर मुख्य सचिव पर्यावरण श्री मलय श्रीवास्तव ने बताया कि भारत सरकार द्वारा भेजे गए ड्राफ्ट नोटिफिकेशन के दूसरे चरण में एक जुलाई 2022 से 11 सिंगल यूज़ प्लास्टिक वस्तुएँ प्रतिबंधित करने का प्रावधान है। ये वस्तुएँ हैं- प्लास्टिक से बनी प्लेटें, कप, गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू, स्ट्रॉ, ट्रे, स्टिर्रस, मिठाई के डिब्बों, निमंत्रण कार्ड, सिगरेट के पैकेट को लपेटने, पैकिंग करने के उपयोग में आने वाली प्लास्टिक फिल्म और प्लास्टिक/पीव्हीसी के 100 माईक्रोन से कम मोटाई के बैनर। प्रतिबंध लागू होने के बाद प्रभावित होने वाले लघु उद्योगों को चिन्हित कर उनको वैकल्पिक रोजगार से जोडने के लिए औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग द्वारा कार्य योजना बनाई जा रही है।

राज्य स्तरीय स्पेशल टॉस्क फोर्स ने सिंगल यूज प्लास्टिक की वस्तुओं के उपयोग से उत्पन्न होने वाले प्लास्टिक कचरे के प्रबंधन के लिए कार्ययोजना तैयार कर केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय को प्रस्ताव भेजने का भी निर्णय लिया। साथ ही प्लास्टिक केरी बैग्स के राज्य में प्रतिबंध को प्रभावी ढ़ंग से लागू करने का निर्णय लिया। टास्क फोर्स की बैठक में उल्लंघनकर्ताओं पर स्पॉट फाइन, पेनॉल्टी, प्लास्टिक के प्रयोग से होने वाले दुष्परिणामों से आम नागरिकों को भलीभांति अवगत कराने पर भी विमर्श हुआ। जन-जाग्रति के लिए विभिन्न विभाग कार्ययोजना बना रहे है।

भीड़-भाड़ से बचेंआदत में बदलाव से ही कोरोना से बचाव

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस-2021
कटनी | 18-जून-2021

      21 जून, 2021 को 7वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में ””””””””Be With Yoga Be at Home”””””””” थीम के साथ योगाभ्यास का आयोजन किया जाना है। वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण के दौरान विगत वर्ष 2020 की भॉति घर पर ही रहकर विश्व योग दिवस मनाया जा रहा है। योग से अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये और योग को आम जनता की दिनचर्या में शामिल करने के उद्देश्य से मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान, नई दिल्ली द्वारा निर्धारित प्रोटोटाइप के अनुसार विश्व योग दिवस में अपने-अपने घरों से सामूहिक योगाभ्यास किया जायेगा।
कोविड-19 और अन्य बीमारी के संक्रमण से बचाव के लिये तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में योग की विशेष भूमिका है। लॉकडाउन के चलते जब सभी लोग घरों में सीमित रह गये और शारीरिक क्रिया-कलाप कम हो गये, जिसका प्रतिकूल प्रभाव शारीरिक और मानसिक स्तर पर पड़ा। साथ ही, जो लोग संक्रमित हो गये थे, उन्हें संक्रमण से और संक्रमण के पश्चात होने वाले अन्य प्रतिकूल प्रभाव से बचाव में आयुष विभाग द्वारा योग से निरोग कार्यक्रम होम आइसोलेटेड मरीजों के लिये प्रारंभ किया, जिसके सार्थक परिणाम रहे हैं। इसी क्रम में योग से निरोग कार्यक्रम से पोस्ट कोविड और अन्य रोगियों को भी जोड़े जाने के लिये कार्यक्रम को निरंतर लागू किया जा रहा है।
विश्व योग दिवस के दिन सुबह 7 बजे से 7.45 बजे तक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सहयोग से उचित आसन और प्राणायाम कर विश्व योग दिवस को सफल बनाने की अपील की गयी है।
दिनांक 21 जून को आयुष विभाग भारत सरकार द्वारा जारी योग प्रोटोकॉल के अनुसार सभी विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी, इण्डियन योग एसोसिएशन, पतंजलि योगपीठ एवं आर्ट ऑफ लिविंग के सदस्य अपने घर से ही योगाभ्यास करेंगे। इसका प्रसारण वेबएक्स एप, यू-ट्यूब, ट्वीटर के माध्यम से किया जायेगा।

सोमवार को 4694 लाभार्थियों को लगाया गया कोविड-19 वैक्सीन

18 से 44 आयुवर्ग के 4026 लाभार्थियों ने भी कराया वेक्सीनेशन, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. सिंघई ने दी जानकारी
कटनी | 08-जून-2021

सोमवार को जिले में निर्धारित टीकाकरण केन्द्रों में कोविड-19 का वेक्सीनेशन कार्य किया गया। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. समीर सिंघई ने बताया कि कटनी जिले में 7 जून को कुल 4694 लाभार्थियों का वेक्सीनेशन किया गया है। 45 वर्ष व उससे अधिक आयु के 518 व्यक्तियों को फर्स्ट डोज तथा 32 को सेकेण्ड डोज का वेक्सीन लगाया गया है। इसके साथ ही 3 हेल्थकेयर वर्कर्स को सेकेण्ड डोज का टीका लगाया गया है। वहीं हेल्थकेयर वर्कर्स में 4 को दूसरे डोज का वेक्सीनेशन किया गया है।
इसी प्रकार सीनियर सिटिजन्स में 60 वर्ष व उससे अधिक आयु वर्ग के 65 लाभार्थियों को फर्स्ट डोज एवं 46 लाभार्थियों को सेकेण्ड डोज का कोविड-19 का वेक्सीनेशन किया गया है।
वहीं जिले में 18 से 44 आयुवर्ग के 4026 लाभार्थियों का वेक्सीनेशन किया गया है। जिसमें 3940 को कोविड-19 वेक्सीन का फर्स्ट डोज और 86 को सेकेण्ड डोज भी लगाया गया है।

कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने नगरीय क्षेत्र के समस्त वार्डो में किया कोरोना वार्ड समिति का गठन

कटनी | 20-अप्रैल-2021

     कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट प्रियंक मिश्रा द्वारा कोरोना के बढते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक में सर्वसम्मति से लिए गए निर्णय अनुसार कोरोना कर्फ्यू लॉकडाउन अवधि में आम नागरिकों के स्वास्थ्य एवं सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए आवश्यक सहयोग /मार्गदर्शन प्रदान करने हेतु नगर पालिक निगम कटनी सीमान्तर्गत समस्त 45 वार्डो में कोरोना वार्ड समिति का गठन किया गया है।

कोरोना वार्ड समिति के प्रभारी निवर्तमान वार्ड पार्षद रहेगें। समिति के द्वारा अपनें वार्ड /मोहल्ले में आवश्यक वस्तुओं या सामग्री का आंकलन करना होगा। आवश्यक वस्तुओं को बाजार से उपलब्ध रकानें हेतु प्रभारी द्वारा ऐसे वालेंटियर या स्वयंसेवी को नियुक्त करना होगा जो कि पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हो तथा उनका टीकाकरण हो गया हो, या फिर वे पूर्व में कोरोना से संक्रमित होकर स्वस्थ्य हो चुके हो। कोरोना वार्ड समिति में केवल ऐसे वालेंटियर या स्वयं सेवी को जोडा जावे जो अपनी स्वेच्छा से सेवा करना चाहते है अथवा जिनके द्वारा पूर्व में भी जनसेवा का कार्य किया गया हो।

समितिवार्ड या मोहल्ले में फल सब्जी दूघ दवाईयॉ आदि आवश्यक सामग्री के विक्रय की व्यवस्था करनी होगी। वार्ड के निवासियों को वेक्सीनेशन एवं कोविड के लक्षण पाये जाने पर नजदीकी फीवर क्लीनिक मे सेंपलिंग करानें हेतु प्रेरित करते हुए आवश्यक सहयोग करना। वार्ड प्रभारी का यह दायित्व होगा कि समिति में अधिकतम 10 से 15 सदस्यों का गठन करें जो निःशुल्क सेवा भाव के साथ जनसेवा का कार्य करेगें तथा सभी को कोविड -19 के निर्देशों और गाईडलाईन का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। कोविड पाजिटिव वाले घरों के आसपास सेनेटाईजेशन कराना तथा कोविड के संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा हेतु आवश्यक जनजागरूकता की कार्यवाही करना होगा।

जिले में 22 मार्च से प्रारंभ होगा समर्थन मूल्य पर चना, मसूर एवं सरसों का उपार्जन

कटनी | 13-अप्रैल-2021

मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार कृषकों को उनकी फसल के उत्पादन का उचित मूल्य दिलाने हेतु मिछले वर्षों की तरह इस वर्ष भी समर्थन मूल्य पर चना मसूर एवं सरसों का उपार्जन 22 मार्च से 15 मई तक किया जायेगा। इस संबंध में उप संचालक किसान कल्याण ए.के. राठौर ने जानकारी देते हुये बताया कि उपार्जन के लिये जिले में सात उपार्जन केन्द्र की स्थापना की गयी है। जिले के पंजीकृत किसानों को मोबाईल पर एस.एम.एस के साध्यन से उपार्जन करने की जानकारी मिलेगी। पंजीकृत किसान को एस. एम एस. प्राप्त होने के बाद निर्धारित खरीदी केन्द्रों पर अपनी फसल का विक्रय करने के लिये पहुंचने को कहा गया है। चने के साथ तेवडा (केसरी) के दाने मिश्रत होने से चना की गुणवत्ता खराब होती है, जिससे उपार्जन ने कठिनाई आती है। अतः किसान भाईयों से अपील की गई है कि वे तेवड़ा मुक्त चना उपार्जन केन्द्रों में ले जाये।

पर्यावरण मित्र मुख्यमंत्री – शिवराज सिंह चौहान – 5 मार्च 2021/ जन्म-दिवस पर विशेष

कटनी | 05-मार्च-2021
   राज्य का मुखिया यदि प्रकृति प्रेमी हो तो उसकी कार्यशैली में संवेदनशीलता स्पष्ट दिखती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के व्यक्तित्व का सकारात्मक पक्ष यह है कि वे प्रकृति में अगाध श्रद्धा रखते हैं। रोज एक पौधा लगाने का संकल्प, नर्मदा की पवित्रता बचाने का संकल्प और हरियाली को सम्हालने का संकल्प इसके उत्कृष्ट उदाहरण हैं।
जननेता का सबसे बड़ा गुण यही है कि वह लोक शक्ति में अटूट विश्वास करता है। लोक शक्ति एक अमूर्त वस्तु है। लोकतंत्र में इसका प्रदर्शनकारी स्वरूप समय-समय पर प्रकट और अभिव्यक्त होता रहता है। कभी शहर बंद हो जाते हैं, कभी यातायात रूक जाता है। इसके विपरीत विशाल देश के किसी भू-भाग पर चंद लोग मिलकर मृत नदी को जीवित कर देते हैं। बंजर भूमि पर हरियाली बिछा देते हैं। रचनात्मक और नकारात्मक दोनों स्वरूप देखने को मिलते हैं। शिवराजसिंह चौहान ने जो निर्णय लिये उनमें स्पष्ट रूप से यह रेखांकित होता है कि वे पर्यावरण के लिये जनशक्ति का रचनात्मक उपयोग करना चाहते हैं। मुख्यमंत्री के रूप में जनता की सोच, समझ, विवेक और सामर्थ्य पर अटूट विश्वास रखने वाले प्रकृति की आराधना करने वाले शिवराज सिंह को जन्म दिन की बधाइयाँ।

नर्मदा से एकाकार

नर्मदा मैया की सेवा का जो संकल्प शिवराज जी ने लिया है वह नमनयोग्य है। यह जीवन और समाज को बचाने का संकल्प है। हर नर्मदा सेवक पर बड़ी जिम्मेदारी है। हमारा जीवन तभी बचेगा जब हमारी नर्मदा मैया में भरपूर पानी होगा। भरपूर हरियाली होगी। उनकी नर्मदा सेवा यात्रा कई अर्थों में अपूर्व अनुभव था। यह आस्था, विश्वास और संकल्प की यात्रा थी जिसकी झलक पूरे विश्व ने देखी। मुख्यमंत्री के लिये दरअसल नर्मदा मैया की सेवा का यह मिशन सामाजिक, पर्यावरणीय और आध्यात्मिक मिशन है। नर्मदा सेवा यात्रा ने पूरे देश में नदियों के प्रति कर्त्तव्य बोध जाग्रत किया। नदियों की सेवा के संकल्प से गहन जल चेतना भी उत्पन्न हुई और आज भी उससे सभी नागरिक विस्मृत नहीं हुए है।

पर्यावरण अनुकूल विकास

मुख्यमंत्री श्री चौहान शुक्रवार को करेंगे 99 दीनदयाल रसोई केन्द्रों का शुभारंभ

शहर में पुराने आरटीओ भवन के पास चौपाटी में आयोजित होगा कार्यक्रम, निगम आयुक्त ने अधिकारियों को कार्यक्रम आयोजन की सौंपी जिम्मेदारी
कटनी | 26-फरवरी-2021

      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को दोपहर 3 बजे मिंटो हाल में दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना के द्वितीय चरण में सुदृढ़ीकृत एवं नवीन 99 रसोई केन्द्रों का वर्चुअल शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान इंदौर, उज्जैन, मुरैना, धार और छतरपुर जिले के रसोई केन्द्रों पर उपस्थित लाभार्थियों से संवाद भी करेंगे। रसोई केन्द्र 52 जिला मुख्यालय और 6 धार्मिक नगर मैहर, ओंकारेश्वर, महेश्वर, अमरकंटक, ओरछा और चित्रकूट में संचालित होंगे।
कटनी में भी कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाया जायेगा। शहर के भी रसोई केन्द्र का शुभारंभ वर्चुअली मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा किया जायेगा। निगमायुक्त सत्येन्द्र सिंह धाकरे ने बताया कि स्थानीय स्तर पर शुक्रवार को दोपहर 2:00 बजे दीनदयाल अन्तयोदय रसोई योजना (द्वितीय चरण) के लोकार्पण तथा सीधा प्रसारण कार्यक्रम स्थल, पुराना आर.टी.ओ आफिस चौपाटी के पास आयोजित होगा। इस कार्यक्रम के आयोजन की संपूर्ण व्यवस्थाओं का दायित्व प्रभारी अधिकारी प्र.कार्यपालन यंत्री राकेश शर्मा को सौंपा गया है। साथ ही अन्य समस्त आवश्यक व्यवस्थाओं हेतु निगम की संबंधित शाखाओं के अधिकारियों कर्मचारियों की डयूटी लगाई है। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण क्षेत्रीय टी.व्ही. न्यूज चैनलों और सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर भी किया जायेगा।

जिला रिसोर्स पर्सन के लिये आवेदन 28 फरवरी तक

कटनी | 19-फरवरी-2021

   आत्मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना में जिले के हितग्राहियों को सुविधा की दृष्टि से सहायता प्रदान करने हेतु जिला रिसोर्स पर्सन के चयन हेतु आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। इसके लिये आवेदन 28 फरवरी तक कार्यालय परियोजना अधिकारी उद्यान में प्रातः 11 बजे से सांय 5 बजे तक ऑफलाईन जमा किये जा सकते हैं।
परियोजना अधिकारी उद्यान सूर्यभान सिंह ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन के उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के निर्देशों के तहत प्रधानमंत्री खाद्य उद्योग उन्नयन योजना अन्तर्गत जिला स्तरीय अनुमोदन समिति की गठन किया गया है। जिलास्तर पर लाभार्थियों को हैण्ड होल्डिंग सहायता उपलब्ध कराने के लिये रिसोर्स पर्सन का फैसिलेटर के रुप में चयन किया जाना है।
रिसोर्स पर्सन के लिये योग्यताओं का निर्धारण किया गया है। जिसके अनुसार ख्याति प्राप्त राष्ट्रीय या अर्न्तराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, संस्थान से खाद्य प्रौद्योगिकी, खाद्य इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या डिग्री अनुभव, बिना अनुभव व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं। ख्याति प्राप्त राष्ट्रीय या अर्न्तराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, संस्थान से कृषि में डिग्री तथा खाद्य प्रौद्योगिकी एवं डीपीआर तैयार करने में अनुभवी व्यक्ति द्वारा भी आवेदन किया जा सकता है।
रिसोर्स पर्सन एकल उद्योगों एवं समूहों को डीपीआर तैयार करने, बैंक से ऋण लेने, एफएसएसएआई के खाद्य मानकों, उद्योग आधार, जीएसटी आदि सहित आवश्यक पंजीकरण एवं लाईसेन्स प्राप्त करने में सहायता जैसी हैण्ड होल्डिंग सेवायें प्रदान करेंगे। वहीं प्रत्येक लाभार्थी को उपलब्ध कराई गई सहायता के आधार पर रिसोर्स पर्सन का भुगतान प्रति बैंक ऋण स्वीकृति के 20 हजार रुपये की दर किया जायेगा। 50 प्रतिशत का भुगतान बैंक ऋण की स्वीकृति के पश्चात एवं शेष 50 प्रतिशत का भुगतान उद्योग को जीएसटी एवं उद्योग आधार पंजीकरण प्राप्त होने तथा एफएसएसएआई मानकों के अनुपालन, परियोजना के इम्प्लीमेन्टेशन तथा ट्रेनिंग प्रदान करने बाद किया जायेगा।

शुक्रवार को 328 लाभार्थियों को लगाया गया कोविड-19 वैक्सीन

सिविल सर्जन डॉ. वर्मा ने दी जानकारी
कटनी | 13-फरवरी-2021

      शुक्रवार को कटनी जिले में कोविड-19 टीकाकरण कटनी जिला चिकित्सालय में किया गया। सिविल सर्जन डॉ. यशवंत वर्मा ने बताया कि कटनी जिले में 12 फरवरी को कोविड-19 वैक्सीनेशन के तहत 328 फ्रंट लाईन वॉरियर्स को कोविड-19 की वैक्सीन लगाई गई है।

अमानक खाद्य पदार्थों के निर्माण एवं विक्रय पर 6 प्रकरणों में जुर्माना अधिरोपित

30 दिवस के भीतर राशि चालान के माध्यम से जमा कराने के दिये आदेश
कटनी | 05-फरवरी-2021

      कलेक्टर प्रियंक मिश्रा के निर्देशानुसार जिले में मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटी खाद्य पदार्थो के निर्माण, विक्रय, भण्डारण के विरुद्ध सघन अभियान संचालित है। इस अभियान के अंतर्गत खाद्य सुरक्षा प्रशासन द्वारा न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत 6 प्रकरणों में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी एवं न्याय निर्णायक अधिकारी जगदीश चन्द्र गोमे द्वारा आदेश पारित किया गया है। जिसमें संबंधित आरोपियों के विरुद्ध दो लाख पांच हजार रुपये का जुर्माना अधिरोपित करते हुये 30 दिवस के भीतर राशि चालान के माध्यम से जमा करने के आदेश भी दिये गये हैं।

अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री गोमे द्वारा मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत निर्णित प्रकरणों में न्यू कोजी स्वीट्स, मिशन चौक के मालिक कैलाश देवानी पर मिथ्याछाप मावा बफऱ्ी तथा खोवा पेड़ा बनाने एवं विक्रय करने के आरोप में रुपये 50 हजार का जुर्माना लगाया गया है। इसी प्रकार मेसर्स दशरथ प्रसाद गुप्ता किराना मर्चेंट, झण्डा बाजार के मालिक कमलेश गुप्ता पर मिथ्याछाप मुनक्का विक्रय करने के आरोप में रुपये 40 हजार, लालचन्द पंजवानी मालिक मे. रमेशलाल गुरदीनोमल, माधवनगर पर अमानक खोवा का निर्माण एवं विक्रय करने के आरोप में रुपये 35 हजार, रीतेश जैन मालिक बाहुबली खोवा भंडार, सिल्वर टॉकीज पर अमानक खोवा विक्रय करने के आरोप में रुपये 30 हजार, जगदीश चांदवानी मालिक न्यू सुमित किराना, सुक्खन चौक, कटनी के विरुद्ध मिथ्याछाप गरम मसाला एवं खुले मसाले का विक्रय करने के आरोप में रुपये 30 हजार तथा विपुल श्रीवास्तव संचालक जायसवाल ढाबा, सतना रोड पर अमानक पनीर का उपयोग करने एवं बिना खाद्य पंजीयन कारोबार करने के आरोप में रुपये 20 हजार जुर्माना अधिरोपित किया गया है। आरोपियों को जुर्माना अदा करने हेतु नियमानुसार 30 दिवस का समय दिया गया है ।

उल्लेखनीय है कि मिलावट से मुक्ति अभियान के अंतर्गत अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी, कटनी के द्वारा अब तक कुल 49 प्रकरणों में निर्णय पारित करते हुए कुल 11 लाख 85 हजार रुपये जुर्माना अधिरोपित किया गया है। इस दौरान खाद्य सुरक्षा प्रशासन द्वारा 7 लाख 60 हजार रुपये जुर्माना राशि वसूल की गई है।

लघु उद्योग निगम की वेबसाइट एवं ई-प्रोक्योरमेंट पोर्टल की लांचिंग 4 दिसम्बर को होगी

कटनी | 04-दिसम्बर-2020
   प्रदेश के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सकलेचा चार दिसम्बर को लघु उद्योग निगम की नवीन वेबसाइट एवं नवीन ई-प्रोक्योरमेंट पोर्टल लांच करेंगे।
स्थानीय पंचानन भवन स्थित लघु उद्योग निगम के कार्यालय (चतुर्थ मंजिल) में वेबसाइट और पोर्टल की लांचिंग मंत्री श्री सकलेचा द्वारा प्रातः 11 बजे की जायेगी।

आर.ओ.बी. मिशन चौक में पोल शिफ्टिग कार्य 29 नवंबर को प्रातः 9 बजे से 3 बजे तक विद्युत आपूर्ति रहेगी बंद

कटनी | 28-नवम्बर-2020

    मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी शहर संभाग के अंतर्गत निर्माणाधीन रेल्वे ओवर ब्रिज मिशन चौक में पोल शिफ्टिंग  एवं ट्रासफार्मर डीपी निर्माण करने का कार्य 29 नवंबर रविवार को किया जायेगा। इस दौरान प्रभावित क्षेत्र में रविवार को प्रातः 9 बजे से दोपहर तीन बजे तक बिजली आपूर्ति बंद रखी जायेगी।
कार्यपालन अभियंता शहर संभाग कटनी ने बताया कि आर.ओ.बी. द्वारा किये जा रहे शिफ्टिंग कार्य हेतु रविवार को 6 घंटे दिन में 11 के.व्ही. फीडर सिटी-7 मिशन चौक से आजाद चौक, शेर चौक, गाटरघाट, चांडक चौक एरिया, ईश्वरीपुरा वार्ड, मामा स्वीट के सामने का एरिया क्षेत्र से जुड़े बिजली उपभोक्ताओं की विद्युत आपूर्ति बंद रखी जायेगी। इस दौरान सहायक अभियंता के.एल. द्धिवेदी 9425802695 अथवा काल सेंटर मोबाइल नंबर 9425807546 पर सूचना दी जा सकेगी।

कृषि क्षेत्र में सही वोल्टेज पर 10 घंटे विद्युत प्रदाय सुनिश्चित किया जाए

प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री दुबे ने की प्रदेश में रबी सीजन में विद्युत आपूर्ति की समीक्षा
कटनी | 20-नवम्बर-2020
      प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री संजय दुबे ने कहा कि रबी सीजन में कृषि क्षेत्र में 10 घंटे विद्युत प्रदाय सुनिश्चित करना राज्य शासन की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि किसानों को सही वोल्टेज पर विद्युत प्रदाय सुनिश्चित हो और उन स्थानों को चिन्हित किया जाए जहॉं वितरण ट्रांसफार्मर बार-बार खराब हो जाते हैं। ऐसे स्थानों का परीक्षण कर तकनीकी सुधार करके वितरण ट्रांसफार्मर फेल होने से रोका जाए ताकि विद्युत प्रदाय बाधित नहीं हो। प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री दुबे गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से तीनों विद्युत वितरण कंपनियों के कार्यक्षेत्र में बिजली वितरण व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे।
प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री दुबे ने कार्यपालन अभियंता स्तर के अधिकारियों से लेकर क्षेत्रीय मुख्य अभियंता एवं कंपनी के उच्च प्रबंधन को निर्देशित किया कि मैदानी दौरे सुनिश्चित करें और फील्ड स्तर पर विद्युत आपूर्ति को लेकर तकनीकी एवं अन्य दिक्कतों का विश्लेषण कर उसे दूर करें। इसके लिए उन्होंने चालू माह और दिसंबर माह का प्रोग्राम तत्काल बनाकर मैदानी दौरे के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य के बिजली वितरण ट्रांसफार्मर की फैल्युअर की दर का लक्ष्य 6 प्रतिशत तक रखा है। कनेक्शनों के वैधानिक लोड और वैधानिक कनेक्शन को देखते हुए ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि की जाए। यह ध्यान रखा जाए की वैधानिक लोड की गणना करके ही ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि की जाए। श्री दुबे ने कहा कि ट्रांसफार्मरों का रख-रखाव तकनीकी दृष्टि से फील्ड स्तर पर ही किया जाए और आवश्यक होने पर एरिया स्टोर में भेजकर सुधार कराया जाए। ट्रांसफार्मर सुधार इकाई एमटीआरयू (मेजर ट्रांसफार्मर रिपेयरिंग यूनिट) एवं एसटीआरयू (स्माल ट्रांसफार्मर रिपेयरिंग यूनिट) को पूर्ण दक्षता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि ट्रांसफार्मर रिपेयरिंग के साथ उसकी टेस्टिंग प्रभावी ढंग से की जाए ताकि ट्रांसफार्मर फेल नहीं हो। प्रमुख सचिव ने पूरे प्रदेश में विजिलेंस टीम को सक्रिय करने के निर्देश दिए तथा कहा कि अवैध रूप से विद्युत का उपयोग करने पर नियमानुसार कार्यवाही की जाए।
प्रमुख सचिव ने बकाया राशि की वसूली के लिए निर्देश दिए तथा बकाया राशि वसूली की साप्ताहिक रूप से समीक्षा प्रबंध संचालक स्तर पर करने के लिए कहा। उन्होंने प्रति यूनिट राजस्व वसूली बढ़ाये जाने के निर्देश दिए और बिलिंग इफिशिएंसी, कलेक्शन इफिशिएंसी,प्रति यूनिट नगद राजस्व वसूली (सीआरपीयू) में निरंतर सुधार के निर्देश दिए। इसके लिए उन्होंने माइक्रो लेवल तक समीक्षा के लिए आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने मीटरीकरण पर जोर देते हुए कहा कि सभी शासकीय अथवा गैर शासकीय प्रतिष्ठानों को मीटरीकृत देयक प्रतिमाह समय पर दिया जाना चाहिए। उन्होंने मीटर रीडिंग, बिलिंग और राजस्व वसूली पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर एम.पी.पॉवर मैनेजमेंट कंपनी के प्रबंध संचालक श्री आकाश त्रिपाठी, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री विशेष गढ़पाले, पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री अमित तोमर, पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के उच्च अधिकारी, विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी ऊर्जा विभाग श्री एस.के. शर्मा, सहित पूरे प्रदेश के वितरण क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता बैठक में उपस्थित थे।

रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 24862 प्रवासी श्रमिकों को मिला स्थायी रोजगार

कटनी | 10-जुलाई-2020

    रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 9 जुलाई तक 24 हजार 862 प्रवासी श्रमिकों को स्थायी प्रकार का रोजगार मिल चुका है। इसमें 79.5 प्रतिशत पुरुष और 20.5 प्रतिशत महिला हैं।
प्रवासी श्रमिकों को ठेकेदार/लेबर कांट्रेक्टर के यहाँ 94.4 प्रतिशत, बड़े उद्योगों में 0.3, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम में 1.2, बिल्डर्स के यहाँ 0.5, प्लेसमेंट एजेंसी में 2.4, और अन्य संस्थानों में 1.2 प्रतिशत रोजगार प्राप्त हुआ है। प्रतिमाह वेतन 9 से 15 हजार रुपये तक प्राप्त हो रहा है।
अपर मुख्य सचिव श्रम श्री राजेश राजोरा ने जानकारी दी है कि 3 लाख 55 हजार 864 प्रवासी श्रमिकों के जॉब-कार्ड बनाये गये हैं। इसके साथ ही एक लाख 89 हजार 959 प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराया गया है।
प्रवासी श्रमिकों में से संबल योजना में पात्रता रखने वाले 3 लाख 40 हजार 715 प्रवासी श्रमिकों का संबल योजना के पोर्टल पर पंजीयन किया गया है। इसी प्रकार 16 हजार 214 प्रवासी श्रमिकों को पात्रतानुसार मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल के पोर्टल पर पंजीयन किया गया है। इससे इन्हें संबल/मण्डल की योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकेगा। आत्मनिर्भर भारत एवं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के अंतर्गत 13 लाख 10 हजार 186 प्रवासी श्रमिकों को प्रतिमाह राशन वितरित किया जा रहा है।
रोजगार सेतु पोर्टल पर प्रवासी श्रमिकों के साथ आये 6 से 14 वर्ष की उम्र के 2 लाख 6 हजार 425 बच्चों में से 75 हजार 385 को स्कूल में प्रवेश दिया गया है। शेष बच्चों को ष्स्कूल चलें अभियानश्श् के अंतर्गत स्कूल खुलने पर निःशुल्क प्रवेश के लिये लक्षित किया गया है।
गौरतलब है कि सर्वे के अनुसार कोविड-19 महामारी के दौरान एक मार्च से 6 जून, 2020 तक 7 लाख 30 हजार 311 प्रवासी श्रमिक और उनके साथ 5 लाख 79 हजार 875 परिवारजन लौटे थे। इस तरह से कुल संख्या 13 लाख 10 हजार 186 है। रोजगार सेतु पोर्टल में 27 हजार 388 नियोक्ताओं द्वारा पंजीयन करवाया गया है। इनमें से 510 वृहद उद्योगों, 4748 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों, 6526 लेबर कांट्रेक्टर, 283 बिल्डर्स, 547 प्लेसमेंट एजेंसी और 1667 वाणिज्यिक संस्थानों से संबंधित हैं। पोर्टल पर नियोक्ताओं द्वारा 47 हजार 985 रिक्तियाँ प्रदर्शित की गई हैं। इनमें प्रवासी श्रमिकों की योग्यता एवं अनुभव के आधार पर नियुक्ति के लिये चयन प्रक्रिया जारी है।

नगरीय निकायों के करों का अधिभार माफ

कटनी | 19-जून-2020

    राज्य शासन द्वारा नगरीय निकायों के कर आदि पर 22 मार्च से 15 जून 2020 तक के देय अधिभार (सरचार्ज) को माफ कर दिया गया है। ऐसे नागरिक, जो 31 जुलाई 2020 तक नगरीय निकायों के कर जमा करेंगे, उनके लॉकडाउन अवधि को अधिभार की गणना में नहीं लिया जायेगा।
गौरतलब है कि नोवल कोरोना वायरस की महामारी के कारण लॉकडाउन लागू होने के कारण आम नागरिक नगरीय निकायों के विभिन्न कर जैसे सम्पत्ति कर, जल कर/जल उपभोक्ता प्रभार आदि का भुगतान नहीं कर पाये हैं। इससे करों आदि पर अधिभार देय हो गये हैं। इसलिये राज्य सरकार द्वारा आम नागरिकों के हित में अधिभार माफ करने का निर्णय लिया गया है।

आत्मा गवर्निंग बोर्ड की बैठक 12 फरवरी को

कटनी | 11-फरवरी-2020
    परियाजना संचालक आत्मा, किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि कृषि विस्तार सुधार कार्यक्रम ’’आत्मा’’ अन्तर्गत ’’आत्मा गवर्निंग बोर्ड’’ की बैठक 12 फरवरी को आयोजित होगी। बैठक का आयोजन दोपहर 12 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में होगा। इस बैठक में संबंधित विभागों के अधिकारियों से उपस्थिति का आग्रह किया गया है।

समस्त राजस्व अधिकारियों के अवकाश तत्काल प्रभाव से निरस्त

कटनी | 21-दिसम्बर-2019

 आयुक्त जबलपुर संभाग रविन्द्र कुमार मिश्रा ने जबलपुर संभाग के समस्त कलेक्टर्स के पूर्व स्वीकृत अवकाश तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिये हैं। साथ ही कलेक्टर्स को अवकाश में नहीं जाने के लिये कहा गया है। इसके अतिरिक्त सभी राजस्व अधिकारियों एवं अन्य विभागीय अधिकारियों के समस्त प्रकार के अवकाश को निरस्त किये जाने संबंधी निर्देश भी संभागायुक्त श्री मिश्रा ने दिये है। अवकाश से संबंधित विशेष प्रकरण में पूर्व परीक्षण कर निर्णय लेने के लिये कहा गया है।

निषाद स्कूल में आयोजित हुआ विधिक साक्षरता कार्यक्रम

कटनी | 18-अक्तूबर-2019

मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के निर्देश पर जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अचल कुमार पालीवाल के मार्गदर्शन में एवं अतिरिक्त जिला न्यायाधीश व सचिव जिला प्राधिकरण संजय कस्तवार के दिशा निर्देशन में गुरुवार को निषाद हायर सेकेण्डरी स्कूल कटनी में विधिक साक्षरता शिविर एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में उपस्थित बच्चों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, जिला न्यायालय परिसर कटनी में राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर द्वारा संचालित बच्चों को मैत्रीपूर्ण विधिक सेवा और उनके संरक्षण के लिये विधिक सहायता योजना 2015 तथा नशा पीड़ितों को विधिक सेवायें एवं नशा उन्मूलन के लिये विधिक सेवा योजना के विषय में विस्तारपूर्वक महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की गई। साथ ही बालक-बालिकाओं को प्राप्त बाल अधिकारों की समझ, संरक्षण का अधिकार, बच्चों के विचारों के सम्मान को बढ़ावा देने और उन्हें गंभीरता से लेने पर भी प्रकाश डाला गया।
उक्त कार्यक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से राज निवास पाण्डेय, विकास पाण्डे, पैनल अधिवक्ता मीना सिंह बघेल, पैरालीगल वालेंटियर प्रीति सेन, अभिषय कुशवाहा तथा निषाद स्कूल से ए.एस. गौर, उमा चौबे, ऊषा ठाकुर, एकता चतुर्वेदी एवं अन्य शिक्षकगण उपस्थित रहे।

शहरी क्षेत्र मे 2 कार्यकर्ता 5 सहायिकाओं के रिक्त पद भरे जायेंगे

कटनी | 11-अक्तूबर-2019

कटनी जिले अन्तर्गत कटनी शहरी परियोजना में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के 2 और सहायिका के 5 रिक्त पदों के भरने की कार्यवाही प्रारंभ हो गई है। निर्धारित प्रपत्र में आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र 4 से 19 अक्टूबर तक शहरी परियोजना कटनी में जमा किये जा सकते हैं।
कटनी शहरी बाल विकास परियोजना में विश्राम बाबा वार्ड के आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 155 और विनोवा भावे वार्ड के केन्द्र क्रमांक 55 में एक-एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का रिक्त पद भरा जायेगा। जबकि वेंकट वार्ड के केन्द्र क्रमांक 46, चन्द्रशेखर वार्ड के केन्द्र क्रमांक 23, आचार्य कृपलानी वार्ड क्रमांक 216, विश्राम बाबा वार्ड के आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 155 और जालपा देवी वार्ड केन्द्र क्रमांक 28 में एक-एक सहायिका का रिक्त पद भरा जायेगा। उसी वार्ड की स्थाई निवासी पात्र आवेदिका इन पदों के लिये आवेदन कर सकती हैं।

च्वाइस फिलिंग से सहायक प्राध्यापक, ग्रंथपाल, क्रीड़ा अधिकारी की पद-स्थापना

कटनी | 05-अक्तूबर-2019

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित सहायक प्राध्यापक, ग्रंथपाल और क्रीड़ा अधिकारियों की पद-स्थापना अब च्वाइस फिलिंग के माध्यम से की जायेगी। चयनित उम्मीदवार पद-स्थापना के लिये ऑनलाइन विकल्प 8 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से 14 अक्टूबर को शाम 5.30 बजे तक भर सकते हैं। विस्तृत जानकारी उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट www.highereducation.mp.gov.in पर उपलब्ध रहेगी। उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी के निर्देशानुसार महाविद्यालयों में बड़ी संख्या में रिक्त पदों पर केवल एक बार पद-स्थापना के लिये यह निर्णय लिया गया है।
सत्यापित दस्तावेज वाले आवेदकों को ही मिलेगा अवसर
केवल वही चयनित अभ्यर्थी ऑनलाइन च्वाइस फिलिंग कर सकेंगे, जिनके दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन हो चुका है और उनमें कोई कमी नहीं पाई गई है। अभ्यर्थियों की च्वाइस फिलिंग के समय हिन्दी में उनका नाम और पता भी ऑनलाइन दर्ज करवाया जायेगा। सही पाये जाने पर इसे नियुक्ति आदेश/पद-स्थापना आदेश में दर्ज किया जायेगा। अभ्यर्थियों द्वारा विकल्प नहीं भरने की स्थिति में पद-स्थापना का निर्धारण शासन स्तर पर किया जायेगा।
मेरिट के आधार पर मिलेगी नियुक्ति/पद-स्थापना
अभ्यर्थियों को मेरिट के आधार पर पद-स्थापना के लिये महाविद्यालय का आवंटन कर नियुक्ति आदेश जारी किया जायेगा। विभाग अभ्यर्थी की पद-स्थापना प्रशासनिक आवश्यकता के आधार पर दिये गये विकल्प के बाहर किसी अन्य महाविद्यालय में भी कर सकता है। ऑनलाइन च्वाइस फिलिंग की कार्यवाही उच्च शिक्षा आयुक्त के निर्देशन में पूरी होगी।
लोक सेवा आयोग द्वारा जारी पुनरीक्षित सूची में जिन नये अभ्यर्थियों को शामिल किया गया है, उन्हे दस्तावेजों के भौतिक सत्यापन के बाद ही च्वाइस फिलिंग का मौका दिया जायेगा। ऑनलाइन नियुक्ति/पद-स्थापना की प्रक्रिया का आदेश केवल एक बार के लिये मान्य होगा। जो अभ्यर्थी किसी कारण से ऑनलाइन प्रक्रिया में शामिल नहीं हो सकेंगे, उन्हें पहले की तरह कार्यालयीन ऑफलाइन प्रक्रिया के माध्यम से नियुक्ति एवं पद-स्थापना प्रदान की जायेगी।

राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी के 150वें जन्म वर्ष के अवसर पर 2 अक्टूबर से एक वर्ष तक आयोजित होंगे विविध कार्यक्रम

कटनी | 27-सितम्बर-2019

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के 150 वें जन्म वर्ष के अवसर पर प्रदेश के साथ-साथ जिले में भी 2 अक्टूवर 2019 से 2 अक्टूवर 2020 तक पूरे वर्ष भर विशेष कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। जिले में आयोजन की वृहद शुरूआत 2 अक्टूवर को प्रभात फेरी निकाल कर की जायेगी।
कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने इस हेतु जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। 2 अक्टूवर को जिला स्तर पर प्रभात फेरी निकालने के लिए सारी व्यवस्थाएं जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा की जायेगी। नगरीय क्षेत्रो में प्रभातफेरी की संपूर्ण व्यवस्थाएं आयुक्त नगर निगम एवं समस्त मुख्य नगर पालिका अधिकारी करेंगे एवं ग्रामीण क्षेत्रो में प्रभात फेरी निकालने की संपूर्ण व्यवस्थाएं सीईओ जनपद पंचायत सुनिश्चित करेंगे।
कलेक्टर ने समस्त जिला प्रमुखो, अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों एवं समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायतो को निर्देशित किया है कि वे वर्ष भर लगातार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर केन्द्रित कार्यक्रमो की वृहद कार्ययोजना बनाकर लगातार गतिविधियो का आयोजन सुनिश्चित करें।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का 150 वां जन्मवर्ष पूरे प्रदेश में समारोहपूर्वक मनाया जायेगा। इसकी वृहद शुरूआत 2 अक्टूवर 2019 को प्रातः प्रभातफेरी से होगी और 2 अक्टूवर 2020 तक निरन्तर गांधीजी के सिद्धांतों एवं विचारो से बच्चो, युवाओ एवं आमजन तक पहुँचाने के लिए विभिन्न गतिविधियो का आयोजन किया जायेगा।

आंगनवाड़ी केन्द्र निवार पहाड़ी में आयोजित हुआ विधिक साक्षरता सह जागरूकता शिविर

कटनी | 20-सितम्बर-2019

मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के निर्देश पर जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कटनी अचल कुमार पालीवाल के मार्गदर्शन में एवं अतिरिक्त जिला न्यायाधीश/सचिव जिला प्राधिकरण कटनी संजय कस्तवार के दिशा निर्देशन में गुरुवार को आंगनवाडी केन्द्र निवार पहाड़ी जिला कटनी में विधिक साक्षरता शिविर एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
पैरालीगल वालेंटियर श्री सुमित ने कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को बाल तस्करी संबंधित जानकारी दी। साथ ही विधिक सेवा की योजनाओं की जानकारी दी गई। एवं अन्य समस्याओं के लिये कार्यालय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला न्यायालय परिसर कटनी में संपर्क करने की सलाह दी। इस कार्यक्रम में आंगनवाड़ी केन्द्र निवार पहाड़ी की महिलायें तथा अन्य सबंधित अधिकारी व कर्मचारी भी उपस्थित रहे।

सेना और सुरक्षा बलों के लंबित भूमि प्रकरणों पर होगी त्वरित कार्रवाई

राजस्व मंत्री श्री राजपूत द्वारा निरंतर समीक्षा के निर्देश

कटनी | 14-सितम्बर-2019

   राजस्व मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने सेना और सुरक्षा बलों के जवानों तथा अधिकारियों के भूमि तथा अन्य राजस्व प्रकरणों का तुरंत निराकरण करने के निर्देश दिये हैं। श्री राजपूत ने प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी से कहा है कि सेना और सुरक्षा बलों के प्रकरणों का समय-सीमा में निराकरण कराने के लिये अधिकारियों की जवाबदेही सुनिश्चित करें।
मंत्री श्री राजपूत ने कहा है कि प्रदेश भर में ऐसे प्रकरणों की तहसीलवार, जिलेवार और संभागवार सूची तैयार कर कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि इस काम में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। श्री राजपूत ने कहा कि लम्बित प्रकरणों के निराकरण की अनुविभागीय स्तर तक नियमित समीक्षा की जाये।

कटनी | 31-अगस्त-2019आबकारी में राजसात वाहनों की नीलामी 13 सितम्बर को

कटनी जिले में मदिरा के अवैध परिवहन में जप्तशुदा राजसात किये गये वाहनों की नीलामी 13 सितम्बर को आबकारी नियंत्रण कक्ष कटनी में शाम 4 बजे से की जायेगी।
सहायक आयुक्त आबकारी पी.एल. राकेश ने बताया कि जिले में मदिरा के अवैध परिहवन करते पकड़े गये राजसात 22 दो पहिया और चार पहिया वाहनों की नीलामी के लिये इच्छुक व्यक्ति अपनी निविदा 13 सितम्बर को दोपहर 2 बजे तक प्रस्तुत कर सकेंगे। राजसात वाहनों में एक-एक स्कॉर्पियो, मारुति 800, नैनो कार, पिकअप, ऑटो, दो बुलेरो सहित 15 मोटर साईकल, स्कूटी दोपहिया वाहन शामिल हैं। निविदा की शर्तें व ऑफसेट प्राईज की जानकारी कार्यालयीन समय में आबकारी कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है।

स्वीकृत कार्यों की द्वितीय व तृतीय किश्त एक हफ्ते में करें जारी 

सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 

कटनी | 27-अगस्त-2019

 सर्व शिक्षा अभियान के नये स्वीकृत कार्यों की सूची जिला पंचायत सदस्यों को उपलब्ध करायें तथा पूर्व मे स्वीकृत सभी कार्यों की द्वितीय व तृतीय किश्त एक सप्ताह में जारी कर कार्यों को पूर्ण करायें। इस आशय का निर्णय सोमवार को जिला पंचायत अध्यक्ष ममता पटेल की अध्यक्षता में सम्पन्न सामान्य प्रशासन समिति की बैठक में लिया गया। इस मौके पर उपाध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा, सीईओ जिला पंचायत जगदीश चन्द्र गोमे, जिला पंचायत सदस्य अजय गौंटिया सहित जिला विभाग प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।
सामान्य प्रशासन समिति की बैठक में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के किसी भी अधिकारी के उपस्थित नहीं होने पर अगली बैठक में पूरी जानकारी के साथ उपस्थित रहने को कहा गया। सर्व शिक्षा अभियान की समीक्षा में छात्रावासों में लगे सीसीटीवी कैमरों को शीघ्र ऑनलाईन चालू हालत में रखने के निर्देश दिये गये। खाद्य विभाग की समीक्षा में पीडीएस से संबंधित सभी शिकायतों का निराकरण अगली बैठक तक कर लेने का निर्णय लिया गया। सभी दुकानें नियमित खुलें और राशन बांटने की तारीख दीवाल पर अंकित की जाये। बरसात के मौसम में दूषित जल जन्य बीमारियां नहीं फैलें, इसलिये पेयजल स्त्रोतों का शुद्धिकरण क्लोरिनेशन कराने का निर्णय लिया गया। एनआरएलएम के तहत जिले में निवासरत गोड़, कोल, भूमिया जनजाति के जीवन स्तर को सुधारने कार्य योजना तैयार करने का निर्णय लिया गया।

मुख्यमंत्री स्वेच्दानुदान मद से 20 हजार रुपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत 

कटनी | 16-अगस्त-2019

मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से एक प्रकरण में 20 हजार रुपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। यह आर्थिक सहायता हॉस्पिटल लाईन माधवनगर कटनी निवासी मंजू मोटवानी को कैंसर के उपचार के लिये प्रदान की जा रही है। जिसे जबलपुर स्थित आदित्य सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल ट्रॉमा केयर के बैंक खातें ट्रान्सफर किया जायेगा।

हॉस्टल का सुचारु संचालन कर छात्रों को बेहतर माहौल देवें अधीक्षक 

छात्रावास अधीक्षकों की बैठक में कलेक्टर के निर्देश 

कटनी | 06-अगस्त-2019

 कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने कहा कि हॉस्टल का सुचारु संचालन करते हुये बच्चों के शरीरिक और मानसिक विकास के लिये छात्रावास अधीक्षक बेहतर माहौल देने का प्रयास करें। उन्होने कहा कि छात्रावासी बच्चों की सुरक्षा, खान-पान, रहन-सहन की व्यवस्थाओं के अलावा उन्हें शैक्षणिक मार्गदर्शन और खेल और प्रतिभा प्रोत्साहन की गतिविधियां भी संचालित की जानी चाहिये। सोमवार को कलेक्टर श्री सिंह ने आदिम जाति कल्याण विभाग के जिले में संचालित 59 छात्रावासों के अधीक्षकों की बैठक में यह निर्देश दिये। जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण सरिता नायक भी इस मौके पर उपस्थित रहीं।
कलेक्टर श्री सिंह ने बालक और बालिका छात्रावासों में भवन, बाउण्ड्री वॉल, बच्चोंके रहने, खाने-पीने की व्यवस्था, सुरक्षा और छात्रावासों के संचालन, रख रखाव के संबंध में जानकारी ली। कलेक्टर ने कहा कि छात्रावास में रह रहे बच्चों की सुरक्षा और देखभाल की महती जिम्मेदारी अधीक्षकों की होती है। अधीक्षक अपने परिसर में स्थित आवास में ही निवास करें। छात्रावासों की मेस में निर्धारित मेनू अनुसार भोजन और नाश्ते का वितरण छात्रों को करायें। मेस और किचन में साफ-सफाई व खाद्य पदार्थों की शुद्धता का ध्यान रखें। बच्चों के लिये उपलब्ध खेल सामग्री से आउटडोर व इनडोर खेल की गतिविधियां संचालित करें। इसके अलावा यदि छात्रावासी छात्र में किसी तरह की प्रतिभा है, तो उसे विशेष रुप से प्रोत्साहित करें। बच्चों के उपयोग के लिये टीवी और समाचार पत्रों का उपयोग छात्रों के लिये ही करें।
कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि छात्रावास के अधीक्षक मूलरुप से शिक्षक ही होते हैं। स्कूल से लौटकर आने के बाद छात्रों को शैक्षणिक मार्गदर्शन दें। हायर सेकेण्डरी और हाई स्कूलों के छात्र-छात्राओं को पठन-पाठन कार्य में सहायता करें। उन्होने कहा कि हर 15 दिन के बाद हॉस्टल में स्थानीय बीएमओ के माध्यम से चिकित्सकों को बुलाकर छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण करायें। कलेक्टर श्री सिंह ने प्राइवेट भवनों में लगने वाले 5 हॉस्टल भवन और बाउण्ड्री विहीन छात्रावासों में बाउण्ड्री बनाने के प्रस्ताव तैयार कर शासन को स्वीकृति के लिये भेजने के निर्देश दिये। उन्होने बंद परिसर और बाउण्ड्री वॉल युक्त छात्रावासों में 15 अगस्त को कम से कम 20-20 फलदार पौधे रोपित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि जिले के प्रतिभाशाली टॉप फाईव छात्रावासी बच्चों और उनके छात्रावास अधीक्षक को राष्ट्रीय पर्व पर सम्मानित भी किया जायेगा।

शांति समिति की बैठक 29 जुलाई को

कटनी | 26-जुलाई-2019

अगस्त माह में 12 अगस्त को ईदुज्जुहा, 15 अगस्त को रक्षाबंधन, 23 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी एवं 12 सितम्बर को मोहर्रम का त्यौहार मनाया जाना है। इन त्यौहारों को मद्देनजर रखते हुये त्यौहारों में पूर्ण शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने की दृष्टि से शांति समिति की बैठक का आयोजन 29 जुलाई को होगा। यह बैठक सायं 4 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित होगी। संयुक्त कलेक्टर सपना त्रिपाठी ने समिति सदस्यों से बैठक में उपस्थित होने का अनुरोध किया है।

 

निजी स्कूलों में चयनित बच्चों का प्रवेश 25 जुलाई तक

कटनी | 23-जुलाई-2019

शिक्षा का अधिकार अधिनियम में निजी स्कूलों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में नि:शुल्क प्रवेश की अंतिम तिथि 20 जुलाई से बढाकर 25 जुलाई कर दी गई है। इस तारीख के बाद भी यदि कोई चयनित बच्चा एडमिशन रिपोर्टिंग के लिए शेष रह जाता है, तो संबंधित स्कूल ही इसके लिए उत्तरदायी होगा।
पालकों से आग्रह किया गया है कि वे बढ़ी हुई तारीख 25 जुलाई तक अपने बच्चों का आवंटित स्कूलों में प्रवेश अवश्य करवायें। पालकों को पोर्टल से आवंटन पत्र डाउनलोड कर सीधे स्कूल जाना होगा। स्कूल इसी आवंटन-पत्र के आधार पर बच्चों को एडमिशन देंगे। निजी स्कूलों द्वारा आरटीई में प्रवेशित बच्चों की एडमिशन रिपोर्टिंग भी 25 जुलाई तक ही पोर्टल पर दर्ज की जाएगी। इसके बाद एडमिशन रिपोर्टिंग दर्ज नहीं की जा सकेगी।