Wednesday, December 11News That Matters

ग्वालियर

Share

समूदन शाला प्रांगण में गायों के मरने की घटना की जाँच के आदेश

ग्वालियर | 18-अक्तूबर-2019

जिले के डबरा के पास स्थित समूदन में गायों के मरने की घटना को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी ने सम्पूर्ण घटना की जाँच अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डबरा श्री राघवेन्द्र पाण्डेय को सौंपी है। उन्होंने सम्पूर्ण प्रकरण की जाँच तीन दिवस में करने के निर्देश दिए हैं। घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी, पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन, सीईओ जिला पंचायत श्री शिवम वर्मा एवं एसडीएम श्री राघवेन्द्र पाण्डेय समूदन पहुँचे। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी एवं जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष श्री मोहन सिंह राठौर ने भी समूदन पहुँचकर घटना की जानकारी ली और उक्त घटना में सभी दोषियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
डबरा तहसील से कुछ दूर स्थित ग्राम समूदन के शाला प्रांगण में 17 गायों की मृत्यु हो जाने की घटना प्रकाश में आई है। घटना की जानकारी मिलते ही प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारियों ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए प्रकरण की विस्तृत जांच के लिए कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी ने एसडीएम श्री राघवेन्द्र पाण्डेय को जांच सौंप दी है।
गुरूवार की देर शाम कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक समूदन पहुँचे। उन्होंने शाला प्रांगण में उपस्थित एसडीएम, तहसीलदार, पंच, सरपंच, महिला एवं बाल विकास के मैदानी अधिकारियों, शिक्षकों, थाना प्रभारी एवं अन्य लोगों से घटना की विस्तार से जानकारी ली है। इसके साथ ही शाला प्रांगण में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र, जनमित्र केन्द्र के प्रभारियों से भी घटना की जानकारी प्राप्त की है। कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी ने एसडीएम श्री राघवेन्द्र पाण्डेय को सम्पूर्ण घटना की जाँच कर तीन दिन में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

अपेक्स बैंक के प्रशासक श्री अशोक सिंह ने जिला बैंक ग्वालियर को सुदृढ़ बनाने के दिये निर्देश

ग्वालियर | 11-अक्तूबर-2019

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक ग्वालियर को घाटे से उबारने के लिये अपेक्स बैंक के प्रशासक श्री अशोक सिंह ने तानसेन होटल, गांधी रोड, ग्वालियर में अपेक्स बैंक के प्रबंध संचालक श्री प्रदीप नीखरा, संयुक्त आयुक्त, ग्वालियर श्री संजय दलेला, विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी अपेक्स बैंक सर्वश्री यतीष त्रिपाठी, प्रदीप जोशी एवं जिला बैंक ग्वालियर के मुख्य कार्यपालन श्री आर.बी.एस.ठाकुर की उपस्थिति में बैठक आयोजित हुई।
अपेक्स बैंक के प्रशासक श्री अशोक सिंह द्वारा जिला बैंक ग्वालियर के अन्तर्गत आने वाली सभी समितियों को मध्यप्रदेश शासन की योजनाओं के अनुरूप नियमानुसार कड़ाई से पालन करने एवं सुदृढ़ बनाने की दिशा में भरसक प्रयास किये जाने के निर्देश सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को दिये। उन्होंने यह भी कहा कि शासन की कृषि ऋण माफी योजना का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुँचें। इसके बारे में सहकारिता से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति को कड़ी मेहनत कर इसका सकारात्मक लाभ पहुँचाने की दिशा में ईमानदारी से प्रयास किये जाने चाहिये। बैठक में संस्थावार ऋण असंतुलन, संस्थावार कर्मचारियों पर गेहूं, धान शार्टेज, संस्थावार कर्मचारियों पर धान, गेहूं, पीडीएस, खाद, कैश-क्रेडिट बकाया राशि के साथ संस्थावार गबन-धोखाधड़ी के प्रकरणों की समीक्षा के साथ, खरीफ 2019 में खाद भण्डारण एवं वितरण की जानकारी, नगदी एवं उधार की जानकारी पर विस्तार से चर्चा हुई। इसके साथ संस्थावार कालातीत ऋण की जानकारी, लंबित रिकंसीलियेशन की जानकारी एवं उपार्जन के अंतिम देयकों को प्रस्तुत करने आदि पर भी चर्चा की गई। श्री सिंह ने कहा कि ग्वालियर बैंक से इस प्रकार की बैठक की शुरूआत हो चुकी है, जो भविष्य में प्रत्येक जिले में आयोजित की जावेगी।
बैठक में अपेक्स बैंक के प्रबंध संचालक श्री प्रदीप नीखरा ने निर्देशित किया कि धारा 58-बी में निराकृत अकृषि ऋणों की वसूली की सतत् समीक्षा की जावे एवं जिले के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी एक निर्धारित समयावधि में इसे सफलतापूर्वक क्रियान्वित करें। उन्होंने जिला बैंक के अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि इसकी सतत् समीक्षा भी की जावे और उसकी जानकारी अपेक्स बैंक मुख्यालय को भी प्रतिदिन भिजवायें।
बैठक का संचालन श्री गिरिराज शर्मा एवं आभार प्रदर्शन श्री आर.बी.एस.ठाकुर ने किया।

शिक्षा विभाग प्रदेश सरकार का आईना बने – डॉ. प्रभुराम चौधरी

ग्वालियर | 05-अक्तूबर-2019

प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि शिक्षा विभाग प्रदेश सरकार का आइना बने। शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए शिक्षक अपनी महती भूमिका का निर्वहन करें। शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने शुक्रवार को मेडीकल कॉलेज के मानसभागार में ग्वालियर एवं भिण्ड जिले के प्राचार्यों की बैठक में यह बात कही।
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में मध्यप्रदेश देश में अपनी अलग पहचान बनाए, इसके लिए शिक्षकों को अग्रणी भूमिका का निर्वहन करना होगा। सबको शिक्षा के साथ-साथ गुणात्मक शिक्षा की उपलब्धता पर हम सबको गंभीरता से विचार करने के साथ-साथ कार्य करने की आवश्यकता है। ग्वालियर एवं भिण्ड जिले के प्राचार्यों की समीक्षा बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरूण शमी, आयुक्त स्कूल शिक्षा श्रीमती जयश्री कियावत, संचालक श्री गौतम सिंह, संचालक श्री के के द्विवेदी सहित शिक्षा विभाग के संयुक्त संचालक श्री अरविंद सिंह और ग्वालियर व भिण्ड जिले के प्राचार्यगण उपस्थित थे।
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा व्यवस्था में सुधार की दिशा में तेजी से कार्य किए जा रहे हैं। शिक्षा विभाग की योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन हो, इसके लिए भी विशेष अभियान चलाकर कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए हमनें कक्षा-5वीं एवं कक्षा-8वीं की परीक्षाएं प्रारंभ की हैं। इससे बच्चों की शिक्षा में गुणात्मक सुधार होगा। इसके साथ ही प्रदेश भर में अभिभावकों की बैठकें भी आयोजित की गई हैं।
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि शासकीय शालाओं से बच्चों के अभिभावकों को जोड़ने के साथ ही समाज के सभी वर्गों को जोड़ने का कार्य किया गया है। जनप्रतिनिधि, समाज एवं अभिभावकों के सहयोग से शासकीय स्कूलों को बेहतर बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रीवा एवं ग्वालियर-चंबल संभाग के परीक्षा परिणाम अन्य संभागों की अपेक्षा कम रहते हैं। इसके सुधार के लिए भी विभाग की ओर से विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। शिक्षकों को प्रशिक्षण दिलाने का कार्य भी विभाग ने प्रारंभ किया है। अन्य प्रदेशों के साथ-साथ विदेशों में भी शिक्षकों को भेजकर प्रशिक्षण दिलाने का कार्य किया गया है।
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए बजट में 200 करोड़ का प्रावधान किया है। इसके साथ ही मिशन 1000 के तहत स्कूलों का चयन कर उनको बेहतर बनाने की दिशा में कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी प्राचार्यों से अपेक्षा की कि वे अपने स्कूल को बेहतर बनाने के साथ-साथ विद्यालयों में गुणात्मक शिक्षा पर विशेष ध्यान देंगे और आने वाले परीक्षा परिणामों में ग्वालियर चंबल संभाग प्रदेश में अपनी अलग पहचान बनायेगा।
बैठक में प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरूण शमी ने भी ग्वालियर एवं भिण्ड जिले के प्राचार्यों से विस्तार से चर्चा की। उन्होंने विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन के साथ ही शिक्षकों की समस्याओं के बारे में जानकारी दी और उनके यथा संभव निराकरण का आश्वासन दिया। बैठक में आयुक्त स्कूल शिक्षा श्रीमती जयश्री कियावत ने भी ग्वालियर एवं भिण्ड के प्राचार्यों से चर्चा कर शिक्षा में गुणात्मक सुधार पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

सरकार की सहायता से बनी स्वयं की पहचान “खुशियों की दास्तां”

ग्वालियर | 27-सितम्बर-2019

आर्थिक एवं सामाजिक रुप से मजबूत होना एवं समाज में स्वयं की पहचान बनाने के जुनून ने दिनेश को कई कार्य करने को मजबूर कर दिया लेकिन फिर भी वह अपने परिवार का भरण पोषण नहीं कर पा रहे थे, तब मप्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना वरदान बनकर उनके सामने आई और आज वह स्वयं का ई-रिक्शा चलाकर 15-20 हजार रुपए महीने तक कमा रहे हैं, और अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं। यह कहना है ग्वालियर के सात भाई की गोठ लक्ष्मी गंज रोड़ निवासी दिनेश कुमार का, जिनके द्वारा स्वयं का ई-रिक्शा चलाने के कारण आर्थिक हालत में सुधार हुआ है।
श्री दिनेश कुमार को नगर निगम द्वारा आयोजित कैम्पों के माध्यम से ज्ञात हुआ कि शहरी क्षेत्र में निवासरत गरीब परिवार को शासन राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के स्वरोजगार घटक मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत स्वयं के व्यवसाय हेतु ऋण उपलब्ध करा रही है। श्री दिनेश कुमार ने राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत ई-रिक्शा के लिये आवेदन प्रस्तुत किया। निकाय एवं बैंक द्वारा आवेदन स्वीकृत करने के बाद श्री दिनेश कुमार को ई-रिक्शा व्यवसाय हेतु एक लाख पैंसठ हजार रूपये का ऋण प्राप्त हुआ।
श्री दिनेश कुमार ने ई-रिक्शा लेकर जबसे चलाना शुरू किया है तब से परिवार की रोजमर्रा की आवश्यकताएं पूरी होने लगी हैं।उनकी आमदनी भी बढ़ी है। दिनेश कुमार ई-रिक्शा चलाने से पहले सायकिल स्टोर पर काम करते थे उससे उनकी आमंदनी इतनी नहीं थी कि वह परिवार का भरण पोषण अच्छे तरीके से कर सकें। अब दुकान पर काम करने के साथ-साथ ई-रिक्शा भी चलाते हैं। जिससे आमदनी दो दुगनी हो गई है। वे और उनका पूरा परिवार सरकार का आभारी है जिनके सहयोग से उन लोगों की आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति में सुधार एवं चेहरे पर मुस्कान आई है। सभी को हमारी ओर से बहुत-बहुत धन्यवाद। श्री दिनेश कुमार का स्थाई जीविका का साधन होने से समय पर ऋण राशि की मासिक किस्त भी जमा कर रहे हैं।

प्रदेश सरकार आपदा में किसानों के साथ – विधायक श्री ऐदल सिंह कंषाना

सर्वे कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होगी – कलेक्टर, कलेक्टर, विधायक एवं पुलिस अधीक्षक ग्राम मऊखेड़ा में स्वयं खाद्यान्न सामग्री लेकर नाव से पहुंचे

ग्वालियर | 20-सितम्बर-2019

चम्बल नदी में आई बाढ़ से चम्बल नदी के किनारे लगे गांव की फसलें प्रभावित हो गई है। इसके लिये किसान चिन्तित न हों। सर्वे कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होगी। पानी सूखने के बाद सर्वे के लिये दलों को तैनात किया जा रहा है। सर्वे के बाद नुकसानी का पूरा मुआवजा शासन द्वारा दिया जावेगा। यह बात कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने गुरूवार को मुरैना जनपद के ग्राम मऊखेड़ा, कुढ़ाहारा में खाद्यान्न सामग्री ग्रामीणों को वितरण के समय कही। कलेक्टर के साथ क्षेत्रीय विधायक श्री ऐदल सिंह कंषाना, पुलिस अधीक्षक स्वयं खाने के पैकेट एवं सूखा खाद्यान्न सामग्री लेकर पहुंचे। इस अवसर पर विधायक श्री ऐदल सिंह कंषाना, पुलिस अधीक्षक डॉ. असित यादव, जनपद सदस्य, जनपद सीईओ सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर श्रीमती दास ने कहा कि चम्बल नदी में आई बाढ़ से करीबन 52 गांव प्रभावित हुये है। जिनमें से 4 हजार 300 लोगों को शासन, प्रशासन की मदद से उन्हें राहत कैम्पों में रोका गया है। उनके खाने, पीने, विस्तर आदि की व्यवस्था शासन द्वारा की गई है। उन्होने कहा कि ग्रामीण चिन्तित न हों। पानी सूखने के बाद सर्वे कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जावेगा। जिसमें जो भी क्षतिग्रस्त भवन आदि का सर्वे छूटना नहीं चाहिये, एक-एक वस्तु का सर्वे में आंकलन हो जाये। शासन द्वारा सहायता मुहैया कराई जायेगी। उन्होनें कहा कि पिछले 15 दिवस पूर्व चम्बल नदी में बाढ़ आने से करीबन 28 हजार 50 हेक्टेयर क्षेत्र में फसलें बर्बाद हुई थीं। जिसमें 3 करोड़ नुकसानी का आंकलन किया गया था। इस बार पिछली अपेक्षा अधिक नुकसान हुआ है। नुकसान की भरपाई जरूर की जायेगी।
विधायक श्री ऐदल सिंह कंषाना ने कहा कि जिले में चम्बल नदी में आई बाढ़ से दो बच्चियों की मृत्यु हुई है। जिसमें शासन द्वारा 4-4 लाख रूपये की सहायता मुहैया कराई जायेगी। प्रदेश सरकार किसानों के साथ है। किसान के साथ में नाइंसाफी नहीं होगी। उन्हें कील-कील का हिसाब प्रदेश सरकार मुहैया करायेगी। आज शासन द्वारा एवं मेरे स्वयं के द्वारा खाद्यान्न सामग्री ग्राम मऊखेड़ा, कुढ़ाहारा में प्रदान की है। इसके साथ ही चिकित्सकों दल भी मऊखेड़ा, कुढ़ाहारा में लोगों को ईलाज कर रहे है। उन्होनें कहा कि पशु चिकित्सक दल ने पशुओं का ईजाज प्रारंभ कर दिया है। ग्रामीणों की मांग पर क्वारी नदी में रपटा एवं मऊखसेड़ा रोड़ ढ़ाई किलोमीटर का निर्माण कार्य कराने का आश्वासन विधायक ने दिया।
पुलिस अधीक्षक डॉ. असित यादव ने कहा कि मऊखेड़ा, कुल़ाहाढ़ा में रेस्क्यू आपरेशन चलाया गया था। जिसमें एन.डी.आर.एफ के 30 सदस्यी दल ने 3 बोटो के माध्यम से रेस्क्यू कार्य किया था। जिसमें पुलिस प्रशासन भी शामिल है। ग्रामीण लोगों के लिये खाद्यान्न एवं दवाईयां उपलब्ध कराने के लिये इन टीमों ने युद्धस्तर से कार्य किया है।

खाद्य पदार्थों में मिलावट करने एवं बिना पंजीयन के व्यवसाय करने पर छ: प्रतिष्ठानों पर 12 लाख रूपए का जुर्माना

ग्वालियर | 14-सितम्बर-2019

खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों और नकली खाद पदार्थों की बिक्री करने वालों के विरूद्ध प्रदेश स्तर पर चलाए जा रहे अभियान में ग्वालियर जिला प्रशासन द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है। ग्वालियर के छ: प्रतिष्ठानों पर 12 लाख रूपए की राशि का जुर्माना लगाया गया है।
कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी के निर्देश पर सम्पूर्ण जिले में नकली खाद्य पदार्थों की बिक्री करने तथा खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों के विरूद्ध की जा रही कार्रवाई की कड़ी में छ: प्रतिष्ठानों के विरूद्ध खाद्य पदार्थों में मिलावट कर विक्रय करने तथा बिना लायसेंस के सामग्री के विक्रय करने के आरोप में 12 लाख रूपए की राशि का जुर्माना लगाया गया है। प्रशासन द्वारा निरंतर खाद्य पदार्थों की जाँच कर सेम्पलिंग का कार्य जारी है। लिए गए सेम्पलों को जाँच हेतु भेजा जा रहा है।
अपर कलेक्टर श्री अनूप कुमार सिंह ने पूर्व में लिए गए नमूनों में अमानक पाए गए नमूनों के विक्रेताओं तथा बिना पंजीयन के सामग्री का वितरण करने वाले प्रतिष्ठानों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई करते हुए जुर्माने के आदेश जारी किए हैं। उनके द्वारा बृजेश तिवारी पुत्र श्री विष्णु कुमार तिवारी महादेव फूड प्रोडक्ट ए बी रोड पर दो लाख रूपये के जुर्माने के आदेश जारी किए गए हैं।इसी प्रकार दिनेश चंद्र पुत्र स्व. श्री प्रेमचंद जैन नई सड़क पर दो लाख रूपये, गुलाब सिंह कुशवा पुत्र श्री मूंगाराम कुशवाह, कुशवाह मोहल्ला चीनोर पर एक लाख रूपये, नरेश अग्रवाल हलवाई बहोड़ापुर पर दो लाख रूपये, वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी पर दो लाख रूपये एवं माँ दुर्गा डेयरी मुरार पर तीन लाख रूपये जुर्माने के आदेश जारी किये गये हैं।
कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी ने जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार तथा फूड एण्ड सेफ्टी विभाग के इंस्पेक्टरों को जिले में निरंतर खाद्य पदार्थों की जांच करने तथा सेम्पलिंग करने के निर्देश दिए हैं। सेम्पलिंग के पश्चात अमानक पाए जाने पर संबंधित व्यवसायी के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई करने को कहा है।

भोजन पकाने में लकड़ी-कंडों से मिला छुटकारा, एलपीजी गैस बनी सहारा “खुशियों की दास्तां “

ग्वालियर | 31-अगस्त-2019

पहले आए दिन लकड़ी-कंडों से चूल्हा जलाने की झंझट, उस पर होने वाले धुँए से आँखों में होती जलन। स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता। यह कहना है शासकीय माध्यमिक कन्या विद्यालय घाटीगाँव में मध्यान्ह भोजन पकाने वाली रसोईयाँ श्रीमती दुलारी व श्रीमती जानकी का। कलेकटर श्री अनुराग चौधरी एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री शिवम वर्मा की पहल पर शासन द्वारा संचालित मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों में क्रियान्वित किए जा रहे मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के तहत गैस, चूल्हा, दो एलपीजी सिलेण्डर, लेजम सहित रेग्यूलेटर उपलब्ध कराए जाने से भोजन पकाने में रसोईयों को समस्याओं से निजात मिली है।
शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय घाटीगाँव में संचालित मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम की रसोईया श्रीमती मुन्नी बाई ने खुशी जाहिर करते हुए बताया कि लकड़ी-कंडों की अपेक्षा गैस ईंधन सस्ता भी है और आसानी से उपलब्ध हो जाता है। वन-जंगलों की अवैध कटाई से लकड़ी-ईंधन मिलना मुश्किल होता जा रहा है। बरसात के दिनों में गीली लकड़ियों एवं कंडों से चूल्हा जलाना और भी कठिन हो जाता था। गैस ईंधन पर्यावरण की दृष्टि से भी बेहतर है। गैस चूल्हे से भोजन पकाने में समय की बचत भी होती है। पहले चूल्हे पर जिन बर्तनों को रखकर खाना पकाया जाता था, तो वे धुँए से गंदे एवं काले हो जाते थे। जिनकी सफाई करने में बड़ी मशक्कत होती थी। अब एलपीजी गैस से स्वच्छ एवं शुद्ध वातावरण में भोजन पकाया जाता है।
उन्होंने बताया कि विद्यालय में कुल 188 छात्राएं हैं तथा तीन रसोईयां हैं। हम सभी के सहयोग एवं समन्वय से भोजन पकाने व परोसने की व्यवस्थित प्रक्रिया रहती है।

महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी का भ्रमण कार्यक्रम 

ग्वालियर | 27-अगस्त-2019

 प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी 27 व 28 अगस्त को ग्वालियर में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगी।
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री श्रीमती इमरती देवी 27 अगस्त को ग्वालियर में आयोजित स्थानीय कार्यक्रमों में भाग लेंगीं। महिला एवं बाल विकास मंत्री 28 अगस्त को प्रात: 10 बजे आंगनबाड़ी केन्द्र झलकारीबाई पार्क रेशम मिल में बाल शिक्षा केन्द्र का शुभारंभ करेंगीं। प्रात: 11 बजे लक्ष्मीबाई शारीरिक शिक्षा विद्यालय के सभागार में आयोजित बाल शिक्षा केन्द्र के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में शामिल होंगीं। दोपहर 2 बजे ग्वालियर से मुरैना के लिए प्रस्थान करेंगीं। मंत्री श्रीमती इमरती देवी दोपहर 2.45 बजे मुरैना पहुँचकर सर्किट हाउस में संभाग आयुक्त, कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक से चर्चा करेंगीं। अपरान्ह 3.15 बजे आयुक्त कार्यालय सभागार मुरैना में चंबल संभाग की विभागीय समीक्षा बैठक लेंगीं।

मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने पद्मा कन्या विद्यालय में बच्चों के साथ किया विशेष भोज

ग्वालियर | 16-अगस्त-2019

ग्वालियर में आजादी की वर्षगाँठ मनाने के लिये एसएएफ मैदान पर आयोजित हुए समारोह के मुख्य अतिथि एवं पशुपालन मंत्री श्री लाखन सिंह यादव मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के तहत विशेष भोज में भी शामिल हुए। उन्होंने शासकीय पद्मा कन्या विद्यालय में बच्चों के साथ बैठकर सुरूचिपूर्ण भोज का आनंद लिया। साथ ही बच्चों से पढ़ाई-लिखाई एवं स्कूल में उपलब्ध सुविधाओं पर चर्चा की। पद्मा विद्यालय की छात्राओं ने स्वतंत्रता दिवस एवं रक्षाबंधन पर्व पर पशुपालन मंत्री श्री लाखन सिंह यादव को राखियां भी बांधीं।
स्वतंत्रता दिवस पर शासकीय पद्मा कन्या विद्यालय में आयोजित हुए विशेष भोज में कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी, पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन, अपर कलेक्टर श्री अनूप कुमार सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री शिवम वर्मा व एडीएम श्री टी एन सिंह ने स्कूली बच्चों के साथ बैठकर सुरूचिपूर्ण भोज किया। जिले के अन्य शासकीय स्कूलों में भी स्वतंत्रता दिवस पर मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के तहत विशेष भोज का आयोजन हुआ।