Tuesday, October 15News That Matters

छतरपुर

Share

प्रज्ञा पालीवाल के अंतिम संस्कार में शामिल हुए कलेक्टर

छतरपुर | 15-अक्तूबर-2019

कलेक्टर मोहित बुंदस ने शहर के सीताराम कॉलोनी निवासी शिक्षक शिव कुमार पालीवाल की पुत्री कु. प्रज्ञा पालीवाल के आकस्मिक निधन पर घर पहुंचकर परिवारजनों को सांत्वना दी और दुख की घड़ी में ढांढस बंधाया। उन्होंने प्रज्ञा को श्रद्धांजली अर्पित कर ईश्वर से दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने और परिवारजनों को दुख सहन करने की शक्ति देने की कामना की।
कलेक्टर श्री बुंदस महोबा रोड स्थित मुक्तिधाम गए और प्रज्ञा के अंतिम संस्कार और शोकसभा में शामिल हुए। इस अवसर पर विधायक आलोक चतुर्वेदी सहित अपर कलेक्टर पी.एस. चौहान और एसडीएम के.के. पाठक भी मौजूद रहे।
उल्लेखनीय है कि प्रज्ञा पालीवाल का गत् दिवस थाईलैण्ड में सड़क दुर्घटना में असामयिक निधन हो गया था। कलेक्टर मोहित बुंदस के संज्ञान में यह मामला आने पर उन्होंने तत्काल परिवार के सदस्यों से दूरभाष पर संपर्क कर पूरी मदद का भरोसा दिया था। प्रज्ञा के दोनों भाइयों को शव को लाने के लिए सरकारी मदद से एम्बुलेंस के साथ में दिल्ली रवाना किया गया। जिला प्रशासन के प्रयास से सड़क दुर्घटना में दिवंगत हुई प्रज्ञा के शव को थाईलैण्ड से वापस घर तक लाने में भरपूर मदद मिली है।

गांधी जयंती पर शुष्क दिवस घोषित

छतरपुर | 01 अक्टूबर -2019

कलेक्टर मोहित बुंदस ने 2 अक्टूबर, गांधी जयंती के अवसर पर छतरपुर जिले में शुष्क दिवस घोषित किया है।
शुष्क दिवस के अवसर पर देशी-विदेशी मदिरा के सभी फुटकर, थोक विक्रय केन्द्र और मदिरा भाण्डागार सम्पूर्ण दिवस के लिए बंद रहेंगे। मदिरा का क्रय-विक्रय भी पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।
कलेक्टर ने आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं।

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन 30 तक

छतरपुर | 24-सितम्बर-2019

जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 6 वीं में सत्र 2020-21 में प्रवेश हेतु परीक्षा के लिए ऑनलाईन आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 सितम्बर से बढ़ाकर 30 सितम्बर कर दी गई है। प्रवेश चयन परीक्षा 11 जनवरी 2020 को जिले के सभी विकासखण्डों में आयोजित की जाएगी। ऑनलाईन आवेदन www.navodaya.gov.in तथा nvsadmissionclasssiu.in के माध्यम से भरा जा सकता है।
प्रवेश चयन परीक्षा हेतु आवेदन करने के लिए अभ्यर्थी को शासकीय या मान्यता प्राप्त विद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2019-20 में कक्षा 5वीं में अध्ययनरत होना चाहिए। अभ्यर्थी का जन्म दिनांक 01 मई 2007 से 30 अप्रैल 2011 के मध्य होना चाहिए।

त्रुटिरहित मतदाता सूची के लिए चलाया जा रहा है मतदाता सत्यापन कार्यक्रम

छतरपुर | 17-सितम्बर-2019

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशन में 100 प्रतिशत त्रुटिरहित मतदाता सूची के लिए मतदाता सत्यापन कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसके अंतर्गत मतदाता नामावली में अपने नाम का सत्यापन ईपिक नम्बर की सहायता से आसानी से कर सकते हैं। मतदाता को अपने मोबाईल, ईपिक नम्बर के साथ लॉगिन करने के बाद अपना नाम, जन्म दिनांक, लिंग, संबंधी का प्रकार, पता तथा फोटो सत्यापित करना होगा। मतदाता को त्रुटियों या विवरण, फोटोग्राफ में परिवर्तन के लिए सही जानकारी का उल्लेख करना अनिवार्य है तथा सूची में दर्शाए किसी भी एक आईडी फार्म को अपलोड करना होगा। इसके पश्चात आगे की सेवाओं के लिए मतदाता को अपना मोबाईल नम्बर और ई-मेल आईडी दर्ज करना होगा।
इसी प्रकार वोटर हेल्पलाईन मतदाता एप के माध्यम से भी मतदाता नामावली में नाम का सत्यापन किया जा सकता है। इसके लिए प्ले स्टोर से वोटर हेल्पलाईन एप डाउनलोड करना होगा। एप डाउनलोड होने के बाद ईवीपी के माध्यम से मतदाता को अपना नाम सर्च करना होगा तथा अपना नाम, जन्म दिनांक, लिंग, संबंधी का प्रकार, पता तथा फोटो सत्यापित कर सकते हैं। त्रुटियों या मतदाता विवरण, फोटोग्राफ में परिवर्तन के लिए डवकपलि में सही जानकारी का उल्लेख करना होगा। जानकारी सही होने पर वेरीफाई करें। सत्यापन के पश्चात आयोग द्वारा पीडीएफ फार्मेट में एक प्रमाण पत्र दिया जाएगा। बीएलओ द्वारा भी एक सितम्बर से 15 अक्टूबर 2019 के मध्य घर-घर जाकर सत्यापन कार्य किया जा रहा है। मतदाता नामावली में त्रुटि होने की स्थिति में बीएलओ द्वारा संशोधित फार्म भरा जाएगा।

समाज के उत्थान के लिए अंधविश्वास और रूढ़िवादी परंपरा का त्याग जरूरी – मंत्री श्री हर्ष यादव
बड़ामलहरा में मटकी फोड़ कार्यक्रम का हुआ आयोजन

छतरपुर | 06-सितम्बर-2019

समाज को सार्थक दिशा में ले जाने और समाज की दशा बदलने में युवा वर्ग का अहम योगदान है। अंधविश्वास और रूढ़िवादी परम्परा को छोड़ना किसी भी समाज के हित के लिए जरूरी है। इसके अलावा समाज के सर्वांगीण विकास के लिए अनावश्यक चीजों का त्याग करना भी बहुत आवश्यक है। यह बात प्रदेश शासन के कुटीर एवं ग्रामोद्योग और नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हर्ष यादव ने बड़ामलहरा के हनुमान बाग पार्क स्थित मंदिर परिसर में मटकी फोड़ कार्यक्रम में कही।
उन्होंने बड़ामलहरा को बुंदेलखण्ड का हृदयस्थल बताते हुए कहा कि समाज के उत्थान के लिए बच्चों की शिक्षा जरूरी है। समाज के लोगों को यह समझना होगा कि शिक्षा ही सफलता का सबसे बड़ा जरिया है, इसलिए अभिभावक बच्चों को शिक्षा के लिए प्रेरित करें और समाज को नई दिशा में बढा़ने के लिए अपना अमूल्य योगदान दें। मंत्री ने कहा कि सफलता पर परिवार के साथ-साथ समाज का भी मान-सम्मान बढ़ेगा।
दबाव और प्रभाव से बचें, स्वभाव से मन जीतें
मंत्री श्री यादव ने नसीहत दी कि दबाव और प्रभाव की परिपाटी से बचकर स्वभाव से मन जीतने की कला विकसित करें। समाज के लोगों से नशा और मृत्यु भोज बंद करने का आव्हान भी मंत्री ने किया। इसके अलावा युवाओं से अधिक आमदनी के लिए कृषि और दूध का परम्परागत व्यवसाय के स्थान पर आधुनिक और तकनीकी व्यवसाय अपनाने की अपील भी की। उन्होंने किसी भी समस्या पर हरसंभव मदद का भरोसा भी दिया।
विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया और समाज में शान से जीने के लिए आपसी मनमुटाव छोड़ने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि नशा नाश की जड़ है, इसलिए इस बुराई को दूर करना जरूरी है।
कार्यक्रम के पहले बिहारी मंदिर से हनुमान बाग पार्क तक शोभायात्रा निकाली गई। इस अवसर पर पूर्व राज्यमंत्री ललिता यादव, पूर्व विधायक रेखा यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि और समाज के विभिन्न पदाधिकारी मौजूद रहे।

राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा सितम्बर माह

छतरपुर | 31-अगस्त-2019

प्रदेश में राष्ट्रीय पोषण अभियान में इस वर्ष भी सितंबर माह राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा। 1 से 30 सितम्बर तक मनाये जाने वाले पोषण माह की टैग लाईन हर घर पोषण का त्यौहार रखी गयी है। पूरे माह राज्य, जिला, विकासखण्ड और आँगनवाड़ी स्तर पर पोषण जागरूकता एवं इसे जन-आंदोलन का रूप देने विभिन्न कार्यक्रम होंगे।
राष्ट्रीय पोषण माह का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य एवं पोषण आवश्यकता के प्रति जागरूकता, गर्भावस्था जाँच और पोषण देखभाल, शीघ्र स्तनपान व्यवहार, सही समय पर ऊपरी आहार और निरन्तरता आदि पर प्रचार-प्रसार कर समुदाय को जागरूक करना है। इसके अतिरिक्त एनीमिया या शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिये आयरन सेवन एवं खाद्य विविधता संबंधित उपायों तथा पाँच वर्ष तक के बच्चों की शारीरिक वृद्धि निगरानी, किशोरी-शिक्षा, पोषण शिक्षा का अधिकार, सही उम्र में विवाह, सफाई और स्वच्छता की गतिविधियों के माध्यम से पोषण विषय को जन-आन्दोलन का रूप देना है।

सैनिक स्कूल रीवा में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित 

छतरपुर | 23-अगस्त-2019

 छतरपुर जिले के सभी भूतपूर्व सैनिक और सैनिक विधवाएं शैक्षणिक सत्र 2020-21 में कक्षा 6वीं और 9वीं में अपने बच्चों के प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन आगामी 23 सितम्बर तक कर सकते हैं। कक्षा 6वीं में प्रवेश के लिए छात्र का जन्म 1 अपै्रल 2008 से 31 मार्च 2010 के मध्य और कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए 1 अप्रैल 2005 से 31 मार्च 2007 के मध्य होना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए सैनिक स्कूल की वेबसाइट अथवा जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में सम्पर्क किया जा सकता है।

कमिश्नर ने राजनगर सीईओ को जारी किया कारण बताओ नोटिस 

छतरपुर | 09-अगस्त-2019

 सागर संभागायुक्त आनंद कुमार शर्मा ने लक्षित पंजीकृत श्रमिकों के सत्यापन कार्य में लापरवाही बरतने पर जनपद पंचायत राजनगर के सीईओ प्रतिपाल सिंह बागरी को दो वेतनवृद्धि रोकने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी कर 15 दिवस में जवाब मांगा है।
उल्लेखनीय है कि म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल और मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना अंतर्गत श्रमिकों के सत्यापन का कार्य 1 जुलाई से 15 अगस्त तक किया जाना है। गत 5 अगस्त को श्रमिकों के सत्यापन संबंधी कार्य की संभागीय समीक्षा की गई थी। समीक्षा के दौरान पाया गया कि जनपद पंचायत राजनगर अंतर्गत 69 हजार 761 श्रमिकों के भौतिक सत्यापन के विरूद्ध मात्र 37 हजार 407 श्रमिकों का ही सत्यापन किया गया है, जबकि 32 हजार 354 श्रमिकों का सत्यापन लंबित है। राजनगर जनपद पंचायत में 1 जुलाई से समीक्षा तिथि तक मात्र  53.62 प्रतिशत सत्यापन किए जाने और अपात्र श्रमिक की संख्या मात्र 17 हजार 422 होने पर प्रगति असंतोषजनक पाई गई।
अतः कमिश्नर द्वारा शासन और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के बाद भी पदीय दायित्वों और कर्त्तव्यों के निर्वहन में उदासीनता बरतने और सीईओ के कृत्य को स्वेच्छाचारिता एवं लापरवाही मानकर नोटिस जारी किया गया है। यह कृत्य म.प्र. सिविल सेवा (आचरण) नियम 1965 के नियम 3 का उल्लघंन होने से दण्डनीय है। सीईओ द्वारा निर्धारित समयावधि में नोटिस का जवाब नहीं देने पर एक पक्षीय कार्यवाही की जाएगी।

कृमि मुक्ति दिवस 8 अगस्त को मनाया जाएगा

छतरपुर | 30-जुलाई-2019

 छतरपुर जिले में आगामी 8 अगस्त को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया जाना है। इसमें 1 से 19 साल तक के सभी बच्चों को स्कूल एवं आंगनबाड़ी के माध्यम से कृमि नियंत्रण की दवाई (एलबेंडाजोल) खिलाई जाएगी। 13 अगस्त को मॉप अप दिवस होगा, जिसमें छूटे हुए बच्चों को गोली खिलाई जाएगी।
1 से 19 साल तक के सभी बच्चों को आंत के कृमि संक्रमण का खतरा रहता है। कृमि मनुष्य की आंत में रहते है। और जीवित रहने के लिए मानव शरीर के जरूरी पोषक तत्व को खाते हैं।

कृमि कैसे फैलते हैं

    कृमि संक्रमण अस्वच्छता के कारण होता है। संक्रमित मिट्टी के संपर्क द्वारा कृमि संक्रमण संचारित होता है। कृमि की जितनी अधिक मात्रा होगी संक्रमित व्यक्ति के लक्षण उतने अधिक होंगे।
संक्रमित बच्चे के शौच में कृमि के अंडे होते हैं। खुले में शौच करने से ये अंडे मिट्टी में मिल जाते हैं और विकसित होते हैं। बच्चे नंगे पैर चलने से, गंदे हाथों से खाना खाने से या फिर बिना ढका हुआ भोजन खाने से लार्वा के संपर्क में आने से संक्रमित हो जाते हैं। संक्रमित बच्चों में कृमि के अंडे व लार्वा रहता है और बच्चों के स्वास्थ्य को हानि पहुंचाते हैं।

 

शासकीय उचित मूल्य दुकान निलंबित

छतरपुर | 26-जुलाई-2019

 अनुविभागीय अधिकारी नौगांव बी.बी. गंगेले द्वारा अनियमितता की शिकायत पर शासकीय उचित मूल्य दुकान झींझन को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की कार्यवाही की गई है। इसके अलावा दुकान की प्रतिभूति राशि राजसात किए जाने का भी आदेश पारित किया गया है।
निलंबन के बाद उपभोक्ताओं को नजदीकी संस्था सेवा सहकारी समिति मर्यादित लुगासी द्वारा संचालित शासकीय उचित मूल्य दुकान लुगासी से संबद्ध किया गया है।
उल्लेखनीय है कि ग्राम झींझन के निवासियों द्वारा दुकान से राशन वितरण नहीं होने की शिकायत की गई थी। शिकायत के बाद कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी नौगांव के जांच प्रतिवेदन में पाया गया कि पीडीएस दुकान झींझन में मूल्य सूची और  निगरानी समिति बोर्ड प्रदर्शित नहीं किया गया था। जांच के दौरान मांगे जाने पर विक्रेता द्वारा स्टाक रजिस्टर भी प्रस्तुत नहीं किया गया। इसके अलावा दुकान के अभिलेख अनुसार भण्डारित राशन सामग्री का भौतिक सत्यापन करने पर 4.08 क्विंटल गेहूं, 1.63 क्विंटल चावल और 0.56 क्विंटल चना कम भण्डारित पाया गया, जो कि म.प्र. सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंत्रण आदेश 2015 के प्रावधानों का उल्लंघन है। दुकान के विक्रेता द्वारा म.प्र. सार्वजनिक वितरण (नियंत्रण) आदेश की कण्डिका 11 का उल्लंघन प्रमाणित पाए जाने पर एसडीएम द्वारा कण्डिका 16 में प्रदत्त शक्तियों के तहत दुकान को निलंबित किया गया है।

 

विद्युत बिल की बकाया राशि वसूली और चोरी पकड़ने के निर्देश

छतरपुर | 23-जुलाई-2019

बिजली कम्पनी के एमडी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को बकाया बिजली बिल की वसूली करने और चोरी पकड़ने के निर्देश दिए हैं। इस क्रम में वितरण केन्द्र छतरपुर शहर कार्यालय द्वारा 20 जुलाई को अभियान चलाकर 15 लाख रूपए के 22 कनेक्शन काटकर 5 लाख रूपए की राशि वसूली की गई। इसी तरह 22 जुलाई को 12 लाख रूपए के 17 कनेक्शन काटे गए। आगामी दिनों में भी बकाया राशि वसूलने की कार्यवाही की जाएगी।
विभाग के अभियंता सर्वेश शुक्ला ने बताया कि वितरण केन्द्र छतरपुर शहर कार्यालय अंतर्गत लगभग 12 करोड़ रूपए की बकाया राशि है। ऐसे उपभोक्ता जिनकी बकाया राशि 50 हजार रूपए से अधिक है, उनकी सूची सार्वजनिक स्थानों  पर चस्पा की जाएगी।
इसी तरह विभाग द्वारा बिजली चोरी पकड़ने के लिए अधिक लाइन लॉस वाले ट्रांसफार्मर चिन्हित किए गए हैं। टीमों का गठन कर ऐसे ट्रांसफार्मर के उपभोक्ताओं के विद्युत कनेक्शन की जांच में विद्युत चोरी की पुष्टि होने पर उपभोक्ताओं से वसूली की कार्यवाही की जाएगी।

अंग्रेजी विषय की कोचिंग के लिए शिक्षकों से आवेदन आमंत्रित 

छतरपुर | 12-जुलाई-2019

 जनजातीय कार्य विभाग द्वारा वर्ष 2019-20 में जिला स्तर पर संचालित अनुसूचित जाति महाविद्यालयीन सीनियर बालक/कन्या छात्रावासों में अध्ययनरत/निवासरत छात्र-छात्राओं को अंग्रेजी विषय की कोचिंग प्रदान करने के लिए इच्छुक शिक्षकों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।
जिला संयोजक आर.पी. भद्रसेन ने बताया कि स्थानीय महाविद्यालय अथवा स्थानीय आदिम जाति कल्याण और शिक्षा विभाग के उत्कृष्ट शालाओं के योग्य एवं अनुभवी विषय विशेषज्ञों में से योग्यता के आधार पर शिक्षकों का चयन किया जाएगा। निजी स्कूल और कोचिंग संस्थानों के योग्य और अनुभवी विषय विशेषज्ञ शिक्षक भी आवेदन कर सकते हैं।
अध्यापन कार्य के इच्छुक शिक्षक संस्था प्रमुख की सहमति और अनुभव प्रमाण-पत्र के साथ संबंधित छात्रावास के अधीक्षक/अधीक्षिका को 15 दिवस के भीतर आवेदन कर सकते हैं।

जनसुनवाई 

छतरपुर | 04-जून-2019  कलेक्टर मोहित बुंदस की अध्यक्षता में छतरपुर जिला पंचायत सभाकक्ष में आज जनसुनवाई हुई। जनसुनवाई के दौरान छतरपुर जिले के सैकड़ों आवेदकों ने अपनी-अपनी समस्याओं को लेकर कलेक्टर के समक्ष निराकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत किए गए।
जनसुनवाई में दूर-दराज क्षेत्रों से आए अन्य आवेदकों ने भी नामांतरण, सीमांकन, छात्रवृत्ति, मानदेय भुगतान इत्यादि के लिए आवेदन प्रस्तुत किए। जिपं सीईओ हर्ष दीक्षित, एडीएम पी.एस. चौहान सहित अन्य विभागों के अधिकारियों ने भी अधिकतर आवेदकों की समस्या का निराकरण किया और समुचित कार्यवाही के लिए संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए।