Monday, September 23News That Matters

झाबुआ

Share

अंतर्जातीय विवाह करने पर विनिता पिता रामचन्द्र को 2 लाख रूपये प्रोत्साहन राशि स्वीकृत

झाबुआ | 17-सितम्बर-2019

सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग श्री प्रशांत आर्य ने बताया कि अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना अंतर्गत श्रीमती विनिता हनोनिया एवं उनके पति श्री राहुल वर्मा के संयुक्त बैंक खाते में भुगतान करने के लिए 2 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की गई है। स्वीकृत राशि ई पेमेट के माध्यम से भुगतान की जाएगी। श्री आर्य ने बताया कि श्रीमती विनिता पिता रामचन्द्र हनोनिया निवासी झाबुआ का विवाह श्री राहुल पिता घनश्याम निवासी 90, शिव शक्ति नगर आगरा रोड उज्जैन के साथ होने से इन्हे हिन्दु मेरिज एक्ट 1955 के अंतर्गत मध्यप्रदेश शासन अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना अंतर्गत उपहार स्वरूप राशि रूपये 2 लाख स्वीकृत की गई है।

जल निकास हेतु उचित दूरी पर नालिया बनाए

किसानो को दी गई सलाह

झाबुआ | 06-सितम्बर-2019

कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ द्वारा किसानो को सलाह दी गई है कि आगामी पांच दिन आसमान मे मध्यम से घने बादल रहने,तापमान सामान्य रहने व भारी वर्षा होने की संभावना है। भारी वर्षा के जल के निकास हेतु खेत में उचित दूरी पर नालिया बनाए व इसका निकास खेत से बाहर करे। खरीफ फसलो में कीट के आक्रमण की संभावना अधिक है अतः निगरानी रखे व मौसम खुलने पर कीट नियंत्रण हेतु अनुशंसित कीटनाशक का प्रयोग करे। टमाटर, भिण्डी, बैगन, पालक, ग्वारफली, कद्दूवर्गीय सब्जियो एवं हरी मिर्च, अदरक एवं हल्दी की फसल में जल निकास हेतु उचित दूरी पर नालिया बनाए एवं अनुशंसित मात्रा में उर्वरक दे। दुधारू पशुओ को हरा चारा 25 किलो प्रति पशु प्रति दिन व संतुलित आहार एवं मिनरल की आपूर्ति हेतु 50 ग्राम प्रति पशु के हिसाब से मिनरल मिश्रण की खुराक दे।

खेल दिवस पर खेल प्रतियोगिताओ का हुआ आयोजन

झाबुआ | 31-अगस्त-2019

हॉकी के जादूगर स्व. मेजर ध्यानचन्दजी के जन्म दिवस राष्ट्रीय खेल दिवस दिनांक 29 अगस्त 2019 के अवसर पर जिला मुख्यालय में खेल ओर युवा कल्याण विभाग द्वारा तीरंदाजी, कराते, एथलेटिक्स एव हैंडबाल खेल प्रतियोगिता आयोजित की गयी।
तीरंदाजी ओर कराते खेल प्रतियोगिता का आयोजन बहूद्देशीय खेल परिसर झाबुआ मे किया गया। तीरंदाजी ओर कराते खेल प्रतियोगिता का समापन ओर पुरस्कार वितरण मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ, जिला पंचायत उपाध्यक्ष एव सदस्य जिला पंचायत के आतिथ्य मे सम्पन्न हुआ। आतिथियों द्वारा विजेता खिलाड़ियो को पुरस्कृत किया गया।
एथलेटिक्स खेल प्रतियोगिता का आयोजन पुलिस लाइन झाबुआ मे किया गया, विजेता खिलाड़ियो को पुरस्कार वितरण जिला खेल ओर युवा कल्याण अधिकारी श्री जलज चतुर्वेदी के द्वारा किया गया।
हैंडबाल खेल प्रतियोगिता का आयोजन शा.उ.मा. रातीतलाई झाबुआ मे किया गया। जिसमे 10 टीमों 07 बालक वर्ग एव 03 बालिका वर्ग ने भाग लिया। समापन ओर पुरस्कार वितरण मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ श्री संदीप शर्मा, प्राचार्य नवोदय विध्यालय श्री ए. हमीद खान, जिला खेल ओर युवा कल्याण अधिकारी श्री जलज चतुर्वेदी, नायब तहसीलदार हर्षल बहरानी, क्रीडा प्रभारी आदिवासी विकास विभाग कुलदीप धबीई, मनोज पाठक, योगेश गुप्ता हैंडबाल कोच अवलोक शर्मा आदि ने विजेता खिलाड़ियो को पुरस्कृत किया।

वर्षा ऋतु में जलजनित मौसमी बीमारीयों की रोकथाम के उपाय

झाबुआ | 23-अगस्त-2019

 वर्षा ऋतु में संक्रामक रोग जैसे हैजा, उल्टी-दस्त, पैचिस, खसरा, मलेरिया, पीलिया आदि बीमारियां उत्पन्न होने की संभावना रहती है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ. बारिया ने बताया कि नदी, तालाब जैसे जल स्त्रोतों के पास जब लोग मल त्याग करते है तो मल में मौजूद रोगाणु पानी में मिल जाते है। जब लोग स्नान करते हैं, कपड़े धोते है या पशुओं को नहलाते है तो अनेक रोगाणु पानी में फैल सकते है। जब पीने के लिए या भोजन पकाने के लिए ऐसे प्रदूषित व गंदे जल का उपयोग किया जाता है, तो यह रोगाणु शरीर में प्रवेश कर कई प्रकार की बीमारियों से पीडि़त कर देते है, जिसके कारण दस्त, हेजा, टायफाइड, पीलिया, खूनी पैचिस, तथा कीड़े की बीमारी तथा आंव दस्त जैसी कई बीमारियां होती है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ. बारिया ने बताया कि वर्षा ऋतु में जल जनित रोगों से बचाव के लिए हमेशा शुद्ध जल का प्रयोग किया जाना चाहिए। हेण्डपम्प का पानी सबसे सुरक्षित साधनों में से एक है। पानी को हमेशा छानकर व उबालकर इस्तेमाल करने से कई बीमारियों से बचा जा सकता है। कुंओं के पानी में नियमित ब्लीचिंग पाउडर डाला जाना चाहिए। साथ ही पीने के पानी को हमेशा साफ बर्तन में ही रखना चाहिए। पानी के बर्तन को प्रतिदिन साफ करें तथा पानी को दोहरे कपड़े से छानकर भरा जाना चाहिए। पानी निकालने के लिए लम्बे हेण्डिल वाले बर्तन का प्रयोग करें तथा पीने के पानी में हाथ न डाले। एक घड़े या मटकें में एक क्लोरीन गोली पीसकर डालना चाहिए। आधे घण्टे तक इसे ढ़ककर रखने के बाद ही पानी पीने के लिए उपयोग करना चाहिए। उल्टी-दस्त रोग होने पर ओ.आर.एस. पेकेट एक लीटर स्वच्छ व शुद्ध पानी को घोलकर रोगी को पिलाना शुरू कर देना चाहिए। मरीज को 24 घण्टे के अन्दर यह घोल अधिक से अधिक मात्रा में पिलाना चाहिए व 24 घण्टे के बाद बचा हुआ घोल फेककर दूसरे पेकेट का घोल बनाना चाहिए। दूध पीने वाले शिशु को मॉं का दूध पिलाना बंद नहीं करना चाहिए।

प्रदेश के 13 जिलों में सामान्य से अधिक और 28 जिलों में सामान्य वर्षा

झाबुआ | 09-अगस्त-2019

  प्रदेश में इस वर्ष मानसून में एक जून से 7 अगस्त तक 13 जिलों में सामान्य से अधिक, 28 जिलों में सामान्य एवं 10 जिलों में सामान्य से कम वर्षा हुई है। सर्वाधिक वर्षा भोपाल जिले में और सबसे कम वर्षा सीधी जिले में दर्ज हुई है।
सामान्य से अधिक वर्षा वाले जिले भोपाल, मंदसौर, नीमच, रतलाम, झाबुआ, शाजापुर, सीहोर, खण्डवा, राजगढ़, आगर-मालवा, बुरहानपुर, इंदौर और रायसेन हैं।
सामान्य वर्षा वाले जिले भिण्ड, बड़वानी, अलीराजपुर, मुरैना, धार, सिंगरौली, उमरिया, नरसिंहपुर, उज्जैन, होशंगाबाद, गुना, मण्डला, शिवपुरी, डिण्डौरी, दतिया, दमोह, श्योपुरकलां, देवास, हरदा, रीवा, अशोकनगर, खरगोन, बैतूल, टीकमगढ़, ग्वालियर, जबलपुर, सतना और विदिशा हैं।
अनूपपुर, सागर, सिवनी, छतरपुर, कटनी, पन्ना, बालाघाट, छिंदवाड़ा, शहडोल और सीधी जिलों में सामान्य से कम वर्षा मापी गई।

महंगे स्कूल व कॉलेज में पढ़ाई के लिए ले सकेंगे ऋण विद्या लक्ष्मी योजना में

परिजनों की इस परेशानी को दूर करने के लिए सरकार ने नई योजना शुरू की 

झाबुआ | 30-जुलाई-2019

     सरकार की नई योजना परिजनों को अपने बच्चों को महंगे स्कूल व कॉलेज में पढ़ाने के तनाव से मुक्त करा सकती है। परिजनों की इस परेशानी को दूर करने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना शुरू की है।
योजना के जरिए सरकार स्टूडेंट्स को केंद्र की 10 से अधिक मिनिस्ट्री व विभाग की स्कॉलरशिप स्कीम के माध्यम से रूपए दिलवाए जाते हैं। वही दूसरी उन्हें देश के 35 करोंड़ बैंको की ओर से चलाई जा रही 95 लोन स्कीम के माध्यम से लोन दिलाया जाएगा। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार की 10 से अधिक मिनिस्ट्री की ओर से शिक्षा के लिए स्टूडेंट्स को छात्रवृति दी जाती है। पीएम विद्यालक्ष्मी योजना के तहत इन स्कीम्स को एक ही प्लेटफार्म पर लाया गया है। इस प्लेटफार्म पर स्टूडेंट्स ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। इसके लिए स्टूडेंट्स को पीएम विद्यालक्ष्मी योजना की साइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा।

विद्यार्थी ऐसे कर सकता है लोन के लिए अप्लाई, यह मिलेंगे फायदे

    विद्या लक्ष्मी योजना में रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद स्टूडेंट्स को एक ई-मेल आईडी व पासवर्ड मिलेगा। इसके बाद साइट पर ईमेल आईडी व पासवर्ड डालने के बाद लॉगइन कर सकेंगे। स्टूडेटस शिक्षा के लिए लोन फॉर्म भरे। विद्या लक्ष्मी योजना के तहत शिक्षा के लोन लेने के लिए स्टूडेंट्स को इसी पोर्टल पर उसकी सारी जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। वहीं, स्टूडेंट्स को शिक्षा के लिए लोन से संबंधित सवाल व शिकायत के लिए ई-मेल की सुविधा मिलेगी। शिक्षा के लिए लोन लेने के लिए कॉमन प्लेटफार्म होने की वजह से स्टूडेंट्स को इधर-उधर भटकना नही पड़ेगा।

 

पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती होने वाले बच्चो का निरंतर फालोअप किया जाए-कलेक्टर

जिला स्वास्थ्य समिति की कार्यकारी की बैठक सम्पन्न 

झाबुआ | 23-जुलाई-2019

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्टर कार्यालय के सभा कक्षा में सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने की। बैठक में वर्ष 2019-20 (अप्रैल 2019 से जून 2019 तक) स्वास्थ्य विभाग में चल रही विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं जननी सुरक्षा योजना, आयुष्मान भारत योजना, टीकाकरण, अंधत्व निवारण कार्यक्रम, कुष्ठ निवारण कार्यक्रम, टीबी निवारण कार्यक्रम, दस्तक अभियान एवं समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों की उपलब्धियों की समीक्षा ब्लाकवार की गई एवं आवश्यक निर्देश दिये गये। बैठक में सिविल सर्जन डॉ. प्रभाकर, सहायक संचालक महिला एवं बाल विकास श्री सस्तिया सहित बीएमओ एवं स्वास्थ्य विभाग के मैदानी स्वास्थ्य सेवक उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने निर्देश दिये कि दस्तक अभियान अंतर्गत चिन्हित एनीमिक बच्चो को 25 से 29 जुलाई तक खून चढाने के लिए जिला अस्पताल में लाकर आवश्यकता अनुसार खून चढवाये। प्रतिमाह ब्लाक एवं क्लस्टर स्तर पर महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग की सयुक्त बैठक आयोजित कर योजनाओ में कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती होने वाले बच्चो का निरंतर फालोअप किया जाए। जिले में कार्यरत डिलेवरी पाईट पर सभी आवश्यक सुविधाये एवं स्टाफ की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। आगामी 15 अगस्त को होने वाली ग्राम सभाओ में महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग की योजनाओ पर विस्तार पूर्वक चर्चा कर स्वास्थ्य के प्रति ग्रामीणो को जागरूक किया जाए।

 

पंचायत परिसीमन के दावे आपति अब 16 अगस्त तक दे सकेंगे 

दावे आपतियो का निराकरण 20 अगस्त तक होगा

झाबुआ | 12-जुलाई-2019

    निर्वाचन आयोग द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन को लेकर होने वाली परिसीमन प्रक्रिया कार्यक्रम में संशोधन किया है। इसमे दावे- आपति लेने की तारीख 8 जुलाई से बढाकार 16 अगस्त कर दी गई है। इसी क्रम में अन्य प्रक्रियाओ को भी आगे बढाया है। परिसीमन के निए दावे- आपति के लिए कम समय होने के कारण कई क्षेत्रो से ग्रामीणो की शिकायते थी। जिले में 86 नई पंचायतो के गठन के लिए परिसीमन की प्रक्रिया चल रही है। ग्राम मुख्यालय का बदला जाना या पंचायत का गठन, विस्थापन या पुनर्गठन संबंधी प्रारंभिक प्रकाशन 1 जुलाई को हो चुका है। इन पर दावे-आपति सहित अन्य प्रक्रिया 16 अगस्त तक होगी। दावे-आपति व सुझाव के निराकरण के बाद पंचायत के वार्ड क्षेत्र तथा अजा, अजजा अन्य पिछडा वर्ग एवं महिला वर्ग के लिए आरक्षित वार्डो की संख्या का अंतिम प्रकाशन होगा।
नया संशोधन कार्यक्रम :- 16 अगस्त तक दावे-आपति पेश करें। 20 अगस्त तक इनका निराकरण होगा एवं ग्राम पंचायत के गठन का अंतिम प्रकाशन 22 अगस्त को किया जाएगा। 27 अगस्त वार्ड का निर्धारण तथा उनका प्रारंभिक प्रकाशन। प्रकाशन के बाद इन पर 3 सितंबर तक दावे आपति व सुझाव लिए जाएगे। 5 सितंबर तक इनका निराकरण होगा। इसके बाद 6 सितंबर को पंचायत के वार्ड क्षेत्र तथा अजा, अजजा अन्य पिछडा वर्ग एवं महिला वर्ग लिए आरक्षित वार्डो की संख्या के विवरण की अधिसूचना का अंतिम प्रकाशन होगा।

अभियान का प्रथम चरण 10 जून से 20 जुलाई तक चलाया जायेगा 

झाबुआ | 06-जून-2019   दस्तक अभियान प्रथम चरण 10 जून से 20 जुलाई हेतु राज्य शासन के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग एवं शिक्षा विभाग के आपसी समन्वय से झाबुआ जिले के समस्त विकासखण्डों में वर्चुअल क्लास के माध्यम से समस्त स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को दस्तक अभियान में की जाने वाली गतिविधियों को विस्तार पूर्वक विषय विशेषज्ञों के द्वारा प्रशिक्षित किया गया। उक्त कार्यक्रम में जिला स्तर पर जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राहुल गणवा, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी श्रीमती आयशा कुरैशी, डॉ.  बीएस डावर एवं समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारी एवं समस्त स्वास्थ्य कर्मचारी अपने-अपने विकासखण्ड पर शिक्षा विभाग के नोडल अधिकारियों के साथ उपस्थित रहे।