Thursday, September 23News That Matters

डिंडोरी

कलेक्टर कार्यालय डिंडौरी में “सद्भावना दिवस“ के अवसर पर अधिकारी-कर्मचारियों ने ली प्रतिज्ञा
डिंडोरी | 20-अगस्त-2021

    ’’सद्भावना दिवस’’ के अवसर पर आज गुरूवार को प्रातः 11:00 बजे जिले सभी शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों ने प्रतिज्ञा ली है। इसी क्रम में कलेक्टर कार्यालय डिंडौरी में भी सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा ली गई है कि  “मैं प्रतिज्ञा करता हूं/करती हूं  कि मैं जाति, संप्रदाय, क्षेत्र, धर्म अथवा भाषा का भेदभाव किए बिना सभी भारतवासियों की भावनात्मक एकता और सद्भावना के लिए कार्य करूंगा/करूंगी। मैं पुनः प्रतिज्ञा करता/करती हूं कि मैं हिंसा का सहारा लिए बिना सभी प्रकार के मतभेद बातचीत और संवैधानिक माध्यमों से सुलझाऊंगा/ सुलझाऊंगी।“ उक्त सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा 20 अगस्त 2021 को दिलाई जानी थी, किंतु भारत सरकार, युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय के निर्देशानुसार 20 अगस्त 2021 को मोहर्रम का अवकाश होने के कारण सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा आज दिनांक 19 अगस्त 2021 को दिलाई गई है। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री अरूण कुमार विष्वकर्मा, मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमति अंजू अरूण विष्वकर्मा, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी श्री आर.एम. सिंह, कलेक्टर स्टेनो श्री कृपाल सिंह गौतम सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजदू थे।

शा. उत्कृष्ट विद्यालय डिंडौरी में ली गई सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा:-

’’सद्भावना दिवस’’ के अवसर पर आज गुरूवार को प्रातः 11:00 बजे शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय डिंडोरी के प्रांगण में भी अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा प्रतिज्ञा ली गई है। इस अवसर पर आयुष चिकित्सा अधिकारी डॉ. समीक्षा सिंह, जिला टीकाकरण अधिकारी श्री राजकुमार डोंगरे सहित समस्त स्टॉफगण मौजूद थे।

शिक्षा विभाग के अमले को वैक्सीनेशन कराना जरूरी: कलेक्टर श्री रत्नाकर झा

कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने शिक्षा विभाग की बैठक में दिए निर्देश
डिंडोरी | 18-जून-2021

   डिंडौरी जिले में शिक्षा विभाग के सभी अधिकारी और कर्मचारियों का वैक्सीनेशन कराना जरूरी है। वैक्सीनेशन कराने पर ही वेतन आहरण करने के निर्देश दिये गए थे। जिससे वैक्सीनेशन के प्रतिदिन के लक्ष्य को पूरा किया जा सके। वैक्सीनेशन में गर्भवती महिलाओं, बीमार शासकीय सेवक और कोरोना पॉजिटिव को छूट प्रदान की गई है। शिक्षा विभाग का वैक्सीनेशन होने से प्रगति आएगी, जिससे वैक्सीनेशन के लक्श्य की प्राप्ति होगी। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्श में आयोजित शिक्षा विभाग की बैठक में उक्त निर्देश दिए। इस अवसर पर सहायक आयुक्त जनजाति कार्य विभाग डॉ. संतोष शुक्ला, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान श्री राघवेन्द्र मिश्रा सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि कक्षा पहली के लिए विद्यार्थियों का नामांकन कराना सुनिश्चित करें। इसके लिए शिक्षा विभाग का अमला अभिभावकों से संपर्क करेगा। कक्षा पांचवी, आठवी और दसवी उर्त्तीण विद्यार्थियों को आगामी कक्षाओं में प्रवेश दिया जाए। कलेक्टर श्री झा ने सभी कक्षाओं में विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत नामांकन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस अवसर पर व्हॉट्सअप ग्रुप के क्रियान्वयन की स्थिति की भी समीक्षा की। कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में स्वीकृत सीट के आधार पर कक्षा छठवी से दसवी तक की छात्राओं के नामांकन की भी समीक्षा की गई।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने विद्यालय परिसर में अनिवार्य रूप से वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए। जिससे विद्यालय परिसर हरा-भरा हो सके। उन्होंने कहा कि विद्यालय परिसर के आसपास शासकीय भूमि उपलब्ध होने पर ऐसी भूमि में भी वृक्षोरापण किया जाए। कलेक्टर झा ने विद्यालय भवन, अतिरिक्त कक्ष और शौचालय निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने लंबित निर्माण कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिए। विद्यालय परिसर को हमेशा साफ-स्वच्छ रखने को कहा। कलेक्टर श्री झा ने सभी विद्यालयों को जल जीवन मिशन से जोडने के निर्देश दिए। जिससे विद्यालयों मंे पेयजल की समस्या न रहे। उन्होंने जल जीवन मिशन के अंतर्गत विद्यालयों को जोडने के लिए सूची भेजने के निर्देश दिए हैं। जिससे सभी विद्यालय जल जीवन मिशन से जुड़ सके।

टीकाकरण केन्द्रों को समय से पूर्व बंद करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी : कलेक्टर श्री रत्नाकर झा

कलेक्टर श्री झा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में नोडल अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली
डिंडोरी | 08-जून-2021

    कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि किल कोरोना अभियान के अंतर्गत जिले में 31 टीकाकरण केन्द्र स्थापित कर नोडल अधिकारी नियुक्त किये गए हैं। टीकाकरण केन्द्रो में विभागीय अमले को निर्धारित समय में उपस्थित होना होगा। टीकाकरण केन्द्र में विलंब से पहुंचने या समय से पहले बंद करने पर नोडल अधिकारी सहित समस्त अमले पर कडी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने टीकाकरण के दिन की सूचना एक दिन पूर्व ग्रामीणजनों को देने के निर्देश दिए। जिससे अधिक से अधिक व्यक्ति उपस्थित होकर टीकाकरण करवा सकें। इसका वनग्रामों में भी व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। कलेक्टर श्री झा सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में नोडल अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर एसडीएम डिंडौरी श्री महेश मण्डलोई, डिप्टी कलेक्टर सुश्री रजनी वर्मा, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान श्री राघवेन्द्र मिश्रा, सहायक संचालक पिछडा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग सुश्री दिव्या राय, कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री रवि डेहरिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 रमेश मरावी, सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि जिले में किल कोरोना अभियान के अंतर्गत 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के सभी व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा रहा है। कोई भी व्यक्ति टीकाकरण केन्द्रों में जाकर टीका लगवा सकता है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिए राजस्व अमला, पंचायत विभाग, आंगनबाडी कार्यकर्ता, सहायिका, शिक्षक इत्यादि प्रमुख भूमिका निभायेंगे। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने जन अभियान परिषद को प्रचार वाहन के माध्यम से जन जनजागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। जिससे टीकाकरण की प्रगति बढ सके। कलेक्टर ने कोविड केयर सेंटरों के कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने कोविड केयर सेंटर में व्यय राशि का भुगतान करने के निर्देश दिए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिले में दवाईयां इंजेक्षन, ऑक्सीजन सिलेण्डर, पीपीई किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने विकासखण्ड स्तर पर चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान के प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने गांव-गांव में जन जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। बिना मास्क पहने घूमने वाले व्यक्तियों पर दण्ड अभिरोपित करने और मास्क नहीं पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने पर दुकानदारों की दुकानें सील करने को कहा। कलेक्टर श्री झा ने जिला चिकित्सालय में जन सहयोग से निर्माण हो रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने समस्त निर्माण कार्यों को गुणवत्तापूर्वक पूरा करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री झा ने एसडीएम डिंडौरी को निर्देश दिए कि बैंक मैनेजरों की बैठक आयोजित कर जिला प्रशासन द्वारा जारी कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी बैंक मैनेजर बैंकों में आने वाले व्यक्त्यिों को अनिवार्य रूप से मास्क का वितरण करें और बैंको में अनावश्यक भीड़ न लगाएं।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने जिले की स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए झोलाछाप डॉक्टरों के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिकों की जांच करें। क्लीनिकों में सरकारी दवाईयां मिलने पर झोलाछाप डॉक्टरों के विरूद्ध पुलिस थाने में प्रकरण पंजीबद्ध करें।

निर्धन उपभोक्ताओं को तीन माह का राशन मुफ्त दिया जाएगा

संक्रमण की चेन तोड़ना प्रत्येक जिले का टास्क हो संस्थाएँ सहयोग के लिए रहें सक्रिय मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा जिलों के कलेक्टर्स से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा संवाद
डिंडोरी | 20-अप्रैल-2021

    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शहरों और कस्बों के साथ ही प्रदेश के ग्रामों में भी संक्रमण बढ़ने से रोकना है। ग्रामों में जो सुरक्षित हैं, वे सुरक्षित रहें और बाहर न निकलें। जहाँ अधिक संक्रमित रोगी हैं वहाँ कन्टेनमेंट जोन बनाकर संक्रमण नियंत्रण सुनिश्चित करें। हर स्थिति में संक्रमण की चेन तोड़ना है। रहवासी संघ और स्वैच्छिक संगठन सहयोग करें ताकि जो व्यवस्थाएँ छोटी पड़ रही हैं, उन्हें पर्याप्त बनाया जा सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा कलेक्टर्स से संवाद किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा, बुरहानपुर प्रशासन के संक्रमण नियंत्रण के प्रयासों को सराहनीय बताया है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी पात्र निर्धन उपभोक्ताओं को उचित मूल्य की दुकानों से एक साथ तीन माह का राशन नि:शुल्क मिलेगा।
साँस की डोर न टूटे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में संक्रमित रोगियों के लिए पर्याप्त ऑक्सीजन की व्यवस्था के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास किए गए हैं। रेमडेसिविर इंजेक्शन भी लगातार आ रहे हैं। इनका न्यायपूर्ण वितरण सुनिश्चित किया जाए ताकि किसी रोगी की साँस की डोर न टूटे।
हर व्यक्ति शंका होने पर टेस्ट अवश्य कराएँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आइसोलेशन से जुड़ी पूरी व्यवस्थाएँ जिलों में सुनिश्चित करें। जिन व्यक्तियों को सर्दी-खाँसी, बुखार है, वे तत्काल जाँच करवाएँ, जाँच की रिपोर्ट आने तक स्वयं को आइसोलेशन में रखें। सेंपल देने के बाद बहुत से लोग घूमते रहते हैं। इस पर भी नियंत्रण करना है। इससे परिवार को संक्रमित होने से बचाया जा सकेगा। यदि घर छोटा है तो कोविड केयर सेंटर जाकर व्यवस्था का लाभ लेना चाहिए।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर्स से कहा कि जिन जिलों में ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए गए हैं, वे प्लांट स्थापना का कार्य प्रारंभ करें। कुछ जिलों में ऑक्सीजन सिलेंडर लेने की पहल सराहनीय है। कलेक्टर द्वारा स्थानीय प्रबंध भी सुनिश्चित हों।
भारत और मध्यप्रदेश हमारी माँ है
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी 30 अप्रैल तक घर से न निकलें, संक्रमण की चैन तोड़ें। भारत और मध्यप्रदेश हम सबकी माँ है, इसके दूध की लाज रखना है। समाज, इस संकट में साथ खड़ा हो। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर्स से कहा कि आइसोलेशन केन्द्रों के लिए निजी और सरकारी भवन का उपयोग करें। कलेक्टर अपने स्तर पर नवाचार भी करें। हम सम्मिलित प्रयासों से जंग जीत जायेंगे।
कारावास जाएंगे कालाबाजारी करने वाले
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि औषधियों की कालाबाजारी करने वाले को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएसए) में कारावास भेजें। इस समय सबसे बड़ी आवश्यकता लोगों का जीवन बचाना है। जीवनरक्षक इंजेक्शन को अधिक कीमत पर बेचने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।
वित्तीय समस्या नहीं होगी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा किए जाने वाले स्थानीय प्रबंध में वित्तीय समस्या नहीं आने दी जाएगी। राज्य शासन स्तर से धन राशि की कमी नहीं होगी। यह प्रत्येक जिले का टास्क होना चाहिए कि कम से कम रोगी अस्पताल पहुँचे। होम आइसोलेशन व्यवस्था का अधिकतम प्रयास हो। इन्दौर में की गई पहल प्रशंसनीय है। सांसद, विधायक भी पूरा सहयोग कर रहे हैं। सामाजिक संगठन सरकार के प्रयासों को मजबूत करें। निश्चित ही इस महामारी को हम सभी मिलकर हरा दें

रोजगार मेले से मिलेगा रोजगार और बनेगा सुनहरा भविष्य बनेगा : कलेक्टर रत्नाकर झा

कलेक्ट्रेट ऑडोटोरियम में आयोजित मेले में 229 युवक एवं युवतियों का हुआ चयन
डिंडोरी | 13-अप्रैल-2021

    कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि जिले में आयोजित होने वाले रोजगार मेलों से बेरोजगार युवक एवं युवतियों को रोजगार मिलेगा और उनका सुनहरा भविष्य बनेगा। रोजगार मेलों के माध्यम से बेरोजगार युवक एवं युवतियां को नए-नए रोजगार के क्षेत्र में जाने का अवसर मिला है। कलेक्टर ने रोजगार मेले में चयनित आवेदकों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। कलेक्टर श्री झा शुक्रवार को कलेक्ट्रेट ऑडोटोरियम में आयोजित रोजगार मेला को संबोधित कर रहे थे। रोजगार मेला में तकनीकि शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग द्वारा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश निर्माण के अंतर्गत डीएस कंसलटेंसी, एलआईसी डिंडौरी, वर्धमान यार्न भोपाल, प्रतिभा सिंटेक्स धार, वर्धमान फेब्रिक बुधनी, एसआईएस अनूपपुर एवं प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र शामिल रहे। रोजगार मेला में 640 आवेदकों के पंजीयन हुए जिसमें 229 आवेदकों का प्राथमिक चयन हुआ है।
कलेक्टर श्री झा ने कहा कि जिले में नियमित रूप से रोजगार मेलों का आयोजन किया जायेगा। जिससे जिले के बेरोजगार युवक एवं युवतियों को विभिन्न क्षेत्रों में    रोजगार उपलब्ध हो सके। उन्होंने आयोजित रोजगार मेले में चयनित युवक एवं युवतियों को चयनित क्षेत्रों में पूर्ण निष्ठा एवं लगन के साथ काम करने की सलाह दी। कलेक्टर ने रोजगार मेले के आयोजन की सूचना मिलने के संबंध में भी जानकारी ली और शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिए आगे आने को कहा। कलेक्टर श्री झा ने रोजगार मेले में लगाये गए स्टॉलों का भी अवलोकन किया और रोजगार मेला में चयनित युवक एवं युवतियों को नियुक्ति पत्र का वितरण किया। इस अवसर पर जिला रोजगार अधिकारी श्रीमति सुषमा विश्वकर्मा, प्राचार्य आईटीआई श्री रमेश सिंह मरावी, जिला समन्वयक नेहरू युवा केन्द्र श्री कुशवाह सहित रोजगार मेला में पहुंचे युवक एवं युवतियां मौजूद थे।

उन्नत कृषि यंत्र मिलने से सुखीराम के खेत में बढी फसल की पैदावार (सफलता की कहानी)

डिंडोरी | 05-मार्च-2021

    डिंडौरी जिले में आदिवासी उपयोजना विशेष केन्द्रीय सहायता मद से किसान सुखीराम निवासी ग्राम बरसोद जनपद पंचायत बजाग को एक उन्नत कृषि यंत्र मिलने से उसके जीवन में बदलाव आ गया है। पहले वह परंपरागत पद्धति से खेती करता था। कृषि यंत्र मिलने से वह उन्नत कृषि तकनीकी को अपनाया है। उसने बताया कि उसके पास सिंचाई का कोई साधन नहीं था। वह वर्षा पर आधारित परंपरागत पद्धति खेती पर निर्भर था। खेतों में सिंचाई नहीं होने और पानी की कमी से फसलों की पैदावार बहुत कम होती थी। उसे प्रतिवर्ष 15 क्विंटल धान ही मिल पाता था। उसने बताया कि वह सिंचाई के लिए एक उन्नत कृषि यंत्र खरीदना चाहता था, लेकिन उसके पास इतने रूपए-पैसे नहीं थे कि वह उन्नत कृषि यंत्र खरीद सके। वह इस कारण हताष और परेशान रहने लगा था। उसने बताया कि एक दिन ग्राम पंचायत सचिव से खबर मिली कि उसे आदिवासी उपयोजना विशेष केंद्रीय सहायता मद से सिंचाई के लिए एक उन्नत कृषि यंत्र प्रदान किया जायेगा। यह खबर सुनकर वह बहुत प्रसन्न हुआ। उसने सोचा कि उन्नत कृषि यंत्र मिलने से वह अपने खेतों में सिंचाई करेगा। खेतों में सिंचाई नहीं होने से फसल की कम पैदवार होने की समस्या समाप्त हो जायेगी। उसने बताया कि उसे एक दिन आदिवासी उपयोजना विशेष केन्द्रीय सहायता मद से एक उन्नत कृषि यंत्र प्रदान किया गया। सुखीराम को उन्नत कृषि यंत्र मिलने से वह अब खेतों में सिंचाई कर रहा है। उसके खेतों में फसलों की पैदावार बढ गई है। उसने बताया कि वह अब प्रतिवर्ष 25 क्विंटल धान उगा रहा है। आदिवासी उपयोजना विशेष केन्द्रीय सहायता मद से उन्नत कृषि यंत्र मिलने पर उसके खेतों में फसलों की पैदावार बढी है। जिससे अब सुखीराम के चेहरे में मुस्कान आ गई है।

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना कार्यक्रम के लिए अधिकारियों को सौंपी गई जिम्मेदारी

27 फरवरी 2021 को उत्कृष्ट विद्यालय डिंडौरी के मैदान में आयोजित होगा कार्यक्रम
डिंडोरी | 26-फरवरी-2021

    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा दमोह जिले में 27 फरवरी 2021 को आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत 20 लाख किसानों को 400 करोड़ की राशि का वितरण किया जायेगा। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने बताया कि डिंडौरी जिले में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का उक्त कार्यक्रम शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय डिंडौरी के मैदान में आयोजित होगा। आयोजित कार्यक्रम का सफलता पूर्वक क्रियान्वयन करने के लिए श्री पी.डी. सराठे उप संचालक कृषि को नोडल अधिकारी बनाया गया है। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री महेश मण्डलोई संपूर्ण कार्यक्रम का सुचारू रूप से संचालन करेंगे। मुख्यकार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत डिंडौरी श्रीमति वर्षा झारिया कार्यक्रम का आयोजन, बेक ड्राप (बैनर), मंच, बैठक एवं प्रोजेक्टर की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। तहसीलदार डिंडौरी श्री बिसन सिंह ठाकुर तथा सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख श्री गिरीष धुलेकर आमंत्रण, सोशल डिस्टेंसिंग तथा बैठक व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। सीएमएचओ डिंडौरी डॉ. आर.के. मेहरा थर्मल स्कैनर की व्यवस्था और एलडीएम श्री मोहन चौहान प्रतीकात्मक चेक की व्यवस्था करेंगे। जिला जनसंपर्क अधिकारी श्री के.के. मेरावी इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया के माध्यम से कार्यक्रम का प्रचार-प्रसार और डीआईओ एनआईसी श्री अभिनव साहू तथा प्रबंधक ई-गवर्नेंस श्री दीपक साहू कार्यक्रम स्थल में इंटरनेट टी.व्ही. लेपटॉप, प्रोजेक्टर ऑपरेटिंग, फोटोग्राफ्स अपलोड तथा संख्यात्मक जानकारी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री राकेश कुमार शुक्ला मॉस्क एवं सेनेटाईजर की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।

जिला विकास समन्वय समिति (दिशा) की बैठक 24 फरवरी को होगी

डिंडोरी | 19-फरवरी-2021

      केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री भारत सरकार श्री फग्गन सिंह कुलस्ते की अध्यक्षता में 24 फरवरी 2021 को प्रात: 11 बजे कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला विकास समन्वय समिति (दिशा) की बैठक की आयोजित की जायेगी। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने उक्त बैठक में सभी को उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।

सभी अधिकारी और कर्मचारियों को लगेगी को-वेक्सीन

डिंडोरी | 13-फरवरी-2021

      जिले के सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को जिला चिकित्सालय डिंडौरी में को-वेक्सीन लगाई जायेगी। कलेक्टर डिंडौरी ने सभी कार्यालय स्थापना में कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारियों की जानकारी निर्धारित फार्मेट में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डिंडौरी एवं कलेक्टर कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। जिससे सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को-वेक्सीन लगाई जा सके।

केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते 06 फरवरी को डिंडौरी आयेंगे

डिंडोरी | 05-फरवरी-2021
    केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री भारत सरकार श्री फग्गन सिंह कुलस्ते 06 फरवरी 2021 को प्रात: 9:30 बजे जबलपुर से प्रस्थान कर प्रात: 11:30 बजे डिंडौरी आगमन करेंगे। केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री कुलस्ते सर्किट हाउस डिंडौरी में अल्प विश्राम कर दोपहर 12:00 बजे ग्राम मूसामुंडी, गोरखपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। आप दोपहर 1:00 बजे से ग्राम मूसामुंडी में तुलसीघाट तक ग्रेवल रोड का भूमिपूजन तथा ग्राम गोरखपुर में जल जीवन मिशन के अंतर्गत नल-जल प्रदाय योजना का भूमिपूजन करेंगे। केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री श्री कुलस्ते सायंकाल 6:30 बजे मूसामुंडी से डिंडौरी के लिए प्रस्थान करेंगे। आप सायंकाल 7:00 बजे डिंडौरी आगमन कर जैन समाज द्वारा आयोजित पुरूस्कार वितरण कार्यक्रम में शामिल होने के बाद रात्रि 8:30 बजे डिंडौरी से मण्डला के लिए प्रस्थान करेंगे।

अधिकारियों ने कार्तिक पूर्णिमा की व्यवस्थाओं का लिया जायजा

नरसिंहपुर | 28-नवम्बर-2020

    कलेक्टर श्री वेद प्रकाश के निर्देशन में सीईओ जिला पंचायत श्री केके भार्गव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार शिवहरे सहित अन्य अधिकारियों ने आगामी 30 नवम्बर को कार्तिक पूर्णिमा की व्यवस्थाओं का बरमान पहुंचकर शुक्रवार को जायजा लिया। अधिकारियों ने बरमान में विभिन्न घाटों और पहुंच मार्गों का मुआयना किया। उन्होंने कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं के लिए की जा रही व्यवस्थाओं को देखा और आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने सुरक्षा प्रबंधों पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया।

नगरीय निकायों को उपभोक्ता प्रभार के संबंध में सहयोग देने प्रकोष्ठ गठित

डिंडोरी | 20-नवम्बर-2020
    राज्य शासन द्वारा जल प्रदाय, जल-नल एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन सेवाओं के लिए उपभोक्ता प्रभार लगाने के लिए बनाये गए नियमों के संबंध में नगरीय निकायों को तकनीकी सहयोग देने एवं समन्वय के लिए संचालनालय नगरीय प्रशासन एवं विकास स्तर पर एक प्रकोष्ठ गठित किया गया है। प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मुख्य अभियंता श्री संजय खाड़े होंगे। सहायक यंत्री श्री सुनील श्रीवास्तव सदस्य सचिव होंगे। समिति में अधीक्षण यंत्री श्री सुरेश सेजकर, वित्त अधिकारी श्री ए.जे. इक्का और सहायक लेखा अधिकारी श्री सिद्धांत अवस्थी को सदस्य बनाया गया है।

कमिश्नर श्री महेशचंद्र चौधरी ने सहकारी उचित मूल्य की दुकान सुनपुरी का किया निरीक्षण

डिंडोरी | 10-जुलाई-2020
       कमिश्नर जबलपुर संभाग श्री महेशचंद्र चौधरी ने शुक्रवार को सहकारी उचित मूल्य की दुकान सुनपुरी विकासखण्ड बजाग का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि खाद्यान्न उपभोक्ताओं को नियमित रूप से साफ-सुथरा खाद्यान्न का वितरण किया जाए। कमिश्नर श्री चौधरी ने सहकारी उचित मूल्य की दुकान में चावल, गेहूं, शक्कर का भी परीक्षण किया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन, मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरूण कुमार विश्वकर्मा, सहायक कलेक्टर सुश्री सृष्टिजयंत देशमुख, एसडीएम डिंडौरी श्री कुमार सत्यम, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग डॉ0 अमर सिंह उईके, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान श्री राघवेन्द्र मिश्रा सहित जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

किसान सिंचाई यंत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रस्तुत करें

डिंडोरी | 19-जून-2020

    उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजनांतर्गत सिंचाई यंत्र (पाईप लाईन, स्प्रिंकलर सेट एवं पम्प सेट) हेतु इच्छुक किसान ई-कृषि यंत्र पोर्टल की वेबसाईट dbt.mpdage.org पर दोपहर 12:00 बजे से कम्प्यूटर/मोबाईल के माध्यम से ऑनलाईन आवेदन कर सकेंगे। सभी किसानों का चयन 29 जून को लॉटरी प्रक्रिया के माध्यम से किया जायेगा। इसके बाद पोर्टल पर चयनित किसानों की सूची एवं प्रतीक्षा सूची प्रदर्शित की जायेगी। आवेदन के साथ किसानों को पासपोर्ट साईज की फोटो, खसरा किश्तबंदी, बैंक पासबुक, जाति प्रमाण पत्र एवं सिंचाई स्त्रोत का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा।

सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ करें – कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन

सीएमएचओ को नोटिस, सहायक यंत्री आरईएस की वेतनवृद्धि रोकने और वेतन काटने के दिये निर्देश, सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई समय-सीमा की बैठक
डिंडोरी | 11-फरवरी-2020

  

कलेक्टर श्री बी कर्तिकेयन ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कारण बताओं नोटिस जारी करने को कहा है। उन्हे उक्त नोटिस जिलें में हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं और बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण व स्वास्थ्य सुविधाओं का क्रियान्वयन बेहतर ढंग से नही होने के कारण दिया जा रहा है। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन सोमवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक में उक्त निर्देश दिए है। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री एम.एल. वर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्री रमेश सिंह, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग डॉ. अमर सिंह उइके, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान श्री राघवेन्द्र मिश्रा सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। आयोजित बैठक में जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी ने बताया कि जनवरी माह में जिले में 171 कुपोषित बच्चे चिहिन्त किए गए है। जिसमें 69 बच्चों को पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती कराया गया है। कलेक्टर श्री कर्तिकेयन ने कहा कि सभी कुपोषित बच्चों को पोषण पुर्नावास केन्द्र में भर्ती कर उनका उपचार और नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए।
कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत लाभांवित होने वाले किसानों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना से कोई भी किसान वंचित नहीं होना चाहिए। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने बैठक में जल संरक्षण के कार्यों की समीक्षा की। वन क्षेत्रों में जल संरक्षण के कार्यों के लिए विधिवत रूप से वन विभाग से अनुमति प्राप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने जल संरक्षण के कार्यों में लापरवाही बरतने पर एसडीओ, आरईएस की एक वेतनवृद्धि रोकने और वेतन काटने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने बैठक में जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर की तैयारियों की भी समीक्षा की। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि 23 फरवरी को जिला चिकित्सालय डिंडौरी में जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जायेगा। इस शिविर में गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों का उपचार होगा। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने बैठक में लोक सेवा केन्द्र और समय-सीमा पत्रकों के लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। समस्त प्रकरणों का एक सप्ताह में निराकरण करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की भी समीक्षा की। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण लेवल-1 एवं लेवल-2 पर ही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण संतुष्टिपूर्वक दर्ज होना चाहिए। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने बैठक में गौशाला निर्माण कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि समस्त विकासखण्डों के गौशाला का निर्माण फरवरी माह में पूरा हो जाना चाहिए।

महाशिविर का आयोजन 15 फरवरी को समनापुर में होगा

आयोजित बैठक में बताया गया कि 15 फरवरी 2020 को जनपद पंचायत समनापुर में महाशिविर का आयोजन किया जायेगा। महाशिविर में हितग्राहियों को शासन की योजनाओं से लाभांवित किया जायेगा। इस अवसर पर शासन की योजनाओं से संबंधित विकास प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने सभी अधिकारियों को महाशिविर की तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से मनोज कुमार ने खोली बर्तन की दुकान ’’सफलता की कहानी’’

डिंडोरी | 21-दिसम्बर-2019

श्री मनोज कुमार पाराशर की बर्तन की दुकान मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से खनखना उठी है। पहले खेतीबाडी करने वाला मनोज पाराशर अब स्वंम की बर्तन दुकान खोलकर अपना व्यापार प्रारंभ कर दिया है। उसने बताया कि वह खेतीबाडी करने के बाद वह ज्यादातर समय बेरोजगार रहता था। श्री मनोज पाराशर ने बताया कि वह ऐसा कोई काम प्रारम्भ करना चाहता था जिससे वह साल भर लाभ कमा सके। वह बर्तन की दुकान खोलना चाहता था, लेकिन उसके पास पूंजी नही होने के कारण वह परेशान था। उसके पास खेतीबाडी के कुछ रूपये-पैसे थे, लेकिन वे इतने नही थे कि वह बर्तन की दुकान खोल सके। बर्तन की दुकान नही खोल पाने के कारण वह दिनोदिन हताश होने लगा। श्री मनोज पाराशर ने बताया कि एक दिन उसने अखबार में सामाचार पढा कि जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग के द्वारा बेरोजगार युवक/युवतियों को स्वम का रोजगार स्थापित करने के लिए विभिन्न योजनाए संचालित है। इच्छुक आवेदन आनलाईन आवेदन कर अपना व्यवसाय प्रारंभ कर सकता है।
श्री मनोज कुमार पाराशर ने बताया कि वह मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का लाभ लेने के लिए जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र से संपर्क किया और लोन लेने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी ली। महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग श्री मर्टिन ने उसे मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के बारे में विस्तार से बताया। इस योजना के अंतर्गत अधिकतम 2 लाख रूपये का अनुदान शासन के द्वारा दिया जाता है। श्री मनोज कुमार पाराशर ने जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग से जानकारी लेने के बाद मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत बर्तन की दुकान खोलने के लिए 7 लाख रूपये का प्रकरण तैयार कर आनलाईन आवेदन किया। कुछ ही दिन में उसका प्रकरण स्वीकृत कर लिया गया और उसे बर्तन की दुकान खोलने के लिए 7 लाख रूपये मिल गए। उसने बताया कि जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग से उसे दो लाख रूपये का अनुदान भी मिला है। श्री मनोज पाराशर ने पुरानी बस्ती डिंडौरी में अपनी बर्तन की दुकान चला रहा है। उसने प्रतिमाह तीस हजार रूपये की आमदानी होना बताया है। श्री मनोज पाराशर ने बताया कि वह सपने भी नही सोचा था कि एक दिन उसकी बर्तन की दुकान होगी। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ने उसके बर्तन की दुकान खोलने के सपनों को साकार कर दिया है। श्री मनोज पाराशर बर्तन की दुकान खोलकर बहुत प्रसन्न है और वह अपनी इस सफलता के लिए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी को बहुत-बहुत धन्यवाद दे रहा है।

अल्पसंख्यक प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति ऑनलाइन आवेदन भरने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर

डिंडोरी | 18-अक्तूबर-2019

सहायक संचालक पिछडा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग डिण्डौरी ने बताया कि भारत सरकार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय नई दिल्ली के माध्यम से संचालित ’’अल्पसंख्यक प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना’’ के अंतर्गत नवीन एवं नवीनीकरण छात्रवृत्ति प्रकरणों के लिए विद्यार्थियों द्वारा ऑनलाईन आवेदन भरने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर 2019 तक बढाई गई है। शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा विद्यार्थियों से प्राप्त ऑनलाईन आवेदनों को अगले चरण हेतु ऑनलाईन अग्रेषित करने हेतु 15 नवम्बर 2019 निर्धारित की गई है। समस्त शैक्षणिक संस्थाएं निर्धारित समय-सीमा में विद्यार्थियों द्वारा ऑनलाईन आवेदन भरने की प्रक्रिया पूर्ण कराकर आवेदनों को अगले चरण हेतु अग्रेषित करना सुनिश्चित करावें।

15 हजार की सहायता राशि स्वीकृत

डिंडोरी | 11-अक्तूबर-2019

कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने मृतक कालूराम पिता श्री प्रेमलाल निवासी़ ग्राम-समनपुरा तहसील शहपुरा, जिला डिण्डौरी की 23 अगस्त 2019 को सडक दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के कारण मृतक के निकटतम वारसान पत्नि श्रीमति मंतो बाई को 15 हजार रूपए की आर्थिक अनुदान सहायता राशि की स्वीकृति प्रदान की है।

डिण्डौरी के खिलाड़ी राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता इंदौर में दिखायेंगे अपने-अपने जौहर ’’खुशियों की दास्तान’’

डिंडोरी | 05-अक्तूबर-2019

प्रदेश शासन के मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम आदिम जाति कल्याण विमुक्त घुमक्कड एवं अर्धघुमक्कड जनजाति कार्यविभाग ने गुरूवार को डिण्डौरी जिले के कबड्डी खिलाडी पुरूष एवं बालिका को राज्य स्तरीय सीनियर कबड्डी खेल प्रतियोगिता इंदौर में भाग लेने के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं दी है। मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि प्रदेश सरकार के द्वारा प्रदेश में युवा खिलाडियों को खेल प्रतियोगिता के लिए लगातार प्रोत्साहित किया जा रहा है। डिण्डौरी जिले की खेल प्रतिभाओं को इससे आगे बढने का अवसर मिलेगा। मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि उन्हें बहुत प्रसन्नता हो रही है कि डिण्डौरी जिले में खेल प्रतियोगिता का आयोजन कर खिलाडियों को आगे बढने के लिए प्रेरित किया जाता है और गांव-गांव खेल में खिलाडियों का चयन कर उन्हें राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं में भेजा जा रहा है। इस अवसर पर जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष श्री राधेलाल नागवंशी, मो. जावेद खान, श्री गोकुल सिंह तेकाम, श्री कोमल सिंह मरकाम, मो. शरीफ खान, श्री रमाकांत साहू, श्री अयोध्या प्रसाद बिसेन, श्री संदीप सिंह मरकाम, श्री ललित बनावल, श्री चेतराम अहिरवार, श्री खेमकरण सिंह उपस्थित थे। डिण्डौरी जिले के कबड्डी खिलाडी पुरूष एवं बालिका राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता इंदौर में जाकर भाग लेंगे। जिसमें पुरूष खिलाडी विजय पाल, अमरलाल, संतोष यादव, हेमंत पुषाम, लारेन्द्र बर्मन, प्रदीप मरावी, देवेन्द्र आर्मो, लालसिंह आर्मो, शिवकुमार मरावी, निरंजन कुमार, प्रदीप कुमार, चेतराम वालरे, बालिका कबड्डी खिलाडी में सोना परस्ते, स्नेहा मरावी, देविका बर्मन, मोनिका मरावी, रीता सरौते, शिवकुमारी मरावी, संजना मार्को, साक्षी मरावी, गरिमा बैरागी, अंजनी परस्ते, अंजली आर्मो, वर्षा पाण्डेय इत्यादि कबड्डी खिलाडी राज्य स्तरीय प्रतियोगिता इंदौर में जाकर कबड्डी खेलकर जिले का नाम रोशन करेंगे।
जिला क्रीडा सचिव श्री चेतराम अहिरवार ने बताया कि 10 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक राज्य स्तरीय सीनियर कबड्डी खेल प्रतियोगिता का आयोजन इंदौर में किया जा रहा है। आयोजित कबड्डी खेल प्रतियोगिता में डिण्डौरी जिले के खिलाडियों को इंदौर ले जाया जायेगा। राज्य स्तरीय सीनियर कबड्डी खेल प्रतियोगिता इंदौर में अपने खेल का जौहर दिखाने के लिए सभी खिलाडी बहुत उत्सुक हैं। जिले में क्रीडा सचिव ने बताया कि खेल प्रशिक्षण के माध्यम से ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के बालक एवं बालिकाओं को खिलाडी के रूप में तैयार किया जाता है। जिससे डिण्डौरी जिले के खिलाडी राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय खेलों में जिले का नाम रोशन कर सकें। जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष श्री राधेलाल नागवंशी ने बताया कि राज्य स्तरीय सीनियर कबड्डी खेल प्रतियोगिता इंदौर में आयोजित की जा रही है। इस प्रतियोगिता के लिए जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के कबडडी खिलाडियों का चयन किया गया है। जिला कबड्डी संघ डिण्डौरी के द्वारा जिले में बालक एवं बालिकाओं के लिए खेल प्रतियोगिता आयोजित कर उन्हें राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के खेल में भाग लेने के लिए प्रशिक्षण देकर तैयार किया जाता है। जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष श्री नागवंशी ने बताया कि डिण्डौरी जिले के खिलाडी खेल प्रतियोगिता के माध्यम से अपना सुनहरा भविष्य बना सकते हैं।

वरिष्ठ केन्द्रीय निर्वाचन उपायुक्त ने की मतदाता सत्यापन कार्यक्रम की समीक्षा

डिंडोरी | 27-सितम्बर-2019

वरिष्ठ केन्द्रीय निर्वाचन उपायुक्त श्री संदीप सक्सेना ने यहाँ निर्वाचन भवन में मतदाता सत्यापन कार्यक्रम की समीक्षा की। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ताराव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे। उपायुक्त श्री सक्सेना ने कहा कि मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को विशेष एप से कराये जाने का मुख्य उद्देश्य यह है कि मतदाता स्वयं अपनी जानकारी अद्यतन करें ताकि मतदाता सूची में गलती की गुंजाइश न रहे। फिलहाल यह कार्य बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लक्ष्य यह है कि निकट भविष्य में आधार कार्ड की तरह व्यक्ति स्वयं ऑनलाईन जाकर मतदाता सूची में अपनी जानकारी अद्यतन करे। श्री सक्सेना ने कहा कि मतदाता सूची को सुधारने के लिए चुनाव आयोग प्रतिबद्ध है। जनता को अच्छी से अच्छी सुविधाएँ देना है ताकि निष्पक्ष एवं निर्बाध मतदान कराया जा सके। उन्होंने मतदाता सूची से मृतकों के नाम हटाने पर विशेष ध्यान देने को कहा। साथ ही सुझाव दिया कि श्मशान घाट/शांति स्थल से इस डेटा को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। श्री सक्सेना ने कहा कि जिस तरह पुलिस हेल्पलाईन नम्बर लोगों को याद है, उसी तरह 1950 नम्बर भी लोगों को याद होना चाहिए। मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को स्थानीय निकायों की सहायता से भी आसानी से किया जा सकता है। उन्होंने मतदान केन्द्रों का युक्तियुक्त करण करने की बात कही ताकि कम श्रम में बेहतर प्रबंधन हो सके। उपायुक्त श्री सक्सेना एवं प्रबंधक आईटी, केन्द्रीय चुनाव आयोग श्री व्ही.एन. शुक्ला ने भोपाल जिले का भ्रमण कर मतदाता सत्यापन कार्य का निरीक्षण किया। श्री व्ही.एन. शुक्ला ने एप से जुड़ी तकनीकी जानकारी देते हुए कहा कि बीएलओ को प्रशिक्षण के दौरान ऐप के संबंध में सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से दी जाये। उन्होंने बताया कि एक सितम्बर से अभी तक एप के चार वर्जन आ चुके हैं, जिनके बारे में बीएलओ पूरी तरह से अवगत नहीं हैं। वरिष्ठ केन्द्रीय निर्वाचन उपायुक्त ने कहा कि बीएलओ का मानदेय तभी दिया जाए, जब वे अपना लक्ष्य पूरा करें। बीएलओ को मतदाता सत्यापन कार्यक्रम के एप के सम्बन्ध में प्रशिक्षण दिया जाये ताकि काम समय सीमा में पूरा हो। बीएलओ की निर्भरता को कम करने के लिये एप का उपयोग किया जा रहा है। बीएलओ को मतदाता का सत्यापन, मतदाता का परिवार बनाना, परिवार के प्रत्येक सदस्य की जानकारी का सत्यापन करना है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ताराव ने मतदाता सत्यापन की जानकारी देते हुए बताया कि सभी राज्यों में मध्यप्रदेश पाँचवे स्थान पर है। सत्यापन का कार्य बारिश की वजह से थोड़ा धीमी गति से हुआ। मौसम खुलते ही कार्य गति पकडे़गा और सत्यापन समय सीमा में पूरा किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में मतदाताओं के ब्लैक एण्ड व्हाइट फोटो को नवीन रंगीन फोटो में भी परिवर्तित करने का कार्य भी चल रहा है। उल्लेखनीय है कि भारत निर्वाचन आयोग ने एक सितम्बर को मतदाता सत्यापन कार्यक्रम प्रारंभ किया था। इसके तहत समस्त मतदाताओं की मतदाता सूची में दर्ज जानकारी का सत्यापन किया जायेगा। इसके लिये भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नेशनल वोटर सर्विस पोर्टल (एन.व्ही.एस.पी.) पर मतदाताओं को सुविधा उपलब्ध करायी गयी है। इसके साथ ही, मतदाताओं को वोटर हेल्पलाईन मोबाईल एप की सुविधा भी दी गयी है। इस एप में एक क्लिक पर ही त्रुटि का सुधार हो जाता है। मतदाता सत्यापन कार्य 15 अक्टूबर तक पूरा किया जाना है। मतदाताओं द्वारा उनके विधानसभा क्षेत्र के मतदाता सहायता केन्द्र पर अथवा 1950 से भी यह सुविधा प्राप्त की जा सकती है।

19 सितम्बर तक जिले में हुई वर्षा की जानकारी

डिंडोरी | 20-सितम्बर-2019

अधीक्षक भू-अभिलेख डिण्डौरी से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 19 सितम्बर 2019 की स्थिति में जिले की औसत वर्षा 1161.4 मिमी है। इसी प्रकार से 01 जून 2019 से 19 सितम्बर 2019 तक डिण्डौरी जिले के विकासखण्डों में हुई वर्षा की स्थिति में डिण्डौरी में 1312.0, अमरपुर में 1242.0, समनापुर में 1295.0, बजाग में 1208.8, करंजिया में 1036.3, शहपुरा में 1134.8 और मेंहदवानी में 901.3 वर्षा दर्ज की गई है। इस प्रकार से जिले की कुल वर्षा 8130.2 मिमी दर्ज हुई है।

15 हजार की सहायता राशि स्वीकृत

डिंडोरी | 14-सितम्बर-2019

कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने मृतक श्री पंकज किशोर झारिया पिता श्री प्रकाश कुमार झारिया ग्राम-अमठेरा तहसील शहपुरा, जिला डिण्डौरी की 29 मई 2019 को सडक दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के कारण मृतक निकटतम वारिस श्री प्रकाश कुमार झारिया को 15 हजार रूपए की आर्थिक अनुदान सहायता राशि की स्वीकृति प्रदान की है।

नरबदिया बाई के हाथ नहीं है फिर तैयार कर ली किस्मत की लकीरें ’’खुशियों की दास्तान’’

डिंडोरी | 31-अगस्त-2019

डिण्डौरी जिले के ग्राम खन्नात की रहने वाली नरबदिया बाई के पास हाथ नहीं है फिर भी वह अपनी मेहनत से किस्मत की लकीरें तैयार कर कामयाबी हासिल कर ली है। नरबदिया बाई के हाथ नहीं होने पर वह जबडे में ’’पेंटिंग ब्रष’’ दबाकर चित्रकारी का काम करती है। उसके द्वारा बनाई गई पेंटिंग दुर्लभ एव परम्परागत कला को प्रदर्षित करती है। पेंटिंग देखने वाला प्रशंसा किये बिना नहीं रह सकता है। नरबदिया बाई के हाथ नहीं होने के बावजूद भी वह भरण-पोषण के लिए अपने परिवार पर निर्भर नहीं है। नरबदिया बाई ने हाथ नहीं होने पर कभी अपने किस्मत को नहीं कोसा बल्कि कुछ अलग करने की ठानी। नरबदिया बाई घर का अधिकांश काम मुह में सामान दबाकर ही कर लेती है, फिर उसने कुछ अलग करने की सोची। वह मुंह में ’’पेंटिंग ब्रश’’ दबाकर चित्रकारी करने लगी, लगातार अभ्यास से वह धीरे-धीरे बेहतर और लुभावने चित्र बनाने लगी। नरबदिया बाई के द्वारा बनाये जाने वाले चित्रों की चर्चा धीरे-धीरे जिले में होने लगी। उसने अपने चित्रों को और भी बेहतर ढंग से बनाने के लिए आजीविका परियोजना से प्रशिक्षण लिया। इसके बाद नरबदिया बाई ने कोरे कागजों में रंग भरना प्रारम्भ किया तो उन कोरे कागजों ने नरबदिया बाई के जीवन को रंगीन बना दिया। आजीविका परियोजना के प्रबंधक ने बताया कि नरबदिया बाई के द्वारा बनाई गई पेंटिंग 500 रूपए से लेकर 1000 रूपए तक की कीमत में बिकती है। आजीविका परियोजना द्वारा 9 अगस्त 2019 को उत्कृष्ट विद्यालय मैदान में आयोजित विश्व आदिवासी दिवस के कार्यक्रम में नरबदिया बाई के द्वारा बनाई गई पेंटिंग को बेचने के लिए स्टॉल लगाया गया था। इस अवसर पर विधायक श्री भूपेन्द्र सिंह मरावी और कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने नरबदिया बाई के द्वारा बनाई गई पेंटिंग खरीदी। आजीविका परियोजना के द्वारा बताया गया कि आयोजित कार्यक्रम में 16 हजार रूपए की पेंटिंग बेची गई। कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने नरबदिया बाई के चित्रकला की जमकर प्रसंशा करते हुए उनकी हरसंभव मदद करने की बात कही है।

प्रदेश की महिलाओं ने पंजाब के किसानों को सिखाए जैविक-खेती के गुर 

डिंडोरी | 27-अगस्त-2019

मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्व-सहायतों समूहों में प्रशिक्षित महिलाएँ पंजाब सहित अन्य राज्यों के किसानों को भी जैविक खेती के गुर सिखा रही हैं। मिशन द्वारा स्व-सहायता समूहों की 5 हजार महिलाओं को जैविक खेती और पशु-पालन की नवीन तकनीकी सिखाई गई है। इन्हें समूह में सामूदायिक स्त्रोत व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया गया हैं। आम बोल-चाल की भाषा में इन्हे ष्कृषि-सखीष् कहा जाता है। पिछले जुलाई – अगस्त माह में 20 कृषि-सखियों ने पंजाब के 4 जिलों में किसानों को प्रशिक्षण दिया। उन्होंने भू-नाडेप, वर्मीपिट, मृदा परीक्षण, बीज चयन, बीज श्रेणीकरण, फसल चक्र आदि के बारे में समझाया। परम्परागत सामग्री और तकनीकों के विषय में भी वहाँ के किसानों को बताया। कृषि सखियों ने किसानों को उनके गाँव में रहकर ही प्रयोग भी करके दिखाए। सीधी जिले की कृषि सखी  लक्ष्मी ताम्रकार,  विमलेश यादव,  ललिता साहू,  पूजा रजक एवं रीवा जिले की  निर्मला दुबे ने पंजाब के गुरदासपुर जिले का भ्रमण किया। अनुपपुर जिले की  चंपा सिंह,  राधा सिंह,  यशोदा धनवार,  इंद्रवती और शहडोल जिले की ज्ञानवती यादव ने पंजाब के फिरोजपुर जिले का, पन्ना जिले की  तुलसी विश्वास,  ऋतु अहिरवार, शिवपुरी जिले से  ऊषा परिहार,  सरोज कुशवाह और शहडोल जिले की रेखा पटेल ने पंजाब के पटियाला जिले का तथा शहडोल जिले की  रूही बेगम,  ललिता पनिका,  माया पटेल,  पुष्पा कचेर,  गीता केवट ने पंजाब के संगरूर जिले के किसानों को जैविक खेती की पद्धति से परिचित कराया।

कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने केन्द्रीय विद्यालय में ध्वजारोहण किया 

डिंडोरी | 16-अगस्त-2019

 कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर केन्द्रीय विद्यालय डिण्डौरी में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और राष्ट्रगान गाया गया। इस अवसर पर शिक्षक-शिक्षिकाएं सहित गणमान्य नागरिक एवं छात्र-छात्राए मौजूद थे। इस अवसर पर केन्द्रीय विद्यालय में छात्र-छात्राओं के द्वारा देशभक्ति एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।

स्वच्छता अभियान के लिए लोक कलाकारों से 08 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित 

डिंडोरी | 06-अगस्त-2019

 कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन के निर्देशन में स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण) के अंतर्गत सभी घरों में शौचालयों की उपलब्धता एवं उसके उपयोग द्वारा खुले में शौच से मुक्त (ग्रामीण) समुदाय बनाने का अभियान चलाया जायेगा। इस अवसर पर जिले में स्वच्छता अभियान के अंतर्गत समुदाय में सूचनाएं, शिक्षा व संचार की विविध गतिविधियां आयोजित करने के लिए लोकचित्र से स्वच्छता संवाद अभियान अगस्त माह से 2 अक्टूबर तक संचालित किया जायेगा। इसके लिए लोक चित्रकार जिला पंचायत कार्यालय डिण्डौरी में 08 अगस्त तक आवेदन प्रस्तुत कर सकेंगे।

 

बच्चों के अधिकारों के लिए उनकी सुरक्षा बहुत जरूरी- मंत्री श्रीमती इमरती देवी

यूनिसेफ और महिला-बाल विकास की तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला शुरू

डिंडोरी | 26-जुलाई-2019

 बच्चों के अधिकारों के लिए उनकी सुरक्षा करना बहुत जरूरी है। यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोई भी बच्चा सामाजिक सुरक्षा और  सुरक्षा तंत्र से न छूटे। महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने आज होटल पलाश में तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला को संबोधित करते हुए यह बात कही। श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि 18 वर्ष के पहले अगर लडकी की शादी की जाती है, तो उसका जीवन गंभीर परिस्थिति में पहुँच जाता है। कम उम्र में गर्भवती होने से बच्चियों में कुपोषण को बढ़ावा मिलता है। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश होनी चाहिए कि बहुत छोटी उम्र में आश्रम में आने वाले अनाथ बच्चों को जल्द ही उनके परिवार से मिलायें। यूनिसेफ के श्री माइकल जुमा ने कहा कि यह हमारी प्रतिबद्धता है कि बच्चों के अधिकार सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि भारत में बच्चों के अधिकार सुरक्षित करने के लिए कानून और योजनाएँ बनाई गई हैं। इन पर अमल करना न सिर्फ महत्वपूर्ण है बल्कि जिले और ब्लाक स्तर पर भी सभी अधिकारियों को इसके लिए काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा यूनिसेफ और महिला-बाल विकास प्रदेश में बच्चों के खिलाफ बढ़ रही हिंसा को रोकने और बच्चों को सुरक्षित माहौल देने के लिये काम कर रहे हैं। श्री जुमा ने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि समुदाय और तंत्र को कानूनी प्रावधानों के प्रति जागरूक करें। उन्होंने बताया कि बाल-विवाह को रोकने के लिए महिला-बाल विकास विभाग और यूनिसेफ मिलकर कार्य-योजना तैयार कर रहे हैं, जिसमें सभी विभागों की भागीदारी सुनिश्चित की जायेगी। प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री अनुपम राजन ने कहा कि बच्चों को उनके अधिकार नहीं मिलना भी हिंसा की एक श्रेणी हैं और व्यवस्था से जुड़े सभी लोग इसके लिए जिम्मेदार होते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सफलता इसमें है कि हमारे झूला घरों में एक भी बच्चा न हो, सभी को पूरा परिवार मिले। श्री राजन ने कहा कि बच्चों के समग्र विकास और उन्हें सशक्त तथा जिम्मेदार नागरिक बनाने के लिए सक्षम और सुरक्षात्मक वातावरण बनाने की जिम्मेदारी हम सबकी है। आयुक्त महिला-बाल विकास श्री एम.बी. ओझा ने कहा कि बाल संरक्षण के कार्य का ज्ञान होना आवश्यक है। सिर्फ निरीक्षण से सफलता हासिल नहीं होगी। कार्य की बेहतर मॉनिटरिंग से ही हमें परिणाम हासिल होंगे। विसंगतियों और लैंगिक अपराधों की रोकथाम के लिए यह कार्यशाला सहायक सिद्ध होगी। यूनिसेफ के बाल सुरक्षा विशेषज्ञ श्री लोलीचेन पी.जे. ने कहा कि कार्यशाला में विभाग और यूनिसेफ मिलकर बाल संरक्षण कानूनों के तकनीकी जानकारी साझा करेगी। प्रशिक्षण कार्यशाला में आईसीपीएस, पोक्सो और जे.जे अधिनियम की जानकारी दी जाएगी। प्रशिक्षण में भोपाल, नर्मदापुरम्, रीवा, शहडोल, भिंड और मुरैना जिले के अधिकारी शामिल हैं। इसके बाद ऐसी कार्यशाला इंदौर, उज्जैन और सागर में भी होगी।

मुख्यमंत्री श्री नाथ द्वारा श्रीमती शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त 

डिंडोरी | 23-जुलाई-2019

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने नई दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस की मूर्धन्य नेता श्रीमती शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्री कमल नाथ ने शोक संदेश में कहा कि नागरिक सुविधाओं की दृष्टि से नई दिल्ली का कायाकल्प करने में श्रीमती शीला दीक्षित के योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि नागरिक मुद्दों के प्रति संवेदनशील श्रीमती दीक्षित गांधीवादी दर्शन और सिद्धांतों पर आधारित राजनीति की पक्षधर थी। वे संगठन क्षमता में पूर्ण दक्ष थीं। उन्होंने लंबे समय तक कांग्रेस पार्टी की सेवा करते हुए विकास के लिए प्रतिबद्ध राजनीति की। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति और शोकाकुल परिजनों को यह दु:ख सहने की शक्ति देने की ईश्वर से प्रार्थना की है।