Tuesday, August 11News That Matters

भोपाल

Share
 

भोपाल संभाग में लक्ष्य के 84% फसल की बोनी
सोयाबीन और धान की बोनी के लिए समय अनुकूल
भोपाल | 09-जुलाई-2020

भोपाल संभाग में खरीफ फसलों बोनी लक्ष्य का 84 प्रतिशत है। 1897.2 हजार हेक्टर के लक्ष्य के विरूद्ध 1593.25 हजार हेक्टर में बोनी हो चुकी है।  संयुक्त संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास  श्री बी.एल. बिलैया द्वारा बताया गया कि संभाग में आज तक 321.8 मि.मी. वर्षा चुकी है। जो कि गत वर्ष इसी अवधि तक हुई वर्षा से 73.9 मि.मी. अधिक है। अभी तक हुई वर्षा फसलों की बढ़वार हेतु अनुकूल है।

   सोयाबीन का 1282.00 हजार हेक्टर के लक्ष्य के विरूद्ध 1216.85 हजार  हेक्टर में बोनी हो चुकी है। यह लक्ष्य का 95 प्रतिशत है। संभाग में धान 315.09 हजार हेक्टर के विरूद्ध 127.1 हजार हेक्टर की पूर्ति हो चुकी है। संभाग में वर्तमान में धान रोपई का कार्य चल रहा है। जो किसान रोपा या श्री पद्धत्ति से धान रोपते है उन्हें सलाह दी जाती है कि रोपा की उम्र 15 दिन से अधिक नहीं होना चाहिए। रोपाई में पौधे से पौधे की दूरी 25 से.मी. ही रखें। रोपाई के समय मृदा स्वास्थ्य कार्ड में अनुशंसित मात्रा अनुसार ही उर्वरक का उपयोग करें। संभाग में उर्वरक की पर्याप्त उपलब्धता है।

मेडिकल स्टोर को छोड़कर समस्त अन्य दुकानें रात्रि 8:30 बजे तक अनिवार्य रूप से बंद होंगी

धारा-144 अंतर्गत आदेश जारी
भोपाल | 02-जून-2020

    कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री तरुण पिथोड़े ने दंड प्रक्रिया की संहिता 1973 की धारा 144 के तहत आदेश जारी किया गया था। उक्त आदेश में मेडिकल स्टोर्स को छोड़कर समस्त अन्य दुकानें रात्रि 8:30 बजे तक अनिवार्य रूप से बंद कर दी जाएगी। जिससे रात्रि 9:00 बजे से प्रातः 5:00 बजे तक रात्रि कर्फ्यू का कड़ाई से पालन हो सके। जारी आदेश में शेष कंडिकाएं यथावत रहेंगी।

कलेक्टर्स को निर्देश राजस्व प्रकरणों के निराकरण में संभाग को सिरमौर बनाएं – कमिश्नर श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव

भोपाल | 18-फरवरी-2020

    कमिश्नर भोपाल श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने सभी जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि राजस्व के सभी प्रकरणों में त्वरित निराकरण कर संभाग को प्रदेश में पहले स्थान पर स्थापित करें। अभी संभाग प्रदेश में तीसरे पायदान पर है।
राजस्व प्रकरणों की स्थिति में भोपाल संभाग में कुल 279930 दर्ज प्रकरणों के विरूद्ध कुल 241326 प्रकरण निराकरण कर 86.20 प्रतिशत के साथ प्रदेश में संभाग तृतीय स्थान पर है। संभाग में 6 माह से 1 वर्ष के लंबित प्रकरण 3949, 1 से 2 वर्ष तक के प्रकरण लंबित प्रकरण 1356 तथा 5 वर्ष से अधिक लंबित प्रकरणों की संख्या 1138 है। इस प्रकार संभाग में 6 माह से अधिक समयावधि वाले प्रकरण 7494 है। संभाग में 6 माह से अधिक अवधि वाले सर्वाधिक प्रकरण राजगढ़ में 2857 प्रकरण्पा है और सबसे कम 1104 प्रकरण रायसेन में है। 6 माह से अधिक अवधि के लंबित प्रकरणों में 31.03.2020 तक अनिवार्य रूप से निराकृत किया जाना सुनिश्चित करें।
संभाग अंतर्गत नामांतरण के कुल 77165 प्रकरण दर्ज हुये है, जिसमें से कुल 62053 प्रकरण निराकृत हुये। राजगढ़ में सर्वाधिक 17019 प्रकरण दर्ज कर सर्वाधिक निराकरण 13346 प्रकरण निराकृत हुये है। कलेक्टर 6 माह से अधिक अविध के लंबित नामांतरण प्रकरणों का तहसीलदार, नायाब तहसीलदार से तत्परता से निराकरण कराया जाना सुनिश्चित करें। भोपाल संभाग में बंटवारा के कुल 18268 प्रकरण दर्ज होकर 13418 प्रकरण निराकृत किये गये है इसमें सबसे अधिक प्रकरण जिला विदिशा में 6232 प्रकरण दर्ज होकर 4382 प्रकरण निराकृत किये गये है साथ ही 6 माह से अधिक अवधि के लंबित 483 प्रकरण शेष हैं।
संभाग में सीमांकन के कुल 13536 पंजीकृत प्रकरण के विरूद्ध 12106 प्रकरण निराकृत किये गये है। सीमांकन के 3 माह से अधिक अवधि के 1102 तथा 6 माह से अधिक 328 इस प्रकार कुल 1430 प्रकरण लंबित है। इन प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर निराकृत किया जाना सुनिश्चित करें। पीठासीन अधिकारी एवं रीडर की लॉगिन पर न्यायालय में दर्ज हेतु लंबित आवेदनों को तत्काल न्यायालय मे दर्ज कर शून्य किया जाए और पीठासीन अधिकारी इस पर निरंतर निगरानी रखें। जिलों में वित्तीय वर्ष 2019-20 मे राजस्व वसूली की स्थिति संतोषजनक नहीं है। सभी जिले निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध 31 मार्च तक शत-प्रतिश्त वसूली किया जाना सुनिश्चित करें।
अतिवृष्टि से बाढ़ आपदा से हुई हानि के समस्त प्रकरणों को आरबीसी 6.4 के तहत तत्काल निराकृत किया जाए। अगर बजट अभाव की स्थिति में राशि का प्रस्ताव प्रेषित किया जाए। सीएम हेल्पलाइन पोर्टल पर सभी जिले शिकातयों का निराकरण समय-सीमा में किया जाना सुनिश्चित करें साथ ही जन अधिकार कार्यक्रम के अंतर्गत सभी जिले शिकायतों के निराकरण का संतोषजनक तथा शत-प्रतिशत निराकरण करें। भू-अर्जन के प्रकरणों में समस्त जिले वितरण से शेष मुआवजा राशि का भुगतान किया जाना सुनिश्चित करें और सीएम मॉनिट से प्राप्त होने वाले सर्वाधिक आवेदन जो विदिशा जिले में लंबित हैं उन्हें शीघ्र निराकृत करें।

(1 days ago)

अब स्वसहायता समूह के उत्पाद सभी की नज़र में कलेक्ट्रेट में हुआ प्रदर्शन

भोपाल | 11-फरवरी-2020
 अब कलेक्ट्रेट में स्व सहायता समूहों के उत्पाद भी लोगो की नज़र में आने लगे है। आज सागर आजीविका स्व सहायता समूह ग्राम सरवर विकासखंड फंदा द्वारा आज सोयाबीन निर्मित खाद्य सामग्री के उत्पाद जैसे सोया बिस्किट, सोया काजू, सोया सेव, सोया गुलाब जामुन आदि का स्टाल लगाया गया।
    समय-सीमा की बैठक में उपस्थित सभी विभाग के अधिकारियों को सोयाबीन निर्मित उत्पादों का टेस्ट कराया गया एवं उत्पादों का विक्रय भी किया गया। कलेक्टर श्री तरुण पिथोडे़ को स्व सहायता समूह की अध्यक्ष श्रीमती प्रीति श्रीवास्तव  द्वारा उत्पादों के निर्माण की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी गई।
मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन भोपाल अंतर्गत गठित स्व सहायता समूह के सदस्यों द्वारा डी.के. 2/ 428 दुकान नंबर 01  न्यू विजन स्कूल. दानिश कुंज कोलार रोड भोपाल में जैविक सब्जी उत्पादन स्टोर का उद्घाटन श्रीमती शिल्पा गुप्ता. मुख्य कार्यपालन अधिकारी. मध्य प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन. भोपाल  द्वारा किया गया। उद्घाटन में उपस्थित सभी अधिकारी कर्मचारियों को सोयाबीन निर्मित उत्पादों का नाश्ता कराया गया। जबकि स्टोर में निरंतरता बनाए रखने के लिए 4 जिले सीहोर,विदिशा, रायसेन एवं भोपाल के द्वारा उत्पादित सब्जी का विक्रय उचित दामों में किया जाएगा।

शासकीय भूमि का क्रय विक्रय पर 7 के खिलाफ एफ आई आर दर्ज

भोपाल | 28-जनवरी-2020
 नारियल  खेड़ा में शासकीय भूमि का क्रय विक्रय कर अमानत में ख़यामत करने वाले 7 लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई गई है।
   थाना गौतम नगर में  अतिरिक्त तहसीलदार  श्रीमती गीतांजलि शर्मा के निर्देश पर शासकीय भूमि पर कब्जा और उसके क्रय और विक्रय करने के  दस्तावेज के आधार पर धारा 420 ,34 में एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही जारी है।
कमल सिंह ठाकुर, श्रीमती सरला कुशवाहा, सतीश कुमार, शांतिलाल जैन ,दीपक कुमार सोमानी, सुकांत कुमार, श्रीमती पूर्णिमा देवी, के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज हुई है इनके द्वारा निशातपुरा स्थित खसरा न.35 रकबा 0.443हेक्टेयर की भूमि को उक्त सातों आरोपी ने शासकीय भूमि को निजी बताकर अलग अलग लोगो को भूमि को बेचा था जांच में पटवारी रिपोर्ट से ज्ञात हुआ कि यह भूमि शासकीय होकर राजस्व रिकार्ड में अंकित है। गलत दस्तावेज के आधार पर शासकीय भूमि को अपना बताकर बेचने पर एफआईआर दर्ज कराई गई है।

राजश्री पान मसाला के 9 सेम्पल अमानक और मिसब्राण्ड के पाए गए (शुद्ध के लिए युद्ध)

रजनीगंधा पान मसाला में मैग्नीशियम की मात्रा पाई गई अधिक
भोपाल | 21-जनवरी-2020
    खाद्य सुरक्षा विभाग को आज 40 खाद्य नमूनों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है जिसमें 12 रिपोर्ट विगत दिनों राजश्री पान मसाला फैक्ट्री की हैं।

खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा विगत दिनों की गई कार्यवाही में इन 12 रिपोर्ट में पान मसाले के 3 राजश्री,  कमलापसंद के 3  नमूने अमानक है। एक चूना मिसब्रांडेड, एक कत्था, एक सिकी सुपारी अमानक  पाये गए। उक्त फैक्ट्री से लिये गए 12 नमूनों में से कोई भी unsafe (असुरक्षित) नहीं पाया गया। इनमे मैग्निशियम कार्बोनेट की मात्रा तय मात्रा से कम पाई गई।इसी प्रकार पान मसाला, तंबाकू और सुपारी के विरुद्ध चलाये गए अभियान में नोएडा(नई दिल्ली) में बनने वाले रजनीगंधा पान मसाला में मैग्नीशियम कार्बोनेट की मात्रा अधिक पाई गई, जिससे उक्त नमूना unsafe(असुरक्षित)  पाया गया। इसी प्रकार न्यू मार्केट से लिये गए जर्दा के पान में जर्दा की मिलावट करने पर उसे भी unsafe किया गया। आज बॉम्बे डेरी और कान्हा डेरी से 2 दूध के सैंपल में फैट कम होने से अमानक घोषित किया गया।

सभी को खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर नोटिस जारी किए जा रहे हैं।

किरण फार्मा से दवाईया जप्त, बिना लाइसेंस चल रही थी दुकान सील की गई

जिला प्रशासन के दल ने कार्रवाई की
भोपाल | 14-जनवरी-2020
    बिना लाइसेंस दवाई की दुकान का संचालन करने पर किरण फार्मा डिस्ट्रीब्यूशन मेडिसन स्ट्रीट को  जिला प्रशासन की निरीक्षक  दल ने सील कर दिया है साथ ही दुकान में उपलब्ध चार लाख की दवाइयां जप्त कर ली है। कलेक्टर श्री तरुण पिथोडे के  निर्देश पर जिले में दवाई विक्रेताओं के यहां निरंतर जांच की कार्यवाही चल रही है।
औषधि निरिक्षक  श्री रजनीश चौधरी ने बताया कि आज 6 दुकानों को चेक किया गया इसके साथ ही उनके लाइसेंस और दवाइयों की सूची भी जांची गई निरीक्षण में 15 से अधिक दवाइयों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं जिसमे 12 एलोपैथिक दवाई, दो कॉस्मेटिक और एक आयुर्वेदिक दवाई का सैंपल लिया गया है जिसमें ऐसा प्रतीत होता है कि इसमें एलोपैथिक दवाओं का उपयोग किया गया है, उक्त सभी दवाइयों के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेजे गए है।
आज जिन दुकानों की चेकिंग की गई उनमें मेसर्स साहू ट्रेडर्स पटेल नगर, न्यू फार्मा मेडिको 7 नंबर स्टॉप,महामाया मेडिकल स्टोर शिवाजी नगर,  वैभव मेडिको शिवाजी नगर  शामिल है।

बीकाजी नमकीन के उत्पाद जांच के लिए भेजे गए “शुद्ध के लिए युद्ध”

भोपाल | 07-जनवरी-2020

खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों ने गोविंदपुरा क्षेत्र के बीकाजी नमकीन के शिखा सुपर स्टॉकिस्ट से रसगुल्ला, गुलाब जामुन, नमकीन, सेव, सहित 5 मूने खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम, 2006 अंतर्गत लिए गए। सभी  सैंपल जाँच के लिए राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला भेजे गए।
जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया की भोपाल जिले में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में 625 से अधिक नमूने लिए गए है। यह आकंड़ा प्रदेश में सर्वाधिक है सभी प्रकार के खाद्य पदार्थो की जांच के लिये खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारी निरन्तर कार्य कर रहे है।

कुख्यात भूमाफिया जिला बदर

भोपाल | 28-दिसम्बर-2019
कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल श्री तरूण पिथोड़े द्वारा मध्यप्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 5 (क)(ख) के अंतर्गत विभिन्न अपराधों में संलिप्त एक कुख्यात भूमाफिया को भोपाल जिला एवं इसके समीपवर्ती जिलों की सीमाओं से निष्कासित करने के आदेश जारी किए हैं।
   अपराधी के विरूद्ध पारित निष्कासन आदेश में जिला भोपाल और उससे लगे अन्य जिलों विदिशा, सीहोर, रायसेन, राजगढ़ तथा होशंगाबाद की राजस्व सीमाओं से बाहर चले जाने का आदेश दिया गया है। पुलिस अधीक्षक भोपाल के प्रतिवेदन के आधार पर की गई कार्रवाई में इसके विरूद्ध शहर के विभिन्न थानों में हत्या,हत्या का प्रयास, लूट, तोड़फोड़, चाकूबाजी, मारपीट, लड़ाई-झगड़ा, जान से मारने की धमकी देने, चोरी, जुआ, सट्टा खेलने एवं खिलवाने, नकबजनी, अवैध शस्त्र रखने आदि के 08 अपराध पंजीबद्ध हैं।
जिला मजिस्ट्रेट ने पिंकी उर्फ भूपेन्द्र सिंह चौहान उर्फ भदौरिया पिता यदूनाथ सिंह चौहान थाना ऐशबाग भोपाल को तीन माह की अवधि के लिए जिला बदर किया   है। जिला मजिस्ट्रेट ने अनावेदक को यह भी निर्देशित किया है कि जिला बदर की अवधि समाप्त होने के उपरांत तीन माह में 100 पौधों का वृक्षारोपण करेगा तथा इस संबंध में प्रत्येक 15 दिवस में थाना प्रभारी को वृक्षारोपण की जानकारी देना होगी। तीन माह पूर्ण होने के उपरांत जिला मजिस्ट्रेट के न्यायालय में भी वृक्षारापेण की जानकारी प्रस्तुत करेगा।

आयुष्मान भारत योजना के हितग्राहियों को ओपीडी में मिलेंगी निःशुल्क सेवाएँ

प्रदेश के सभी चिकित्सा महाविद्यालयों से संबद्ध चिकित्सालयों में आयुष्मान भारत योजना के पात्र हितग्राहियों को एचआईव्ही, कैंसर, आकस्मिक चिकित्सा और लावारिस मरीजों को ओपीडी सेवाएँ निःशुल्क मिलेंगी। आज जारी यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।
आयुक्त चिकित्सा शिक्षा ने प्रदेश के भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर, रीवा, सागर, विदिशा, दतिया, खण्डवा, रतलाम, शिवपुरी, शहडोल, छिंदवाड़ा स्थित शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों से संबद्ध चिकित्सालयों के अधिष्ठाता और अधीक्षकों को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं।

मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन – प्रीति ने अपने परिवार को फिर संभाल लिया “खुशियों की दास्तां”

भोपाल | 22-अक्तूबर-2019

सरकार की योजनाएं कैसे विपत्तिग्रस्त परिवारों के लिए वरदान साबित होती हैं – यह पता लगता है प्रीति श्रीवास्तव जैसी होनहार महिलाओं से। वे बताती हैं कि परिवार में सास, ससुर, पति तथा चार बच्चे हैं पति का व्यवसाय भी ऐसा नहीं था कि परिवार का गुजर बसर अच्छे से हो पाए। इसी बीच एक दुर्घटना में पति पैरों से चलने में लाचार हो गए। परिवार पर आर्थिक संकट गहरा गया। दुख और चिंता की इस घड़ी में सहारा बनी शासन की महत्वाकांक्षी “ग्रामीण आजीविका मिशन” योजना, जिसके तहत स्व सहायता समूहों द्वारा महिलाओं को स्वयं के व्यवसाय हेतु वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाती है।
श्रीमती प्रीति बतातीं हैं कि जब दुर्घटना में पति कार्य करने से लाचार हो गए तो वे बहुत चिंताग्रस्त हो गई कि अब बच्चों का क्या होगा। इतने बड़े परिवार का पालन कैसे होगा। तभी उन्हें ग्रामीण आजीविका मिशन योजना की जानकारी प्राप्त हुई, वे आवश्यक कार्यवाही करते हुए सागर स्व-सहायता समूह से जुड़ी और दस हजार रूपये का ऋण स्वयं के लघु व्यवसाय टिफिन सेंटर आरंभ करने के लिए प्राप्त किया। शुरू में 5-10 टिफिन बनाना आरंभ किए। वर्तमान में 25-30 टिफिन बनाकर स्कूल तथा कालेज के विद्यार्थियों को सप्लाई करने लगीं। आज श्रीमती प्रीति प्रतिमाह 20 हजार के लगभग आमदनी प्राप्त कर रहीं हैं और बड़ी बात ये है कि एक व्यक्ति को रोजगार भी प्रदान कर रहीं हैं। श्रीमती प्रीति फंदा ब्लाक के ग्राम सरवर में निवास करती हैं।
श्रीमती प्रीति खुशी खुशी बताती है कि शासन की इस महत्वाकांक्षी योजना से हमें जीवन में नई राह मिली। हमें स्वयं के पैरों पर खड़ा होने का अवसर मिला। वे कहती हैं कि इस योजना से महिलाओं को आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे और वे अपने सपनों को साकार कर सकेंगी। श्रीमती प्रीति सभी महिलाओं की ओर से शासन को बहुत बहुत धन्यवाद देती हैं।

खादी के वस्त्रों और अन्य उत्पादों पर 30 प्रतिशत तक छूट

भोपाल | 15-अक्तूबर-2019

प्रदेश में गांधी जयंती के अवसर पर पूरे अक्टूबर माह खादी के वस्त्रों और अन्य उत्पादों की खरीदी पर 30 प्रतिशत तक छूट दी जा रही है। खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित एम्पोरियम पर खरीदी करने पर यह छूट मिलेगी। खादी के वस्त्रों की खरीदी पर 30 प्रतिशत और विंध्या वैली ब्रांड के मसालों की खरीदी पर 20% प्रतिशत छूट रहेगी।

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण संबंधी बैठक 3 अक्टूबर को

भोपाल | 01 अक्टूबर -2019

राष्ट्रीय तम्बाकू अधिनियम 2003 के प्रावधानों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिलास्तरीय समिति की बैठक 03 अक्टूबर को सांय 4 बजे कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित होगी। बैठक में समिति सदस्य, धर्मगुरूओं एवं अन्य सामाजिक संस्थाओं के सदस्यों को आमंत्रित किया गया है।

अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के लिये शैक्षणिक संस्थाओं को नया आई.डी./पासवर्ड लेना आवश्यक

भोपाल | 24-सितम्बर-2019

भारत सरकार के अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा वर्ष 2019-20 में अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के लिये नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर पंजीकृत सभी शैक्षणिक संस्थाओं को नवीन आई.डी. और पासवर्ड प्राप्त करना आवश्यक हैं। संस्थाओं को ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने और पासवर्ड में कार्यालय में आवेदन पत्र निर्धारित प्रपत्र में जानकारी और संस्था के मान्यता संबंधी आवश्यक दस्तावेज शीघ्र प्रस्तुत करना जरूरी हैं। वैध संस्था कोड प्राप्त कर लेने के बाद पुनः पोर्टल पर पंजीकृत की जा सकेगी। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिये पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग कार्यालय में किया जा सकता हैं।

सभी अधिकारी दिए गए निर्देशों का कड़ाई से पालन कराए – कलेक्टर श्री पिथोड़े

भोपाल | 17-सितम्बर-2019

कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े ने टी एल बैठक में आज स्पष्ट चेतावनी देते हुये कहा कि निर्देशों का परिपालन नहीं करना गंभीर लापरवाही है और ऐसे अधिकारियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी। सार्वजनिक निस्तार की जगह पर अतिक्रमण कर दीवार बनाने वाले बिल्डरो के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराए जाने के निर्देश दिए। बैठक में श्री पिथोड़े ने सी.एम. हेल्पलाइन के लंबित प्रकरणों पर चर्चा करते हुये कहा कि अधिक समय से लंबित शिकायतों पर संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी किये जायेंगे।

कलेक्टर श्री पिथोडे ने कहा कि कोलार क्षेत्र में भूमि से धमाकों की आवाज के सम्बंध में वस्तुस्थिति से आस पास की कॉलोनी के लोगो को बुलाकर जागरूकता अभियान चलाए। उन्होंने बताया कि धमाकों के सम्बंध में जिओलॉजिकल रिपोर्ट आ गई है, यह धमाके पानी के दबाब के कारण भूमिगत चट्टानों से गैस निकलने के कारण हो रहे है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भूकम्प जैसी कोई संभावना नही है। श्री पिथोड़े ने कहा कि एसडीआरएफ, जिला प्रशासन एवं होमगार्ड की एक संयुक्त ट्रेनिंग कराकर भूकम्प जैसी स्थिति से निपटने के लिये भी तैयार किया जाये एवं स्थानीय रहवासियों को इस संबंध में जागरूक करें।

कलेक्टर श्री पिथोड़े ने टी एल बैठक में नगर निगम अधिकारियों को निर्देशित किया कि स्मार्ट सिटी हॉस्पिटल के सामने से अवैध पार्किंग को हटाया जाया एवं बड़ा तालाब के कैचमेंट एरिया में वृक्षारोपण करने के लिये कहा साथ ही आरटीओ को निर्देशित किया कि प्रेशर हार्न वाले सभी वाहनों से प्रेशर हार्न हटाकर चालानी कार्यवाही की जायें।

कलेक्टर भोपाल ने सभी अपर कलेक्टर एवं एस डी एम को निर्देशित किया कि पटवारी बस्तों का निरीक्षण करें एवं राजस्व प्रकरणों को समय सीमा में निराकरण करे। श्री पिथोड़े ने सड़क निर्माण से संबंधित सभी एजेंसियों को निर्देशित किया कि बारिश के तुरंत बाद युद्ध स्तर पर सड़क निर्माण एवं मरम्मत कार्य के लिये तैयार रहें। टी एल बैठक से ए डी एम, एवम अन्य बिभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

 

आज अखिल भारतीय कवि सम्मेलन

भोपाल | 06-सितम्बर-2019

संस्कृति विभाग द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गाँधी की स्मृति में 6 सितम्बर को रविंद्र भवन में शाम 7:30 बजे से अखिल भारतीय कवि सम्मेलन होगा। संस्कृति मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि होंगी।

कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े और डी आई जी ने किया चल समारोह मार्ग का निरीक्षण

भोपाल | 31-अगस्त-2019

कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े और डी आई जी श्री इरशाद वली ने आज चल समारोह मार्ग का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान नगर निगम कमिश्नर श्री विजय दत्ता और अन्य विभागों के अधिकारी भी साथ में थे।
कलेक्टर श्री पिथोड़े ने नगर निगम को मार्ग के सभी गड्ढे भरने और सड़क की दुरुस्ती के निर्देश दिए, साथ ही चल समारोह मार्ग कार्यक्रम के तुरन्त बाद साफ सफाई करने के निर्देश दिये है। सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था रहेगी इसके लिए हर चौराहे पर सी सी टीव्ही कैमरे से निगाह रखी जायेगी। पुलिस की सर्विलांस टीम भी जुलूस की रिकार्डिंग करती रहेगी।
चल समारोह निरीक्षण के बाद कमलापति घाट का भी निरीक्षण किया और मूर्ति विसर्जन के समय लाइट, साफ सफाई और गोताखोरों की व्यवस्था रखने के निर्देश भी दिए गए।

राज्य सरकार न्यूनतम ब्याज दर पर आदिवासियों को देगी ऋण

भोपाल | 23-अगस्त-2019

आदिवासियों को साहूकारी ऋण समस्या और अधिक ब्याज दरों से मुक्ति के लिए सरकार ने निर्णय लेते हुए सभी आदिवासी विकास खंडों में आदिवासियों के ऊपर ऐसे सभी साहूकारी ऋणों को समाप्त करने का निर्णय लिया है। आदिवासियों को पैसे की अचानक आवश्यकता को ध्यान में रखकर सरकार द्वारा बैंकों से 10 हजार तक की लिमिट स्वीकृत की जा रही है जो वे अपने डेबिट कार्ड से कभी भी एटीएम से निकाल सकेंगे।
सरकार आदिवासी विकासखंडों के ग्रामीण हाट बाजारों में बैंक एटीएम स्थापना परियोजना भी प्रक्रिया धीन है। राज्य सरकार आदिवासियों के जनधन खाते को क्रियाशील कर रुपए का बैंक डेबिट कार्ड उपलब्ध कराने जा रही है जिसमें 10 हजार तक की लिमिट में खाता धारी आदिवासियों को एटीएम के माध्यम से ऋण उपलब्ध होगा लिमिट के अंदर जरूरतमंद आदिवासी खाताधारक न्यूनतम ब्याज दर पर यह राशि एटीएम से प्राप्त कर सकेंगे वा उसी खाते में जमा कर बैंक में अपनी शाख स्थापित कर सकेंगे।

स्वतंत्रता दिवस पर शुष्क दिवस घोषित 

भोपाल | 09-अगस्त-2019

  राज्य शासन द्वारा 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) को शुष्क दिवस घोषित किया है। मध्यप्रदेश आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 24 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए 15 अगस्त 2019 (स्वतंत्रता दिवस) के अवसर पर जिले की समस्त देशी एवं विदेशी मदिरा दुकानों (सी.एस.-2 एवं एफ.एल.-1) को बंद रखे जाने के आदेश दिए गए हैं। 15 अगस्त को जिले में मदिरा का क्रय, विक्रय एवं परिवहन पूर्णंतः बंद रहेगा

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन 8 अगस्त को 

भोपाल | 30-जुलाई-2019

  लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा पूरे प्रदेश में 8 अगस्त को राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस आयोजित कर अभियान के रूप में बच्चों को कृमिनाशक गोली खिलायी जायेगी। कार्यक्रम के व्यापक क्रियान्वयन हेतु स्वास्थ्य विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, आदिमजाति कल्याण विभाग एवं एकीकृत बाल विकास सेवायें विभाग द्वारा संयुक्त रूप से समन्वय से कार्य किया जा रहा है।  छूटे हुये बच्चों का मॉपअप 13 अगस्त पर कृमिनाशक कृमि नाशक दवा दी जाएगी।

 

टिटनेस और डिप्थीरिया से बचाव के लिये अगस्त माह से टीकाकरण अभियान

भोपाल | 26-जुलाई-2019

प्रदेश में बच्चों और गर्भवती महिलाओं को टिटनेस तथा डिप्थीरिया की बीमारी से बचाने के लिये अगस्त माह से टी.टी. टीकाकरण अभियान चला जायेगा। अभियान का 90 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य हासिल करने की रणनीति पर राज्य टास्क फोर्स कमेटी की बैठक में रणनीति बनाई गई है।

 

सायबर कोषालय में एनपीएस अन्तर्गत ई-चालान जमा करने की सुविधा

भोपाल | 23-जुलाई-2019

मध्यप्रदेश शासन के अधिकारी कर्मचारी राज्य में बाहर शासित निगमों/मंडलों में प्रतिनियुक्ति पर पदस्थ किए जाते हैं। ऐसे शासकीय सेवकों का एनपीएस का हिस्सा वर्तमान में किसी ऐजेंसी बैक शाखा पर जाकर भौतिक चालान के माध्यम से जमा किया जाता है। जिसमें विशेषकर राज्य के बाहर पदस्थ शासकीय सेवको को कठिनाई होती है। सायबर कोषालय में एनपीएस अन्तर्गत ई-चालान जमा करने की सुविधा प्रदान की गई है। प्रविष्टि कर, इन्टरनेट बैंकिग के माध्यम से, अंशदान जमा किया जा सकता है। इस प्रकार जमा किये गए अंश को एनएसडीएल को प्रेषित करने के संबंध में आवश्यक सुविधा विकसित की जा रही है। राशि जमा करने के लिए navigation का उपयोग किया जाये। यहॉ पर e-challan form for nps contribution by employerß” की पूर्ण प्रविष्टि की जाकर नेट बैंकिग का उपयोग कर भुगतान प्रक्रिया की जा सकती है। इससे ऑनलाईन ई-चालान प्राप्त हो सकेगा।

 

 

आरटीई में चयनित बच्चों का प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश 20 जुलाई तक 

भोपाल | 13-जुलाई-2019

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत प्राइवेट स्कूलों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में निःशुल्क प्रवेश के लिए चयनित बच्चों के आवंटित स्कूलों में प्रवेश की अंतिम तिथि 20 जुलाई निर्धारित की गई है। अशासकीय स्कूल मोबाईल एप के माध्यम से प्रवेशित बच्चों की एडमिशन रिपोर्टिंग कर सकेंगे। अंतिम तिथि के बाद अगर कोई बच्चा एडमिशन रिर्पोर्टिंग के लिये शेष रह जाता है, तो संबंधित स्कूल इसके लिये उत्तरदायी होंगे।
राज्य शिक्षा केन्द्र ने पालकों से आग्रह किया है कि वे अपने बच्चों का नि:शुल्क प्रवेश आंवटित प्राइवेट स्कूलों में 20 जूलाई तक अवश्य करवाएँ। इसके लिये पालकों को पोर्टल से आंवटन-पत्र डाउनलोड कर सीधे स्कूल में जमा करना होगा। आंवटन-पत्र के आधार पर ही स्कूल में एडमिशन मिलेगा।