Thursday, September 23News That Matters

सतना

उत्साह से मनेगा महात्मा गांधी नरेगा के मजदूरों का त्यौहार
मजदूरों के बैंक खाते में जारी हुई 785 करोड़ की मजदूरी
सतना | 20-अगस्त-2021

      महात्मा गांधी नरेगा के मजदूर उत्साह के साथ अपना रक्षाबंधन का त्यौहार मना सकेंगे। राज्य शासन द्वारा लगभग 30 लाख से अधिक मनरेगा मजदूरों को 785 करोड़ रूपये का रुका हुआ भुगतान सीधे उनके बैंक खाते में जारी किया गया है। यह राशि योजना अंतर्गत सृजित 4 करोड़ 6 लाख मानव दिवस के विरूद्ध जारी की गई है।
भारत सरकार द्वारा राज्य को 785 करोड़ की राशि जारी की गई थी। आने वाले त्यौहार के मद्देनजर तत्काल उक्त राशि मजदूरों के बैंक खातों में सीधे अंतरित की गई है। मजदूरों को जारी की गई इस राशि के सत्यापन के लिए जिलों को मजदूरों की बैंक पासबुक अद्यतन करने हेतु निर्देशित किया गया है। मजदूरों को लंबित भुगतान की राशि प्राप्त होने से मनरेगा के कार्यों में श्रमिकों की संख्या को बढ़ाया जा सकेगा।

टीकाकरण महा-अभियान की जिला स्तरीय कार्य योजना तैयार

21 जून को होगा जिले के 150 टीकाकरण केन्द्रो से शुभारंभ
सतना | 18-जून-2021

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 21 जून से प्रारंभ हो रहे प्रदेशव्यापी कोरोना वैक्सीनेशन के महा-अभियान के लिये जिला स्तरीय माइक्रो प्लानिंग तैयार कर ली गई है। जिले में सतना शहर में कुल 30 सत्र और विकासखंड सोहावल में 11 सत्र, रामनगर में 12 सत्र, मझगवां में 21 सत्र, रामपुर बघेलान में 19 सत्र, अमरपाटन में 11 सत्र, मैहर में 15 सत्र, उचेहरा में 12 और नागौद में 19 सत्र पर 21 जून से 30 जून व्यापक रूप से टीकाकरण अभियान चलाया जायेगा।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अशोक अवधिया ने बताया कि नगरीय क्षेत्र में नगर निगम अंतर्गत 30, नगर पालिका मैहर में 5 नगर पंचायत उचेहरा में 2, नागौद में 3, कोठी में 2, चित्रकूट में 2, जैतवारा में 1, बिरसिंहपुर में 2, कोटर में 1, रामपुर बघेलान में 2, रामनगर में 1, अमरपाटन में 3 टीकाकरण केन्द्र प्रस्तावित है। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्रो प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सहित बड़ी ग्राम पंचायतों में भी टीकाकरण केन्द्र प्रस्तावित किये गये हैं। इसके अलावा शेष सभी टीकाकरण सत्र ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित किये जायेंगे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सतना शहर में संजीवनी क्लीनिक पतेरी, आंगनवाडी केन्द्र महदेवा, आंगनवाड़ी केन्द्र गढि़या टोला, शा.स्कूल कामता टोला, मंगल भवन नई बस्ती, प्राथ.स्वा.केन्द्र हनुमान नगर नई बस्ती, 4़ मंदिर के पास पॉलीटेक्निक कालेज सतना, आंगनवाड़ी केन्द्र मारूती नगर, शा.महा विद्या. गहरानाला, शा.इन्दिरा कन्या महाविद्या, रामा कृष्णा कालेज भरहुत नगर, ए.के.एस. यूनिवर्सिटी शेरगंज, जिला अस्पताल, जिला अस्पताल आई.पी.पी.-6, संजीवनी क्लीनिक कामता टोला, संजीवनी क्लीनिक बरदाडीह, संजीवनी क्लीनिक उतैली, प्राथ.स्वा.केन्द्र धवारी, शा. कन्या हाई स्कूल धवारी, शा. व्यंकट क्र-1 सतना, शा. व्यंकट क्र -2 सतना,  शा. प्राथमिक शाला उमरी, शा. माध्यमिक शाला खूथी, शा. माध्यमिक शाला टिकुरिया टोला, सिविल डिस्पेंसरी सिंधी कैम्प, शा. कन्या स्कूल सिंधी कैम्प, शा. स्कूल बगहा, प्राथ.स्वा.केन्द्र टिकुरिया टोला, प्राथ.स्वा.केन्द्र घूरडांग, सरस्वती हा.से.स्कूल कृष्णनगर सतना में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा।

100 प्रतिशत वैक्सीनेशन ही कोरोना का स्थायी इलाज है- राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल

वालेंटियरों द्वारा संकल्प लेकर निकाली गयी जागरूकता रैली, रामनगर एवं अमरपाटन में राज्यमंत्री श्री पटेल द्वारा किया गया कोरोना वालेंटियरों का उत्साहवर्धन
सतना | 08-जून-2021

      प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री एवं जिले के कोविड-19 नियंत्रण के प्रभारी मंत्री श्री रामखेलावन पटेल सोमवार को अमरपाटन और रामनगर विकासखंड में म.प्र. जन अभियान परिषद द्वारा आयोजित मैं कोरोना वालेंटियर अभियान की प्रशिक्षण कार्यशाला में सम्मिलित हुये। कार्यशाला को संबोधित करते हुये राज्यमंत्री श्री पटेल ने कहा के जब तक समूचे प्रदेश से कोरोना संक्रमण खत्म नहीं हो जाता तब तक हम सभी को सावधान रहनें की जरूरत है। प्रदेश में जब तक शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन नहीं हो जाता तब तक हमें अनुशासित रहनें की जरूरत है। उन्होने कहा कि इस महामारी में हमनें बहुत से अपनों को खोया है, लेकिन अब हमें यह प्रण करना होगा कि अब हम सभी अपनी पूरी सतर्कता और सावधानी से स्वयं सहित आमजन को सुरक्षित करनें में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा चलाये गये मैं कोरोना वालेंटियर अभियान में सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में हिस्सेदारी कर कोरोना को अपने-अपने गांव में परास्त कर देंगे। इस मौके पर एस.डी.एम. रामनगर एचके धुर्वे, जिला समन्वयक जन अभियान परिषद डॉ राजेश तिवारी, सी.ई.ओ. जनपद रामनगर हरीश केशरवानी, थाना प्रभारी अशोक गौतम, परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास राजेन्द्र मिश्रा, सी.एम.ओ. नगर परिषद लालचन्द्र ताम्रकार, उपस्थित रहे। इसके साथ हीं अमरपाटन विकासखण्ड में आयोजित कार्यशाला एवं किट वितरण कार्यक्रम में जनपद अध्यक्ष श्रीमती तारा विजय पटेल, एसडीएम अमरपाटन में केके पाण्डेय, सीईओ जनपद अमरपाटन सीएल पनिका एवं जनप्रतिनिधि दिनेश शुक्ला उपस्थित रहे।
आयोजित कार्यशाला में श्री रामखेलावन पटेल द्वारा बताया गया कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष कोरोना की दूसरी लहर में पूरे प्रदेश में केस 4 लाख तक पहुंचे। लेकिन हमारे स्वास्थ्य कर्मचारियों, प्रशासनिक अधिकारियो, पुलिस प्रशासन एवं स्वयंसेवी संगठनों के साथ जन अभियान परिषद के वालेंटियरों की सार्थक परिश्रम और सेवा से वर्तमान में बहुत कम एक्टिव केस ही पूरे प्रदेश बचे हैं। प्रदेश में 1 लाख 30 हजार लोगों नें मैं कोरोना वालेंटियर अभियान में पंजीयन कराया और प्रतिदिन औसतन 65 हजार से अधिक वालेंटियर सेवा कार्यो में सहयोग कर रहे हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी सक्रिय वालेंटियरों के कार्यो की सराहना करते हुये आगामी 15 अगस्त एवं 26 जनवरी को प्रशस्ति पत्र देनें की घोषणा की है। जो उनके कैरियर में भी काम आ सके। मैं भी जन अभियान परिषद के कार्यो की सराहना करते हुये प्रदेश के सभी वालंेटियरों को उनकी सेवा एवं सहयोग के लिये बधाई देता हूं।
राज्यमंत्री श्री पटेल ने उपस्थित वालेंटियरों को अवगत कराया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कोरोना से मृत्यु उपरान्त मृतक के परिजन को 1 लाख का अनुग्रह राशि देनें की घोषणा की गई है। इसके अलावा अनाथ हो चुके बच्चों को प्रति माह 5 हजार रूपये पेंशन देने की योजना के साथ उनकी आगामी सम्पूर्ण शिक्षा की जिम्मेदारी प्रदेश सरकार ने ली है। वर्तमान में 147 प्रकरणों को चिन्हांकित करते हुये उन्हें इस योजना का लाभ भी दिया जा चुका है। इस कार्यशाला के माध्यम से राज्यमंत्री ने व्यापारी वर्ग से आग्रह किया कि आपके सहयोग से हमनें संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता पाई है। कुछ दिनों के और सहयोग और सावधानी से हम इस संक्रमण की दर को 0 प्रतिशत कर सकेंगें।

दवाएँ खरीदते समय उपभोक्ता करें अपने अधिकारों का उपयोग- प्रमुख सचिव श्री किदवई “जागो ग्राहक जागो”

सतना | 20-अप्रैल-2021

    मूल्य के बदले में वस्तु या सेवा प्राप्त करने वाला व्यक्ति उपभोक्ता है। सेवा के अंतर्गत बैंक, बीमा, परिवहन, विद्युत, मनोरंजन, रेल, डाक, दूरभाष आदि की तरह दवाएँ भी शामिल हैं, जो जीवन रक्षक के रूप में उपभोक्ता क्रय करता है। उपभोक्ता उसके मूल्य का भुगतान तो करता है परंतु आवश्यकता पड़ने पर अपने अधिकारों का उपयोग नहीं करता है। प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति श्री फैज अहमद किदवई ने कहा कि कोई भी व्यापारी अथवा निर्माता उपभोक्ता के जीवन के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकता। उपभोक्ता को उसके द्वारा भुगतान की गई राशि के बदले वस्तु अथवा गुणवत्तापूर्ण सेवा प्राप्त करने का पूर्ण अधिकार है।

दवाएँ खरीदते समय दें जागरूकता का परिचय

प्रमुख सचिव श्री किदवई ने बताया कि उपभोक्ता दवाएँ खरीदते समय पर्चे के साथ दवा के नाम का मिलान कर लें। जब-तक कोई दवाई इस्तेमाल नहीं हो जाती, तब-तक उसके बिल अथवा रसीद को संभाल कर रखें। दवाई के रेपर पर अंकित दवा की उपयोगिता समाप्ति की तिथि को देखकर ही दवा खरीदें। यदि एक्सपायरी डेट निकल गई हो तो न दवा खरीदें और न ही उसका उपयोग करें। ये जिंदगी के लिए नुकसानदायी हो सकती है। श्री किदवई ने बताया कि उपभोक्ता सिर्फ डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाएँ ही क्रय करें। केमिस्ट की सलाह पर दवाइयों का इस्तेमाल न करें। जागरूक उपभोक्ता के रूप में दवाई के पैकेट पर खरीदी गई दवाओं पर अधिकतम खुदरा मूल्य के साथ ही उत्पादक का लाइसेंस नंबर को भी देखना चाहिए।

बीएलओ इन्फ्रा मोबाइल ऐप 25 मार्च तक पुनः अपडेट करें

सतना | 13-अप्रैल-2021

अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुश्री विमलेश सिंह द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रघुराजनगर, मैहर, समस्त तहसीलदार एवं समस्त मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका परिषद तथा नगर परिषदों को निर्देश जारी किये गये हैं कि नगरीय निकायों में स्थापित मतदान केन्द्रों में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी बीएलओ के माध्यम से इन्फ्रा मोबाइल ऐप में दर्ज कराई गई है। आयोग के निर्देशानुसार बीएलओ द्वारा पूर्व में दर्ज की गई जानकारी को पुनः नये सिरे से 25 मार्च 2021 तक अपडेट कराया जाना सुनिश्चित करें।

सीपीसीटी परीक्षा सर्टिफिकेट की वैद्यता अवधि अब होगी 7 वर्ष – राज्य मंत्री श्री परमार

सतना | 05-मार्च-2021

स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री श्री इन्दर सिंह परमार ने कहा कि सीपीसीटी परीक्षा सर्टिफिकेट की वैद्यता अवधि को 4 वर्ष से बढ़ाकर अब 7 वर्ष किया जा रहा है। श्री परमार ने कहा कि इससे प्रदेश में सहायक ग्रेड-3, स्टेनो, डाटाएंट्री ऑपरेटर और आई.टी. ऑपरेटर जैसे पदों की भर्ती परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले छात्रों को लाभ होगा।
राज्य मंत्री श्री परमार ने कहाकि वर्तमान कोरोना काल की परिस्थितियों और परीक्षार्थियों की सहूलियत को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। श्री परमार ने निर्देश दिये कि सीपीसीटी परीक्षा सर्टिफिकेशन की व्यवस्था इस तरह बनाएँ कि परीक्षार्थियों का स्कोर कार्ड दूसरे राज्यों की परीक्षाओं में भी मान्य हो। परीक्षाओं के संचालन की रीयल टाइम मॉनिटरिंग और त्वरित परीक्षा परिणाम जारी करने के लिये आधुनिक प्रौद्योगिकी और तकनीक को अपनाया जाये। परीक्षाओं के संचालन संबंधी सूचनाएँ परीक्षार्थियों को प्रचार-प्रसार के सभी माध्यमों पर उपलब्ध कराएँ।

महाविद्यालयों में आज तक जमा होंगे दस्तावेज

सतना | 26-फरवरी-2021

      उच्च शिक्षा विभाग द्वारा सत्र 2020-21 में सीएलसी छठवें चरण की प्रक्रिया अन्तर्गत दस्तावेज जमा करने के लिये अंतिम अवसर प्रदान करते हुए अंतिम तिथि 26 फरवरी 2021 की गई है। विद्यार्थियों द्वारा टीसी, माईग्रेशन एवं अन्य दस्तावेज सत्यापन उपरांत 26 फरवरी तक जमा कराये जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना से आत्मनिर्भर बनी नीलम दाहिया ‘‘खुशियों की दास्तां’’

सतना | 19-फरवरी-2021
      प्रदेश सरकार की ‘‘मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना’’ छोटे-छोटे फुटकर विक्रेताओं के लिये रोजी-रोटी कमाने तथा परिवार आर्थिक स्थिति सुधारने में सहायक सिद्ध हो रही है। जनपद पंचायत सोहावल अंतर्गत ग्राम पंचायत बठियाकला निवासी नीलम दाहिया योजना से लाभान्वित ऐसे ही हितग्राहियों में शामिल है। मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना अंतर्गत 10 हजार रूपये की ब्याज मुक्त ऋण राशि पाकर नीलम दाहिया बेहद खुश और उत्साहित हुईं।
नीलम ने बताया कि उनके पति मजदूरी करके अपने परिवार का भरण-पोषण करते है। उन्होने गांव में ही छोटी सी विषादखाना की दुकान खोलकर घर खर्च में पति का हांथ बटाना शुरू किया। पूंजी कम होने की वजह से नीलम को व्यवसाय में पर्याप्त आय नही हो रही थी। तब नीलम को मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन तथा स्व-सहायता समूह के माध्यम से संचालित होने वाली प्रदेश सरकार की योजनाओं की जानकारी मिली। नीलम ने स्व-सहायता समूह से जुड़कर अपना व्यवसाय बढ़ाने के लिये मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना अंतर्गत ब्याज मुक्त ऋण के लिये आवेदन किया। नीलम को बिना किसी परेशानी के बैंक के माध्यम से 10 हजार रूपये की ऋण राशि प्राप्त हुई। इस राशि से किराना का और भी सामान लाकर रखेंगी और अच्छे से दुकान चलायेंगी।
नीलम का कहना है कि तमाम तरह के जतन करने के बाद भी आर्थिक तंगी की वजह से परिवार का भरण-पोषण तथा घर खर्च चलाने में बेहद परेशानी होती थी। प्रदेश सरकार की योजना की मदद से मिली इस राशि का उपयोग वे अपने व्यवसाय को बढ़ाने में करेंगी। नीलम ने बताया कि व्यवसाय के जरिये आमदनी बढ़ने से परिवार का भरण-पोषण अच्छे तरीके से करने के साथ ही अपने बच्चों की पढ़ाई-लिखाई भी ठीक ढंग से करा सकेंगी। नीलम दाहिया की मंशा है कि दस महीनों में इस ऋण को चुकता कर पुनः 20 हजार रूपये के ब्याज मुक्त ऋण लेकर अपनी दुकान को और भी आगे बढ़ायेगी।

कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 3436 व्यक्ति स्वस्थ हुये

अब तक 2922 फ्रंटलाईन वर्कर्स को लगा कोविड-19 का टीका
सतना | 13-फरवरी-2021

     जिले में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण और बीमारी की रोकथाम एवं बचाव के लिये जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही राज्य स्तर द्वारा जारी किये गये सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को जिले में कोरोना वायरस के 2 नये मरीज मिले हैं तथा एक मरीज स्वस्थ्य हुआ है। अब तक कुल 3482 पॉजीटिव मरीज पाये गये हैं। जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से अभी तक 3436 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में एक्टिव केस की संख्या 4 है। कोरोना संबंधी जानकारी/परामर्श हेतु कोविड कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर के टोल फ्री नंबर 07672-1075 पर संपर्क किया जा सकता है।
इसी प्रकार कोविड-19 के टीकाकरण अभियान में शुक्रवार को जिला चिकित्सालय सतना में 129, जीएनएम सेंटर में 249, मैहर में 41, सोहावल में 76, नागौद में 24, अमरपाटन में 25, रामपुर बघेलान में 50, रामनगर में 19, उचेहरा में 27, मझगवां में 28, चित्रकूट में 22 कुल 690 फ्रंटलाईन वर्कर्स को टीका लगाया गया। जिले में अब तक 2922 फ्रंटलाईन वर्कर्स का टीकाकरण किया जा चुका है।

सुशील कुमार श्रीवास्तव को डीपीसी का अतिरिक्त प्रभार

सतना | 05-फरवरी-2021

      कलेक्टर श्री अजय कटेसरिया ने जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र सतना सुरेन्द्र सिंह बघेल द्वारा अपनी स्वेच्छा से डीपीसी का पद छोड़ने पर जिला शिक्षा केन्द्र सतना के कार्यों के संचालन के लिये शा.उ.मा.वि. पतौरा के प्राचार्य सुशील कुमार श्रीवास्तव का वर्तमान कार्यों के साथ-साथ जिला परियोजना समन्वयक का प्रभार भी सौंप दिया है। पहले के जिला परियोजना समन्वयक सुरेन्द्र सिंह बघेल ने स्वेच्छा से डीपीसी का पद छोड़कर मूलपद प्राचार्य उमावि के रूप में स्कूल शिक्षा में सेवा देने की इच्छा जताई थी तथा अपने आपको डीपीसी का कार्य करने में असमर्थ बताया था।

कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 2674 व्यक्ति स्वस्थ हुये

सतना | 04-दिसम्बर-2020
    जिले में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण और बीमारी की रोकथाम एवं बचाव के लिये जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही राज्य स्तर द्वारा जारी किये गये सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरूवार को जिले में कोरोना वायरस के 14 नए मरीज प्राप्त हुए तथा 29 मरीज स्वस्थ्य हुए। अब तक कुल 2825 पॉजीटिव मरीज पाये गये हैं। जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से अभी तक 2674 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में एक्टिव केस की संख्या 111 है। कोरोना संबंधी जानकारी/परामर्श हेतु कोविड कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर के टोल फ्री नंबर 07672-1075 पर संपर्क किया जा सकता है।

बंदियों के लिए 300 दिवस की आपात छुट्टी स्वीकृत

सतना | 28-नवम्बर-2020
      माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिशा-निर्देश जारी किये गये है कि कोविड-19 कोरोना वायरस महामारी को दृष्टिगत रखते हुए जेलों में निरुद्ध बंदियों को अंतरिम जमानत/पैरोल पर रिहा किया जाए।
जेल अधीक्षक श्री अखिलेश तोमर ने जानकारी देते हुए बताया कि महामारी के खतरे, प्राकृतिक आपदा जैसी आपात स्थितियों की दशा में या किसी अन्य परिस्थिति में जेल के बंदियों की जनसंख्या को तत्काल कम करने का समर्थन करती है। उपयुक्त मामलों में बंदी को एक बार में अधिकतम 300 दिवस की अवधि के लिए छुट्टी की पात्रता प्रदान की गई है। कोरोना महामारी (कोविड-19) से उत्पन्न परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए महानिदेशक जेल द्वारा पूर्व से स्वीकृत सामान्य छुट्टी का लाभ ले रहे समस्त बंदियों को सामान्य छुट्टी के लिए प्रस्तुत जमानतनामा एवं बंधपत्र पर ही पूर्व में स्वीकृत 240 दिवस की आपात छुट्टी के स्थान पर 300 दिवस की आपात छुट्टी स्वीकृत की जाती है। आपात छुट्टी की अवधि की गणना बंदी के कुल दण्डादेश की अवधि में सम्मिलित की जाएगी।

स्थानीय निर्वाचन संबंधी प्रशिक्षण आज

सतना | 20-नवम्बर-2020
    मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरपालिका एवं त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2020-21 की तैयारियों को लेकर जिला स्तरीय अधिकारियों के लिये नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुति, संवीक्षा एवं प्रतीक आवंटन की प्रक्रिया तथा जिला निर्वाचन प्रबंधन योजना पर 20 नवम्बर को प्रातः 11 बजे से 2 बजे तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स द्वारा दिया जाएगा।
प्रशिक्षण में उप जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन), रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स, नोडल अधिकारी को उपस्थित (स्थानीय निर्वाचन) और निर्वाचन अधीक्षक (प्रशिक्षण) रहना अनिवार्य है। आयोग से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स जिले के नगर पालिका एवं जनपद स्तर के मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षित करेंगे।

एप के माध्यम से बुखार, खांसी कफ आदि जैसे लक्षणों की जानकारी प्रशासन को दे

सतना | 11-जुलाई-2020

    कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए लोकहित में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा सार्थक लाइट एप लॉन्च किया गया है। उक्त एप की सहायता से आम जनता स्वयं के बुखार, खांसी कफ आदि जैसे लक्षणों की जानकारी प्रशासन को दे सकते हैं। उक्त एप आपकी लोकेशन के आधार पर निकटतम फीवर क्लीनिक, उपचार केंद्र और निकटतम संग्रह केंद्र की जानकारी प्रदाय करेगा। उक्त जानकारी अंतर्गत यह आपको अस्पताचल का नाम, नोडल अधिकारी का नाम और मोबाईल नंबर नागरिक की लोकेशन से अस्पताल की दूरी सहित अस्पताल संबंधी सामान्य जानकारी अर्थात सामान्य बेड एवं आईसीयू बेड आदि की जानकारी प्रदान करता है। उक्त एप के माध्यम से जिला प्रशासनध्स्थानीय प्रशासन जनता के उपचार संबंधी त्वरित सेवा प्रदान करेगा। सार्थक लाइट एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। एप डाउनलोड करने के बाद उसमें मोबाईल नंबर डालने के उपरांत प्राप्त ओटीपी से आसानी से रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है।

प्रदेश में मिल रहा 25 लाख से अधिक श्रमिकों को रोजगार

सतना | 19-जून-2020

    प्रदेश में मनरेगा के अंतर्गत लगभग दो लाख कार्यों में 25 लाख 16 हजार 24 श्रमिक रोजगार प्राप्त कर रहे हैं। गत वर्ष से यह संख्या लगभग दोगुनी है। गत वर्ष 14 जून को 12 लाख 51 हजार 680 श्रमिक मनरेगा में कार्यरत थे। प्रदेश में श्रम सिद्धि अभियान में 8 लाख 38 हजार 243 श्रमिकों को नए जॉब कार्ड प्रदान किए जा चुके हैं। गत वर्ष इसी अवधि में बनाये गये नवीन जॉबकार्डों की संख्या मात्र 1 लाख 84 हजार थी।
मनरेगा के अंतर्गत विभिन्न संरचनाओं का निर्माण ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहा है। स्किल मेपिंग के लिए रोजगार सेतु का उपयोग किया जा रहा है। विभिन्न श्रेणियों में कार्य करने वाले श्रमिक सूचीबद्ध किए जा रहे हैं। अब तक 44 हजार 988 श्रमिक इससे जोड़े गए हैं। आत्म निर्भर भारत में 1 करोड़ 24 लाख 552 प्रवासी मजदूरों को खाद्यान दिया गया। विभिन्न बिल्डर्स, कांट्रेक्टर्स और कारखाना प्रबंधन से जानकारी एकत्र कर श्रमिकों के रोजगार के लिए श्रेणी वार संभावनाओं को देखा जा रहा है। संबल पोर्टल पर भी 3 करोड़ 24 लाख लोग पंजीबद्ध हो गए हैं। कोरोना संक्रमण के दौर में श्रमिकों की आर्थिक समस्याओं को दूर करने में इन प्रयासों का विशेष महत्व है। विशेष रूप से प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा कार्यों से जोड़कर आर्थिक सहारा दिया गया है।

मझगवां में 50.40 लाख के 4 कार्यो का भूमिपूजन एवं लोकार्पण

सतना | 11-फरवरी-2020
   प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण, अनुसूचित जाति कल्याण तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री लखन घनघोरिया नें सोमवार को जनपद पंचायत मझगवां की ग्राम पंचायत मझगवां में आयोजित आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में 50 लाख 40 हजार रूपये के 4 कार्यों का भूमिपूजन एवं शिलान्यास किया। इस मौके  पर विधायक श्री नीलांशु चतुर्वेदी, श्री दिलीप मिश्रा, जनपद अध्यक्ष श्री ओमकार सिंह, श्री मकसूद अहमद, गीता सिंह, सुखलाल यादव, संध्या कुशवाहा, कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री रियाज इकबाल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋजु बाफना, वनमण्डलाधिकारी राजीव मिश्रा, अनुविभागीय अधिकारी एचके धुर्वे, कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री मिश्रा सहित जनप्रतिनिधिगण तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।
ग्राम पंचायत मझगवां में आयोजित कार्यक्रम में दुग्ध शीतल केन्द्र पिण्ड्रा 27 लाख रूपये, आंगनवाड़ी केन्द्र रमपुरवा में 7 लाख 80 हजार रूपये लागत का शिलान्यास किया एवं आंगनवाड़ी केन्द्र गौड़ानटोला 7 लाख 80 हजार रूपयें एवं आंगनवाडी केन्द्र हरिजन बस्ती 7 लाख 80 हजार रूपये लागत का लोकार्पण किया गया।

ऑन लाइन व्यापार से किसानों को मिलेगा उपज का बेहतर मूल्य

सतना | 21-दिसम्बर-2019

  सहकारिता मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने कहा है कि प्रदेश में किसानों को उनकी उपज का अधिकतम मूल्य दिलवाने के लिए “एग्री व्यापार” एप तैयार किया गया है। इसके माध्यम से किसान अपनी उपज व्यापारी को सीधे ऑनलाइन बेच सकेंगे। उन्होंने बताया कि सहकारिता विभाग द्वारा बनाए गए इस एप पर अभी तक 15 हजार 27 किसान, 221 विपणन समितियां, 4 कमोडिटी एक्सचेंज तथा 40 डायरेक्ट बायर्स “एग्री व्यापार एप” पर अपना पंजीयन करवा चुके हैं।

      मंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि सहकारिता विभाग किसानों को सस्ती दरों पर उच्च गुणवत्ता की खाद-बीज उपलब्ध करवाने के साथ उन्हें फसल का अधिकतम मूल्य दिलवाने के लिये कृत संकल्पित है। इसके लिए “एग्री व्यापार” एप के माध्यम से एक डिजिटल प्लेटफार्म उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने कहा कि इस डिजीटल प्लेटफार्म पर किसानों के साथ ही देश-विदेश के व्यापारी एवं उपभोक्ता भी जुड़ रहे हैं। इस एप पर किसानों की उपज के व्यापक प्रदर्शन के साथ ही ग्राहक की पसंद एवं कस्टमर फीड बैक की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है।

“एग्री व्यापार” एप के उपयोग का तरीका

गूगल प्ले स्टोर से इस एप को मोबाइल पर आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। इसके बाद एप पर पंजीयन कराना होगा। पंजीयन के बाद किसान को अपनी फसल की मात्रा एवं विवरण का इसमें उल्लेख करना होगा। इसी प्रकार व्यापारी/क्रेता को अपनी आवश्यकता इस एप पर दर्ज करनी होगी। इसके बाद किसान क्रेता के साथ अपनी फसल के मूल्य का सीधे सौदा कर सकेंगे। किसान अपनी फसल की ऑनलाइन बोली भी लगा सकेंगे। इसमें बिचौलियों के लिये कोई स्थान नहीं है। किसान सीधे क्रेता से व्यापार करेंगे। सहकारी विपणन समितियां इस कार्य में किसानों की मदद करेंगी।

कलेक्टर ने किया मैहर नगर का भ्रमण

सतना | 18-अक्तूबर-2019

कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह ने गुरूवार को मैहर में मिनी स्मार्ट सिटी के तहत प्रमुख चौराहों में कराए जा रहे कार्य स्थलों का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने अलाउद्दीन तिराहा के मैहर रोड पर बनाई जाने वाली सडक एवं तिराहे का भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान पाया गया कि सडक पर दुकानदारों ने अतिक्रमण कर रखा है। कलेक्टर ने किए गए अतिक्रमण को हटाने के निर्देश मुख्य नगर पालिका अधिकारी को दिए। अलाउद्दीन चौराहा में सडक के चौडीकरण, सौन्दर्यीकरण, विद्युत खंभो को व्यवस्थित कराने तथा पेडों की छटाई कराने के भी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। कलेक्टर ने शासकीय उत्कृष्ठ विद्यालय के पीछे शासकीय भूमि पर चौपाटी निर्माण स्थल का निरीक्षण किया। यहां बने तालाब को भी गहरीकरण कर तालाब के चारों तरफ सडक बनाकर तालाब के सौन्दर्यीकरण कराने के निर्देश दिए।
इसी प्रकार स्टेशन रोड पर बने पीडब्ल्यूडी के पुराने कार्यालय भवन का निरीक्षण किया। इस परिसर की बाउन्ड्रीवाल को तोडकर सडक चौडीकरण कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि मिनी स्मार्ट सिटी के तहत कराए जा रहे निर्माण कार्यों से मैहर सुंदर दिखने लगे। साथ ही आमजन में यह भावना जाग्रत हो कि मिनी स्मार्ट सिटी के तहत मैहर का विकास एवं सौन्दर्यीकरण हुआ है। इस मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष सर्वश्री धर्मेश घई, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सुरेश अग्रवाल, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण, परियोजना अधिकारी शहरी विकास, मुख्य नगर पालिका अधिकारी, मिनी स्मार्ट सिटी के ठेकेदार संजय सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

तीन युवतियों को पुलिस एवं अर्धसैनिक बल की भर्ती में मिली सफलता (खुशियों की दास्तां)

सतना | 11-अक्तूबर-2019

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत पुलिस भर्ती के लिए निःशुल्क कोचिंग देने हेतु चलाया जा रहा सशक्त वाहिनी अभियान युवतियों/बालिकाओं के कैरियर निर्माण में वरदान साबित हो रहा है। यह प्रशिक्षण प्राप्त करने पर ही देशभक्ति और जनसेवा की भावना के साथ जिले की तीन युवतियां पुलिस एवं अर्धसैनिक बल में भर्ती होकर अपना कैरियर/भविष्य बना चुकी हैं। इन युवतियों में ग्राम-पोस्ट हिलौंधा तहसील नागौद की रीना लोधी का आर.पी.एफ में आरक्षक पद पर एवं ग्राम-पोस्ट सेमरवारा तहसील नागौद की नेहा सिंह परिहार तथा ग्राम पडखुरी तहसील रामपुर बघेलान की सुधा कुशवाहा का एस.एस.सी. जी.डी. पद पर चयन हो चुका है।

इन युवतियों/बालिकाओं का कहना है कि विभिन्न कोचिंग सेंटरो के माध्यम से लिखित परीक्षा पास करने का प्रशिक्षण तो प्राप्त किया जा सकता है, लेकिन शारीरिक प्रवीणता का प्रशिक्षण अन्य किसी संस्थानों द्वारा नहीं दिया जाता है। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान अन्तर्गत पुलिस में भर्ती के लिए शुरू की गई सशक्त वाहिनी निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था एक सराहनीय कार्य है।
जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास सौरभ सिंह ने जानकारी में बताया कि अक्टूबर 2017 से यह प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया। 5 बैचो में अब तक संपन्न हुए प्रशिक्षण के माध्यम से 250 युवतियों/बालिकाओं को कुशल प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इनमें से अभी तक 3 युवतियों का पुलिस एवं अर्धसैनिक बल में चयन भी हो गया है। इसमें 18 से 28 वर्ष तक की युवतियों/बालिकाओं को तीन माह का शारीरिक प्रवीणता तथा लिखित परीक्षा का प्रशिक्षण दिया जाता है। श्री सिंह ने बताया कि पुलिस भर्ती का प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए जिले के दूर-दराज के क्षेत्रों से बड़ी संख्या में युवतियां/बालिकाएं आती है। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद निर्धारित योग्यता रखने वाली युवतियाँ पुलिस/सेना की भर्ती प्रक्रिया में शामिल होकर सफलता प्राप्त कर सकती है।

नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी द्वारा रेरा अध्यक्ष से सौजन्य भेंट

सतना | 05-अक्तूबर-2019

नोबल पुरस्कार विजेता तथा संस्थापक चिलड्रेन्स फाउंडेशन तथा बचपन बचाव आंदोलन एवं भारतीय बाल अधिकार और बाल शिक्षा कार्यकर्ता श्री कैलाश सत्यार्थी ने आज अपने भोपाल प्रवास के दौरान रेरा भवन पहुँचकर अध्यक्ष श्री अन्टोनी डिसा से सौजन्य भेंट की। इस मौके पर उनकी धर्मपत्नी श्रीमती सुमेधा कैलाश भी मौजूद थी। श्री सत्यार्थी ने रेरा भवन का अवलोकन किया तथा श्री डिसा से विभागीय गतिविधियों की जानकारी भी ली।
सौजन्य भेंट के दौरान प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास विभाग श्री अनुपम राजन, रेरा सदस्य (न्यायिक) श्री दिनेश कुमार नायक, सदस्य (तकनीकी) श्री अनिरूद्ध डी. कपाले, सचिव श्री चंद्रशेखर वालिम्बे सहित अन्य अधिकारी मौजूद थें।

स्वसहायता समूहों के माध्यम से महिलाएं बनी स्वावलम्बी “खुशियों की दास्तां”

सतना | 27-सितम्बर-2019

जनपद पंचायत उचेहरा के ग्राम कठार एवं कुंदहरी में संचालित स्वसहायता समूह की महिलाएं पहले मजदूरी कर अपनी आजीविका चलाती थीं, वे आज स्वसहायता समूहों से जुड़कर खिलौने एवं घरेलू उपयोग की सामग्री बनाकर स्वावलम्बी बन गई है और इस व्यवसाय से वे अच्छा खासा मुनाफा भी कमां रही है।
म.प्र. राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत करौली माता आजीविका स्वसहायता समूह कठार एवं निर्मल आजीविका स्वसहायता समूह कुंदहरी की महिलाओं द्वारा खिलौने एवं घरेलू सामग्री बनाकर बेचने का काम शुरू कर स्वयं का रोजगार स्थापित किया गया। गाँव की इन महिलाओं को पहले अपने परिवार का जीवन-यापन करने के लिए मजदूरी पर ही आश्रित रहना पड़ता था। इनमें से कुछ महिलाएं मजदूरी एवं घरेलू कार्य तक ही सीमित थीं। खिलौनें बनाने एवं घरेलू उपयोग की सामग्री बेचने के कार्य की शुरूआत से महिलाओं में उत्साह बढ़ा है तथा इनकी आय में वृद्वि होने से आर्थिक स्थिति में भी काफी सुधार आया है।
समूह की महिलाओं का कहना है कि राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा समूह को जो फंड़ दिया जाता है। उसमें से समूह की सदस्य महिलाएं अपनी आवश्यकताओं के अनुसार राशि लेकर खिलौने का व्यवसाय चलाती हैं। इससे समूह की प्रत्येक महिला को करीब 6 से 7 हजार रूपए तक की मासिक आमदनी हो रही है। स्वयं का व्यवसाय करने से न सिर्फ इन महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार आया है बल्कि समाज में इनकी मान प्रतिष्ठा भी बढ़ गई है।

गौशाला एवं चारागाह विकास हेतु भूमि आरक्षित

सतना | 20-सितम्बर-2019

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा रघुराजनगर तहसील के मौजा कुंआ की शासकीय आ.नं. 810 रकवा 4.108 हे. भूमि का अंश रकवा 2.023 हे. में से 1 एकड़ भूमि गौशाला निर्माण हेतु एवं मौजा रामस्थान की शासकीय आ.नं. 996/1/क रकवा 4.046 हे., आ.नं. 996/1/ग, आ.नं. 996/1/ड. रकवा 4.046 का अंश रकवा 2.023 हे. में से 1 एकड़ भूमि गौशाला निर्माण हेतु तथा शेष भूमि चारागाह विकास हेतु आरक्षित की गई है। इसी प्रकार नागौद तहसील के मौजा बराज की शासकीय आ.नं. 06 रकवा 4.798 हे. भूमि का अंश रकवा 3.500 हे. में से 1 एकड़ भूमि गौशाला निर्माण हेतु तथा शेष भूमि चारागाह विकास हेतु आरक्षित की गई है। आरक्षित भूमि का इंद्राज शासकीय अभिलेख में कराने के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देश दिए गए।

धान एवं मोटा अनाज उपार्जन हेतु विकासखण्डवार पंजीयन केन्द्र निर्धारित

सतना | 14-सितम्बर-2019

कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा विकेन्द्रीयकृत उपार्जन योजना अंतर्गत खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटा अनाज के उपार्जन हेतु विकासखण्डवार कृषकों के पंजीयन हेतु कुल 83 पंजीयन केन्द्र निर्धारित किए गए है।
जिला आपूर्ति अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार विकास खण्ड सोहावल में 8, विकास खण्ड मझगवां में 8, विकास खण्ड नागौद में 14, विकास खण्ड उचेहरा में 10, विकास खण्ड रामपुर बघेलान में 9, विकास खण्ड अमरपाटन में 11, विकास खण्ड रामनगर में 11 तथा विकास खण्ड मैहर में 12 पंजीयन केन्द्र निर्धारित किये गए है।

अतरिक्त कक्ष निर्माण हेतु 199.47 लाख रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी

सतना | 31-अगस्त-2019

जनपद पंचायत मझगवां की शा.उत्कृ.उच्च.मा. विद्यालय मझगवां के उन्नयन अतिरिक्त कक्ष निर्माण हेतु कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा डी.एम.एफ. मद से 1 करोड़ 99 लाख 47 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की गई है। निर्माण कार्य की एजेंसी कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग सतना को बनाया गया है।

राष्ट्रीय खेल दिवस का आयोजन 29 अगस्त को 

सतना | 27-अगस्त-2019

 खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय के निर्देशानुसार 29 अगस्त को हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचन्द्र के जन्म दिवस को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप मनाया जाएगा। जिला खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी ने बताया कि खेल दिवस पर दादा सुखेन्द्र सिंह स्टेडियम जवाहर नगर में साइकिल रैली प्रातः 8 बजे, बालीवाल मैत्री मैच अपरान्ह 3.30 बजे आयोजित होगा। साइकिल रैली एवं बालीवाल मैच में भाग लेने वाले खिलाड़ी 28 अगस्त को सायं 6 बजे तक अपना पंजीयन खेल एवं युवा कल्याण कार्यालय में कराना सुनिश्चित करें।

रक्षाबंधन पर्व पर 1173 बंदी/बंदियों ने परिजनों से की मुलाकात 

सतना | 16-अगस्त-2019

 केन्द्रीय जेल सतना में रक्षा बंधन का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। बंदियों की बहनें रक्षासूत्र बांधने के लिए बडी संख्या में केन्द्रीय जेल सतना में उपस्थित हुई। रक्षाबंधन त्यौहार के अवसर पर 1147 पुरूष बंदियो से 2861 बहिनों व 26 महिला बंदियों से 35 भाईयों ने मुलाकात की। इस प्रकार कुल 1173 बंदी-बंदीनियों से 2896 परिजनो ने मुलाकात की।
इसी प्रकार शुक्रवार को प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय राजयोग प्रशिक्षण केन्द्र, कृष्णनगर सतना संस्था द्वारा बंदी भाईयों को रक्षासूत्र बांधे गए और प्रत्येक प्रकार के नशा और कुरीतियों से दूर रहने का संकल्प दिलाया गया। इस कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी रानी, लीला, निर्मला, ममता, शालू, रंजना, ब्रह्माकुमार पीयूष, श्री नरेन्द्र प्रताप सिंह जेल अधीक्षक, श्री रामकृष्ण चौरे जेल उप अधीक्षक, श्री अनिरूद्ध कुमार तिवारी कल्याण अधिकारी, श्री राजकिशोर गुर्जर, श्री अभिमन्यु पाण्डेय सहायक जेल अधीक्षक, श्री सिद्धार्थ सिंह बघेल सहायक ग्रेड-2, श्रीमति बिन्दु मिश्रा सहायक ग्रेड-3, श्री अशोक पटेल प्रहरी, श्री पुण्य प्रताप सिंह एवं जेल स्टॉफ उपस्थित रहा।

उज्जवला योजना के क्रियान्वयन हेतु मॉनिटरिंग समिति गठित 

सतना | 06-अगस्त-2019

 कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा प्रधानमंत्री उज्जवला 100 दिवसीय कार्य योजनांतर्गत जिले में 10 सितंबर 2019 तक शेष रहे, पात्र परिवारों को गैस कलेक्शन प्रदाय किए जाने संबंधी योजना के सुचारू क्रियान्वयन एवं सतत मॉनिटरिंग हेतु जिला स्तरीय मॉनिटरिंग समिति गठित की गई।
कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के अनुसार मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सुश्री ऋजु बाफना को अध्यक्ष, जिला आपूर्ति अधिकारी श्री नागेन्द्र सिंह, जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग अधिकारी श्री कमलेश्वर सिंह, जिला नोडल अधिकारी प्रधानमंत्री उज्जवला योजना एवं सेल्स ऑफीसर इण्डियन ऑयल कॉर्पो.लि. श्री विनय कुमार, सेल्स ऑफीसर हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन श्री अखिलेश शुक्ला एवं सेल्स ऑफीसर भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन श्री स्वपनिल श्रीवास्तव को सदस्य नियुक्त किया गया है।

मॉडल क्लास का दिया गया प्रजेन्टेशन 

सतना | 26-जुलाई-2019

 कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह एवं नगर निगम आयुक्त श्री अमनवीर सिंह वैस की उपस्थिति में शासकीय उत्कृष्ठ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय व्यंकट क्रमांक-1 में गुरूवार की सायं स्मार्ट सिटी योजनान्तर्गत मॉडल क्लास संचालित करने के संबंध में डेमो प्रजेन्टेशन दिया गया। इस मौके पर विद्यालय के प्राचार्य श्री जी.एस. चौहान सहित शैक्षणिक अमला उपस्थित था।

 

मतदाता जागरूकता हेतु विशेष अभियान 30 अगस्त तक

सतना | 23-जुलाई-2019

 राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले के नगरीय निकायों की फोटो मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्य प्रगति पर है। अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने जानकारी में बताया कि नगरपालिक निगम/नगरपालिका परिषद, नगर परिषद की फोटोयुक्त मतदाता सूची में नाम जोडने, संसोधन एवं विलोपान संबंधी दावे तथा आपत्तियां नियुक्त प्राधिकृत कर्मचारियों द्वारा 21 अगस्त से 30 अगस्त तक प्राप्त किए जाएगे। पात्र मतदाताओं को जन-जगारूकता अभियान के तहत जागरूक किया जाएगा।

1 से 20 अगस्त तक चलेगा कुष्ठ रोगी खोज अभियान 

सतना | 12-जुलाई-2019

 प्रदेश में कुष्ठ रोग के प्रति समाज में जागरुकता लाकर रोग के उपचार एवं व्याप्त भ्रांतियों में कमी लाई जाना प्रदेश शासन का एक प्रमुख लक्ष्य है। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अन्तर्गत 1 अगस्त से 20 अगस्त तक कुष्ठ रोगी खोज अभियान का आयोजन किया जाएगा। अभियान के दौरान जिले में घर-घर खोज के माध्यम से सघन स्क्रीनिंग कर संभावित कुष्ठ रोगी की पहचान कर जांच उपरांत उपचार प्रदाय किया जाना है जिससे प्रदेश को कुष्ठ रोग से मुक्त किया जा सकेगा।
अभियान का लक्ष्य कुष्ठ रोगी की पहचान रोग की प्रारंभिक अवस्था में कर उपचार प्रदाय कर कुष्ठ रोग के कारण होने वाली विकृति को कम करना, चिन्हित समस्त चर्मरोगी विशेषकर कुष्ठ रोगियों की पहचान कर पूर्ण उपचार प्रदाय करना एवं समाज में कुष्ठ रोग के प्रति जागरुकता लाना है।