Friday, August 23News That Matters

जबलपुर

Share

कलेक्टर ने नेत्रहीन कन्या विद्यालय की बच्चियों से बंधवाई राखी 

जबलपुर | 16-अगस्त-2019

कलेक्टर श्री भरत यादव ने भंवरताल उद्यान स्थित नेत्रहीन कन्या विद्यालय पहुंचकर यहां दृष्टिबाधित दिव्यांग बच्चियों से राखी बंधवाई और उन्हें बड़े भाई जैसा स्नेह दिया।  कलेक्टर श्री यादव आज राईट टाउन स्टेडियम में आयोजित किये गये स्वतंत्रता दिवस समारोह के समापन के बाद नेत्रहीन कन्या विद्यालय पहुंचे थे।  यहां आने का उनका मकसद संस्था की दृष्टिबाधित बच्चियों से राखी बंधवाने के साथ-साथ यहां तेज बारिश के दौरान होने वाले जलभराव की समस्या का स्थाई निराकरण करना भी था।
श्री यादव ने नेत्रहीन कन्या विद्यालय पहुंचकर सबसे पहले संस्था की बच्चियों को स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन की बधाई दी।  इसके बाद उन्होंने संस्था की छात्राओं से स्नेहपूर्वक राखी बांधने का आग्रह किया।  बच्चियां भी कलेक्टर को राखी बांधने पहले से ही तैयार थीं।  लेकिन इसके पहले इन बच्चियों ने भाई-बहन के अटूट स्नेह को अपने शब्दों में ढ़ालकर तैयार किये गये गीत “मेरी राखी की डोर कभी न हो कमजोर, भइया दे दो कलाई बहन आई है” गाकर सुनाया।  इस अवसर पर संस्था की छात्राओं ने देशभक्ति गीत भी गाये।  संस्था की नन्हीं छात्रा हर्षिता ने कलेक्टर को अपनी सुरीली आवाज में शिव स्तुति गाकर सुनाई।
कलेक्टर ने नेत्रहीन विद्यालय की बच्चियों से राखी बंधवाने के बाद उनका मुँह मीठा कराया।  उन्होंने इन बच्चियों को राखी के उपहार स्वरूप संस्था के भवन की मरम्मत कराने, सड़क की ओर प्रवेश द्वार बनवाने तथा जलभराव की समस्या से शीघ्र निजात दिलाने का वादा किया।  श्री यादव ने इस मौके पर संस्था परिसर का निरीक्षण भी किया।  उनके साथ सहायक कलेक्टर सिद्धार्थ जैन, अपर आयुक्त नगर निगम रोहित कौशल एवं प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित भी मौजूद थे।

जिला एवं तहसील न्यायालयों में 14 सितम्बर को आयोजित होगी नेशनल लोक अदालत 

जबलपुर | 06-अगस्त-2019

 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली के निर्देशानुसार सर्वोच्च न्यायालय से लेकर तहसील न्यायालयों तक शनिवार 14 सितम्बर को नेशनल लोक अदालत का आयेाजन किया जायेगा। इसी क्रम में जबलपुर के जिला एवं तहसील न्यायालय सिहोरा तथा पाटन में भी नेशनल लोक अदालत का आयेाजन किया जायेगा।
इस नेशनल लोक अदालत में सिविल, आपराधिक, चेक बाउंस, विद्युत अधिनियम, जल कर, पारिवारिक विवाद, मोटर दुर्घटना दावा, श्रम न्यायालय, भूमि अधिग्रहण, बैंक रिकवरी, राजस्व प्रकरण (न्यायालयों में लंबित) तथा राजीनामा योग्य न्यायालयों में लंबित एवं ऐसे प्रकरण जिनमें विवाद है परंतु न्यायालय में प्रस्तुत नहीं किए गए है, उनका निराकरण आपसी सुलह एवं समझौते के आधार पर किया जावेगा। नेशनल लोक अदालत में बैंक रिकवरी प्रकरणों, विद्युत के प्रकरणों तथा नगर निगम के जल कर के प्रकरणों में समय-समय पर शासन के निर्देशानुसार विशेष छूट का लाभ दिया जावेगा।
नेशनल लोक अदालत में न्यायालयों में लंबित सिविल प्रकरणों में राजीनामा किए जाने पर आवेदकों को संपूर्ण कोर्ट फीस वापिस प्राप्त होगी। लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों के निराकरण से पक्षकारों को त्वरित, शीघ्र एवं सस्ता न्याय प्राप्त होता है। लोक अदालत में पारित अवार्ड की अपील एवं रिवीजन भी नहीं होती है जिससे प्रकरणों के निराकरण में लगने वाले समय की बचत होती है।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने पक्षकारों से आग्रह किया है कि नेशनल लोक अदालत मे अधिक से अधिक संख्या मे उपस्थित होकर अपने प्रकरणों का निराकरण कराकर लोक अदालत का लाभ उठावें।

 

इंटेक कार्यों की समीक्षा 7 अगस्त को 

जबलपुर | 26-जुलाई-2019

 इंटेक जबलपुर इकाई की सामान्य सभा की वार्षिक बैठक बुधवार 7 अगस्त को शाम 4 बजे कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई है।  बैठक की अध्यक्षता संभागायुक्त राजेश बहुगुणा करेंगे।
बैठक में वर्ष 2018-19 के ऑडिट रिपोर्ट की पुष्टि और वर्ष 2018-19 के वार्षिक प्रतिवेदन पर विचार होगा।  इसके अलावा वर्ष 2019-20 की प्रस्तावित गतिविधियों सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा होगी।

किसान भाईयों को अल्पवर्षा की वर्तमान स्थिति में सम सामयिक सलाह

जबलपुर | 23-जुलाई-2019

अल्पवर्षा तथा सूखे की निर्मित हो रही स्थिति में किसान भाईयों को खेती-किसानी की दृष्टि से कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा समसामयिक सलाह दी गई है।
कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ एके सिंह ने इस संबंध में बताया कि जिन किसान भाईयों की अभी तक बोनी नहीं की है, वे कम पानी वाली फसलें यथा अरहर, उड़द, मूंग व तिल की बोनी करें तथा देर से बोनी की दशा में बीजदर 25 प्रतिशत बढ़ाकर बोनी करें। बोनी हेतु उड़द की उन्नत किस्में यथा आईपीयू 94-1, पंत उड़द 30, पंत उड़द 31, आईपीयू 2-43, प्रताप उड़द 1, मूंग की उन्नत किस्में पूसा विशाल, पीडीएम 139, आईपीएम 2-3, एमएच 421, अरहर की उन्नत मध्यम अवधि की किस्में टीजेटी 501, पीकेवी तारा, पूसा 992, तिल की उन्नत प्रजातियां यथा जेटीएस 8, टीकेजी 22, टीकेजी 55 आदि किस्मों का प्रयोग करें।
बोनी से पूर्व बीज को मिश्रित फफूंदनाशी और कार्बेन्डाजिम और मेंकोजेब की 2 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज व जैव उर्वरकों (राइजोबियम व पीएसबी) की 5 ग्राम मात्रा प्रति किलोग्राम बीज के हिसाब से उपचारित करें। किसान भाई उक्त फसलों की बोनी मेंढ़ नाली विधि से करें, ताकि नमी अधिक समय तक संरक्षित रहे। किसान भाई बोनी करते समय जैव उर्वरकों (पीएसबी माइकोराइजा, सूडोमोनास, पोटास विलयक जीवाणु, जैव अपशिष्ट अपघटक) का प्रयोग आधार रूप में करें। जिन किसान भाईयों की बोनी हो चुकी है वे नमी संरक्षण हेतु खेत में बखर चलाएं तथा आवश्यकतानुसार जीवन रक्षक सिंचाई करें। समय से नींदा नियंत्रण हेतु निंदाई-गुड़ाई करें तथा खरपतवारों को कतारों के मध्य रखें ताकि नमी संरक्षण हो।

 

महिला एवं बाल कल्याण स्थायी समिति की बैठक 17 जुलाई को

सिवनी | 12-जुलाई-2019

जिला पंचायत सिवनी की स्वास्थ्य, महिला एवं बाल कल्याण स्थायी समिति की बैठक 17 जुलाई को दोपहर 12 बजे से जिला पंचायत कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई है

भारत भवन में कथक और शास्त्रीय गायन 8 से 10 जून तक 

जबलपुर | 06-जून-2019   भारत भवन भोपाल में 8 से 10 जून तक नृत्य और गायन की प्रस्तुति होगी। आठ जून को सुश्री सुलेखा धारकर भट्ट का शास्त्रीय गायन होगा। सुप्रसिद्ध कथक नृत्यागंना व्ही अनुराधा सिंह 9 जून को कथक के ताल पक्ष एवं गजल आधारित भाव पक्ष की प्रस्तुति देंगी। दोनों कार्यक्रम शाम 7 बजे से आरंभ होंगे। सुश्री क्षमा मालवीय और साथी कलाकार 10 जून को शाम 7 बजे और मनीषा अभय और साथी शाम 7.40 बजे कथक प्रस्तुत करेंगे। दोनों कार्यक्रम में प्रवेश नि:शुल्क है।