Thursday, September 23News That Matters

जबलपुर

अमानक पनीर बेचने के आरोप सिद्ध होने पर डेढ़ लाख का जुर्माना वसूला मिठाई दुकानों की आकस्मिक जांच जारी
जबलपुर | 20-अगस्त-2021

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देशानुसार दूषित खाद्य सामग्री के विक्रय को रोकने चलाये जा रहे अभियान के तहत आज गोरखपुर अनुभाग के अंतर्गत नायब तहसीलदार राजेन्द्र शुक्ला ने खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ मिठाई दुकानों हीरा स्वीट्स, 7/11 एवं केशरवानी स्वीट्स एण्ड नमकीन की जांच की। इस दौरान इन प्रतिष्ठानों से परीक्षण हेतु खाद्य पदार्थों के सेम्पल लिये गये तथा कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन पाये जाने पर जुर्माना लगाया गया।
पाटन तहसील मुख्यालय में भी नायब तहसीलदार सुरभि जैन के नेतृत्व में मिठाई विक्रय प्रतिष्ठानों विवेक मिष्ठान्न भंडार, जैन होटल, कृष्णा स्वीट्स आदि का निरीक्षण किया गया। इस दौरान खाद्य सुरक्षा विभाग के अमला भी मौजूद था। इसी तरह एसडीएम शहपुरा अनुराग तिवारी ने खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ शहपुरा स्थित मिठाई दुकानों की आकस्मिक जांच की।

दो प्रतिष्ठानों से दो लाख का जुर्माना वसूला

ईधर एसडीएम अधारताल नम: शिवाय अरजरिया ने तहसीलदार राजेश सिंह एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी अम्बरीश दुबे के साथ दमोहनाका स्थित बाबू भाई स्वीट्स की आकस्मिक जांच की। जांच के दौरान मिलावट की आशंका पर इस प्रतिष्ठान से बेसन के सेम्पल लिये गये। जिसे परीक्षण हेतु खाद्य प्रयोगशाला भोपाल भेजा जा रहा है।
एसडीएम आधारताल श्री अरजरिया ने आज ही कटंगी रोड स्थित पी.के. पनीरवाला नामक प्रतिष्ठान का भी निरीक्षण किया। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी न्यायालय अमानक पनीर बनाने और बेचने का आरोप सिद्ध होने पर इस प्रतिष्ठान के संचालक से डेढ़ लाख रुपये की जुर्माना राशि वसूल की गई। इसी तरह गढ़ा रोड रानीताल स्थित गुप्ता स्वीट्स से अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी द्वारा एक प्रकरण में वर्ष 2019 में अधिरोपित 2 लाख रुपये की शास्ति के विरूद्ध 50 हजार रुपये की राशि एसडीएम आधारताल द्वारा वसूल की गई। इस दौरान तहसीलदार राजेश सिंह भी उनके साथ मौजूद थे।

मूंग और उड़द के उपार्जन के लिए हुए पंजीयनों के सत्यापन कार्य में तेजी लायें

देर शाम आयोजित वर्चुअल मीटिंग में कलेक्टर ने दिये निर्देश, पंजीयन की अवधि 20 जून तक बढ़ी
जबलपुर | 18-जून-2021

   कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने आज शुक्रवार की देर शाम वर्चुअल मीटिंग लेकर मूंग और उड़द के उपार्जन के लिए पंजीयन कराने वाले सभी किसानों के सत्यापन की प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिये हैं।
श्री शर्मा ने मीटिंग में मूंग और उड़द के उपार्जन के लिए बनाये गये सभी दस उपार्जन केन्द्रों पर अभी तक हुई खरीदी का ब्यौरा लिया। कलेक्टर ने कहा कि जिन खरीदी केन्द्रों पर अभी तक उपार्जन प्रारंभ नहीं हो सका है वहां किसानों को शीघ्र एसएमएस भेजे जायें। उन्होंने कहा कि खरीदी केन्द्रों पर किसानों को किसी तरह की परेशानी न हो और उन्हें उपार्जन के लिए ज्यादा इंतजार न करना पड़े इस ओर विशेष ध्यान दिया जाए।
कलेक्टर ने प्रत्येक खरीदी केन्द्र पर सतत निगरानी रखने के निर्देश अधिकारियों को दिये, ताकि किसानों की आड़ में व्यापारी या बिचौलिये उपार्जन व्यवस्था का अनुचित लाभ न उठा सकें। उन्होंने उपार्जन व्यवस्था का अनुचित फायदा उठाने की कोशिश करने वालों पर सख्त कार्यवाही करने की हिदायत भी दी। श्री शर्मा ने कहा कि खरीदी केन्द्रों पर फसल को बारिश से बचाने सभी जरूरी इंतजाम सुनिश्चित किये जायें।
वर्चुअल मीटिंग में बताया गया कि जिले में समर्थन मूल्य पर मूंग और उड़द के उपार्जन के लिए अभी तक करीब 28 हजार 300 किसानों द्वारा पंजीयन कराया जा चुका है। इस अवसर पर बताया गया कि शासन द्वारा किसानों की सुविधा को देखते हुए पंजीयन की अंतिम तारीख बढ़ाकर 20 जून कर दी गई है। किसानों के पंजीयन के लिए 23 पंजीयन केन्द्र स्थापित किये गये हैं। बैठक में अपर कलेक्टर राजेश बाथम, एसडीएम, तहसीलदार तथा उपार्जन व्यवस्था से जुड़े सभी विभागों के अधिकारी एवं खरीदी केन्द्रों के प्रभारी अधिकारी मौजूद थे।

कोरोना कर्फ्यू से दी गई छूटों एवं प्रतिबंधों की अवधि 15 जून तक बढ़ी

जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने जारी किया आदेश
जबलपुर | 08-जून-2021

    जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने एक जून से जिले में कोरोना कर्फ्यू में दी गई छूटों एवं प्रतिबंधों की समयावधि बढ़ाकर इन्हें 15 जून की अर्द्धरात्रि तक यथावत रखा है। इस बारे में आज आदेश जारी कर दिया गया है।
आदेश में स्पष्ट किया गया है कि धारा 144 के तहत 31 मई को जारी आदेश तथा 3 जून को जारी संशोधित आदेश में जबलपुर जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू में दी गई छूट एवं प्रतिबंध 15 जून की अर्द्धरात्रि तक यथावत प्रभावी रहेंगे।

ऑक्सीजन की आपूर्ति समय पर हो: कलेक्टर श्री शर्मा

 

जबलपुर | 19-अप्रैल-2021

    कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने आज पनागर के पास लीटी में स्थित ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति समय पर हो, किसी मरीज को ऑक्सीजन की कमी न आने दें।  इसके लिए अभी प्लांट में जो कमियां हैं उसे समय पर पूरा करें, मजदूरों की व्यवस्था सुनिश्चित कर लें, ताकि ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित न हो। साथ ही उसी परिसर में स्थित आक्सीजन सेपरेशन यूनिट जो अभी बन रही है उसका भी अवलोकन कर यूनिट में आवश्यक संसाधनों को शीघ्र सुनिश्चित करने के निर्देश दिये, ताकि यूनिट शीघ्रता से शुरु हो सके। इस दौरान अपर कलेक्टर श्री राजेश बाथम, एसडीएम श्री नम: शिवाय अरजरिया, श्री अनुराग तिवारी, तहसीलदार श्री नीता कोरी सहित अन्य संबंधित लोग उपस्थित थे।

कटंगी में 5 व्यक्तियों पर 500 रुपये का जुर्माना

जबलपुर | 13-अप्रैल-2021

      रोको-टोको अभियान के तहत आज शुक्रवार को कटंगी में 5 व्यक्तियों पर 500 रुपये का जुर्माना किया गया।

3070.63 करोड़ का आवंटन से अनुसूचित जनजातियों के सामाजिक आर्थिक विकास को लगे पंख -कहानी सच्ची है

जबलपुर | 05-मार्च-2021

   अनुसूचित जनजातियों के सामाजिक आर्थिक विकास के लिए भारतीय संविधान के अनुच्छेद 275 (एक) अंतर्गत जनजाति उपयोजना और अनुदान के लिए विषेष केन्द्रीय सहायता एस.सी.ए. का विषेष क्षेत्र कार्यक्रम अंतर्गत जबलपुर संभाग के जिला डिंडौरी, बालाघाट, सिवनी, मण्डला, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर व कटनी को प्राप्त आवंटन और उससे किये विकास जनजातीय विकास के लिए मील का पत्थर साबित हो रहा है। योजना की प्रक्रिया के आरंभ से यह सुनिष्चित करने के प्रयास किए गए है कि जनजातीय व्यक्तियों को विकास की प्रक्रिया में षामिल कर उन्हें मुख्यधारा से जोड़ा जाए। योजनांतर्गत जब से राषि मिल रही है तब से जनजातीय क्षेत्रों में विकास के नये पंख लग गये है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 275 (एक) अंतर्गत संभाग में वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 में 3070.63 करोड़ का आवंटन प्राप्त हुआ। जिसमें से 338 कार्यो में 135 कार्य पूर्ण हो चुके है। 205 कार्य प्रगतिरत है। अभी तक 1272.9 करोड़ की राषि व्यय की जा चुकी है। डिंडौरी जिले में वर्ष 2018-19 के लिए 374.12 का आवंटन प्राप्त हुआ था। जिसमें 22 पुलिया निर्माण, 08 डेम, 19 रपटा बनाये गये। वर्ष 2019-20 में 241.07 करोड़ के आवंटन से 06 बाउंडी वाल, 11 अतिरिक्त कक्ष और 07 पेयजल संरचनाएं बनाये गये। बालाघाट में वर्ष 2018-19 में 202 करोड़ में 06 पुलिया निर्माण, 02 रपटा, 04 स्टाप डेम, वर्ष 2019-20 में 27.27 करोड़ के आवंटन में 04 बाउंडी बाल, 04 अतिरिक्त कक्ष, 03 कूप निर्माण, 01 प्राथमिक षाला भवन बनाया गया। सिवनी जिले में वर्ष 2018-19 में 62 करोड़ में 01 विद्युत पम्प, 01 मछली तालाब, 01 लाख उत्पादन केन्द्र, 01 रपटा, 01 बाउंडी वाल, 01 अतिरिक्त कक्ष बनाये गये। इसी प्रकार वर्ष 2019-20 में 240 करोड़ की लागत से 18 टायलेट निर्माण, पेयजल के लिए 02 कार्य के साथ 17 अतिरिक्त कक्ष बनाये गये। मण्डला में वर्ष 2018-19 में 520.4 करोड़ की लागत से 26 पुलिया निर्माण, 15 रोड निर्माण, 15 स्टाप डेम, 09 रपटा और 07 आंगनबाड़ी केन्द्र बनाये गये। वर्ष 2019-20 में 464.29 करोड़ लागत से 08 वाउंडी वाल, 06 पेयजल संरचनाए, 16 अतिरिक्त कक्ष बनाये गये। छिंदवाड़ा जिले में वर्ष 2018-19 में 416 करोड़ की लागत से 18 पुलिया निर्माण, 22 सड़क निर्माण, 04 स्टाप डेम व 04 रपटा बनाये गये। जबलपुर जिले में वर्ष 2018-19 में 43.62 करोड़ की लागत से 03 सी सी रोड व एक सामुदायिक भवन बनाया गया। नरसिंहपुर जिले में वर्ष 2018-19 में  57 करोड़ की लागत से ग्रामीण क्षेत्र में एक पेयजल पाईप तथा वर्ष 2019-20 में 92.66 करोड़ की लागत से 04 बाउंडी वाल, 03 पेयजल संरचनाएं और 04 अतिरिक्त कक्ष बनाये गये। कटनी जिला को वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 में आवंटन अप्राप्त रहा। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 275 (एक) अंतर्गत जनजाति उपयोजना और अनुदान के लिए विशेष केन्द्रीय सहायता से अनुसूचित जनजातियों के सामाजिक आर्थिक विकास के लिए मील का पत्थर साबित हो रहा है।

राष्ट्रीय सफाई कामगार आयोग के उपाध्यक्ष का आगमन 27 को

जबलपुर | 26-फरवरी-2021

    राष्ट्रीय सफाई कामगार आयोग के उपाध्यक्ष श्री बबन रावत का दो दिवसीय प्रवास पर शनिवार 27 फरवरी को सुबह 5.25 लखनऊ से रेल मार्ग द्वारा जबलपुर आगमन होगा। श्री रावत इस दिन यहां सुबह 8 बजे नगर निगम के वार्डों में सफाई कर्मचारियों की समस्यायें सुनेंगे तथा शाम 4 बजे सफाई कर्मचारियों की बस्तियों का निरीक्षण करेंगे। राष्ट्रीय सफाई कामगार आयोग के उपाध्यक्ष रविवार 28 फरवरी को सुबह 11 बजे कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक लेंगे एवं दोपहर 3 बजे सफाई कर्मचारियों की बस्तियों का निरीक्षण करने के बाद शाम 7.30 बजे रेल द्वारा नई दिल्ली रवाना होंगे।

स्वास्थ्य कार्यक्रमों एवं योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करें- श्री शर्मा

स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक में कलेक्टर ने दिये निर्देश
जबलपुर | 19-फरवरी-2021

  कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने आज गुरुवार को आयोजित एक बैठक में स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को आपस में समन्वय स्थापित कर स्वास्थ्य कार्यक्रमों एवं विभागीय योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। श्री शर्मा ने बैठक में स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की बारी-बारी से समीक्षा की। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई इस बैठक में जिला पंचायत की सीईओ रिजु बाफना भी मौजूद थीं।
कलेक्टर ने एनीमिया से पीडि़त बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को चिन्हित करने और उनके समुचित उपचार के लिए संयुक्त रूप से अभियान चलाने के निर्देश दोनों विभागों के अधिकारियों को दिये। श्री शर्मा ने संस्थागत प्रसव को प्रोत्साहन देने की बात भी कही। तथा घरों में होने वाले प्रत्येक प्रसव की केस स्टडी की जाये तथा इसकी वजहों को जाना जाये ताकि कमियों को दूर किया जा सके।
कलेक्टर ने बैठक में आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों को दिये जा रहे पोषण आहार के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने एएनसी रजिस्ट्रेशन पर चर्चा करते हुए प्रत्येक गर्भवती महिला का पंजीयन सुनिश्चित करने की तथा उनका नियमित रूप से चेकअप करने की हिदायत दी। श्री शर्मा ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एवं जननी सुरक्षा योजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशि का भी समय पर भुगतान करने के निर्देश दिये।
कलेक्टर ने पोषण पुनर्वास केन्द्रों में भर्ती बच्चों के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कुपोषण के शिकार बच्चों का पोषण पुनर्वास केन्द्रों में उपचार के बाद घर जाने पर भी नियमित रूप से फालोअप लिया जाये। श्री शर्मा ने बैठक में आंगनबाड़ी केन्द्र भवनों के निर्माण की प्रगति का ब्यौरा भी लिया। उन्होंने कहा कि इस बात के प्रयास किये जाये कि किराये पर लगने वाले आंगनबाड़ी केन्द्रों का खुद का भवन हो। उन्होंने नये आंगनबाड़ी केन्द्रों के भवन शाला परिसरों में ही बनाये जाने को प्राथमिकता देने की बात कही। और इसके लिये महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को शिक्षा विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिये।
कलेक्टर श्री शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए शेष पात्रों के आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य में गति लाने पर बल दिया। उन्होंने पीसी एण्ड पीएनडीटी एक्ट के तहत सोनोग्राफी सेंटरों की जांच करने के निर्देश भी बैठक में दिये तथा भ्रूण लिंग परीक्षण की शिकायतों पर सख्त कार्यवाही करने की हिदायत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दी।
कलेक्टर ने मलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के तहत उन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिये जहां लगातार हर वर्ष मलेरिया के प्रकरण आ रहे हैं। उन्होंने ऐसे क्षेत्र में दवाओं के छिड़काव एवं मच्छरदानी के वितरण के साथ-साथ मलेरिया से बचाव के उपायों एवं सावधानियों के प्रति जन जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता भी बताई। श्री शर्मा ने बैठक में राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम, परिवार कल्याण कार्यक्रम, क्षय उन्मूलन कार्यक्रम, कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम एवं 15 फरवरी से 20 मार्च तक चलाये जा रहे दस्तक अभियान की समीक्षा भी की।
कलेक्टर ने बैठक में अनुपस्थित रहने पर पीसी एण्ड पीएनडीटी एक्ट के, कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के तथा राष्ट्रीय परिवार कल्याण कार्यक्रम के प्रभारी अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिये। बैठक में कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों के निराकरण की स्थिति का ब्यौरा भी लिया। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायत का त्वरित और शिकायतकर्ता की संतुष्टि के साथ निराकरण किया जाये। श्री शर्मा ने जननी सुरक्षा योजना के तहत राशि का भुगतान न किये जाने की शिकायतों के निराकरण पर विशेष ध्यान देने की हिदायत बैठक में दी।

केयर बाय कलेक्टर नामांतरण आदेश की नकल और बही मिलने पर जताया कलेक्टर का आभार

जबलपुर | 13-फरवरी-2021

    केयर बाय कलेक्टर व्हाट्सअप नंबर पर भेजे गये एक संदेश ने गौरेय्यागाट निवासी श्रीमती सुनीता पचौरी की समस्या दो दिनों के भीतर दूर कर दी। सुनीता पचौरी ने केयर बाय कलेक्टर व्हाट्सअप नंबर 7587970500 पर संदेश भेजकर भूमि के नामांतरण आदेश की प्रति और भू-अधिकार पुस्तिका (बही) न मिलने की शिकायत की थी। श्रीमती पचौरी ने बताया था कि लॉकडाउन से पहले नामांतरण आदेश की नकल हेतु उसने नायब तहसीलदार बरेला कार्यालय में आवेदन दे रखा है। कई चक्कर लगाने के बावजूद उसे न तो आदेश की प्रति मिली और न ही बही मिल पाई है।
कलेक्टर श्री शर्मा ने इस शिकायत को गंभीरता से लिया और फौरन अधिकारियों से कैफियत तलब की। उन्होंने सुनीता पचौरी के आवेदन पर तुरंत कार्यवाही करने तथा नामांतरण आदेश की नकल एवं भू-अधिकार पुस्तिका (बही) प्रदान करने के निर्देश संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को दिये।
कलेक्टर से प्रकरण में लेट-लतीफी बरतने पर मिली फटकार के बाद नायब तहसीलदार बरेला द्वारा  श्रीमती पचौरी से तुरंत फोन पर संपर्क किया गया तथा अगले दिन ही कार्यालय आकर आदेश और बही प्राप्त करने कहा गया। समस्या का निराकरण हो जाने पर आवेदिका ने केयर बाय कलेक्टर व्हाट्सअप नंबर पर दोबारा संदेश भेजकर कलेक्टर श्री शर्मा का न केवल आभार जताया बल्कि आम जनता की समस्या के निराकरण के लिए शुरू की गई इस पहल को लगातार जारी रखने का आग्रह भी किया।

सफाई नहीं होने की शिकायतें भी मिल रहीं केयर बॉय कलेक्टर पर

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा द्वारा आमजन की समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए केयर बाय कलेक्टर व्हाट्सअप नंबर के नाम से शुरू की गई अनूठी पहल की बढ़ती लोकप्रियता की ही यह बानगी है कि अब इस नंबर पर मोहल्ले एवं गलियों की साफ-सफाई को लेकर संदेश भी भेजे जाने लगे हैं। खास बात यह है कि नागरिकों द्वारा भेजे गये व्हाट्सअप संदेश पर तुरंत कार्यवाही भी हो रही है और समस्या का निराकरण होने की सूचना इस नंबर पर दोबारा संदेश भेजकर भी की जा रही है।
इसी तरह की एक शिकायत केयर बाय कलेक्टर व्हाट्सअप नंबर पर सिहोरा के वार्ड क्रमांक सात की कुछ तस्वीरें भेजकर कचरा नहीं उठाये जाने की क्षेत्रवासियों द्वारा की गई थीं। संदेश मिलते ही नागरिकों की इस समस्या का तुरंत निराकरण कराया गया। स्थानीय लोगों द्वारा उनकी समस्या तुरंत हल होने पर दोबारा संदेश भेजकर कलेक्टर के प्रति आभार जताया गया। इसी तरह एक अन्य शिकायत साहिब परिसर न्यू रामनगर आधारताल निवासी उमेश विश्वकर्मा द्वारा की गई थी। श्री विश्वकर्मा ने शिकायत में कहा था कि उनकी कॉलोनी में सफाई कर्मी नियमित रूप से नहीं आ रहे हैं। इसकी जानकारी वो नगर निगम को कई बार दे चुके हैं, लेकिन कॉलोनी वासियों की इस समस्या का हल नहीं हो रहा है। संदेश मिलते ही इस शिकायत पर भी फौरन एक्शन लिया गया और समस्या का समाधान होने पर कॉलोनीवासियों की ओर से उमेश विश्वकर्मा ने एक ओर संदेश भेजकर आभार जताते हुए नागरिकों की समस्या के निराकरण के लिए शुरू की गई इस पहल की सराहना की।

पाटन बायपास स्थित गोदाम से जांच हेतु लिये गये

लेज के चिप्स और कुरकुरे के नमूने
जबलपुर | 05-फरवरी-2021
      कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देशानुसार मिलावट से मुक्ति अभियान के अंतर्गत खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने आज पाटन बाईपास स्थित भारत लॉजिस्टिक के गोडाउन से लेज कंपनी के कुरकुरे एवं चिप्स के 12 नमूने जाँच हेतु लिए हैं। खाद्य सुरक्षा अधिकारी देवकी सोनवानी के अनुसार कार्यवाही के दौरान एफएसएसएआई का होलसेल लाइसेन्स नहीं पाये जाने पर गोडाउन को सील कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि पूर्व में भी इनके सैम्पल जाँच में मिथ्याछाप प्राप्त हुए थे जिनके प्रकरण न्यायालय में चल रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री श्री पटेल आज ग्वालियर जायेंगे

जबलपुर | 04-दिसम्बर-2020
    केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री श्री प्रहलाद पटेल शुक्रवार 4 दिसम्बर की सुबह 7 बजे जबलपुर से कार द्वारा ग्वालियर रवाना होंगे।

होम आइसोलेशन के नियमों का सख्ती से करायें पालन

कलेक्टर ने ली स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक
जबलपुर | 28-नवम्बर-2020
    कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने आज शाम स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक लेकर उन क्षेत्रों में ज्यादा सतर्कता बरतने के निर्देश दिये हैं जहां से कोरोना पॉजिटिव केस ज्यादा निकलकर आ रहे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि ऐसे क्षेत्रों में कंटेनमेंट के सभी नियमों का सख्ती से पालन कराया जाये।
कलेक्टर ने बैठक में होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीजों पर स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले के माध्यम से निगरानी रखने तथा होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वाले पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये।
श्री शर्मा ने बैठक में कहा कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सभी जरूरी कदम उठाये जायें। उन्होंने उन क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश भी दिये जहां ज्यादा संख्या में कोरोना मरीज आ रहे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि यदि परिवार का कोई सदस्य कोरोना पॉजिटिव आता है तो उस परिवार के अन्य सदस्यों को भी आइसोलेट अथवा क्वारंटीन किया जाये। उन्होंने हर एक पॉजिटिव प्रकरण को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि उसके संपर्क में आने वालों की जानकारी जुटाई जाये।
श्री शर्मा ने बैठक में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के घर पर पोस्टर लगाने के निर्देश भी दिये तथा पॉजिटिव मरीज के घर एवं आसपास के क्षेत्र को सेनिटाइज कराने कहा। उन्होंने पिछले दस दिनों में कोरोना पॉजिटिव मिले बुजुर्गों और पचास वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों के प्राप्त डेटा का विश्लेषण करने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारियों को दिये। उन्होंने सर्दी-खांसी से दो दिन से अधिक समय से पीडि़त व्यक्तियों के सेम्पल लेने पर भी जोर दिया।
बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रत्नेश कुररिया, डॉ. एसएस दाहिया, डॉ. धीरज धवण्डे, डॉ. अमिता जैन, डॉ. अमृता अग्रवाल, डॉ. अमजद, डॉ. विभोर हजारी एवं श्री विजय पांडे मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर ने शासकीय व निजी अस्पतालों के कोरोना वार्ड में बेड आक्यूपेंसी की जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने वृद्धजन सुरक्षा अभियान के तहत अभी तक चिन्हित बुजुर्ग एवं बीमार व्यक्तियों तथा कोरोना कंट्रोल रूम से उनसे किये जा रहे संपर्क का ब्यौरा भी लिया।

उपार्जन केन्द्रों पर निगरानी हेतु पटवारियों को सहायक नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश

जबलपुर | 20-नवम्बर-2020
      कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने समर्थन मूल्य धान उपार्जन के लिए बनाये गये खरीदी केन्द्रों पर निगरानी व्यवस्था को मजबूत बनाने संबंधित क्षेत्र के पटवारियों को सहायक नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को दिये हैं। इस बारे में एक आदेश जारी कर श्री शर्मा ने अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों से कहा है कि सहायक नोडल अधिकारी बनाये जाने वाले पटवारियों को उपार्जन केन्द्र पर धान की गुणवत्ता, बारदानों की निगरानी एवं किसानों की समस्याओं के निराकरण की जिम्मेदारी भी दी जाये।

रोको-टोको अभियान : अब तक 57 हजार व्‍यक्तियों से 59.28 लाख का जुर्माना वसूला गया

जबलपुर | 17-जुलाई-2020

      मास्‍क न पहनने, मास्‍क सही ढ़ंग से न पहनने, फिजिकल डिस्‍टेंसिंग का पालन नहीं करने एवं कोरोना संबंधी प्रोटोकॉल का उल्‍लघंन करने वालों के खिलाफ जिले में चलाये जा रहे रोको-टोको अभियान के तहत अभी तक 57 हजार 109 व्‍यक्तियों से 59 लाख 28 हजार 497 रूपये का जुर्माना वसूला जा चुका है। उल्‍लेखनीय है कि कलेक्‍टर भरत यादव की पहल पर जिले में शुरू किये गये इस अभियान को रोको-टोको कार्यक्रम के नाम से प्रदेश भर में लागू किया गया है।
रोको-टोको अभियान के तहत आवश्‍यक वस्‍तुओं का अधिक दाम वसूलने वाले दुकानदारों के खिलाफ भी कार्यवाही की जा रही है। अभियान के तहत आज गुरूवार को 221 व्‍यक्तियों पर कार्यवाही कर 70 हजार 056 रूपये का जुर्माना वसूला गया है। अभियान के तहत आज किये गये जुर्माने में से अकेले नगर निगम सीमा क्षेत्र में 199 व्‍यक्तियों से 67 हजार 155 रूपये का जुर्माना वसूला गया है।

सांसद राकेश सिंह की अध्यक्षता में “दिशा” की बैठक आज

जबलपुर | 10-जुलाई-2020

    केंद्र सरकार की योजनाओं और विकास से जुड़े विषय पर जिला निगरानी एवँ सतर्कता समिति “दिशा” की बैठक शनिवार 11 जुलाई को सुबह 11:30 बजे कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई है।

तत्काल शुरू किए जायें विभागीय निर्माण कार्य

छात्रवृत्ति का भुगतान में भी गति लायें, स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा, आदिम जाति कल्याण, विभाग के अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर के निर्देश
जबलपुर | 19-जून-2020

    कलेक्टर भरत यादव ने आज गुरुवार को स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा, आदिवासी कल्याण, अल्प संख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक में विभागीय कामकाज को गति देने तथा सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का समय सीमा के भीतर निराकरण करने की हिदायत दी है। श्री यादव ने इन अधिकारियों को आंगनबाड़ी केन्द्र एवं अन्य स्वीकृत निर्माण कार्यों को शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने लंबित पेंशन प्रकरणों को निराकरण की ओर भी ज्यादा ध्यान देने पर बल दिया।
श्री यादव ने बैठक में अनुसूचित जाति, जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति के भुगतान में हुई प्रगति की समीक्षा भी की। उन्होंने इन वर्गों के शेष पात्र छात्र-छात्राओं को भी छात्रवृत्ति का शीघ्र भुगतान करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने कहा कि निजी अथवा शासकीय महाविद्यालयों में अध्ययनरत कोई भी छात्र-छात्रवृत्ति का भुगतान में विलंब होने और इस कारण परीक्षा शुल्क नहीं चुका पाने के कारण परीक्षा से वंचित नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस तरह की शिकायतें प्राप्त होती हैं तो तत्काल एक्शन लेकर संबंधित उच्च शिक्षा संस्थानों पर कार्यवाही की जाए।

वृद्धाश्रम में हुआ गुरू पर्व का आयोजन

दिव्यांग छात्र भी हुए शामिल, सिक्ख समाज ने किया कलेक्टर का सरोपा भेंटकर सम्मान
जबलपुर | 11-फरवरी-2020

   गुरू नानक देवजी महाराज के 550वें प्रकाश उत्सव के तहत चल रहे कार्यक्रमों की श्रृंखला में निरभव निरवैर समाज सेवक जत्था रांझी ने रेडक्रॉस द्वारा संचालित वृद्धाश्रम में आज गुरू पर्व का आयोजन किया।
अपनी तरह के इस अनूठे कार्यक्रम में गुरूद्वारा ग्वारीघाट के रागी जत्था ने कीर्तन का गायन किया। गुरू पर्व के इस पवित्र आयोजन की खासियत इसमें वृद्धाश्रम के बुजुर्गों सहित अंध-मूक विद्यालय के छात्रों का शामिल होना था।  कार्यक्रम में गुरू के अटूट लंगर का आयोजन भी किया गया जिसमें सभी दिव्यांग छात्र वृद्धाश्रम के बुजुगों के साथ शामिल हुए।
गुरू पर्व के इस आयोजन में कलेक्टर भरत यादव एवं विधायक श्री अशोक रोहाणी का निरभव निरवैर सेवक जत्था ने सरोपा भेंटकर सम्मान भी किया। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री श्री चंद्रकुमार भनोत एवं श्री हरेन्द्र जीत सिंह बब्बू भी शामिल हुए।

छिंदवाड़ा जिले के 15 जलाशयों की ऊंचाई बढ़ाने की स्वीकृति

जबलपुर | 21-दिसम्बर-2019

 राज्य शासन ने छिंदवाड़ा जिले के 15 जलाशयों/स्टॉप डैम की ऊंचाई बढ़ाने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। इनके नाम क्रमश: खैरवाड़ा स्टॉपडैम, घाट परासिया जलाशय, गाडरवाड़ा जलाशय, दूधा जलाशय, छाबड़ी स्टॉपडैम, बोधकीढाना स्टॉपडैम, बंधी स्टॉपडैम, अंधोरी बैराज, शाहपुरा स्टॉपडैम, पथराखोखर जलाशय, लखदा जामहोड़ी, पटानिया बैराज, भावरा बैराज, कोहका दमुआ तथा हर्रई जलाशय हैं।

अस्पृश्यता निवारण शिविर भी लगाया गया

जबलपुर | 18-अक्तूबर-2019

ग्रामीणों की समस्याओं का गाँव में ही निराकरण करने के लिए आपकी सरकार आपके द्वार योजना के तहत आज लगाये गये शिविर के साथ-साथ मझगंवा में अस्पृश्यता निवारण शिविर का आयोजन भी किया गया। आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा आयोजित इस शिविर में छुआछूत जैसी सामाजिक बुराईयों पर स्कूली बच्चों के बीच वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया और विजेता बच्चों को प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया गया।
अस्पृश्यता निवारण शिविर का समापन सामूहिक भोज के साथ हुआ। शिविर में विधायक श्रीमती नंदिनी मरावी, कलेक्टर श्री भरत यादव, जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्र, जिला पंचायत सदस्य नन्हें लाल धुर्वे, रामकृष्ण पटेल, श्रीमती जमुना मरावी, जनपद अध्यक्ष श्रीमती सरिता सिंह, नगर पालिका परिषद सिहोरा की अध्यक्ष सुशीला चौरसिया, पूर्व विधायक श्री नित्य निरंजन खम्परिया भी मौजूद थे। इस अवसर पर अतिथियों ने अपने विचार व्यक्त करते हुए छुआछूत को बीते दिनों की बात बताते हुए कहा कि हर क्षेत्र में हुई तरक्की और तेज गति से हुए बदलावों के फलस्वरूप अब यह बुराई ढूँढने से भी नहीं मिलती।

सीएचसी शहपुरा में सिजेरियन प्रसव की सुविधा पुन: प्रारंभ “खुशियों की दास्तां”

जबलपुर | 11-अक्तूबर-2019

स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के प्रदेश की वर्तमान सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप अब ग्रामीण क्षेत्र में स्थित ऐसे सरकारी अस्पतालों में भी सिजेरियन प्रसव की सुविधा पुन: बहाल होने लगी है, जो आवश्यक उपकरणों की आपूर्ति न होने के कारण लम्बे समय से बंद थी।
ऐसा ही एक सफल प्रयास जबलपुर जिले के शहपुरा विकासखण्ड स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में किया गया, जहां शासन द्वारा उपलब्ध कराये गये आबंटन से ऑपरेशन थियेटर में आवश्यक सुधार कराये गये, जरूरी उपकरणों को क्रय किया गया तथा ऑक्सीजन की आपूर्ति एवं स्टरलाइजेशन की व्यवस्था की गई।
जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष मिश्रा के मुताबिक शहपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में लम्बे अरसे से सिजेरियन प्रसव की सुविधा बंद थी। इस स्वास्थ्य केन्द्र के सिजेरियन सेक्शन को पुन: प्रारंभ करने में शासन से आवश्यक उपकरणों की खरीदी एवं ऑपरेशन थियेटर में सुधारों के लिए मिली अनुमति से सफलता हासिल हो सकी है।
सीएमएचओ के मुताबिक शहपुरा सामुदायिक केन्द्र में गायनिक सर्जन की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गई है। साथ ही इस स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ एक विशेषज्ञ चिकित्सक को सिजेरियन प्रसव कराने मेडिकल कॉलेज में प्रशिक्षण भी दिलाया गया है। उन्होंने बताया कि बीते सोमवार को दो वर्ष बाद इस स्वास्थ्य केन्द्र में पहला सिजेरियन प्रसव कराया गया।

धान खरीदी केन्द्रों पर हो किसानों की सुविधा के मुताबिक सभी जरूरी इंतजाम

जबलपुर | 05-अक्तूबर-2019

कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज शाम उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों की बैठक लेकर धान खरीदी की तैयारियां अभी से प्रारंभ करने के निर्देश दिये हैं। श्री यादव ने धान के भंडारण के लिए समुचित इंतजाम के साथ-साथ खरीदी केन्द्रों पर तौल-कांटे, माईस्चर मीटर, बिजली, पानी की व्यवस्थाओं के साथ-साथ किसानों की हर सुविधा का ध्यान रखने की हिदायत भी दी है।
कलेक्टर ने बैठक में धान उपार्जन के लिए 16 अक्टूबर तक हर हाल में पंजीयन करा लेने के लिए किसानों को प्रेरित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नये किसानों के पंजीयन के साथ-साथ पूर्व में पंजीयन करा चुके किसानों को भी पंजीयन केन्द्रों पर जाकर अपने डेटा को अपडेट कराने के लिए कहा जाये ताकि उन्हें भुगतान में किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।
श्री यादव ने बैठक में कहा कि इस बार जिले में हुई अच्छी बारिश के फलस्वरूप धान की उत्पादकता भी बढ़ेगी और उसी मात्रा में उपार्जन भी ज्यादा होगा। अधिकारियों को इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए भंडारण के पुख्ता इंतजाम भी सुनिश्चित करने होंगे। कलेक्टर ने अधिकारियों से धान के भंडारण के लिए गोदामों को अभी से चिन्हित करने की कार्यवाही शुरू करने के निर्देश दिये साथ ही ओपन कैप की स्थापना के लिए स्थान तय करने की हिदायत दी।
धान की उत्पादकता निर्धारित:
कलेक्टर श्री यादव ने बैठक के माध्यम से सभी किसानों को 16 अक्टूबर तक निर्धारित केन्द्रों में अपना पंजीयन कराने का आग्रह किया। उन्होंने बताया कि इस बार अच्छी वर्षा होने के कारण प्रति हेक्टेयर सिंचित और असिंचित धान की उत्पादकता में ज्यादा अंतर नहीं रखा गया है। किसानों से उपार्जन के लिए धान की प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में पिछले वर्ष की तुलना में वृद्धि भी की गई है। श्री यादव ने बताया कि कुंडम तहसील को छोड़कर जिले की सभी तहसीलों में प्रति हेक्टेयर सिंचित धान की उत्पादकता 50 क्विंटल एवं असिंचित धान की उत्पादकता 45 क्विंटल निर्धारित की गई है। जबकि कुंडम तहसील में प्रति हेक्टेयर सिंचित धान की उत्पादकता 45 एवं असिंचित धान की प्रति हेक्टेयर उत्पादकता 40 क्विंटल तय की गई है।

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन जबलपुर में

जबलपुर | 27-सितम्बर-2019

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन एक अक्टूबर को जबलपुर में मानस भवन में किया जायेगा। कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज गुरूवार को बैठक लेकर इस कार्यक्रम को भव्य और गरिमामय स्वरूप प्रदान करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं। कलेक्टर कार्यालय में संपन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्र, अपर आयुक्त नगर निगम रोहित कौशल, संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित एवं संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
कलेक्टर ने बैठक में अधिकारियों को कार्यक्रम के आयोजन की जिम्मेदारियाँ सौंपते हुए उन्हें समय रहते सभी तैयारियां पूरी कर लेने की हिदायत दी है। उन्होंने वृद्धजनों को कार्यक्रम स्थल तक लाने के लिए पर्याप्त संख्या में वाहनों की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये हैं।
बैठक में बताया गया कि अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सौ वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों का इंक्यावन सौ रूपये की नगद राशि एवं शाल-श्रीफल भेंट कर सम्मान किया जायेगा। इसके साथ-साथ ही कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी वृद्धजनों को भी शाल और श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया जायेगा। कार्यक्रम में सांस्कृतिक आयोजन भी होंगे इसमें वृद्धजन भी शिरकत करेंगे। इस दौरान माता-पिता एवं वरिष्ठजनों की देखभाल एवं कल्याण अधिनियम के प्रावधानों की जानकारी भी विशेषज्ञों द्वारा दी जायेगी तथा इस अधिनियम के अंतर्गत गठित भरण पोषण अधिकरणों के माध्यम से अच्छा कार्य करने वाले अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को 5100 रूपये एवं प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया जायेगा।
अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के कार्यक्रम में वृद्धजनों के लिए स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी लगाया जायेगा। उन्हें चिकित्सकीय परामर्श दिया जायेगा, नि:शुल्क दवायें दी जायेंगी तथा विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा वृद्धावस्था में आने वाली स्वास्थ्य संबंधी कठिनाइयों एवं उनसे निपटने के लिए आवश्यक सलाह भी दी जायेगी। अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में राज्य स्तरीय एवं जिला स्तरीय कला पथक दलों द्वारा वृद्धजन कल्याण पर आधारित सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ दी जायेंगी।

कलेक्टर ने किया अधारताल तहसील का निरीक्षण

राजस्व न्यायालयों में चल रहे प्रकरणों का पहली, दूसरी पेशी में ही निराकरण करे

जबलपुर | 20-सितम्बर-2019

कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज शाम विजयनगर हाट बाजार स्थित अधारताल तहसील कार्यालय का निरीक्षण किया और यहां पदस्थ सभी राजस्व अधिकारियों को नामांतरण, सीमांकन एवं बंटवारा के प्रकरणों का निराकरण तय समय-सीमा के भीतर करने सख्त हिदायत दी।
श्री यादव ने निरीक्षण के दौरान एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार कोर्ट में दर्ज मामलों में से कुछ का खुद परीक्षण भी किया। उन्होंने राजस्व न्यायालयों में चल रहे प्रकरणों में बेवजह पेशियाँ न बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि पहली या दूसरी पेशी में ही प्रकरणों का निराकरण कर दिया जाना चाहिए।
श्री यादव ने इस मौके पर कहा कि राजस्व न्यायालयों में चल रहे प्रकरणों में सभी जरूरी दस्तावेज पहली पेशी में ही पक्षकारों से प्राप्त कर लिये जायें। सिर्फ कागजों की खानापूर्ति के लिए पेशी की लम्बी-लम्बी तारीखें देने के रवैये को हर हालत में राजस्व अधिकारियों को सुधारना होगा।
कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान नामांतरण, बंटवारा और सीमांकन के प्रत्येक प्रकरण को आरसीएमएस में अनिवार्य रूप से दर्ज किया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये। श्री यादव ने कामकाज के सिलसिले में तहसील कार्यालय आने वाले लोगों के लिए बैठने की समुचित व्यवस्था करने पर भी जोर दिया। उन्होंने तहसील कार्यालय में पटवारियों को तय समय पर उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये। कलेक्टर ने तहसीलदार की अनुपस्थिति में रीडर द्वारा आम नागरिकों से आवेदन प्राप्त करने की व्यवस्था करने की हिदायत भी निरीक्षण के दौरान दी।

के अंत तक हो जायें सभी इकाईयां प्रारंभ

रेडीमेड गारमेंट क्लस्टर की बैठक में कलेक्टर श्री यादव

जबलपुर | 14-सितम्बर-2019

कलेक्टर श्री भरत यादव ने रेडीमेड गारमेंट्स क्लस्टर के सभी पंजीकृत सदस्यों को सितंबर माह के तहत आबंटित स्थान पर अपनी इकाईयां प्रारंभ करने के निर्देश दिये हैं। श्री यादव आज गोहलपुर स्थित रेडीमेड गारमेंट्स कॉम्पलेक्स में गारमेंट क्लस्टर के पदाधिकारियों एवं सदस्यों की बुलाई गई बैठक को संबोधित कर रहे थे।
श्री यादव ने बैठक में कहा कि जो सदस्य तीस सितंबर तक अपनी इकाईयां यहां प्रारंभ नहीं करेंगे उनके विरूद्ध जो भी निर्णय लिया जायेगा उसके लिए वे खुद जिम्मेदार होंगे। कलेक्टर ने बैठक में रेडीमेड गारमेंट्स कॉम्पलेक्स के सभी अधोसंरचना के कार्य शीघ्र पूरा कर लेने की हिदायत भी दी है।
कलेक्टर ने बैठक में गारमेंट कॉम्पलेक्स के प्रमुख भवनों पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने का सुझाव भी दिया। उन्होंने यहां पेयजल आपूर्ति के लिए पाइप लाइन बिछाने तथा सुलभ कॉम्पलेक्स का निर्माण कराने के निर्देश नगर निगम के अधिकारियों को दिये। रेडीमेड गारमेंट कॉम्पलेक्स के अमखेरा की ओर बनाये जाने वाले प्रवेश द्वार के निर्माण की बैठक में सहमति भी दी गई तथा इसका निर्माण शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिये गये।
कलेक्टर ने रेडीमेड गारमेंट कॉम्पलेक्स के बारे में बैठक में लिये गये इन सब निर्णयों के क्रियान्वयन पर नजर रखने तीन सदस्यों की समिति भी गठित की है। अपर कलेक्टर एवं स्मार्ट सिटी के सीईओ संदीप जी आर की अध्यक्षता में गठित इस समिति में गारमेंट क्लस्टर के पूर्व सीईओ संजीव वर्मा एवं संयुक्त संचालक उद्योग आर.सी. कुरील को शामिल किया गया है। बैठक में बताया गया है कि रेडीमेड गारमेंट कॉम्पलेक्स का नवंबर माह में लोकार्पण संभावित है।
बैठक में निगम आयुक्त आशीष कुमार, अपर कलेक्टर संदीप जी आर, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, संयुक्त संचालक उद्योग आर.सी. कुरील तथा रेडीमेड गारमेंट क्लस्टर के अध्यक्ष श्रेयांस जैन सहित क्लस्टर के अन्य पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद थे।

विधानसभा अध्यक्ष का जबलपुर आगमन आज

जबलपुर | 31-अगस्त-2019

विधानसभा अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति का कल शनिवार 31 अगस्त की दोपहर 3 बजे श्रीधाम (गोटेगांव) से कार द्वारा जबलपुर आगमन होगा। विधानसभा अध्यक्ष यहां कुछ देर रूकने के बाद वायुयान द्वारा कोलकाता प्रस्थान करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति कोलकाता से मंगलवार तीन सितंबर को शाम 7.10 बजे वायुयान द्वारा वापस जबलपुर आयेंगे तथा तकरीबन बीस मिनट बाद यहां से कार द्वारा नरसिंहपुर रवाना होंगे।

कलेक्टर ने किया डिप्टी कलेक्टरों के प्रभार में फेरबदल 

जबलपुर | 27-अगस्त-2019

  कलेक्टर श्री भरत यादव ने जबलपुर जिले में पदस्थ राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के बीच नये सिरे से कार्य विभाजन किया है।  इस बारे में आज सोमवार को जारी आदेश में श्री यादव ने डिप्टी कलेक्टर आशीष पांडे को एसडीएम अधारताल के स्थान पर एसडीएम गोरखपुर और एसडीएम गोरखपुर मनीषा वास्कले को एसडीएम रांझी का दायित्व सौंपा है। श्री पांडे को जिला सत्कार अधिकारी का प्रभार भी दिया गया है।
कार्यविभाजन आदेश में एसडीएम रांझी रहे डिप्टी कलेक्टर जे.पी. यादव को एसडीएम पाटन बनाया गया है।  जबकि डिप्टी कलेक्टर मणिन्द्र सिंह को एसडीएम जबलपुर तथा डिप्टी कलेक्टर मोहम्मद शाहिद खान को एसडीएम अधारताल नियुक्त किया गया है।
नये कार्यविभाजन आदेश में पाटन एसडीएम रहे अनुराग तिवारी को कलेक्टर कार्यालय की शस्त्र शाखा, प्रपत्र शाखा, ई-गवर्नेंस, रेडक्रॉस, आपदा प्रबंधन एवं नागरिक सुरक्षा, धर्मस्व एवं पुनर्वास शाखा, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं मीसाबंदी शाखा, दंगा पीड़ित शाखा, वरिष्ठ लिपिक शाखा एवं जनगणना शाखा का प्रभारी बनाया गया है।  श्री तिवारी कलेक्टर कार्यालय के लोक सूचना अधिकारी भी होंगे।
संयुक्त कलेक्टर सुश्री विमलेश सिंह को नये कार्यविभाजन आदेश में एसडीएम कुंडम बनाये रखा गया है।  संयुक्त कलेक्टर दिव्या अवस्थी को सामान्य एवं स्थानीय निर्वाचन के साथ-साथ कलेक्टर कार्यालय की सतर्कता एवं शिकायत शाखा, लीगल सेल शाखा, एस.डब्ल्यू. शाखा, स्थापना, नाजरात एवं भू-अर्जन शाखा का प्रभारी नियुक्त किया गया है।
परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टर सुश्री सृष्टि प्रजापति एवं डिप्टी कलेक्टर मेघा पवार को भी नये कार्यविभाजन आदेश में कलेक्टर कार्यालय की अलग-अलग शाखाओं का प्रभार दिया गया है।

कलेक्टर ने नेत्रहीन कन्या विद्यालय की बच्चियों से बंधवाई राखी 

जबलपुर | 16-अगस्त-2019

कलेक्टर श्री भरत यादव ने भंवरताल उद्यान स्थित नेत्रहीन कन्या विद्यालय पहुंचकर यहां दृष्टिबाधित दिव्यांग बच्चियों से राखी बंधवाई और उन्हें बड़े भाई जैसा स्नेह दिया।  कलेक्टर श्री यादव आज राईट टाउन स्टेडियम में आयोजित किये गये स्वतंत्रता दिवस समारोह के समापन के बाद नेत्रहीन कन्या विद्यालय पहुंचे थे।  यहां आने का उनका मकसद संस्था की दृष्टिबाधित बच्चियों से राखी बंधवाने के साथ-साथ यहां तेज बारिश के दौरान होने वाले जलभराव की समस्या का स्थाई निराकरण करना भी था।
श्री यादव ने नेत्रहीन कन्या विद्यालय पहुंचकर सबसे पहले संस्था की बच्चियों को स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन की बधाई दी।  इसके बाद उन्होंने संस्था की छात्राओं से स्नेहपूर्वक राखी बांधने का आग्रह किया।  बच्चियां भी कलेक्टर को राखी बांधने पहले से ही तैयार थीं।  लेकिन इसके पहले इन बच्चियों ने भाई-बहन के अटूट स्नेह को अपने शब्दों में ढ़ालकर तैयार किये गये गीत “मेरी राखी की डोर कभी न हो कमजोर, भइया दे दो कलाई बहन आई है” गाकर सुनाया।  इस अवसर पर संस्था की छात्राओं ने देशभक्ति गीत भी गाये।  संस्था की नन्हीं छात्रा हर्षिता ने कलेक्टर को अपनी सुरीली आवाज में शिव स्तुति गाकर सुनाई।
कलेक्टर ने नेत्रहीन विद्यालय की बच्चियों से राखी बंधवाने के बाद उनका मुँह मीठा कराया।  उन्होंने इन बच्चियों को राखी के उपहार स्वरूप संस्था के भवन की मरम्मत कराने, सड़क की ओर प्रवेश द्वार बनवाने तथा जलभराव की समस्या से शीघ्र निजात दिलाने का वादा किया।  श्री यादव ने इस मौके पर संस्था परिसर का निरीक्षण भी किया।  उनके साथ सहायक कलेक्टर सिद्धार्थ जैन, अपर आयुक्त नगर निगम रोहित कौशल एवं प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित भी मौजूद थे।

जिला एवं तहसील न्यायालयों में 14 सितम्बर को आयोजित होगी नेशनल लोक अदालत 

जबलपुर | 06-अगस्त-2019

 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली के निर्देशानुसार सर्वोच्च न्यायालय से लेकर तहसील न्यायालयों तक शनिवार 14 सितम्बर को नेशनल लोक अदालत का आयेाजन किया जायेगा। इसी क्रम में जबलपुर के जिला एवं तहसील न्यायालय सिहोरा तथा पाटन में भी नेशनल लोक अदालत का आयेाजन किया जायेगा।
इस नेशनल लोक अदालत में सिविल, आपराधिक, चेक बाउंस, विद्युत अधिनियम, जल कर, पारिवारिक विवाद, मोटर दुर्घटना दावा, श्रम न्यायालय, भूमि अधिग्रहण, बैंक रिकवरी, राजस्व प्रकरण (न्यायालयों में लंबित) तथा राजीनामा योग्य न्यायालयों में लंबित एवं ऐसे प्रकरण जिनमें विवाद है परंतु न्यायालय में प्रस्तुत नहीं किए गए है, उनका निराकरण आपसी सुलह एवं समझौते के आधार पर किया जावेगा। नेशनल लोक अदालत में बैंक रिकवरी प्रकरणों, विद्युत के प्रकरणों तथा नगर निगम के जल कर के प्रकरणों में समय-समय पर शासन के निर्देशानुसार विशेष छूट का लाभ दिया जावेगा।
नेशनल लोक अदालत में न्यायालयों में लंबित सिविल प्रकरणों में राजीनामा किए जाने पर आवेदकों को संपूर्ण कोर्ट फीस वापिस प्राप्त होगी। लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों के निराकरण से पक्षकारों को त्वरित, शीघ्र एवं सस्ता न्याय प्राप्त होता है। लोक अदालत में पारित अवार्ड की अपील एवं रिवीजन भी नहीं होती है जिससे प्रकरणों के निराकरण में लगने वाले समय की बचत होती है।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने पक्षकारों से आग्रह किया है कि नेशनल लोक अदालत मे अधिक से अधिक संख्या मे उपस्थित होकर अपने प्रकरणों का निराकरण कराकर लोक अदालत का लाभ उठावें।

 

इंटेक कार्यों की समीक्षा 7 अगस्त को 

जबलपुर | 26-जुलाई-2019

 इंटेक जबलपुर इकाई की सामान्य सभा की वार्षिक बैठक बुधवार 7 अगस्त को शाम 4 बजे कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई है।  बैठक की अध्यक्षता संभागायुक्त राजेश बहुगुणा करेंगे।
बैठक में वर्ष 2018-19 के ऑडिट रिपोर्ट की पुष्टि और वर्ष 2018-19 के वार्षिक प्रतिवेदन पर विचार होगा।  इसके अलावा वर्ष 2019-20 की प्रस्तावित गतिविधियों सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा होगी।

किसान भाईयों को अल्पवर्षा की वर्तमान स्थिति में सम सामयिक सलाह

जबलपुर | 23-जुलाई-2019

अल्पवर्षा तथा सूखे की निर्मित हो रही स्थिति में किसान भाईयों को खेती-किसानी की दृष्टि से कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा समसामयिक सलाह दी गई है।
कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ एके सिंह ने इस संबंध में बताया कि जिन किसान भाईयों की अभी तक बोनी नहीं की है, वे कम पानी वाली फसलें यथा अरहर, उड़द, मूंग व तिल की बोनी करें तथा देर से बोनी की दशा में बीजदर 25 प्रतिशत बढ़ाकर बोनी करें। बोनी हेतु उड़द की उन्नत किस्में यथा आईपीयू 94-1, पंत उड़द 30, पंत उड़द 31, आईपीयू 2-43, प्रताप उड़द 1, मूंग की उन्नत किस्में पूसा विशाल, पीडीएम 139, आईपीएम 2-3, एमएच 421, अरहर की उन्नत मध्यम अवधि की किस्में टीजेटी 501, पीकेवी तारा, पूसा 992, तिल की उन्नत प्रजातियां यथा जेटीएस 8, टीकेजी 22, टीकेजी 55 आदि किस्मों का प्रयोग करें।
बोनी से पूर्व बीज को मिश्रित फफूंदनाशी और कार्बेन्डाजिम और मेंकोजेब की 2 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज व जैव उर्वरकों (राइजोबियम व पीएसबी) की 5 ग्राम मात्रा प्रति किलोग्राम बीज के हिसाब से उपचारित करें। किसान भाई उक्त फसलों की बोनी मेंढ़ नाली विधि से करें, ताकि नमी अधिक समय तक संरक्षित रहे। किसान भाई बोनी करते समय जैव उर्वरकों (पीएसबी माइकोराइजा, सूडोमोनास, पोटास विलयक जीवाणु, जैव अपशिष्ट अपघटक) का प्रयोग आधार रूप में करें। जिन किसान भाईयों की बोनी हो चुकी है वे नमी संरक्षण हेतु खेत में बखर चलाएं तथा आवश्यकतानुसार जीवन रक्षक सिंचाई करें। समय से नींदा नियंत्रण हेतु निंदाई-गुड़ाई करें तथा खरपतवारों को कतारों के मध्य रखें ताकि नमी संरक्षण हो।