Friday, August 23News That Matters

बैतूल

Share

बानूरखापा डेम में वेस्ट वेयर बनाकर पानी की निकासी की गई 

बैतूल | 16-अगस्त-2019

मुलताई तहसील अंतर्गत ग्राम बानूरखापा में निर्माणाधीन बानूरखापा जलाशय में रिसाव की जानकारी मिलने पर तहसीलदार मुलताई श्री सुधीर जैन द्वारा आरईएस के उपयंत्री श्री नितेश पानकर, राजस्व निरीक्षक सांईंखेड़ा श्री रवि पदाम एवं ग्राम सरपंच श्री अन्नालाल पंवार व अन्य ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचकर स्थिति को देखा गया। उपयंत्री श्री पानकर द्वारा बताया गया कि बांध अभी निर्माणाधीन है, जिसका 60 प्रतिशत् कार्य ही पूर्ण हुआ है। बांध का वेस्ट वेयर का काम न होने के कारण लीकेज की स्थिति उत्पन्न हुई थी, जिस पर तात्कालिक व्यवस्था करते हुए दूसरी दिशा में वेस्ट वेयर बनाकर स्थिति को नियंत्रित किया गया है। बांध से सायफन सिस्टम से भी पानी की निकासी की जा रही है। श्री पानकर के अनुसार अब पानी का रिसाव नहीं के बराबर है। तहसीलदार श्री सुधीर जैन एवं उपयंत्री आरईएस श्री नितेश पानकर ने बताया कि वर्तमान में किसी प्रकार के कोई खतरे की स्थिति नहीं है।

पटेल वार्ड की आंगनबाड़ी में स्तनपान के संबंध में परामर्श सत्र आयोजित “विश्व स्तनपान सप्ताह”

बैतूल | 06-अगस्त-2019

 विश्व स्तनपान सप्ताह 1 से 7 अगस्त 2019 तक सम्पूर्ण जिले में आयोजित किया जा रहा है। इसी के तारतम्य में 5 अगस्त सोमवार को पटेल वार्ड बैतूल की आंगनबाड़ी में महिलाओं को स्तनपान के संबंध में परामर्श प्रदाय किया गया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग से जिला मीडिया अधिकारी श्रीमती श्रुति गौर तोमर एवं महिला बाल विकास विभाग से सीडीपीओ श्रीमती कल्पना जोनाथन, ईसीसीई को-आर्डिनेटर श्रीमती टीना शर्मा,  परामर्शदात्री श्रीमती हेमलता पटेल, सुश्री सुभांगी नामदेव, सुपरवाइजर श्रीमती श्वेता वालंबे, आशा कार्यकर्ता श्रीमती लीना, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती साधना वर्मा, सहायिका श्रीमती बबीता आंगनबाड़ी एवं समाजसेवी श्रीमती चंद्रप्रभा चौकीकर रहे। इस दौरान महिलाओं को स्तनपान के संबंध में जानकारीयां प्रदान करते हुये प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया एवं सही जवाब देने वाली महिलाओं को प्रोत्साहन स्वरूप उपहार प्रदान किये गये।
परामर्श सत्र में जिला मीडिया अधिकारी श्रीमती श्रुति गौर तोमर ने बताया कि स्तनपान अमृत समान है। स्तनपान शिशु का रक्षक है। वातावरण में तरह-तरह के रोगाणु मौजूद है, जिनका सामना छोटा शिशु एकदम से नहीं कर सकता। शिशु में रोगों से लडऩे की शक्ति धीर-धीरे विकसित होती है, मां का दूध प्राकृतिक तौर पर शिशु को बीमारियों से बचाता है। यह शिशु का सबसे पहला अधिकार है, शिशु को इससे कदापि वंचित न किया जाये। शिशु को दूध के अतिरिक्त पानी एवं अन्य कोई भी द्रव 6 माह तक इसलिये नहीं पिलाना है क्योंकि मां के दूध में पर्याप्त मात्रा में पानी रहता है। बाहर के पानी में कीटाणुओं के कारण संक्रमण हो सकता है। समुदाय के हर सदस्य को यह बात जानना चाहिये और हमें व्यवहार में परिवर्तन लाकर शिशु मृत्यु दर में इस माध्यम से कमी लाना है।
परामर्शदात्री श्रीमती हेमलता पटेल ने बताया कि जन्म के तुरंत बाद 1 घंटे के भीतर मां द्वारा नवजात शिशु को स्तनपान कराये जाने, 6 माह तक शिशु को केवल मां का दूध ही पिलाने एवं 6 माह के पश्चात मां के दूध के साथ साथ ऊपरी खाद्य पदार्थ प्रारंभ करवाने की जानकारी दी । स्तनपान प्राकृतिक रूप से यह साफ  एवं शुद्व है, रोग प्रतिरोधक है, 24 घंटे उपलब्ध है एवं हर बच्चे का यह प्रथम अधिकार है। शिशु की आंखों में काजल लगाना, शिशु की मालिश करना, मां के स्तनपान का निर्धारित समय, नाल गिरने की प्रक्रिया एवं शिशु को दूध पिलाने के बाद सही तरीके से डकार दिलाने के संबंध में जानकारी दी एवं व्याप्त भ्रांतियों के निराकरण के संबंध में चर्चा की।

 

किसानों के डेटा फीडिंग कार्य में गति लाने के निर्देश 

कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक 

बैतूल | 26-जुलाई-2019

कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के डेटा फीडिंग कार्य में गति लाने के राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इस कार्य में किसी तरह की ढिलाई न बरती जाए। गुरूवार को आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में उन्होंने कहा कि नामांतरण एवं सीमांकन के मामलों में भी राजस्व अधिकारी विलंब न करें, आमजन के इस तरह के आवेदन तत्परता से निपटाए जाएं। बैठक में अपर कलेक्टर श्री साकेत मालवीय सहित जिले के राजस्व अधिकारी मौजूद थे।
बैठक में कलेक्टर द्वारा आरसीएमएस के तहत प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा की गई। साथ ही जनसुनवाई तथा सीएम हेल्पलाइन में प्राप्त शिकायतों का समय-सीमा पर निराकरण सुनिश्चित करने के अधिकारियों को निर्देश दिए गए। बैठक में कलेक्टर ने आरबीसी 6(4) के तहत दर्ज प्रकरणों में भी तत्परता से राहत उपलब्ध कराने के लिए भी राजस्व अधिकारियों को पाबंद किया।

शासकीय अस्थि बाधितार्थ विद्यालय में दिव्यांग बालकों को प्रवेश

बैतूल | 23-जुलाई-2019

उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण ने बताया कि अस्थि बाधितार्थ विद्यालय प्रताप वार्ड बैतूल में कक्षा पहली से 12वीं तक के दिव्यांग बालकों को नि:शुल्क शिक्षा, वस्त्र, भोजन, निवास आदि छात्रावास सुविधा प्रदान की जाती है। उन्होंने जिले की समस्त जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों, परियोजना अधिकारियों एकीकृत बाल विकास परियोजना, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों एवं विकासखण्ड स्त्रोत समन्वयकों से संबंधित क्षेत्र के दिव्यांग बालकों को जो 40 प्रतिशत् अस्थिबाधित दिव्यांग हैं, प्रमाण पत्र के साथ बालकों को विद्यालय में प्रवेश दिलाने की अपेक्षा की है।

 

मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजनांतर्गत आवेदन आमंत्रित

बैतूल | 12-जुलाई-2019

जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति मर्यादित के कार्यपालन अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री युवा योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में दो हितग्राहियों को लाभान्वित किए जाने का लक्ष्य प्राप्त है। योजनांतर्गत अनुसूचित जाति के दसवीं कक्षा उत्तीर्ण व्यक्ति जिनकी आयु 18 से 45 वर्ष के मध्य हो, किसी बैंक/संस्था का डिफाल्टर न हो तथा पूर्व से किसी शासकीय योजना के अंतर्गत लाभान्वित नहीं हुआ हो। पूर्व में व्यवसाय में स्थापित होकर आयकर दाता न हो, को स्वयं का उद्योग, सेवा उद्यम अथवा व्यवसाय स्थापित करने हेतु बैंक के माध्यम से 10 लाख रूपए से एक करोड़ रूपए तक का ऋण प्रदान किया जाएगा। बैंक द्वारा स्वीकृत परियोजना लागत पर 15 प्रतिशत् अधिकतम 12 लाख मार्जिन मनी सहायता शासन द्वारा दी जाएगी।
उक्त योजना का लाभ लेने वाले व्यक्ति अपना आवेदन एमपी ऑनलाइन के माध्यम से (अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की वेबसाइट पर) चार्टर्ड एकाउण्टेंट द्वारा प्रमाणित परियोजना प्रतिवेदन एवं उक्त पात्रता प्रमाण पत्रों के साथ जमा कर सकते हैं। लाभार्थी योजना की विस्तृत जानकारी कार्यालय जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति मर्यादित बैतूल (नये कलेक्ट्रेड संयुक्त कार्यालय भवन कक्ष क्रमांक एस-3) में संपर्क कर सकते हैं

जिला पर्यटन इकाई का काउंसिलिंग कार्यक्रम 8 जून को 

बैतूल | 06-जून-2019  जिला शिक्षा अधिकारी श्री एलएल सुनारिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार पर्यटन विभाग की शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा संचालित रोजगार मूलक पाठ्यक्रमों के लिए इन संस्थाओं में निर्धारित सीटों पर प्रवेश एवं बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण विद्यार्थियों के कैरियर गाइडेंस के लिए काउंसिलिंग कार्यक्रम जिला पर्यटन ईकाई द्वारा 8 जून 2019 जिला पंचायत के प्रांगण में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में कक्षा 12वीं उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं के लिए पर्यटन विभाग द्वारा संचालित विभिन्न प्रकार के शैक्षणिक संस्थानों में चलाए जा रहे विभिन्न प्रकार के पाठ्यक्रमों की जानकारी एवं डिप्लोमा और डिग्री प्राप्त किए जाने हेतु प्रवेश लिए जाने के अतिरिक्त कक्षा बारहवीं उत्तीर्ण करने के पश्चात् भविष्य में कैरियर के चुनाव से संबंधित जानकारी दी जाएगी।
इस कार्यक्रम के लिए श्री सुनारिया ने जिले के सभी हाईस्कूल और उच्चतर माध्यमिक शालाओं को निर्देश दिए हैं कि उनकी संस्था के इच्छुक छात्र-छात्राएं जो पर्यटन के क्षेत्र में संभावनाएं तलाश करना चाहते हैं, साथ ही काउंसिलिंग में हिस्सा लेना चाहते हैं, उनके द्वारा जिस शाला से कक्षा 12वीं उत्तीर्ण की गई है, उसी शाला में प्राचार्य को संक्षिप्त सहमति पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं, जिसमें छात्र/छात्रा का नाम, पिता का नाम, उनका मोबाइल नंबर के साथ सहमति होना आवश्यक है। छात्र-छात्राएं स्वयं, पालकगण, शिक्षक एवं प्राचार्य सीधे जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में 07 जून को सहमति दर्ज करा सकते हैं। कार्यालय में उपलब्ध कराई गई सहमति के आधार पर इच्छुक छात्र-छात्राओं को काउंसिलिंग के लिए 8 जून को आहूत किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इस कार्यक्रम अंतर्गत जिले के 300 छात्र-छात्राओं की काउंसिलिंग किए जाने का लक्ष्य है।