Thursday, December 12News That Matters

श्योपुर

Share

अध्यापक श्री शिवहरे निलंबित

श्योपुर | 18-अक्तूबर-2019

कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने मप्र सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के नियम-9 के प्रावधान अनुसार शासकीय श्री हजारेश्वर उमावि श्योपुर में पदस्थ अध्यापक श्री कन्हैयालाल शिवहरे को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सुनील राज नायर द्वारा जारी आदेश के अनुसार अध्यापक श्री शिवहरे द्वारा निर्वाचन जैसे महत्वपूर्ण कार्य के अंतर्गत इलेक्टररोल वेरीफिकेशन प्रोगाम को पूरा नहीं करने तथा कार्य को बीच में अधूरा छोड़कर चले जाने के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में अध्यापक श्री कन्हैयालाल शिवहरे का मुख्यालय कार्यालय तहसीलदार तहसील श्योपुर में निर्धारित किया गया है। निलंबन अवधि में उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा।

 

सीईओ जिला पंचायत ने तीन ग्राम पंचायतों का किया निरीक्षण

श्योपुर | 11-अक्तूबर-2019

कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे के निर्देशानुसार मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह ने पंचायत स्तर पर चल रही योजनाओं की हकीकत जमीनी स्तर पर जानने के लिए जनपद पंचायत श्योपुर के ग्राम फिरोजपुरा, राडेप एवं मालीपुरा का निरीक्षण किया।
मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह ने पंचायत स्तर पर चल रही योजनाओं एवं क्रियान्वयन की जानकारी लेने के लिए ग्राम फिरोजपुरा का निरीक्षण किया। उन्होंने जनहितेषी योजनाओं को पूर्ण करने के निर्देश ग्राम पंचायत फिरोजपुरा के सचिव एवं जीआरएस को दिये।
सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह ने राडेप की आंगनवाडी केन्द्र का निरीक्षण किया। बच्चो की संख्या कम होने पर ग्रामवासियों से बच्चो को आंगनवाडी केन्द्र के पहुंचाने की समझाइश दी। साथ ही उन्होंने ग्रामीणो से कहा कि बच्चो को आंगनवाडी केन्द्र पहुंचाये जिससे बच्चो को कुपोषण और प्रारंभिक शिक्षा का ज्ञान हो सकेगा। उन्होंने आंगनवाडी केन्द्र को मुख्य मार्ग से जोडने वाले रोड खराब होने के कारण नारजगी व्यक्त की। साथ ही रोड को बनवाने के निर्देश उपयंत्री एवं सचिव को सात दिवस में मार्ग को सीसी रोड बनाकर अवगत कराने को कहा।
इसी प्रकार निरीक्षण के दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह को ग्राम पंचायत मालीपुरा के पंचायत भवन पर ताला मिला एवं पंचायत सचिव, जीआरएस अनुपस्थित पाये गये। सचिव, जीआरएस के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश जनपद पंचायत सीईओ कराहल को दिये।

किशोर न्याय अधिनियम में राज्य-स्तरीय प्रारूपण समिति गठित

श्योपुर | 05-अक्तूबर-2019

राज्य शासन ने किशोर न्याय अधिनियम के प्रयोजनों को क्रियान्वित करने के लिये राज्य-स्तरीय प्रारूपण समिति का गठन किया है। समिति का गठन किशोर न्याय (बालकों की देख-रेख एवं संरक्षण) अधिनियम-2015 के तहत किया गया है।
प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास को समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। समिति में सचिव विधि-विधायी कार्य, वित्त विभाग के प्रतिनिधि और गृह, पुलिस विभाग के प्रतिनिधि सदस्य के रूप में शामिल किये गये हैं। आयुक्त महिला-बाल विकास को समिति का सदस्य सचिव बनाया गया है।
यह समिति मध्यप्रदेश किशोर न्याय (बालकों की देख-रेख एवं संरक्षण) नियम के प्रारूपण (ड्रॉफ्टिंग) की कार्यवाही करेगी। समिति आवश्यकतानुसार तकनीकी विशेषज्ञों की राय भी लेगी।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मवर्ष को मनाने हेतु दिशा निर्देश जारी

श्योपुर | 27-सितम्बर-2019

प्रमुख सचिव मप्र शासन संस्कृति विभाग भोपाल के निर्देशानुसार जिला स्तर पर 02 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वे जन्मवर्ष को समारोह पूर्वक मनाने के लिए विभागीय अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।
कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे द्वारा जारी आदेश में कहा है कि राज्य शासन संस्कृति विभाग के निर्देशानुसार 02 अक्टूबर 2019 राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के जन्मवर्ष पर भावी कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन हेतु संपूर्ण आयोजन का नोडल अधिकारी सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह को बनाया गया हैं। उनमा मोबाइल नंबर 94245-59568 निर्धारित कर दिया गया है।

चिन्हांकित 16 गौशालाओं का कार्य नवंबर तक पूरा करावे- प्रभारी मंत्री

प्रदेश सरकार के वचन-पत्र पर कार्यवाही करने के दिए निर्देश, नवीन निर्माणाधीन गौशालाओं की समीक्षा बैठक आयोजित

श्योपुर | 20-सितम्बर-2019

पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास मंत्री एवं श्योपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा है कि मप्र सरकार गौ संरक्षण की दिशा में निरंतर कदम उठा रही है। जिसके अंतर्गत गौवंश को गौशाला में शिफ्ट करने के लिए प्रारंभिक चरण में एक हजार गौशाला खोलने का निर्णय लिया गया है। इस निर्णय के अंतर्गत 16 गौशालाओं का चिन्हांकन श्योपुर जिले में किया गया है। चिन्हांकित गौशालाओं का कार्य नवंबर-2019 तक पूरा कराया जावे। जिससे दिसंबर माह में इन गौशालाओं में गौवंश को शिफ्ट करने की कार्यवाही की जावे। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में नवीन निर्माणाधीन गौशालाओं की समीक्षा के दौरान प्रदेश सरकार के वचन-पत्र पर कार्यवाही करने के दिशा निर्देश दे रहे थे।
समीक्षा बैठक के दौरान क्षेत्रीय विधायक श्री बाबू जण्डेल, कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे, पुलिस अधीक्षक श्री नगेन्द्र सिंह, पूर्व विधायक एवं कांग्रेस के जिला अध्यक्ष श्री बृजराज सिंह चौहान, जिला पंचायत के सीईओ श्री हर्ष सिंह, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनील राज नायर, एसडीएम श्योपुर श्री रूपेश उपाध्याय, विजयपुर श्री सौरव मिश्रा, महाप्रबंधक विधुत कंपनी श्री दिनेश सुखीजा, उपसंचालक पशुचिकित्सा डॉ. एलएन आयरवाल, पार्टी पदाधिकारी सर्वश्री धीरज यादव, हंशराज मीणा, सिराज दाऊदी, दुर्गेश नंदनी, शौकतउल्ला खान, सरपंच ग्राम पंचायत बिचपुरी श्री राजाराम, पार्टी पदाधिकारी एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
प्रभारी मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि श्योपुर जिले में गौवंश के रख-रखाव की स्थिति ठीक नहीं है। जिसमें शिवपुरी के बाद श्योपुर दूसरे नंबर पर आता है। उन्होंने कहा कि प्रथम फेश में श्योपुर जिले की गौशालाओं का निर्माण नवंबर माह के अंत तक पूरा होना चाहिए। जिससे इन गौशालाओं में गौवंश को दिसंबर में शिफ्ट किया जाकर उनका रख-रखाव सुनिश्चित किया जावे। जिससे किसानों की रबी फसलों को नुकसान से बचाने में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग के अधिकारी भी गौशालाओं की स्थिति का निंरतर जायजा लें। जिससे गौशालाएं समय पर बनाई जा सके। इस कार्यवाही से रोड पर निकलने में
गौवंश के शिफ्ट होने से लोगों को राहत मिलेगी। गौशाला के निर्माण का कार्य सीईओ जिला पंचायत नरेगा के माध्यम से, ग्रामीण विकास, पशुपालन, आरईएस आदि विभागों के सहयोग से ग्राम पंचायत के माध्यम से करावे।
प्रभारी मंत्री श्री यादव ने कहा कि गौशाला निर्माण के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जावे। सबसे पहले गौशाला का निर्माण करने वाले ग्राम पंचायत के सचिव को पुरस्कृत किया जावेगा। उन्होंने कहा कि विजयपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत बिचपुरी में सरपंच श्री राजाराम के माध्यम से सबसे पहले गौशाला का निर्माण एक माह में कराया जावेगा। इस गौशाला के लिए सीईओ जिला पंचायत स्थल निरीक्षण करावे। उन्होंने कहा कि गौ-अभ्यारण बनाने की दिशा में 100 हेक्टेयर भूमि का चिन्हांकन जिला प्रशासन द्वारा किया जावे। जिससे ग्वालियर नगर-निगम की भांति करीबन 15 हजार गौवंश निर्मित होने वाले गौ अभ्यारण में शिफ्ट कराए जा सकते हैं। इस अभ्यारण के लिए गौशालाओं का पर्यवेक्षण उपसंचालक पशु चिकित्सा द्वारा समय-समय पर किया जाकर रिपोर्ट सीईओ जिला पंचायत एवं जिला कलेक्टर को प्रदान की जावे।
इसी प्रकार आपकी सरकार-आपके द्वार योजना में शिविरों का आयोजन विकासखण्ड स्तर पर किया जा रहा है। इन शिविरों में क्षेत्रीय ग्रामीणों की समस्याओं का निदान होना चाहिए। साथ ही विभागीय अधिकारियों के माध्यम से सभी समस्या एवं कठिनाईयों का शिविर में ही निदान किया जावे। आपकी सरकार-आपके द्वार शिविर में जनप्रतिनिधियों को अवश्य बुलाया जावे।
क्षेत्रीय विधायक श्री बाबू जण्डेल ने बैठक में बताया कि प्रथम चरण के अंतर्गत श्योपुर जिले में 30 गौशालाएं खोलने का निर्णय लिया गया था। जिसमें से 16 गौशालाओं का चयन किया जा चुका है। प्रेमसर में गौशाला खोलने के लिए भूमि चिन्हांकन का कार्य कराया जा सकता हैं जिससे क्षेत्र की गौवंश को रखने में आसानी होगी। गौशाला के कार्य में जनप्रतिनिधि और ग्रामीण भी अपना सक्रिय सहयोग करेंगे। ज्वाड़ में भी गौशाला के लिए भूमि देने के लिए ग्रामीण तैयार है। जिसपर भी विचार किया जा सकता है।
कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने बैठक में बताया कि श्योपुर जिले में 16 गौशालाओं का चिन्हांकन किया गया है। इन गौशालाओं का निर्माण नरेगा के माध्यम से ग्राम पंचायतों द्वारा कराया जा रहा है। गौशालाओं का निर्माण कार्य नवंबर माह के अंत तक ग्राम पंचायतों के माध्यम से कराया जावेगा। साथ ही गौ अभ्यारण के लिए 100 हेक्टेयर जमीन का चिन्हांकन कराया जावेगा। जिससे इस अभ्यारण में करीबन 15 हजार गौवंश को रखने में सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि आपकी सरकार आपके द्वार शिविर में जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है। अभी तक श्योपुर विकासखण्ड के क्षेत्र में ललितपुरा एवं कराहल विकासखण्ड मुख्यालय पर शिविर आयोजित किए जा चुके हैं। इन शिविरो में क्रमशः 316 एवं 170 ग्रामीणों की समस्याएं एवं कठिनाईयों के संबंध में आवेदनों का निराकरण किया जा चुका हैं।
पूर्व विधायक एवं कांग्रेस के जिला अध्यक्ष श्री बृजराज सिंह चौहान ने कहा कि गौशालाओं का चिन्हांकन राजस्व भूमि पर कराया जावे। अगर कोई भी गौशाला वन भूमि पर बनाई जाती है। तब उसका भूमि हस्तांनतरण की कार्यवाही की जावे। उन्होंने कहा कि गौपाल गौशाला, आशाराम बापू गौशाला, रानीपुरा गौशाला, गमलों की श्रीकृष्ण गौशाला गसवानी प्राइवेट तोर पर संचालित हो रही है। जिसमें करीबन 17 हजार गौवंश का पालन-पोषण किया जा रहा है। निर्मित की जा रही 16 गौशालाओं में बिजली पानी की व्यवस्था होनी चाहिए। साथ ही चारा-भूषा के इंतजाम कराए जावे।
सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह ने बैठक में बताया कि श्योपुर जिले में प्रथम चरण के दौरान 30 गौशालाएं स्वीकृत की गई थी। जिनमें से नरेगा के माध्यम से 16 गौशालाओं

33 केव्ही एवं 11 केव्ही फीडरों पर 15 सितंबर को रहेगी विद्युत सप्लाई बंध

श्योपुर | 14-सितम्बर-2019

मप्र पावर ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा 132 केव्हीए उपकेंद्र श्योपुर एवं 132 केव्हीए उपकेंद्र विजयपुर में मेंटेंनेस का अति आवश्यक कार्य संपन्न कराने की दृष्टि से 33 केव्ही एवं 11 केव्ही फीडरों पर 15 सितंबर रविवार को प्रातः 9 बजे से सायं 5 बजे तक विद्युत सप्लाइ बंद रहेगी।

जिले में अब तक 736.7 मि.मी. औसत वर्षा

श्योपुर | 31-अगस्त-2019

श्योपुर जिले के वर्षामापी केन्द्र श्योपुर, बडौदा, कराहल, विजयपुर, वीरपुर के क्षेत्र में 736.7 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। जबकि इसी अवधि में विगत वर्ष 634.2 मि.मी. वर्षा हुई थी।
अधीक्षक भू-अभिलेख श्री अनिल शर्मा से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह वर्षा जिले के श्योपुर क्षेत्र में 875.6 मि.मी, बड़ौदा में 877.2 मि.मी. कराहल में 879.8 मि.मी, विजयपुर क्षेत्र में 523.8 मि.मी., वीरपुर में 527.3 मि.मी. वर्षा हुई है।

चंबल, पार्वती नदी में जल प्रवाह बढ़ने पर रखी जाए निगरानी – कलेक्टर 

कलेक्टर ने की सर्तक एवं सावधान रहने की अपील 

श्योपुर | 27-अगस्त-2019

कोटा बेराज राजस्थान से चंबल नदी में निरंतर जल प्रवाहित हो रहा है। इसी प्रकार पार्वती नदी के जलस्तर में भी वृद्धि हो रही है। साथ ही दोनो नदियों के केचमेंट एरिया में जलस्तर बढ रहा है। इसलिए, विभागीय अधिकारी नदियों के तटीय क्षेत्र में सतत् निगरानी रखें। चंबल एवं पार्वती नदी के किनारे बसे गांवों के ग्रामीणों को सतर्कता बरतने की सलाह दें। जिससे ग्रामवासी सजग रहकर जलस्तर में जाने से दूर रहे।
कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने इस आशय के निर्देश राजस्व, पुलिस एवं संबंधित विभागीय अधिकारियों को दिए हैं। मौसम विभाग ने भी अलर्ट रहने की सलाह दी है। कलेक्टर ने वर्षा के अलर्ट एवं चंबल नदी का जलस्तर 138 से उपर हो जाने के कारण मैदानी अमला सजग रहकर ग्रामीणों को सर्तक रहने के लिए अवगत करावे। कलेक्टर ने मद्देनजर चंबल एवं पार्वती नदी के किराने बसे ग्रामों/मजरों के निवासी एवं आम जनता से अपील की है कि वे नदी के किनारे से सुरक्षित दूरी बनाए रखें तथा सर्तक एवं सावधान रहें।

20 अगस्त को सद्भावना दिवस मनाने के निर्देश 

अधिकारी/कर्मचारियों को दिलाई जावेगी शपथ 

श्योपुर | 16-अगस्त-2019

 राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में 20 अगस्त को सद्भावना दिवस मनाने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए हैं। साथ ही इस दिवस पर अधिकारी/कर्मचारियों को शपथ दिलाई जावेगी।
कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने बताया कि सद्भावना दिवस 20 अगस्त को प्रातः 11 बजे सभी शासकीय कार्यालयों में अधिकारियों, कर्मचारियों को जाति, सम्प्रदाय, क्षेत्र, धर्म अथवा भाषा का भेदभाव किए बिना सभी भारतवासियों की भावनात्मक एकता और सद्भाव के लिए कार्य करने की प्रतिज्ञा दिलाई जाएगी। साथ ही हिंसा का सहारा लिए बिना सभी प्रकार के मतभेद बातचीत और संवैधानियक माध्यमों से सुलझाने की भी प्रतिज्ञा दिलाई जाएगी।

जनसुनवाई में आए 81 आवेदनों पर की कार्यवाही 

आवेदकों के आवेदन कार्यवाही हेतु भिजवाए 

श्योपुर | 06-अगस्त-2019

 कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे के निर्देशन में जिला पंचायत के सीईओ श्री हर्ष सिंह की अध्यक्षता में राज्य शासन के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम जनसुनवाई का आयोजन आज निषादराज भवन श्योपुर पर किया गया। इस जनसुनवाई के दौरान जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र से आए 81 आवेदकों द्वारा प्रस्तुत किए गए आवेदनों पर कार्यवाही की गई। जनसुनवाई में आए आवेदकों के आवेदन कार्यवाही हेतु भिजवाए। साथ ही उनकों  पावती भी उपलब्ध कराई गई। जनसुनवाई के दौरान एसडीएम श्योपुर श्री रूपेश उपाध्याय, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनील राज नायक एवं विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी और शहरी, ग्रामीण क्षेत्र से आए नागरिक उपस्थित थे।
जिला पंचायत के सीईओ श्री हर्ष सिंह ने जनसुनवाई में आए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक सर्वश्री मदरू पुत्र हजारी गुर्जर, मेवा पत्नी हरीशंकर माली, रामनाथी पत्नी रामचरण, कलावती पत्नी अमृतलाल, विनोद रजक पुत्र कन्हैयालाल, पूरण पुत्र गोपाल, गोबरी बाई पत्नी प्रभुलाल, इंद्रजीत पत्नी बद्री, ठाकुर लाल पुत्र अजमेर मीणा, मोतीलाल पुत्र कल्लाराम, छोट्या पुत्र हरचंदा, चतुर्भुज पुत्र गोपाल आदिवासी, जागीर पुत्र वचन सिंह, रमेशचंद पुत्र काडूराम, निशा पत्नी भूपेन्द्र रेगर, कल्लू मेवाती पुत्र कबीरा मेवाती, प्रहलात पुत्र हीरा गुर्जर, सिवानी गुप्ता पुत्री ओमप्रकाश गुप्ता, हमीदन पत्नी हसुआ रेनु लोधा, लखन लाल विश्वकर्मा, जमुना, बलीराम शर्मा, रूपसिंह सहित 81 आवेदकों की विभिन्न प्रकार की समस्याएं सुनी। इसी प्रकार आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से सहरिया परिवार की मुखिया को प्रदान की जाने वाली सहायता रूपए एक-एक हजार के आवेदन प्राप्त कर सहायक आयुक्त आजका को कार्यवाही के लिए प्रेषित किए गए।
जनसुनवाई के दौरान पेंशन, राशन पर्ची, विद्युत, राशनकार्ड, आर्थिक सहायता, प्रसूती सहायता, नि:शक्त प्रमाणपत्र, नलकूप खनन में मोटर डालने एवं हैंडपंप लगाने वृद्धावस्था पेंशन, प्रधानमंत्री आवास, सीमांकन, नामांतरण, अतिक्रमण, उज्जवला योजना, बटवारा, कब्जा आदि प्रकार के आवेदनों पर गंभीरता पूर्वक कार्यवाही की गई।

सांसद निधि/ विधायक निधि/ जनभागीदारी के अपूर्ण निर्माण कार्यो की समीक्षा 27 जुलाई को

भिण्ड | 26-जुलाई-2019

 कलेक्टर श्री छोटेसिंह द्वारा सांसद निधि/ विधायक निधि/ जनभागीदारी के समस्त अपूर्ण निर्माण कार्यो की समीक्षा 27 जुलाई 2019 को प्रातः11 बजे कलेक्टर कार्यालय भिण्ड के सभागार में आयोजित की जाएगी।
जिला योजना अधिकारी भिण्ड ने कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा/लोक निर्माण विभाग/लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी भिण्ड, गोहद, लहार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत भिण्ड, गोहद, अटेर, मेहगांव, रौन एवं लहार, प्रभारी अधिकारी जिला एनसीसी, जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला पशु कल्याण समिति भिण्ड को पत्र जारी कर कहा है कि उक्त प्रपत्र में जानकारी 26 जुलाई 2019 के सायंकाल 4 बजे तक कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें, ताकि जानकारी का फोल्डर तैयार कर कलेक्टर भिण्ड को प्रस्तुत किया जा सके।

अनुसूचित जाति/जनजाति के प्रकरणों में गति लाई जावे- कलेक्टर 

श्योपुर | 24-जुलाई-2019

कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे की अध्यक्षता में अनुसूचित जाति/जनजाति “अत्याचार निवारण” अधिनियम-1995 यथा संसोधित 2016 के उपनियम 17(3) के तहत जिला स्तरीय सतर्कता एवं मॉनिटरिंग समिति की बैठक आज कलेक्टर चेंबर श्योपुर में आयोजित की गई।
बैठक में सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग श्री एलआर मीणा, क्षेत्र संयोजक एवं आवासीय विद्यालय ढेंगदा के श्री एमपी पिपरैया, विशेष लोक अभियोजक श्री राजेन्द्र जाधव, थाना प्रभारी आजाक मीना सोलंकी एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत जिले में माह जनवरी से जून-2019 के अंतर्गत अनुसूचित जाति के 19, अनुसूचित जनजाति के 7 कुल 26 प्रकरण निराकृत किए गए हैं। इस अधिनियम के अंतर्गत शेष प्रकरणों का निराकरण शीघ्र किया जावे। ऐसे प्रकरण जिनमें विवेचना चल रही है। वह कार्य भी तत्परता पूर्वक किया जावे। उन्होंने कहा कि इस अधिनियम के तहत पुलिस के पास लंबित प्रकरणों की समीक्षा में पाया गया है कि, 20 जुलाई की स्थिति में एससी के 4, एसटी के 2 प्रकरण लंबित है। जिनका निराकरण समय-सीमा में किया जावे। अगर प्रकरण न्यायालय में लंबित है। तब उनमें भी कार्यवाही यथा समय सुनिश्चित की जावे।
सहायक आयुक्त आजाक श्री एलआर मीणा ने बैठक में अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत अभियोजन के प्रकरण तथा पुलिस में लंबित प्रकरणों की जानकारी दी। साथ ही प्रकरणों की प्रगति से अवगत कराया। बैठक में लोक अभियोजक श्री राजेन्द्र जाधव, थाना प्रभारी आजाक मीना सोलंकी ने अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत प्रचलित प्रकरणों की जानकारी दी।