Tuesday, October 15News That Matters

सागर

Share

रबी सीजन के लिए खाद-बीज की व्यवस्था करें – कमिश्नर श्री शर्मा

सागर | 15-अक्तूबर-2019

कमिश्नर श्री आनंद कुमार शर्मा ने आधिकारियों को निर्देश दिए कि रबी सीजन के लिए खाद-बीज की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि किसानों की मांग के अनुसार खाद-बीज का भण्डारण करें। जिससे कि रबी सीजन में किसानों को आसानी से खाद-बीज उपलब्ध हो। पशु चिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान उपसंचालक दमोह के कार्यों की संतोषजनक प्रगति न पाए जाने पर उपसंचालक पशु चिकित्सा को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
बैठक में कमिश्नर ने डेयरी के शहर से बाहर विस्थापन के संबंध में अभी तक हुई कार्यवाही के संबंध में पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में लगाए जाने वाले शिविरों में पशु उपचार की व्यवस्था करें। उन्होंने विद्यासागर योजना में प्रगति लाने के निर्देश दिए।
कमिश्नर ने उद्यानिकी विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुए योजनाओं में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने मत्स्य विभाग के अधिकारियों से जिलावार मछली बीज उत्पादन की जानकारी ली। उन्होंने दुग्ध सहकारी संघ के कार्यों की समीक्षा की और समितियों के दुग्ध संकलन, औसत दुग्ध संकलन, पशु आहार विक्रय, कृत्रिम गर्भाधान आदि के विषयों पर अधिकारियों से चर्चा की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

निःशुल्क कोचिंग प्रयास की प्रवेश परीक्षा सम्पन्न

सागर | 01 अक्टूबर -2019

जिला प्रशासन सागर द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु प्रयास निःशुल्क कोचिंग के लिए प्रवेश परीक्षा कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय व महिला पॉलीटेक्निक कालेज में सम्पन्न हुई। परीक्षा में कुल 1982 परीक्षार्थी सम्मिलित हुये। आयोजित इस परीक्षा का कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक एवं पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने अवलोकन कर परीक्षा में सफल होने के लिये विद्यार्थियों को अग्रिम बधाई दी। परीक्षा को दो श्रेणियों में बांटा गया था जिसमें प्रयास निःशुल्क कोचिंग में यूपीएससी, एमपीपीएससी हेतु अलग व एसएससी, बैंक, रेल्वे आदि हेतु अलग से कक्षाएं संचालित की जाएगी। प्रवेश परीक्षा का परीक्षा परिणाम आज दिनांक एक अक्टूबर को दोपहर बाद घोषित किया जायेगा। जिसे विद्यार्थी स्मार्ट सिटी सागर की वेबसाईट www.sagarsmartcity.org पर देख सकते है। प्रयास निःशुल्क कोचिंग के लिए चयनित विद्यार्थियों के मोबाईल पर टेक्स्ट मेसेज एवं वाट्सएप के माध्यम से सूचित भी किया जायेगा।
प्रयास कोचिंग 2 अक्टूबर से प्रारंभ होगी
परिणाम आने के पश्चात् दो अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर उक्त सेंटर का उद्घाटन सांय 6 बजे शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में जिला के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में किया जायेगा।
परीक्षा का कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक एवं पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने अवलोकन ने महाविद्यालय पहुंचकर कक्षवार अवलोकन किया एवं परीक्षार्थियों से जानकारी प्राप्त की। परीक्षा में नोडल अधिकारी श्री जीएस रोहित, डा. धीरेन्द्र मिश्रा, श्री मनोज अग्रवाल, आर.के. बैध एवं श्री वायपीसिंह ने अपने-अपने परीक्षा केन्द्र में उपस्थित रहकर सफलतापूर्वक परीक्षा सम्पन्न कराई। नगर निगम आयुक्त श्री आर.पी. अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल राजपूत ने परीक्षा हेतु आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराये।

जिला न्यायालय में मध्यस्थता कार्यक्रम सम्पन्न

सागर | 24-सितम्बर-2019

मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार सोमवार को जिला मध्यस्थता केन्द्र सागर के सभाकक्ष में मध्यस्थता जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री के.पी. सिंह सहित समस्त मध्यस्थता न्यायाधीशगण, जिला अधिवक्ता संघ अध्यक्ष श्री अंकलेश्वर दुबे सहित पदाधिकारीगण, अधिवक्तागण तथा बड़ी संख्या में पक्षकारगण मौजूद थे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये जिला न्यायाधीश श्री के.पी.सिंह ने कहा कि मध्यस्थता प्रकरणों को आपसी सहमति से निराकरण करने का एक बहुत ही सरल माध्यम है। जिसमें मध्यस्थ की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है। मध्यस्थ विवाद के वास्तविक कारण को समझकर निष्पक्ष तरीके से आपसी सहमति से प्रकरण का निराकरण करवाने में सहायता करता है, साथ ही अपने संबोधन में समस्त न्यायाधीशगण से अधिक से अधिक समझौता योग्य प्रकरणों को मीडिएशन के लिये रिफर करने को कहा तथा यह भी कहा कि मध्यस्थता आज के समय की नितांत जरूरत है जिसके माध्यम से हम न्यायालय में विचाराधीन लंबित मामलों को आपसी सदभाव एवं सौहार्द्र के साथ समाप्त कर सकते हैं, विशेषकर पारिवारिक विवाद के मामलों में यदि पक्षकारों की आपसी सहमति से प्रकरण का निराकरण करवाया जाता है तो उससे एक परिवार को बिखरने से बचाया जा सकता है ।
कार्यक्रम में सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर, श्रीमती विधि सक्सेना ने मीडिएशन द्वारा मध्यस्थता से होने वाले लाभों के बारे में विस्तार पूर्वक बताया और पक्षकारों से अपने प्रकरणों को मीडिएशन के माध्यम से निपटाने की सलाह दी एवं उपस्थित मध्यस्थगण को मध्यस्थता प्रतिवेदन लिखे जाने के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया एवं हिन्दु विवाह अधिनियम 1955 व इससे संबंधित अन्य अधिनियमों के अंतर्गत आने वाले प्रकरणों को मध्यस्थता के द्वारा निराकृत कराने के लिए अपील की ।

आम लोंगों की समस्याओं और शिकायतों का तत्परता से निराकरण हो -कलेक्टर

सागर | 17-सितम्बर-2019

कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए है कि आम लोंगों की समस्याओं और शिकायतों का तत्परता से निराकरण करें। उन्होंने सीएम हेल्पलाईन के तहत प्राप्त शिकायतों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने कहा कि प्राप्त शिकायतों का संतुष्टि के साथ निराकरण हो।
कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक समय सीमा बैठक में लंबित पत्रों की समीक्षा कर रही थीं। उन्होंने सड़क निर्माण से जुड़े विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क सुधार के लिए कार्ययोजना तैयार कर लें। वर्षा के पश्चात तुरंत ही सड़कों का सुधार किया जाए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, म.प्र. सड़क विकास प्राधिकरण के अधिकारियों से सड़कों की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने अल्पसंख्यक एवं पिछड़ावर्ग कल्याण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पात्र छात्र-छात्राओं के छात्रवृत्ति प्रकरण लंबित न रहे। उन्होंने नगर निगम आयुक्त और सिटी मजिस्ट्रेट को निर्देश दिए कि खाद्य पदार्थों में मिलावट के प्रति लोंगों को जागरूक करने के संबंध में शहर में विभिन्न स्थानों पर होर्डिंग लगवाए जाएं। इन होर्डिंग्स में आवश्यक दूरभाष भी लिखे जाए ताकि आम जनता मिलावट करने वालों के विरूद्ध सूचना दे सकें। कलेक्टर ने धान उपार्जन के संबंध में खाद्य विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में ऐसे सूदखोरों के विरूद्ध कार्यवाही की जाए जो आम लोंगों को परेशान करते हैं। जिला शिक्षा अधिकारी और डीपीसी को निर्देश दिए कि शेश साईकिलों का वितरण छात्र-छात्रओं को कराएं। जिला कोषालय अधिकारी को निर्देश दिए गए कि कोषालय में प्रस्तुत होने वाले देयकों में जो भी कमियां हो उन्हें एक बार में ही बता दिया जाए बार बार आपत्ति लगाकर देयक न रोके जाए। कलेक्टर ने कहा कि कर्मचारियों विशेषकर लघु वेतन कर्मचारियों के देयक प्राथमिकता से भुगतान किए जाएं।
बैठक में नगर निगम आयुक्त, जिला पंचायत सीईओ, डिप्टी कलेक्टर एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

जिले में अब तक 1017 मि.मी. से ज्यादा औसत वर्षा दर्ज

सागर | 31-अगस्त-2019

सागर जिले में जारी वर्षा ऋतु में अब तक 1017.5 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिले में स्थापित वर्षामापी केन्द्रों में आंकी गई वर्षा रिकार्ड के अनुसार एक जून से आज तक राहतगढ़ केन्द्र पर सर्वाधिक 1375.2 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष आज तिथि में जिले में 706.8 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई थी।
अधीक्षक, भू-अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में स्थापित विभिन्न वर्षामापी केन्द्रों में 1 जून से 30 अगस्त तक सागर केन्द्र में 1166.4 मि.मी., जैसीनगर में 1045.8 मि.मी., राहतगढ में 1375.2 मि.मी., बीना में 1105.8 मि.मी., खुरई में 1092.9 मि.मी., मालथौन में 1018 मि.मी., बण्डा में 777.8 मि.मी, शाहगढ में 915 मि.मी, गढ़ाकोटा में 957.4 मि.मी, रहली में 830 मि.मी., देवरी में 1068.4 मि.मी. तथा केसली में 862.6 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है।

कलेक्टर कॉन्फ्रेंस 24 अगस्त को 

सागर | 23-अगस्त-2019

 सागर संभाग आयुक्त श्री आनंद कुमार शर्मा की अध्यक्षता में पहले 21 अगस्त को आयोजित की गई थी। लेकिन अपरिहार्य कारणों से अब यह कलेक्टर कॉन्फ्रेंस 24 अगस्त को कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में आयोजन किया गया है।
कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य विभाग/महिला एवं बाल विकास विभाग की दस्तक अभियान, टीकाकरण, पंजीकरण, कुपोषण, पोषण आहार एवं आरसीएच पोर्टल की समीक्षा सुबह 10.30 बजे से सुबह 11.30 बजे तक, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, सीएम हेल्पलाईन, मनरेगा अंतर्गत समीक्षा सुबह 11.30 बजे से दोपहर 12.45 बजे तक, खाद्य विभाग की राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम -2013 के महत्वपूर्ण प्रावधान यथा, हितग्रहियों के डेटाबेस में आधार नंबर की सीडिंग, सतर्कता समितियों का गठन व बैठकें, दूकान विहीन पंचायतों में नवीन दुकान खोलने आदि की मॉनीटरिंग पर समीक्षा दोपहर 12.45 बजे से दोपहर 01.30 बजे तक, राजस्व विभाग की आरसीएमएस, सीएम हेल्पलाईन/जनाधिकार (माह जुलाई की स्थिति में), आपकी सरकार आपके द्वार की समीक्षा, लंबित ऑडिट कण्डिकाएं, सीमांकन, भू-अर्जन के प्रकरण, आपदा प्रबंधन, आरबीसी 6-4 के प्रकरणों की, नजूल भूमि प्रबंधन एवं निर्वहन पर दोपहर 02.30 बजे से दोपहर 04.30 बजे तक एवं पुलिस विभाग/आदिम जाति कल्याण विभाग की अनुसूचित जाति एवं जनजति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरणों की समीक्षा अपरान्ह 04.30 बजे से अपरान्ह 05.30 बजे तक समीक्षा की जाएगी। समस्त जानकारी कॉन्फ्रेंस में संबंधित अधिकारी  हॉर्डकापी एवं सॉफ्टकापी (पीपीटी) सहित बैठक में उपस्थित होंगे।

महिलाएं करेंगी लोक -चित्र कला से स्वच्छता संवाद

सागर | 09-अगस्त-2019

 स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अन्तर्गत जिले को खुले में शौच मुक्त होने के बाद अब नया अभियान शुरू होने जा रहा है, जिसके तहत प्रत्येक ग्राम पंचायतों में शौचालय के प्रति ग्रामीणों को जागरूक करने के लिये एक माह तक लोक चित्र से स्वच्छता संवाद अभियान चलेगा। अभियान की खास बात यह रहेगी कि इसमें ग्रामीण अंचल की महिलाओं को शामिल किया जाएगा। अगस्त माह में प्रारम्भ होने के बाद अभियान 2 अक्टूबर तक चलेगा। अभियान अन्तर्गत प्रत्येक ग्राम में स्वच्छता संबंधी दीवार पेंटिंग के चित्रात्मक संदेश को आमजन तक पहुंचाया जायेगा। पेंटिंग कार्य में स्थानीय लोक चित्रकला एवं लोक भाषा का उपयोग किया जायेगा। महिला स्व-सहायता समूहों में चित्रकला में रूचि रखनें वाली महिलाओं से प्रत्येक ग्राम में चिन्हित स्थान पर स्वच्छता लोक चित्र बनायें जायेंगे। साथ ही स्थानीय स्वच्छाग्राहियों, पंचायतीराज संस्थाओ, विद्यालयों आदि संस्थाओं की सक्रिय  भागीदारी में स्वच्छता पेंटिंग के चित्र एवं उसके संदेश पर जनसमुदाय के साथ संवाद भी किया जायेगा।
स्व-सहायता समूह की महिलाओं को इस अभियान में शामिल करने पर जिला स्तर से प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। उत्कृष्ट दीवार पेंटिंग करने वाली महिला चित्रकारों को जनपद, जिला और राज्य स्तर पर पुरस्कृत किया जायेगा।
राज्य स्तर से प्रथम पुरस्कार 30 हजार, द्वितीय पुरस्कार 20 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 10 हजार, जिला स्तर पर प्रथम पुरस्कार 7 हजार, द्वितीय पुरस्कार 5 हजार व तृतीय पुरस्कार 3 हजार व जनपद स्तर पर प्रथम पुरस्कार 3 हजार, द्वितीय पुरस्कार 2 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 1000  हजार रूपये से पुरस्कृत किया जायेगा। इसके अतिरिक्त प्रशिक्षक चित्रकार को भी जिला स्तर पर सर्वोत्तम तीन पेंटिग पर 5 हजार रूपये की राशि से पुरस्कृत किया जायेगा। प्रत्येक दीवार पर 6 बाय 4 की पेंटिंग बनानी होगी। लोक चित्र स्वच्छता अभियान में महिलाओं की सहभागिता की जायेगी। लोक कला का उपयोग करते हुये स्वच्छता संदेश को आमजन तक पहुंचाया जायेगा।

निर्वाचक नामावली विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2020 का कार्यक्रम जारी

सागर | 30-जुलाई-2019

 भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार एक जनवरी 2020 की तिथि को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले पात्र व्यक्तियों का नाम निर्वाचक नामावली में दर्ज किया जायेगा। एक अगस्त 2019 से यह कार्य शुरू कर निर्वाचक नामावली का अंतिम प्रकाशन एक जनवरी से 15 जनवरी 2020 के मध्य किया जायेगा।
पुनरीक्षण पूर्व गतिविधियाँ एक अगस्त से 31 अगस्त 2019 तक होंगी।  मतदाता की फोटो क्वालिटी का परीक्षण, मतदाता प्रमाणीकरण किया जायेगा। एक सितम्बर से 30 सितम्बर तक बी.एल.ओ द्वारा घर-घर जाकर सत्यापन किया जायेगा। मतदान केन्द्रों का युक्तिकरण और मतदान केन्द्र के भवनों का भौतिक सत्यापन 16 सितम्बर से 15 अक्टूबर के दौरान होगा।
एकजाई प्रारूप निर्वाचक नामावली का प्रारूप प्रकाशन 15 अक्टूबर को किया जायेगा। पन्द्रह अक्टूबर से 30 नवम्बर तक दावे-आपत्तियाँ दर्ज की जायेंगी। दो नवम्बर से 10 नवम्बर तक विशेष कैम्प लगाये जायेंगे। दावे-आपत्तियों का निराकरण 15 दिसम्बर 2019 से पूर्व किया जायेगा। निर्वाचक नामावली का विभिन्न पैरामीटर पर परीक्षण एवं अंतिम प्रकाशन की अनुमति 25 दिसम्बर से पूर्व प्राप्त की जायेगी। डेटाबेस का अद्यतन और पूरक का प्रकाशन 31 दिसम्बर 2019 के पूर्व किया जायेगा।

गनमैन एवं सुरक्षागार्ड हेतु आवेदन 02 अगस्त तक 

सागर | 26-जुलाई-2019

  जिला सैनिक कल्याण कार्यालय, सागर कल्याण संयोजक, लायकराम चौरसिया ने जानकारी दी है कि इस कार्यालय में पंजीकृत भूतपूर्व सैनिकों को सुरक्षा कार्य हेतु गनमैन एवं सुरक्षागार्ड की आवश्यकता है। अतः इच्छुक भूतपूर्व सैनिक जिला सैनिक बोर्ड सागर में 02 अगस्त तक अपना आवेदन जमा कर सकते है।

बीमारी इलाज हेतु आर्थिक सहायता मंजूर

सागर | 23-जुलाई-2019

    मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से जिले के एक जरूरतमंद व्यक्ति को स्वयं की बीमारी के इलाज हेतु कुल राशि 30 हजार रूपये स्वीकृत की गई है। जिसमें श्रीमती सोनम खान पति श्री हनीफ खान केंट वार्ड 37 सागर को 30 हजार रूपये शामिल हैं।

 

रिपोर्ट / भारत में बन रहे आईफोन अगले महीने बाजार में आ सकते हैं, कीमतें घटने की उम्मीद

 

Date :- 12 july 2019

  • फॉक्सकॉन कंपनी भारत में एपल के लिए आईफोन की असेंबलिंग कर रही है
  • लोकल मैन्युफैक्चरिंग की वजह से एपल को 20% आयात शुल्क की बचत होगी
  • भारत में आईफोन एक्सआर की शुरुआती कीमत 55700 रुपए, एक्सएस की करीब 1 लाख रुपए

मुंबई. भारत में बन रहे आईफोन अगले महीने बाजार में आ सकते हैं। इससे आईफोन सस्ता होने की उम्मीद है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने सूत्रों के हवाले से गुरुवार को यह रिपोर्ट दी। इसके मुताबिक कुछ मंजूरियां बाकी हैं लेकिन, उम्मीद है कि आईफोन एक्सआर और एक्सएस अगस्त में बिक्री के लिए उपलब्ध हो जाएंगे। फॉक्सकॉन कंपनी एपल के लिए भारत में इन आईफोन की मैन्युफैक्चरिंग कर रही है। भारत में आईफोन एक्सआर की शुरुआती कीमत करीब 56 हजार रुपए और एक्सएस की करीब 1 लाख रुपए है।

आईफोन महंगे होने की वजह से भारत में एपल का सिर्फ 1% मार्केट शेयर

  1. भारत में अभी तक आईफोन इंपोर्ट किए जा रहे हैं। इन पर 20% आयात शुल्क लगता है। लेकिन, लोकल मैन्युफैक्चरिंग होने टैक्स बचेगा। इससे कीमतें घटाने का रास्ता साफ हो जाएगा। साथ ही एपल लोकल सोर्सिंग के नियम भी पूरे कर पाएगी।
  2. भारत दुनिया का दूसरा बड़ा स्मार्टफोन मार्केट है। यहां एपल डिवाइस काफी पसंद की जाती हैं लेकिन, कीमतें ज्यादा होने की वजह से यहां एपल का मार्केट शेयर सिर्फ 1% है।
  3. एपल सस्ते मॉडल एसई, 6एस और आईफोन 7 की असेंबलिंग भी भारत में करवा रही है। विस्ट्रॉन कॉर्प कंपनी की बेंगलुरु यूनिट में इनकी असेंबलिंग की जाती है। रिसर्च फर्म काउंटरप्वाइंट के मुताबिक इन्हें भारत से यूरोप एक्सपोर्ट किया जाता है।

जिले में पंचायत स्तर पर हुई जनसुनवाई में 513 आवेदनों का हुआ निराकरण

सागर | 06-जून-2019   मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत सागर ने जानकारी दी है कि सागर जिले की ग्राम पंचायतों में मंगलवार को जनसुनवाई में कुल 755 ग्राम पंचायतों में से 755 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 655 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 513 आवेदनों का निराकरण एवं 142 आवेदन लंबित रहे एवं जनसुनवाई में कुल 2288 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुये।
जनपद पंचायत सागर में 81 ग्राम पंचायतों में से 81 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 9 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 5 आवेदनों का निराकरण एवं 4 लंबित आवेदन रहे एवं जनसुनवाई में 279 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत राहतगढ़ में 81 ग्राम पंचायतों में से पूरे 81 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 49 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 49 आवेदनों का निराकरण एवं एक भी लंबित आवेदन नहीं रहे एवं जनसुनवाई में 293 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत जैसीनगर में 62 ग्राम पंचायतों में से पूरे 62 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 36 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 8 आवेदनों का निराकरण एवं 28 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 196 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुये।
जनपद पंचायत खुरई में 63 ग्राम पंचायतों में से पूरे 63 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 71 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 60 आवेदनों का निराकरण एवं 11 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 252 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत बीना में 64 ग्राम पंचायतों में से पूरे 64 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 73 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 68 आवेदनों का निराकरण एवं 5 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 191 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत मालथौन में 62 ग्राम पंचायतों में से पूरे 62 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 79 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 65 आवेदनों का निराकरण एवं 14 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 157 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत रहली में 91 ग्राम पंचायतों में से पूरे 91 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 120 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 86 आवेदनों का निराकरण एवं 34 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 322 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत देवरी में 70 ग्राम पंचायतों में से पूरे 70 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 56 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 44 आवेदनों का निराकरण एवं 12 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 2834 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत केसली में 56 ग्राम पंचायतों में से पूरे 56 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 74 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 47 आवेदनों का निराकरण एवं 27 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 90 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
जनपद पंचायत बण्डा में 78 ग्राम पंचायतों में से पूरे 78 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 48 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 48 आवेदनों का निराकरण हुआ व जनसुनवाई में 264 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।
इसी प्रकार जनपद पंचायत शाहगढ़ में 47 ग्राम पंचायतों में से पूरे 47 ग्राम पंचायतों में जनसुनवाई आयोजित की गई। जिसमें कुल 40 प्राप्त आवेदन में से जनसुनवाई के दौरान 33 आवेदनों का निराकरण एवं 7 आवेदन लंबित रहे व जनसुनवाई में 136 शासकीय कर्मचारी उपस्थित हुए।