Thursday, November 26News That Matters

सागर

Share
बंडा शाहगढ़ मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत किया गया सघन निरीक्षण
सागर | 24-नवम्बर-2020
      सागर मध्यप्रदेश शासन की महत्वकांक्षी योजना मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत सोमवार को खाद्य निरीक्षक पंकज श्रीवास्तव अपने दल के साथ बंडा एवं शाहगढ़ में विभिन्न मिष्ठान की दुकानों एवं दूध डेरी ओ पर छापेमारी कर सैंपलिंग की गई खाद्य निरीक्षक  श्री पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि कलेक्टर श्री दीपक सिंह के निर्देश पर मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत  दल गठित किए गए हैं जो मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत दूध डेरी ओ मिष्ठान की दुकान  एवं अन्य सामग्रियों की जांच कर सेंपलिंग का कार्य कर रही है श्री पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि बंडा की मामा पान पैलेस संदीप कराना बीकानेर मिष्ठान भंडार प्रताप होटल यदुवंशी रेस्टोरेंट कृष्णा चाट सेंटर तिरुपति बालाजी रेस्टोरेंट एवं शाहगढ़ की साची दुग्ध केंद्र अमरमऊ आदि प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की गई

राहतगढ़ घटना के प्रति कलेक्टर श्री सिंह ने व्यक्त की संवेदना

शासन के नियमानुसार दी जाएगी आर्थिक सहायता
सागर | 18-नवम्बर-2020
    वाटरफॉल पर पिकनिक मनाने गए 5 लोगों की मौत की घटना पर कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने बताया कि संबंधित परिवार की शासन के नियमानुसार आर्थिक सहायता की जाएगी।
कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने राहतगढ़ एसडीएम को निर्देश दिए हैं की रहतगढ़ वॉटर फॉल में आवश्यक साइनेज एवं सूचना बोर्ड के द्वारा प्रतिबंधित क्षेत्रों की जानकारी प्रदर्शित की जाए। उनके निर्देशानुसार होम गार्ड की टीम द्वारा पानी में डूबने से मृत हुए चार व्यक्तियों की बॉडी निकाल ली गई है जबकि एक व्यक्ति की तलाश जारी है।
उल्लेखनीय है कि, सागर से 40 किलोमीटर दूर राहतगढ़ वाटरफॉल पर पिकनिक मनाने गए एक परिवार के तीन एवं उनके रिश्तेदार दो लोगों ऐसे कुल 5 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। तहसीलदार राहतगढ़ श्री रामनिवास चौधरी ने बताया कि सागर की इतवारी टोरी निवासी 89 वर्षीय श्री नजीर खान पिता अफजल, 38 वर्षीय रूबी, पुत्री की उम्र 13 साल, नसीम पिता श्री नजीर 16 वर्ष की डूबने से मौत हो गई। वहीं उनके रिश्तेदार सिलवानी निवासी रोजी पुत्री राज खान एवं हिना पुत्री राज खान की भी डूबने से मृत्यु हो गई।
तहसीलदार श्री चौधरी ने बताया कि नजीर खान की पुत्री नाजिया खान 16 वर्ष को एनआरडीएस की टीम ने बचा लिया गया है।

नगरपालिकाओं की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण 2020 हेतु स्थगित प्रक्रिया का संशोधित कार्यक्रम

सागर | 09-जुलाई-2020

    नगरपालिकाओं की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण 2020 की स्थगित प्रक्रिया का संशोधित कार्यक्रम जारी किया गया था। उक्त संशोधित कार्यक्रम में एक जुलाई से 9 जुलाई तक तक दावे, आपत्तियां प्राप्त किये जाना नियत था। जिलों कोविड- 19 संक्रमण के निरन्तर बढ़ रहे प्रकरणों के कारण दावा, आपत्ति केन्द्रों तक लोगों के पहुंचने पाने की असुविधा के कारण दावे, आपत्तियां कम प्राप्त होने की स्थिति के दृष्टिगत आयोग द्वारा दावा, आपत्ति प्राप्त किये जाने की तिथि 25 जुलाई तक बढ़ाये जाने का निर्णय लिया गया है। अतः प्रारूप मतदाता सूची पर दावे, आपत्तियां अब एक से 25 जुलाई तक ली जावेगी। आयोग द्वारा फोटोयुक्त मतदाता सूची पुनरीक्षण -2020 का संशोधित कार्यक्रम पृथक से जारी किया गया है।

उपलब्धता अनुसार कोरोना संक्रमण के संदिग्ध व्यक्ति द्वारा मांग करने होटल, लॉज, धर्मशाला आदि में आईसोलेट, क्वारेंटीन किया जा सकता

सागर | 18-जून-2020

       भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण , मंत्रालय द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण के संदेहास्पद या पॉजीटिव पाये गये मरीजों को क्वारेंटाइन या आईसोलेट करने के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दिये गये हैं। जिला सागर में कोरोना संक्रमण के पॉजीटिव पाये गये व्यक्तियों के प्रथम संपर्क में आये व्यक्तियों द्वारा होटल आदि में आईसोलेट करने की मांग लगातार की जा रही हैं। जिला क्रायसिस प्रबंधन समिति की बैठक दिनांक 29-05-2020 को उक्त विषय को समक्ष में रखने के उपरांत सर्वसम्मति से इस तथ्य को स्वीकार किया गया कि होटल, लॉज , धर्मशाला आदि में उपलब्धता अनुसार कोरोना संक्रमण के संदिग्ध व्यक्ति द्वारा मांग करने होटल, लॉज, धर्मशाला आदि में आईसोलेट, क्वारेंटीन किया जा सकता हैं। अतः होटल, लॉज, धर्मशाला आदि में आईसोलेट करने हेतु निर्देश प्रसारित किये गए हैं।
निर्देशों में कोरोना पॉजीटिव की रिपोर्ट प्राप्त होने पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में प्रथम संपर्क या अन्य जैसा कि चिकित्सा दल को उपयुक्त लगें, आईसोलेट करने या क्वारेंटीन करने के लिये जब जगह पर्याप्त न हो या स्वयं संभावित संक्रमित द्वारा मांग की जाये, तब उनको चिन्हित होटल , लॉज या धर्मशाला में आईसोलेट किया जा सकता हैं । होटल, लॉज, धर्मशाला का चिन्हांकन सिटी मजिस्ट्रेट एवं उपायुक्त नगर निगम करेंगे। यही अधिकारी ठहरने एवं भोजन आदि के रेट भी सहमति से तय करेंगे। आईसोलेट किये गये व्यक्ति, संभावित संक्रमित को आईसोलेशन, क्वारेंटीन की समस्त शर्तों का पालन करना होगा। यह शर्ते मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सागर द्वारा निर्धारित की जायेंगी आईसोलेशन हेतु चयनित होटल, लॉज, धर्मशाला आदि में चिकित्सा दल . पुलिस बल एवं कार्यपालिक दण्डाधिकारी नियुक्त करने होंगे । इस हेतु मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं अपर कलेक्टर सागर व्यवस्था करेंगे । होटल , लॉज , धर्मशाला के मालिक को प्रत्येक व्यक्ति हेतु रूम सर्विस देनी होगी । इस दौरान स्टाफ पी.पी.ई. किट में रहे एवं पर्याप्त सोशल डिस्टैसिंग का पालन करें । एवं स्वास्थ्य अधिकारी इन प्रत्येक व्यक्तियों को आरोग्य सेतु एप्प अनिवार्यतः डाउनलोड करवायें । सी.ई.ओ. स्मार्ट सिटी सागर इन प्रत्येक आइसोलेट किये गये व्यक्तियों की मॉनीटरिंग स्मार्ट सिटी के आईसीसीसी सेंटर में Intu Track सॉफ्टवेयर पर अनिवार्यतः करें एवं वस्तुस्थिति से अवगत कराते रहें । मुख्य चिकित्सा एवं होटल , लॉज , धर्मशाला मालिक प्रत्येक कक्ष व परिसर को अच्छे से सेनेटाइज व सफाई करवा कर रखें । यदि कोई व्यक्ति आईसोलेशन / क्वारेंटीन के निर्देशों का उल्लंघन करता हैं , तो उसके विरूद्ध कार्यवाही करने हेतु मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सागर होंगे ।

शहर के कंटेनमेंट क्षेत्रों को किया जा रहा सैनिटाईज

सागर | 02-जून-2020

कोरोना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु कलेक्टर श्री दीपक सिंह के निर्देश पर कंटेनमेंट क्षेत्रों को सैनिटाईज किया जा रहा है। इस कड़ी में मंगलवार को कंटेनमेंट क्षेत्र विट्ठल नगर वार्ड में निगम के कर्मचारियों द्वारा सैनिटाईज एवं दवा छिड़काव का किया गया।

जनसम्पर्क संचालनालय की विशेष फीचर श्रृंखला “विशेष लेख”

सागर | 18-फरवरी-2020

  संदर्भ : नमस्ते ओरछा महोत्सव – 6 से 8 मार्च
ओरछा : समृद्ध पुरातत्व और पर्यटन का संगम
  •  डॉ. ओ.पी. मिश्रा

ओरछा राम राजा मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। यह शहर बेतवा नदी के किनारे पर बसा है। बेतवा नदी के दोनों किनारों के पुरातत्त्वीय सर्वेक्षण से पता चलता है कि यह क्षेत्र प्रागैतिहासिक काल से लगातार पुष्पित एवं पल्ल्वित होता रहा है। ओरछा का क्षेत्र बुन्देलखण्ड में आता है। पूर्व में किए गए सर्वेक्षण से क्षेत्र में कई ताम्राश्म काल के प्राचीन स्थल, तत्कालीन विद्वानों द्वारा खोजे गए। इस काल के बाद इस क्षेत्र में पूर्व ऐतिहासिक काल के ब्राह्मी लिपि के अभिलेख, मौर्य काल, शुंग कालीन, गुप्त, प्रतिहार, परमार, चन्देल राजाओं का क्रमबद्ध रूप से इतिहास हमें देखने को मिलता है। इन शासकों द्वारा बनाये गए मंदिर, मूर्तियाँ एवं आवासीय अवशेष ओरछा, गढ़कुण्डार और टीकमगढ़ आदि के आसपास के गाँवों में देखने को मिलते हैं। बुन्देलखण्ड में 9 वीं शताब्दी के बाद चन्देल शासकों का शासन था, जिनके अवशेष यहाँ के मंदिर, प्राचीन महत्व एवं बावड़ी आदि के रूप में हमें ओरछा के पास के मोहनगढ़ और गढ़कुण्डार किले के आस-पास देखने को मिलते हैं।
चन्द्रबरदाई, जो पृथ्वीराज रासो के दरबार में कवि थे, ने लिखा है कि 12वीं शताब्दी में ओरछा, चन्देल शासकों के पास था। परमर्दिदेव के बाद गढ़कुण्डार किले पर खंगार वंश के राजाओं का शासन हुआ और खूब सिंह खंगार ने अपने को स्वतंत्र शासक के रूप में घोषित किया। सोहनपाल बुन्देला ने अंतिम गढ़कुण्डार शासक हरमत सिंह को 1257 ई. में परास्त कर अपनी बुन्देला सत्ता स्थापित की। जिन शासक ने इस क्षेत्र में शासन किया उनमें सोहनपाल, सहजेन्द्र, पृथ्वीराज, राम सिंह, रामचन्द्र, मेदिनी पाल, अर्जन देव, मलखन सिंह, रूद्रप्रताप आदि महत्वपूर्ण थे।
रूद्रप्रताप ने बुन्देलों की राजधानी गढ़कुण्डार से ओरछा 1531 ई. में स्थानांतरित की। ओरछा के बुन्देला शासकों के पूर्व भी यहाँ बसाहट के अवशेष थे। बुन्देला शासकों ने मात्र उनका पुनर्निर्माण भी किया। इनमें चार दीवारी और प्रवेश द्वार मुख्य थे। बेतवा नदी के किनारे रूद्रप्रताप एवं भारती चन्द्र ने चार दीवारी के भीतर ओरछा किले का निर्माण कराया। ओरछा के बुन्देला शासकों में प्रमुख रूप से भारतीय चन्द्र, मधुकर शाह, राम शाह, वीर सिंह बुन्देला आदि उल्लेखनीय हैं। इनमें वीर सिंह बुन्देला द्वारा ओरछा में काफी निर्माण कार्य किया गया। इन्हीं के समय बुन्देली स्थापत्य तथा इण्डो-पर्सियन स्थापत्य कला का प्रचलन प्रारम्भ हुआ। यहाँ के किले, गढ़िया, महल, मंदिर, बावड़ी इत्यादि एवं बुन्देली कलम की भित्ति चित्र, चित्रकला का प्रतिनिधित्व करते हैं। बाद में बुन्देला शासकों ने अपनी राजधानी टीहरी यानी टीकमगढ़ बना ली। आस-पास के क्षेत्र, जिनमें टीकमगढ़, मोहनगढ़, लिघोरा, दिघौरा, आस्टोन, खरगापुर, बलदेवगढ़ आदि शामिल है, में विरासत भवनों का निर्माण किया।

“गौसेवा संरक्षण” के लिये स्लोगन प्रतियोगिता

सागर | 11-फरवरी-2020

    “मुख्यमंत्री गौसेवा योजना” अंतर्गत “गोवंश संरक्षण” के महत्व पर पशुपालन विभाग ने mp.mygov.in के माध्यम से स्लोगन प्रतियोगिता आयोजित की है। इसकी पुरस्कार राशि 10 हजार रूपये है। प्रतिष्टियाँ प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 29 फरवरी 2020 नियत की गई है।
इस प्रतियोगिता में नागरिक अधिकतम 20 शब्दों में स्लोगन दे सकते है। प्रतिष्टि को उसके लॉग-इन विवरण के आधार पर ही प्रतियोगिता में शामिल किया जायेगा। प्राप्त प्रविष्टियों का उपयोग कर सर्वाधिकार गौपालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड के पास सुरक्षित रहेगा। अधिक जानकारी के लिये वेब पोर्टल mp.mygov.in पर संपर्क किया जा सकता है।

मृतक धनप्रसाद के घर पहुंची संयुक्त कलेक्टर, लिया नौकरी का आवेदन

सागर | 28-जनवरी-2020

 कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक के निर्देशानुसार संयुक्त कलेक्टर एवं प्रभारी सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग  श्रीमती अंजली शाह ने सोमवार को मृतक धन प्रसाद अहिरवार के परिवार वालों से भेंट की। अत्याचार निवारण अधिनियम अन्तर्गत नौकरी संबंधित आवेदन स्वयं घर जाकर प्राप्त किए।

मंत्री श्री हर्ष यादव ने रोगी के स्वास्थ्य की जानकारी ली,’दिए बेहतर उपचार के निर्देश’

सागर | 21-जनवरी-2020

नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा और कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने आज हमीदिया अस्पताल के बर्न वार्ड में उपचार करवा रहे सागर निवासी श्री धनप्रसाद के स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की। पूर्व मंत्री श्री सुरेन्द्र चौधरी भी उनके साथ थे। मंत्री श्री यादव करीब एक घंटे तक अस्पताल में रुके। उन्होंने चिकित्सकों से रोगी के इलाज के बारे में चर्चा भी की। उन्होंने रोगी के परिजनों से भी बात की और उन्हें बताया कि  मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ  को घटना की जानकारी दी गई है।
श्री धन प्रसाद अहिरवार के इलाज में धन राशि की कमी नहीं होने दी जाएगी।सबसे बेहतर उपचार व्यवस्था की जाएगी।
मंत्री श्री यादव ने कहा कि यदि परिजन चाहें तो अन्य संस्थान में भी उपचार करवाया जा सकता है।
परिजन ने हमीदिया अस्पताल में चल रहे उपचार पर संतोष व्यक्त किया।रोगी के सहायतार्थ एक लाख रुपए की राशि दी गई है। मंत्री श्री यादव को डीन डॉ आदित्य अग्रवाल ने रोगी के उपचार के संबंध में जानकारी दी।  अधीक्षक डॉ अरुण श्रीवास्तव  और अन्य चिकित्सक उपस्थित थे।

राष्ट्रीय पोषण मिशन अंतर्गत भाषण एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया’

सागर | 14-जनवरी-2020

    राष्ट्रीय पोषण मिशन अंतर्गत पोषण जागरूकता के उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय छीरारी में महिला बाल विकास द्वारा पोषण सेमिनार, तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। परियोजना अधिकारी श्री विजय कुमार जैन ने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य बच्चों में संतुलित भोजन, स्वास्थ्य,  शिक्षा, साफ सफाई को जीवन में अपनाकर स्वस्थ एवम् सुपोषित बनाना है। पर्यवेक्षक श्रीमती बेलवती लोधी द्वारा बेटियों के संरक्षण, गुड टच बैड टच, चाइल्ड हेल्पलाइन  संबंधी जानकारी दी गई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं एवं स्कूल प्रबंधन से शिक्षक गण उपस्थित रहे।

हमारी सरकार हर वर्ग के कल्याण के लिए कर रही कार्य- मंत्री हर्ष यादव

किसान प्रशिक्षण संपन्न
सागर | 07-जनवरी-2020

     देवरी उद्यानिकी विभाग द्वारा एक दिवसीय किसान प्रशिक्षण कार्यक्रम में पहुंचे मुख्य अतिथि प्रदेश के कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन तथा नवकरणीय उर्जा मंत्री हर्ष यादव ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि आगे आने वाला समय किसानों का समय होगा। किसान परिवार के युवाओं को हम कैसे रोजगार दें। मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं कि कमलनाथ सरकार आपकी सरकार है आपके आशीर्वाद से बनी सरकार है। एक साल में ऐसी योजनाएं बनाई है जो आने वाली 4 वर्षों में हर वर्ग के हर व्यक्ति को लाभ मिलेगा हर वर्ग के कल्याण के लिए कार्य करने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है। हमारे मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ एक ऐसे व्यक्ति हैं जो घोषणाओं पर नहीं वचन पर विश्वास करते हैं। जो वचन दिया है उन्हें पूरा किया जाएगा किसानों का कर्ज 50 हजार तक का माफ हो चुका है। 1 लाख तक का कर्ज माफी का कार्य भी प्रारंभ हो गया है शीघ्र ही यह भी माफ किया जाएगा। जनपद अध्यक्ष कु आंचल अठिया ने कहा कि कमलनाथ सरकार किसानों की सरकार है जो हमेशा किसानों के हित में कार्य करती है।

राजस्व मंत्री श्री राजपूत द्वारा 25 उद्यानिकी कृषकों के लिये अनुदान के आशय पत्र वितरित

सागर | 28-दिसम्बर-2019

आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम जैसीनगर में प्रदेश के राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने 25 उद्यानिकी कृषकों को अनुदान के आशय पत्र वितरित किये। कृषकों 3 लाख 66 हजार रूपये के अनुदान दिये जायेगे। इन्हें ड्रिप सिंचाई स्प्रिंकलर सिंचाई सब्जी क्षेत्र विस्तार व मसाला क्षेत्र विस्तार एवं प्लास्टिक मल्चिंग योजना के अनुदान दिया जायेगा। इस अवसर पर मंत्री श्री राजपूत द्वारा उद्यानिकी विभाग द्वारा लगाई गई प्रदर्षनी अवलोक किया गया।  संजय निकुज मोहारा में उत्पादित दुलर्भ जड़ी बूटी काली हल्दी की जानकारी उद्यान अधीक्षक मोहरा श्री आर.के. मिश्रा द्वारा दी गई। इस अवसर उप संचालक उद्यान श्री सोमनाथ राय, श्री एच.एस.डीओ, श्री आर. के. मिश्रा और कर्मचारी मौजूद थे।

भारत न पहले कमजोर था और ना आज कमजोर है : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ

सागर | 17-दिसम्बर-2019

 मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शौर्य स्मारक में 1971 के  भारत-पाकिस्तान युद्ध के विजय दिवस पर अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा है कि भारत  न पहले कमजोर था और न ही आज कमजोर है। श्री कमल नाथ ने जनता को विजय दिवस का संदेश जारी करते हुए कहा कि इस अवसर पर हम सब को यह याद रखना चाहिए कि सभी नागरिकों को, चाहे वे किसी भी मजहब, जाति  अथवा पंथ को मानने वाले हों, सबका यह कर्तव्य है कि राष्ट्र की एकता और अखंडता को मजबूत बनाएँ। अपने शहीदों का गुणगान करें। मुख्यमंत्री ने नागरिकों का आह्वान किया है कि हम सब भारत के विकास, खुशहाली और अमन-चैन के लिए मिलकर प्रयास करें।
    मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने विजय दिवस संदेश में कहा कि 1971 का भारत-पाकिस्तान युद्ध एक सैन्य संघर्ष था। यह संघर्ष 3 दिसंबर 1971 को शुरू हुआ और 16 दिसंबर को ढाका में पाक सेना के समर्पण के साथ  समाप्त हुआ। उन्होंने कहा कि इस युद्ध की शुरुआत में पाकिस्तान ने भारत की वायुसेना के 11 स्टेशनों पर हवाई हमले किये। इसमें भारतीय सेना का पाकिस्तान से पूर्वी और पश्चिमी मोर्चे पर संघर्ष हुआ।  भारतीय सेना ने पाक सेना को दोनों मोर्चों पर परास्त किया।  हताश पाकिस्तानी सेना आत्म-समर्पण करने के लिए मजबूर हुई। इसी के साथ पूर्वी पाकिस्तान नए “बांग्लादेश” के रूप में स्थापित हुआ।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि इसी जीत को हम आज विजय दिवस के रूप में मनाते हैं। उन्होंने कहा कि यह युद्ध तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी के सशक्त नेतृत्व और अद्वितीय राष्ट्रवाद की अद्भुत मिसाल होने के साथ भारतीय जांबाज सैनिकों के अदम्य शौर्य का भी प्रतीक है। इस युद्ध में पाकिस्तान के 93 हजार सैनिक घुटने टेकने पर मजबूर हुए और उन्हें आत्म-समर्पण करना पड़ा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस अभूतपूर्व विजय के दो कारण थे। पहला कारण था तत्कालीन प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रीमती इंदिरा गांधी का दृढ़ संकल्प और राजनीतिक नेतृत्व तथा दूसरा कारण था भारतीय थल सेना अध्यक्ष और चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष जनरल एच.एच.एफ.जे. सैम मानेकशॉ का  कुशल रणनीतिक नेतृत्व। उन्होंने कहा कि उस समय के अधिकांश पश्चिमी देश और  महाशक्ति अमेरिका भारत को पाकिस्तान के विरुद्ध कुछ नहीं करने के लिए खुलेआम धमका रहे थे। तब श्रीमती इंदिरा गांधी का ही साहस था, जिन्होंने पाकिस्तान को सशस्त्र संघर्ष में सबक सिखाया और भारत की प्रभुता स्थापित की। उनकी असाधारण सूझबूझ और सैन्य बलों के अदम्य शौर्य ने देशवासियों को जिस तरह हर्षित और गौरवान्वित किया, वह बेमिसाल था और युगों तक याद किया जायेगा।

दीपावली पर राजेश जलाएंगे खुशी के दीप “खुशियों की दास्तां”

आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में आवास मिलने से प्रसन्न है राजेश

सागर | 25-अक्तूबर-2019

 ग्रामीणजनों की समस्याओं के निराकरण के लिए मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम ग्राम स्तर पर आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम का ग्रामीणों को सीधा लाभ मिल रहा है और उनकी समस्याओं का निराकरण भी हो रहा है। गरूवार 24 अक्टूबर को सागर जिले के विकासखंड मुख्यालय केसली में आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें राजेश को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास स्वीकृत किया गया। आवास का स्वीकृति का पत्र प्राप्त कर राजेश की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। ग्राम तूमरी निवासी राजेश इस दीपावली पर खुशी के दीप जलाएंगे। वे बताते हैं कि उनके घर की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि वे पक्का मकान बना पाते। माली स्थिति अच्छी नहीं होने में सिर्फ घर का गुजर बसर कर पा रहा था। कच्चा मकान होने दिक्कत होती थी।
राजेश ही नहीं है जिन्हें पक्का आवास स्वीकृत किया गया है बल्कि ऐसे 22 अन्य हितग्राही भी है जिन्हें आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में आवास स्वीकृत किए गए। इन हितग्राहियों को प्रदेश के कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन एवं नवकरणीय तथा उर्जा विभाग मंत्री श्री हर्ष यादव ने स्वीकृति पत्र वितरित किए। प्रत्येक हितग्राही को सवा लाख रूपये आवास हेतु स्वीकृत किए गए है।  हितग्राही कहते हैं कि मध्यप्रदेश सरकार का कार्यक्रम आपकी सरकार आपके द्वार काफी सराहनीय पहल है।
कार्यक्रम में जिन हितग्राहियों को आवास स्वीकृत किए गए है। जिसमें श्री देवी गौड़, श्री गोपाल, श्री परशोत्तम, श्री गिरिश, श्री सुनील ग्राम पंचायत पुत्तर्रा, श्री रामसेवक, श्री हरिशंकर, श्री राजेश, श्री प्रीतम, श्री रामजी, श्री गुलाब ग्राम पंचायत तूमरी, श्री बालकिशन, श्री कीरथ, श्री जगराम, श्री रामकिशन ग्राम पंचायत सिंगपुर, श्री मनबोध गौड़, श्री प्रकाश गौड़, श्री नीरज गौड़, श्री पप्पू गौड़, श्री मंगल गौड़ ग्राम पंचायत वघवारा, श्री मनीराम, श्री मूरत सिंह, श्री कपूरे ग्राम पंचायत मेढकी शामिल है।

स्थानांतरण पर सहायक संचालक जनसंपर्क श्री वासनिक को भावभीनी विदाई

सागर | 22-अक्तूबर-2019

सहायक संचालक श्री राहुल वासनिक संभागीय जनसंपर्क कार्यालय सागर को नरसिंहपुर जनसंपर्क कार्यालय में सहायक संचालक के पद पर स्थानांतरण होने पर कार्यालय में विदाई समारोह आयोजित किया गया। श्री वासनिक को स्टॉफ द्वारा भावभीनी विदाई दी गई। सहायक संचालक श्री यशवंत सिंह बरारे ने श्री वासनिक के कार्यकाल की सराहना की। उन्होंने कहा कि शासकीय सेवा में स्थानांतरण स्वभाविक प्रक्रिया है। उन्होंने कहा कि श्री वासनिक युवा और कर्मठ अधिकारी है। मैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं।
श्री वासनिक लगभग दो वर्ष सागर में पदस्थ रहे। कार्यालय के कर्मचारियों की ओर से उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट किया। श्री मनोज नेमा ने श्री वासनिक विदाई देते हुए कहा कि मैंने उनके साथ रहते हुए काफी कुछ सीखा है। मैं श्री वासनिक के स्थानांतरण होने पर दुखी जरूर हूं पर यह एक प्रक्रिया का भाग है। समारोह में वरिष्ठ लेखापाल श्री गोविन्द चौधरी ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर सोशल मीडिया हेण्डलर श्री रूपराज लोधी, कंप्यूटर ऑपरेटर श्री वृन्दावन विश्वकर्मा, श्री प्रवेश यादव, श्री विनोद राजवंषी, श्री गोविन्द एवं अकील खान उपस्थित थे।

रबी सीजन के लिए खाद-बीज की व्यवस्था करें – कमिश्नर श्री शर्मा

सागर | 15-अक्तूबर-2019

कमिश्नर श्री आनंद कुमार शर्मा ने आधिकारियों को निर्देश दिए कि रबी सीजन के लिए खाद-बीज की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि किसानों की मांग के अनुसार खाद-बीज का भण्डारण करें। जिससे कि रबी सीजन में किसानों को आसानी से खाद-बीज उपलब्ध हो। पशु चिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान उपसंचालक दमोह के कार्यों की संतोषजनक प्रगति न पाए जाने पर उपसंचालक पशु चिकित्सा को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
बैठक में कमिश्नर ने डेयरी के शहर से बाहर विस्थापन के संबंध में अभी तक हुई कार्यवाही के संबंध में पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में लगाए जाने वाले शिविरों में पशु उपचार की व्यवस्था करें। उन्होंने विद्यासागर योजना में प्रगति लाने के निर्देश दिए।
कमिश्नर ने उद्यानिकी विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुए योजनाओं में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने मत्स्य विभाग के अधिकारियों से जिलावार मछली बीज उत्पादन की जानकारी ली। उन्होंने दुग्ध सहकारी संघ के कार्यों की समीक्षा की और समितियों के दुग्ध संकलन, औसत दुग्ध संकलन, पशु आहार विक्रय, कृत्रिम गर्भाधान आदि के विषयों पर अधिकारियों से चर्चा की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

निःशुल्क कोचिंग प्रयास की प्रवेश परीक्षा सम्पन्न

सागर | 01 अक्टूबर -2019

जिला प्रशासन सागर द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु प्रयास निःशुल्क कोचिंग के लिए प्रवेश परीक्षा कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय व महिला पॉलीटेक्निक कालेज में सम्पन्न हुई। परीक्षा में कुल 1982 परीक्षार्थी सम्मिलित हुये। आयोजित इस परीक्षा का कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक एवं पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने अवलोकन कर परीक्षा में सफल होने के लिये विद्यार्थियों को अग्रिम बधाई दी। परीक्षा को दो श्रेणियों में बांटा गया था जिसमें प्रयास निःशुल्क कोचिंग में यूपीएससी, एमपीपीएससी हेतु अलग व एसएससी, बैंक, रेल्वे आदि हेतु अलग से कक्षाएं संचालित की जाएगी। प्रवेश परीक्षा का परीक्षा परिणाम आज दिनांक एक अक्टूबर को दोपहर बाद घोषित किया जायेगा। जिसे विद्यार्थी स्मार्ट सिटी सागर की वेबसाईट www.sagarsmartcity.org पर देख सकते है। प्रयास निःशुल्क कोचिंग के लिए चयनित विद्यार्थियों के मोबाईल पर टेक्स्ट मेसेज एवं वाट्सएप के माध्यम से सूचित भी किया जायेगा।
प्रयास कोचिंग 2 अक्टूबर से प्रारंभ होगी
परिणाम आने के पश्चात् दो अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर उक्त सेंटर का उद्घाटन सांय 6 बजे शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में जिला के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में किया जायेगा।
परीक्षा का कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक एवं पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी ने अवलोकन ने महाविद्यालय पहुंचकर कक्षवार अवलोकन किया एवं परीक्षार्थियों से जानकारी प्राप्त की। परीक्षा में नोडल अधिकारी श्री जीएस रोहित, डा. धीरेन्द्र मिश्रा, श्री मनोज अग्रवाल, आर.के. बैध एवं श्री वायपीसिंह ने अपने-अपने परीक्षा केन्द्र में उपस्थित रहकर सफलतापूर्वक परीक्षा सम्पन्न कराई। नगर निगम आयुक्त श्री आर.पी. अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल राजपूत ने परीक्षा हेतु आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराये।

जिला न्यायालय में मध्यस्थता कार्यक्रम सम्पन्न

सागर | 24-सितम्बर-2019

मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार सोमवार को जिला मध्यस्थता केन्द्र सागर के सभाकक्ष में मध्यस्थता जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री के.पी. सिंह सहित समस्त मध्यस्थता न्यायाधीशगण, जिला अधिवक्ता संघ अध्यक्ष श्री अंकलेश्वर दुबे सहित पदाधिकारीगण, अधिवक्तागण तथा बड़ी संख्या में पक्षकारगण मौजूद थे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये जिला न्यायाधीश श्री के.पी.सिंह ने कहा कि मध्यस्थता प्रकरणों को आपसी सहमति से निराकरण करने का एक बहुत ही सरल माध्यम है। जिसमें मध्यस्थ की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है। मध्यस्थ विवाद के वास्तविक कारण को समझकर निष्पक्ष तरीके से आपसी सहमति से प्रकरण का निराकरण करवाने में सहायता करता है, साथ ही अपने संबोधन में समस्त न्यायाधीशगण से अधिक से अधिक समझौता योग्य प्रकरणों को मीडिएशन के लिये रिफर करने को कहा तथा यह भी कहा कि मध्यस्थता आज के समय की नितांत जरूरत है जिसके माध्यम से हम न्यायालय में विचाराधीन लंबित मामलों को आपसी सदभाव एवं सौहार्द्र के साथ समाप्त कर सकते हैं, विशेषकर पारिवारिक विवाद के मामलों में यदि पक्षकारों की आपसी सहमति से प्रकरण का निराकरण करवाया जाता है तो उससे एक परिवार को बिखरने से बचाया जा सकता है ।
कार्यक्रम में सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सागर, श्रीमती विधि सक्सेना ने मीडिएशन द्वारा मध्यस्थता से होने वाले लाभों के बारे में विस्तार पूर्वक बताया और पक्षकारों से अपने प्रकरणों को मीडिएशन के माध्यम से निपटाने की सलाह दी एवं उपस्थित मध्यस्थगण को मध्यस्थता प्रतिवेदन लिखे जाने के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया एवं हिन्दु विवाह अधिनियम 1955 व इससे संबंधित अन्य अधिनियमों के अंतर्गत आने वाले प्रकरणों को मध्यस्थता के द्वारा निराकृत कराने के लिए अपील की ।

आम लोंगों की समस्याओं और शिकायतों का तत्परता से निराकरण हो -कलेक्टर

सागर | 17-सितम्बर-2019

कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए है कि आम लोंगों की समस्याओं और शिकायतों का तत्परता से निराकरण करें। उन्होंने सीएम हेल्पलाईन के तहत प्राप्त शिकायतों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने कहा कि प्राप्त शिकायतों का संतुष्टि के साथ निराकरण हो।
कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक समय सीमा बैठक में लंबित पत्रों की समीक्षा कर रही थीं। उन्होंने सड़क निर्माण से जुड़े विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क सुधार के लिए कार्ययोजना तैयार कर लें। वर्षा के पश्चात तुरंत ही सड़कों का सुधार किया जाए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, म.प्र. सड़क विकास प्राधिकरण के अधिकारियों से सड़कों की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने अल्पसंख्यक एवं पिछड़ावर्ग कल्याण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पात्र छात्र-छात्राओं के छात्रवृत्ति प्रकरण लंबित न रहे। उन्होंने नगर निगम आयुक्त और सिटी मजिस्ट्रेट को निर्देश दिए कि खाद्य पदार्थों में मिलावट के प्रति लोंगों को जागरूक करने के संबंध में शहर में विभिन्न स्थानों पर होर्डिंग लगवाए जाएं। इन होर्डिंग्स में आवश्यक दूरभाष भी लिखे जाए ताकि आम जनता मिलावट करने वालों के विरूद्ध सूचना दे सकें। कलेक्टर ने धान उपार्जन के संबंध में खाद्य विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में ऐसे सूदखोरों के विरूद्ध कार्यवाही की जाए जो आम लोंगों को परेशान करते हैं। जिला शिक्षा अधिकारी और डीपीसी को निर्देश दिए कि शेश साईकिलों का वितरण छात्र-छात्रओं को कराएं। जिला कोषालय अधिकारी को निर्देश दिए गए कि कोषालय में प्रस्तुत होने वाले देयकों में जो भी कमियां हो उन्हें एक बार में ही बता दिया जाए बार बार आपत्ति लगाकर देयक न रोके जाए। कलेक्टर ने कहा कि कर्मचारियों विशेषकर लघु वेतन कर्मचारियों के देयक प्राथमिकता से भुगतान किए जाएं।
बैठक में नगर निगम आयुक्त, जिला पंचायत सीईओ, डिप्टी कलेक्टर एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

जिले में अब तक 1017 मि.मी. से ज्यादा औसत वर्षा दर्ज

सागर | 31-अगस्त-2019

सागर जिले में जारी वर्षा ऋतु में अब तक 1017.5 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिले में स्थापित वर्षामापी केन्द्रों में आंकी गई वर्षा रिकार्ड के अनुसार एक जून से आज तक राहतगढ़ केन्द्र पर सर्वाधिक 1375.2 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष आज तिथि में जिले में 706.8 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई थी।
अधीक्षक, भू-अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में स्थापित विभिन्न वर्षामापी केन्द्रों में 1 जून से 30 अगस्त तक सागर केन्द्र में 1166.4 मि.मी., जैसीनगर में 1045.8 मि.मी., राहतगढ में 1375.2 मि.मी., बीना में 1105.8 मि.मी., खुरई में 1092.9 मि.मी., मालथौन में 1018 मि.मी., बण्डा में 777.8 मि.मी, शाहगढ में 915 मि.मी, गढ़ाकोटा में 957.4 मि.मी, रहली में 830 मि.मी., देवरी में 1068.4 मि.मी. तथा केसली में 862.6 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है।

कलेक्टर कॉन्फ्रेंस 24 अगस्त को 

सागर | 23-अगस्त-2019

 सागर संभाग आयुक्त श्री आनंद कुमार शर्मा की अध्यक्षता में पहले 21 अगस्त को आयोजित की गई थी। लेकिन अपरिहार्य कारणों से अब यह कलेक्टर कॉन्फ्रेंस 24 अगस्त को कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में आयोजन किया गया है।
कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य विभाग/महिला एवं बाल विकास विभाग की दस्तक अभियान, टीकाकरण, पंजीकरण, कुपोषण, पोषण आहार एवं आरसीएच पोर्टल की समीक्षा सुबह 10.30 बजे से सुबह 11.30 बजे तक, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, सीएम हेल्पलाईन, मनरेगा अंतर्गत समीक्षा सुबह 11.30 बजे से दोपहर 12.45 बजे तक, खाद्य विभाग की राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम -2013 के महत्वपूर्ण प्रावधान यथा, हितग्रहियों के डेटाबेस में आधार नंबर की सीडिंग, सतर्कता समितियों का गठन व बैठकें, दूकान विहीन पंचायतों में नवीन दुकान खोलने आदि की मॉनीटरिंग पर समीक्षा दोपहर 12.45 बजे से दोपहर 01.30 बजे तक, राजस्व विभाग की आरसीएमएस, सीएम हेल्पलाईन/जनाधिकार (माह जुलाई की स्थिति में), आपकी सरकार आपके द्वार की समीक्षा, लंबित ऑडिट कण्डिकाएं, सीमांकन, भू-अर्जन के प्रकरण, आपदा प्रबंधन, आरबीसी 6-4 के प्रकरणों की, नजूल भूमि प्रबंधन एवं निर्वहन पर दोपहर 02.30 बजे से दोपहर 04.30 बजे तक एवं पुलिस विभाग/आदिम जाति कल्याण विभाग की अनुसूचित जाति एवं जनजति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरणों की समीक्षा अपरान्ह 04.30 बजे से अपरान्ह 05.30 बजे तक समीक्षा की जाएगी। समस्त जानकारी कॉन्फ्रेंस में संबंधित अधिकारी  हॉर्डकापी एवं सॉफ्टकापी (पीपीटी) सहित बैठक में उपस्थित होंगे।

महिलाएं करेंगी लोक -चित्र कला से स्वच्छता संवाद

सागर | 09-अगस्त-2019

 स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अन्तर्गत जिले को खुले में शौच मुक्त होने के बाद अब नया अभियान शुरू होने जा रहा है, जिसके तहत प्रत्येक ग्राम पंचायतों में शौचालय के प्रति ग्रामीणों को जागरूक करने के लिये एक माह तक लोक चित्र से स्वच्छता संवाद अभियान चलेगा। अभियान की खास बात यह रहेगी कि इसमें ग्रामीण अंचल की महिलाओं को शामिल किया जाएगा। अगस्त माह में प्रारम्भ होने के बाद अभियान 2 अक्टूबर तक चलेगा। अभियान अन्तर्गत प्रत्येक ग्राम में स्वच्छता संबंधी दीवार पेंटिंग के चित्रात्मक संदेश को आमजन तक पहुंचाया जायेगा। पेंटिंग कार्य में स्थानीय लोक चित्रकला एवं लोक भाषा का उपयोग किया जायेगा। महिला स्व-सहायता समूहों में चित्रकला में रूचि रखनें वाली महिलाओं से प्रत्येक ग्राम में चिन्हित स्थान पर स्वच्छता लोक चित्र बनायें जायेंगे। साथ ही स्थानीय स्वच्छाग्राहियों, पंचायतीराज संस्थाओ, विद्यालयों आदि संस्थाओं की सक्रिय  भागीदारी में स्वच्छता पेंटिंग के चित्र एवं उसके संदेश पर जनसमुदाय के साथ संवाद भी किया जायेगा।
स्व-सहायता समूह की महिलाओं को इस अभियान में शामिल करने पर जिला स्तर से प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। उत्कृष्ट दीवार पेंटिंग करने वाली महिला चित्रकारों को जनपद, जिला और राज्य स्तर पर पुरस्कृत किया जायेगा।
राज्य स्तर से प्रथम पुरस्कार 30 हजार, द्वितीय पुरस्कार 20 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 10 हजार, जिला स्तर पर प्रथम पुरस्कार 7 हजार, द्वितीय पुरस्कार 5 हजार व तृतीय पुरस्कार 3 हजार व जनपद स्तर पर प्रथम पुरस्कार 3 हजार, द्वितीय पुरस्कार 2 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 1000  हजार रूपये से पुरस्कृत किया जायेगा। इसके अतिरिक्त प्रशिक्षक चित्रकार को भी जिला स्तर पर सर्वोत्तम तीन पेंटिग पर 5 हजार रूपये की राशि से पुरस्कृत किया जायेगा। प्रत्येक दीवार पर 6 बाय 4 की पेंटिंग बनानी होगी। लोक चित्र स्वच्छता अभियान में महिलाओं की सहभागिता की जायेगी। लोक कला का उपयोग करते हुये स्वच्छता संदेश को आमजन तक पहुंचाया जायेगा।

निर्वाचक नामावली विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2020 का कार्यक्रम जारी

सागर | 30-जुलाई-2019

 भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार एक जनवरी 2020 की तिथि को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले पात्र व्यक्तियों का नाम निर्वाचक नामावली में दर्ज किया जायेगा। एक अगस्त 2019 से यह कार्य शुरू कर निर्वाचक नामावली का अंतिम प्रकाशन एक जनवरी से 15 जनवरी 2020 के मध्य किया जायेगा।
पुनरीक्षण पूर्व गतिविधियाँ एक अगस्त से 31 अगस्त 2019 तक होंगी।  मतदाता की फोटो क्वालिटी का परीक्षण, मतदाता प्रमाणीकरण किया जायेगा। एक सितम्बर से 30 सितम्बर तक बी.एल.ओ द्वारा घर-घर जाकर सत्यापन किया जायेगा। मतदान केन्द्रों का युक्तिकरण और मतदान केन्द्र के भवनों का भौतिक सत्यापन 16 सितम्बर से 15 अक्टूबर के दौरान होगा।
एकजाई प्रारूप निर्वाचक नामावली का प्रारूप प्रकाशन 15 अक्टूबर को किया जायेगा। पन्द्रह अक्टूबर से 30 नवम्बर तक दावे-आपत्तियाँ दर्ज की जायेंगी। दो नवम्बर से 10 नवम्बर तक विशेष कैम्प लगाये जायेंगे। दावे-आपत्तियों का निराकरण 15 दिसम्बर 2019 से पूर्व किया जायेगा। निर्वाचक नामावली का विभिन्न पैरामीटर पर परीक्षण एवं अंतिम प्रकाशन की अनुमति 25 दिसम्बर से पूर्व प्राप्त की जायेगी। डेटाबेस का अद्यतन और पूरक का प्रकाशन 31 दिसम्बर 2019 के पूर्व किया जायेगा।