Tuesday, October 15News That Matters

सिंगरौली

Share

मेयर इन काउंसिल की बैठक मे क्षेत्र के विकास से संबंधित महत्वपूर्ण प्रस्तावो पर मिली स्वीकृती

सिंगरौली | 11-अक्तूबर-2019

नगर पालिक निगम सिंगरौली की महापौर श्रीमती प्रेमवती खैरवार के अध्यक्षता में महापौर कक्ष में निर्धारित समयानुसार मेयर इन काउंसिल की बैठक मेयर इन काउंसिल के सदस्य देवेश पाण्डेय, पुष्पेन्द्र शाह, श्रीमती अनार कली, श्रीमती सीमा तिवारी, रूपा झा के उपस्थिति में आयोजित हुई। बैठक में कुल 9 प्रस्तावो पर चर्चा उपरान्त निर्णय लिए गये।
जिसके तहत सर्व प्रथम मेयर इंन काउंसिल के पूर्व बैठक के कार्यवाही की पुष्टी की गई। तथा प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रथम चरण के तहत 2184 आवासो का निर्माण कार्य सम्पदित कराया जाना था। जिसमें 1232 आवासो का कार्य प्रगति में है शेष 952 आवास समर्पित किये जाने हेतु प्रकरण मेयर इन काउंसिल के समंक्ष प्रस्तुत किया गया। चर्चा उपरान्त सदस्यों के द्वारा अपनी असहमति व्यक्त की गई। वही 60 सफाई सरंक्षको को 2 माह तक मस्टर रोल मे रखे जाने हेतु स्वीकृती प्रदान की गई। तथा वर्ष 2019 एवं 2020 हड्डी चमड़ा एवं सीघ संग्रहण की नीलामी को अपनी स्वीकृती प्रदान करते हुये परिषद की ओर भेजने का निर्णय लिया गया।
बैठक में माजन मोड़ से नवजीवन विहार तक सड़क डामरीकरण कार्य को निविदा दर सहित कार्य की कुल लागत 4 करोड़ 26 लाख 65 हजार 264 रूपयें की स्वीकृती प्रदान की गई। तथा नगरीय ठोस अपष्टि प्रबंधन कार्य हेतु निविदा आमंत्रण 11 माह तक करने के लिए अनुमानित लागत 3 करोड़ 65 लाख की प्रशासकीय एवं वित्तिय स्वीकृती प्रदान की गई। बैठक मे दो सामुदायिक शौचालयो का सुलभ इंन्टर नेशनल सोसल सर्विस सुंस्था को संचालित करने से संबंधित प्रस्ताव को अगले बैठक में पूरी जानकारी के साथ प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा भी अतिरिक्त अन्य विषय के तहत पेयजल की जिन वार्डो मे समस्या उत्पन्न हो रही ऐसे वार्डो का सर्वेक्षण कर पेंयजल उपलंब्ध कराये जाने का निर्णय लिया गया।
बैठक के दौरान कार्यपालन यंत्री व्हीपी उपाध्याय, सहायक यंत्री आरके जैन, रत्नाकर गजभिये, जेपी त्रिपाठी, आरपी शर्मा, प्रवीण गोस्वामी, सहित आर. आर विश्वकर्मा, बीडी सिंह, डी.के दुबे आदि उपस्थित रहे।

सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 21 अक्टूबर को

सिंगरौली | 05-अक्तूबर-2019

जिला पंचायत की सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 21 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे से जिला पंचायत सभागार में आयोजित की गई। इसकी अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अजय कुमार पाठक करेंगे। बैठक में मनरेगा के कार्यों की प्रगति, जिला पंचायत में स्वीकृत पदों की पूर्ति, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना तथा युवा स्वरोजगार योजना की प्रगति की समीक्षा की जायेगी। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज ने समिति के सभी सदस्यों तथा संबंधित अधिकारियों को बैठक में उपस्थित रहने का अनुरोध किया है।

महान महिला स्वसहायता समूह की महिलाओ ने बांस से निर्मित टोपी पहनाकर कलेक्टर का किया स्वागत

सिंगरौली | 27-सितम्बर-2019

विगत दिवस मध्यप्रदेश डे-राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन विकास खण्ड देवसर अंतर्गत गठित महान महिला स्वसहायता संगठन तीनगुड़ी से जुड़े 19 महिला स्वसहायता समूहो की महिलाओं के द्वारा आयोजित कार्यक्रम बतौर मुख्य अतिथि पहुँचे कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी तथा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज तथा पूर्व कृषि राज्य मंत्री वंशमणि बर्मा का बास से निर्मित टोपी पहनाकर स्वागत किया गया।
विदित हो कि यह महिला स्व सहायता समूह संब्जी उत्पादन का कार्य कर रहा है। तीनगुड़ी गाव में एमएनआरई तथा यूएनडीपी के सहयोग से 19 लाख की लागत से पॉच मैट्रिक टन का सौर उर्जा से संचालित मिनी कोल्ड स्टोरेज स्थापित किया गया। जिसके माध्यम से स्व सहायता समूह के सदस्यों द्वारा उत्पादित संब्जी को व्यवस्थित तरीके स्टोरेज किया जाता है।
इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा उपस्थित महिला स्व सहायता समूह के महिलाओं को संबोधित करते हुयें कहा गया कि प्रदेश सरकार की मंशानुसार जिले में महिलाओं को अत्म निर्भर बनाने हेतु स्व सहायता समूहो का गठन किया जा रहा है। जिससे उन्हे सब्जी उत्पादन, मुर्गी पालन, बकरी पालन के लिए डीएमएफ फण्ड से आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जा रही। उन्होने ने कहा कि आज मुझे बेहद खुशी हो रही है कि इन समूहो के द्वारा सब्जियों का अच्छा उत्पादन किया जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि आप सब अपने समूहो के साथ बैठकर अच्छी तरह से एक दूसरे को विश्वास में लेकर होने वाली आय का लोखा जोखा करे। यदि समूह के द्वारा किसी सदस्य को राशि आवंटित की गई है तो उसकी वसूली ब्याज सहित करे। उन्होनें कहा कि बकरी पालन हेतु एक अच्छी मचान सेड का निर्माण करे जिससे बकरियों में किसी भी प्रकार की बीमारी न हो। उन्होने बकरो का टीकाकरण भी समय पर कराने हतु प्ररित किया।
कलेक्टर ने स्व सहायता समूह की महिलाओं को संब्जी के साथ फलदार वृक्षो को भी लगाये के लिए प्ररित किया उन्होनें आम, आमरूद, आमला के पौधो का लगाने हेतु कहा। उन्होने कहा कि मेरा प्रयास है मेड़ बंधन, कूप निर्माण के कार्यो को समूहो के द्वारा कराया जाये। समूह की उपस्थित महिलाओं के द्वारा भी कार्यक्रम के दौरान अपने अपने समूहो के द्वारा उत्पादन की गई संब्जियो के साथ तैयार की नर्सरी के संबंध में कलेक्टर को अवगत कराया गया। कार्यक्रम पश्चात कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा गाव में निर्मित किये गये कोल्ड स्टोरेज के साथ साथ सहसूत के बाग का अवलोकन किया गया। कलोक्टर को बताया गया कि सहसूत की खेती से रेशम युक्त कीड़े उत्पन्न होते है किड़ो से उत्पान्न रेशम बजार अच्छी किमतो पर बिक्री किया जाता है। इस अवसर पर तहसीलदार सम्पदा सर्राफ तथा मिशन डे के अवनीश चतुर्वेदी सहित अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

उपभोक्ता जागरुकता के लिए चलाया जाएगा राज्य स्तरीय अभियान- मंत्री श्री तोमर

शिकायत के लिये जारी किया टोल फ्री नम्बर 1800-233-0046

सिंगरौली | 20-सितम्बर-2019

खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता सरंक्षण मंत्री श्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने कहा है कि उपभोक्ता हितों के संरक्षण के लिये प्रदेश में राज्य जागरुकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि होटल या रेस्टोरेंट में लिया जाने वाला सर्विस चार्ज स्वैच्छिक कर दिया गया है। इसे देना या न देना अब ग्राहक की मर्जी पर है।
मंत्री ने कहा कि मूल्य के बदले वस्तु या सेवा प्राप्त करने वाला व्यक्ति उपभोक्ता होता है। बैंक, बीमा, परिवहन, विद्युत, मनोरंजन, रेल, डाक, दूरभाष सहित ऐसी अन्य सभी सेवायें, जिनका मूल्य चुकाते हैं, में उपभोक्ताओं के हित संरक्षण के सभी प्रावधान उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम में शामिल किये गये हैं।
मंत्री श्री तोमर ने कहा कि आम उपभोक्ताओं को इस बात की जानकारी होना आवश्यक है कि सर्विस चार्ज एक टिप है। सेवा की संतुष्टि के आधार पर यह निर्णय ग्राहक को लेना चाहिए कि इसका कितना भुगतान करना है अथवा भुगतान नहीं करना है। यदि कोई होटल या रेस्टोरेंट ग्राहक को पूर्व निर्धारित सर्विस चार्ज का भुगतान करने के लिये बाध्य करता है अथवा कहता है, तो उपभोक्ता इसकी शिकायत उपभोक्ता मंच में या राज्य उपभोक्ता हेल्प के टोल फ्री नम्बर 1800-233-0046 पर कर सकता है।

विभागो के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जन प्रतिनिधियों को कार्य करने की आवश्यकता- अजय पाठक

सिंगरौली | 14-सितम्बर-2019

अधिकारियो एवं कर्मचारियो के साथ-साथ जन प्रतिनिधियों को भी सहयोग करते हुये शासन की जन कल्याणकारी योजनाओ का क्रियान्वयन जमीनी स्तर तक करने के लिये तैयार होने की आवश्यकता है तभी हमारा जिला प्रदेश मे नम्बर 1 हो सकेगा। उक्त उद्गार अध्यक्ष जिला पंचायत सिंगरौली अजय कुमार पाठक द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा राष्ट्रीय पोषण माह 2019 के अंतर्गत जिला स्तरीय ’’वृहद पोषण सभा’’ मे व्यक्त किये गये। पोषण सभा को संबोधित करते हुये अध्यक्ष जिला पंचायत श्री पाठक ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण माह जन जागरूकता के लिये चलाया जा रहा है। हम सबको मिलकर इसे एक जन आंदोलन का स्वरूप देना होगा। उन्होने कहा कि अधिकारियो, कर्मचारियो के साथ ही जन प्रतिनिधियो को भी शासन की जन कल्याणकारी योजनाओ को जमीनी स्तर तक उतारने के लिये कार्य करने की आवश्यकता है। जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा कि हमारे बच्चे कुपोषण से मुक्त हो सके इसके लिये महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कई योजनाये संचालित की जा रही है। हमे गर्भवती तथा धात्री महिलाओ के स्वास्थ्य एवं पोषण पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। जिससे कि हमारे बच्चे कुपोषण से मुक्त हो सकेगे।
’’वृहद पोषण सभा’’ का शुभारंभ अतिथियो द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमां पर माल्यार्पण कर तथा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। अतिथियो का स्वागत करते हुये जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास प्रवेश मिश्रा ने कहा कि शासन से प्राप्त निर्देशानुसार राष्ट्रीय पोषण माह 2019 के अंतर्गत प्रदेश मे साथ ही जिले मे भी जिला, ब्लाक ,परियोजना तथा ग्राम स्तर पर ’’वृहद पोषण सभा’’ का आयोजन किया जाना है। उन्होने कहा कि प्रदेश मे बच्चो किशोरी बालिकाओ के बेहतर स्वास्थ्य पोषण के लिये महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बच्चो मे ठिगनांपन, अल्पपोषण, खून की कमी, एनीमिया तथा जन्म के वक्त कम वजन वाले शिशुओ की संख्या मे उत्तरोतर कमी लाये जाने हेतु पोषण अभियान संचालित किया जा रहा है।
पोषण सभा को संबोधित करते हुये महापौर नगर पालिक निगम सिंगरौली श्रीमती प्रेमवती खैरवार ने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित पोषण माह के दौरान पोषण सभाओ का यह क्रम नन्हे मुन्हे बच्चो के साथ जुडा है उन्होने कहा कि बच्चो को सही पोषण के साथ-साथ हमे स्वच्छ पर्यावरण भी देना होगा। हमे प्रत्येक घर के प्रत्येक हितग्राही तक हमारी आंगनबाडी बहनो द्वारा पहुॅचकर सेवाये दी जा रही है। बच्चे के गर्भ मे आने से लेकर 06 साल तक के बच्चो की जिम्मेदारी हमारी आंगनबाडी कार्यकर्ताये उठा रही। ठेक होम राषन का प्रदाय पोषण आहार का प्रदाय, ठीकाकरण का कार्य, वजन लेना, वृद्वि निगरानी आदि के सभी कार्य हमारे आंगनबाडी केन्द्रो मे नियमित रूप से किये जा रहे है साथ ही आंगनबाडी केन्द्रो मे प्रारंमिक षिक्षा भी दी जा रही है। इसके बाद बच्चो को हम शालाओ मे प्रवेष कराते है। उन्होने कहा कि हमे अपनी योजनाओ का व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार करने की आवश्यकता है। गृह भेट के द्वारा हितग्राहियो को अधिक से अधिक आंगनबाडी केन्द्रो मे पहुॅचकर शासन द्वारा दी जा रही सेवाओ का लाभ लेने के लिये प्रेरित करना है। महापौर ने कहा कि इसी प्रकार के कार्यक्रमो का आयोजन वार्ड स्तर पर भी किये जाये जिससे कार्यक्रमो को एक जन आंदोलन का रूप दिया जा सके। महापौर ने कहा कि हमे कुपोषण दूर करने के लिये हमे भी स्वस्थ्य रहना है और हम स्वस्थ्य तब रहेगे जब हम स्वच्छ रहेगे हम सबको स्वच्छता से भी जुडना है तभी हम स्वस्थ्य रह सकेगे। महापौर ने कहा कि नगर पालिक निगम सिंगरौली का लक्ष्य प्रत्येक नागरिक को स्वस्थ्य और स्वच्छ रखना है तथा शासन की सभी जन कल्याणकारी येजनाओ के क्रियान्वयन मे प्रदेश मे जिला सिंगरौली को प्रथम स्थान प्राप्त करना है। उन्होने कहा कि हमे प्लास्टिक का उपयोग प्रतिबंधित करना होगा।
पोषण सभा को संबोधित करते हुये विधायक देवसर श्री सुभाषचन्द्र वर्मा ने कहा कि योजनाओ को नीचे स्तर तक कैसे उतारा जाये इसके लिये हमे बच्चो मे हो रहे कुपोषण को दूर करने के लिये हमे घर-घर तक पहुचकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि डिग्घी मे प्रारंभ किये गये बाल शिक्षा केन्द्र मे अच्छा कार्य हो रहा है लेकिन हमे अपने कार्यो को घर-घर तक पहुॅचाना होगा । हम जन प्रतिनिधि हमेषा आपके साथ कार्य करने के लिये तत्तपर है।श्रीमती आरती सिंह सरपंच नौढिया द्वारा पोषण सभा को संबोधित करने हुये अपील की गई कि कुपोषण को दूर करने के लिये हमे किसी विषेष चीज की आवष्यकता नही है। हमारे स्वास्थ्य और पोषण के लिये हमारे घर मे तथा हमारे घर के आस पास उद्यान वाटिका मे पोषण युक्त खाद्य सामग्री उपलब्ध है। जिसमे मौसमी फल, साग सब्जी, दूध, अनाज जैसी सामग्री उपलब्घ है जिसका हम नियमित रूप से सेवन कर कुपोषण को दूर कर सकते है। उन्होने कहा कि बच्चो को 06 माह तक मां का दूध पर्याप्त है मां के दूध के अतिरिक्ति बच्चे को कुछ भी नही देना है। बच्चे की 06 माह की उम्र के पश्चात उसे मां के दूध के साथ-साथ अर्द्वठोस खाद्य पदार्थ भी देना आवश्यक है तथा बच्चो को वजन एवं लंबाई का समय-समय पर आंगनबाडी केन्द्रो मे की जा रही मांप तथा वृद्वि निगरानी चार्ट का भी प्रत्येक अभिभावक को ध्यान देना आवष्यक है। प्रत्येक गर्भवती महिला को अपने स्वास्थ्य की जांच करवाने तथा नियमित रूप से आयरन फोलिक एसिड की गोलियो का सेवन करना चाहिये तथा पोषण के प्रति विशेष सावधानी रखनी चाहिये।सुश्री शिक्षा दास, स्वस्थ्य भारत प्रेरक द्वारा पोषण सभा मे पोषण माह के दौरान आज तक जिले मे किये गये कार्यो तथा गतिविधियो पर विस्तृत प्रकाश डाला गया।
पोषण सभा मे पार्षद नगर पालिक निगम सिंगरौली श्रीमती विनीता कुशवाहा, विजय कुमार वर्मा, हीरालाल वर्मा, सहित चाईल्ड हेल्प लाईन, पिरामिल फाउन्डेषन, चाई, सहित इलेक्ट्रानिक तथा प्रिंट मीडिया के प्रतिनिधियो, बडी संख्या मे महिलाये बच्चे, स्व सहायता समूहो के सदस्य

आप की सरकार आप के द्वारा शिविर में पांच किसानों को मिला स्प्रिकंल पम्प

सिंगरौली | 31-अगस्त-2019

आप की सरकार आप के द्वार शिविर का आयोजन सिंगरौली जिले के विभ‍िन्न ग्राम पंचायतों में किया जा रहा है। इस शिविर के माध्यम से ग्रामिणों की समस्याओं का समाधान कलेक्टर सहित जिले के विभिन्न विभागो के उपस्थित अधिकारियो के द्वारा मौके पर ही निराकरण किया जा रहा है। तथा विभागों द्वारा मध्यप्रदेश शासन की जान कल्याणकारी योजनाओं से उपस्थित अधिकरियों को अवगत कराने के साथ साथ मौके पर ही लाभ प्रदान किया जा रहा है।
इसी क्रम में आज आप की सरकार आप के द्वार शिविर का आयोजन जनपद पंचायत चितरंगी स्थित ग्राम पंचायत कुडैनिया में किया गया। जिसमे कलेक्टर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों के द्वारा उपस्थित ग्रामीणो की समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया गया। तथा कृषि विभाग के द्वारा अपनी फसलो को किड़ो से बचाव कराने हेतु स्प्रिकंल पम्प का वितरण किया गया।
स्प्रिकंल पम्प पाने वाले किसानो में मंगल सिंह भी थे। उन्होने बताया कि पहले जब हमारी फसलो पर खर पतवार तथा किड़े लगते थे तो हम दवाओं को छिड़काव अच्छी तरह से नही कर पाते थें जिससे हमारा काफी नुकासान हो जाता था। और कमाई भी इतनी ज्यादा नही है कि हम दवाओं के छिड़काव के लिए स्प्रिकल पम्प खरीद पाते। लेकिन आज तो सरकार ही हमारे घर आकर हमें स्प्रिंल पम्प देकर जा रही है। इसी तरह से अन्य किसानों के द्वारा भी अपनी खुशी जाहिर का आप की सरकार आप के द्वार शिविर की सराहन की गई।

राज्य सरकार न्यूनतम ब्याज दर पर आदिवासियों को देगी ऋण 

सिंगरौली | 27-अगस्त-2019

 आदिवासियों को साहूकारी ऋण समस्या और अधिक ब्याज दरों से मुक्ति के लिए सरकार ने निर्णय लेते हुए सभी आदिवासी विकास खंडों में आदिवासियों के ऊपर ऐसे सभी साहूकारी ऋणों को समाप्त करने का निर्णय लिया है। आदिवासियों को पैसे की अचानक आवश्यकता को ध्यान में रखकर सरकार द्वारा बैंकों से 10 हजार तक की लिमिट स्वीकृत की जा रही है, जो वे अपने डेबिट कार्ड से कभी भी एटीएम से निकाल सकेंगे।
सरकार आदिवासी विकासखंडों के ग्रामीण हाट बाजारों में बैंक एटीएम स्थापना परियोजना भी प्रक्रिया धीन है। राज्य सरकार आदिवासियों के जनधन खाते को क्रियाशील कर रुपए का बैंक डेबिट कार्ड उपलब्ध कराने जा रही है । जिसमें 10 हजार तक की लिमिट में खाता धारी आदिवासियों को एटीएम के माध्यम से ऋण उपलब्ध होगा । लिमिट के अंदर जरूरतमंद आदिवासी खाताधारक न्यूनतम ब्याज दर पर यह राशि एटीएम से प्राप्त कर सकेंगे तथा उसी खाते में जमा कर बैंक में अपनी शाख स्थापित कर सकेंगे।

कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी खुटर पहुचकर बच्चों के साथ विशेष मध्यान्ह भोजन में हुये शामिल

सिंगरौली | 16-अगस्त-2019

 कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय खुटार में पहुचकर विद्यालय के बच्चो के साथ विशेष सामूहिक मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम में समिल हुये। सामूहिक मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम मे पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन, श्रीमती नुपूर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप सिंडे, एसडीएम ऋषि पवार, जिला शिक्षा अधिकारी बृजेश मिश्रा, डीपीसी एस.के त्रिपाठी,आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग संजय खेडकर, जिला महिला वाल विकास अधिकारी प्रवेश मिश्रा, सहायक संचालक पशु चिकित्सा डीपी त्रिपाठी, मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी आरपी पटेल, तहसीलदार जीतेन्द्र बर्मा,जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुलभ सिंह पोषाम, सरपंचत बालमुकुन्द सिंह प्राचार्य आर.के दुबे, समाजसेवी लालजी शाह, जनकलाल सोनी, सहित जिला के अधिकारी के द्वारा रूचिकर भोजन का आनंद लिया गया।

जनसुनवाई में अब्दुल कादिर को मिला श्रवण यंत्र (खुशियों का दास्तां) 

श्रवण यंत्र पाकर खिला अब्दुल कादिर का चेहरा 

सिंगरौली | 06-अगस्त-2019

 हर मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में होने वाली जनसुनवाई आम लोगो के समस्याओं का त्वारित निराकरण करने का सशक्त माध्यम है। जनसुनवाई के दौरान आम लोग अपनी समस्याओं से सीधे कलेक्टर को अवगत कराते है तथा जनसुनवाई के दौरान ही कलेक्टर के द्वारा उपस्थित अधिकारियों से उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण कराया जाता है।
आज की जन सुनवाई के दौरान जिले के जनपद पंचायत चितरंगी अंतर्गत ग्राम सोलन सें आये हुये 65 वर्षीय अब्दुल कादिर ने कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी को अपना आवेदन देते हुयें कहा कि साहब मुझे कम सुनाई देता है। मुझ एक सुनाई देनी वाली मशीन दिलवा दीजिये। कलेक्टर के द्वारा तत्काल जनसुनवाई में उपस्थित निःक्तजन कल्याण विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया गया कि तुरंत अब्दुल कादिर को श्रवण यंत्र प्रदान किया जाये। जनसुनवाई के दौरान ही कुछ ही समय पश्चात अब्दुल कादिर को श्रवण यंत्र मुहैया कराया गया। श्रवण यंत्र मिलते ही अब्दुल कादिर के चेहरे में मुस्कुराहट लौटी आई। उन्होनें ने कहा कि अब मुझे सुनने में परेशानी नही होगी। उन्होनें ने कलेक्टर सहित जिला प्रशासन का धन्यावद दिया तथा अपने गांव लौट गये।

 

बेरोजगार युवा उद्योग स्थापना के लिए 10 लाख से 2 करोड़ तक ले सकते है ऋण

सिंगरौली | 26-जुलाई-2019

महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र  से प्राप्त जानकारी अनुसार मध्यप्रदेश शासन द्वारा बेरोजगार युवाओं को स्वयं के नवीन उद्यमों की स्थापना हेतु 10 लाख से 2 करोड़ रूपये तक की वित्तीय सहायता करने की मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना क्रियान्वित की जा रही है। जिसमें आवेदक को 10वीं कक्षा उत्तीर्ण एवं 18 से 40 वर्ष आयु वर्ग का होना आवश्यक है। इस योजना में सामान्य वर्ग के आवेदकों को पूंजीगत लागत का 15 प्रतिशत अधिकतम रूपये 12 लाख, बीपीएल हेतु 20 प्रतिशत अधिकतम रूपये 18 लाख तथा पूंजीगत लागत पर 5 प्रतिशत प्रतिवर्ष व महिला उद्यमियों हेतु 6  प्रतिशत ब्याज अनुदान, अधिकतम 7 वर्षों तक रूपये 5 लाख प्रतिवर्ष का भी प्रावधान है।  शासन द्वारा विभाग के माध्यम से कृषक पुत्र,पुत्रियों जिनके माता-पिता या स्वयं के पास कृषि भूमि हो तथा वह आयकरदाता न हो, इनके लिए भी मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इसमें पात्रताएं मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के समान है।