Tuesday, October 15News That Matters

हरदा

Share

खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण कर नमूने लिये

हरदा | 11-अक्तूबर-2019

जिला खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम द्वारा आज 10 अक्टूबर 19 को पुरानी सब्जी मंडी स्थित खाद्य प्रतिष्ठान बजरंग लख्मी चंद अग्रवाल किराना का निरीक्षण कर गुणवत्ता तथा शुद्धता की जांच हेतु आम के अचार का नमूना लिया गया। तत्पश्चात टीम द्वारा शर्मा कालोनी स्थित पुंगा निर्माता फैक्टरी उमा गृह उद्योग का निरीक्षण कर साफ सफाई, रॉ मटेरियल, खाद्य लायसेंस आदि की जांच की गई तथा खाद्य पदार्थ के निर्माण में प्रयुक्त फ़ूड कलर का नमूना जांच हेतु लिया गया।
आयुक्त खाद्य सुरक्षा भोपाल के निर्देशानुसार रिलायंस मॉल को नोटिस जारी कर निर्देशित किया गया कि ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमे बेस्ट बिफोर तिथि निकलने वाली है, ऐसे खाद्य पदार्थो का विक्रय करने से पहले इस आशय का डिस्प्ले बोर्ड लगाना है साथ ही खाद्य पदार्थो से संबंधित शिकायत हेतु उपभोक्ताओं के लिए शिकायत पेटी / शिकायत रजिस्टर का संधारण करना अति आवश्यक है। विभाग द्वारा शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के अंतर्गत लगातार जिले भर में कार्यवाही की जा रही हैं।

स्वास्थ्य संस्थाओं, शालाओं और राशन दुकानों पर विशेष ध्यान दें कलेक्टर्स

हरदा | 05-अक्तूबर-2019

मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती ने कहा है कि प्रदेश में शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं, शालाओं तथा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत दुकानों का संचालन सुव्यवस्थित और निर्धारित समयानुसार हो। तीनों संस्थाएँ जन-सामान्य के जीवन से संबंधित हैं। इसलिये इनके जनोन्मुखी और व्यवस्थित संचालन पर जिला कलेक्टर्स लगातार नजर रखें। श्री मोहंती ने गत दिवस वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संभागायुक्तों, जिला कलेक्टर्स तथा जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को सम्बोधित कर उपरोक्त निर्देश दिये। मुख्य सचिव ने मिलावटी और अमानक खाद्य पदार्थो के विरूद्ध की गई कार्यवाही के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की।
मुख्य सचिव श्री मोहंती ने निर्देश दिए कि स्वास्थ्य संस्थाओं के खुलने के समय, डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ की उपलब्धता तथा दवा वितरण और साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। स्वास्थ्य संस्थाओं को बेहतर बनाने में स्थानीय व्यापारिक घरानों तथा औद्योगिक इकाईयों से सलाह तथा आवश्यक सहयोग को प्रोत्साहित किया जाए। रोगी कल्याण समितियों को सक्रिय किया जाए। उन्होंने कहा कि, ‘‘शुद्ध के लिए युद्ध’’ अभियान के अन्तर्गत मिलावटी तथा अमानक खाद्य पदार्थो के विरूद्ध कार्यवाही लगातार जारी रहे। मिलावट करने वालों को यह स्पष्ट संदेश जाना चाहिए कि प्रशासन निरंतर जागरूक और सक्रिय है।
वीडियो कॉन्फ्रेंस में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत पात्र परिवारों के सत्यापन के लिए चलाये जाने वाले अभियान के लिए जारी तैयारियों पर भी चर्चा हुई। मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि वितरण प्रणाली के अन्तर्गत जुड़े अपात्र व्यक्तियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाए। जिला कलेक्टर्स से अति-वृष्टि तथा बाढ़ के बाद जारी राहत कार्यो तथा सर्वेक्षण संबंधी जानकारी भी ली गई।
वीडियो कॉन्फ्रेंस में मौसमी बीमारियों की रोकथाम की तैयारी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली में सत्यापन के लिए जारी गतिविधियों, प्याज भण्डारण पर कंट्रोल आर्डर के तहत की गई कार्यवाही तथा समर्थन मूल्य पर फसल खरीदी के लिये पंजीयन की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की गई। वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रमुख सचिव खाद्य-नागरिक आपूर्ति श्रीमती नीलम शमी राव तथा प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. पल्लवी जैन गोविल उपस्थित थे।

संयुक्त टीम द्वारा खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किया गया

हरदा | 27-सितम्बर-2019

जिला खाद्य एवं औषधि प्रशासन , राजस्व विभाग और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की संयुक्त टीम द्वारा आज 26 सितम्बर को खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किया गया । निरीक्षण किये गए प्रतिष्ठानों में सड़क किनारे लगने वाले फल ठेलों से सड़े गले फलों को फिकवाया गया । होशंगाबाद रोड स्थित व्यंजन रेस्टोरेंट के निरीक्षण के दौरान बेस्ट बिफोर निकली हुई कोल्ड्रिंक्स नष्ट कराई गई, फ़ूड डिस्प्ले बोर्ड लगाने के निर्देश दिए, आशीष बेकर्स फैक्टरी का निरीक्षण किया गया, टोस्ट औऱ ब्रेड बनाने में प्रयुक्त कच्चे माल की गुणवत्ता देखी गयी, एक्सपायर खाद्य रंग, और एसेंस की बोतलो को नष्ट कराया गया तथा टोस्ट में मिलावट / शुध्दता की जांच हेतु खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियमनुसार नमूना लिया गया , तथा साफ सफाई रखने के निर्देश दिए गए , अन्नपूर्णा होटल इतवारा बाजार के निरीक्षण के दौरान खुले खाद्य पदार्थो को ढँकवाया गया तथा उन्हें जाली से ढंकने के लिए निर्देशित किया । तत्पश्चात टीम द्वारा आशीष रेस्टोरेंट का निरीक्षण किया गया, नमकीन, कोल्ड्रिंक्स, आईसक्रीम , किचिन के मसालों की जांच की गई, साफ सफाई रखने के निर्देश और फ़ूड डिस्प्ले बोर्ड लगाने हेतु निर्देशित किया गया । टीम द्वारा श्री नाथजी सुपर बाजार का निरीक्षण कर बेस्ट बिफोर निकले हुए 2 नमकीन के पैकिट नष्ट कराए, अखाद्य रंग को हटवाया गया तथा रवा के नमूने जांच हेतु लिए गए ।
उन्हें fifo नियम first in first out अर्थात पहले आने वाले खाद्य पदार्थ को पहले बेंचे की जानकारी दी गयी । जांच दल में सुश्री आपूर्ति पटेल कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी, श्री प्रशांत सिंह कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी , राजस्व निरीक्षक श्री मोहन ठाकुर और खाद्य सुरक्षा अधिकारी जे पी लववंशी थे

शासकीय महाविद्यालय, हरदा में इंडक्शन कार्यक्रम का समापन हुआ

हरदा | 20-सितम्बर-2019

म.प्र.शासन उच्च शिक्षा विभाग के निर्देश अनुसार विश्व बैंक परियोजना के अंतर्गत इंडक्शन कार्यक्रम का समापन जिले के अग्रणी स्वामी विवेकानंद शासकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय, हरदा में हुआ।
समापन अवसर पर प्रशासकीय अधिकारी श्री व्ही.के.विछोतिया ने ई-लाइब्रेरी एवं प्रशासनीक व्यवस्था पर प्रकाश डाला। महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ.पी.सोनी ने विद्यार्थियों को अध्ययन कार्य के साथ-साथ अनुशासन पर मार्गदर्शित किया। डॉ. संजीत सोनी ने सेना भर्ती की तिथि की जानकारी देते हुऐ क्रीड़ा गतिविधियों से अवगत कराया। श्री संजय पटवा ने विद्यार्थियों को रोजगार की दृष्टि से इंटर्नशिप का महत्व बताया। विश्व बैंक परियोजना की प्रभारी डॉ. संगीता बिले ने विद्यार्थियों की सहभागिता की प्रशंसा करते हुऐ आभार व्यक्त किया।
तीन दिवसीय कार्यक्रम का सफल संचालन श्री बसंत सिंह राजपूत द्वारा किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के विद्यार्थी एवं महाविद्यालय परिवार उपस्थित रहा।

14 सितम्बर 2019 की लोक अदालत में 2349 मामलों के निराकरण के लिये 10 खण्डपीठों का गठन

14 सितम्बर 2019 को नेशनल लोक अदालत का आयोजन

हरदा | 14-सितम्बर-2019

जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमती शशिकला चंद्रा के मार्गदर्शन में 14 सितम्बर 2019 को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है हरदा जिले के लिये कुल 10 खण्डपीठों का गठन किया गया है। जिला न्यायालय हरदा के लिये जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमती शशिकला चंद्रा खंडपीठ क्रमांक 01, प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय हरदा श्री अनिल अग्रवाल खंडपीठ क्रमांक 02 एवं 03, द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश हरदा श्री अरूण श्रीवास्तव खंडपीठ क्रमांक 04, तृतीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश हरदा सुश्री सविता जडिया खंडपीठ क्रमांक 05, मुख्य न्यायिक मजि. हरदा श्री सुभाष सुनहरे खंडपीठ क्रमांक 06, तृतीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग -01 हरदा श्री अमित नगायच खंडपीठ क्रमांक 07, प्रथम व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-02 हरदा श्रीमती अनुजा श्रीवास्तव खंडपीठ क्रमांक 08, प्रथम व्यववहार न्यायाधीश वर्ग-01 खिरकिया श्री अभिषेक नागराज खंडपीठ क्रमांक 09 एवं द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-01 श्रृंखला न्यायालय टिमरनी श्री अतुल बिल्लौरे खंडपीठ क्रमांक 10 तथा पुलिस परामर्श केन्द्र हेतु श्री एम.के.मालवीय, अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) हरदा के लिये खंडपीठो का गठन किया गया है एवं प्रत्येक खंडपीठ में 02 सुलहकर्ता सदस्यों (अधिवक्ताओं) को भी नियुक्त किया गया है तथा नेशनल लोक अदालत में कुल 2349 प्रक्ररण रखे गये हैं। इसमें आपराधिक राजीनामा योग्य प्रक्ररण कुटुम्ब न्यायालय, व्यवहार वाद, मोटर दावा दुर्घटना क्लेम, विद्युत न्यायालय के लंबित प्रक्ररण, प्रिलिटिगेशन के बैंक रिकवरी एवं विद्युत अधिनियम के राजिनामा योग्य प्रकरण ,पुलिस परामर्श केन्द्र के अन्तर्गत घरेलू हिंसा अधिनियम, पारिवारिक/वैवाहिक विवादों के प्रिलिटिगेशन प्रक्ररणों का निराकरण किया जावेगा तथा जो प्रकरण राजीनामा योग्य हो और लोक अदालत में नही रखे गये है उनमें भी पक्षकार इसी दिन उपस्थित होकर प्रकरण का निराकरण करा सकते है।
सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण हरदा श्री के.एस.शाक्य द्वारा बताया कि नेशनल लोक अदालत में न्यायालयीन प्रक्ररणों का निराकरण सुलह एवं समझौते के आधार पर होता है। लोक अदालत में सम्पत्तिकर, जलकर,विद्युत विभाग के मामलों में अधिभार पर नियमानुसार छूट दी जायेगी एवं पक्षकारों से अनुरोध किया है कि वे अपने अधिवक्ता अथवा न्यायालय से संपर्क कर उपरोक्त विषय से संबंधित प्रकरणों का निराकरण नेशनल लोक अदालत में कराकर लोक अदालत का लाभ उठायें और अपने धन एवं समय की बचत करे।

सभी विभाग एवं बैंक स्वरोजगार योजनाओं के अंतर्गत लक्ष्यों को पूरा करना सुनिश्चित करें-कलेक्टर

हरदा | 31-अगस्त-2019

कलेक्टर श्री एस. विश्वनाथन की अध्यक्षता में कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में डीएलसीसी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में उपस्थित विभागीय अधिकारियों द्वारा स्वरोजगार योजनान्तर्गत प्राप्त वित्तीय लक्ष्य एवं उपलब्धियों से अवगत कराया। बैठक में श्री विश्वनाथन ने निर्देशित किया कि स्वरोजगार योजनान्तर्गत प्राप्त वित्तीय लक्ष्यों को समय सीमा में पूर्ण करें। ग्रामीण आजिविका मिशन अंतर्गत गठित महिला स्वयं सहायता समूह के ऋण प्रकरणों को गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए स्वयं सहायता समूह को समय पर ऋण उपलब्ध करावे तथा उनके खाते खोलने में किसी प्रकार की परेशानी उत्पन्न न हो। उन्होने कहा कि एनआरएलएम के अंतर्गत प्रगति संतोषजनक नहीं है। अगली तिमाही में इसमें निश्चित रूप से सुधार करें। उन्होने बैंकों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे विभागों द्वारा प्रेषित प्रकरणों पर त्वरित निर्णय लें। यदि प्रकरण स्वीकृत करने योग्य नहीं है तो इस संबंध में विभाग को सूचना दे। उन्होने कहा कि ऋण स्वीकृति के पश्चात विभागों द्वारा सब्सिडी जारी करने के बावजूद ऋण का वितरण न होने की शिकायतें प्राप्त हो रही है। सभी बैंक इस बात पर ध्यान दें कि विभाग द्वारा सब्सिडी जारी करने के बाद ऋण के वितरण में देरी नहीं होनी चाहिये। उन्होने संबंधित विभागों को सभी स्वरोजगार योजना का व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिये। उन्होने सभी स्वरोजगार योजनाओं में ऋण स्वीकृति एवं वितरण की विभागवार एवं बैंकवार समीक्षा की। उन्होने सभी बैंकों को अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग को प्राथमिकता से ऋण उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।
कलेक्टर श्री विश्वनाथन ने कहा कि हरदा जिले में प्रत्येक वयस्क का बैंक खाता होना चाहिये। उन्होने कहा कि सभी बैंक इसके लिये विशेष अभियान चलाये तथा जो व्यक्ति अभी भी बैंकिंग सुविधाओं से वंचित है उनके खाते खोले। उन्होने वित्तीय साक्षरता कैम्प आयोजित न करने वाले बैंको को शीघ्र कैम्प आयोजित कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने बैंकों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे आरआरसी वसुली के लंबित प्रकरणों के निराकरण में राजस्व अधिकारियों का सहयोग करें। जिन प्रकरणों में वसूली की जा चुकी है, उनकी सूचना संबंधित अधिकारियों को दे ताकि प्रकरणों का निराकरण दर्ज किया जा सके। उन्होने बैंकों को एटीएम की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश देते हुए कहा कि 10 सितम्बर से एटीएम का औचक निरीक्षण किया जाएगा तथा गंदगी पाये जाने पर कार्यवाही की जाएगी।
बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश कुमार जांगिड़, अपर कलेक्टर श्रीमती प्रियंका गोयल, रिजर्व बैंक आफ इण्डिया से आरएम श्री अरूणकुमार इनामदार एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा बैंक प्रतिनिधि उपस्थित थे।

आदर्श महाविद्यालय हरदा में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन 

हरदा | 27-अगस्त-2019

 जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती शशीकला चंद्रा के मार्गदर्शन में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री के.एस. शाक्य की उपस्थिति में तथा जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अभय सिंह की उपस्थिति में गत दिवस 26 अगस्त को आदर्श महाविद्यालय हरदा में  नालसा  असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।
विधिक साक्षरता शिविर में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री के.एस. शाक्य के द्वारा उपस्थित छात्र/छात्राओं को भारतीय संविधान में मौलिक कर्तव्यों के बारे में तथा एंटी रैगिंग विषय के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी तथा महिलाओं एवं बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न संबंधी कानून एवं महिला भ्रूण हत्या की रोकथाम संबंधी कानून के बारे में एवं मोटर व्हीकल एक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी।
जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अभय सिंह द्वारा विधिक सेवा प्राधिकरण हरदा द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की निःशुल्क विधिक सहायता योजना के बारे में एवं प्राधिकरण द्वारा संचालित समस्त योजनाओं के संबंध विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी। शिविर में विद्यालय प्राचार्य एवं शिक्षकगण एवं महाविद्यालय के छात्र/छात्रायें उपस्थित रहे।

सीएम हेल्पलाईन में हरदा प्रदेश में प्रथम स्थान पर 

हरदा | 16-अगस्त-2019

 जून माह की ग्रेडिंग के आधार पर हरदा सीएम हेल्पलाईन में प्राप्त होने वाली शिकायतों के निराकरण में प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहा है। जिले का कुल वेटेज स्कोर 74.7 रहा। प्राप्त जानकारी के अनुसार हरदा जिले का संतुष्टि के साथ बंद शिकायतों में 41.78 वेटेज स्कोर रहा जो प्रदेश में सर्वाधिक है। जून माह की रेटिंग के अनुसार जिला पंचायत हरदा प्रदेश में द्वितीय स्थान पर रही है। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री एस. विश्वनाथन के मार्गदर्शन में सीएम हेल्पलाईन में प्राप्त शिकायतों के निराकरण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जिला स्तर से इसकी सतत माॅनीटरिंग की जा रही है। साथ ही अधिक से अधिक शिकायतों को संतुष्टि के साथ निराकृत करने के प्रयास किये जा रहे हैं।

सोयाबीन कृषकों के लिये उपयोगी सलाह 

हरदा | 06-अगस्त-2019

  भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान, इन्दौर द्वारा सोयाबीन कृषकों के लिये उपयोगी सलाह जारी की गई है। जारी सलाह में किसानों से कहा गया है कि सोयाबीन की फसल में प्रकाश जाल/फिरोमोन ट्रेप लगाएं जिससे प्रकोप करने वाले कीटों की स्थिति की जानकारी के साथ-साथ उनका प्रबन्धन करने में सहायता मिलें। बीज उत्पादन के लिये उगाई जाने वाली सोयाबीन की फसल में अन्य किस्मों के पौधों को निकाल दें जिससे बीज की शुद्धता बनी रहें। लगातार होने वाली वर्षा के कारण जलभराव की स्थिति होने पर अतिरिक्त पानी के निकास हेतु नालियों की व्यवस्था करें। सोयाबीन फसल में चूहों के नुकसान की जानकारी भी प्राप्त हो रही है। चूहों के प्रबन्धन हेतु आटे/ज्वार के बीज को झिंक फास्फाईड पाउडर के साथ मिलकर अथवा बाजार में उपलब्ध एन्टी कोआगुलेन्ट बिस्किट का उपयोग करें।
सोयाबीन में एन्थ्रेकनोज, एरियल ब्लाईट एवं चारकोल रॉट बीमारी यदि हो तो टेबूकोनाझोल 625 मि.मी./हे. अथवा टेबूकोनाझोल+सल्फर 1 कि.ग्रा./हे. अथवा हेक्झाकोनाझोल 500 मि.ली./हे. अथवा पायरोक्लोस्ट्राबिन 500 ग्रा./हे. को 500 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें। जिन स्थानों पर सोयाबीन की बोवनी देर से हुई है एवं 20-25 दिन की फसल पर इल्लियों का प्रकोप प्रारंभ हुआ है वहां क्लोरएन्ट्रानिलिप्रोल 18.5 एस.सी. 150 मि.ली./हे. की दर से छिड़काव करने पर लम्बी अवधि तक इल्लियों का प्रकोप कम किया जा सकता है। बाद की अवस्था में पत्ती खाने वाली इल्लियों के प्रबंधन हेतु क्वीनॉलफॉस 25 ईसी (1500 मि.ली./हे.) अथवा इन्डोक्साकार्ब 14.5 एससी (300 मि.ली./हे.) अथवा फ्लूबेन्डीयामाईड 39.35 एससी (150 मि.ली./हे.) अथवा फ्लूबेन्डीयामाईड 20 डब्ल्यूजी (125 से 350 मि.ली./हे.) अथवा स्पायनोटेरम 11.7 एससी (450 मि.ली./हे.) में से किसी अनुशंसित कीटनाशक का छिड़काव करने की अनुशंसा है। सोयाबीन की फसल में पत्ती खाने वाली इल्लियों के साथ सफेद मक्खी का प्रकोप होने पर पूर्व मिश्रित कीटनाशक बीटासायफ्लूथ्रीन+इमिडाक्लोप्रीड 350 मि.ली./हे. अथवा थायमिथॉक्सन + लेम्डा सायहेलोथ्रीन 125 मि.ली./हे. की दर से छिड़काव करें। इस पाय से तना मक्खी का भी नियंत्रण होगा। जिन स्थानों पर गर्डल बीटल का प्रकोप शुरू हो गया हो वहाँ पर थाइक्लोप्रीड 21.7 एस.सी. 650 मि.ली./हे. अथवा प्रोफेनोफॉस 50 ईसी (1.25 ली/हे.) या ट्रायझोफॉस 40 ई.सी. (800 मि.ली./हे.) की दर से छिड़काव करें। पीला मोजाइक बीमारी को फैलाने वाली सफेद मक्खी के प्रबन्धन के लिये खेत में यलो स्टीकी ट्रैप का प्रयोग करें जिससे मक्खी के वयस्क नष्ट किये जा सके। साथ ही पीला मोजाइक रोग से ग्रसित पौधों/अवशेषों को खेत से निकालकर नष्ट कर दें। रोग की तीव्रता अधिक होने पर थायोमिथाक्सम 25 डब्ल्यूजी (100 ग्रा./500 लीटर पानी) का छिड़काव करें।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनान्तर्गत आवेदन पत्र आमंत्रित 

हरदा | 26-जुलाई-2019

 जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति मर्या. हरदा ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनान्तर्गत केवल अनुसूचित जाति के बेरोजगार युवक, युवतियों से आवेदन पत्र आमंत्रित किये है।
ऋण लेने के इच्छुक बेरोजगार आवेदक आय प्रमाण-पत्र, जाति प्रमाण-पत्र, मूल निवासी प्रमाण-पत्र, राशन कार्ड, आधार कार्ड तथा पांचवी उत्तीर्ण अंकसूची के साथ प्रकाशन तिथि से 07 दिवस के भीतर ऑनलाईन के माध्यम से वेबसाईट www.mponline.gov.in पर आवेदन प्रेषित कर सकते है।