Tuesday, January 26News That Matters

होशंगाबाद

Share
मंडियों और समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद करने वाली बातें भ्रामक और असत्य
50 वर्षों से भूमि पर काबिज किसानों को पट्टे दिये जाएंगे, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नसरूल्लागंज (सीहोर) में 5 लाख किसानों के खातों में 100 करोड़ रूपये की राशि अंतरित की
होशंगाबाद | 04-दिसम्बर-2020

      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मंडियों और समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद करने वाली बातें भ्रामक और असत्य हैं। किसान इन बातों पर ध्यान न दें। प्रदेश में 50 वर्षो से एक-दो एकड़ कृषि भूमि पर काबिज परिवारों को पट्टे दिए जाएंगे। भूमि सम्बन्धी सभी रिकार्ड के लिए ऑनलाइन व्यवस्था शीघ्र की जाएगी। मुख्यमंत्री गुरुवार को सीहोर जिले के नसरुल्लागंज में 5 लाख किसानों के खातों में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की 100 करोड़ रुपये की राशि सिंगल क्लिक से ट्रांसफर करने के बाद सभा को सम्बोधित कर रहे थे।

किसानों ने किया कृषि कानूनों का पुरजोर समर्थन

पूरे प्रदेश के किसानों से सीधे जुड़े मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कृषकों से कृषि कानूनों पर चर्चा की और किसानों ने कृषि कानूनों का जोरदार स्वागत और समर्थन करते हुए तालियां बजाकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इन कानूनों से प्रदेश के लाखों किसानों के जीवन मे क्रांतिकारी बदलाव आएगा और 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होगी।

92 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण तथा 53 करोड़ के कार्यों का भूमिपूजन

एक बार नही लाख बार भी जनता को घुटनों पर बैठकर प्रणाम करूंगा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सभा में घुटनों के बल बैठकर आमजनों का अभिवादन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं एक बार नही लाख बार जनता को घुटने टेक कर प्रणाम करूगाँ।जनता ही मेरे लिए भगवान है और मुझे घुटनों पर बैठकर प्रणाम करने से कोई नही रोक सकता। लेकिन माफ़ियों, गुण्डे, डकैत, जनता को लूटने वालों किसी को नहीं छोड़ूँगा। उन्होंने कहा कि वे शांतिप्रिय लोगों के लिए फूल से भी कोमल और दुष्टों के लिए बज्र से भी कठोर है। उन्होंने कहा कि गुंडे बदमाश प्रदेश से चले जाएं अन्यथा उनकी खैर नहीं है।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान 42 करोड़ की लागत के 10 विकास और निर्माण कार्यो का लोकार्पण तथा 53 करोड़ से अधिक  के 10 निर्माण कार्यो का भूमिपूजन भी किया। मुख्यमंत्री ने नसरुल्लागंज अस्पताल के विस्तार के लिए 11 करोड़ रुपये की घोषणा भी की। उन्होंने अनेक हितग्राहियों को मत्स्य और ग्रामीण विकास की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित भी किया तथा मुख्यमंत्री पथ विक्रेता निधि योजना की राशि के चैक भी वितरित किये। विश्व विकलांग दिवस पर उन्होंने 50 दिव्यांगों को बैटरी और रिवर्स गेयर की सुविधायुक्त ट्रायसिकल भी भेंट की।

“मैं जब तक जिंदा हूँ तब तक समर्थन मूल्य बंद नहीं होगा”

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अब किसानों को आज़ादी होगी कि वे अपनी उपज कहीं भी बेच सकें। उन्होंने कहा कि मंडियों को बन्द करने की बातें भ्रामक और कोरी बकवास हैं। श्री चौहान ने कहा कि किसानों को बरगलाया जा रहा है कि समर्थन मूल्य बन्द हो जाएगा। मैं जब तक जिंदा हूँ, तब तक कोई समर्थन मूल्य बन्द नहीं होगा।

भू-अभिलेखों की नकल तथा राजस्व न्यायालयों में पंजी के लिये बुलावा ऑनलाइन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की सरकार है और पिछले 8 माह में ही विभिन्न योजनाओं की 25 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा सहायता राशि किसानों के खाते में डाली गई है। खेती किसानी से सम्बंधित नकल आदि अब ऑनलाइन मिलेगी और रेवेन्यू बोर्ड मैनेजमेंट सिस्टम से नामांतरण बटवारा सहित राजस्व न्यायालयों में पेशी के लिए आमंत्रण भी ऑनलाइन होगा।

ग्रामों की जमीनों और मकान का स्वामित्व अब ग्रामीण भाईयों को

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामित्व योजना के तहत अब सभी गांवों का सर्वे किया जा रहा है, गांव की सभी जमीनों और मकान आदि का स्वामित्व अब ग्रामीण भाई बहनों के नाम पर किया जाएगा, जिससे उन्हें भी बैंक लोन के अलावा अन्य योजनाओं का फायदा मिल पायेगा।

पटवारी हर सोमवार और गुरूवार मुख्यालय पर रहेंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अब पटवारी हर हफ्ते सोमवार और गुरुवार को मुख्यालय पर रहेंगे और लापरवाही मिलने पर कलेक्टर जिम्मेदार होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब फसलों का आकलन भी आटोमेटिक मशीन से होगा,जिससे नुकसान के समय किसानों को वास्तविक लाभ मिल सके।

गरीबों की आबादी के मान से होगा बजट आवंटन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछली सरकार द्वारा बंद की गई गरीबों के कल्याण की योजनाएं फिर प्रारम्भ कर दी हैं और अब प्रदेश में गरीबों की आबादी के मान से योजनाओं के लिए बजट दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बच्चे मन लगाकर पढ़ें, फीस मामा भरेगा। श्री चौहान ने कहा कि वे जल्दी ही स्व-सहायता समूह की 450 महिलाओं के खातों में 2 करोड़ से ज्यादा की राशि देंगे।

मछुआरों और पशुपालकों को भी क्रेडिट कार्ड मिलेगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में दुग्ध उत्पादन और मछली पालन करने वालों को भी क्रेडिट कार्ड देने का फैसला लिया गया है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिए उत्पादक गतिविधियों के साथ ही लोकल उत्पादों को वोकल बनाकर बाजार उपलब्ध कराया जाएगा। स्कूलों की यूनिफार्म और आंगनबाड़ी के पोषण आहार का निर्माण स्वसहायता समूहों को सौंपा गया है।

अब मंडी शुल्क आठ आना और सब्जी मंडी में 2 परसेंट कमीशन

मुख्यमंत्री ने किसानों से संवाद के दौरान कहा कि अब किसानों को आजादी है कि वे अपनी उपज कहीं भी बेच सकते हैं। मंडी शुल्क आठ आना यानी 50 पैसे लगेगा और सब्जी मंडी में भी टैक्स 2 परसेंट कर दिया गया है।

कृषि ऋण पर ब्याज सरकार भरेगी

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पिछली सरकार के कर्जमाफी के फेर में कई किसान कर्जदार हो गए और उन पर कर्ज की गठरी लद गई गई। उन्होंने कहा कि किसानों को चिंता करने की जरूरत नही है,उस अवधि का ब्याज प्रदेश सरकार भरेगी और किसानों के सिर से ब्याज की गठरी उतरेगी।

ऑनलाइन किया किसानों से संवाद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ऑनलाइन सागर, रायसेन, खंडवा, ग्वालियर और इंदौर के एक एक कृषक से संवाद किया तथा उनसे खेती-किसानी की स्थिति तथा शासकीय योजनाओं की लाभ प्राप्ति के संबंध में चर्चा की।

न्यायालय आयुक्त ने एक आदतन अपराधी की अपील को किया अस्वीकार

होशंगाबाद | 28-नवम्बर-2020
      न्यायालय आयुक्त नर्मदापुरम संभाग द्वारा जिला बदर के एक प्रकरण में आदतन अपराधी कंजू उर्फ प्रताप ठाकुर  निवासी फाइल मोहल्ला , बानापूरा तहसील सिवनीमालवा जिला होशंगाबाद  की अपील को अस्वीकार किया है। अपीलार्थी कंजू उर्फ प्रताप ठाकुर  को न्यायालय जिला दंडाधिकारी होशंगाबाद द्वारा मध्य प्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 9 के प्रावधानों के अंतर्गत दिनांक 17 अगस्त 2020 को आदेश पारित कर होशंगाबाद जिला एवं सीमावर्ती जिलों की सीमाओं से  जिला बदर किया गया था। जिसके विरूद्ध अपीलार्थी  द्वारा न्यायालय आयुक्त में अपील की गई थी।
आयुक्त नर्मदापुरम् संभाग होशंगाबाद श्री रजनीश श्रीवास्तव ने उक्त प्रकरण में समस्त पक्षो की सुनवाई पश्चात अधीनस्थ न्यायालय द्वारा पारित आदेश को स्थिर रखा जाकर अपील को अस्वीकार किया है।

स्व सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों की बेहतर मार्केटिंग की जाए – कमिश्नर

होशंगाबाद | 20-नवम्बर-2020
      होशंगाबाद आजीविका मिशन अंतर्गत गठित स्व सहायता समूह द्वारा बनाए जा रहे विभिन्न उत्पादों की मार्केटिंग हेतु विशेष प्रयास करने के निर्देश कमिश्नर नर्मदापुरम श्री रजनीश श्रीवास्तव ने दिएl कमिश्नर ने गुरुवार को स्व सहायता समूह सदस्यों के साथ उत्पादों की गुणवत्ता एवं मार्केटिंग के संबंध में चर्चा कीl
कमिश्नर श्री श्रीवास्तव  ने कहा कि स्व सहायता समूह सदस्यों द्वारा निश्चित ही अच्छी गुणवत्ता एवं पैकेजिंग वाले उत्पाद बनाए जा रहे हैं।  इन उत्पादों को  स्थानीय हाट बाजार एवं दुकानों में रखा जाए एवं उत्पादों की बेहतर मार्केटिंग करें।
अगरबत्ती निर्माण का कार्य कर रही स्व सहायता समूह सदस्य सरिता दामले एवं रश्मि मेहरा द्वारा अगरबत्ती निर्माण प्रक्रिया ,  विक्रय एवं लाभ के बारे में कमिश्नर श्री श्रीवास्तव को अवगत कराया गया l कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि ग्राहकों की पसंद एवं मांग के अनुसार अगरबत्ती आदि उत्पादों  को और अधिक गुणवत्ता युक्त बनाने की दिशा में कार्य करें। साथ ही समूह द्वारा निर्मित अन्य उत्पादों जैसे  साबुन, हैंडवॉश, फिनाइल, फ्लोर क्लीनर, सेनेटरी नैपकिन आदि को विकासखंड एवं जिला स्तर पर  दुकानों के माध्यम से विक्रय किया जाए।

जिला क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में लिये गये निर्णय

होशंगाबाद | 17-जुलाई-2020

      कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में आज जिला क्राइसेस मैंनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सांसद श्री उदयप्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री कुशल पटेल, विधायकगण सर्वश्री विजयपाल सिंह, ठाकुरदास नागवंशी, प्रेमशंकर वर्मा, कलेक्टर धनंजय सिंह, पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह गौर सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।
बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के दृष्टिगत विभिन्न बिन्दुओ पर चर्चा की गई एवं निर्णय लिए गये। बैठक में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण हेतु शासन द्वारा जारी निर्देशो के परिप्रेक्ष्य में निर्णय लिए गये की कोई भी धार्मिक कार्य/त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थलो पर नही किया जायेगा और ना ही कोई धार्मिक जुलूस व रैली निकाली जायेगी। साथ ही सार्वजनिक स्थानो पर किसी प्रकार की मूर्ति / झांकी आदि स्थापित नही की जायेगी। जनसामान्य अपने-अपने घरो में पूजा/उपासना करेंगे। धार्मिक / उपासना स्थलो पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति एकत्र न हो। साथ ही उपासना स्थल पर फेस कवर एवं फिजिकल डिस्टेसिंग के मानको का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए।
विवाह समारोह में मेहमानो की संख्या 20 से अधिक न हो, इसमें वर एवं वधु पक्ष के अधिकतम 10-10  व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। पारिवारिक कार्यक्रम, जन्मदिन आदि समारोहो में 10 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नही होंगे। अंतिम संस्कार से संबंधित कार्यक्रमो में पूर्ववत अधिकतम 20 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। उपरोक्त निर्देशो का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए।

खरीफ में रामतिल फसल एक बेहतर विकल्प

मवेशी एवं जंगली जानवरो के खाने का डर नही एवं सभी प्रकार की मृदा एवं वातावरण के लिए रामतिल उपयुक्त- उप संचालक कृषि
होशंगाबाद | 19-जून-2020

    उप संचालक कृषि जितेन्द्र सिंह एवं कृषि वैज्ञानिको के अनुसार रामतिल फसल किसान भाईयो के लिए उपयोगी साबित हो सकती है। किसान भाई कम लागत में अधिक मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं।
उप संचालक कृषि ने विगत वर्ष का अनुभव साझा करते हुए बताया कि विकासखंड बनखेड़ी के ग्राम गुंदरई के किसान दीपक, दिनेश, हेमंत महेश्वरी ने नवाचार कर 250 एकड़ में रामतिल की बोनी की थी इस फसल का तत्समय जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर के कुलपति डॉ.पीके बिसेन, कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको की टीम, जिला प्रशासन की ओर से कलेक्टर एवं आयुक्त नर्मदापुरम् संभाग द्वारा फसल का अवलोकन किया गया था एवं उनके निर्देशानुसार जिले के किसानो को भी स्थल निरीक्षण कृषि विभाग द्वारा कराया गया था। रामतिल फसल की सभी ने एकमत से सराहना की थी और इसे अपनाने के लिए जिले के किसानो को प्रोत्साहित करने की बात कही थी। यहां यह उल्लेखनीय है कि गत वर्ष अतिवर्षा के कारण अन्य फसलो को जहाँ भारी नुकसान हुआ था वही रामतिल फसल को कुछ भी नुकसान नही हुआ था, गत वर्ष बनखेड़ी विकासखंड में लगभग 2 हजार मिली लीटर वर्षा हुई थी इसके कारण धान फसल को छोड़कर सभी फसले खराब हो गई थी। रामतिल की पैदावार प्रति एकड़ लगभग 3 से 4 Ïक्वटल हुई थी और लगभग 20 से 25 हजार रूपए प्रति एकड़ आमदनी प्राप्त हुई थी।
उप संचालक कृषि ने उक्त जानकारी देते हुए जिले के किसानो से कहा है कि वे रामतिल फसल को प्रायोगिक तौर पर अपने खेतो में एक बार जरूर ले। इस फसल की यह खासियत है कि इसे किसी भी प्रकार के जानवर नुकसान नही पहुँचाते हैं और इसकी लागत भी अन्य फसलो से कम है। इस फसल की बुवाई 15 जून से 5 जुलाई तक की जा सकती है, 2 किलो बीज प्रति एकड़ के हिसाब से बुवाई करना है। यह सभी प्रकार की मृदा में लगाई जा सकती है किन्तु हल्की मृदा इसके लिए उपर्युक्त है, भारी जमीन होने पर रिज एंड फरो मेथड से बुवाई करे एवं जिन जमीनो में पानी का भराव होता है उन खेतो में न लाये। इस फसल पर कीट एवं बीमारियो का प्रकोप नही के बराबर होता है, इस फसल की औसत उत्पादकता 4 से 5 Ïक्वटल प्रति एकड़ है जिसका समर्थन मूल्य 6700 रूपए प्रति Ïक्वटल है एवं यह फसल 90 से 100 दिवसो में पककर तैयार हो जाती है।
रामतिल फसल का बीज होशंगाबाद जिले में कृषि विभाग के प्रत्येक वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय में 88.50 रूपए प्रतिकिलो की दर से उपलब्ध है। उप संचालक कृषि ने जिले के किसानो से आग्रह किया है कि वे रामतिल फसल को नवीन विकल्प के रूप में अपनाकर जोखिम कम कर अच्छा उत्पादन ले सकते हैं।

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य के लिए किया गया सम्मानित

होशंगाबाद | 11-फरवरी-2020

     शुद्ध के लिए युद्ध अभियान अंतर्गत आज 10 फरवरी को रवीन्द्र भवन भोपाल में स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय प्रतियोगिताए आयोजित की गई। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में होशंगाबाद जिले के होम सांईस कॉलेज की छात्रा कनिका मिश्रा एवं साथी टीम को शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में जनभागीदारी थीम पर नुक्कड़ नाटक के लिए तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। पुरस्कार स्वरूप उन्हें 11 हजार रूपये नगद एवं प्रशस्ति पत्र, शील्ड से सम्मानित किया गया। इसी तरह शुद्ध के लिए युद्ध अभियान अंतर्गत जिले में खाद्य सुरक्षा के लिए उत्कृष्ट कार्य हेतु खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री शिवराज पावक एवं लीना नायक को प्रशस्ति पत्र एवं शील्ड से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी, स्कूल शिक्षा मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी, खनिज मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल एवं जनसम्पर्क मंत्री श्री पीसी शर्मा सहित खाद्य सुरक्षा आयुक्त श्री रवीन्द्र सिंह, संयुक्त नियंत्रक डीके नागेन्द्र उपस्थित रहें।

सुपोषण की ओर बढ़ते कदम (खुशियों की दास्तां)

होशंगाबाद | 28-जनवरी-2020

     महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित आँगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से निरन्तर गर्भवती माताओं एवं नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य हेतु उत्कृष्ट कार्य किये जा रहे हैं, जिसका परिणाम है कि सुपोषण की ओर कदम बढ़ रहे हैं। ऐसी ही एक उदाहरण है होशंगाबाद जिले के विकासखण्ड बनखेडी निवासी महिला लायची।  लायची ने बताया कि उनकी बालिका भारती का जन्म के समय वजन 3.5 किलोग्राम था, किन्तु  संतुलित पोषण आहार निरंतर न मिलने एवं  बार-बार दस्त की शिकायत के कारण भारती के वजन में कमी आ गई थी। परियोजना बनखेड़ी के आँगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर द्वारा बालिका भारती की माँ लायची से गृह भेट की गई एवं माँ एवं परिवार के सदस्यो को भारती की कमजोर स्थिति से अवगत कराया, किन्तु लगातार दस्त लगने की शिकायत रहने के कारण भारती अती कम वजन की श्रेणी में आ गई। आँगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर द्वारा माँ एवं परिवार वालो को पोषण पुर्नवास केन्द्र में भर्ती करने की समझाईश दी गई। आँगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा महिला को टेक होम राशन खिलाने, स्वच्छता से रहने एवं अन्य स्वास्थ्य संबंधी सलाह दी गई। आँगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर के निरन्तर सलाह एवं समझाईश देने पर भारती के स्वास्थ्य एवं वजन में सुधार आया। भारती 15 जनवरी 2020 की स्थिति में सामान्य वजन की श्रेणी में है एवं पूरी तरह स्वस्थ्य है।

उर्जा संरक्षण से होगी पर्यावरण सुरक्षा और धन की बचत : मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह

ऊर्जा सरंक्षण सप्ताह में दी गई जानकारियाँ, बताये गये उपाय
होशंगाबाद | 21-दिसम्बर-2019

   ऊर्जा सरंक्षण सप्ताह के समापन परऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे बिजली का सदुपयोग करें और बिजली बचत पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा है कि ऊर्जा संरक्षण से पर्यावरण सुरक्षा तथा स्वयं के धन की बचत के साथ ही नागरिक राज्य और राष्ट्र की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान भी दे सकते हैं। बिजली कंपनी के अधिकारियों ने सलाह दी है कि घरों में उपयोग होने वाले उपकरणों का प्रयोग यथासंभव एक साथ न करें क्योंकि ऐसा करने से वायरिंग में विद्युत क्षति बढ़ जाती है। सुबह एवं शाम 6 से 9 बजे तक अधिक भार वाले विद्युत उपकरणों का कम से कम प्रयोग करें क्योंकि यह समय अधिकतम विद्युत मांग का होता है। वार्षि‍क विद्युत खपत का लगभग 9 प्रतिशत केवल प्रकाश व्यवस्था पर खर्च होता है। टी.वी. को स्टैण्डबाई मोड पर न रखने से एक वर्ष मे लगभग 70 यूनिट विद्युत की बचत हो सकती है। ब्यूरो ऑफ एनर्जी इफिशिएंसी द्वारा प्रमाणित कम से कम तीन सितारा चिन्हित ऊर्जा सक्षम उपकरणों का क्रय करने से ऊर्जा की खपत कम की जा सकती है।
विवरण एलईडी सीएफएल साधारण बल्ब
वॉट (खपत) 7 वॉट 14 वॉट 60 वॉट
ऊर्जा क्षमता 88% 50% 0
बिजली बिल में वार्षि‍क बचत (प्रति बल्ब रूपए) 140-400 85 निरंक
आयु घंटों में 25000 8000 1200
नि:शुल्क वारंटी 3 वर्ष 1 वर्ष निरंक

बांद्राभान में 300 घन मीटर रेत का अवैध भंडारण जप्त

होशंगाबाद | 18-अक्तूबर-2019

कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह के निर्देशानुसार जिले में रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भंडारण के विरूद्ध खनिज, राजस्व एवं पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त रूप से कार्यवाही की जा रही है। टीम द्वारा मगरिया रेत खदान पर कार्यवाही करते हुए अवैध उत्खनन में लिप्त एक ट्रेक्टर ट्राली जप्त कर देहात थाने में अभिरक्षा में सुपुर्द की गई। इसके अलावा प्राथमिक शाला बांद्राभान के सामने से 300 घनमीटर रेत खनिज का अवैध भंडारण जप्त किया। जप्त रेत ट्राली पर रेत नियम 2019 के तहत प्रकरण दर्ज कर सक्षम न्यायालय में प्रस्तुत किया जायेगा। जिला खनिज अधिकारी महेन्द्र पटेल न बताया कि जिले में रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भंडारण के विरूद्ध निरन्तर कार्यवाही जारी है। उक्त कार्यवाही में खनिज निरीक्षक अर्चना ताम्रकार, पुष्पेन्द्र त्रिपाठी, नायब तहसीलदार ललित सोनी, पटवारी देवेन्द्र जाटव, हेमन्त राज की उल्लेखनीय भूमिका रही।

आयुक्त नर्मदापुरम् संभाग ने की विभिन्न विभागो की प्रगति की समीक्षा

होशंगाबाद | 11-अक्तूबर-2019

कमिश्नर नर्मदापुरम संभाग आर के मिश्रा ने आज गुरूवार को आयुक्त कार्यालय सभाकक्ष में श्रम विभाग नगरीय प्रशासन विभाग, स्कूल शिक्षा, आदिम जाति कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक ली। कमिश्नर श्री मिश्रा ने समस्त विभागो के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने-अपने विभाग के लक्ष्यो की प्राप्ति के लिए पूरी ईमानदारी से कार्य करें। लापरवाही कतई बरर्दाश्त नही की जाएगी।
कमिश्नर श्री मिश्रा ने श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिकारियों से कहा कि वे हितग्राहियों को लाभ मिले इस दिशा में प्रगति लाए। कमिश्नर श्री मिश्रा ने नगरीय प्रशासन के अधिकारियों से कहा की इस वार जिले में पानी के सभी जल स्त्रोत लबालब है पानी की कोई कमी नही है अत: उपलब्ध पानी का समुचित उपयोग करे। विशेषकर पेयजल में कही भी परेशानी न हो। कमिश्नर ने स्वरोजगार योजना, उद्यमी योजना, कृषक उद्यमी योजना आदि योजनाओं की समीक्षा की और संबंधित विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे इन योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियो को अधिक से अधिक उपलब्ध कराए और लाभांवित हितग्राहियों की जानकारी से तत्काल अवगत कराए। कमिश्नर ने शिक्षा विभाग के अधिकारियो से कहा कि स्कूलो में छात्र व शिक्षकों की उपस्थिति की सतत निगरानी की जाए, जो शिक्षक समय पर बिना अनुमति के अनुपस्थित रहे उसके विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाए। शिक्षक बच्चा की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। बैठक में अपर आयुक्त आशकृत तिवारी सहित संभाग के जिलो के संबंधित विभाग के जिला अधिकारीगण उपस्थित थे।

नर्मदापुरम् संभाग के जिलो में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आयुक्त श्री मिश्रा ने ली बैठक

होशंगाबाद | 05-अक्तूबर-2019

कमिश्नर नर्मदापुरम् संभाग आरके मिश्रा ने आज पचमढ़ी में संभाग के जिलो में पर्यटन स्थलो पर अधिक से अधिक पर्यटक आकर्षित हो, इन स्थानो पर पर्यटको को मूलभूत सुविधाए उपलब्ध हो इसी तरह के अनेक बिन्दुओं पर संभाग के हरदा, होशंगाबाद, बैतूल जिले के कलेक्टर्स एवं अन्य संबंधित अधिकारियों की बैठक ली। कमिश्नर श्री मिश्रा ने अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने जिलो में पर्यटन स्थलो पर क्या-क्या विकास किये जा सकते हैं, पर्यटक पर्यटन स्थलो पर आये, आदि विभिन्न बिन्दुओ पर सुझाव माँगे और ऐसे चिन्हित पर्यटन स्थलो पर आवश्यक इंतजाम करने के निर्देश दिये।
कमिश्नर श्री मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हम सभी को इस दिशा में भरपूर प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने नर्मदापुरम संभाग के जिलो के कलेक्टर्स एवं अन्य संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्रो के पर्यटन स्थलो को एक अच्छा स्वरूप देने के लिए प्रयत्न करें। कमिश्नर श्री मिश्रा ने बैठक में पर्यटन स्थलो के उन्नयन के संबंध में प्राप्त सुझावो पर कहा कि प्राप्त सुझावो को शीध्र ही मूर्त रूप दिया जायेगा। कमिश्नर श्री मिश्रा ने कहा कि इस दिशा में हम सभी को प्रयास करने की जरूरत है। बिना समन्वय के इस दिशा में हम पर्याप्त सफल नही हो सकेंगे। अत: पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सभी संबंधित विभाग समन्वय बनाकर कार्य करे। कमिश्नर श्री मिश्रा ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि हमारे संभाग के तीनो जिलो में अनेक ऐसे स्थान हैं जहाँ यदि हम थोड़ा सा प्रयास करें तो निश्चित रूप से इन स्थानो को पर्यटन के नक्शे में प्रमुख स्थान मिल सकता है। प्रदेश का एक मात्र हिल स्टेशन हमारे संभाग में है जो पचमढ़ी है। कमिश्नर ने कहा कि पर्यटन स्थलो पर पर्याप्त विकास कार्य किये जाए।
बैठक में होशंगाबाद कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह, बैतूल कलेक्टर तेजस्वी नायक एवं हरदा कलेक्टर एस विश्वनाथन सहित अन्य संबंधित विभागो के अधिकारी एवं कर्मचारी गण मौजूद थे।

दिव्यांगजनो के रिक्त पदो की पूर्ति 30 जून 2020 के पूर्व करे

होशंगाबाद | 27-सितम्बर-2019

उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण होशंगाबाद ने जिले के समस्त जिला कार्यालय प्रमुखो को पत्र द्वारा सूचित किया है कि अवमानना प्रकरण क्रमांक 274/2013 नीलेश सिंघल विरूद्ध मध्यप्रदेश शासन नि:शक्तजनो के लिए आरक्षित पदो की पूर्ति के संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग भोपाल द्वारा 26 जुलाई 2019 को समस्त विभागाध्यक्षो को निर्देशित किया गया है कि वे नि:शक्तजनो के लिए आरक्षित पदो की पूर्ति विशेष भर्ती अभियान के तहत वॉक इन इंटरव्यू के माध्यम से 30 जून 2020 तक अनिवार्य रूप से करे। इसी परिप्रेक्ष्य में संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण द्वारा समस्त जिलो में स्थित सामाजिक न्याय एवं नि:शक्त जन कल्याण विभाग को निर्देशित किया गया है कि वे उक्ताशय की जानकारी समस्त जिला कार्यालय प्रमुखो से संकलित कर तीन दिवस में प्रस्तुत करें और संकलित जानकारी संचालनालय को निर्धारित समयावधि में प्रेषित करें। प्रदेश के जिलो में स्थित शासन के समस्त विभागो से कहा गया है कि वे दिव्यांगजनो की श्रेणी की 30 जून 2019 की स्थिति में कार्यालय में कार्यरत अधिकारी/कर्मचारी की संख्या एवं उक्त अवधि में रिक्त पदो की संख्या तथा तत्पश्चात नियुक्त अधिकारी एवं कर्मचारियो की जानकारी दिव्यांगता की श्रेणी दृष्टिबाधित और कम दृष्टि बाधित, बहरे और कम सुनने वाले, लोकोमीटर डिसेबिलिटि जिसमें सेरेब्राल पाल्सी, कुष्ठ रोग, बौनापन, एसिड अटेक पीड़ित एवं मस्कुलर डिस्ट्राफी तथा ऑटिज्म, बौद्धिक दिव्यांगता, स्पेसिफिक लर्निंग डिसेबिलिटि, मानसिक बीमारी और बहु विकलांगता जैसी श्रेणियो में जानकारी निर्धारित प्रपत्र में तीन दिवस में जिले के सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण को दें।
उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण होशंगाबाद ने उक्ताशय की जानकारी देते हुए होशंगाबाद जिले के समस्त जिला कार्यालय प्रमुखो से निर्धारित प्रपत्र में तीन दिवस में जानकारी प्रस्तुत करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि प्राप्त जानकारी संकलित कर संचालनालय को अतिशीघ्र भेज दी जायेगी।

राष्ट्रीय पोषण माह अंतर्गत वृहद पोषण सभा एवं धर्मगुरूओं का सम्मेलन संपन्न

होशंगाबाद | 20-सितम्बर-2019

शासकीय नर्मदा स्नातकोत्तर महाविद्याय सभाकक्ष में आज राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत वृहद पोषण सभा एवं धर्मगुरू सम्मेलन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व विधायक अंबिका प्रसाद शुक्ला, जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल, पदाधिकारी गण कपिल फौजदार, अयोध्या प्रसाद रावत, चंद्र गोपाल मलैया, श्रीमती मीना वर्मा, सुंदरलाल भावसार, अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी, जिला आयुष अधिकारी डॉ.व्यास, डॉ.नलिनी गौर, एनयूएम से डाक्टर मयूरी बरबडे, धर्मगुरू आर्य नर्मदा प्रसाद, गिरीमोहन गुरू, गोपाल प्रसाद खड्डर, श्रीमती चित्रा शर्मा, शहर काजी मुफ्ती मोहम्मद, अशरफ साहब, बिशप संतोष सागर, फादर विलियम मसीह, ब्राम्हकुमारी तुलसा दीदी एवं सुनीता दीदी, गायत्री परिवार से बाइयों साहब एवं ओपी गौर, समाजसेवी डॉ.बीएम मालवीय, श्रीमती नीरजा फौजदार, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी ललित डेहरिया, सहायक संचालक सतीश भार्गव, विष्णु गौर, श्रीमती अर्चना पचौरी, अशोक पासी, योगेश घाघरे, श्रीमती वीणा बौरासी आदि उपस्थित थे। पोषण अभियान पर प्रस्तुतीकरण टाटा ट्रस्ट की ओर से नियुक्त स्वस्थ भारत प्रेरक कुणाल चतुर्वेदी एवं ऐम्स के विशेषज्ञ मनोज चौहान द्वारा दिया गया।
कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों, धर्मगुरूओं ने उपस्थित जनसमुदाय का मार्गदर्शन किया। उन्होंने बताया कि स्वस्थ तन में ही स्वस्थ मन का वास होता है और स्वस्थ तन-मन से ही हमें ईश्वर की प्राप्ति हो सकती है। इस अवसर पर सभी धर्मगुरूओं ने अपने संबोधन में एक स्वर में कहा कि समाज को गर्भवती एवं धात्री माताओं, शिशुओं और बच्चो की विशेष देखभाल करना चाहिए। कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियो ने कहा कि विभागीय गतिविधियो में समाज एवं समुदाय का पूर्ण सहयोग मिलने पर ही हम कुपोषण के कुचक्र को तोड़ सकते हैं। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा किशोरी बालिका एवं महिलाओं के रक्त जाँच के लिए शिविर लगाया गया जिसमें तकरीबन 50 से अधिक महिलाओं की निःशुल्क रक्त जाँच की गई। कार्यक्रम स्थल पर ही होशंगाबाद शहरी एवं ग्रामीण परियोजना की कार्यकर्ताओं ने पौष्टिक व्यंजनो की पोषण प्रदर्शनी लगाई तथा आकर्षक रंगोली भी बनाई।
कार्यक्रम में जिला कार्यक्रम अधिकारी ललित डेहरिया ने बताया कि जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में विभिन्न विभागो के समन्वय एवं सहयोग से राष्ट्रीय पोषण माह में गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर उन्होंने कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों, जनप्रतिनिधियों, पत्रकार बंधुओ, नागरिको एवं अधिकारियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन परियोजना अधिकारी ग्रामीण प्रमोद गौर द्वारा किया गया।
ज्ञातव्य है कि सितम्बर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है जिसमें आँगनबाड़ी, विकासखंड एवं जिला स्तर पर विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन विभिन्न विभागो के सहयोग से महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किया जा रहा है।

जिले में समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटे अनाज के पंजीयन के लिए 18 पंजीयन केन्द्र स्थापित

होशंगाबाद | 14-सितम्बर-2019

मध्यप्रदेश शासन खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण द्वारा जारी दिशानिर्देशो के अनुरूप जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटे अनाज (ज्वार एवं बाजरा) के पंजीयन के लिए जिला उपार्जन समिति होशंगाबाद के प्रस्ताव अनुसार कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने 18 पंजीयन केन्द्र स्थापित किये हैं। इनमें तहसील होशंगाबाद में 1, डोलरिया में 1, बाबई में 3, सोहागपुर में 3, इटारसी में 1, पिपरिया में 2, बनखेड़ी में 6 एवं तहसील सिवनीमालवा में 1 पंजीयन केन्द्र स्थापित किया गया है।
तहसील होशंगाबाद में नर्मदाचंल मंडी प्रांगण होशंगाबाद में , तहसील डोलरिया में वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति मुख्यालय डोलरिया में, तहसील बाबई में वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति मंडी प्रांगण बाबई में, वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति मुख्यालय आंचलखेड़ा में एवं वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति मुख्यालय आँखमऊ में, तहसील सोहागपुर में वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति सिरवाड़ का पंजीयन केन्द्र मंडी प्रागंण सेमरीहरचंद में, अजा सेवा सहकारी समिति को पंजीयन केन्द्र समिति मुख्यालय सोहागपुर में, सेवा सहकारी समिति रानी पिपरिया का पंजीयन केन्द्र समिति मुख्यालय रानी पिपरिया में, तहसील इटारसी का पंजीयन केन्द्र सेवा सहकारी समिति सोनतलाई समिति मुख्यालय सोनतलाई में, तहसील पिपरिया का सेवा सहकारी समिति मुख्यालय गाडाघाट में, सेवा सहकारी समिति मुख्यालय सांडिया में, तहसील सिवनीमालवा का पंजीयन केन्द्र सेवा सहकारी समिति मुख्यालय झकलाय में एवं तहसील बनखेड़ी अंतर्गत पंजीयन केन्द्र कृषक सेवा सहकारी समिति मुख्यालय बनखेड़ी में, कृषक सेवा सहकारी समिति मुख्यालय माल्हनवाड़ा में, कृषक सेवा सहकारी समिति मुख्यालय चांदौन में, सेवा सहकारी समिति मुख्यालय पलिया पिपरिया में, सेवा सहकारी समिति मुख्यालय डंगरहाई में एवं सेवा सहकारी समिति मुख्यालय उमरधा में पंजीयन केन्द्र स्थापित किये गये हैं।
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने बताया है कि पंजीयन केन्द्रो पर किसान 16 सितम्बर से 16 अक्टूवर 2019 तक अपना पंजीयन प्रात: 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक करा सकेंगे। इसके अलावा किसान उपरोक्त पंजीयन केन्द्रो के अतिरिक्त अपना पंजीयन एमपी किसान एप, ई-उपार्जन मोबाईल एप एवं पब्लिक डोमेन में ई-उपार्जन पोर्टल पर कर सकते हैं।

कमजोर वर्ग को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराएं – कलेक्टर

होशंगाबाद | 31-अगस्त-2019

कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में आज डीएलसीसी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिला पंचायत सीईओ आदित्य सिंह ने बताया कि अनुसूचित क्षेत्र में वित्तीय साक्षरता एवं समावेशन हेतु कार्यक्रम 15 सितम्बर तक ग्राम पंचायत वार संचालित किये जाना है। इसके लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन किया गया है। इस कार्यक्रम के तहत गठित दलो द्वारा ग्रामवासियों को वित्तीय साक्षरता प्रदान की जायेगी, जनधन खातो में ओव्हर ड्राफ्ट की सुविधा व आधार सीडिंग व रूपे कार्ड जारी आदि कार्य किये जायेंगे। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने सभी बैंकर्स से अनुरोध किया कि वे अनुसूचित क्षेत्र में शतप्रतिशत वित्तीय समावेशन कराना सुनिश्चित करें। वित्तीय साक्षरता एवं समावेशन अभियान के तहत शिविर का आयोजन किया जाएगा। इसमें सभी बैंकर्स यह सुनिश्चित करें कि शिविर में वे स्वयं या उनके प्रतिनिधि उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि सभी बैंकर्स कमजोर वर्ग के लोगो को वित्तीय सहायता प्रदान करने हेतु संवेदनशीलता से कार्य करें। कलेक्टर ने बैंकर्स से कहा कि वे हितग्राहियों के प्राप्त आवेदनो का निराकरण अधिकतम 15 दिवस में कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी बैंकर्स से कहा कि शासन द्वारा संचालित योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को शीघ्र लाभ मिले । बैठक में अग्रणी जिला बैंक प्रबंधक , नावार्ड, एनआरएलएम सहित अन्य बैंक के अधिकारीगण उपस्थित थे।
जिले के अग्रणी बैंक द्वारा जारी वार्षिक साख योजना पुस्तिका का कलेक्टर ने किया लोकार्पण
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने डीएलसीसी की बैठक के दौरान जिले के अग्रणी बैंक सेन्ट्रल बैंक आफ इंडिया द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक की अग्रणी योजनांतर्गत जिले की वार्षिक साख याजना वर्ष 2019-20 के लिए तैयार लगभग 100 पेज की पुस्तिका का लोकार्पण किया। इसमें जिले की वार्षिक साख योजना के लिए लगभग 6244.85 करोड़ रूपए की का प्रावधान किया गया है जिसमें से प्राथमिकता क्षेत्र के लिए 6244.14 करोड़ रूपए का प्रावधान है। वार्षिक योजना में सूक्ष्म एवं लघु उद्योग के लिए लगभग 793.03 करोड़ रूपए का लक्ष्य रखा गया है। कलेक्टर ने बैंकर्स एवं शासकीय विभागो के अधिकारियों से आव्हान किया कि वे शासन द्वारा चलाई जा रही समस्त योजनाओं के प्रति पूरी तन्मयता एवं ईमानदारी से कार्य करें।

मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजनांतर्गत जगन्नाथपुरी की यात्रा 16 सितम्बर को रवाना होगी 

जिले से 200 तीर्थ यात्री जायेंगे, आवेदन की अंतिम तिथि 5 सितम्बर 

होशंगाबाद | 27-अगस्त-2019

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजनांतर्गत 16 सितम्बर को जगन्नाथपुरी की तीर्थ यात्रा के लिए चयनित 200 तीर्थ यात्री रवाना होगे। यात्रा के लिए 5 सितम्बर तक आवेदन किये जा सकते हैं। यात्रा पर जाने के इच्छुक तीर्थ यात्री 5 सितम्बर तक अपने क्षेत्र के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर पालिका, नगर पंचायत, साडा पचमढ़ी कार्यालय में अथवा कार्यालय उप संचालक सामाजिक न्याय होशंगाबाद में आवेदन जमा कर सकते हैं। यात्रा में जाने के इच्छुक तीर्थ यात्रियो को आवेदन के साथ इस आशय का प्रमाण पत्र लगाना होगा कि वे मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में प्रथमवार यात्रा के लिए आवेदन कर रहे हैं।

जिला पंचायत कार्यालय मे अध्यक्ष श्री पटेल ने किया ध्वजारोहण

होशंगाबाद | 16-अगस्त-2019

जिला पंचायत कार्यालय परिसर मे स्वंतत्रता दिवस समारोह आयोजित किया गया। इसमे जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर जिला पंचायत के सदस्य गण, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आदित्य सिंह सहित कार्यालय के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।